बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
मंगलवार को इन 4 राशिवालों की पलटेगी किस्मत, जेब में आएगा पैसा
Myjyotish

मंगलवार को इन 4 राशिवालों की पलटेगी किस्मत, जेब में आएगा पैसा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

एएसआई ने रेहड़ी संचालक को जड़ा थप्पड़, पांवटा बाजार में हंगामा

पांवटा साहिब में कर्फ्यू और लॉकडाउन के बीच मिलने वाली छूट के दौरान बाजार में रेहड़ी लगा रहे व्यक्ति को एएसआई ने थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद पांवटा बाजार में खूब हंगामा हुआ। व्यापार मंडल ने इस पर संज्ञान लेते हुए एएसआई के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। हंगामे के बीच कारोबारियों ने जरूरी वस्तुओं की दुकानें भी बंद करनी शुरू कर दीं। स्थानीय विधायक और डीएसपी ने मौके पर पहुंचकर कारोबारियों को शांत करवाया और निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया। इसके बाद ही कारोबारियों ने दुकानें खोलीं। 

जानकारी के अनुसार पांवटा साहिब मुख्य बाजार में रेहड़ी संचालक विजय कुमार (58) फलों की रेहड़ी लेकर शनिवार को पहुंचा। बाजार में जरूरी सामान की दुकानों के खुलने का समय सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक है। बताया जा रहा है कि वक्त से पहले ही गीता भवन मुख्य बाजार में पहुंचने पर रेहड़ी संचालक को एक एएसआई ने उसे थप्पड़ जड़ दिए। रेहड़ी संचालक की पिटाई से पांवटा बाजार में तनाव हो गया। इसकी सूचना लिखित में जिला सिरमौर अधीक्षक नाहन को भी भेज दी गई है।

नाराज व्यापारी डीएसपी कार्यालय के बाहर एकत्रित हो गए। व्यापारियों ने एएसआई के खिलाफ कार्रवाई की मांग रखी है। व्यापार मंडल अध्यक्ष अनिंद्र सिंह नौटी ने कहा कि मारपीट करने वाले एएसआई को लाइन हाजिर किया जाए या फिर सस्पेंड किया जाए। वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए पांवटा विस क्षेत्र के विधायक सुखराम चौधरी भी मौके पर पहुंच गए।

व्यापारियों और एएसआई के बीच पनपे माहौल को शांत करने का प्रयास किया। उधर, डीएसपी पांवटा सोमदत्त ने कहा कि पावंटा व्यापार मंडल का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को मिला है। डीएसपी ने कहा कि शिकायत की निष्पक्ष जांच होगी। इस बारे में उच्चाधिकारियों को भी सूचित कर दिया गया है।
... और पढ़ें

कार से कराहती हुई उतरी महिला, बोली- मेरा पति मुझे बहुत मारता है

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के बहराल बैरियर पर चंडीगढ़ से एक कार पहुंची। कार में पति-पत्नी के साथ करीब ढाई वर्षीय बच्चा था। कार रुकते ही विवाहिता कराहती हुई उतरी। महिला की हालत देख पुलिस जवान भी असमंजस में पड़ गए। महिला ने उतरते ही कहा मेरी कोई नहीं सुन रहा। मेरा पति मुझे बहुत मारता है। रात को भी काफी पिटाई की है। बैरियर पर तैनात पुलिस जवान संदीप कुमार की टीम भी असमंजस में पड़ गई। तुरंत महिला को कुर्सी पर बिठाया। पुलिस टीम के जवानों ने जैसे ही माजरा समझा, आरोपी पति को कार से उतारा। 

विवाहिता ने कहा कि वह नौ माह की गर्भवती है। महिला (26) ने मारपीट की पूरी दास्तां सुनाई। महिला ने बताया कि वह चंडीगढ़ में पति के साथ रहती है। शनिवार रात को पति ने उसका सिर दीवार से कई बार टकराया। पिटाई से पांव में भी सूजन हो गई है। सिर व मुंह पर चोट के निशान नजर आए। पीड़िता की दास्तां सुनते ही पुलिस जवान ने थाने में फोन कर मारपीट व उत्पीड़न मामले की सूचना दी। इस बीच आरोपी पति ने मामले को तूल नहीं देने की बात कही।

महिला ने देहरादून स्थित मायके में अपने भाई से भी पुलिस की फोन पर बात करवाई। विवाहिता ने कहा कि पानी सिर के ऊपर चला गया है। उत्पीड़न को बर्दाश्त कर पाना मुमकिन नही है। इसके बाद पीड़ित महिला व आरोपी पति को पुलिस टीम पांवटा थाना लेकर पहुंची। डीएसपी पांवटा साहिब ने सोमदत ने कहा कि शिकायत मिली है। विवाहिता की शिकायत पर मेडिकल करवाया जा रहा है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

कर्फ्यू के दौरान वारदात, हुड़दंगियों ने पुलिस पर ही कर दिया हमला

कर्फ्यू के बाद शिलाई क्षेत्र में नशे में धुत लोगों ने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया। हमले में दो पुलिस कर्मियों को चोटें आई हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। शिलाई विधानसभा क्षेत्र की हालाहां पंचायत में नैनीधार-गत्ताधार सड़क पर धुमखर के पास मारपीट की यह घटना हुई। इसमें रोनहाट चौकी प्रभारी दलीप सिंह राठौर और कांस्टेबल वीरेंद्र चौहान लहूलुहान हो गए।

बताया जा रहा है कि हलाहां के धुमखर गांव से कुछ दूर सड़क पर प्रशासन और इन हुड़दंगियों की गाड़ी का आमना-सामना हुआ। पुलिस कर्मियों ने युवकों को घर जाने के लिए कहा और कर्फ्यू के चलते सरकार के आगामी आदेशों तक अपने घरों में रहने का आग्रह किया। इतना सुनते ही शराब के नशे में धुत हुड़दंगियों ने गाड़ी से उतरकर पुलिस कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया और हमला कर दिया। 

कोरोना संक्रमित देशों से भारत लौटने वाले लोगों के स्वास्थ्य जांच के लिए प्रशासन ने कुछ टीमें बनाई हैं। इनमें डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, राजस्व और पुलिस कर्मी संयुक्त रूप से शामिल किए गए हैं। यह टीम कोरोना संदिग्ध लोगों की सूचना मिलने पर उनके घरों में उनका हेल्थ चेकअप कर रही हैं। क्षेत्र से लोगों को जागरूक करने के बाद टीम अपने गंतव्य की ओर लौट रही थी।

इसी बीच, हुड़दंगियों का पुलिस से सामना हो गया। नशे में धुत लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। इसमें एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। दो लोग फरार हो गए हैं। डीएसपी सोमदत्त ने बताया कि पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। एक आरोपी को हिरासत में लिया है। हुड़दंगियों की गाड़ी भी जब्त की गई है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।
... और पढ़ें

हिमाचल: पांवटा में 15 करोड़ की नशीली दवाएं जब्त, फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

सिरमौर जिले के पांवटा साहिब में पंजाब पुलिस और ड्रग्स विभाग की टीम में छापामारी कर 15 करोड़ रुपये की नशीली दवाएं जब्त की हैं। नशीली दवाइयां बनाने के आरोप में यूनिक फॉर्मूलेशन फैक्ट्री के मालिक मोनिश मोहन निवासी देवीनगर, पांवटा को गिरफ्तार कर लिया। अमृतसर पुलिस टीम नशीली दवाओं की खेप को छानबीन के लिए ट्रक में भरकर ले गई है। यह कार्रवाई वीरवार शाम से शुक्रवार सुबह तक जारी रही। 

पुलिस अधीक्षक सिरमौर डॉ. केसी शर्मा ने शुक्रवार को नाहन में पत्रकार वार्ता में बताया कि बीते 18 मई को पंजाब पुलिस ने अमृतसर के मत्तेवाल में 50 हजार नशीले कैप्सूलों (ट्रामाडोल) के साथ आरोपियों को गिरफ्तार कर मामला दर्ज किया। मामले की जांच के दौरान पंजाब पुलिस ने पाया कि दर्द के लिए बनी दवा जिसमें प्रतिबंधित पदार्थ ट्रामाडोल पाया जाता है और उसका इस्तेमाल नशे के तौर पर भी किया जा रहा है।

इस दवा का निर्माण पांवटा साहिब की दवा कंपनी यूनिक फॉर्मूलेशन में किया गया है। इसके बाद पंजाब पुलिस ने बीते दिन वीरवार को पांवटा साहिब के देवीनगर में दवा कंपनी में छापा मारने के लिए जिला सिरमौर पुलिस से सहायता मांगी। जिला सिरमौर के सहायक दवा नियंत्रक सन्नी कौशल और निरीक्षक भूमिका भी शामिल रहे।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पंजाब पुलिस, स्थानीय पुलिस और ड्रग विभाग की मदद से दवा कंपनी परिसर में छापा मारकर पूरा रिकॉर्ड खंगाला। छानबीन के दौरान दवा फैक्ट्री में कुछ अनियमितताएं भी पाई र्गईं। छापे के दौरान पंजाब पुलिस ने दवा कंपनी में निर्मित 15 करोड़ रुपये की लागत के करीब 30 लाख कैप्सूल और टैबलेट्स (ट्रामाडोल और एप्राजोलम) को कब्जे में लिया है। इस कार्रवाई में पंजाब पुलिस टीम का नेतृत्व उप निरीक्षक लवप्रीत वाजवा पुलिस थाना मत्तेवाल प्रभारी ने किया। 
... और पढ़ें
जब्त की गईं नशीली गोलियां। जब्त की गईं नशीली गोलियां।

रात्रि कर्फ्यू तोड़ने पर तीन युवकों को हवालात में काटनी पड़ी रात

सिरमौर में लागू रात्रि कर्फ्यू का उल्लंघन करना तीन युवकों को महंगा पड़ गया। रात के समय नेशनल हाईवे पर बिना किसी कारण नशे की हालत में घूम रहे तीनों युवकों को पुलिस ने हिरासत में लेकर मामला दर्ज कर उन्हें पूरी रात हवालात में रखा। इन्हें अदालत में पेश करने की प्रक्रिया चल रही है।

शनिवार देर रात पांवटा साहिब पुलिस टीम सुरजपुर की तरफ गश्त पर थी। इस दौरान पुलिस ने देखा कि सुरजपुर के पास रिशु, कादिर खान और अमित नशे की हालत में सड़क पर घूम रहे थे। पुलिस ने उनसे घूमने का कारण पूछा तो वे सही जवाब नहीं दे सके। इसके बाद पुलिस ने तीनों को रात्रि कर्फ्यू के उल्लंघन पर हिरासत में लेकर पूरी रात हवालात में रखा। पांवटा साहिब के डीएसपी वीर बहादुर ने इसकी पुष्टि की है।
... और पढ़ें

पत्नी से अवैध संबंध के शक पर दोस्त की बेरहमी से हत्या

पत्नी से अवैध संबंध के शक पर एक व्यक्ति ने शराब पिलाकर अपने ही दोस्त का गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। सनसनीखेज वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार है। तलाश के लिए बैरियरों पर पुलिस का पहरा बढ़ा दिया गया है। दूसरे राज्यों की पुलिस को भी इसकी सूचना दे दी गई है। मृतक की पहचान मान सिंह (23) जिला हाथरस गांव दूदाधारी, उत्तर प्रदेश (यूपी) के रूप में हुई है। आरोपी दशरथ भी इसी गांव का रहने वाला है और फेरी लगाने का काम करता है।

पुलिस अधीक्षक डॉ. केसी शर्मा ने बताया कि आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा। पुलिस के अनुसार वारदात शनिवार रात 11:30 बजे नाहन-पांवटा साहिब नेशनल हाईवे पर रुखड़ी गांव के समीप अंजाम दी गई। दशरथ ने योजनाबद्ध तरीके से कत्ल किया है। उसने मान सिंह और अपने एक और दोस्त जीत सिंह के लिए शराब का इंतजाम किया।

इसके बाद आरोपी मान सिंह को बाइक पर बैठाकर रुखड़ी गांव में एक निर्माणाधीन होटल के समीप ले गया, जहां उसने अपने दोस्त मान सिंह का गला रेत डाला। जब तक जीत सिंह वहां पहुंचा, तब तक मान सिंह दम तोड़ चुका था। अपने दोस्त की हत्या हो जाने के बाद जीत सिंह ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही नाहन पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटनास्थल से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज नाहन पहुंचाया। साथ ही मृतक के परिजनों को भी इसकी सूचना दी।
... और पढ़ें

सिरमौर: खोखे में आग लगाकर व्यक्ति को जिंदा जलाने का प्रयास

 हिमाचल प्रदेश के पांवटा साहिब की शिवपुर पंचायत के काहनूवाला गांव में खोखे में आग लगाकर व्यक्ति को जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। नकाबपोशों ने वारदात को अंजाम दिया। इनकी पहचान नहीं हो सकी है। भीतर सोए व्यक्ति ने जब बाहर निकलने का प्रयास किया तो दो नकाबपोशों ने उसे भीतर धकेलने का भी प्रयास किया। आगजनी में पालतू कुत्ता जिंदा जल कर मर गया। पुरूवाला पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।पांवटा साहिब की काहानूवाला शिवपुर पुल के छोर पर एक झोपड़ीनुमा कच्चा खोखा बना था। 

खोखे में संजय कुमार निवासी काहनूवाला रहता है। जो चाय, बिस्कुट और अंडे बेच कर अपना गुजर बसर करता है। शुक्रवार देर रात को कुछ शरारती तत्वों ने उसके खोखे में आग लगा दी। संजय का कहना है कि जब आग  की लपटें उठती देखी तो उसने बाहर भागने का प्रयास किया। लेकिन, मुंह को ढक कर मौके पर दो लोगों ने उसे आग की तरफ धकेलने का प्रयास किया। किसी तरह से वह बाहर निकला। हालांकि, पीड़ित व्यक्ति के बयान में कितनी सत्यता है, इसका पता जांच के बाद ही चल सकेगा। आगजनी की इस घटना में भीतर सोया कुत्ता जलकर मर गया हे। खोखे में रखा सामान भी जल गया। डीएसपी पांवटा साहिब बीर बहादुर ने बताया कि शिकायत मिली है।  पुरुवाला पुलिस टीम इस मामले की गहनता से जांच कर रही है। 
... और पढ़ें

दो दिन ट्रंक में ताला लगाकर रखा पत्नी का शव, पति को हिरासत में लिया

सांकेतिक तस्वीर
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के पांवटा की कांशीवाला पंचायत के एक घर में पुलिस ने ताला लगे ट्रंक में नवविवाहिता का शव बरामद किया है। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने हत्या के शक के आरोप में पति को हिरासत में लिया है। पति ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि उसकी पत्नी ने आत्महत्या की है। डर के मारे उसने शव ट्रंक में रखने के बाद ताला लगा दिया था। मृतका के दो दिनों से बाहर नहीं निकलने पर पड़ोसियों को शक हुआ। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने यह सनसनीखेज खुलासा किया। एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाकर वैज्ञानिक साक्ष्य भी जुटाए गए हैं। पोस्टमार्टम और एफएसएल की रिपोर्ट के बाद ही मृत्यु के कारणों का पता चल सकेगा।

जानकारी अनुसार आरोपी सुनील कुमार (24) निवासी लखीमपुर खीरी, उत्तर प्रदेश पिछले कुछ वर्षों से पांवटा में औद्योगिक इकाई में कार्यरत है। करीब छह माह पहले प्रवासी युवक ने उत्तर प्रदेश के बिजनौर निवासी युवती ममता (21) से विवाह किया था। दोनों कुछ माह से कांशीपुर मे ठेकेदार के पास किराये के कमरे में रह रहे थे। पुलिस के अनुसार दोनों में नोकझोंक होती रहती थी। दो दिनों से पड़ोसियों ने ममता को बाहर व घर पर नहीं देखा। संदेह होने पर माजरा थाना पुलिस को सूचित किया गया। पुलिस टीम ने मौके पहुंचकर कमरे की तलाशी ली तो खुलासा हुआ कि आरोपी सुनील कुमार ने अपनी पत्नी ममता का शव एक ट्रंक में रखा हुआ है। शव दो दिनों से ट्रंक में रहने से काफी बदबू आने लगी थी।  

डीएसपी पांवटा बीर बहादुर, एसएचओ माजरा सेवा सिंह, पंचायत प्रधान पुरुवाला सुषमा देवी व उपप्रधान इरफान मलिक मौके पर आए। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी सिरमौर डॉ. खुशहाल चंद शर्मा भी मौके पर पहुंचे। डीएसपी पांवटा साहिब बीर बहादुर ने बताया कि शव को कब्जे में लिया गया है। एफएसएल की टीम ने मौके पर सैंपल लिए हैं। पोस्टमार्टम के बाद ही मृत्यु के कारणों का पता चल सकेगा। उन्होंने बताया कि पति ने शव को ट्रंक में ताला लगाकर रखा हुआ था। प्रथमदृष्टया शक की सुई पति के ऊपर ही घूम रही है। हत्या की आशंका के चलते उसे हिरासत में लिया गया है।
... और पढ़ें

सिरमौर: जेई, पूर्व महिला प्रधान समेत तीन के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

पंचायत के विकास कार्यों में अनियमितताएं बरतने और सरकारी धन के दुरुपयोग के मामले में विजिलेंस ने एक जेई, पूर्व महिला प्रधान और तकनीकी सहायक के खिलाफ नाहन की विशेष अदालत में चार्जशीट दाखिल की है। मामला सिरमौर जिले की ठोंठा जाखल पंचायत से जुड़ा है।  2012 के इस मामले में तत्कालीन महिला पंचायत प्रधान, बीडीओ कार्यालय के जेई व तकनीकी सहायक के खिलाफ यह चार्जशीट दायर हुई है। आरोप है कि पंचायत में विकास कार्यों के नाम पर तत्कालीन पंचायत प्रधान ने जेई व तकनीकी सहायक के साथ मिलकर तकरीबन पांच लाख रुपये की धनराशि का गबन किया। उस दौरान विकास कार्यों में गड़बड़ी की आशंका को लेकर इसकी शिकायत विजिलेंस से की गई थी। लिहाजा, विजिलेंस ने मामला दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर की।

मामले की तफ्तीश पूरी करने के बाद विजिलेंस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ विशेष न्यायाधीश नाहन की अदालत में चार्जशीट दाखिल की है। आरोप थे कि ठोंठा जाखल पंचायत प्रधान ने बीडीओ कार्यालय पांवटा साहिब में तैनात पंचायत सहायक और जेई के साथ साजिश रची तथा पंचायत में विभिन्न विकास कार्यों के लिए धन स्वीकृत कराया।जांच के बाद पता चला है कि तीनों आरोपियों ने जाली वाउचर व बिल बनवाए और मेजरमेंट बुक में गलत प्रविष्टियां कीं। यही नहीं, पूर्व पंचायत प्रधान ने सरकारी धन से एक सुरक्षा दीवार का निर्माण अपने घर की सुरक्षा के लिए कराया, जिसका केवल निजी हित था। जबकि, कागजों पर इसका निर्माण कहीं और दिखाया गया।  उधर, विजिलेंस के डीएसपी तरणजीत सिंह ने मामले की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

11.700 किलो चरस के साथ दो गिरफ्तार, गाड़ी की खिड़कियों में छुपाकर ले जा रहे थे

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की चंडीगढ़ से पहुंची टीम को नाहन शहर के मालरोड में मंगलवार रात को बड़ी सफलता मिली। टीम ने ऑल्टो कार की खिड़कियों में अंदर की प्लास्टिक शीट निकालकर छुपाई गई 11.700 किलोग्राम चरस बरामद की है। टीम ने करीब दस बजे कार को रोककर तलाशी ली। मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक मंडी, जबकि दूसरा कुल्लू जिले का बताया जा रहा है। इसके बाद स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दी गई।

एनसीबी की टीम ने चरस तस्करों को दबोचने के लिए जाल बिछाया था। रात करीब दस बजे स्थानीय पुलिस को लेकर नाकाबंदी की गई। एनसीबी के लगभग आधा दर्जन कर्मचारियों ने मालरोड के समीप नाका लगाया। इस दौरान एक ऑल्टो कार को तलाशी के लिए रोका गया। इसमें मंडी जिले की करसोग तहसील के कुंधा महरोग निवासी सतराम और कुल्लू की आनी तहसील के कुंडार निवासी देवेंद्र सवार थे।

तलाशी लेने पर गाड़ी में 11.700 किलोग्राम चरस बरामद की गई। शातिरों ने चरस को गाड़ी की खिड़कियों के भीतर की प्लास्टिक शीट को निकालकर चरस छुपाकर रखी गई थी। लिहाजा, पूरी कार्रवाई होने में काफी देर लगी। चरस की बरामदगी के बाद बाकायदा स्थानीय पुलिस को भी इसकी सूचना दी गई।

दोनों से बरामद चरस की कीमत लाखों रुपये में बताई जा रही है। चरस की खेप लेकर यह कहां से आए और कहां जा रहे थे, इसका अभी खुलासा नहीं हो पाया है। एएसपी बबिता राणा ने बताया कि यह मामला एनसीबी की टीम ने पकड़ा है। स्थानीय पुलिस से टीम ने जो सहयोग मांगा था वह दिया गया। 
... और पढ़ें

शिमला के गुड़िया दुष्कर्म और हत्याकांड के आरोपी चरानी नीलू को अन्य मामले में उम्रकैद

शिमला के बहुचर्चित गुड़िया दुष्कर्म और हत्याकांड का आरोपी चरानी अनिल कुमार उर्फ नीलू नाहन में हत्या के प्रयास के दूसरे अन्य मामले में दोषी साबित हुआ है। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश जसवंत सिंह की अदालत ने दोषी नीलू को धारा 307 में उम्रकैद के अलावा 20 हजार रुपये जुर्माना और धारा 354 के तहत दोषी को दो साल का कारावास व 5 हजार रुपये जुर्माना भरने की सजा सुनाई है। जुर्माना न भरने पर दोषी को अतिरिक्त कारावास होगी। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी। उप जिला न्यायवादी एकलव्य ने मामले की पैरवी की। उन्होंने बताया कि मामला 6 सितंबर 2015 का है। 

पच्छाद के दसाना गांव में रमन की जमीन पर काम करने वाला संजय बहादुर और उसकी मां चंद्रकला जंगल में पशु चराने अलग-अलग निकले। थोड़ी देर बाद गांव के समीप ग्रामीण रामलाल ने संजय बहादुर को उसकी मां के घायल होने की सूचना दी। जब वह घटनास्थल पर पहुंचा तो देखा कि उसकी मां के होंठ, माथे, नाक व गले से खून बह रहा था। दायें हाथ का अंगूठा और अंगुली कटकर अलग हो चुकी थी।

संजय ने अपनी मां को सिविल अस्पताल सराहां पहुंचाया। जहां से उसे सोलन रेफर किया गया। संजय ने पुलिस थाना पच्छाद में मामला दर्ज कराया। मामले में घायल चंद्रकला के बयान होने के बाद पुलिस ने आरोपी अनिल कुमार उर्फ नीलू के खिलाफ धारा 323, 324, 326, 354 व 307 के तहत मामला दर्ज किया। गिरफ्तारी के दौरान उसने कबूला कि उसने दराट से हमला किया था। तफ्तीश में पुलिस ने पाया कि आरोपी ने नशे की हालत में महिला से बीड़ी मांगी।

इसी बीच उसने महिला से किसी बहाने दराट मांगा, जिसे उसने थोड़ा दूर फेंक दिया। आरोपी ने उससे छेड़छाड़ की। विरोध करने पर आरोपी ने डंडे से महिला के सिर पर वार किया। इसके बाद दराट से हमला कर जख्मी किया और फरार हो गया। पुलिस ने काटी गई अंगुली और अंगूठे के साथ महिला के बाल और दराट एसएफएल भेजे।


डीएनए में महिला के खून के सैंपल से उसकी कटी अंगुली और अंगूठे का मिलान हुआ। हत्या के प्रयास के इस मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश जसंवत सिंह की अदालत ने अनिल कुमार उर्फ नीलू पुत्र देशराज निवासी मथान, थाना बैजनाथ (कांगड़ा) को दोषी पाकर उम्रकैद सहित अन्य सजाएं सुनाईं हैं। बता दें कि शिमला में हुए गुड़िया दुष्कर्म एवं हत्याकांड मामले में भी अनिल कुमार आरोपी है। 
... और पढ़ें

लाखों की ठगी मामले में नाइजीरियन नागरिक और नागालैंड की महिला गिरफ्तार

लाखों की ठगी के मामले का हिमाचल प्रदेश की सिरमौर पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। इस मामले में पुलिस ने नाइजीरियन नागरिक समेत नागालैंड की एक महिला को गिरफ्तार किया है। यह पहला मौका है जब सिरमौर पुलिस ने किसी नाइजीरियन नागरिक को गिरफ्तार किया है। बहरहाल, इस मामले में अदालत से आरोपियों को चार दिन का पुलिस रिमांड मिला है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है कि वह किस तरह ऐसी वारदात को अंजाम देते आ रहे थे और अन्य किन लोगों को ठगी का शिकार बनाया है।

जानकारी के अनुसार नाहन के गोविंदगढ़ मोहल्ला निवासी मंजीत सिंह पुत्र जसविंद्र सिंह निवासी की शिकायत पर सदर पुलिस थाना नाहन में बीते माह 13 नवंबर को 4.63 लाख रुपये की ठगी का एक मामला दर्ज हुआ था। बताया जा रहा है कि पीड़ित युवक को एक महिला ने इंस्टाग्राम पर जाल में फंसाया। 
कई दिन तक ऑनलाइन बातचीत के दौरान महिला ने कहा कि वह लंदन में रहती है और उसने युवक के लिए एक गिफ्ट भेजा है। इसके बाद भारतीय नंबर से ही युवक के पास फोन आया, कहा गया कि उसका गिफ्ट आया है।

इसे प्राप्त करने के लिए उसे बैंक अकाउंट में पैसे जमा कराने होंगे। इसके बाद कई किस्तों में युवक ने आरोपी के खाते में कुल 4.63 लाख रुपये जमा करा दिए। जब युवक को ठगी का एहसास हुआ तो पुलिस से शिकायत की गई। एचएचओ मानवेंद्र ठाकुर के नेतृत्व में साइबर सैल की टीम के साथ पुलिस ने इस मामले की गहनता से छानबीन शुरू कर दी, जिसके बाद पुलिस ने नाइजीरिया निवासी ईयोहा डेमीन उचेन्ना उर्फ प्रिंस (37) और नागालैंड की रहने वाली उसकी साथी हेनिया (33) को दिल्ली के बुराड़ी से गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की। बीते दिन ही पुलिस दोनों को गिरफ्तार कर नाहन पहुंची।

इसके बाद शनिवार को दोनों आरोपियों को अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां से उन्हें चार दिन का पुलिस रिमांड मिला है। बताया जा रहा है कि दोनों दिल्ली के बुराड़ी इलाके में पति-पत्नी के रूप में रह रहे थे लेकिन असल में दोनों का क्या रिश्ता है, इसकी भी पुलिस जांच कर रही है।  उधर, पुलिस अधीक्षक सिरमौर डॉ. केसी शर्मा ने बताया कि आरोपियों को दिल्ली से गिरफ्तार कर नाहन लाया गया है। आरोपियों को शनिवार को ही अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें पुलिस रिमांड मिला है। पुलिस दोनों आरोपियों से कड़ी पूछताछ कर रही है। एसपी सिरमौर ने लोगों से आह्वान किया कि वह किसी भी तरह के झांसे में न आएं। यह किसी भी तरह की जालसाजी हो सकती है। लोग किसी भी अनजान के झांसे में न आकर उससे अपनी बैंक संबंधी जानकारी या ओटीपी शेयर न करें।
... और पढ़ें

पंचायत प्रधान समेत चार पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

हरियाणा के एक व्यक्ति को तीन बिस्वा जमीन देने के कथित आरोप के बाद पुलिस ने धौलाकुआं पंचायत प्रधान समेत चार लोगों पर मामला दर्ज किया है। धौलाकुआं पंचायत के एक बुजुर्ग ने अदालत में अर्जी दी थी। आरोप है कि आठ पात्रों को जमीन न देकर अपात्र को तीन बिस्वा जमीन दी गई। अदालत के आदेश के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। 

धौलाकुआं सुदौवाला निवासी सागर सिंह ने न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी अदालत संख्या 2 पांवटा साहिब के माध्यम से माजरा थाने में मामला दर्ज करवाया है। आरोप लगाया है कि रौनकी राम पुत्र किशना राम, मलकीत सिंह प्रधान पंचायत धौलाकुआं, जोगी राम पुत्र रौनकी राम तथा राम कुमार पुत्र रौनकी राम निवासी धौलाकुआं के निवासी है। एक आरोपी रौनकी राम हरियाणा के नगली का है। उसकी शादी धौलाकुआं में हुई थी। वह 25-30 वर्षों से परिवार के साथ धौलाकुआं गांव में रहा रहा है।

उसने अवैध रूप से सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किया है। भूमि अब आईआईएम की ओर से अधिगृहित की गई है। शिकायतकर्ता सागर सिंह ने कहा कि आरोपी को 2013-14 में इंद्रा आवास योजना में 75000 रुपये का अनुदान दिया गया है। योजना का लाभ लेने को अनिवार्य है कि लाभार्थी जमीन का मालिक होना चाहिए। जब आईआईएम ने सरकार से भूमि का अधिग्रहण किया तो वे प्रधान के पास पहुंचे। पंचायत में आरोपी ने कहा कि रौनकी राम एक ऋण विहीन व्यक्ति है और भूमि के अनुदान को पात्र है। रौनकी राम की पत्नी धौलाकुआं में 2 बिस्वा भूमि की मालिक है। इनका हरियाणा में एक आवासीय घर भी है। 

डीसी को भूमिहीन और आवासहीन परिवार के अनुदान के लिए आवेदन किया है। आरोप है कि पंचायत प्रधान की झूठी सूचना के आधार पर रौनकी राम को 3 बिस्वा जमीन का पत्र जारी किया। तीन अगस्त, 2019 को प्रमाण पत्र जारी किया और सिफारिश की गई कि आरोपी भूमिहीन और आवासहीन है। उधर, डीएसपी पांवटा वीर बहादुर ने कहा कि पंचायत प्रधान समेत आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

एएसआई माजरा थाना राजपाल चौहान की टीम मामले की जांच कर रही है। उधर, पंचायत प्रधान मलकीत सिंह ने सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। कहा कि परिवार तीन दशकों से अधिक समय से स्थानीय पंचायत के सुदोवाला क्षेत्र में रहता है। पुलिस जांच में सभी तथ्य सामने आ जाएंगे।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन