विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

नौ हजार फीट की ऊंचाई पर आकर्षण का केंद्र बने इग्लू, ठहरने और खाने-पीने की भी व्यवस्था

मनाली के हामटा के सेथन में इग्लू (बर्फ का घर) सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। समुद्रतट से करीब नौ हजार फीट ऊंचाई पर स्थित सेथन में बनाए गए बर्फ के इग्लू पर्यटकों को आकर्षित कर रहे हैं।

20 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सिरमौर

मंगलवार, 21 जनवरी 2020

नौ दिनों से ब्लैकआउट, सीएम का फूंका पुतला

रोनहाट (सिरमौर)। गिरिपार क्षेत्र के हजारों गांवों में पिछले नौ दिनों से ब्लैकआउट है। घुप अंधेरे में रातें गुजारने को विवश हुए ग्रामीणों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। लाधी महल क्षेत्र में नौ दिनों से बिजली नहीं होने से गुस्साएं ग्रामीणों ने बुधवार को रोनहाट में प्रदेश सरकार की शवयात्रा निकालकर विरोध प्रदर्शन किया।
पूरे बाजार में शवयात्रा निकालने के बाद मुख्यमंत्री का पुतला भी फूंका गया। गुस्साए लोगों का कहना है कि जब हिम बाधित क्षेत्रों में भी बिजली बहाल हो गई है तो रोनहाट आदि मैदानी इलाकों में 9 दिनों से ब्लैकआउट क्यों है। विद्युत बोर्ड की हेल्पलाइन के साथ-साथ मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन पर भी ग्रामीणों ने शिकायत दर्ज करवाई। इसके बावजूद बीते 216 घंटों से क्षेत्र की कई पंचायतें अंधेरे में डूबी हुई है।
दिनेश सिंगटा, अरुण राणा, राजेंद्र सिंगटा, बिट्टू राणा, अजय चौहान, राजेंद्र सिंगटा, धर्मपाल सिंगटा, कपिल चौहान, निट्टू भारद्वाज, दीपक कटारिया, हुकम चंद, गुरमीत राणा आदि ने बताया कि बिजली से चलने वाले उपकरण शोपीस बने हुए हैं। उप-तहसील कार्यालय और राज्य सहकारी बैंक सहित तमाम सरकारी दफ्तरों में कामकाज ठप पड़े हुए हैं। आपातकालीन स्थिति में कहीं कॉल करने के लिए भी लोगों के मोबाइल फोन में बैटरी नहीं बची है। प्रदेश में विद्युत का कार्यभार भी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ही संभाल रहे हैं। इसलिए विरोध स्वरूप उनका पुतला जलाकर और प्रदेश सरकार की शव यात्रा निकालकर लोगों ने रोष प्रकट किया है। ग्रामीणों का कहना है कि स्विचयार्ड में तैनात विद्युत बोर्ड के कुछ कर्मचारी अक्सर जानबूझकर रोनहाट, कोटि-बौंच, लाणी, खलांडो, बोराड़, जासवीं, कनाड़ी आदि इलाकों की बिजली गुल कर देते हैं। जबकि पनोग सहित अन्य क्षेत्रों में बिजली सुचारु रहती है। मामले की शिकायत कई बार विभाग के उच्चाधिकारियों से भी की गई है। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं की गई। लोगों ने मांग की है कि रोनहाट और अन्य समीपवर्ती क्षेत्रों में विद्युत व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए। पनोग विद्युत उपमंडल में बन रहे 33 केवी सबस्टेशन का कार्य जल्द पूरा करवाया जाए और अघोषित विद्युत कटों को बंद किया जाए। लोगों ने सरकार से आग्रह किया है कि रोनहाट उप-तहसील मुख्यालय के लिए अलग विद्युत लाइन डाली जाए ताकि सरकारी दफ्तरों का कार्य सुचारु रूप से चल सके।
... और पढ़ें

प्लास्टिक के इस्तेमाल पर काटे 13 व्यापारियों के चालान

शिलाई (सिरमौर)। शिलाई के तहसीलदार ने अपनी टीम के साथ बाजार का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कई दुकानों से प्रतिबंधित प्लास्टिक बरामद की गई। इस पर 13 व्यापारियों के चालान किए गए, इनसे पांच-पांच सौ रुपये का जुर्माना वसूला गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि कई दुकानों में बिना लाइसेंस के तंबाकू उत्पाद बेचे जा रहे हैं, जो गैर कानूनी हैं। उन्होंने व्यापारियों को फिलहाल चेतावनी देकर छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि बाजार का पुन: निरीक्षण किया जाएगा। तहसीलदार नंदलाल कैंथला ने बताया कि प्लास्टिक का प्रयोग करने वाले 13 दुकानदारों के चालान काटे गए हैं। उन्होंने बताया कि बाजार में कूड़ा कचरा बिखरा पड़ा है, इससे गंदगी का अंबार लग रहा है। इसके लिए सब्जी विक्रेताओं व व्यापारियों को चेतावनी दी गई है। उन्होंने बताया कि ऐसे दुकानदार जो बिना लाइसेंस के बीड़ी, सिगरेट व तंबाकू उत्पाद बेच रहे हैं, को चेतावनी देकर छोड़ दिया है। उन्होंने जानकारी दी कि समय-समय पर बाजार का औचक निरीक्षण किया जाएगा। ... और पढ़ें

गणतंत्र दिवस परेड़ का हिस्सा बनेगा सुरला स्कूल का मुकेश

नाहन (सिरमौर)। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुरला के एनएसएस स्वयंसेवक मुकेश चौहान का चयन राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस के लिए हुआ है। इससे स्कूल समेत पूरे क्षेत्र में खुशी का माहौल है। मुकेश चौहान इससे पूर्व हमीरपुर जिले के बियाड स्कूल में होने वाले प्री आरडी शिविर का हिस्सा बने थे। जहां से उनका चयन शिमला में 26 जनवरी को होने वाली गणतंत्र दिवस समारोह के लिए हुआ है। स्कूल की प्रधानाचार्या अमृता कंवर ने एनएसएस प्रभारी सीमा वर्मा प्रवक्ता अर्थशास्त्र, जयपाल सिंह प्रवक्ता गणित को मुकेश चौहान के राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस की परेड के लिए चयनित होने पर बधाई दी है। प्रधानाचार्या अमृता कंवर ने बताया कि राज्य स्तरीय परेड के लिए पूरे प्रदेश से सौ विद्यार्थियों का चयन हुआ है। इसमें जिला सिरमौर से पांच स्वयंसेवी चयनित हुए हैं। इनमें से एक सुरला स्कूल का स्वयंसेवी मुकेश चौहान हैं। उन्होंने मुकेश चौहान के उज्जवल भविष्य की कामना की है। ... और पढ़ें

दूध में मिलावट, 44 में से 33 सैंपल फेल

नाहन (सिरमौर)। जनपद सिरमौर के कई इलाकों में दूध में भारी मिलावट पाई गई है। खाद्य सुरक्षा विभाग भारत सरकार की ओर से छेड़े गए विशेष अभियान के तहत सिरमौर के नाहन और कालाअंब क्षेत्रों में फूड सेफ्टी वैन के माध्यम से की गई जांच-पड़ताल में सनसनीखेज परिणाम सामने आए हैं। जांच-पड़ताल के दौरान दूध के 90 फीसदी से भी अधिक सैंपल फेल पाए गए। इसके अलावा पिसी हुई लाल मिर्च में भी मिलावट पाई गई। खाद्य सुरक्षा विभाग ने इसकी रिपोर्ट तैयार कर ली है।
शहर में मिलने वाले दूध में भारी मिलावट पाई जा रही है। नाहन, कालाअंब और पांवटा क्षेत्र में अधिकतर दूध हरियाणा राज्य से सप्लाई होता है। तीन दिनों तक जगह-जगह पहुंची फूड सेफ्टी मोबाइल वैन के माध्यम से दूध की जांच की गई। दुकानों के अलावा लोगों के घरों के उत्पादों को भी जांचा गया। इसमें कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। खाद्य सुरक्षा विभाग के अनुसार दूध में पानी की मात्रा कई गुना अधिक पाई गई। कहा जाए तो दूध कम और पानी अधिक पाया गया। विभाग ने इस अभियान के दौरान दूध के कुल 44 सैंपल लिए। इनमें से 33 सैंपल फेल पाए गए। अधिकतर सैंपलों में पानी की मात्रा अधिक पाई गई। जबकि, एक सैंपल में यूरिया भी डिटेक्ट हुआ है। विभाग के नाहन में तैनात सहायक आयुक्त अतुल कायस्था ने बताया कि इस मुहिम के दौरान कुल 137 सैंपल भरे गए। इनमें से 35 फेल हुए। इनमें अकेले दूध के ही 33 सैंपल हैं। दूध के कुल 34 सैंपल भरे गए थे। उन्होंने बताया कि इसके अलावा बोतल बंद पानी, बर्फी, पनीर आदि के सैंपल भी भरे गए जो पास हुए हैं। हालांकि, खुली लाल मिर्च पाउडर का एक सैंपल भी फेल हुआ है।
... और पढ़ें

ट्रांसफार्मर चालू, कई उपगांवों में अभी भी ब्लैक आउट

राजगढ़ (सिरमौर)। बर्फबारी के बाद दो सप्ताह का समय बीतने को है लेकिन, गिरिपार के कई गांवों में अभी भी बिजली बहाल नहीं हो पाई है। अत्यधिक नुकसान होने के कारण बिजली बोर्ड को बिजली बहाल करने में भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, बोर्ड ने बर्फबारी के कारण बंद पड़े सभी ट्रांसफार्मर चालू कर दिए हैं लेकिन, कई स्थानों पर बिजली लाइन टूटने और अन्य तकनीकी कारणों से विद्युत सप्लाई नहीं पहुंच पाई है। बिजली बहाल नहीं होने से सरकार की भी किरकिरी होने लगी है। कांग्रेसियों ने इस मुद्दे पर स्थानीय नेताओं और सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।
बर्फबारी की वजह से सिरमौर के गिरिपार क्षेत्र में कई किलोमीटर एलटी और एचटी लाइनें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। सैकड़ों बिजली के खंभे क्षतिग्रस्त हो गए जबकि करीब 300 ट्रांसफार्मर बंद हो गए थे। सड़कें अवरुद्ध रहने के कारण बोर्ड ने कई गांवों देरी से बिजली बहाल का कार्य शुरू कर पाया। हालांकि, अब बोर्ड ने सभी इलाकों में बिजली बहाल कर दी है। लेकिन, कई दुर्गम गांव अभी भी अंधेरे में हैं। जबकि बिजली की आंखमिचौनी का सिलसिला भी जारी है। राजगढ़ के तहत आने वाले देवठी मझगांव इलाके में भी सभी क्षेत्रों में बिजली नहीं है। जिला परिषद सदस्य शकुंतला प्रकाश ने कहा कि आज भी उनके जिला परिषद वार्ड की टाली भुज्जल, कोटी पधोग और माटल बखोग पंचायतों सहित पझौता क्षेत्र की कई बस्तियों में बिजली नहीं है। हालांकि, विद्युत बोर्ड के अधिकारी और कर्मचारी दिनरात काम में जुटे हैं लेकिन, स्टाफ की कमी के चलते समस्या बनी हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि पच्छाद क्षेत्र के चुने हुए प्रतिनिधि सांसद और विधायक ने लोगों की सुध नहीं ली। यह हैरानी का विषय है। यदि चुने हुए नेता इन क्षेत्रों में जाते और स्टाफ का प्रबंध करवाते तो लोगों को इतने दिनों तक अंधेरे में नहीं रहना पड़ता। उन्होंने कहा कि शिमला के चौपाल इलाके में इससे भी अधिक बर्फबारी हुई है। वहां कुछ दिनों में ही बिजली बहाल हो गई लेकिन, सरकार की विफलता के कारण सिरमौर के कई इलाकों में अभी भी बिजली बहाल नहीं हो पाई। उन्होंने सभी क्षेत्रों में बिजली बहाली की मांग करते हुए कहा कि विद्युत बोर्ड में फील्ड स्टाफ की भर्ती की जाए, जिससे ऐसी प्राकृतिक आपदा के समय लोगों को बेहतर सुविधा मिल सके। सहायक अभियंता अंशुल ठाकुर ने कहा कि पझौता और रासुमांदर क्षेत्र के सभी ट्रांसफार्मर रविवार को चालू कर दिए गए थे। सोमवार को लगभग सभी उप ग्रामों में भी बिजली बहाल कर दी गई है। इक्का-दुक्का घर जो छूट गए है, वहां भी जल्द बिजली बहाल कर दी जाएगी। विभागीय कर्मी दिनरात काम में लगे हैं और अधीक्षण अभियंता और अधिशासी अभियंता भी स्वयं मौके पर जाकर बिजली बहाली का कार्य देख रहे हैं।
... और पढ़ें

रूकावटों का सामना कर खुद को साबित करें महिलाएं: डा. मोनीषा

नाहन (सिरमौर)। महिलाएं रुकावटों का सामना कर खुद को साबित करें, तभी महिला सशक्तीकरण का अर्थ सही मायनों में यथार्थ होगा। अमर उजाला के अपराजिता 100 मिलियन स्माइल्स कार्यक्रम में यह बात खंड स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मोनीषा अग्रवाल ने कही। नाहन में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि एवं वक्ता स्वास्थ्य खंड घड़ेगा की बीएमओ डॉ. मोनीषा अग्रवाल ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा कि आज की नारी सशक्त है। महिला सशक्तीकरण विश्वभर में महिलाओं को सशक्त बनाने की एक मुहिम है, जिससे महिलाएं स्वयं अपने निर्णय ले सकें। कहा कि महिलाओं को भी पुरुषों की तरह हर तरह का कामकाज करना चाहिए। खंड स्वास्थ्य शिक्षिका कृष्णा राठौर ने कहा कि महिला सशक्तीकरण का नारा इसलिए समाज में उठा, क्योंकि हमारे समाज में लिंग भेदभाव आज भी हो रहा है, जो चिंतनीय है। आज भी कई जगह गैरकानूनी तरीके से लिंग की जांच करवा कर कन्या भ्रूण हत्या जैसे महापाप हो रहे हैं। लड़कियां और महिलाएं इस तरह के अन्याय के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें।
कार्यक्रम में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश
आंबवाला केंद्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता दया ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश खुद लिखे गीतों से दिया। उन्होंने मैं बिटिया तेरे आंगन की मां... और गर्भवती और धात्री महिलाओं पर आधारित गीत धात्री महिला को ऐसा ज्ञान मिला, पहला दूध बच्चे को वरदान मिला, जैसे कई गीत गाए। दया ने कहा कि वह स्वयं ही गीत लिख कर धुन देती हैं। अभी तक वह एक दर्जन से ऊपर गीत लिख चुकी हैं। महिला सशक्तीकरण को लेकर भी गीत लिखे हैं। इस मौके पर कई आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।
... और पढ़ें

जहरीला पदार्थ निगलने के बाद युवक ने तोड़ा दम

ददाहू (सिरमौर)। रेणुका क्षेत्र में बीते रविवार को 26 वर्षीय लठियाना निवासी एक युवक ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। रविवार शाम नाहन मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान युवक की मौत हो गई। रेणुका क्षेत्र में आत्महत्या के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। बीते एक सप्ताह में जहर निगलकर दो लोगों ने जीवनलीला समाप्त कर ली। दोनों ही मामले रेणुका थाना क्षेत्र के तहत पेश आए हैं। दोनों मामलों में आत्महत्या का कारण घरेलू कलह बताया जा रहा है। रेणुका पुलिस ने दोनों ही मामलों में केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है। बता दें कि रविवार को लठियाना निवासी एक युवक ने जहरीला पदार्थ खा लिया था। इसके बाद परिजनों ने युवक को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे मेडिकल कॉलेज नाहन रेफर कर दिया गया, जहां उसकी देर शाम मौत हो गई। जबकि, बीते वीरवार को ही इसी तरह के एक मामले में भी एक व्यक्ति की मौत हुई है। 53 वर्षीय शिक्षक ने जहर खाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली थी। प्रारंभिक जांच के अनुसार दोनों लोगों की मौत की वजह मानसिक परेशानी और घरेलू कलह बताया जा रहा है। बीते साल भी तीन युवकों ने फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली थी। उधर, डीएसपी संगड़ाह अनिल धोलटा ने एक सप्ताह में आत्महत्या के दो मामले रेणुका थाने में दर्ज होने की पुष्टि करते हुए बताया कि नशे से संबंधित आत्महत्या के मामलों में ग्रामीण स्तर पर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसको लेकर ऐसे मामलों में गिरावट भी आई है। लेकिन, घरेलू कलह से होने वाले आत्महत्या के मामलों को लेकर पुलिस, महिला मंडल, नवयुवक मंडल और स्वयं सहायता समूहों की सहायता लेकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जाएगा। ... और पढ़ें

युवाओं के पास नौकरी का मौका, नाबार्ड में भरे जाएंगे 150 पद, इस दिन तक करें आवेदन

बिंदल का 22 को होगा जोरदार स्वागत

नाहन (सिरमौर)। हिमाचल प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष बनने के दूसरे ही दिन डॉ. राजीव बिंदल दिल्ली रवाना हो गए हैं। सिरमौर जिले से कई भाजपा कार्यकर्ता भी दिल्ली रवाना हुए हैं। डॉ. राजीव बिंदल 22 जनवरी को दिल्ली से नाहन लौटेंगे। नाहन में उनका जोरदार इस्तकबाल होगा। राज्य की सीमा पर स्थित कालाअंब पहुंचकर स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता व पदाधिकारी उनका स्वागत करेंगे। इस अवसर पर नाहन शहर में रोड शो भी निकाला जाएगा।
सिरमौर जिले से पहली बार भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बना है। विधानसभा अध्यक्ष जैसे बड़े प्रोटोकोल को त्यागकर डॉ. राजीव बिंदल ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली है। शिमला में हुए भव्य समारोह के बाद उनका सोलन जिले में शानदार स्वागत हुआ। उन्होंने शूलिनी मंदिर में जाकर देवी का आशीर्वाद भी लिया। इसके बाद देर रात वह नाहन स्थित अपने आवास पर पहुंचे। दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष की ताजपोशी के बाद वह 22 जनवरी को वापस नाहन लौटेंगे। नाहन में इस अवसर पर शानदार अभिनंदन समारोह का आयोजन किया जाएगा। इस समारोह में जिला भर के भाजपा नेता, विधायक, पूर्व विधायकों समेत पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल होंगे। हरियाणा की सीमा से सटे कालाअंब में पहुंचकर डॉ. राजीव बिंदल का नेता व कार्यकर्ता स्वागत करेंगे। इसके बाद कालाअंब से वह नाहन पहुंचेंगे। यहां पूरे शहर में रोड शो निकालने के बाद हिंदू आश्रम में भव्य कार्यक्रम का आयोजन होगा। भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी एवं प्रवक्ता राकेश गर्ग ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष की ताजपोशी का गवाह बनने के लिए सिरमौर से सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता दिल्ली जा रहे हैं। 22 को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. बिंदल वापस लौटेेंगे। इस दिन उनका अभिनंदन समारोह होगा। उनका कालाअंब से नाहन तक जगह-जगह भव्य स्वागत किया जाएगा।
... और पढ़ें

बाइक चोरी का प्रयास

पांवटा साहिब (सिरमौर)। पांवटा साहिब शहरी क्षेत्र के वार्ड- 8 में शातिरों ने घर के आंगन से बाइक चोरी करने का प्रयास किया। चोर अपने मंसूबों में तो कामयाब नहीं हो सके लेकिन बाइक की बैटरी उड़ाकर भाग गए। इसकी सूचना पुलिस थाने में दे दी गई है।
पांवटा साहिब के निवासी वार्ड- 8 मेन बाजार संजीव कुमार ने बताया कि शुक्रवार देर रात को चोरों ने पहले घर में घुसने का प्रयास किया। नाकामयाब रहने पर घर के आंगन में खड़ी बाइक का लॉक तोड़कर उसे ले जाने की कोशिश की। हालांकि, बदमाश कामयाब नहीं हो पाए। इसके बाद बदमाशों ने बाइक की बैटरी ही चोरी कर ली। जब तक परिवार के लोग उठकर देखते तब तक वे गायब हो चुके थे। उधर, पुलिस थाना प्रभारी पांवटा संजय शर्मा ने कहा कि पुलिस टीम को जांच के लिए मौके पर भेजा गया।
... और पढ़ें

बिजली बोर्ड के दावे धराशायी, सैकड़ों उपगांवों में अंधेरा

राजगढ़/ नौहराधार (सिरमौर)। सिरमौर के गिरिपार इलाके में बिजली बोर्ड के बिजली बहाल करने के दावे धराशायी हो गए हैं। बिजली बोर्ड बर्फबारी के कारण बंद पड़े सभी ट्रांसफार्मरों को चालू करने का दावा कर रहा है। लेकिन, गिरिपार के सैकड़ों गांवों और उपगांवों में अभी भी अंधेरा पसरा हुआ है। बर्फबारी के बाद भी ब्लैकआउट रहने से इलाके के लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं।
विद्युत उपमंडल चारना के तहत शिवपुर, भुटली, मानल, सिंगोली, भानरा, डेवामनाल, निओएल, रजवाड़ी आदि क्षेत्रों में बिजली बहाल नहीं हो पाई है। नौहरा, हरिपुरधार में बिजली के टूटे तार और खंभों को ठीक तो कर दिया गया है। लेकिन, बार-बार बिजली के कट लग रहे हैं। बिजली बहाल होने पर भी लोगों को अंधेरे में रहना पड़ रहा है। इन इलाकों में दिन में करीब 8 से दस बार कट लग रहे हैं। पहले बिजली गुल रही और जब आई तो कटों से क्षेत्रवासी परेशान हैं। इसके अलावा गिरिपार के कई उपगांवों में बिजली बहाल नहीं हो पाई है। बिजली बोर्ड के कर्मचारियों के साथ मिलकर स्थानीय ग्रामीण भी बिजली बहाल करने में जुटे हुए हैं।
हैरत यह है कि करोड़ों रुपये खर्च कर कई स्थानों पर लोहे के खंभे लगाए गए हैं। लेकिन, बर्फबारी के कारण यह खंभे टेढे़ हो गए हैं। जबकि कई किलोमीटर तक एलटी और एचटी लाइनें टूट गई हैं। ट्रांसफार्मरों से सप्लाई शुरू होने के बाद कई उपगांवों में तारें टूटने की वजह से सप्लाई नहीं पहुंच पा रही।
उधर, कनिष्ठ अभियंता उपमंडल चरना कपिल कुमार ने बताया कि लाइन ठीक की जा रही है। कोई अनहोनी न हो, इसलिए बिजली को कट करना पड़ रहा है। इस बीच अधिशासी अभियंता नरेंद्र ठाकुर ने बताया कि सभी क्षेत्रों की बिजली आपूर्ति सुचारु कर दी गई है। सभी ट्रांसफार्मर चालू कर दिए गए हैं। अब मात्र कुछ उपगांव ही रह गए हैं। जहां बिजली नहीं आई है। सोमवार शाम तक पूरे इलाके में बिजली बहाल होने की उम्मीद है।
... और पढ़ें

पंचायत चुनाव के बाद 2022 में मिशन रिपीट होगी राजीव बिंदल की चुनौती

जितना बड़ा पद, उतनी बड़ी जिम्मेदारी....। प्रदेश भाजपा के मुखिया डॉ. राजीव बिंदल के कंधों पर अब जिम्मेदारियों का बोझ है तो चुनौतियां भी कम नहीं। पंचायत चुनाव के बाद वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में मिशन रिपीट का उन पर दबाव रहेगा। यहीं नहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को एक सूत्र में पिरोना भी उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती रहेगा। 

अटकलें डॉ. बिंदल के मंत्रिमंडल में शामिल होने की लगाई जा रही थीं लेकिन, अचानक बदले राजनीतिक घटनाक्रम के बाद वह भाजपा के मुखिया बन गए। एक साधारण कार्यकर्ता के रूप में अपने राजनीतिक करिअॅर की शुरुआत करने वाले डॉ. बिंदल स्वास्थ्य मंत्री, विधानसभा अध्यक्ष के पदों से होते हुए अब प्रदेश अध्यक्ष बने हैं।

विधानसभा अध्यक्ष पद पर काबिज रहते हुए अक्सर विपक्ष ने उन्हें निशाने पर लेने की कोशिश की। पच्छाद उपचुनाव में विपक्ष ने उनके कथित चुनाव प्रचार को मुद्दा बनाकर प्रदर्शन तक कर डाले। राजनीतिक गलियारों में आम चर्चा है कि अब प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद बिंदल राजनीति की बिसात पर चेक एंड मेट का खेल खेलेंगे तो संगठन को और अधिक मजबूत बनाने के लिए जरूरी ‘उपचार’ भी करेंगे। 
... और पढ़ें

हेल्थ केयर के विद्यार्थी भी दे सकेंगे अब प्राथमिक उपचार, विभाग ने दी मंजूरी

प्रदेश स्वास्थ्य विभाग में रिक्त चिकित्सकों समेत पैरा मेडिकल स्टाफ तथा अन्य पदों की कमी किसी से छिपी नहीं है। दुर्गम क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह चरमरा रही हैं। रामभरोसे चल रहीं स्वास्थ्य सेवाओं के बीच सिरमौर के नघेता स्कूल की पहल मिसाल बन गई है। स्कूल में चल रहे व्यावसायिक कोर्स हेल्थ केयर के विद्यार्थी छोटी-मोटी बीमारी, चोट या हादसे के समय मरीजों को प्राथमिक उपचार देंगे। स्वास्थ्य विभाग ने भी इसके लिए मंजूरी दे दी है।

स्वास्थ्य खंड राजपुर ने विद्यार्थियों को प्राथमिक चिकित्सा के लिए ड्रेसिंग से लेकर कई तरह दवाइयां उपलब्ध करा दी हैं। स्कूल प्रबंधन का मानना है कि हेल्थ केयर के छात्रों को तभी कोर्स का लाभ मिलेगा, जब वे व्यावहारिक तौर पर स्वास्थ्य सेवाएं देंगे। प्रिंसिपल दलीप सिंह नेगी ने उपायुक्त सिरमौर व जिला चिकित्सा अधिकारी को कई पत्र लिखे, रिमाइंडर भी भेजे। आखिरकार, स्वास्थ्य विभाग के राजपुर खंड ने स्कूल प्रबंधन की मांग पर ध्यान देते हुए फर्स्ट एड सुविधा उपलब्ध करा दी है।  उधर, बीएमओ डॉ. अजय देओल ने स्कूल का प्राथमिक उपचार का सामान व दवाइयां मुहैया करवा दी गई हैं।

ये सुविधा है उपलब्ध
नघेता स्कूल में 42 विद्यार्थी हेल्थ केयर का कोर्स कर रहे हैं। एमएससी नर्सिंग अध्यापिका अलका शर्मा विद्यार्थियों को प्रशिक्षण दे रही हैं। स्कूल में इस पर प्रैक्टिकल तौर पर काम किया जा रहा है। स्कूल में दो बेड की व्यवस्था है। ब्लड प्रेशर, शुगर के मरीजों को भी स्कूल में ही जांचा जा रहा है। जुकाम, खांसी से लेकर बुखार व दस्त आदि की दवाएं भी स्कूल में उपलब्ध हैं। स्कूल के सराहनीय प्रयास को जनमंच के दौरान लगाए गए शिविर में भी काफी प्रशंसा मिली।

प्रदेश के लगभग सभी स्कूलों में सरकार ने हेल्थ केयर विषय शुरू किया है। ऐसे स्कूलों में व्यावसायिक शिक्षा लेने वाले छात्रों को प्रशिक्षित स्टाफ क्रियात्मक शिक्षा दे रहा है। यदि सरकार व स्वास्थ्य विभाग स्कूलों में प्रशिक्षित छात्रों की सेवाएं लेना शुरू करे तो स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार हो सकता है। खासकर दुर्गम क्षेत्रों में ऐसे छात्रों की सेवाएं बेहतर हो सकती हैं, जहां लोगों को ऐसी सेवाएं न के बराबर मिल पाती हैं। राजपुर स्वास्थ्य खंड से उन्हें फर्स्ट एड की सप्लाई दी गई है। - दलीप सिंह नेगी, प्रधानाचार्य, नघेता
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us