विज्ञापन
विज्ञापन
बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?
astrology

बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

लेह विकास परिषद के चुनाव नतीजे आज, भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर, मुकाबला कांग्रेस से 

मतगणना सुबह नौ बजे से एसएसके सभागार लेह में शुरू हो जाएगी। शाम चार बजे तक सभी नतीजे घोषित हो जाएंगे। लेह प्रशासन ने एसएसके सभागार में काउंसिल की सभी 26 सीटों की मतगणना के लिए व्यापक प्रबंधों को अंतिम रूप रविवार देर शाम तक दे दिया। 

अनुच्छेद 370 के समाप्त होने और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद पहली बार हुए लेह विकास परिषद के चुनाव में भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर है। 2015 के चुनाव में भाजपा को 26 में से 18 सीटों पर जीत दर्ज हुई थी। भाजपा ने इस बार चुनाव में 25 सीटें पार का नारा लगाया है और सभी सीटों पर अपने प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे हैं। वहीं कांग्रेस ने भी सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं।

2015 के चुनाव में कांग्रेस को पांच सीटों पर ही जीत दर्ज हुई थी लेकिन इससे पहले के सभी चुनावों में कांग्रेस का ही यहां पर वर्चस्व रहा है। ऐसे में कांग्रेस खोई सियासी जमीन को पुन: हासिल करने की उम्मीद कर रही है। 

चुनाव में कुल 94 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है। भाजपा और कांग्रेस के 26-26 उम्मीदवारों के अलावा आम आदमी पार्टी ने 19 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे हैं। 23 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में हैं। नेकां और पीडीपी ने कोई उम्मीदवार नहीं उतारा। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस में ही मुख्य मुकाबला है और लेह विकास परिषद की सत्ता भाजपा को मिलती है या कांग्रेस को, इस पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं।  

लेह काउंसिल के चुनाव की मतगणना एसएसके सभागार में होगी और सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में मतगणना होगी। सायं चार बजे से पहले सभी नतीजे घोषित हो जाएंगे। 
-सोनम चोसगर, अतिरिक्त जिला उपायुक्त लेह
... और पढ़ें
Result Result

जम्मू-कश्मीरः जिला विकास परिषद सीटों में आरक्षण के लिए नियम बदले

जिला विकास परिषद चुनावों में निर्वाचन क्षेत्रों को अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिलाओं के लिए आरक्षित करने के लिए सरकार ने नियमों में संशोधन कर दिया है। जम्मू-कश्मीर पंचायती राज नियमों में बदलाव के साथ ही अब सीटें आरक्षित की जा सकेंगी। 

अनुसूचित जाति-जनजाति के लिए आरक्षण का पैमाना जिले में संबंधित वर्ग की सबसे ज्यादा आबादी होगी। जिस निर्वाचन क्षेत्र में एससी अथवा एसटी की सबसे ज्यादा संख्या होगी, उसे एक कार्यकाल के लिए आरक्षित कर दिया जाएगा। 

अगले चुनाव में इसी वर्ग से जुड़े दूसरे सबसे बहुल क्षेत्र को आरक्षित किया जाएगा। इसी तरह से महिलाओं के लिए सीटों का आरक्षण त्रिस्तरीय रोस्टर से होगा। एक में ओपन कैटेगरी महिला, दूसरे में अनुसूचित जाति की महिला और तीसरे में अनुसूचित जनजाति की महिला के लिए सीट आरक्षित होगी।

एक अन्य संशोधन के तहत अब पंचायती राज की त्रिस्तरीय व्यवस्था में किसी भी पद के लिए चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को फार्म 4 के तहत शपथ लेनी होगी। इसमें पंच, सरपंच, पंचायती अदालत अध्यक्ष, ब्लॉक विकास परिषद अध्यक्ष, जिला विकास परिषद सदस्य, जिला परिषद अध्यक्ष, जिला परिषद उपाध्यक्ष भी शपथ लेंगे। इसी तरह से पदों के नाम चेयरमैन और वाइस चेयरमैन की जगह चेयरपर्सन और वाइस चेयरपर्सन किए गए हैं।
... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीरः बम धमाकों में आरोपियों के रिकॉर्ड से पकड़ा गया अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट

भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा के अरनिया सेक्टर से हेरोइन, अफीम और हथियारों की बरामदगी मामले को पुलिस ने बम धमाकों के आरोपियों का रिकॉर्ड खंगालकर सुलझा लिया है। पिछले तीन दिन के भीतर सात गिरफ्तारियां करने के बाद शनिवार को आईजी जम्मू मुकेश सिंह ने अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट के भंडाफोड़ का खुलासा किया। 19 सितंबर की रात को अरनिया क्षेत्र में बीएसएफ की बुधवार पोस्ट के पास से 61 किलो हेरोइन, एक किलो अफीम, दो पिस्टल, तीन मैगजीन और 100 कारतूस बरामद किए गए थे। 

आईजी मुकेश सिंह ने कहा कि ड्रग्स और हथियारों की बरामदगी होने के बाद पुलिस के पास कोई पुख्ता सुराग नहीं था। पुलिस ने विशेष टीम का गठन कर इस ब्लाइंड केस को सुलझाने के लिए जब ड्रग्स तस्करी से जुड़े पुराने नाम खंगाले तो कड़ियां जुड़ती गईं। इसके बाद एक-एक कर रैकेट के सात सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया। इनमें से दो लोग 2005 में हुए दिल्ली बम धमाकों में आरोपी थे। 

पकड़े गए सात आरोपी
जश राज सिंह निवासी साईं कलां, सुभाष चंदर निवासी साईं फगला, शाम लाल निवासी अरनिया, गुरबख्श सिंह निवासी भौर कैंप सतवारी, बिशन दास उर्फराजू निवासी अखनूर, अजीत कुमार उर्फ काला निवासी खौड़ और गुरु प्रताप सिंह निवासी तरनतारन के रूप में हुई। 

जशराज और सुभाष लेने आए थे खेप, फायरिंग होने पर भागे
आईजी ने कहा कि छानबीन में पाया गया कि 19 सितंबर की रात को बुधवार पोस्ट के पास बुल्लेचक इलाके में शामलाल के कहने पर जशराज और सुभाष चंदर हथियारों और ड्रग्स की खेप लेने गए थे। संदिग्ध हलचल होने पर फायरिंग हुई तो दोनों खेप वहीं छोड़कर फरार हो गए। पुराना रिकॉर्ड खंगालने पर बिशनदास और अजीत कुमार के नाम सामने आए। यह दोनों ड्रग्स तस्करी में पहले भी संलिप्त रहे हैं। दिल्ली बम धमाकों में भी आरोपी बनाए गए थे। अजीत का भाई सरफू जम्मू-कश्मीर में ड्रग्स मामलों में वांछित है जो भारत से बाहर कहीं छिपा है। इसी कड़ी ने मामले जांच को दिशा दी। अरनिया सेक्टर में ही 11 किलो हेरोइन तस्करी की विफल कोशिश के पीछे भी अजीत ही मुख्य आरोपी था।

भारत, पाकिस्तान, दुबई तक जाल, तीन ग्रुप करते थे काम
तस्करों का रैकेट भारत, पाकिस्तान और दुबई तक फैला हुआ है। आईजी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से जुड़ा रैकेट तीन समूहों में काम करता रहा है। एक ग्रुप सीमा पर बताई गई लोकेशन से खेप लेकर जम्मू पहुंचाने का काम करता, दूसरा जम्मू से पंजाब पहुंचाता और तीसरा इसे देश भर में सप्लाई करता।

आतंकी कनेक्शन की भी हो रही जांच
आईजी ने कहा कि ड्रग्स तस्करों के रैकेट का आतंकी कनेक्शन खंगाला जा रहा है। आरोपियों की आतंकी गतिविधियों में संलिप्तता से इनकार नहीं किया जा सकता है।
... और पढ़ें

जम्मू कश्मीर में कोरोना से छह और की मौत, जीएमसी जम्मू में दो ने दम तोड़ा

जम्मू कश्मीर में शनिवार को छह और लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। प्रदेश में शनिवार को 577 नए संक्रमित मामले मिले, लेकिन 733 संक्रमित मरीज ठीक भी हुए हैं, इसमें जम्मू संभाग से 344 और कश्मीर से 389 मरीज शामिल हैं। अब तक जम्मू-कश्मीर में 91329 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें 7680 मामले सक्रिय हैं। 

जीएमसी जम्मू में चट्ठा निवासी एक 42 वर्षीय व्यक्ति और पलोड़ा निवासी 82 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ा। जम्मू जिले में अब तक 248 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है। मौतों के आंकड़ों में जम्मू प्रदेश में श्रीनगर के बाद दूसरे नंबर पर है। जिले में 116 नए संक्रमित मामले मिले, जिसमें 2 ही ट्रैवलर थे। 

हालांकि आगामी दिनों में फ्लाइटें बढ़ने और रेल मार्ग बहाल होने पर संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ सकता है। राजोरी में 7, उधमपुर में 8, डोडा में 33, कठुआ में 8, पुंछ में 9, सांबा में 7, किश्तवाड़ में 13, रामबन में 7 और रियासी में 5 नए संक्रमित मामले मिले हैं।

कश्मीर संभाग में श्रीनगर में सर्वाधिक 130, बडगाम में 50, बारामुला में 47, पुलवामा में 12, कुपवाड़ा में 45, अनंतनाग में 27, बांदीपोरा में 24, गांदरबल में 12, कुलगाम में 11 और शोपियां में 6 संक्रमित मामले मिले हैं। प्रदेश में अब तक 82219 संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं। इसमें जम्मू संभाग से 33573 और कश्मीर संभाग से 48646 मरीज हैं। सक्रिय मामलों में जम्मू संभाग से 2447 और कश्मीर से 5233 मामले हैं। जम्मू कश्मीर में संक्रमित मामलों में गिरावट आई है, जबकि प्रदेश में ओवरआल रिकवरी की दर 90 फीसदी तक पहुंच गई है।
... और पढ़ें

पीडीपी के जम्मू दफ्तर पर भीड़ ने किया हमला, दी गालियां और लगाया तिरंगा

कोरोना वायरस से संक्रमित कोशिका

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने कहा है कि शनिवार को जम्मू में उसके पार्टी दफ्तर पर भीड़ ने हमला किया और तिरंगा फहराया। पीडीपी नेता फिरदौस टाक ने कहा कि भीड़ ने दफ्तर में मौजूद लोगों को गालियां दीं और हमारे साथ धक्का-मुक्की की। उन्होंने जबरदस्ती तिरंगा लगाने की कोशिश की। फिरदौस ने कहा कि स्पष्ट तौर पर वे दक्षिणपंथी थे क्योंकि उन्होंने एक खास रंग के कपड़े पहने हुए थे।
 



टाक ने कहा कि भीड़ में शामिल लोगों ने उन्हें धमकी दी कि वे कल फिर आएंगे और दफ्तर को गिरा देंगे। उन्होंने कहा, ''हमने प्रशासन से संपर्क करने की कोशिश की, मैंने व्यक्तिगत तौर पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से संपर्क किया, लेकिन किसी ने जवाब नहीं दिया।''
 

 

... और पढ़ें

गुपकार समझौते को लेकर फिर हुई बैठक, अब्दुल्ला अध्यक्ष और महबूबा होंगी समिति की उपाध्यक्ष

जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर स्थित महबूबा मुफ्ती के आवास पर शनिवार को एक बार फिर पीपुल्स एलायंस के सदस्यों ने मिलकर गुपकार समझौते पर बैठक की। इस बैठक में नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला और उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला भी मौजूद रहे।
 
यह कोई धार्मिक लड़ाई नहीं है: फारूक अब्दुल्ला
फारूक अब्दुल्ला ने इस दौरान कहा कि यह कोई देश विरोधी जमात नहीं है। हमारा उद्देश्य बस यह सुनिश्चित करना है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों के अधिकारों को फिर से बहाल किया जाए। धर्म के नाम पर हमें विभाजित करने के प्रयास विफल होंगे। यह कोई धार्मिक लड़ाई नहीं है।
 
'हम भाजपा के खिलाफ हैं, देश के नहीं'
पिपुल्स एलायंस गुपकार समझौते की बैठक के बाद नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि हम भाजपा के विरोध में हैं, देश के नहीं।

फारूक अब्दुल्ला अध्यक्ष और महबूबा होंगी उपाध्यक्ष
'पिपुल्स एलायंस गुपकार समझौते' की बैठक के बाद सज्जाद लोन ने बताया कि फारूक अब्दुल्ला इस समिति के अध्यक्ष होंगे और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती उपाध्यक्ष होंगी। इस संबंध में अगले एक महीने के अंदर दस्तावेज भी तैयार कर लिए जाएंगे। इनके माध्यम से हम उन तथ्यों को सामने लाएंगे जिनका झूठा प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

इससे पहले 15 अक्तूबर को भी नेशनल कांफ्रेंस के मुखिया फारूख अब्दुल्ला के घर पर प्रदेश के कई दलों के नेताओं ने बैठक की थी। इसमें पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, पीपुल्स कॉन्फ्रेंस, कांग्रेस एवं अवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत कई राजनीतिक दलों के नेता मौजूद थे।

करीब दो घंटे तक चली उस बैठक के बाद फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि सभी पार्टियों ने इस समझौते का नाम गुपकार से बदलकर 'पीपुल एलायंस गुपकार समझौता' करने पर आम सहमति जताई है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे के लिए हमारी लड़ाई जारी रहेगी। जम्मू-कश्मीर की समस्या का समाधान राजनीतिक है। आगे की रणनीति के लिए हम फिर बैठक करेंगे। ... और पढ़ें

उमर ने रविशंकर पर कसा तंज, कहा : अनुच्छेद 370 पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अंदाजा न लगाएं

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X