विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कश्मीर: दरबार मूव पर भी हो सकता है बड़ा फैसला, 600 करोड़ का खर्च अब घटकर हो सकता है 25 करोड़

अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद आने वाले 31 अक्तूबर से जम्मू-कश्मीर में केंद्र शासित प्रदेश के तौर पर लागू होने वाली नई व्यवस्था में दरबार मूव की परंपरा पर भी अहम फैसला हो सकता है।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

उधमपुर

बुधवार, 21 अगस्त 2019

कच्चा मकान गिरने पर बुजुर्ग महिला घायल

उधमपुर। भुगरतयान पंचायत में शनिवार देर रात को कच्चा मकान गिरने से बुजुर्ग महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। परिवार के सदस्यों ने फौरन महिला को जिला अस्पताल पहुंचाया। जानकारी अनुसार देर रात करीब 11 बजे बारिश के दौरान रानो देवी मवेशियों के कमरे में काम कर रही थी कि अचानक कच्चे मकान का बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त होकर महिला पर गिर गया। परिवार के सदस्यों ने तुरंत महिला को बाहर निकाला और उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां महिला की हालत ठीक बताई जा रही है। ब्यूरो ... और पढ़ें

पुराने राजमार्ग की हालत सुधारने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

उधमपुर। शहर के बीच से गुजर रहे पुराने राजमार्ग की हालत सुधारने की मांग को लेकर रविवार की सुबह शिवसेना के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने राजमार्ग बंद कर बीआरओ के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि करीब एक वर्ष से मार्ग की हालत खराब है और इसकी सुध नहीं ली जा रही है। बीआरओ की लापरवाही के कारण हर रोज शहरवासियों के वाहन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं।
शिवसेना के जिला प्रधान संजीव के नेतृृत्व में सुबह करीब साढ़े दस बजे मार्ग को बंद कर प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के दौरान संजीव ने बताया कि करीब एक वर्ष पहले एमईएस ने पुराने राजमार्ग पर जखैनी से एमएच चौक तक पानी की पाइप लाइन बिछाने का काम किया था। इसके लिए मार्ग के बीच खोदाई कर पाइप लाइन बिछाई गई थी और इसके बाद इसकी हालत नहीं सुधारी गई। खोदाई के बाद पुराने राजमार्ग को लिंक रोड बना कर रख दिया है। प्रशासन से आदेश मिलने पर करीब दो माह पहले बीआरओ ने मार्ग की हालत सुधारने का काम शुरू किया, लेकिन बरसात शुरू होते ही काम बंद कर दिया गया और आज तक यह काम बंद है। मौजूदा समय में मार्ग की हालत इतनी खराब हो चुकी है कि हर रोज शहरवासियों के वाहन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। खुश किस्मती है कि अभी तक कोई बड़ी दुर्घटना नहीं हुई है।
मौजूदा समय में शहरवासियों के लिए सबसे बड़ी परेशानी पुराना राजमार्ग बना हुआ है। वाहनों को निकलने के लिए स्थान नहीं मिल रहा है और इसी कारण हर रोज सुबह से शाम तक जाम की स्थिति रहती है। कई बार तो जाम खुलने में ही घंटों लग रहे हैं। इसी कारण हर रोज छात्र व छात्राएं देरी से स्कूल व कॉलेज पहुंच रहे हैं। जब बारिश होती है तो खोदाई वाला स्थान पानी से भर जाता है और लोगों को इसका पता नहीं चलता है। इसके कारण भी शहरवासियों के वाहन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। मजबूर होकर आज सभी प्रदर्शन कर रहे हैं। अगर जल्द इसकी हालत सुधारने का काम नहीं शुरू हुआ तो शिव सैनिक प्रदर्शन तेज करने को मजबूर हो जाएंगे।
प्रदर्शन में अश्विनी, सतपाल, रवि कुमार, शाम लाल, डीसी शर्मा, अजीत राज, विक्की कपूर व अन्य शामिल रहे। ... और पढ़ें

नियमों की अनदेखी कर हो रही स्लाटरिंग

उधमपुर। जम्मू संभाग के दूसरे सबसे बड़े शहर उधमपुर में करीब चार माह से स्लाटर हाउस बंद पड़ा है। इस कारण मीट बेचने वाले व्यापारी अपने घरों में ही स्लाटरिंग करने को मजबूर हैं। बिना मेडिकल जांच के ही भेड़, बकरों को काटा जा रहा है। विशेष बात यह इस तरह से बीमार और वृद्ध पशु भी काट दिए जा रहे हैं जो खाने लायक भी नहीं हैं। बिना फिटनेस सर्टिफिकेट के ही मीट बाजार में बेचा जा रहा है।
करीब सात वर्ष पहले नगर परिषद ने शहर से करीब चार किलोमीटर दूर बिरमा पुल इलाके में 20 लाख रुपये की लागत से स्लाटर हाउस तैयार किया था। नया स्लाटर हाउस तैयार होने के बाद सैला तालाब से पुराने स्लाटर हाउस को बिरमा पुल में स्थानांतरित कर दिया गया था। हालांकि वहां पर पानी की जरूरत अनुसार सुविधा न मिलने के कारण स्लाटरिंग का काम लंबे समय तक प्रभावित रहा। करीब चार माह पहले इस स्लाटर हाउस को बंद कर दिया गया है।
---
फिटनेस सर्टिफिकेट के बाद ही हो सकती है स्लाटरिंग
नियम अनुसार पहले डाक्टर भेड़-बकरे की जांच करता है। जांच में देखा जाता है कि उसे किसी प्रकार की बीमारी तो नहीं है। अगर पशु स्वस्थ है तो उसको फिटनेस सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाता है। उसके बाद स्लाटर हाउस में स्लाटरिंग होती है और फिर मीट मार्केट में बेचने के लिए पहुंचता है, लेकिन चार माह से कोई जांच नहीं हो रही है। लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर मीट मार्केट में बेचा जा रहा है।
----
अब माडल स्लाटर हाउस में ही स्लाटरिंग की जा सकती है। उधमपुर में माडल स्लाटर हाउस नहीं है, इसलिए उच्च अधिकारियों से आदेश मिलने पर बिरमा पुल में स्लाटर हाउस को बंद कर दिया गया है। स्लाटरिंग किए जाने वाले भेड़ व बकरे की जांच का काम अब फूड एंड ड्रग कंट्रोल के डाक्टर ही जांच करेंगे। अब यह अधिकार नगर परिषद के पास नहीं है।
-संतोष कोतवाल, सीईओ नगर परिषद ... और पढ़ें

कमांड अस्पताल में चिकित्सा शिक्षा पर दो दिवसीय सेमिनार आयोजित

उधमपुर। उत्तरी कमान के कमान अस्पताल की तरफ से ‘कम्बैट ट्रॉमा केयर-इमर्जिंग ट्रेंड्स एंड कंट्रोवर्सीज’ पर दो दिवसीय सतत चिकित्सा शिक्षा (सीएमई) सेमिनार का आयोजन किया गया। इसका उद्घाटन उत्तरी कमान के जीओसी इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने किया। लेफ्टिनेंट जनरल ए-बनर्जी, डीजीएमएस (सेना) कार्यक्रम मेें मुख्य रूप से उपस्थित रहे।
इस अवसर पर एपेक्स ट्रॉमा सेंटर, एम्स दिल्ली के पूर्व निदेशक, प्रोफेसर एमसी मिश्रा ने विषय से संबधित जानकारी दी। कार्यक्रम में सर्जरी और संबद्ध विशिष्टताओं के विभिन्न विषयों में कम्बैट ट्रॉमा केयर से संबंधित विषयों पर भी विचार-विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम ने युद्ध के मैदान में अत्याधुनिक चिकित्सा देखभाल और प्रौद्योगिकी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से नवोदित सर्जनों को शिक्षित करने के अपने उद्देश्य के अलावा, कम्बेट ट्रॉमा केयर की चुनौतियों के बारे में एक दूरदृष्टि प्रदान की है जो उन लोगों के कीमती जीवन और अंग को बचाने के लिए अहम भूमिका निभाएगी। जो स्वयं राष्ट्र की सुरक्षा के लिए स्वयं को युद्ध में झोंक देते हैं। इस मौके पर काफी संख्या में देश के विभिन्न अस्पतालों के सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के डॉक्टरों ने भाग लिया। ... और पढ़ें
udhampur  northern command main sena ka karikarm udhampur northern command main sena ka karikarm

वरिष्ठ नागरिको के प्रति स्नेहपूर्ण रवैया अपनाने पर दिया जोर,

उधमपुर। 21 अगस्त को मनाए जाने वाले विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस पर प्रकाश डालते हुए सेवानिवृत्त पुलिस अधीक्षक एवं सामाजिक कार्यकर्ता महदीप सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह दिन वरिष्ठ नागरिकों के प्रति प्यार, स्नेह व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है। आधुनिक पीढ़ी अपने माता-पिता के प्रति कर्तव्यों को भूलती जा रही है। परिणामस्वरूप कई वरिष्ठ नागरिकों के लिए आज वृद्धाश्रम उनके आवास हैं।
उन्होंने कहा कि इसके हल के लिए भारत सरकार ने वर्ष 2007 में ‘माता-पिता व वरिष्ठ नागरिक रखरखाव अधिनियम’ लेकर आई, लेकिन यह अधिनियम जम्मू कश्मीर में लागू नहीं था, परंतु अब अनुच्छेद 370 खत्म होने के कारण यहां भी लागू है। इस अधिनियम द्वारा वरिष्ठ नागरिकों की अगली पीढ़ी, जिसमें बेटा, बेटी, पोता और पोती नाबालिगों को छोड़ कर अपने माता-पिता के साथ-साथ दादा-दादी की देखभाल करने के लिए कानूनी रूप से जिम्मेदार बनाया गया है। रखरखाव में भोजन, कपड़े, निवास और चिकित्सा उपस्थिति और उपचार के लिए प्रावधान शामिल है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति कानूनी तौर पर वरिष्ठ नागरिकों के संरक्षण के लिए बाध्य है अगर वह इसका उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। अधिनियम के तहत रखरखाव के लिए एक आवेदन ट्रिब्यूनल में दिया जा सकता है और मामले में निर्णय लंबित होने की सूरत में ट्रिब्यूनल रखरखाव भत्ते का आदेश दे सकता है। ... और पढ़ें

सांकरी मेला प्रबंधो को लेकर जिला प्रशासन ने की बैठक

उधमपुर। पंचैरी ब्लाक के मीर ग्राम में 27 अगस्त से आरंभ होने वाले तीन दिवसीय ऐतिहासिक सांकरी मेले की तैयारियों को लेकर एडीडीसी गुरविंद्रजीत सिंह ने डीसी आफिस के सम्मेलन हाल में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें मेले के दौरान सुरक्षा व्यवस्था, सफाई व्यवस्था, चिकित्सा प्रबंध, ट्रांसपोर्ट व यातायात व्यवस्था सहित मेला स्थल पर निर्बाध रूप से बिजली, पानी जैैसे प्रबंध करने तथा वस्तुओं के दरों की जांच किए जाने को लेकर चर्चा की गई।
बैठक में एडीसी ने सभी जिला अधिकारियों को मेले की सफलता के लिए आपसी तालमेल के साथ मेला शुरू होने से पूर्व सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने स्थानीय मेला समिति के सदस्यों से आग्रह किया कि वे मेला को सफल बनाने में आगे आएं क्योंकि क्षेत्र की पर्यटन और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में सार्वजनिक भागीदारी का बहुत महत्व है। बैठक के दौरान उन्होंने एक्सईएन पीएचई व एक्सईएन पीडीडी को निर्देश दिया गया कि वे मेले के दिनों में निर्बाध पानी व बिजली की आपूर्ति प्रदान करें। जबकि एक्सईएन पीएमजीएसवाई को संबधित सड़क मार्ग के सभी गड्ढों को भरकर जल्द से जल्द सड़क की मरम्मत का कार्य करने को कहा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को मेला स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के लिए डॉक्टरों की एक टीम सहित एक एंबुलेंस को मौके पर तैनात रखने का निर्देश दिया। इसके अतिरिक्त बैठक में निर्णय लिया गया कि जिला पुलिस मेला के दिनों में पर्याप्त सुरक्षाकर्मी तैनात करेगी जबकि एआरटीओ विभिन्न स्थानों से पर्याप्त संख्या में बसें तैनात करेंगे। पर्यटन विभाग को संबंधित विभाग के सभी अधिकारियों को आवास प्रदान करने के लिए कहा गया, जो मेला में विभागीय स्टाल लगाते हैं। इसके अलावा, उन्होंने अधिकारियों को विभिन्न सरकारी योजनाओं के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए विभिन्न विभागीय स्टॉल लगाने के लिए कहा। जबकि तहसीलदार पंचैरी को मेला अधिकारी नियुक्त किया गया, जो संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ सहयोग करने के अलावा खाने की दरों और गुणवत्ता की जांच पर कड़ी निगरानी रखेंगे। ... और पढ़ें

बरसात से पीएचई विभाग को पहुंचा है करीब दो करोड़ का नुकसान

उधमपुर। इस बार बरसात का कहर जिले में पीएचई विभाग पर भी बरपा है। अभी तक पीएचई को करीब दो करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। ज्यादा नुकसान ग्रामीण इलाकों में हुआ है। कहीं पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो चुकी है तो कहीं फिल्ट्रेशन प्लांट की मशीनरी खराब हो गई है। सैकड़ों वाल्व भी खराब हो चुुके हैं। इसी कारण दूर दराज ग्रामीण इलाकों में पानी की आपूर्ति बुरी तरह से प्रभावित है।
इस बार बरसात ने जिले के शहर और ग्रामीण इलाकों में काफी कहर बरपाया है। इससे कई सरकारी विभाग को भी बहुत नुकसान पहुंचा है। पीएचई विभाग इनमें से एक है। जिले में जब भी तेज बारिश हुई तो रामनगर, मजालता, चिनैनी, पंचैरी, मोंगरी तहसील में पीएचई विभाग के ढांचे को नुकसान पहुंचा है। कहीं पस्सी गिरने से पाइप क्षतिग्रस्त हो गई तो कहीं पीएचई पंपिंग स्टेशन के अंदर पानी पहुंच गया और सारी मशीनरी को खराब कर गया। कहीं फिल्ट्रेशन प्लांट को ही नुकसान पहुंच गया। मौजूदा समय में पीएचई विभाग नुकसान का आकलन करने के साथ मरम्मत के कार्य में लगा हुआ है।
-----
नदी व नालों में डाले गए क्रेट हुए क्षतिग्रस्त
पीएचई विभाग पानी की पंपिंग के लिए नदी व नालों में पानी को इकट्ठा करने के लिए क्रेट डालता है, लेकिन इस बार पानी के तेज बहाव में क्रेट क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इससे पीएचई विभाग को ग्रामीण इलाकों में पंपिंग के लिए पानी नहीं मिल रहा है। इसके कारण पानी की आपूर्ति प्रभावित हो रही है।
----
शहर के अंदर भी पीएचई को हुआ नुकसान
शहर के कुछ हिस्से में भी पीएचई विभाग को नुकसान हुआ है। इस कारण पानी की सप्लाई प्रभावित हुई है। पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने पर शहर के विभिन्न हिस्सों में आज भी पानी को बेकार बहते देखा जा सकता है। इसके अलावा वाल्व की भी मरम्मत न किए जाने से पानी बेकार बह रहा है।
----
बरसात के कारण पीएचई को डेढ़ से दो करोड़ रुपये के बीच नुकसान हो चुका है। इसके बाद विभाग की तरफ से मरम्मत का काम पूरा कर पानी की सप्लाई बहाल करने का काम किया जा रहा है। विभाग को ज्यादा परेशानी दूर दराज ग्रामीण इलाकों में हो रही है, क्योंकि ज्यादा नुकसान भी ग्रामीण इलाकों में ही हुआ है।
-अजय गुप्ता, एक्सईएन, पीएचई विभाग ... और पढ़ें

पहाड़ की कटाई के बाद धसती जा रही जमीन

उधमपुर। घोरडी के हरतयान इलाके में सड़क को चौड़ा करने के लिए की गई पहाड़ की कटाई के बाद जमीन धंसती जा रही है। स्थानीय निवासियों के मकानों व दुकानों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ चुकी हैं। लोगों का कहना है कि इसके बारे में पीडब्ल्यूडी व प्रशासन को भी बताया है, लेकिन कोई उनकी सहायता नहीं कर रहा है।
हरतरयान निवासी उत्तम सिंह ने बताया कि करीब डेढ़ वर्ष पहले उधमपुर-घोरडी मार्ग को चौड़ा करने के लिए हरतयान में पहाड़ी की कटाई की गई थी। कटाई के बाद जब भी बारिश होती है तो जमीन धंसने लगती। शुरू में लगा कि थोड़े में परेशानी दूर हो जाएगी, लेकिन यह परेशानी कम होने के बजाए बढ़ती जा रही है। पिछले दिनों तेज बारिश के दौरान जमीन धंसने पर मकान व दुकानों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ चुकी हैं। अब तो ऐसा लग रहा है कि किसी भी पल उनके मकान व दुकान गिर कर मलबे में तब्दील हो सकते हैं। इसके बारे में कई बार प्रशासन व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को सूचित कर मदद की मांग की है, लेकिन किसी ने कुछ नहीं किया है। ... और पढ़ें

इस नवरात्रि अगर आप भी जा रहे हैं श्री माता वैष्णो देवी, तो बन सकते हैं इस फेस्टिवल का हिस्सा

hartyan main lagge sadak kay kaam karan girr rehay ghar
श्री माता वैष्णो देवी के आधार शिविर कटड़ा में 29 सितंबर से 7 अक्तूबर को नवरात्र फेस्टिवल 2019 का आयोजन किया जाएगा। इसमें प्रस्तावित कार्यक्रमों में प्रभात फेरी, शोभा यात्रा, माता की कहानी, भक्ति गीत प्रतियोगिता और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का आयोजन किया जाएगा। 

मंडलायुक्त संजीव वर्मा ने मंगलवार को संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर फेस्टिवल की तैयारियों की समीक्षा की। 

मंडलायुक्त ने फेस्टिवल के सफल आयोजन के लिए समितियों का गठन करने का निर्देश दिया। उन्होंने फेस्टिवल के लिए कई कार्यक्रम प्रस्तावों को सुना। उन्होंने कहा कि फेस्टिवल का व्यापक स्तर पर प्रचार किया जाए, ताकि देश विदेश से श्रद्धालु कटड़ा पहुंचे। 

कटड़ा कसबे के सौंदर्यीकरण, स्वच्छता, आवश्यक प्रावधान, यातायात प्रबंधन और आपातकालीन सेवाओं पर अधिकारियों से चर्चा की गई। 

कटड़ा में नवरात्र फेस्टिवल का वर्ष 1996 से आयोजन किया जा रहा है। बैठक में जिला उपायुक्त रियासी इंदु कंवल चिब, सीईओ श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड सिमरनदीप सिंह सहित अन्य विभागों और होटल एसोसिएशन के प्रतिनिधि मौजूद रहे।  ... और पढ़ें

कश्मीर: हिरासत में ही रहेंगे अलगाववादी, अफवाह फैलाने वालों पर सख्ती, 10 दिन में सुविधाएं होंगी बहाल

केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद नए जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी नेताओं को कोई रियायत नहीं देने का फैसला किया है। अलगाववादी नेता फिलहाल हिरासत में ही रहेंगे। वहीं, अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्ती में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। अगले दस दिनों में आम लोगों के लिए सभी सेवाएं और सुविधाएं बहाल कर दी जाएंगी। सोमवार को गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, गृह सचिव राजीव गाबा और खुफिया ब्यूरो (आईबी) प्रमुख अरविंद कुमार सहित कई शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक कर कश्मीर के हालात की समीक्षा की।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीरः अमित शाह की हिदायत के बाद एक्टिव मोड में पार्टी नेता, इस वजह से बैठकों का दौर जारी

जम्मू-कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने के बाद से लगातार कश्मीर घाटी में डेरा डाले रखने के बाद दिल्ली लौटे डोभाल ने शाह को कश्मीर के हालात से अवगत कराया। सूत्रों ने बताया कि चरणबद्ध तरीके से कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में सुविधाएं बहाल कर स्थिति की लगातार समीक्षा की जाएगी। इस दौरान इसके दुरुपयोग पर खास निगाह रखी जाएगी। जम्मू-कश्मीर में तैनात अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बलों और सेना को हटाने पर कोई विचार नहीं किया गया है। सूत्रों ने बताया कि सारी सुविधाएं और सेवा बहाल होने के बाद स्थिति की समीक्षा कर पहले हिरासत में लिए गए क्षेत्रीय दलों के नेताओं को छोड़ा जाएगा। इसके बाद देश की विभिन्न जेलों में बंद अलगाववादी नेताओं पर विमर्श शुरू होगा।

 

गिलानी को इंटरनेट सेवा जारी रखने के मामले में दो बीएसएनएल अफसर नपे

जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लगाने और इंटरनेट पर पाबंदी के बावजूद अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के ट्वीट करने के मामले में बीएसएनएल के दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। आरोप है कि दोनों ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस नेता गिलानी को प्रतिबंध को ताक पर रखकर इंटरनेट लिंक मुहैया कराया था। हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता गिलानी को संचार सेवा पर रोक के बावजूद इंटरनेट एक्सेस देने के मामले में यह कार्रवाई की गई। 4 अगस्त से घाटी में इंटरनेट पाबंदी के बावजूद गिलानी को लैंडलाइन और इंटरनेट सेवा जारी थी।


यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट बंद होने पर भी गिलानी ने किए कई ट्वीट, बीएसएनएल के दो अधिकारी सस्पेंड


कश्मीर पर विवादित टिप्पणी कर घिरीं शेहला

वहीं जेएनयू छात्रा और पूर्व छात्र संघ नेता शेहला राशिद जम्मू-कश्मीर पर विवादित टिप्पणी करने के बाद घिरती नजर आ रही हैं। शेहला ने कई ट्वीट कर कश्मीर में अत्याचार की बात कही तो सेना ने कहा, ये बेबुनियाद और तथ्यहीन आरोप हैं, जिनमें कोई सच्चाई नहीं है। कुछ असामाजिक तत्व और संगठन नफरत भरी झूठी खबरें फैलाकर लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। शेहला अभी पूर्व आईएएस शाह फैसल की पार्टी जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट से जुड़ी हैं। विवादित टिप्पणी मामले में शेहला के खिलाफ मुंबई और दिल्ली में केस दर्ज कराया गया है।
... और पढ़ें

कैलाश कुंड यात्रा प्रबंधों को लेकर जिला प्रशासन ने की बैठक

उधमपुर। जिला उधमपुर की सब-डिविजन डूडू में 27 अगस्त से शुरू हो रही तीन दिवसीय वार्षिक कैलाश कुंड यात्रा के दौरान किए जाने वाले प्रबंधों को लेकर एडीसी गुरविंद्रजीत सिंह ने संबधित अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने यात्रा के दौरान विशेष प्रबंध किए जाने को लेकर विस्तार से चर्चा की।
बैठक में यात्रा के सुचारु संचालन से संबंधित विभिन्न व्यवस्थाओं पर विस्तृत चर्चा की गई, जिसमें आधार शिविर पर आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के अलावा विभिन्न स्थानों पर पेयजल की व्यवस्था, डूडू से सियोज धार तक उचित चिकित्सा सुविधा, परिवहन सुविधा, टेंट, कंबल के अलावा अन्य बुनियादी सुविधाओं पर भी विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में निर्णय लेते हुए एसडीएम डूडू-बसंतगढ़ को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया, जो बेस कैंप, डूडू से कैलाश कुंड तक की सभी व्यवस्थाओं की देखरेख का जिम्मा संभालेंगे और यात्रा के सुचारु संचालन के लिए डूडू में एक नियंत्रण कक्ष को स्थापित करेंगे। एडीसी ने संबंधित विभागों के प्रमुखों को यात्रा के सुचारु संचालन के लिए पहले से ही अच्छी तरह से सभी प्रबंधों को करने का निर्देश दिया ताकि यात्रा के दौरान यात्रियों को किसी भी किस्म की असुविधा महसूस न हो। एआरटीओ को यत्रियों की सुविधा के लिए डूडू जाने वाले विभिन्न मार्गों से अतिरिक्त यात्री बसों को चलाने के निर्देश दिए गए। एडीसी ने सीएमओ को बेस कैंप पर तीर्थयात्रियों के लिए उचित चिकित्सा सुविधा प्रदान करने की व्यवस्था करने तथा बेस कैंप और सियोज धार में मेडिकल टीमों को तैनात करने के निर्देश दिए। पीडब्ल्यूडी को यात्रा के मद्देनजर चिनैनी से डूडू तक सड़क की मरम्मत करने को कहा। इसके साथ ही उन्होंने तहसीलदार को यात्रियों के लिए पर्याप्त संख्या में टेंट और कंबलों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए और यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि बेस कैंप में रहने के दौरान यात्रियों को सभी आवश्यक वस्तुएं मिलें। ... और पढ़ें

उधमपुर में सुबह तेज बारिश के बाद दिनभर साफ रहा मौसम

उधमपुर। तेज बारिश से हुई दिन की शुरुआत के बाद दिन बढ़ने के साथ ही लोगों को तेज धूप का सामना करना पड़ा। ग्यारह बजे के आसपास आसमान में छाए बादल पूरी तरह से हट गये और तेज धूप निकली जिससे बारिश के बाद तापमान में आई गिरावट में फिर से उछाल देखने को मिला तथा लोगों को गर्मी से दोचार होना पड़ा। दिनभर आसमान पूरी तरह से साफ रहा तथा गर्मी में बढ़ोतरी दर्ज की गई। वहीं बीते दो दिनों में हुई तेज बारिश के बाद उधमपुर के पहाड़ी क्षेत्रों के अलावा मैदानी क्षेत्रों में भी तापमान में भी काफी कटौती दर्ज की गई थी जिसके चलते अधिकतर लोगों ने पंखे व कूलर आदि को बंद कर दिया था। लेकिन सुबह की बारिश के बाद दिनभर निकली तेज धूप ने फिर से लोगों को भीषण गर्मी का अहसास कराया तथा लोगों को पंखे व कूलर आदि ठंडक पैदा करने वाले बिजली उपकरणों का सहारा लेने को मजबूर कर दिया। बावजूद इसके साफ मौसम के चलते दिनभर नगर के बाजारों में खूब रौनक देखने को मिली। हालांकि सुबह तड़के हुई मुसलाधार बारिश के कारण नगर के कुछ स्थानों की सड़कों व गलियों में बारिश के पानी से बनी जलभराव की स्थिति के कारण लोगों को परेशानी का भी सामना करना पड़ा। दिनभर मौसम के साफ रहने से जिन लोगों के घरों में सुबह की बारिश के बाद काफी मात्रा में पानी भर गया था उन्हें राहत कार्य करने में आसानी हुई। वहीं साफ मौसम के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में भी किसान सुबह की तेज बारिश के बाद फसलों व फलदार पेड़ों को पहुंची क्षति के लिए के अपने खेतों में बचाव कार्य करते नजर आए। ... और पढ़ें

आदर्श कालोनी में तेज बारिश से कच्चा मकान हुआ क्षतिग्रस्त

उधमपुर। बारिश के कहर से कच्चे मकानों के गिरने का सिलसिला थमने का नाम नहीं दे रहा है। शहर के आदर्श कालोनी मोहल्ले में सोमवार सुबह क्षतिग्रस्त नाले के कारण कच्चा मकान क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे में किसी को चोट नहीं लगी है। घर के मालिक का कहना है कि कई बार अपनी परेशानी को नगर परिषद के अधिकारी व नेताओं के सामने रखा, लेकिन किसी ने भी उसकी मदद नहीं की।
मकान के मालिक राम कृष्ण ने बताया कि सुबह के समय तेज बारिश के दौरान देखते ही देखते मकान का बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त होकर नाले में गिर गया। उन्होंने बताया कि काफी समय से नाले की हालत खराब है और नाले का पानी जमीन के अंदर से उसके मकान को नुकसान पहुंचा रहा था। कई बार नाले की मरम्मत की मांग को ज्ञापन सौंप कर नगर परिषद के अधिकारियों व प्रशासन के अधिकारियों के सामने रखा था, लेकिन किसी ने भी उसकी परेशानी की तरफ ध्यान नहीं दिया। हर किसी ने केवल झूठे आश्वासन ही दिए। सुबह के समय तेज बारिश होने पर अचानक नाला उफान पर आ गया और फिर इसी कारण मकान क्षतिग्रस्त हो गया। अगर समय रहते नाले की मरम्मत कर दी होती तो आज उसका मकान भी सुरक्षित होता। उसकी हालत इतनी अच्छी नहीं है कि मकान की मरम्मत करवा सके। इसलिए जिला प्रशासन से अपील है कि बारिश से हुए नुकसान का मुआवजा देकर राहत प्रदान की जाए। ... और पढ़ें

खैरी में पस्सियां गिरने पर साढ़े तीन घंटे बंद रहा राष्ट्रीय राजमार्ग

उधमपुर। तड़के तेज बारिश के दौरान जिला मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर दूर खैरी इलाके में पस्सी गिरने के बाद करीब साढ़े तीन घंटे तक राष्ट्रीय राजमार्ग बंद रहा, जिसके कारण वाहन चालकों व यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। राजमार्ग बंद होने पर घाटी के साथ चिनैनी किश्तवाड़, भद्रवाह, डोडा, रामबन की तरफ जाने वाले वाहनों की आवाजाही घंटों तक प्रभावित रही।
जानकारी अनुसार सोमवार तड़के करीब पांच बजे अचानक ही खैरी में पहाड़ से मलबा व पानी राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहुंच गया और राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया। राजमार्ग के बंद होते ही दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। सूचना मिलने पर फोर लेन राजमार्ग का निर्माण कर रही कंपनी की मशीनरी को भी मौके पर बुला लिया गया। मशीनरी ने राजमार्ग को खोलने का काम शुरू कर दिया, लेकिन पहाड़ से मलबा इतना अधिक गिरा था कि हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। मशीनरी एक तरफ से मलबा हटाती तो कुछ समय के बाद फिर से पहाड़ से पानी, कीचड़ व पत्थर राजमार्ग पर पहुंच जाते। करीब तीन घंटे तक मशीनरी को मलबा हटाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। सुबह करीब साढ़े आठ बजे पुलिस को राजमार्ग को खोलने में कामयाबी मिली। पुलिस ने एक एक कर वाहनों को रवाना किया। हालांकि राजमार्ग के खुलने पर जाम की स्थिति बन गई। जब राजमार्ग बंद हुआ तो पुलिस ने उधमपुर के जखैनी से वाहनों के आगे बढ़ने पर प्रतिबंध लगा दिया। उधमपुर में भी घंटों तक वाहनों की लंबी कतार लग रही। रोके जाने के बाद यात्रियों व वाहन चालकों को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सुबह जब राजमार्ग नहीं खुला तो कई यात्री पैदल ही शहर की तरफ निकल पड़े। करीब सात किलोमीटर का पैदल सफर कर लोग शहर पहुंचे। किश्तवाड़, डोडा, भद्रवाह, चिनैनी रूट पर चलने वाले यात्री वाहनों में सवार यात्री भी घंटों तक परेशानियों का सामना करने को मजबूर रहे। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree