बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

चंबा में गोवंश की हत्या की आशंका, बॉर्डर पर तीन लोग गिरफ्तार

उपमंडल चुराह के तहत ग्राम पंचायत सनवाल में गोवंश की हत्या की आशंका का एक मामला सामने आया है। तनावपूर्ण माहौल की वजह से पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस ने तीन बैलों व एक गाय सहित तीन लोगों को बॉर्डर पर गिरफ्तार किया है। इनसे मांस भी बरामद हुआ है। पुलिस की ओर से मांस की जांच करवाई जाएगी। इसके सैंपल जांच के लिए शिमला स्थित फोरेंसिक प्रयोगशाला में भेजे जाएंगे। 

आरोपी जम्मू के जिला डोडा के बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस पूरे मामले में क्षेत्र के दो से तीन लोग भी शामिल हैं। गौरतलब है कि करीब छह साल पहले भी चंबा में गोवंश हत्या का मामला सामने आया था। यह दूसरा मौका है, जब इस तरह की वारदात जिला में सामने आई है। 

एसपी चंबा अरूल कुमार ने बताया कि मांस बरामद हुआ है। इस मामले में जिला डोडा के तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। कहा कि स्थानीय लोगों के भी इस मामले में संलिप्त होने की सूचना है। उन्होंने कहा कि जल्द ही इन स्थानीय लोगों को भी हिरासत में लिया जाएगा। कहा कि पुलिस टीम मौके पर सूचना के बाद भेजी गई है। पुलिस थाना तीसा में मुकद्दमा भी दर्ज कर लिया गया है।
... और पढ़ें

शराब कारोबारी से लूट: चंडीगढ़ से महिला सहित तीन गिरफ्तार, चार पिस्तौल, 98 कारतूस, छह मोबाइल बरामद

शराब कारोबारी से लूट मामले में चंडीगढ़ के सेक्टर 49 से गिरफ्तार तीनों आरोपियों के तार अंतरराज्यीय गिरोह से जुड़े हैं। इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से चार लोकल मेड पिस्तौल और 98 कारतूस भी बरामद किए हैं। इसके अलावा 2.28 लाख नकदी, छह मोबाइल फोन, एक टैब, एक लैपटॉप भी आरोपियों के कब्जे से बरामद किया है। इस मामले में ऊना पुलिस को बद्दी और चंडीगढ़ पुलिस का सहयोग भी मिला।

ऊना में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से डीजीपी संजय कुंडू, डीआईजी सुमेधा द्विवेदी, एसपी ऊना अर्जित सेन ठाकुर, एसपी बद्दी रोहित मालपानी ने घटना के बारे में जानकारी दी। एसपी ऊना अर्जित सेन ठाकुर ने बताया कि 15 मार्च को ऊना शहर के एक शराब कारोबारी के कार्यालय में चेहरे पर मास्क लगाकर लूट को अंजाम देने के बाद शातिर चोरी की एक कार में मात्र 18 मिनट में ही हिमाचल सीमा से बाहर निकल गए और भूमिगत हो गए।

पुलिस ने इस मामले में तकनीकी जांच और फील्ड इनपुट के जरिये शातिर जुड़े खन्ना पंजाब के एक सिम विक्रेता को गिरफ्तार किया। जिसने फर्जी दस्तावेज के आधार पर सिम शातिरों को मुहैया करवाए थे। इसके बाद बद्दी पुलिस की साइबर टीम की सहायता से इस केस से जुड़े आरोपियों के चंडीगढ़ में होने का पता चला। एसपी ऊना ने वायरल वीडियो के संबंध में स्पष्ट किया है कि इस मामले में कोई भी गोलीबारी नहीं हुई है।

दबोचे आरोपियों की गिरफ्तारी वीरवार शाम को हुई। मामले में गिरफ्तार महिला की भी इस साजिश की भूमिका रही है। तीनों आरोपियों को चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। एसपी ऊना ने बताया कि इस मामले में अन्य गिरफ्तारियां होना अभी बाकी हैं।

इस मामले में पुलिस ने आरोपियों को दबोचने के लिए पांच राज्य पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, यूपी, उत्तराखंड में रेड की। इसी बीच बद्दी पुलिस की मदद से पुलिस को शातिरों के चंडीगढ़ के एक फ्लैट में होने की सूचना मिली। पुलिस ने योजनाबद्ध तरीके से चंडीगढ़ ने इन्हें दबोच लिया। पुलिस जांच में आरोपियों के क्रिमिनल रिकॉर्ड होने की सूचना मिली है। 
... और पढ़ें

फर्जी डिग्री मामला: एजेंट से मिली 50 लाख से ज्यादा के लेनदेन की जानकारी

सोलन के मानव भारती विश्वविद्यालय से जुड़े फर्जी डिग्री मामले की जांच कर रही  हिमाचल प्रदेश पुलिस और सीआईडी की संयुक्त विशेष जांच टीम को दिल्ली के मुख्य एजेंट अजय कुमार से 50 लाख रुपये से ज्यादा के लेनदेन की जानकारी मिली है। बिहार निवासी अजय को कुछ दिन पहले दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था। दो बार चार-चार दिन की पुलिस रिमांड लेकर जांच टीम ने उसके कई ठिकानों पर दबिश दी। इस दौरान कुछ नकदी और फर्जी डिग्रियां भी बरामद की गई थीं। सोमवार को एसआईटी ने अजय को सोलन की स्थानीय अदालत में पेश किया।

इसके साथ ही जांच टीम ने जम्मू के मुख्य एजेंट मनु जम्वाल को भी अदालत में पेश किया। कोर्ट ने दोनों को ही 24 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। दोनों से हुई लंबी पूछताछ के बाद जांच टीम को केस मजबूत करने के लिए कई और अहम जानकारियां मिली हैं। चूंकि ज्यादातर पैसा कैश में ही लिया-दिया जाता था, ऐसे में पैसों को जिन लोगों के जरिये भेजा जाता था, अब जांच एजेंसी उनकी तलाश में जुटी है। विशेष जांच टीम ने हाल ही में फर्जी डिग्री रैकेट का दिल्ली में संचालन करने वाले मुख्य एजेंट अजय कुमार को दिल्ली में गिरफ्तार किया था। वह और मनु रैकेट की मदद से फर्जी डिग्री बेचने का गोरखधंधा चलाते थे।
... और पढ़ें

रिचार्ज एप की आड़ में करोड़ों का घोटाला, पीड़ित ने पुलिस में की शिकायत

हिमाचल प्रदेश में रिचार्ज एप की आड़ में करोड़ों की ऑनलाइन धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। आरोप है कि गूगल प्ले स्टोर में एक ऐसी एप थी, जिसमें विभिन्न तरह के रिचार्ज के लिए लोगों से 600 से डेढ़ लाख रुपये तक इन्वेस्ट करवाया जाता था। ऑनलाइन जितने भी रिचार्ज होते थे, घंटों के हिसाब से निवेशकों को पैसे आते थे।

कोरोनाकाल में शुरू में अच्छी खासी इनकम आती देखकर सूबे के काफी लोगों ने इस पर दाव खेल दिया। करोड़ों निवेश होने के बाद अब 12 मई 2021 को यह एप गूगल प्ले स्टोर से गायब हो चुकी है। सारा ऑनलाइन डाटा भी डिलीट कर दिया है। इसमें लोगों का करोड़ों रुपये डूब चुके हैं। 

शिकायतकर्ता पधर के मनोज कुमार का कहना है कि अभी हाल ही में गूगल प्ले में एक एप आई थी। इसमें 600 से लेकर डेढ़ लाख रुपये तक का रिचार्ज था। लोग इसमें पैसा इन्वेस्ट करते तो रिचार्ज होने पर एक घंटे के हिसाब से उन्हें लाभ आता था।

गूगल प्ले में इसके यूजर 10 लाख से भी ज्यादा दिख रहे थे। इसमें हिमाचल के भी 10 हजार के बीच लोग थे। उन्होंने भी 9600 रुपये इन्वेस्ट किए थे। उनके दोस्त अंशुमन ने 50,000 का निवेश किया था। इनका दावा है कि यह घोटाला करोड़ों का है।

यह कंपनी खुद को बंगलूरू का बताती थी। डीएसपी पधर लोकेंद्र नेगी ने कहा कि शिकायतकर्ता से संबंधित दस्तावेज मांगे गए हैं। यदि जांच में आरोप सही पाए गए तो नियमानुसार कार्रवाई होगी। डीएसपी ने कहा कि यदि और लोग भी धोखाधड़ी का शिकार हुए हैं तो वे सामने आएं ताकि ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह तक पहुंचा जा सके। 
... और पढ़ें
घोटाला(सांकेतिक) घोटाला(सांकेतिक)

चौहारघाटी में 66 बीघा जमीन पर पकड़ी अफीम की अवैध खेती

मंडी जिला पुलिस ने नशा माफिया पर फिर बड़ी कार्रवाई की है। चौहारघाटी में बड़े पैमाने पर पोस्त (अफीम की प्रारंभिक स्टेज) की अवैध खेती का भंडाफोड़ किया गया है। पुलिस ने गुप्त सूचना पर दबिश देकर 66 बीघा से अधिक निजी और सरकारी भूमि में अवैध रूप से उगाए 15 लाख पोस्त के पौधे बरामद किए हैं। जिले में इतने बड़े पैमाने में नशे की खेती का यह पहला मामला है।
 


अफीम की अवैध खेती न केवल निजी बल्कि सरकारी भूमि पर भी लहलहा रही थी। पधर पुलिस ने चौहारघाटी की तरस्वाण पंचायत में बड़े पैमाने पर हुई अवैध खेती की भनक लगते ही कार्रवाई की है। साढ़े पांच घंटे पैदल सफर तय करने के बाद लगभग 17 घंटे तक चले इस सर्च अभियान में 66 बीघा से अधिक निजी और सरकारी रकबे में 15 लाख पोस्त के पौधे बरामद किए हैं। पुलिस ने राजस्व विभाग की टीम और पंचायत प्रधान के साथ इस ऑपरेशन को अंजाम दिया।

मामले में चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच एसडीपीओ पधर लोकेंद्र नेगी कर रहे हैं। पोस्त की खेती को नष्ट करने के लिए चार टीमें भेजी गई हैं। इस अवैध खेती के तार अफगानिस्तान से भी जुड़े हो सकते हैं। एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री ने कहा कि चौहारघाटी में पोस्त की अवैध खेती का अब तक का यह सबसे बड़ा मामला है। उन्होंने लोगों से अपील की कि कहीं भी इस तरह की अवैध खेती की गई है तो इसकी जानकारी मोबाइल नंबर 9317221001 पर साझा करें। सूचना देने वालों की पहचान गुप्त रखी जाएगी।
... और पढ़ें

कांगड़ा: स्वतंत्रता सेनानी ससुर को डंडों से पीटने पर बहू गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के लंबागांव इलाके की पंचायत मझेड़ा में एक बहू द्वारा अपने स्वतंत्रता सेनानी ससुर सुखीराम (102) को डंडे से बुरी तरह पीटने का मामला सामने आया है। एसडीएम जयसिंहपुर और पुलिस ने इस घटना का कड़ा संज्ञान लिया है। एसडीएम ने डीएसपी बैजनाथ को जांच के आदेश दिए, जिसके बाद पुलिस ने धारा 452, 323, 504 और 506 के तहत मामला दर्ज कर महिला को गिरफ्तार कर लिया। इस पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हर कोई बहू की निंदा कर रहा है। जानकारी के अनुसार वायरल वीडियो में दिख रहा है कि लंबागांव विकास खंड की मझेड़ा पंचायत में स्वतंत्रता सेनानी को उसकी बहू डंडे से पीट रही है।

महिला का पति चुपचाप तमाशा देख रहा है। महिला का पति क्लास -1 अधिकारी बताया जा रहा है। ससुर को पिटता देख दूसरी बहू ससुर को जब अपने कमरे में ले आई तो बुजुर्ग उनके सामने रोने लगता है। पिटाई करने वाली महिला को जब पता चलता है कि उसका वीडियो बन चुका है, तो वह डंडा लेकर अपने भतीजे के ऊपर भी हमला कर देती है। वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही स्थानीय प्रशासन हरकत में आ गया। एसडीएम जयसिंहपुर पवन कुमार ने डीएसपी बैजनाथ को मामले की छानबीन के आदेश दिए हैं। डीएसपी बैजनाथ बीडी भाटिया ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है। स्थानीय विधायक रविंद्र रवि धीमान ने भी घटना को शर्मसार करने वाला करार देते हुए पुलिस से कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।
... और पढ़ें

रात्रि कर्फ्यू तोड़ने पर तीन युवकों को हवालात में काटनी पड़ी रात

चरस
सिरमौर में लागू रात्रि कर्फ्यू का उल्लंघन करना तीन युवकों को महंगा पड़ गया। रात के समय नेशनल हाईवे पर बिना किसी कारण नशे की हालत में घूम रहे तीनों युवकों को पुलिस ने हिरासत में लेकर मामला दर्ज कर उन्हें पूरी रात हवालात में रखा। इन्हें अदालत में पेश करने की प्रक्रिया चल रही है।

शनिवार देर रात पांवटा साहिब पुलिस टीम सुरजपुर की तरफ गश्त पर थी। इस दौरान पुलिस ने देखा कि सुरजपुर के पास रिशु, कादिर खान और अमित नशे की हालत में सड़क पर घूम रहे थे। पुलिस ने उनसे घूमने का कारण पूछा तो वे सही जवाब नहीं दे सके। इसके बाद पुलिस ने तीनों को रात्रि कर्फ्यू के उल्लंघन पर हिरासत में लेकर पूरी रात हवालात में रखा। पांवटा साहिब के डीएसपी वीर बहादुर ने इसकी पुष्टि की है।
... और पढ़ें

ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर बद्दी की कंपनी के संचालक पर केस

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में बद्दी पुलिस ने इंडो गैस कंपनी के संचालक के खिलाफ ऑक्सीजन की सप्लाई में सरकार के नियमों के तहत कार्य न करने पर मामला दर्ज किया है। ऑक्सीजन गैस की सप्लाई पर निगरानी के लिए बनाई कमेटी ने बीबीएन की सभी ऑक्सीजन गैस कंपनियों में औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान इंडो गैस कंपनी के रिकॉर्ड में खामियां मिलीं। आरोप है कि यहां से सरकार के आदेशों के मुताबिक सप्लाई नहीं हो रही।

कंपनी संचालक ने अस्पतालों के बजाय अन्य लोगों को सप्लाई कर दी। गैस की कालाबाजारी के चलते कमेटी ने उपायुक्त सोलन केसी चमन को इसकी रिपोर्ट दी। उपायुक्त ने एसपी बद्दी को कंपनी संचालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए। इस पर बद्दी पुलिस ने इंडो गैस कंपनी के संचालक गुरदीप चंदेल के खिलाफ एपीडेमिक एक्ट तीन, डीएम एक्ट 51, आईपीसी 188 व 336 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। एसपी रोहित मालपानी ने मामला दर्ज होने की पुष्टि की है। 
... और पढ़ें

विजिलेंस ने एमईएस का एसडीओ 40 हजार रुपये रिश्वत लेते धरा

विजिलेंस ने हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन में गुरुवार को एमईएस के एक एसडीओ को 40 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। इस कार्रवाई को विजिलेंस ने शिकायत के आधार पर गंबरपुल के एक निजी होटल में अंजाम दिया। इसमें आरोपी अधिकारी सुबाथू छावनी में फायर रेंज का निर्माण कार्य कर रहे ठेकेदार से उसकी नौ लाख रुपये राशि को बहाल करने के एवज में रिश्वत की मांग कर रहा था। शिकायत मिलने पर विजिलेंस डीएसपी सोलन की अध्यक्षता में टीम ने मौके पर अधिकारी को 40 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। 

डीएसपी विजिलेंस संतोष शर्मा ने बताया कि गुरुवार सुबह विजिलेंस को शिकायत मिली कि सुबाथू एमईएस का एक अधिकारी ठेकेदार की पेमेंट बहाल करने के लिए 40 हजार रुपये रिश्वत मांग रहा है। शिकायत के आधार पर विजिलेंस डीएसपी ने एक टीम गठित कर अधिकारी को रंगे हाथ दबोचने के लिए जाल बिछाकर उसे कुनिहार-सोलन मार्ग स्थित गंबरपुल के एक निजी होटल में बुलाया। यहां ठेकेदार को उसे मांगी गई राशि देने के लिए कहा। जैसे ही संबंधित अधिकारी ने रिश्वत ली, टीम ने आरोपी को रंगे हाथ दबोच लिया। आरोपी शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जहां से उसे रिमांड पर लेने की मांग की जाएगी। 
... और पढ़ें

बजौरा में पुलिस ने पकड़ी दो किलो चरस की खेप

कुल्लू पुलिस ने जिले के प्रवेश द्वार पर स्थापित वन विभाग की चेक पोस्ट पर शनिवार सुबह दो किलो चरस के साथ शोगी गांव के दो लोगों को पकड़ा है। जीप में दोनों आरोपी नशे की खेप जिले से बाहर ले जाने की तैयारी में थे। दोनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। जानकारी के अनुसार पुलिस टीम ने बजौरा लक्कड़ बाजार में वन विभाग की चेक पोस्ट पर नाका लगाया था।

सामने से आ रही एक जीप को तलाशी के लिए रोका गया। इसमें जीप चालक समेत दो लोग थे। दोनों से पुलिस ने पूछताछ की तो वे संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। संदेह होने पर जब जीप की तलाशी ली गई तो इसमें 2.104 किलो चरस बरामद हुई।

पुलिस ने आरोपी ओमी चंद (38) निवासी गांव शोगी, डाकघर न्यूल, तहसील भुंतर, जिला कुल्लू और श्याम चंद (35) निवासी शोगी, तहसील भुंतर, कुल्लू को गिरफ्तार किया। पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। दोनों को कोर्ट में पेश करने की प्रक्रिया चल रही है। 
... और पढ़ें

कुल्लू: दादी-दादी के बाद पिता का बेटी से मारपीट का वीडियो वायरल

हिमाचल प्रदेश के नगर परिषद वार्ड नंबर 10 में दादा-दादी के अब पिता के द्वारा अपनी ही बेटी की निर्मम पिटाई का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में पिता अपनी बेटी की खूब पिटाई कर रहा है। उसे बालों से घसीटते हुए घर से बाहर लेकर जाता है। बाप की निर्दयता यहीं नहीं रुकती है। इसके बाद वह अपनी बेटी के हाथ बांध देता है। लड़की की रो रही है लेकिन इस बाप का दिल नहीं पसीजता। एक के एक वीडियो सामने आने के बाद घाटी में चर्चाओं का माहौल है। लोग ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। 

आरोपी को पुलिस ने मंगलवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। जिसे पुलिस ने बुधवार को कोर्ट में पेश किया है। कोर्ट ने आरोपी को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि छानबीन के दौरान पुलिस ने लड़की के बाप को उसकी पिटाई के लिए दोषी पाया। कोर्ट ने आरोपी को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। अब लड़की को उसके बाप, दादा और दादी के हवाले नहीं किया जाएगा बल्कि लड़की को उसकी मां के हवाले किया जाएगा। मामले में गिरफ्तार हुए तीनों आरोपियों की आवश्यक काउंसलिंग भी की जाएगी। मामले की छानबीन चल रही है।
... और पढ़ें

नालागढ़ हत्या मामला: दोस्तों ने दिया था नशे का इंजेक्शन, तीन आरोपी गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के नालागढ़ की कश्मीरपुर पंचायत के बासोवाल सुल्तानी गांव में 22 वर्षीय युवक की मौत के मामले में तीन युवकों को गिरफ्तार किया गया है। ये तीनों मृतक युवक के दोस्त हैं। हत्या का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किए गए तीनों दोस्तों ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया है कि उन्होंने युवक को नशे का इंजेक्शन लगाया था। पुलिस अब मान रही है कि मौत का कारण नशे की ओवरडोज हो सकता है। हालांकि, पुलिस अभी पोस्टमार्टम और बिसरा रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

फिलहाल तीनों आरोपियों को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेज दिया है जबकि इनका चौथा साथी अभी तक फरार है। गुरध्यान सिंह (22) बीते रविवार रात को घर से 8:00 बजे साथ लगते गांव में शादी में गया था लेकिन लौटा नहीं। पिता भाग सिंह ने मोबाइल पर फोन किया तो स्विच ऑफ पाया गया। अगली सुबह गांव की एक महिला ने गुरध्यान का शव नाले में पड़ा देखा। महिला ने इसकी सूचना बरूणा पंचायत के प्रधान गुरपाल सिंह को दी। उन्होंने जोघों पुलिस को बुलाया और युवक का शव नाले से निकाला।

पुलिस के अनुसार गुरध्यान सिंह को शादी में इसके दोस्त होशियार सिंह, कुलदीप सिंह, पवन और काका मिले। इन युवकों ने गुरध्यान सिंह को नशे का इंजेक्शन लगा दिया। पुलिस ने होशियार सिंह, कुलदीप सिंह व पवन सिंह को गिरफ्तार कर लिया है जबकि काका अभी फरार है। डीएसपी नवदीप सिंह ने बताया कि तीनों आरोपियों को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। मृतक के मामा और बेरछा पंचायत के पूर्व प्रधान जितेंद्र ने बताया कि उनका भांजा कोई भी नशा नहीं करता था। यहां तक कि वह बीड़ी-सिगरेट भी नहीं पीता था। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन