विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

नोएडा एयरपोर्ट: बवाल के साथ ही पूरा हुआ जमीन अधिग्रहण

नोएडा एयरपोर्ट की जमीन पर कब्जा लेने के आखिरी दिन बवाल तो हुआ, लेकिन प्रशासन ने नोएडा एयरपोर्ट की पूरी जमीन (1334 हेक्टेयर) भी कब्जे में ले ली

28 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

गाजियाबाद

मंगलवार, 28 जनवरी 2020

दिल्ली-यूपी बॉर्डर हुए सील, मॉल्स में चला चेकिंग अभियान

दिल्ली-यूपी बॉर्डर सील मॉल्स-मेट्रो में हुई चेकिंग
साहिबाबाद। गणतंत्र दिवस पर शनिवार देर रात पूरे दिल्ली-यूपी बॉर्डर को सील कर दिया गया। साथ ही पुलिस ने बॉर्डर, मॉल्स और रेलवे स्टेशन में सघन चेकिंग अभियान चलाया। सुबह से शाम तक दिल्ली से आने वाले सभी संदिग्ध वाहनों की तलाशी ली गई। एसएसपी के निर्देश पर बॉर्डरों पर सुरक्षा चाकचौबंद रही। रात करीब 12 बजे बॉर्डर को सील किया गया। मॉल-मल्टीप्लेक्स, मेट्रो स्टेशन, बस अड्डे समेत प्रमुख स्थानों पर पुलिस की नजर रही।
यूपी गेट, महाराजपुर और ज्ञानी बॉर्डर पर सुबह से ही चेकिंग अभियान चला। इस दौरान दिल्ली से आने वाली वाहनों की जांच की गई। संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की गई। बॉर्डर पर पुलिसकर्मी हथियारों से लैस होकर तैनात रहे। दोपहर बाद महागुन मॉल, पैसिफिक मॉल, शिप्रा, ईडीएम समेत सभी मॉल्स में पुलिस ने चेकिंग की। मॉल्स के दुकानदारों को गणतंत्र दिवस पर सावधान रहने के निर्देश दिए। बस अड्डे, मेट्रो स्टेशन, प्रमुख चौराहों रेलवे स्टेशन पर पुलिस की खास नजर रही। एसएसपी ने बताया कि बॉर्डर की सुरक्षा के संबंध में पहले ही निर्देश जारी किए गए थे। देर रात तक चेकिंग अभियान जारी रहा। रात 12 बजे बॉर्डर सील कर दिए गए हैं।
रात 11 बजे से भारी वाहनों का प्रवेश बंद
गणतंत्र दिवस पर कार्यक्रम के चलते शनिवार रात से भारी मालवाहक वाहनों का दिल्ली में प्रवेश प्रतिबंध कर दिया गया। पंजाब, हरियाणा और राजस्थान जाने वाले वाहन इस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे से होकर गंतव्य को जा सकेंगे। महाराजपुर, यूपी गेट, लोनी बार्डर, अप्सरा बार्डर, सीमापुरी बार्डर समेत अन्य बार्डर पर ही भारी वाहनों को रोका गया।
आज दोपहर तक मेट्रो की पार्किंग बंद
सुरक्षा को देखते हुए 25 जनवरी की सुबह छह बजे से 26 जनवरी की दोपहर तक मेट्रो की पार्किंग को बंद कर दिया गया है। यहां पर किसी भी वाहनों को नहीं खड़ा करने दिया गया। दिल्ली के कुछ स्टेशन बंद कर दिए गए हैं। बाकी सभी स्टेशन खुले रहेंगे। चौकी इंचार्ज वैशाली ने बताया कि लगातार चेकिंग की जा रही है। पार्किंग में एक भी वाहन नहीं खड़ा होने दिया गया। वहीं, मेट्रो का संचालन सुचारू रूप से होगा। दिल्ली में कुछ मेट्रो स्टेशन को बंद रखा गया है। यहां पर मेट्रो नहीं रुकेगी।
... और पढ़ें

आज दिल्ली जाने वाले यात्रियों को हो सकती है परेशानी

ट्रेन से दिल्ली जाने वालों को आज हो सकती है परेशानी
गाजियाबाद। गणतंत्र दिवस परेड की वजह से रविवार को गाजियाबाद से दिल्ली के बीच रेल यातायात प्रभावित रहेगा। तिलक ब्रिज रेलवे स्टेशन पर सुबह 10:30 बजे से दोपहर 12 बजे तक 1:30 घंटे के लिए रेल आवागमन अस्थायी रूप से स्थगित रहेगा। गाजियाबाद-दिल्ली के बीच चलने वाली दो ईएमयू ट्रेेनें निरस्त रहेंगी। लंबी दूरी की कई ट्रेनों को गाजियाबाद और साहिबाबाद स्टेशन पर रोका जाएगा। ऐसे में रविवार को ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
रेलवे अधिकारियों के मुताबिक 26 जनवरी को 64423/64430 गाजियाबाद-नई दिल्ली-गाजियाबाद ईएमयू रद्द रहेगी। दिल्ली-नई दिल्ली-गाजियाबाद ईएमयू 64434 का रूट डायवर्ट कर दिल्ली, शाहदरा और साहिबाबाद के रास्ते चलाया जाएगा। यह ट्रेन नई दिल्ली जंक्शन नहीं जाएगी। 64428 नई दिल्ली-गाजियाबाद ईएमयू को साहिबाबाद से दिल्ली जंक्शन होकर चलाया जाएगा। वहीं 64901 कोसीकलां-गाजियाबाद ईएमयू को हजरत निजामुद्दीन-साहिबाबाद होकर चलाया जाएगा। इसके अलावा कई राजधानी एक्सप्रेस का रूट डायवर्ट किया जाएगा। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक गणतंत्र दिवस की परेड के पास होने के बाद 14258 नई दिल्ली-वाराणसी काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस को नई दिल्ली से रवाना किया जाएगा। 12033 कानपुर-नई दिल्ली शताब्दी को साहिबाबाद स्टेशन पर, 12259 सियालदह-नई दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस और 20801 पटना-नई दिल्ली मगध एक्सप्रेस को गाजियाबाद स्टेशन पर 15-15 मिनट रोककर चलाया जाएगा।
... और पढ़ें

आवासीय क्षेत्रों में भेज रहे बिल बढ़ाकर, शराब की दुकानों को राहत

आवासीय भवनों पर दोगुना टैक्स, शराब की दुकानों पर मेहरबानी
गाजियाबाद। नगर निगम आवासीय क्षेत्रों में तो हाउस टैक्स बिल बढ़ाकर भेज रहा है, लेकिन शराब की दुकानों पर मेहरबानी की जा रही है। नगर निगम ने बीते साल शराब की दुकानों और मॉडल शॉप से लाइसेंस शुल्क नहीं वसूला। निगम अधिकारियों-कर्मचारियों की लापरवाही से नगर निगम को करीब 16 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। ऑडिट विभाग ने इस पर आपत्ति लगाकर निगम अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है।
नगर निगम के कर्मचारियों ने शहर में देशी, विदेशी शराब, बीयर शॉप और मॉडल शॉप की संख्या को भी कम दर्शाया है, जबकि आबकारी विभाग के आंकड़ों में दुकानों की संख्या कहीं ज्यादा है। निगम सूत्रों की मानें तो मॉडल शॉप, शराब ठेकों से ‘अंडर द टेबल’ वसूली की जा रही है। ऐसे में यह रकम नगर निगम के सरकारी कोष में जाने की बजाय कर्मचारियों की जेेब में जा रही है। नगर निगम देशी शराब के प्रत्येक ठेके से सालाना 6 हजार रुपये लाइसेंस शुल्क जमा कराता है। विदेशी शराब ठेके से 12 हजार, बीयर शॉप से 6 हजार और मॉडल शॉप से 12 हजार रुपये लाइसेंस शुल्क जमा कराया जाता है। नगर निगम के कर्मचारियों ने दुकानों की संख्या के आंकड़ों को ही कम दर्शाया है।
रिपोर्ट के मुताबिक नगर निगम सीमा क्षेत्र में 109 देशी शराब ठेके, 71 विदेशी शराब ठेके, 72 बीयर शॉप और 44 मॉडल शॉप हैं। नगर निगम ने सिर्फ 63 देशी शराब ठेके, 20 विदेशी शराब ठेके, 31 बीयर शॉप और 6 मॉडल शॉप से ही लाइसेंस शुल्क वसूला है। यानी शहर में शराब के कारोबार से जुड़े 296 प्रतिष्ठानों से लाइसेंस शुल्क वसूला जाना था, लेकिन नगर निगम ने महज 120 प्रतिष्ठानों से वसूली की। 176 ठेके और मॉडल शॉप का लाइसेंस शुल्क या तो नगर निगम वसूल नहीं रहा है या फिर इसमें खेल किया जा रहा है। अब ऑडिट विभाग ने यह मामला पकड़ा है और नगर निगम से इस पर जवाब मांगा है।
... और पढ़ें

गौरव चंदेल हत्याकांड: आरोपी उमेश ने बताया बड़ा सच, मसूरी से पहले तीन दिन यहां खड़ी की थी कार

gaurav chandel gaurav chandel

महामाया में बैडमिंटन प्रतियोगिता का समापन

एकल में राकेश, संजय और सरकार बने विजेता
गाजियाबाद। महामाया स्पोर्ट्स स्टेडियम में चल रही यूपी स्टेट मास्टर्स बैडमिंटन चैंपियनशिप में समापन रविवार को हुआ। समारोह में प्रतियोगिता के दूसरे चरण के विजेताओं को सम्मानित किया गया। इसमें 55 प्लस वर्ग में कानपुर के राकेश सिंह विजेता और आरएन सरकार उपविजेता रहे। 60 प्लस वर्ग में गोरखपुर के संजय चैंपियन रहे। 65 प्लस में आगरा के एचएस सरकार ने मथुरा के वीके कंसल को हराया। 60 के डबल्स में गुरचरन सिंह और पंकज गुप्ता की जोड़ी ने बाजी मारी। 65 आयु वर्ग के डबल्स में सुधीर गोयल व सुरेंद्र त्यागी विजयी रहे।
विजेताओं को मुख्य अतिथि ललित जायसवाल ने सम्मानित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता यूपीबीए के उपाध्यक्ष अंजुल अग्रवाल ने की। इस मौके पर जीडी बारीकी, अमित शर्मा, मधु अवस्थी, हिमांशु गोयल, अरविंद चौधरी, सुभाष पांचाल, अनुज भास्कर, सुमित शर्मा, जीबीए अध्यक्ष गोविंद सिंह, जीबीए सचिव नरेंद्र शर्मा आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

डूडा की कालोनियां नगर निगम को होंगी हैंडओवर

डूडा की कालोनियां नगर निगम को होंगी हैंडओवर
गाजियाबाद। अर्थला और डूंडाहेड़ा में केंद्र सरकार की आईएचएसडीपी योजना के तहत बनाए गए मकान नगर निगम को हैंडओवर होंगे। इनके अलावा फरीदनगर और डासना में बनाए गए मकानों को नगर पंचायतों को सौंपा जाएगा। इसके लिए डूडा ने डीएम को प्रस्ताव बनाकर भेजा है।
डीएम अजय शंकर पांडेय ने इसके लिए एक कमेटी का गठन किया है। कमेटी में अपर नगर मजिस्ट्रेट, नगर निगम के अधिशासी अभियंता, अवर अभियंता, डासना और फरीदनगर के अधिशासी अधिकारी व अवर अभियंता और राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक शामिल हैं। डीएम ने इस कमेटी को संबंधित आवासीय परियोजनाओं का डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) के अनुसार परीक्षण कराकर उनका हस्तांतरण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने हस्तांतरण के बाद इसके संबंध में रिपोर्ट भी मांगी है। बता दें कि डूडा ने आईएचएसडीपी (इंटीग्रेटेड हाउसिंग स्लम डेवलपमेंट प्रोग्राम) के तहत दो कमरों के करीब एक हजार मकान बनाकर लोगों को दिए हैं। इनका आवंटन कई वर्ष पूर्व डूडा के माध्यम से कराया गया था। अब इन कालोनियों के रखरखाव का जिम्मा नगर निगम और संबंधित नगर निकायों को दिए जाने की तैयारी की जा रही है।
... और पढ़ें

पांचवीं के छात्र को लगी चोट, अभिभावकों ने किया हंगामा

पांचवीं के छात्र को लगी चोट, अभिभावकों ने किया हंगामा
मसूरी। गोविंदपुरम एक्सटेंशन के कल्लूगढ़ी पाइप लाइन रोड पर स्थित रेडिकॉन पब्लिक स्कूल में सोमवार को पांचवीं के छात्र के चोट लगने से अभिभावकों ने जमकर हंगामा किया। छात्र के पिता ने चोट लगने के बाद स्कूल प्रबंधन पर छात्र का समय से इलाज नहीं कराने का आरोप लगाया है। बाद में उपचार के बाद बच्चे को घर भेज दिया गया है।
थाना मसूरी के गांव इकला निवासी टीकम नागर का पुत्र मनु नागर रेडिकॉन स्कूल में पांचवीं का छात्र है। सोमवार सुबह करीब नौ बजे शौचालय जाते समय उसका पैर फिसलने से बांए हाथ और सीने में चोट लग गई। बच्चे के पिता का आरोप है कि बच्चे के अधिक रोने के दो घंटे बाद स्कूल ने घटना की सूचना दी। उनके पहुंचने तक बच्चे का इलाज नहीं कराया गया था। उन्होंने स्कूल प्रिंसिपल पर भी अभिभावकों के साथ अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया है। अभिभावकों ने चेतावनी देते हुए कहा कि स्कूल का गलत व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ डीएम से शिकायत करेंगे। न्याय न मिलने पर स्कूल गेट पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में टीकम नागर के साथ जिला पंचायत सदस्य सीने प्रधान, आनंद चौधरी, नितिन नागर, आलम खां, शमशाद अली, करतार प्रधान, विजयपाल मुखिया, कल्याण, आनंद नागर, विजयपाल, सतीश शर्मा सहित आदि लोग उपस्थित रहे।
सूचना पर देर से पहुंचे अभिभावक
स्कूल ट्रांसपोर्ट इंचार्ज अनिल यादव का कहना है कि चोट लगने पर सबसे पहले अभिभावकों को सूचित किया गया था। अभिभावक काफी देर से स्कूल पहुंचे। अभिभावकों ने आते ही हंगामा शुरू कर दिया। बाद में स्कूल प्रबंधन के समझाने के बाद मामला शांत हुआ। छात्र को परिजनों ने उपचार के लिए शिवालिक अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां डाक्टर ने छात्र के हाथ और सीने में चोट लगने से दर्द की शिकायत बताई गई है। ईलाज के बाद छात्र को घर भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

बड़ों के साथ छोटे बकाएदार जीडीए के निशाने पर

बड़ों के साथ छोटे बकाएदार जीडीए के निशाने पर
गाजियाबाद। संपत्ति का बकाया जमा नहीं करने वालों के खिलाफ जीडीए का वसूली अभियान जारी है। जीडीए ने बड़े बकाएदारों के साथ अब छोटे बकाएदारों के खिलाफ कार्रवाई को कार्ययोजना पर काम शुरू कर दिया है। 10 लाख से कम वाले छोटे बकाएदारों से वसूली का अभियान तेज होगा।
जीडीए उपाध्यक्ष ने सभी प्रवर्तन प्रभारियों को वसूली प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। नए छोटे बकाएदारों की जोनवार सूची तैयार होने के बाद फिर प्राधिकरण नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है। इससे पहले प्राधिकरण के निशाने पर 20 लाख से ऊपर के करीब 50 बकाएदार थे। कई बकाएदारों को नोटिस जारी करने के साथ वसूली की कार्रवाई जारी है। एक सप्ताह पहले जीडीए ने एक शैक्षिक संस्थान से करीब 40 लाख की वसूली की थी। ऐसे में अब बड़ों के साथ छोटे बकाएदार भी निशाने पर आ गए हैं। बीते सप्ताह हुई समीक्षा बैठक में जीडीए उपाध्यक्ष ने सभी प्रवर्तन प्रभारियों को वसूली प्रक्रिया में तेजी लाने के आदेश दिए हैं। बड़े बकाएदारों के साथ 10 लाख से कम बकाए वाले करीब 2500 अन्य बकाएदारों को चिह्नित किया है। जीडीए सचिव संतोष कुमार राय ने बताया कि सभी प्रवर्तन जोन प्रभारियों को बकाया वसूली प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

टैक्स रिटर्न में हेराफेरी पर दो हजार लोगों को नोटिस

टैक्स चोरी पर दो हजार लोगों व संस्थाओं को आयकर क ा नोटिस
गाजियाबाद। कागजों में हेराफेरी कर खरीदी-बिक्री को कम दिखाने व टीडीएस जमा न करने वालों पर आयकर विभाग शिकंजा कसने जा रहा है। पश्चिमी यूपी के 16 जिलों में दो हजार लोगों के साथ सरकारी व गैरसरकारी संस्थाओं को नोटिस जारी किया गया है। उन्हें 15 दिन में टीडीएस जमा करने व जांच के लिए कागज मुहैया कराने को कहा गया है। उधर, चार हजार से अधिक नए नोटिस भी जारी किए जाने की तैयारी है। आयकर विभाग की टीडीएस इकाई कुछ नए मामलों की भी जांच तक रही है। ये सभी वह संस्थाएं व विभाग हैं जिन्होंने बीते वर्ष के मुकाबले अपना टर्नओवर कम दिखाया है। या फिर कागजों में हेराफेरी की है। कार्रवाई के बीच आयकर विभाग ने टीडीएस में हेराफेरी करने वाले अधिकारियों पर फौजदारी तक का मुकदमा दर्ज करने की बात कही है। उधर, अब कलक्ट्रेट की ट्रेजरी, एसएसपी व नगर निकाय समेत अथॉरिटी भी आयकर विभाग के निशाने पर हैं।
चालू वित्तीय वर्ष में आयकर विभाग का टीडीएस के तौर पर 16 जिलों से 5438 करोड़ रुपया जमा करने का लक्ष्य है, जिसमें से अभी तक करीब 3800 करोड़ रुपया जमा हुआ है। अब विभाग को लगता है कि मौजूदा रिकवरी के हिसाब से लक्ष्य को हासिल करना संभव नहीं है। जब मामले की विस्तृत से जांच की गई तो पता चलता कि बीते वर्ष जिन संस्थाओं, फर्म व कंपनियों का 50 करोड़ तक का टर्नओवर था उन्होंने इस वर्ष अभी तक आधा भी टर्नओवर नहीं दिखाया है। जबकि उन कंपनियों व संस्थाओं की न ही श्रमशक्ति कम हुई है और नहीं उत्पादन क्षमता। पहले चरण में जांच के बाद दो हजार लोगों, संस्थाएं व विभाग निकाले गए हैं, जिन्होंने अपना टर्नओवर कम दिखाकर सीमित भुगतान किया। अब विभाग ने नोटिस जारी कर उनसे पूछा कि उन्होंने कब कितनी सामान व सेवा खरीदी और उसके बदले कितना भुगतान किया गया। हर महीने वार उसका ब्यौरा मांगा गया है। संयुक्त आयुक्त आयुक्त स्मिता सिंह ने बताया है कि प्रारंभिक जांच में देखा गया है कि संस्थाओं की किसी भी स्तर पर क्षमता कम नहीं हुई है लेकिन उसके बाद भी टीडीएस का भुगतान सीमित कर दिया गया है। नियम कहता है कि हर भुगतान पर टीडीएस काटे जाने के बाद आयकर विभाग के पास जमा होना चाहिए लेकिन विभाग काट कर अपने पास रोके बैठे रहते हैं।
आहरण वितरण अधिकारी होंगे जिम्मेदार
आयकर विभाग ने स्पष्ट किया है कि सरकारी विभागों में बैठे आहरण वितरण अधिकारी खेल कर रहे हैं। प्रति माह हर भुगतान पर टीडीएस काटा जा रहा है और उस किसी निजी बैंक खाते में जमा कराया जाता है। फिर साल के अंत में हमारे पास जमा कराया जाता है। अब 11 महीने निजी बैंक में टीडीएस का काटा गया पैसा जमा रहता है। सूत्र बताते हैं कि आयकर विभाग को आशंका है कि निजी बैंक 11 महीने के ब्याज के अतिरिक्त भी अधिकारियों को दो नंबर में कुछ पैसा देते हैं, ताकि बैंक के पास पैसा रुका रहे। इस मामले में भी आयकर विभाग जांच कर रहा है और संबंधित विभाग के आहरण वितरण अधिकारियों को जवाबदेही तय कर कार्रवाई की तैयारी में है विभाग ने स्पष्ट किया है कि आहरण वितरण अधिकारियों का मोटा खेल है, जिस पर अब फौजदारी का मुकदमा दर्ज करने तक की कार्रवाई की जाएगी।
ग्राम पंचायत तक पर अब आयकर की नजर
निकायों के साथ अब आयकर की नजर ग्राम पंचायतों तक पर भी है। विभाग ने स्पष्ट किया है कि पंचायतों में करोड़ों रुपये की खरीदी हो रही है लेकिन वहां पर टीडीएस काट कर जमा नहीं कराया जा रहा। नियम के तहत 281 का चालान ग्राम पंचायत को खर्च पर भरना चाहिए जो नहीं भरा जा रहा है।
... और पढ़ें

अब गाड़ी आवंटित कराकर रिश्तेदार को दी तो जाएगी नौकरी

निगम की गाड़ी आवंटित कराकर रिश्तेदारों को दी तो जाएगी नौकरी
गाजियाबाद। नगर निगम के कूड़ा वाहन आवंटित कराकर रिश्तेदारों के हाथ में दिए तो अब कर्मचारियों की नौकरी जाएगी। रविवार को मुरादनगर क्षेत्र में निगम के वाहन से बाइक सवार की हुई मौत के बाद निगम अधिकारियों ने सख्ती कर दी है। दुर्घटनाग्रस्त हुए इस वाहन को निगम के चालक ने अपने भाई को सौंप रखा था।
नगर निगम ने कूड़ा सेनिटरी लैंड फिल साइट तक पहुंचाने के लिए बड़े वाहनों को भी तैनात किया हुआ है। इन वाहनों को नगर निगम ने जिन चालकों को आवंटित किया हुआ है, उन्होंने अपने रिश्तेदारों या परिचितों को अवैध रूप से वाहन सौंप दिए हैं और खुद घर पर रहते हैं। रविवार को नगर निगम के ट्रक माउंटेड आरसी (रिफ्यूज कांपेक्टर) ने मुरादनगर थाना क्षेत्र में एक बाइक सवार को टक्कर मार दी थी। इसमें सरधना निवासी युवक की मौत हो गई थी। स्थानीय लोगों ने वाहन चालक को मौके पर ही धरदबोचा और पुलिस को सौैंप दिया था। इसके बाद खुलासा हुआ कि जिस ड्राइवर को नगर निगम ने यह वाहन आवंटित किया था, उसने अपने भाई को ड्यूटी पर भेज दिया था। इस हादसे के बाद नगर निगम ऐसे मामलों पर रोक लगाने के लिए सख्ती कर दी है।
नगर निगम के वाहनों पर जिन ड्राइवरों को तैनात किया गया है, अगर उन्होंने किसी परिचित या रिश्तेदार के हाथ में वाहन दिए तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसे ड्राइवरों की सेवाएं समाप्त कर उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। - प्रमोद कुमार, अपर नगरायुक्त
... और पढ़ें

देश में गाजियाबाद फिर नंबर वन, एक्यूआई 400

फिर बेहद खतरनाक जोन में शहर का प्रदूषण स्तर
साहिबाबाद। आसमान में धूप खिलने के बाद सोमवार को मौसम का मिजाज फिर बदल गया। आलम ये रहा कि सुबह बूंदाबांदी से सर्दी बढ़ गई। वहीं, प्रदूषण ने एक बार फिर लोगों की चिंता बढ़ा दी हैं। सोमवार को गाजियाबाद 400 एक्यूआई के साथ देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा। नोएडा का एक्यूआई 368 रहा। जिले में लोनी स्टेशन की सबसे खराब स्थिति दर्ज की गई। यहां पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 429 दर्ज हुआ, जबकि इंरिापुरम का एक्यूआई 411 के साथ रेड जोन में रहा।
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों को देखे तो गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक 400 पर रहा। नोएडा 368 एक्यूआई के साथ रेड जोन में रहा। यहां पर पीएम 10 मानक से तीन गुना और पीएम 2.5 चार गुना ज्यादा दर्ज हुआ। नोएडा के बाद कानपुर में वायु गुणवत्ता सूचकांक 358 पर तीसरे स्थान पर और ग्रेटर नोएडा में एक्यूआई 350 पर प्राप्त हुआ। इनके अलावा देश की राजधानी दिल्ली को देखे तो वहां पर वायु गुणवत्ता 345 के साथ पांचवें स्थान पर दर्ज हुआ। उधर, नगर निगम की ओर से प्रदूषण में कमी लाने के लिए लगातार स्प्रिंकलर से पानी का छिड़काव कराया जा रहा है, जबकि जीडीए भी इंदिरापुरम की ग्रीन बेल्ट, स्वर्ण जयंती पार्क, अहिंसाखंड और अन्य जगहों पर टैंकरों से पानी छिड़काव करा रहा है।
... और पढ़ें

गौरव चंदेल हत्याकांड: आरोपी उमेश ने दरोगा की रिवाल्वर लूटकर भागने का किया प्रयास, पुलिस ने मारी गोली

ग्रेटर नोएडा के बहुचर्चित गौरव चंदेल हत्याकांड मामले में गिरफ्तार आरोपी ने सपनावत के पास देर रात एक दरोगा की रिवाल्वर लूटकर भागने का प्रयास किया। पुलिस ने उसका पीछा किया तो आरोपी ने पुलिस पर ही गोली चला दी। पुलिस द्वारा की गई जवाबी फायरिंग में आरोपी गंभीर रूप से घायल हो गया।

यह पूरी वारदात उस वक्त हुई जब आरोपी उमेश को गिरफ्तार करने के बाद हापुड़ पुलिस लाइन ले जाया जा रहा था। उमेश को रविवार दिन में हापुड़ के धौलाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था। हापुड़ पुलिस को उसके पास से एक पिस्टल भी बरामद हुई है। हापुड़ पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिस प्रवक्ता ने बताया है कि इस पूरे मामले में पुलिस अधीक्षक आज दिन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर खुलासा करेंगे।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उमेश बुलंदशहर के रायपुर का रहने वाला है और वह मिर्ची गैंग का सदस्य है। इस गैंग का सरगना आशू है। मिर्ची गैंग ने ही कुछ माह पहले भाजपा नेता राकेश वर्मा की हत्या की थी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us