विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

'सौतेली मां और ताया-ताई पीटते हैं, इसीलिए मैं जीना नहीं चाहता', वीडियो बनाया और कर ली आत्महत्या

सौतेली मां और ताया-ताई पर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए 24 वर्षीय युवक प्रीतपाल सिंह ने जहरीला पदार्थ निगलकर जान दे दी। मामला हरियाणा के अंबाला जिले के नारायणगढ़ का है। जहर खाने से पहले प्रीतपाल ने वीडियो बनाकर अपने मामा के पास भेजा, जो सेना में हैं और गुजरात में तैनात हैं। पुलिस ने मृतक युवक की मामी की शिकायत पर पिता, सौतेली मां बिंदर कौर, ताया सुखदेव सिंह, ताई रेनू पर केस दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी।

मृतक की मामी प्रीतम कौर पत्नी अजीत सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वार्ड नं. 11 निवासी प्रीतपाल सिंह के पिता सुखविंद्र सिंह मूल रूप से गांव पंजोडी के रहने वाले हैं। पिता ने वार्ड में ही एक कोठी बनाई थी, जिसमें प्रीतपाल सिंह रहता था। प्रीतपाल कार चलाने का काम करता था। उसके पास दो गाड़ियां थीं। पिता सुखविंद्र सिंह फ्रांस गया हुआ है और वहीं पर उसका बिजनेस है। मृतक का भाई अमेरिका में नौकरी करता है। मृतक की मां की मौत हो गई थी तो पिता सुखविंद्र ने दूसरी शादी कर ली।

दूसरी मां प्रीतपाल के साथ ही रहती थी। साथ में उसके दादा-दादी भी रहते थे। मामी ने आरोप लगाया है कि सौतेली मां की नजर सुखविंद्र की जायदाद पर थी। जायदाद में एक कोठी है, जो दोनों भाइयों के नाम पर है। इसको लेकर सौतेली मां बिंदर कौर व ताया-ताई निवासी पंजोडी प्रीतपाल को प्रताड़ित करते थे। कई बार उससे मारपीट भी की थी। सौतली मां व ताया-ताई से तंग आकर ही शनिवार को रात के समय उसने जहरीला पदार्थ खाकर जीवन लीला समाप्त कर ली।
... और पढ़ें

अंबाला में बस और कार में टक्कर, करनाल के दो युवकों की मौत, 15 लोग घायल

सोमवार रात करीब 10.30 बजे अंबाला में राष्ट्रीय राजमार्ग पर बस और कार की टक्कर में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 लोग घायल हो गए। टक्कर इतनी तेज थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। वहीं मृतकों के शव कार में फंसे रह गए। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से शवों को बाहर निकाला।

इसके बाद शवों को मोर्चरी में रखवाया गया। 
जानकारी के अनुसार करनाल के उचाना गांव निवासी रजत और राजन कार में सवार होकर चंडीगढ़ की तरफ जा रहे थे। इस दौरान शास्त्री कालोनी के पास पंजाब से आ रही राधा स्वामी सत्संग की बस से टक्कर हो गई। टक्कर के बाद गाड़ी का आगे का हिस्सा बस के नीचे आ गया जिससे उसके परखच्चे उड़ गए। 

मामले की सूचना मिलने पर 108 एम्बुलेंस और पुलिस मौके पर पहुंची। लोगों ने पुलिस के साथ कार में फंसे लोगों को बाहर निकाला लेकिन तब तक कार में सवार रजत व राजन की मौत हो चुकी थी। वहीं बस में सवार 15 लोग घायल हो गए। सभी को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पड़ाव थाना प्रभारी सुरेश कुमार ने बताया कि कार में सवार दो युवकों की मौत हो गई है, जबकि बस में सवार 15 लोग घायल हैं।
... और पढ़ें

कीचड़ में फंसी कार को निकालने गया युवक, दूसरी कार ने मारी टक्कर तीन की दर्दनाक मौत

राजपुरा-अंबाला नेशनल हाईवे पर रविवार रात एसवाईएल नहर के पास हुए हादसे में महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गई। थाना शंभू के पुलिस इंस्पेक्टर सुरिंदर सिंह ने बताया कि बीती देर रात 10 बजे के करीब सुनील मुखीजा (50) निवासी सतगुरु नगर चंडीगढ़ रोड लुधियाना अपनी रिश्तेदार सूरज कांता (50) निवासी दुर्गापूरी हैबोवाल लुधियाना के साथ कार में दिल्ली से लुधियाना वापस आ रहे थे।

 जब वह हाईवे नंबर-1 राजपुरा-अंबाला रोड पर एसवाईएल नहर के पास पहुंचे तो डायवर्जन होने के चलते उनकी कार नहीं मुड़ पाई और गाड़ी कीचड़ में जा फंसी। इस दौरान वहां से जा रहे एक राहगीर गुरप्रीत सिंह (25) निवासी गांव सूरत मनोली थाना बनूड़ ने कार में फंसे लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की। 

इसी दौरान करनाल के अज्ञात कार चालक ने अपनी कार लापरवाही से चलाते हुए कीचड़ में फंसी कार को टक्कर मार दी। कार चालक अपनी कार छोड़कर मौके से फरार हो गया। पुलिस ने मृतकों के शवों को राजपुरा सिविल अस्पताल के शव गृह में पोस्टमार्टम के लिए रखवा दिया है। हादसे में कार सवार सुनील मुखीजा, सूरज कांता और कार निकलवाने गए गुरप्रीत सिंह की मौत हो गई।
... और पढ़ें

अंबालाः पैदल घर के लिए निकले प्रवासी मजदूरों को कार ने कुचला, एक की मौत, दूसरा घायल

अंबाला-जगाधरी हाईवे स्थित छोटे खुड्डे के पास एक चौपहिया वाहन ने दो प्रवासी मजदूरों को चपेट में ले लिया। गाड़ी के नीचे कुचले जाने से बिहार के पूर्णिया निवासी अशोक ने मौके पर दम तोड़ दिया, जबकि पिंटू कुमार को नागरिक अस्पताल में प्राथमिक इलाज के बाद पीजीआई रेफर कर दिया गया। 

बताया जाता है कि इनोवा कार ने प्रवासियों को टक्कर मारी और मौके से फरार हो गया। दोनों प्रवासी मजदूर अंबाला छावनी इंद्रपुरी के रहने वाले हैं। सुबह अपने दो अन्य दोस्तों के साथ बिहार की तरफ निकले थे। 

टक्कर के बाद घटनास्थल पर मजदूरों के बैग और कपड़े बिखरे पड़े थे। पुलिस के मुताबिक मृतक अशोक शादीशुदा था और उसके 6 बच्चे है। महेश नगर थाना पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ आपराधिक धाराओं के तहत मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी। 

गनीमत रही कि हादसा होता देख दो अन्य साथी अचानक सड़क किनारे चले गए। पुलिस ने मृतक के साथी पूर्णिया के गांव भिठा टोली निवासी विनोद मंडल की शिकायत पर यह कार्रवाई की। उनका कहना था कि जल्द ही आरोपी को काबू कर लिया जाएगा। 

प्रवासी मजदूरों का शहरों से पलायन नहीं थम रहा 
लॉकडाउन में बिना कामकाज के अपने ऊपर आर्थिक संकट गहराते ही प्रवासी मजदूर अपने घरों की तरफ जाते दिखाई दे रहे हैं। रोजी-रोटी का संकट गहराने के डर से इन मजूदरों के जहन के केवल अपने परिवारों से मिलने की एक उम्मीद है। यहीं कारण है कि बिना किसी वाहन के यह पैदल ही अपने घरों की तरफ निकल रहे हैं।

ऐसे ही मजदूरों में से मंगलवार सुबह हादसे में एक की जान चली गई तो दूसरा जिंदगी और मौत से जूझ रहा है। मृतक के साथी विजय व अन्य का कहना था कि मेहनत मजदूरी कर खुद व अपने परिवार का गुजर बसर करते थे। वो बंद होने के कारण आर्थिक संकट गहरा गया है। मजबूरन उन्हें अपने घर जाना पड़ रहा है।
... और पढ़ें
घायल मजदूर को पीजीआई ले जाते लोग घायल मजदूर को पीजीआई ले जाते लोग

अंबालाः भाई के मर्डर केस में सजायाफ्ता युवक को चाकू और गंडासियों से गोदा, पैरोल पर आया था

कोरोना वायरस के चलते पैरोल पर आए कैदी पर करीब आधा दर्जन महिला व पुरूषों से तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। मामला हरियाणा के अंबाला में सामने आया। इस हमले में कैदी गंभीर रूप से घायल हो गया। उस पर चाकू और गंडासियों से वार किया गया था।

लहूलुहान हालत में उसे छावनी नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार, गुरमेज सिंह अपने बड़े भाई की हत्या के मामले में 20 साल की सजा कटा रहा था। कोरोना वायरस फैलने के चलते उसे कुछ दिन पहले पैरोल पर छोड़ा गया था।

सोमवार दोपहर गुरमेज सब्जी लेने के लिए बाहर आया तो उस पर हमला हो गया। अंबाला पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
... और पढ़ें

अंबाला: दोस्त संग सीआरपीएफ जवान गिरफ्तार, छह किलो 280 ग्राम अफीम भी बरामद

असम में तैनात सीआरपीएफ के जवान उम्मेदा राम व नीमच निवासी उसके दोस्त मुकेश को 6 किलो 280 ग्राम अफीम के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। उम्मेदा मूलरूप से राजस्थान के बीकानेर का निवासी है। सोमवार दोपहर एसटीएफ, अंबाला यूनिट ने कुरुक्षेत्र के बिड़ला मंदिर के पास उनके पिट्ठू बैग की तलाशी में नशा बरामद किया। इस दौरान जवान ने अपनी वर्दी का रुआब भी झाड़ने की कोशिश की लेकिन असफल रहा। 

आदर्श नगर थाने में एनडीपीएस एक्ट का केस दर्ज किया गया। बुधवार कोर्ट में पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा, ताकि मेन सप्लायर को पकड़ा जा सके। जानकारी के मुताबिक पुलिस एसटीएफ के पास काफी समय से सूचना थी कि सीआरपीएफ का एक जवान व नीमच का चालक नशे की तस्करी करते हैं। नजर रखी जा रही थी।

मंगलवार पता चला कि दोनों ट्रेन में अफीम लेकर निकले हैं। कुरुक्षेत्र उतरने पर यदि उनकी तलाशी ली जाए तो उन्हें रंगेहाथ पकड़ा जा सकता है। पिट्ठू बैग में रखे पॉलीथिन से करीब नौ लाख की अफीम बरामद हुई।

नीमच में पोस्टिंग के समय हुई दोस्ती फिर ऐसे चला नेटवर्क
कुछ समय पूर्व उम्मेदा की नीमच में पोस्टिंग के दौरान मुकेश से दोस्ती हुई। बातचीत के दौरान उसे पता चल गया कि मुकेश अफीम की सप्लाई करता है। मुकेश ने ऑफर दिया कि यदि दोनों मिलकर काम करें तो लाखों के बारे-न्यारे कर सकते हैं।

समझाया गया कि सैन्यकर्मी होने के कारण कोई उस पर शक भी नहीं करेगा, कोई तलाशी भी नहीं लेगा और सामान इधर से उधर करते रहेंगे। करीब पांच से छह बार वे भारी मात्रा में नशा लेकर आए। जब कोई तलाशी को पूछता तो उम्मेदा अपना आईकार्ड दिखा देता। इसलिए कभी तलाशी नहीं हुई।
... और पढ़ें

अंबालाः हत्यारोपी के घर में घुसकर तोड़फोड़ की और लगा दी आग, 8 बच्चों सहित 16 सदस्य बचे

हरियाणा के अंबाला में मृतक के परिजनों ने हत्यारोपी के घर में घुसकर तोड़फोड़ की और फिर आग लगा दी। इस हादसे में चार परिवारों के आठ बच्चों सहित 16 सदस्य बाल-बाल बच गए। खोजकीपुर निवासी विकास की चाकुओं से गोदकर हुई हत्या कर दी गई थी। इससे गुस्साए उसके परिजनों ने पुलिस की कार्यशैली को देखते हुए आक्रोश में आकर देर रात न्यू प्रीत नगर में हत्यारोपी कटोरा के घर में घुसकर जमकर तोड़फोड़ की।

गुस्साए परिजनों ने घर के सारे सामान को आग के हवाले कर दिया। वारदात के समय घर मे चार परिवारों के करीब 16 सदस्य थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दमकल विभाग को इस आगजनी की सूचना दी। सूचना मिलते ही दमकल विभाग की गाड़ी मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाने का प्रयास किया। वहीं पुलिस ने पूरे एरिया की नाकेबंदी करके सुरक्षा पुख्ता कर दी। एसएचओ विजय मौके पर टीम के साथ मौजूद रहे। देखते ही देखते पूरा एरिया पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था।

जान बचाने के लिए छत पर भागे
हत्यारोपी कटोरे की भाभी सपना और रवीना ने बताया कि रात को अचानक मुकेश और कुछ लड़के गेट का ताला तोड़कर घर मे घुस गए। उन्होंने घर के बिजली के मीटर को तोड़ दिया और मारपीट शुरू कर दी। जान बचाने के लिए महिलाएं बच्चों को लेकर छत पर पहुचीं। हंगामा होते देखकर आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस के आने के बाद सभी छत से नीचे आए।
... और पढ़ें

अंबालाः गर्भवती पत्नी के चरित्र पर शक जाहिर करते हुए पति ने फेंका तेजाब, भाभी भी झुलसी

घर में घुसकर लगाई आग
हरियाणा के अंबाला जिले के गांव अलावलपुर में पति ने अपनी ही गर्भवती पत्नी के चरित्र पर शक जाहिर करते हुए उसके ऊपर तेजाब फेंक दिया। इस घटना में पत्नी सहित उसकी भाभी भी एसिड अटैक का शिकार हो गई। दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पति द्वारा किया गया यह कृत्य ज्यादा समय तक छुपा, पुलिस ने मामले की तह तक जाने के लिए सीसीटीवी का सहारा लिया तो मामला खुल गया।

कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी पति को करनाल से गिरफ्तार कर लिया है। हादसे में 23 वर्षीय बिंदर करीब 40 प्रतिशत झुलस गई। जबकि 29 साल की सोनिया करीब 18 फीसदी झुलस गई। दोनों को गंभीर हाल में महर्षि मारकंडेश्वर अस्पताल में भर्ती करवाया गया। गनीमत यह रही कि दोनों महिलाओं का चेहरा बच गया हालांकि उनकी छाती व शरीर के अन्य हिस्से झुलस गए। अंबाला पुलिस ने इस वारदात को 24 घंटे से पहले सुलझाते हुए आरोपी को धर दबोचा। पकड़े गए आरोपी की पहचान करनाल के चार चमन निवासी अनिल हुई है।

स्टील की डोली में लेकर आया था तेजाब
आरोपी अनिल स्टील की डोली में तेजाब लेकर आया था। उसे पहले से ही पता था कि रोजाना उसकी पत्नी शाम के समय अपनी भाभी सोनिया के साथ सैर पर निकलती है। शुक्रवार शाम करीब सवा 5 बजे जैसे बिंदर सैर के लिए निकली तो मुंह पर कपड़ा ढांपकर आए अनिल ने उसके ऊपर तेजाब उड़ेल दिया। हालांकि अनिल सोनिया पर तेजाब नहीं फेंकना चाहता था लेकिन तेजाब के छींटे सोनिया के गिरेबान तक जा पहुंचे और वह भी इस वारदात में झुलस गई।
... और पढ़ें

पंजाब रोडवेज की बस खड़े ट्रक से भिड़ी, 22 यात्री हुए घायल, तीन पीजीआई चंडीगढ़ रेफर

जंडली के पास नेशनल हाईवे पर शुक्रवार सुबह दिल्ली की ओर से आ रही पंजाब रोडवेज की बस खड़े ट्रक से भिड़ गई। हादसा सुबह करीब साढ़े 5 बजे हुआ। हादसे में 6 महिलाओं समेत 22 लोग घायल हो गए। घायलों में सबसे ज्यादा हिमाचल प्रदेश के रहने वाले हैं। इसमें से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिन्हें सिविल अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। 

अधिकतर मरीजों को प्राथमिक उपचार देने के बाद छुट्टी दे दी गई। 6 मरीज सिटी सिविल अस्पताल में उपाचाराधीन हैं। हादसे के समय बस में 30 से अधिक सवारियां मौजूद थी। यात्रियों का कहना है कि इस हादसे का कारण बस चालक की लापरवाही है, क्योंकि ट्रक साइड में ही खड़ा था। यात्रियों ने बताया कि बस चालक को झपकी आ गई थी इसी कारण यह हादसा हुआ। लेकिन चालक ने इन आरोपों का खंडन करते हुए बताया कि उसने ट्रक देख लिया था। जैसे ही उसने ट्रक देखा तो ब्रेक लगाई लेकिन नहीं लगी। इसी कारण बस सीधे ट्रक में जा भिड़ी और हादसा हो गया। 

इन तीन मरीजों को किया गया पीजीआई रेफर
हादसे में घायल तीन मरीजों को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया। इसमें ड्राईवर समेत अन्य दो सवारियां है। इसमें से ड्राइवर स्वर्ण सिंह की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है। जबकि पुनीत और दालचंद की हालत भी गंभीर बताई जा रही है।

इन्हें भी आईं चोटें
44 वर्षीय अनीता हिमाचल प्रदेश, 16 वर्षीय कार्तिक हिमाचल प्रदेश, 29 वर्षीय निशांत, 31 वर्षीय हरीश खजुरी यमुनानगर, 47 वर्षीय हरि प्रसाद यूपी, 25 वर्षीय कल्पना पश्चिम बंगाल, 35 वर्षीय सनातन पश्चिम बंगाल, 45 वर्षीय रूपलाल, 46 वर्षीय सुधा यूपी , 25 वर्षीय सुशील यूपी, 48 वर्षीय सुरजीत हिमाचल प्रदेश, 45 वर्षीय सुमन दिल्ली, 34 वर्षीय गुरसेवक हिमाचल प्रदेश, 45 वर्षीय सरवन हिमाचल प्रदेश, 62 वर्षीय राकेश कुमार दिल्ली, 27 वर्षीय ओमवीर पंजाब, 21 वर्षीय अमन शर्मा हिमाचल प्रदेश, 20 वर्षीय रवि पंजाब, 50 वर्षीय मुन्नी पंजाब व रानी चोटिल हुए हैं।
... और पढ़ें

बच्चियों से करता था अश्लील हरकत, महिलाओं ने सिखाया सबक, कपड़े उतरवा बीच बाजार पीटा

मुझे माफ कर दो, गिरगिड़ाया। पैर भी पकड़े पर काली का रूप धारण कर चुकी महिलाओं ने आरोपी को नहीं बक्शा। पहले उसकी पेंट उतरवाई फिर अंतवस्र उतरवाकर उसे जैन बाजार में बीचोंबीच पीटा। एक महिला ने उसे बाल पकड़ लिए दूसरे ने लात तो तीसरी ने एक के बाद एक थप्पड़ बरसा दिए। हो भी ऐसा क्यों न आखिर तीन मासूमों के साथ इतनी अश्लील हरकत करते हुए आरोपी ने जरा भी नहीं सोचा था। 

एक-दो दिन से नहीं बल्कि जिस दिन से स्कूल सर्दियों की छुट्टियों के बाद खुले थे आरोपी उसी दिन से मासूमों के साथ अश्लील हरकते कर रहा था। इतना ही नहीं मासूम स्कूल से छुट्टी के बाद जब ट्यूशन जाती तब भी उनका पीछा करता और उनके साथ छेड़छाड़ करते हुए अश्लील हरकतें करता था। 

इस तरह बिछाया आरोपी को पकड़ने के लिए जाल
दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली बहादुर बच्ची ने अपने पिता से पूरे घटनाक्रम के बारे में बात की। बच्ची ने बताया कि पापा जब वह स्कूल जाती है तो एक लड़का अपनी पेंट उतारकर उनके साथ गंदगी हरकतें करता है। जैसे ही बच्चियों की ताई को इस बारे में पता चला तो वह सोमवार सुबह बच्चियों के पीछे-पीछे चल दी। आरोपी जैन बाजार प्याऊ के साथ सीढ़ियों पर बैठा था। बच्चियां जैसे ही वहां पहुंची तो आरोपी ने अपनी पेंट खोल दी। जैसे ही उसने पेंट खोली तो उनकी ताई ने उसे पकड़ लिया।

पहले पेंट ही उतरवाई, फिर भीड़ ने घेरा 
बच्चियों के साथ जिस अंदाज में आरोपी छेड़छाड़ करता था उसकी अंदाज में उसकी पिटाई करवाई गई। पहले उसकी पेंट पूरी तरह से उतरवाई गई। इस पर जब वह आना-कानी करने लगा तो महिलाएं बोली अब क्यों नहीं उतारता पेंट। उतार। हम देखते हैं क्या दिखाना चाहता है तू। इसके बाद जितनी भड़ास हो सकती थी उसे पीटकर महिलाओं ने उतारी। 

तेरे जैसों के कारण हुई निर्भया
महिलाओं ने आरोपी को पिटते हुए कहा कि तेरे जैसे के कारण ही एक बेटी निर्भया हुई थी। तेरे जैसों ने ही महिला डॉक्टर को जिंदा जला दिया। इसके किसी भी हाल में नहीं छोड़ेंगी। 
... और पढ़ें

मां मुकरी, छह साल की मासूम बोली- अंकल ने गलत काम किया, जज ने सुनाई 20 साल की सजा

मां तो मुकर गई, लेकिन जज के सामने छह साल की बच्ची ने अपने साथ हुई ज्यादती की पोल खोल दी, जिसके बाद आरोपी को कड़ी सजा सुनाई गई। अदालत ने पहली कक्षा की छह वर्षीय मासूम से अप्राकृतिक यौनचार के मामले में दोषी करार दिए गए सतीश को 20 साल की कैद की सजा सुनाई है।

सतीश को पोस्को में 10 और दुष्कर्म की धारा में 20 साल की कैद दी गई। उस पर 20 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया गया है। उसे नहीं भरने पर अतिरिक्त सजा काटनी होगी। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश रजनीश बंसल की कोर्ट ने शनिवार को 12 गवाहों को सुनने के बाद उसे दोषी करार दिया था। सजा पर फैसला सोमवार सुरक्षित रखा गया था।

ये घटना शहर के महिला थाने में अगस्त, 2018 को दर्ज की गई थी। सुनाई के दौरान सबसे महत्वपूर्ण पहलु यह रहा कि किसी के दबाव में आई मां बयानों से पलट गई थी, लेकिन मासूम ने अदालत के सामने अपने साथ हुई ज्यादती बयां कर दी कि अंकल ने उसके साथ ऐसा किया। बच्ची के बयानों को ही सजा का आधार बनाया गया।

घटना के बाद से ही जमानत न मिलने के कारण सतीश जेल में बंद है। दोषी को सोमवार अन्य बंदियों के साथ अदालत लाकर बक्शीखाने में रखा गया गया। दोपहर बाद अभियोजन व बचाव पक्ष ने सजा अवधि पर अपना पक्ष रखा। करीब साढ़े चार बजे सजा सुनाने के बाद उसे वापस केंद्रीय कारागार भेज दिया गया।
... और पढ़ें

अंबालाः विद्यार्थियों से भरे ऑटो को इनोवा ने मारी टक्कर, तीन बच्चे घायल, एक को लगीं ज्यादा चोटें

स्कूली विद्यार्थियों से भरे ऑटो को एक इनोवा ने टक्कर मारी दी। टक्कर लगने के बाद ऑटो पलट गया और तीन बच्चे घायल हो गए। हादसा हरियाणा के अंबाला शहर में देवी नगर में सब्जी मंडी के पास पेट्रोल पंप पर हुआ। तीनों बच्चे देवी नगर के मिडिल स्कूल में पढ़ते हैं।

तीनों बच्चों में सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली कोमल को सबसे ज्यादा चोटें आई हैं, जबकि पहली कक्षा में पढ़ने वाले दलजीत और तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली भावना को भी चोटें लगीं। बताया जा रहा है कि जिस गाड़ी ने ऑटो को टक्कर मारी, उसे अंबाला के टोल प्लाजा पर पकड़ लिया गया और गाड़ी में से शराब की बोतलें भी बरामद हुई हैं।

बच्चों के दादा चला रहे थे ऑटो
हादसे में घायल तीनों बच्चों के दादा धर्मपाल ऑओ को चला रहे थे। धर्मपाल ने बताया कि जैसे ही वह सब्जी मंडी के नजदीक पहुंचे तो तेज रफ्तार से आ रही इनोवा ने ऑटो को टक्कर मार दी। टक्कर लगने से ऑटो अनियंत्रित होकर पलट गया, हालांकि हादसे में धर्मपाल को चोट नहीं आई, लेकिन बच्चे घायल हो गए। लोगों की मदद से उन्होंने बच्चों को अंबाला शहर के नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया।

सीटीएम सहित शिक्षा विभाग के डिप्टी डीईओ मौके पर पहुंचे
हादसे की सूचना मिलते ही सिटी मजिस्ट्रेट कपिल शर्मा, डिप्टी डीईओ सुधीर कालड़ा, देवी नगर मिडिल स्कूल की मुख्य अध्यापिका राजेंद्र कौर, शिक्षक नरेंद्र और हरमीत कौर मौके पर पहुंचे और बच्चों का हालचाल जाना।
... और पढ़ें

1.46 करोड़ की धोखाधड़ी में बसपा नेता मां समेत गिरफ्तार, नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी का आरोप

कैंट विधानसभा सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके राजेश चनालिया को 1.46 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी में गिरफ्तार किया गया है। नग्गल पुलिस ने चनालिया के साथ उसकी मां कमलेश को भी काबू किया है। दोनों पर सेना की मिलेट्री इंजीनियरिंग सर्विस (एमईएस) में नौकरी दिलवाने के नाम पर छह युवकों से 64 लाख रुपये ठगने का आरोप है। दूसरी ओर कैंट थाने में भी चनालिया परिवार के खिलाफ नौकरी के नाम पर 82 लाख रुपये ठगी का मामला सामने आया है। 

यहां भी आधा दर्जन लोगों ने मां-बेटे समेत कई लोगों पर 82 लाख की धोखाधड़ी करने के आरोप लगाए हैं। जग्गी कॉलोनी के रहने वाले राम निवास ने एक महीना पहले एसपी अभिषेक जोरवाल को शिकायत देकर यह बताया था कि राजेश चनालिया उसकी मां कमलेश ने रामपाल से मिलकर उनके साथ ठगी की थी। 

रामनिवास ने बताया कि 10 साल पहले उसके मकान में रामपाल रहता था। बाद में उसने अपना मकान बना लिया था। जनवरी 2019 में रामपाल ने उसे उसके दोनों बेटों को एमईएम में क्लर्क लगवाने का झांसा दिया था। इसके लिए उसने 14 लाख रुपये की डिमांड की थी। इस पर 9 फरवरी 2019 को 50,000 फिर 22 फरवरी 2019 को 6 लाख रुपये, 2 मार्च 2019 को 1 लाख 20 रुपये, चार मार्च 2019 को 20 हजार रुपये, 7 मार्च 2019 को 55 हजार रुपये,  9 मार्च 2019 को 20 हजार रुपये, 11 मार्च 2019 को 2.5 लाख और फिर 11 मार्च 2019 को 3 लाख रुपये दिए थे। 

पीड़ित ने बताया कि इसके लिए आरोपी रामपाल और उसका पिता भाग सिंह, कमलेश व उसका बेटा राजेश चनालिया उसके घर आए थे। उस दौरान रामपाल व कमलेश ने रामनिवास को उसके बेटों की नियुक्ति सात दिन में होने की बात कही थी। फिर उसे तय समय में नियुक्ति पत्र देकर कहा कि उसके बेटों की नौकरी पक्की हो गई है। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन