विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

जम्मू और श्रीनगर नगर निगम के मेयर को मिला राज्य मंत्री स्तर का दर्जा

जम्मू और श्रीनगर नगर निगम के मेयर को राज्य मंत्री स्तर का दर्जा दिया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग के अतिरिक्त सचिव सुभाष छिब्बर की ओर से बुधवार को इस आशय का आदेश जारी किया गया। 

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

कठुआ

बुधवार, 21 अगस्त 2019

ट्रांस्फार्मर खराब होने से बिजली आपूर्ति को तरसे लोग

कठुआ। सांझीमोड़ गांव के लोगों का शिष्टमंडल बिजली समस्या को लेकर शुक्रवार को प्रशासन से मिला। शिष्टमंडल की अगुवाई करते हुए सुभाष चंद ने अतिरिक्त जिला उपायुक्त को समस्या से अवगत कराते हुए बताया कि गांव में बिजली की आपूर्ति करने को लगाया गया ट्रांसफार्मर खराब होने से गांव में बिजली की सप्लाई बंद है। इसके कारण गांववासियों को गर्मी के मौसम में दिक्कत हो रही है। उन्होंने बताया एक माह में गांव को बिजली सप्लाई के लिए लगाया गया ट्रांसफार्मर चार दफा खराब हो चुका है। हालांकि गांव के निवासियों ने बिजली विभाग को गांव में अधिक क्षमता का ट्रांसफार्मर लगाने के लिए कई बार गुहार लगाई है, लेकिन विभाग ने उनकी मांग को अभी तक गंभीरता से नहीं लिया है। बिजली न होने से लोगों को परेशानियों से दो चार होना पड़ रहा है। बिजली न होने से गांव में लगी धान की फसल की भी सिंचाई नहीं हो पा रही है, जिसके कारण फसल सूख रही है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि गांव में बिजली सप्लाई को ढाई सौ केवी की क्षमता का ट्रांसफार्मर लगाया जाए। उन्होंने समस्या का समाधान जल्द न होने पर बिजली विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी। ... और पढ़ें

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दी स्वतंत्रता दिवस की बधाई, बोले-कश्मीरी पंडितों के बिना कश्मीर अधूरा

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने 73वें स्वतंत्रता दिवस की प्रदेशवासियों को बधाई दी है। साथ ही प्रदेश में उन्नति और प्रगति की कामना भी की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आतंकवाद के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। सुरक्षाबल आतंकवाद का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। सुरक्षाबलों पर आत्मघाती हमले हुए। सीमा पर कई जवानों ने जान गंवाई है। इंटरनेशनल बार्डर के आसपास रहने वाले लोगों की समस्या का निदान किया जा रहा है। यहां के लोगों को भर्ती, उन्नति और दाखिलों में विशेष छूट दी गई है, एलओसी के साथ रहने वाले लोगों को भी आरक्षण दिया जा रहा है। कश्मीरी पंडितों के बिना कश्मीर अधूरा है। 

राज्यपाल प्रशासन पंडितों की गृह वापसी सुरक्षित तरीके से करवाएगा। छह हजार पदों में से तीन हजारों पद को भरा जा रहा है। प्रदेश में छह पुलिस स्टेशनों का गठन किया गया है। एसीबी भ्रष्टाचार मामलों में निष्पक्ष जांच कर रहा है। अमरनाथ यात्रा तीस दिनों तक चली। इसमें लाखों श्रद्धालुओं ने हिमलिंग के दर्शन किए हैं। श्रीनगर और जम्मू शहर में विकास के लिए मेट्रोपोलिटन रीजनल डेवलपमेंट अथॉरिटी का गठन किया गया। यातायात समस्या से निदान के लिए लाइट रेल ट्रांजिस्ट सिस्टम श्रीनगर और जम्मू कॉरीडोर को मंजूरी दी गई है। 

स्वास्थ्य क्षेत्र में ढांचे को मजबूत किया गया है। पांच नए मेडिकल कालेजों को चालू किया गया है। 400 अतिरिक्त एमबीबीएस सीटें दी गईं। आयुष्मान भारत स्कीम से भी लोगों को लाभ पहुंचाया गया है। गोल्डन कार्ड से 57 फीसदी लोगों को कवर किया गया है। कई स्कूल और कॉलेजों को भी खोला गया। कृषि क्षेत्र में किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ की गई है। कश्मीरी सेब और अन्य फलों को राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर पर बाजार उपल्ब्ध करवाए गए। जेएंडके पुलिस के जवानों को भी हार्डशिप भत्ता दिया गया। उन्होंने कहा कि जेएंडके की पहचान को कोई नुकसान नहीं हुआ है। श्रीनगर से कन्याकुमारी तक कश्मीर जुड़ा हुआ है। 
... और पढ़ें

स्वतंत्रता दिवस से पूर्व जिला छाबनी में तब्दील

कठुआ। भारत पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा और अंतरराज्यीय सीमा से सटे कठुआ जिले में स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सुरक्षा के अभूतपूर्व इंतजाम सुनिश्चित किए गए हैं।
हीरानगर सेक्टर के सीमावर्ती इलाकों से आने वाले सभी रूट सील कर रातभर नाकेबंदी कर दी गई है। वहीं जम्मू कश्मीर के प्रवेशद्वार लखनपुर में भी पुलिस और अर्धसैनिक बलों की तैनाती सुनिश्चित की गई है। इसके साथ ही जम्मू कश्मीर में आने जाने वाले वाहनों की भी गहन तलाशी की जा रही है। नेशनल हाईवे पर लखनपुर से लौंडी मोड़ तक कड़ी नाकेबंदी की गई है।
उधर, शहर के विभिन्न इंट्री प्वाइंट्स को भी सुरक्षा के मद्देनजर सील कर दिया गया है। दरियाई रूटों पर भी पुलिस की गश्त से लेकर हाईवे पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है।
एसएसपी कठुआ श्रीधर पाटील ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से तमाम तरह के इंतजामों को सुनिश्चित किया गया है। स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर नागरिकों की सुरक्षा को लेकर हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में लोगों से भी सहयोग की अपेक्षा है। ... और पढ़ें

मां ज्वाला जी के जयकारों से गूंजी ढ़ग्गर की वादियां

कठुआ। बनी के दूरदराज ढ़ग्गर इलाके में मंगलवार तड़के पूरा इलाका मां ज्वाला के जयघोष से गूंज उठा। पारंपरिक ढोल और बांसुरी की धुन पर श्रद्धालु रातभर झूमते हुए मां का आह्वान करते रहे। दूरदराज के पहाड़ों पर मशाल ऐसे जल रही थी मानो किसी ने एक बड़ी ज्योति प्रज्ज्वलित की हो। मां ज्वाला के तीनों मंदिरों की परिक्रमा और फिर एक साथ मशाल को जलाकर उठे अंगार के बीच से गुजरे मंदिर के 95 वर्षीय पुजारी भगत राम ने लोगों को अचंभित कर दिया। इसी के साथ बनी के ढ़ग्गर में ज्वाला मां की वार्षिक यात्रा संपन्न हो गई।
क्षेत्र की सुख स्मृद्धि और मां ज्वाला की कृपा क्षेत्र के लोगों पर बनी रहे इसी की कामना लिए सैकड़ों भक्त यात्रा में शामिल हुए।
हिमाचल के ज्वालाजी मंदिर से जुड़ा है इतिहास
स्थानीय लोगों की माने तो ढ़ग्गर के ज्वाला मां मंदिर की मान्यता हिमाचल के ज्वालाजी धाम से जुड़ी है। यहीं से लाकर मां की मूर्ती ढ़ग्गर में स्थापित की गई थी। लोगों ने बताया सदियों से गांव में ज्वाला मां की पूजा होती है और क्षेत्र के लोग हर साल यात्रा निकालते हैं। इसमें रात के समय लोग घरों से मशाल लेकर मां का जयघोष करते हुए मंदिर प्रांगण में एकत्र होते हैं। सभी मंदिरों की परिक्रमा के उपरांत भक्तों की मशाल एक जगह पर दहन की जाती है, जिससे निकलते अंगारों से पुजारी पैदल सकुशल बाहर निकलते हैं।
सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ कुड ने बांधा समां
कठुआ। मां ज्वाला की वार्षिक यात्रा के समापन पर मंगलवार को ढ़ग्गर में सांस्कृतिक मेले का भी आयोजन हुआ। मां ज्वाला मंदिर कमेटी की ओर से आयोजित इस समारोह में हिमाचल से आए कलाकार काकू ठाकुर और साथियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों से आए हुए लोगों का मनोरंजन किया। आयोजन कमेटी के सदस्यों अमीर चंद, सागर सिंह, रामेश्वर सिंह, पूर्ण चंद आदि ने बताया कि समापन समारोह के दौरान बनी विधानसभा क्षेत्र के गणमान्य लोगों को सम्मानित भी किया गया, जिनमें विभिन्न पंचायतों के सरपंच और सेवानिवृत्त तहसीलदार ग्यासूदीन भी शामिल रहे। वहीं, विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट सेवाओं के डॉ. विशाल, डॉ. रितु, डॉ. मोहिंद्र और डॉ. साहिल सहित कई विद्यार्थियों को भी सम्मानित किया गया। सुबह दस से तीन बजे सांस्कृतिक कार्यक्रम का दौर जारी रहा। इसके उपरांत पारंपरिक कुड नृत्य में क्षेत्र के लोगों के साथ आए हुए मेहमान भी झूमने को मजबूर हो गए। समारोह के दौरान डॉ. रामेश्वर की ओर से निशुल्क चिकित्सा शिविर लगाया गया, जिसमें चार सौ मरीजों की स्वास्थ्य जांच की गई। ... और पढ़ें
ज्वाला माता की यात्रा के दौरान मंदिर में मौजूद श्रद्धालु।   अमर उजाला ज्वाला माता की यात्रा के दौरान मंदिर में मौजूद श्रद्धालु। अमर उजाला

बसोहली-बनी-भद्रवाह सड़क विस्तारीकरण में तेजी लाने के निर्देश

कठुआ। जिला उपायुक्त कठुआ डॉ राघव लंगर ने बसोहली-बनी-भद्रवाह सड़क विस्तारीकरण कार्य की समीक्षा बैठक करते हुए काम में तेजी लाने के निर्देश जारी किए हैं। बीआरओ की ओर से किए जा रहे सड़क विस्तारीकरण कार्य को लेकरउन्होंने बसोहली से भद्रवाह तक 128 किलोमीटर लंबी सड़क का काम तय समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि बसोहली से बनी तक सड़क निर्माण, विकास और रखरखाव की परियोजना जहां 69 आरसीसी संपर्क के पास है वहीं 114 आरसीसी बैकन की ओर से बनी से भद्रवाह के बीच सड़क निर्माण और विस्तारीकरण कार्य को अंजाम दिया जा रहा है।
बैठक के दौरान यूटिलिटी शिफ्टिंग, फारेस्ट क्लीयरेंस, भूमि अधिग्रहण, मुआवजे के संवितरण और अन्य कई मुद्दों पर चर्चा हुई। जिला उपायुक्त ने बीआरओ अधिकारियों से कहा कि यह सड़क न केवल रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण है, बल्कि दूर दराज के क्षेत्रों के लिए वैकल्पिक कनेक्टिविटी भी प्रदान करती है और इस सड़क पर काम में तेजी लाने की जरूरत है। उन्होंने एसडीएम बनी को व्यक्तिगत रूप से परियोजना की निगरानी और पर्यवेक्षण करने का निर्देश दिया। उन्होंने आगे अंतर-विभागीय समन्वय को मजबूत करने और सभी बाधाओं को दूर करने के लिए इस सड़क परियोजना को समय पर पूरा करने पर जोर दिया। बैठक में एडीसी घनश्याम सिंह, सीपीओ उत्तम सिंह, एसडीएम बानी, जोगिंदर सिंह और बीआरओ अधिकारी उपस्थित थे।
सूखा नाला पर बनेगा पुल
बैठक के दौरान जिला उपायुक्त ने सूखा नाला के साथ साथ रूट पर छह अन्य छोटे पुलों के निर्माण को लेकर भी निर्देश जारी किए हैं। प्रापत जानकारी के अनुसार सूखा नाला पर पूर्व की योजना को मंजूरी नहीं मिली थी जिसके बाद हालिया पुल को मंजूरी मिल चुकी है। ऐसे में बीआरओ के अधिकारियों को जल्द इन पुलों का सर्वे और डीपीआर पूरा कर सड़क को साल भर खुला रखने के लिए काम करने के निर्देश दिए गए। ज्ञात रहे कि सूखा नाला में लगातार मलवा चलते रहने से बरसात के समय अक्सर सड़क संपर्क भंग हो जाता रहा है जिसे बहाल करने में कई कई घंट लग जाते थे।
45 वर्षों से सड़क को सुचारू रखने का सपना है अभी अधूरा
45 साल बीत जाने के बाद भी बसोहली-बनी-भद्रवाह राजमार्ग विस्तारीकरण और संपर्क को सुचारु रखने का सपना अभी पूरा नहीं हुआ है। सड़क निर्माण को लेकर पहले जहां दिसंबर 2017 की समयावधि निधार्रित की गई थी वहीं लंबा खिंचता यह काम वर्ष 2021 तक पूरा होने का अनुमान है। जिला कठुआ को भद्रवाह से जोड़ते इस महत्वपूर्ण मार्ग को लेकर स्थानीय लोगों को कई आशाएं हैैं। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिहाज से भी यह मार्ग बेहद महत्वपूर्ण है। पीएमओ मंत्री डॉ जितेद्र सिंह के प्रयासों से सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने जहां पहले ही इस सड़क को सैद्धांतिक रूप से नेशनल हाईवे की मंजूरी दे दी है जो लखनपुर से सीधा पुल डोडा तक जुड़ेगा वहीं इस रूट को साल भर खुला रखने के लिए छत्रगलां में टनल का प्रस्ताव भी है जिसकी डीपीआर का काम भी लगभग पूरा हो चुका है। चरणबद्ध इस काम को बैकन और संपर्क को सौंपा गया था, लेकिन प्रोजेक्ट समय से पिछड़ता ही रहा रहा है। बनी और बसोहली तहसीलों के डुग्गन, बनी और बसोहली ब्लाक के डेढ़ लाख से अधिक लोग इस मार्ग के जल्द पूरा होने का सपना संजोए हैं। इस मार्ग के खुलने से व्यापार, पर्यटन, रोजगार और यात्रा अवधि घटने से लोगों को इस सड़क मार्ग के खुलने का बेसब्री से इंतजार है।
अस्सी के दशक में ग्रेफ को सौंपा गया था काम
इस सड़क को अस्सी के दशक में ग्रेफ को सौंपा गया था। जिसके बाद बसोहली से बनी तक ब्लैक टापिंग तो कर दी गई थी, लेकिन पर्यटन को बढ़ावा देने और मार्ग के विस्तारीकरण को लेकर शुरू की गई कवायद अभी भी पूरी नहीं हो पाई है। वर्ष 1974 के दौरान इस सड़क के निर्माण का काम लोक निर्माण विभाग को सौंपा गया था, जिसके बाद वर्ष 1984 में तत्कालीन मुख्यमंत्री सहित पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने इस सड़क के निर्माण को ग्रेफ के अधीन करने की घोषणा की। इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद ने भी अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान अतिरिक्त राशि उपलब्ध करवा इस मार्ग को पूरा करने के निर्देश जारी किए थे। वर्ष 2007 में इसी कड़ी में क्षेत्र के विकास के लिए और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सरथल मेले का भी आयोजन किया गया, लेकिन सड़क सुविधा सुचारु न होने से पर्यटकों को रिझाना दूर की कौड़ी साबित हुआ। वर्तमान में स्थिति यह है कि सर्दियों की शुरूआत और बरसात के दिनों में जहां बनी भद्रवाह मार्ग बंद रहता है तो दूसरी ओर बसोहली-बनी मार्ग की स्थिति भी कुछ बेहतर नहीं है। सड़क विस्तारीकरण के बीच पस्सियां गिरने से आए दिन यह मार्ग घंटों बंद रहता है। बनी, ढ़ग्गर जैसे इस इलाके की लाइफलाइन यह सड़क संपर्क पूरा होना इलाके के लोगों का सपना है। ... और पढ़ें

भारी बारिश ने जिले में ढाया कहर

कठुआ। शनिवार को जिलाभर में हुई भारी बारिश ने जमकर कहर बरपाया है। एक ओर जहां सामान्य जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ और शहर के निचले इलाकों में जलभराव सामने आया वहीं दूसरी ओर विभिन्न विभागों के ढांचे भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए हैं। पीएचई विभाग को लगभग दो करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान है तो वहीं बिजली विभाग के भी 70-80 खंभे और दर्जनभर ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हो गए। हालांकि अस्थाई प्रबंध कर बिजली सेवा बहाल कर दी गई है। उधर, लोक निर्माण विभाग की सड़कों को भी कई जगह क्षति पहुंचने की जानकारी है। भारी बारिश ने सबसे अधिक नुकसान बसोहली, कठुआ और हीरानगर में बरपाया है।
जानकारी के अनुसार अस्थाई रिस्टोरेश्न के लिए पीएचई को लगभग 118.60 लाख और नियमित ढांचे के सुधार के लिए 158.37 लाख रुपए की जरूरत सामने आई है। विभाग के कार्यकारी अभियंता सुरजीत सिंह ने बताया कि कुल 276.97 लाख रुपये का नुकसान पीएचई विभाग को हुआ है। ढांचे को ठीक करने के लिए उच्च अधिकारियों को फंड्स जारी करने के लिए लिख दिया गया है। उन्होंने बताया कि बसोहली में एक ओवर हैड टैंक की रिटेनिंग वॉल को नुकसान हुआ है, तो वहीं बिलावर, कठुआ और बनी से भी नुकसान की जानकारी है।
पस्सियां हटाने के काम में जुटी रही मशीनरी
बनी बसोहली मार्ग पर भारी बारिश थमने का बाद भी पस्सियां गिरने का सिलसिला लगातार जारी है। सोमवार सुबह भी ग्रेफ की टीमों को जगह जगह गिरी पस्सियों को हटाने में घंटों मशक्कत करनी पड़ी। इस दौरान जगह जगह यात्री वाहन भी जाम में फंसे रहे। उधर, यातायात बहाल होने के साथ ही लोगों ने राहत की सांस ली है। ... और पढ़ें

नियमों के उल्लंघन पर तीन इकाइयों के खिलाफ जुर्माना

कठुआ। लीगल मीट्रोलाजी विभाग ने पैकेज कमोडिटी नियमों के उल्लंघन पर तीन औद्योगिक इकाइयों को जुर्माना ठोका है। जिला उपायुक्त कठुआ डॉ. राघव लंगर के निर्देश पर लीगल मीट्रोलाजी सहित अन्य विभागों की टीमों ने गत सप्ताह सिकॉप औद्योगिक क्षेत्र कठुआ में औचक निरीक्षण किया था। इस दौरान नियमों का उल्लंघन करने पर सात इकाइयों के खिलाफ विभाग ने मामला दर्ज किया था। इनमें से तीन का निपटारा करते हुए लीगल मीट्रोलाजी विभाग के सहायक निदेशक कुलदीप राज ने एक लाख रुपये का जुर्माना ठोका है।
विभागीय अधिकारियों ने बताया कि उल्लंघन पाए जाने के बाद मामला उल्लंघनकर्ताओं के साथ उठाया गया, जिसमें वह गलती स्वीकार करते हुए कंपाउंड जुर्माने के लिए राजी हो गए। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि एसयूएस एग्रो फूड इंडिया लिमिटेड को 50 हजार जुुर्माना ठोका गया है, जहां जांच के दौरान उपभोक्ताओं को बेचे जा रहे घी का वजन पचास से साठ ग्राम कम पाया गया। वहीं, पैकेज कमोडिटी नियमों के उल्लंघन पर चट्टान सीमेंट इंडस्ट्रीज और राजस्थान सीमेंट इंडस्ट्रीज को 25-25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया।
विभाग ने चेतावनी देते हुए कहा कि इकाई प्रबंधक इस बात को सुनिश्चित करें कि पैक की गई वस्तुओं पर पैक किए गए लेखों के उत्पादन से संबंधित आगे की इकाइयों को विभाग द्वारा यह सुनिश्चित करने की सलाह दी जाती है कि निर्माता/पैकर/आयातक का पता, मात्रा, वजन/माप/संख्या, खुदरा बिक्री मूल्य, निर्माता/पैकिंग, उपभोक्ता देखभाल संख्या आदि का महीना और वर्ष, जैसी अनिवार्य घोषणाओं को वहन करें। ... और पढ़ें

प्रेमिका के पति को जलाने की कोशिश

कठुआ। बदले की भावना में प्रेमी ने प्रेमिका के पति को जिंदा जलाने की कोशिश की है। मामला शहर के वार्ड 16 का है, जहां से बुरी तरह से झुलसे सुरेंद्र कुमार को परिजनों ने राजकीय मेडिकल कॉलेज के एसोसिएटेड अस्पताल में भर्ती करवाया है। सुरेंद्र 20 फीसदी तक झुलस गया है।
उसके भाई ने बताया कि लगभग चार महीने पहले सुरेंद्र की पत्नी अपने प्रेमी शेरू निवासी बमियाल वर्तमान निवासी वार्ड 16 कठुआ के साथ भाग गई थी। इसके बाद गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाने के बाद पुलिस ने उसे बरामद किया और बाद में मायके वालों ने जमानत करवाई थी। तभी से सुरेंद्र की पत्नी उसके साथ नहीं रह रही है। बताया कि शेरू को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था और कुछ दिन पहले ही छूटकर वह आया था।
उन्होंने बताया कि देर रात ढाई बजे के लगभग सुरेंद्र के कमरे से जोरदार आवाज सुनी और बाद में उसे आग की लपटों में घिरे देखा। आनन-फानन में आग बुझाने की कोशिश की गई और उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जोरदार आवाज के तुरंत बाद उन्होंने शेरू को भी घर से भागते देखा, जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवा दी गई है। उधर, पुलिस ने बताया कि शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरपीसी की धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। ... और पढ़ें

चनेरा के राधे का चीन में बजा डंका

कठुआ। चीन के चेंगडू में महानपुर के राधे ने अपना लोहा मनवाया है। उन्होंने जारी पुलिस एंड फायर गेम्स में विभिन्न पांच स्पर्धाओं में एक स्वर्ण सहित चार रजत पदक जीत कर देश सहित प्रदेश का नाम रोशन किया है। आठ से 18 अगस्त तक चली पुलिस एंड फायर गेम्स का रविवार को चीन के चेंग डू में समापन हुआ है।
महानपुर के निकटवर्ती गांव चनेरा निवासी राधे कुमार ने भारतीय तिरंगा लहराते हुए अपनी प्रतिभा को लगातार देश और दुनिया में साबित किया है। राधे कुमार ने 21 किलोमीटर हाफ मेराथन में जहां भारत के लिए स्वर्ण पदक हासिल किया, वहीं 11 अगस्त को आयोजित पांच हजार मीटर क्रॉस कंट्री रेस में रजत पदक हासिल किया है। इसके उपरांत उन्होंने पांच किलोमीटर ट्रैक एंड फील्ड रेस में रजत, 10 किलोमीटर रेस में रजत और 10 किलोमीटर क्रॉस कंट्री रेस में भी रजत पदक हासिल किया है।
अमर उजाला से बातचीत में राधे ने बताया कि यह उनके लिए गर्व की बात है कि उन्होंने देश के साथ-साथ बीएसएफ और अपने इलाके का नाम भी रोशन किया है। बीएसएफ के टाइगर के नाम से प्रसिद्ध राधे कुमार ने इससे पहले इसी वर्ष आठ जून से पुर्तगाल में आयोजित इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ अल्ट्रा रनर्स ट्रेल वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी भाग लिया था।
टाइगर ऑफ मैराथन के नाम से पुकारते हैं साथी
जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले की महानपुर तहसील के चनेरा निवासी राधे कुमार वर्तमान में दिल्ली में बीएसएफ में तैनात हैं। वह राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं में इतने ज्यादा स्वर्ण और रजत पदक जीत चुके हैं कि बीएसएफ में उनके साथी राधे कुमार को टाइगर ऑफ मैराथन के नाम से पुकारते हैं।
2003 के बाद पीछे मुड़ कर नहीं देखा
राधे बीएसएफ की सेंट्रल स्पोर्ट्स टीम में शामिल हैं। उन्होंने बताया कि वह 2001 में बीएसएफ में शामिल हुए थे। खेलों के प्रति पहले से ही रुचि थी, जो आगे बीएसएफ में एक पहचान बन गई। 2003 में उन्होंने इंटर बीएसएफ टूर्नामेंट में पहली बार भाग लिया। यहीं से उन्हें बीएसएफ की सेंट्रल स्पोर्ट्स टीम के लिए चयन हुआ। 2009 में 42 किलोमीटर मैराथन में उन्होंने अपने पिछले रिकार्ड को तोड़ दिया। 2015 में वर्ल्ड विंग्स फार लाइफ रन प्रतियोगिता में उन्हें पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिला, जिसमें विश्व के 33 देशों के धावक एक साथ दौड़े। राधे कुमार ने यहां केन्याई धावक को पछाड़कर पहला स्थान हासिल किया था। इससे उनकी धाक जम गई। गुड़गांव के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में वर्ष 2015 में आयोजित विंग्स फॉर लाइफ मैराथन के पुरुष वर्ग में राधे कुमार विजेता बने थे। ... और पढ़ें

अधिकारी विकास में लाएं तेजीः सलाहकार

कठुआ। अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद जिला कठुआ के हालातों और विकास कार्यों की समीक्षा के लिए राज्यपाल के सलाहकार केके शर्मा रविवार को कठुआ पहुंचे। राज्य के प्रवेशद्वार लखनपुर के टोल प्लाजा पर उन्होंने डीसी डॉ. राघव लंगर सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद जिस तरह से हालात सामान्य हो चुके हैं, लोग भी शासन प्रशासन से बेहतर विकास की उम्मीद कर रहे हैं।
ऐसे में विकास कार्यों में तेजी लाई जाए, ताकि लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरा जा सके। उन्होंने जिला उपायुक्त से जिला के हालात की जानकारी ली। जिला उपायुक्त ने बताया कि कठुआ में हालात सामान्य हैं और स्थिति को देखते हुए धारा 144 को हटाया गया था और शिक्षण संस्थानों के साथ-साथ सरकारी कार्यालयों में भी कामकाज सुचारु हो चुका है।
सलाहकार ने इसके उपरांत विभागीय अधिकारियों से जिला में चल रही लंबित योजनाओं की समीक्षा करते हुए जानकारी ली। पीएचई, पीडीडी और लोक निर्माण विभागों को भी विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देेेश दिए गए। वहीं, अधिकारियों को निर्देश दिए कि केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू कश्मीर के नियम कानून भी बदलने जा रहे हैं, लिहाजा लोगों की दिक्कतें न हों इसके लिए सुशासन के साथ काम किया जाए।
बैठक के उपरांत मीडिया को जानकारी देते हुए शर्मा ने कहा कि कठुआ में जहां हालात ठीक रहे हैं, वहीं पूरे राज्य में शांति बहाली को लेकर प्रयास किए जा रहे हैं। कानून व्यवस्था को देखते हुए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं फिलहाल बंद की गई हैं। ... और पढ़ें

सोच समझकर करें इंटरनेट सेवाओं का प्रयोग

कठुआ। जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल होने के बाद जिला पुलिस ने उनका दुरुपयोग नहीं करने की अपील की है। दुरुपयोग करने पर दोषी पर कड़ी कार्रवाई करने की भी बात कही।
प्रेसवार्ता में जिला पुलिस प्रमुख श्रीधर पाटिल ने कहा कि सरकार ने कई दिन से बंद की गई इंटरनेट सेवा को जिले में बहाल कर दिया है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि इंटरनेट सेवाओं का सदुपयोग करें और किसी प्रकार के अफवाहों और फेक न्यूज को सोशल मीडिया पर शेयर करने से पहले उसकी वैधता की जांच कर लें। राज्य के हालात को देखते हुए पुलिस सोशल मीडिया पर नजर बनाए हुए है। ऐसे में अफवाह और झूठी खबर को फैलाने वाले पर कार्रवाई की जाएगी।
उन्होंने लोगों से अपील की है कि सोशल मीडिया पर अफवाहों और झूठी खबरों को बढ़ावा देने वाले की जानकारी पास के पुलिस स्टेशन में दें, ताकि दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। ... और पढ़ें

दो से तीन फिदायीन आतंकियों के सीमा में दाखिले होने के मिले इनपुट, सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

दो-तीन फिदायीनों के भारतीय सीमा में प्रवेश करने और इनके द्वारा हमला करने का इनपुट शुक्रवार देर रात मिला था। इनपुट था कि जम्मू और पठानकोट के बीच हमले किए जा सकते हैं। फिदायीन का निशाना सैन्य तथा सुरक्षा बलों के प्रतिष्ठान बताए जा रहे हैं। इनपुट के बाद कठुआ के एसएसपी ने सभी नाकों तथा पुलिस चौकियों को हाई अलर्ट पर कर दिया था। सभी पुलिस चौकियों के बाहर सेना तैनात कर दी गई थी। इसके साथ ही हीरानगर के मंगतियां गांव में सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया था।

आर्मी स्कूल एहतियातन रहे बंद
जम्मू में फिदायीन हमले के इनपुट के मद्देनजर शनिवार को विभिन्न आर्मी स्कूल बंद कर दिए गए। इन स्कूल में शनिवार को होने वाली परीक्षा भी स्थगित कर दी गई। सूत्रों ने बताया कि कक्षा छह की स्थगित परीक्षा के लिए सोमवार का दिन तय किया गया है। हालांकि, इस बारे में सेना की ओर से कोई अधिकृत बयान नहीं मिल पाया है। ज्ञात हो कि इनपुट के बाद शुक्रवार की रात जम्मू, कठुआ और सांबा में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। 

जम्मू-कश्मीर पुलिस का कड़ा संदेश, सोशल मीडिया पर न फहलाएं झूठी अफवाहें
जम्मू जोन के पांच जिलों जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी में इंटरनेट सेवाएं बहाल हो गई है। आईजीपी जम्मू ने लोगों से अपील की है कि सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की झूठी अफवाह न फहलाएं। लोग ऐसे संदेश जिससे शांति भंग होने की संभावना है, ऐसे झूठे संदेश और वीडियो शेयर न करें। ऐसा होने पर सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जम्मू जोन में बाजार खुल गए हैं और हालात सामन्य है। राजेारी, रामबन और डोडा जिला में स्कूल खुल गए हें। राजेारी में दूरभाष सेवा बहाल हो गई है।  

  ... और पढ़ें

भारी बारिश ने जिले में जमकर मचाई तबाही

कठुआ। शुक्रवार रात से शुरू हुई मूसलाधार बारिश ने जिलेभर में जमकर तबाही मचाई है। जिले के पहाड़ी और मैदानी इलाकों में मूसलाधार बारिश का सिलसिला शनिवार को भी रुक-रुक कर जारी रहा। शुक्रवार रात से शनिवार सुबह तक करीब छह घंटे में 170 एमएम बारिश दर्ज की गई है, जो इस मौसम की सबसे अधिक बारिश है। इससे हाईवे से लेकर शहर तक अधिकांश इलाकों में जलराव की स्थिति उत्पन्न हो गई और नदी-नाले उफान पर रहे। राजबाग और पंडोरी के निकट उज्ज दरिया 14 लोग फंस गए, जिन्हें कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। भारी बारिश के कारण कठुआ, बिलावर, बसोहली, हीरानगर समेत बनी के दर्जनों सड़क संपर्क बंद हो गए हैं।
जानकारी के अुनसार शुक्रवार देर रात मूसलाधार बारिश का सिलसिला जारी रहा। सुबह छह बजे के लगभग तेज बारिश का सिलसिला रूका, लेकिन बूंदाबांदी शनिवार दिनभर जारी रही। इससे कई इलाके जलमग्न हुए तो कई गांवों की गलियां तालाब में तब्दील हो गईं। इससे जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। विद्यार्थियों से लेकर नौकरी पेशा लोगों को घंटों बरसाती नालों के जलस्तर के कम होने का इंतजार करना पड़ा। बारिश से स्कूलों में हाजिरी भी कम रही।
सुबह छह बजे के करीब पंडोरी और राजबाग इलाके में उज्ज दरिया की बाढ़ में दर्जन भर लोगों के फंसे होने की जानकारी पुलिस और प्रशासन को मिली। डीसी डॉ. राघव लंगर ने खुद मौके पर पहुंचकर जहां स्थिति का जायजा लिया और बचाव कार्य तेजी से शुरू करने के निर्देश दिए। एसएसपी श्रीधर पाटिल ने बताया कि पुलिस स्टेशन राजबाग और कठुआ के अंतर्गत पंडोरी और राजबाग इलाके में उज्ज की बाढ़ में फंसे चौदह लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। घंटों तक चले रेस्क्यू आपरेशन को पुलिस और एसडीआरएफ की टीमों ने अंजाम दिया। एसडीपीओ बार्डर रविंद्र सिंह और राजबाग थाना प्रभारी मंजीत सिंह ने नेशनल हाईवे से सटे राजबाग पुल के नजदीक गुज्जर डेरे में फंसे बच्चों, महिलाओं, पुरुषों और बुजुर्गों को बाहर निकाला। वहीं, पुलिस पोस्ट नगरी के अंतर्गत पंडोरी में पुलिस टीम ने गुज्जर समुदाय के तीन लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। दरअसल, बिलावर के पहाड़ी इलाकों से लेकर मैदानों की ओर बढ़ते उज्ज दरिया ने कई जगह भू कटाव किया। राजबाग नेशनल हाईवे के नजदीक खड्ड के एक किनारे को काटकर दरिया का पानी रिहायशी कुल्लों का रूख कर गया, जिस कर गुज्जर समुदाय के लोग फंस गए। दोपहर एक बजे के करीब सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।
शहर की सड़कें और गलियां हुईं जलमग्न
घरों और दुकानों में घुटने घुटने तक भरा पानी
मानसून सीजन में इस साल पहली बार मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। कठुआ शहर की सड़कें और गलियां जलमग्न रहीं। चौक-चौराहों पर बरसात का पानी खड़ा होने से लोगों को भारी दिक्कतें हुईं, तो हाईवे भी जलमग्न हो गया। जम्मू-पठानकोट नेशनल हाईवे पर तीन-चार फुट तक पानी एक लेन में रहा तो वहीं हाईवे की दूसरी लेन में भी जलभराव होने से वाहनों की रफ्तार धीमी रही। यह सिलसिला लगभग तीन घंटे तक जारी रहा।
कठुआ शहर के कॉलेज मार्ग, कोर्ट रोड, जराई चौक, वार्ड 10, शास्त्री नगर, वार्ड दो, कृष्णा कॉलोनी व शास्त्री नगर सहित पारलीवंड में भी दो-तीन फुट तक पानी भरा रहा। स्कूलों के मैदान और इमारतें भी जलभराव की चपेट में आईं, जिसके कारण स्कूलों में कम हाजिरी रही। उधर, शहर में यातायात पर भी इसका असर पड़ा। कोर्ट रोड तालाब बना तो शहीदी चौक के नजदीक लोगों की दुकानों और घरों में तीन फुट तक पानी भर गया। घंटों स्थानीय लोग पानी की निकासी के प्रबंध करते दिखाई दिए।
बनी-बसोहली मार्ग पर कई जगह गिरी पस्सियां
पहाड़ी इलाकों में कई जगह पस्सियां गिरने से कई गांव को जोड़ने वाले सड़क संपर्क पर फिसलन बढ़ने से वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई। कृषि विज्ञान केंद्र की एग्रोमेट यूनिट के अनुसार शुक्रवार रात से शनिवार सुबह तक करीब छह घंटे में 170 एमएम बारिश दर्ज की गई है। बाद दोपहर बारिश थमने के बाद भी आसमान में बादल छाए रहे। बनी बसोहली मार्ग पर सुबह से ठप रहे यातायात को ग्रेफ ने दोपहर डेढ़ बजे के लगभग बहाल किया। शीतलनगर और बनी के बीच दर्जनों जगह पर पहाड़ से मलवा खिसक कर सड़क पर आ गिरा था जिसे साफ करने में घंटों लग गए।
घंटों इंतजार करते रहे स्कूली बच्चे और अध्यापक
नेशनल हाईवे को हटली समेत आसपास के दर्जनों गांव से जोड़ने वाली संपर्क सड़क पर बरसात फिर आफत बनकर आई। बरसाती खड्ड में बाढ़ आने से सड़क संपर्क घंटों ठप रहा। सुबह बीच बारिश घर से निकले स्कूली बच्चे और अध्यापकों को खड्ड के दोनों ओर घंटों पानी के कम होने का इंतजार करना पड़ा। लोगों ने कहा कि हर साल हालात इसी तरह के रहते हैं लेकिन कोई भी इंतजाम नहीं किया जाता। अक्सर हादसे होते हैं जिनसे सबक नहीं लिया जाता है। कमोवेश ऐसी ही स्थिति जिला के अन्य हिस्सों में भी रही जहां बरसाती नालों के उफान पर आने के बाद स्कूूली बच्चों को घंटों इंतजार करना पड़ा। बसोहली, बिलावर, दन्नी बाख्ता के साथ-साथ दियाल ाचक बिलावर मार्ग पर भी स्थिति ऐसी ही रही।
घंटों गुल रही बिजली
मूसलाधार बारिश के बीच बिजली ढांचा भी पस्त होता दिखा। कठुआ शहर समेत आसपास के इलाकों में कई जगह ट्रांसफार्मर के खराब होने की सूचना है। कठुआ शहर के साथ-साथ पहाड़ी और कई ग्रामीण इलाकों में बारिश के चलते बिजली ढांचे को भी नुकसान पहुंचा है। कई जगह उफनते नालों और बाढ़ की चपेट में आने बिजली और पीएचई के पाइप बहने की जानकारी है।
उज्ज में सीजन की रिकार्ड बाढ़ दर्ज
हर साल बाढ़ से कहर ढहाने वाले उज्ज दरिया में शनिवार सुबह इस सीजन की रिकार्ड बाढ़ दर्ज की गई। जलस्तर बढ़ने से सैकड़ों एकड़ भूमि और कई गांवों को खतरा महसूस होने लगा है। रातभर से जारी तेज बारिश में जहां उज्ज की बाढ़ एक लाख क्यूसेक पानी के बहाव को भी पार कर गई। वहीं, सुबह छह बजे के लगभग 90 हजार क्यूसेक रहा बहाव अगले दो घंटे तक जारी रहा। सुबह 11 बजे के लगभग पानी का बहाव कुछ कम हुआ और बाद दोपहर तक 30 हजार क्यूसेक पानी उज्ज में बहता रहा। बिलावर के बेरिल के साथ साथ निचले इलाकों में घाटी, राजबाग, छिब्बे चक आदि में भू कटाव होने से कई जगह फसलों को भी नुकसान की सूचना है। मग्गर और सहार खड्ड में भी पानी का बहाव बढ़ने से निचले इलाके बाढ़ की चपेट में रहे।
रंजीत सागर झील का जलस्तर पहुंचा 519.94 फुट
बरसात में दिन प्रतिदिन रंजीत सागर झील के जलस्तर वृद्धि हो रही है। सोमवार को 8700 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैली रंजीत सागर झील का जलस्तर 519.94 फुट पहुंच गया। पहाड़ी इलाकों में बारिश जारी रहने से झील के जलस्तर में बढ़ोतरी जारी है। रंजीत सागर झील में पानी का इनफ्लो 69.132 क्यूसेक दर्ज किया गया। उधर, बसोहली और कठुआ के बीच वैकल्पिक रूट शाहपुर कंडी-दुनेरा और बसोहली रूट पर भी लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। धार रोड पर डैम साइट के नजदीक पस्सियां गिरने से यातायात दिनभर प्रभावित रहा। बसोहली से कठुआ आने वाले वाहनों को पठानकोट की ओर से होकर आने को मजबूर होना पड़ा। ... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर पुलिस का कड़ा संदेश, सोशल मीडिया पर न फैलाएं झूठी अफवाहें, नहीं तो मिलेगी यह सजा

जम्मू जोन के पांच जिलों जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी में इंटरनेट सेवाएं बहाल हो गई है। आईजीपी जम्मू ने लोगों से अपील की है कि सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की झूठी अफवाह न फहलाएं। लोग ऐसे संदेश जिससे शांति भंग होने की संभावना है, ऐसे झूठे संदेश और वीडियो शेयर न करें। ऐसा होने पर सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जम्मू जोन में बाजार खुल गए हैं और हालात सामन्य है। राजेारी, रामबन और डोडा जिला में स्कूल खुल गए हें। राजेारी में दूरभाष सेवा बहाल हो गई है।  

आर्मी स्कूल एहतियातन रहे बंद
फिदायीन हमले के इनपुट के मद्देनजर शनिवार को विभिन्न आर्मी स्कूल बंद कर दिए गए। इन स्कूल में शनिवार को होने वाली परीक्षा भी स्थगित कर दी गई। सूत्रों ने बताया कि कक्षा छह की स्थगित परीक्षा के लिए सोमवार का दिन तय किया गया है। हालांकि, इस बारे में सेना की ओर से कोई अधिकृत बयान नहीं मिल पाया है। ज्ञात हो कि इनपुट के बाद शुक्रवार की रात जम्मू, कठुआ और सांबा में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। 

दो-तीन फिदायीनों के भारतीय सीमा में दाखिल होने के थे इनपुट
दो-तीन फिदायीनों के भारतीय सीमा में प्रवेश करने और इनके द्वारा हमला करने का इनपुट शुक्रवार देर रात मिला था। इनपुट था कि जम्मू और पठानकोट के बीच हमले किए जा सकते हैं। फिदायीन का निशाना सैन्य तथा सुरक्षा बलों के प्रतिष्ठान बताए जा रहे हैं। इनपुट के बाद कठुआ के एसएसपी ने सभी नाकों तथा पुलिस चौकियों को हाई अलर्ट पर कर दिया था। सभी पुलिस चौकियों के बाहर सेना तैनात कर दी गई थी। इसके साथ ही हीरानगर के मंगतियां गांव में सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया था। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree