विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हिमाचल के 1.75 लाख कर्मचारियों को इस माह से बढ़कर मिलेगी पगार

हिमाचल सरकार ने पौने दो लाख से ज्यादा कर्मचारियों को चार फीसदी महंगाई भत्ते की अधिसूचना जारी कर दी है।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

सिरमौर

बुधवार, 21 अगस्त 2019

नेक पियर टीम ने संगड़ाह महाविद्यालय का किया दौरा

संगड़ाह (सिरमौर)। राष्टीय मूल्यांकन एवं प्रत्यापन परिषद (नेक पीयर टीम) की तीन सदस्यीय टीम ने सोमवार को राजकीय महाविद्यालय संगड़ाह का दौरा किया। कमेटी मेें चेयरपर्सन प्रो. टी. तिरुपति राव, प्रो. अश्विन ए पुरोहित और डॉ. राजीव बुर्दोलोई शामिल रहे। यह टीम देश भर के कॉलेजों का मूल्यांकन करती है और उनकी कार्यकुशलता के आधार पर उनको अलग-अलग श्रेणियों में विभक्त करती है। इस टीम ने संगड़ाह कॉलेज पहुंचकर महाविद्यालय का बारीकी से मूल्यांकन किया।
इस दौरान प्राचार्या और सभी प्रोफेसरों से अलग-अलग वार्ता की गई। इसके अलावा पीटीए सदस्यों एवं छात्रों से भी बात की। उनके सुझाव भी कमेटी ने आमंत्रित किए। इस दौरान छात्रों से कॉलेज की मूलभूत सुविधाओं, शिक्षकों के बर्ताव, उनके कार्य के तरीकों के अलावा सभी प्रकार की गतिविधियों की भी जानकारी हासिल की।
इस मौके पर महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने रंगरंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इसमें सोनिया ने आयो पधारो पिया पर शानदार नृत्य किया। इसके अलावा हारूल और हॉस्टल की छात्राओं ने पारंपरिक रासा नृत्य भी पेश किया। इस मौके पर नाहन कालेज की प्राचार्य वीना राठौर, संगड़ाह कॉलेज प्राचार्य दिनेश भारद्वाज के अलावा आईक्यूएसी कोऑरडिनेटर डॉ. वेदप्रकाश, डॉ. सुशील, प्रो. प्रमोद, प्रो. दिनेश, प्रो अमरा ठाकुर, डॉ. अनिल, डॉ. अश्वनी, प्रो. गोबिंद के अलावा पीटीए के जोगेंदर चौहान, उजागर सिंह, बीडीसी सदस्य हीरापाल शर्मा आदि मौजूद रहे। ... और पढ़ें

डंगा गिरने से दो बैल मरे, चार पशुशालाएं ध्वस्त

संगड़ाह (सिरमौर)। ददाहू की भाटगढ़ च्यामला पंचायत के चयामा गांव में लोनिवि का आरसीसी का डंगा गिरने से उसके नीचे चार पशुशालाएं दब गईं। इससे इनमें बंधे दो बैलों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि, एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे ग्रामीणों ने बड़ी मुश्किल से बचाया। यह हादसा चयामा गांव में खुड द्राविल छोउ भोगर मार्ग पर पेश आया। यहां भारी बारिश के कारण लोनिवि का आरसीसी का डंगा ढह गया। इससे तुलाराम की दो, रिखिराम और सायर सिंह की एक-एक पशुशाला ध्वस्त हो गई। मवेशियों के मालिक तुलाराम ने बताया कि सभी पशुशालाएं सड़क के नीचे बनी हुई थीं जिनमें एक में बैल और दूसरी में सात बकरियां बंधी थीं। जैसे ही डंगा पशुशालाओं पर गिरा, उसमें बंधे बैल उसकी चपेट में आ गए। लोगों की सहायता से मृत पशुओं को बाहर निकाला गया। ग्रामीणों ने इस संदर्भ में उचित मुआवजे की मांग की है। उधर, लोनिवि के अधिशासी अभियंता राम रतन शर्मा ने बताया कि बारिश के कारण सभी मार्ग क्षतिग्रस्त हुए हैं। नुकसान का जायजा लेने के लिए सहायक अभियंता को भेजा गया है। पशुओं के मरने की सूचना अभी तक नहीं मिली है। ... और पढ़ें

ातिरों ने घर का ताला तोड़कर उड़ाई लाखों की ज्वेलरी व नगदी

पांवटा साहिब (सिरमौर)। पांवटा साहिब क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। पांवटा थाने से करीब 200 मीटर की दूरी पर चोरों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। इसमें घर का ताला तोड़ कर नकदी और लाखों के गहनों पर हाथ साफ कर लिया। परिवार के घर लौटने पर वारदात का पता चला। शिकायत मिलने पर पांवटा थाना पुलिस टीम ने तफ्तीश शुरू कर दी है।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पांवटा के वार्ड-7 में सिविल अस्पताल के समीप सरकारी आवास में गुमान शर्मा-उर्मिल शर्मा (सिविल अस्पताल में स्टॉफ नर्स सेवारत) के रविवार देर रात को चोरी की वारदात हुई। गुमान शर्मा का परिवार अपने भतीजे के घर शिवा कॉलोनी में रात्रि भोजन पर गया था। रात को वापस लौटने पर घर में लगा ताला टूटा पाया गया। घर में भीतर जाकर देखा तो अलमारी का सारा सामान इधर-उधर बिखरा हुआ था। गुमान शर्मा ने कहा कि शातिर चोरों ने सरकारी आवास का ताला तोड़ कर घर से 3000 की नकदी, डायमंड टॉप्स का सेट और सोने का एक मंगल सूत्र उड़ा लिया। उन्होंने बताया कि शातिर चोर करीब दो लाख का चूना लगा गए। घर के नल तक उखाड़ कर साथ ले गए। गनीमत यह रही कि एक पोटली में रखी ज्वेलरी सोने का कड़ा, टॉप्स सेट, गोल्ड रिंग जल्दी में टेबल पर ही छोड़ गए। उन्होंने बताया कि रविवार देर रात करीब साढ़े 11 बजे जैसे ही गेट खुलने की आवाज सुनी, दो शातिरों को दीवार फांद कर अंधेरे में अलग-अलग दिशा में भागते हुए देखा गया। गुमान शर्मा ने कुछ दूरी तक पीछा भी किया था। लेकिन, शातिर अंधेरे का फायदा उठा कर फरार होने में सफल रहे। इसके बाद पुलिस थाना पांवटा में लिखित शिकायत दे दी है। इसके बाद जांच टीम मौके पर पहुंच कर जांच कर रही है। डीएसपी पांवटा सोमदत्त ने कहा कि लिखित शिकायत थाने में पहुंची है। इसके बाद पुलिस टीम जांच कर रही है। आसपास क्षेत्र के सीटीटीवी कैमरों के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं जिससे चोरी की वारदात को अंजाम देने वालों तक जांच टीम पहुंच सके। ... और पढ़ें

मुरारीलाल माहेश्वरी वाद-विवाद स्पर्धा: शिमला मंडल में सोलन कॉलेज ने मारी बाजी

राजधानी शिमला के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस संजौली कॉलेज में आयोजित मंडल स्तरीय मुरारीलाल माहेश्वरी स्मृति वाद-विवाद प्रतियोगिता में सोलन कॉलेज की टीम प्रथम रही। बुधवार को हुई इस स्पर्धा में कॉलेज छात्रों ने ‘क्षेत्रवाद ने भारतीय संघवाद को कमजोर किया’ विषय पर अपनी बात तर्कों के साथ रखी। प्रतियोगिता में राजीव गांधी महाविद्यालय कोटशेरा की टीम दूसरे और कुमारसैन डिग्री कॉलेज की टीम तीसरे स्थान पर रही। शिमला मंडल के चार जिलों की इस प्रतियोगिता में जिला स्तर पर पहले और दूसरे स्थान पर रहने वाली टीमों ने भाग लिया। रामपुर पीजी कॉलेज और सिरमौर के संगड़ाह कॉलेज की टीम ने सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किए। 
... और पढ़ें

नाहन में उपनिदेशक ने किया आत्महत्या का प्रयास

नाहन (सिरमौर)। सैनिक कल्याण बोर्ड के उपनिदेशक दीपक धवन ने सोमवार रात पेड़ से फंदा लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। गंभीर हालत को देखते हुए उपनिदेशक को मेडिकल कॉलेज नाहन में भर्ती किया गया है। ईएनटी वार्ड में भर्ती दीपक धवन की हालत अब खतरे से बाहर बताई जा रही है।
जानकारी के मुताबिक सैनिक कल्याण बोर्ड के नाहन कार्यालय में तैनात उपनिदेशक ने सोमवार रात संस्कृत महाविद्यालय के समीप एक पेड़ से फंदा लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। उपनिदेशक के भाई को इसकी सूचना मिलते ही वह तुरंत मौके पर पहुंचे। उन्होंने समय रहते दीपक धवन को पेड़ से उतारा। इसी बीच गुन्नूघाट चौकी से पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। इसके बाद तुरंत उपनिदेशक को मेडिकल कॉलेज नाहन पहुंचाया गया जहां, उनका उपचार चल रहा है। हालांकि, अभी आत्महत्या के प्रयास संबंधी कारणों का पता नहीं चल पाया है। मंगलवार शाम तक पुलिस उपनिदेशक के बयान दर्ज नहीं कर पाई थी। इस मामले में पुलिस परिजनों से पूछताछ कर रही है। उपनिदेशक के बयान के बाद ही आत्महत्या के प्रयास के कारणों से पर्दा उठ सकेगा। गौरतलब है कि दीपक धवन सेना से बतौर मेजर पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। पिछले लंबे समय से वह नाहन में सैनिक कल्याण बोर्ड में बतौर उपनिदेशक के पद पर सेवाएं दे रहे हैं। मामले की पुष्टि करते हुए एएसपी वीरेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि पुलिस मामले की गहनता से छानबीन कर रही है। उपनिदेशक के बयान लेने के बाद ही सही कारणों का पता चल पाएगा। उन्होंने बताया कि आईपीसी की धारा 309 के तहत कार्रवाई की जा रही है। ... और पढ़ें

देवीनगर में संदिग्ध हालत में पड़ा मिला व्यक्ति

पांवटा साहिब (सिरमौर)। पांवटा नगर परिषद के वार्ड-10 बंगाला कॉलोनी के बाहर एक व्यक्ति संदिग्ध हालत में पड़ा हुआ मिला। सूचना मिलने पर परिजनों ने उसे अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक पांवटा साहिब के वार्ड नंबर-10 बंगाला कॉलोनी के पास एक व्यक्ति संदिग्ध रूप से पड़ा हुआ था। लोगों ने इसकी पहचान जयचंद (45) पुत्र नाम आत्माराम निवासी रविदास बस्ती देवीनगर वार्ड नंबर- 11 पांवटा के रूप में की। इसके बाद उसके परिजनों को सूचित किया। इसकी जानकारी पुलिस को भी दी गई। परिवार के लोग सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे। जयचंद को सिविल अस्पताल पांवटा साहिब पहुंचाया गया, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस जांच टीम ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। उधर, डीएसपी पांवटा साहिब सोमदत्त ने पुष्टि करते हुए बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस टीम मामले की जांच कर रही है। पोस्ट मार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत कर कारण का सही पता चल सकेगा। ... और पढ़ें

रिमौर में अभी भी 53 सड़कें बंद, दुश्वारियां अभी भी बाकीं

नाहन (सिरमौर)। बारिश तो थम गई है लेकिन तीसरे दिन भी सिरमौर में लोगों की दुश्वारियां कम नहीं हुई हैं। सिरमौर में अभी भी 53 सड़कें बंद पड़ी हैं। हालांकि, लोक निर्माण विभाग सड़कों को बहाल करने में जुटा है लेकिन, कई संपर्क सड़कें आवाजाही के लिए बहाल नहीं हो पाईं हैं। ऐसे में यात्री ही परेशान नहीं है, बल्कि किसान, स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थी और कामकाजी लोग भी दिक्कतें झेल रहे हैं। किसान अपनी नकदी फसलों को बाजार तक पहुंचाने में असमर्थ हैं।
इन दिनों बरसाती सीजन चल रहा है। इस सीजन में मूली, धनिया, टमाटर, शिमला मिर्च, बीन्स और गोभी आदि अन्य नकदी फसलों को बाजार तक पहुंचाना मुश्किल हो गया है। नाहन क्षेत्र में अभी चार सड़कें बलसार-झाजर, शंभुवाला-मातर भेड़ों, जलालपुल-शिरू माइला और बिरला-धायली संपर्क सड़कें बंद हैं। इसके अलावा राजगढ़ मंडल में आठ सड़कों पर आवाजाही ठप है। संगड़ाह इलाके में 11 सड़कों पर यातायात बहाल नहीं हुआ है। जबकि, शिलाई क्षेत्र में सबसे ज्यादा 30 सड़कें बंद हैं। सिरमौर में अभी भी विभिन्न रूटों पर चार सरकारी बसें फंसीं हैं। एसआरटीसी के क्षेत्रीय प्रबंधक रसीद शेख और बस अड्डा प्रभारी सुखराम ने बताया कि अभी निगम की चार बसें कुफ्टू, खूड़ द्राबिल, कंडी क्याना और भवाई भलीच में फंसी हैं। निगम को तीन-चार दिन के भीतर चार लाख से अधिक का नुकसान हुआ है।
एनएच 707 पर पुलिया क्षतिग्रस्त, आवाजाही ठप
रोनहाट (सिरमौर)। एनएच-707 पर बरसात के कारण क्यारी के समीप पुलिया क्षतिग्रस्त हो गई है। अभी एनएच को बहाल होने में एक सप्ताह का समय लग सकता है। उधर, नेशनल हाईवे अॅथारिटी की टीम ने मौके का मुआयना कर नया बेली ब्रिज मंगवाया है। एलपीआरआर (लालढांग-पांवटा-रोहड़ू-रामपुर) के नाम से जाना जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-707 पर रोनहाट, नेरवा, चौपाल, मीनस, रोहड़ू, रामपुर, शिमला, शिलाई, कफोटा, सतौन और पांवटा साहिब, लालढांग आदि दर्जनों कस्बों और शहरों का आपसी संपर्क टूटा गया है। फिलहाल, वाहनों को मीनस और कफोटा से वाया विकासनगर (उत्तराखंड) होते हुए भेजा जा रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिशासी अभियंता अनिल शर्मा ने बताया कि भारी बारिश के कारण शिलाई और मीनस के बीच क्यारी नामक जगह में एनएच का फ्लैप कल्वर्ट टूट गया है। विभाग ने वैली ब्रिज मंगवाया है। चार दिनों में सड़क को वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल कर दिया जाएगा। ... और पढ़ें

देहरादून से लापता अंकित नेगी की हिमाचल में तलाश

पांवटा साहिब (सिरमौर)। देहरादून का एक परिवार 4 माह से विभिन्न राज्यों में भटक रहा है। वह चार माह से लापता अंकित नेगी पुत्र स्व. महिपाल सिंह नेगी की तलाश कर रहा है। अंकित 24 अप्रैल 2019 से देहरादून घंटाघर के समीप से लापता है। चार माह से परिवार के सदस्य उसकी तलाश में भटक रहे हैं। हिमाचल के पांवटा पहुंचे अंकित के भाई आशीष नेगी का कहना है कि चकराता रोड देहरादून में स्थित एक क्लीनिक में अपनी पत्नी के चेकअप करवाने निकला था लेकिन वह वापस नहीं लौटा। इसके बाद से उसकी तलाश कर रहे हैं। इसके बारे में 27 अप्रैल को देहरादून थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी गई थी। तब से अंकित नेगी के भाई और परिजन उत्तराखंड, यूपी, हरियाणा और हिमाचल में तलाश कर रहे हैं। अंकित के भाई आशीष नेगी ने कहा कि कुछ लोगों ने अंतिम बार ऋषिकेश तपोवन में अंकित नेगी को लाल रंग की चेकदार शर्ट और ब्लू जींस में देखा था। यह जानकारी मिलने के बाद उसकी तलाश ऋषिकेश में भी की गई। लेकिन, अब तक कोई पता नहीं चल सका है। परिजन सोमवार को हिमाचल में अंकित नेगी की तलाश में यहां-वहां भटकते नजर आए। ... और पढ़ें

फल मंडियों में घटेगा आढ़तियों का कमीशन, जानिए हिमाचल कैबिनेट के बड़े फैसले

हिमाचल की फल एवं सब्जी मंडियों में आढ़तियों का कमीशन पांच से घटाकर दो फीसदी किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश विधानसभा के चल रहे मानसून सत्र में कृषि उत्पाद मंडी समिति (एपीएमसी) संशोधन बिल-2019 पेश किया जाएगा। मंगलवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस बिल के ड्राफ्ट पर चर्चा हुई।
... और पढ़ें

हिमाचल विधानसभा के मानसून सत्र में दूसरे दिन भी हंगामा, विपक्ष ने किया वाकआउट

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन भी सदन में हंगामा हुआ और विपक्ष ने वाकआउट कर दिया। ऊना के कांग्रेस विधायक से जुडे़ शराब प्रकरण पर सदन में प्रश्नकाल शुरू होने से पहले ही विपक्ष के सदस्य शोर-शराबा करते रहे। विपक्षी कांग्रेस ऊना के एसपी की बर्खास्तगी और तबादले की मांग करती रही।

सीएम ने जांच के पूरा होने से पहले तबादले से इंकार किया तो नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के नेतृत्व में कांग्रेस विधायक नारेबाजी करते हुए वेल में चले गए। पहले खडे़ होकर नारेबाजी करते। बाद में चौकड़ी मारकर नीचे बैठ गए। प्रश्नकाल के खत्म होते ही विपक्ष के सदस्यों ने वाकआउट कर दिया। माकपा विधायक राकेश सिंघा ने भी कांग्रेस विधायकों के साथ वेल में जाने के बाद वाकआउट किया। 

मंगलवार को मानसून सत्र की दूसरी बैठक के शुरू में ही नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने हाथ खड़ा कर स्पीकर डा. राजीव बिंदल की ओर इशारा किया। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि नियम - 67 के तहत उन्होंने आग्रह किया था कि जो ऊना का विधायक से संबंधित मसला है, उसके लिए काम रोको प्रस्ताव मंजूर किया जाए। सीएम ने सदन मेें वह पक्ष रखा है जो पुलिस ने कहा।
... और पढ़ें

हिमाचल कैबिनेट की बैठक आज, इन फैसलों पर लगेगी मुहर

हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक मंगलवार को सदन की कार्यवाही के बाद बुलाई गई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में यह बैठक प्रदेश विधानसभा परिसर में ही संभावित है।

इसमें विधानसभा में पेश किए जा रहे विधेयकों पर चर्चा के अलावा कई अन्य फैसले लिए जा सकते हैं। वहीं, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मंगलवार को सदन में अनुच्छेद 370 खत्म करने के मामले में अपना वक्तव्य प्रस्तुत करेंगे।

सदन में स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार गुर्दा प्रत्यारोपण सुविधा देने पर अपना वक्तव्य प्रस्तुत करेंगे। प्रदेश में भारी बरसात से हुए नुकसान के मामले में भी सदन में चर्चा होगी। नियम 130 के तहत इस संबंध में सात विधायकों ने प्रस्ताव लाने को नोटिस दिया है। 
... और पढ़ें

हिमाचल में भूस्खलन से 824 सड़कें बंद, नेरवा में 554 छात्राएं फसीं

हिमाचल में तीन दिन तक भारी बारिश के बाद भले ही मंगलवार को मौसम खुल गया, लेकिन दुश्वारियां कम नहीं हुईं। प्रदेश में अभी भी 824 सड़कें बंद हैं। जगह-जगह भूस्खलन से प्रदेश में सैकड़ों लोग और पर्यटक फंसे हैं।

नेरवा में अंडर-19 खेलकूद स्पर्धा के लिए गईं शिमला जिले की 554 छात्राएं फंस गई हैं। रोहतांग मार्ग पर मढ़ी में मंगलवार तड़के चार बजे भूस्खलन से सैकड़ों पर्यटक वाहनों सहित फंसे रहे। लेह के लिए निकली सेना की गाड़ियां मनाली लौट आईं।

मनाली-लेह हाईवे पर बंता के पास तेल के टैंकर पर चट्टानें गिर गईं। हालांकि इससे कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है। हालांकि मार्ग कुछ देर के लिए बहाल हुआ, लेकिन शाम को भूस्खलन के चलते फिर से बंद हो गया। इसके चलते सैकड़ों पर्यटक और लाहौल जाने वाले वाहन फंस गए हैं।

शिमला और कुल्लू के ग्रामीण इलाकों में सड़कें बहने से करोड़ों का पेटियों में बंद सेब फंस गया है। पहाड़ दरकने से शिमला-कालका हाईवे तीन घंटे बाधित रहा। हमीरपुर के मैड़ के पास बाधित शिमला-मटौर एनएच देर शाम बहाल हुआ। 
... और पढ़ें

हिमाचल में मौसम खुलने के बाद भी कम नहीं हुईं दुश्वारियां, पर्यटक फंसे, तस्वीरों में देखें तबाही

हिमाचल में तीन दिन तक भारी बारिश के बाद भले ही मंगलवार को मौसम खुल गया, लेकिन दुश्वारियां कम नहीं हुईं। प्रदेश में अभी भी 824 सड़कें बंद हैं। जगह-जगह भूस्खलन से प्रदेश में सैकड़ों लोग और पर्यटक फंसे हैं। 
... और पढ़ें

हिमाचल की 148 सड़कें खतरनाक, आवाजाही पर रोक

प्रदेश में खतरनाक बन चुकी 148 सड़कों पर आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। ये ऐसी सड़के हैं, जिन पर सफर करना खतरनाक है। इन सड़कों पर जगह-जगह मलबा, पेड़ और पहाड़ी से पत्थर गिरने पर हादसों की आशंका बनी हुई है।

लोक निर्माण विभाग ने ऐसी सड़कों पर सफर न करने की हिदायत दी है। इन सड़कों का निर्माण एक दो साल के भीतर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत हुआ है। 

लोक निर्माण विभाग का कहना है कि कई सड़कें कच्ची हैं जबकि कई में टारिंग तक हो चुकी है। इनका निर्माण एक से दो साल के भीतर हुआ है। ऐसे में मलबा और पेड़ गिरने की आशंका अधिक है।

हिमाचल में दो दिनों से ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कें बहाल न होने से एचआरटीसी के करीब 280 रूट प्रभावित हुए हैं।  इधर, परिवहन निगम ने चालक परिचालकों को निर्देश दिए गए हैं कि जहां भी सड़कों पर मलबा या सड़क पर दरारें हैं, वहां बस चलाने का जोखिम न उठाएं।

नालों के किनारे भी बसें खड़ी न करने के निर्देश दिए हैं। परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि जैसे-जैसे सड़कें खुलने की सूचना मिल रही है, उन रूटों पर बसें भेजी जा रही हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree