विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

सिद्धार्थनगर

शनिवार, 18 जनवरी 2020

संदिग्ध परिस्थितियों में सगी बहनों ने खाया जहर, मौत

फोटो कैप्सन-18एसडीएन80पी-सगी बहनों के जहर खाने की सूचना पाकर बेंवा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंची डुमरियागंज पुलिस।

संदिग्ध परिस्थितियों में सगी बहनों की मौत
- जहर खाने से मौत की जताई जा रही है आशंका
- रविवार रात घर से लापता हुई थीं, सोमवार को खुद ही लौट आई थीं
- नगर पंचायत के बेदौलागढ़ चौराहे का है मामला

अमर उजाला ब्यूरो
डुमरियागंज (सिद्धार्थनगर)। दो सगी बहनें रविवार की रात अचानक घर से लापता हो गईं। सूचना पर पुलिस ने तलाश शुरू की, लेकिन सोमवार सुबह वे खुद ही वापस आ गईं। मंगलवार सुबह चाय-नाश्ते के बाद दोनों की तबीयत बिगड़ी गई। परिजन उन्हें अस्पताल ले गए, जहां दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जहर खाने से दोनों बहनों की मौत की आशंका जताई जा रही है।
डुमरियागंज नगर पंचायत के बैदौलागढ़ चौराहा निवासी विजय बहादुर साहनी की बड़ी बेटी अनीषा (18) और छोटी बेटी मनीषा (17) रविवार की रात घर से लापता हो गई थीं। परिजनों की सूचना पर पुलिस ने दोनों की तलाश शुरू की, लेकिन सोमवार सुबह करीब 10 बजे दोनों बहनें खुद ही घर वापस आ गईं। मंगलवार सुबह दोनों ने परिजनों के साथ चाय-नाश्ते किया और अपने काम में जुट गईं। करीब 11 बजे मनीषा की तबीयत बिगड़ने लगी। परिजन उसे बेंवा सीएचसी ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कुछ देर बाद अनीषा का भी तबीयत बिगड़ गई। परिजन उसे भी लेकर अस्पताल पहुंचे, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों बहनों का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया है। डुमरियागंज इंस्पेक्टर केडी सिंह ने बताया कि दोनों किसी बात पर नाराज होकर घर से चली गई थीं और दूसरे दिन खुद ही लौट आई थीं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।
... और पढ़ें

बाइक से बकरी हो गई घायल दो पक्षों में पथराव, 15 जख्मी

बिस्कोहर। त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत मुड़िला मिश्र गांव के टोला सेमरा डिहवा में मंगलवार सुबह एक बकरी बाइक की चपेट में आकर घायल हो गई। इसे लेकर दो पक्षों में पथराव हुआ और 15 लोग घायल हो गए। घटना के बाद तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस बल तैनात कर दी गई है।

सेमरा ड़िहवा निवासी शब्बीर की पत्नी शाबिरा दरवाजे पर बकरी बांध रखी थी। रस्सी बड़ा होने के कारण बकरी सड़क के दूसरे ओर जा बैठी। इसी बीच मोहल्ले के अकरम अपने रिश्तेदार रमजान को बैठा कर बाइक से गुजरे तो बाइक में रस्सी फंस गई बकरी घायल हो गई। देखते ही देखते दोनों पक्षों में शुरू हुई कहासुनी मारपीट में बदल गई। दोनों ओर से ईंट- पत्थर और लाठी डंडे चले। इसमें एक पक्ष के शब्बीर (40), शाबिरा (33), शाबिर (26), इजहार (17), इकरार (16) आदि और दूसरे पक्ष के मो. उमर (45), इम्तियाज (40), अजीजुन (48) आदि घायल हो गए। बीच बचाव करने पहुंचे गांव निवासी कुतबुल्लाह (38) भी घायल हो गए। सूचना पर बिस्कोहर चौकी के प्रभारी इंचार्ज रामप्रभा सिंह मय फोर्स पहुंचे और घायल इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भनवापुर ले गए। एसओ विजय कुमार दुबे ने बताया कि दोनों पक्षों की ओर से तहरीर मिली है। मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
... और पढ़ें

महंथ के विवाद को लेकर विधायक के भाई और ग्रामीण आमने सामने

फोटो
विधायक और ग्रामीणों के साथ देर रात तक चलती रही पंचायत
ग्रामीणों का आरोप, महंत पद पर कब्जा करना चाहते हैं विधायक के भाई
विधायक के भाई ने सदर थाने में दी तहरीर, सिहेंश्वरी मंदिर का मामला
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। सिहेंश्वरी मंदिर के महंत पद को लेकर विवाद गहराता चला जा रहा है। मंगलवार को इस मुद्दे को लेकर विधायक के भाई शिव प्रताप दास और थरौली गांव के ग्रामीण आमने-सामने आ गए। ग्रामीणों का आरोप है कि विधायक के भाई मंदिर में लगा ताला तोड़ना चाहते थे। इसका जब उन्होंने विरोध किया तो मारपीट की नौबत आ गई। सूचना मिलने पर एसडीएम सीओ सहित सदर थाना की पुलिस और कपिलवस्तु विधायक श्यामधनी राही भी पहुंच गए। समाचार लिखे जाने तक प्रशासन के सामने दोनों पक्षों में पंचायत चल रही थी।
सिहेंश्वरी मंदिर के महंत अधिकारी दास बुजुर्ग हो चुके हैं। थरौली गांव के लोगों का कहना हैै कि अधिकारी दास अयोध्या के एक बाबा को महंत घोषित कर चुके हैं, जो मौजूदा समय में मंदिर में रहते हैं, लेकिन विधायक के भाई शिव प्रताप दास महंत पद पर कब्जा करना चाहते हैं। मंगलवार को वह मंदिर के कमरों में लगे ताले तोड़ने लगे। साथ ही मंदिर में चढ़ा दान भी उठाने लगे। इस पर ग्रामीण नाराज हो गए। देखते ही देखते मामला मारपीट में बदल गया। आसपास के लोगों ने इसकी सूचना सदर पुलिस को दी। पुलिस ने किसी तरह लोगों को शांत कराया। साथ ही वार्ता के लिए दोनों पक्षों को बुलाया।
कपिलवस्तु विधायक श्याम धनी राही, एसडीएम सदर उमेश चंद्र निगम, सीओ सदर सुनील कुमार सिंह, सेवानिवृत्त प्रोफेसर प्रो. सुरेंद्र मिश्रा समेत तमाम ग्रामीण बातचीत करने पहुंचे। विधायक के भाई शिव प्रताप दास ने सदर पुलिस को मारपीट मामले की तहरीर भी दी। साथ ही दोनों पक्षों में पंचायत भी चल रही थी। विधायक श्याम धनी राही ने कहा कि संत किसी का भाई नहीं होता। अधिकारी पहले ही लिखकर महंत का पद शिवप्रताप को दे चुके हैं। फिलहाल वार्ता चल रही है।
... और पढ़ें

नाबालिग से कुकर्म के दोषी को आजीवन कारावास, पॉक्सो एक्ट कोर्ट ने सुनाई सजा

अपर सत्र न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट राम चंद्र यादव-प्रथम ने सोमवार को एक नाबालिग से कुकर्म के मामले में दोषी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

न्यायाधीश ने दोषी पर 20 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। डुमरियागंज थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी द्वारा पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया था कि 29 जून 2018 की रात को उसके गांव में एक कार्यक्रम के दौरान गांव के एक युवक ने उसके सात वर्षीय पुत्र के साथ कुकर्म किया था।

पुलिस ने मामले में केस दर्ज करने के साथ ही जांच करके न्यायालय में चार्जशीट दाखिल कर दी थी। मामले में सुनवाई करते हुए अपर सत्र न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट राम चंद्र यादव-प्रथम ने सोमवार को दोषी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही दोषी पर 20 हजार रुपये अर्थदंड भी लगाया है। इस मामले में न्यायालय में पीड़ित के तरफ से विशेष लोक अभियोजक पॉक्सो कोर्ट पवन कुमार कर पाठक ने पक्ष रखा था।
... और पढ़ें
court order court order

नेपाल पुलिस के हत्थे चढ़े 122 चीनी नागरिक, यहां रहकर चीन में कर रहे थे गैरकानूनी काम

नेपाल में रहते हुए चीन में साइबर क्राइम की वारदातों को अंजाम देने के आरोप में 122 चीनी नागरिकों को काठमांडू महानगरीय पुलिस ने अलग-अलग जगहों से हिरासत में लिया है। काठमांडो-महानगरीय पुलिस की संयुक्त टीम ने ये छापामारी नेपाल के भ्याली इलाके में अलग-अलग जगह पर की।

नेपाल पुलिस के केन्द्रीय अनुसन्धान ब्यूरो (सीआईबी) के  प्रमुख डीआईजी नीरज शाही ने पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस  मुख्यालय से प्राप्त सूचना के आधार पर तीन टीमों ने इस संयुक्त ऑपरेशन को अंजाम देकर 122 चीनी नागरिकों को पकड़ा।

सीआईबी, महानगरीय पुलिस और अपराध महाशाखा ने चीनी नागरिकों को किस जुर्म में पकड़ा, फिल्हाल इस बात की पक्की पुष्टि नहीं हो पाई है, लेकिन पुलिस के सूत्र बताते हैं कि सूचना मिली थी कि चीनी नागरिक काठमांडू में अलग-अलग जगह पर किराये पर मकान लेकर उसमें आफिस बनाकर इंटरनेट के माध्यम से चीन में साइबर क्राइम की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।
... और पढ़ें

दुष्कर्म के बाद दरिंदगी: गोरखपुर में भी हुए थे उन्नाव जैसे 5 कांड, एक ने बेटी का सिर धड़ काटा

वो मरना नहीं चाहती थी। भाई से आखिरी बार कहा था कि जिन्होंने मेरी ऐसी हालत की है उन्हें छोड़ना मत। 90 फीसदी जल चुकी उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर पूरे देश में शोक की लहर है। हर कोई हैदराबाद की तरह उन्नाव कांड की पीड़िता को भी न्याय दिलाने के लिए सड़कों पर उतर आया है। उन्नाव केस की तरह दुष्कर्म पीड़िताओं के साथ दरिंदगी के मामले पहले गोरखपुर मंडल में भी सामने आ चुके हैं।
ताजा मामला गोरखपुर के गोला इलाके में इसी साल अगस्त में सामने आया था, जब हैवान बने पिता ने मर्यादा की सारी हदें पार कर दीं। बेटी के साथ दुष्कर्म किया, फिर गला दबाकर हत्या की और बेटी के सिर और धड़ को अलग कर दिया। इसके बाद भी हैवानियत नहीं छोड़ी और बेटी की लाश से दुष्कर्म किया। ये अकेला केस नहीं, मंडल में और भी सामने आए हैं ऐसे मामले...
... और पढ़ें

यूपी: ससुर ने किया दुष्कर्म, ससुराल वाले बोले- चुप रहो

साल भर से ससुर छेड़खानी कर रहा था। विरोध किया तो प्रताड़ना मिली। घर वालों से कहा तो चुप रहने, सहने को कहा गया। एक दिन तो हद ही हो गई, ससुर ने चाकू से डराकर दुष्कर्म किया और जब आवाज उठाई तो मार-पीटकर ससुराल से निकाल दिया गया। यही नहीं, पिता के साथ जब शिकायत करने थाने पहुंची तो छेड़खानी की तहरीर मांगी गई। यह पीड़ा है कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की युवती की।

एसपी को शिकायती पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग करने वाली युवती के मुताबिक दो मई 2018 को उसकी शादी कोतवाली क्षेत्र के ही एक गांव निवासी एक युवक के साथ हुई थी। जब वह ससुराल पहुंची तो पति के सामने ही ससुर ने छेड़खानी शुरू कर दी।

इस बारे में जब ससुराल के लोगों से कहा तो उन्होंने चुप रहने की नसीहत दी। यह सिलसिला 15 दिन चला। इसके बाद आजिज आकर मायके चली आई। दो माह बाद फिर ससुराल गई तो ससुर ने अश्लील हरकतें शुरू कर दीं। इस बारे में पति, सास, देवर को बताया तो उन्होंने जो हो रहा है उसे जायज ठहराया। उन्होंने आवाज उठाने पर मारने तक की धमकी दी और कहा कि अगर रहना है तो सहो नहीं तो चली जाओ।

बकौल युवती, आठ जुलाई 2019 की रात 11 बजे ससुर मेरे कमरे में घुस आया। हाथ पकड़ने लगा और जब विरोध किया तो चाकू से आतंकित कर मेरे साथ दुष्कर्म किया। सुबह परिवार के सदस्यों और पति को इसकी जानकारी दी तो सभी ने मुंह खोलने से मना किया। विरोध करने पर मार-पीटकर घर से निकाल दिया। धमकी भी दी कि अगर किसी से कुछ कहा तो जान से मार देंगे।

युवती का आरोप है कि वह इस मामले को लेकर बांसी कोतवाली और महिला थाने भी गई, लेकिन वहां छेड़खानी की तहरीर मांगी गई। इस संबंध में एसपी डॉ. धर्मबीर सिंह ने बताया कि अभी तक मामला संज्ञान में नहीं आया है। अगर ऐसा है तो एसओ को भेजकर उचित कार्रवाई की जाएगी। किसी भी हाल में दोषी बक्शे नहीं जाएंगे।
... और पढ़ें

ईवीएम प्रकरण में स्वास्थ्य कर्मी की संलिप्तता, निलंबन की संस्तुति

दुष्कर्म
ईवीएम प्रकरण में स्वास्थ्य कर्मी की संलिप्तता, निलंबन की संस्तुति
एसडीएम सदर की जांच रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई
अमर उजाला ब्यूरो
सिद्धार्थनगर। लोकसभा सामान्य निर्वाचन का मतदान सकुशल होने के बाद ईवीएम मशीन बदले जाने को लेकर हुए हंगामे में स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मचारी की संलिप्तता सामने आई है। एसडीएम सदर की रिपोर्ट पर सीएमओ ने प्रथम दृष्टया आरोप सही मानते हुए मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को पत्र भेजकर संबंधित कर्मचारी के निलंबन की संसतुति की है।
जिलाधिकारी को भेजे रिपोर्ट में उपजिलाधिकारी सदर उमेश चन्द्र निगम ने बताया है कि ईवीएम मशीन मतगणना के लिए नवीन मंडी नौगढ़ परिसर में रखी गई थी। वहां पर अप्रयुक्त ईवीएम मशीनें अलग से रखी गयी थी। जिसको कलेक्ट्रेट में स्थित ईवीएम गोदाम पर ले जाने को लेकर गठबंधन व कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अलावा अन्य पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा 14 मई 2019 को धरना देने के साथ प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गयी थी। धरना व नारेबाजी में मुख्य चिकित्साधिकारी के अधीन उसमान अली निवासी ग्राम मदरहना सिद्धार्थनगर भी शामिल था। उसमान पीएमडीटी टीबी एचआईवी समन्वयक के रूप में जिला क्षय रोग अस्पताल में 2010 से संविदा कर्मी के रूप में कार्यरत है। कर्मचारी का आचरण आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन एवं कर्मचारी आचरण नियमावली के विरुद्ध है। साक्ष्य के रूप में वीडियो क्लीप भी मुहैय्या कराया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. आरके मिश्र ने मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को पत्र भेजकर संबंधित कर्मचारी के निलंबन की संस्तुति की है।
... और पढ़ें

समय से राशन न उठाने पर 12 कोटेदारों पर जुर्माना

इटवा। एसडीएम इटवा त्रिभुवन कुमार ने सोमवार को विपणन गोदाम का निरीक्षण किया। इसमें 12 कोटेदारों के राशन न उठाने की जानकारी मिलने पर एसडीएम इटवा ने प्रत्येक कोटेदारों पर पांच-पांच हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया है। साथ ही चेतावनी दी है कि यदि कोई कोटेदार राशन कार्ड धारकों को कम राशन देता है तो उसके खिलाफ खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
सोमवार को एसडीएम इटवा त्रिभुवन ने पूर्ति निरीक्षक इटवा के साथ सार्वजनिक वितरण प्रणाली विपणन गोदाम इटवा का निरीक्षण किया। जांच के दौरान कोटेदारो का रोस्टर बोर्ड अद्यतन नहीं लिखा पाया गया। कठेला न्याय पंचायत के कोटेदार रोस्टर मुताबिक राशन उठान नहीं किए पाए गए। कठेला गर्वी के कोटेदार मुरलीधर, बैरिया खालसा के कोटेदार राजेंद्र सिंह, कठेला जूनूबी के कोटेदार कमाल अहमद, सौरहवा ग्रांट के कोटेदार दीन मोहम्मद, कठेला शर्की के कोटेदार पूनम देवी, मथुरा के कोटेदार ओम प्रकाश, बजरा भारी के कोटेदार दीपा सहित 12 कोटेदारों ने 23 जून तक गोदाम से राशन उठान नहीं किया था। इनके बारे में बताया गया कि यह लोग समय से राशन नहीं बांट रहे हैं। इसीलिए समय से राशन उठान नहीं कर रहे है।
इसके लिए इन कोटेदारों पर एसडीएम ने पांच-पांच हजार रुपये प्रति कोटेदार अर्थदंड के साथ जमानत जब्त करने का आदेश दिया गया और साथ ही चेतावनी दी गई कि कल तक राशन नहीं उठा तो दुकान निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही गोदाम निरीक्षक के गोदाम में रोस्टर अद्यतन अंकित न होने के कारण विपणन निरीक्षक को नोटिस जारी की गई। इसी अवसर पर उपस्थित पूर्ति निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि कोटेदार राशन उठाने के एक दिन पूर्व राशन संबंधी अभिलेख वितरण प्रमाण पत्र, वितरण रजिस्टर आदि कार्यालय को एक दिन पूर्व अवश्य दिखाएं। तहसीलदार को निर्देशित किया गया कि क्षेत्रीय लेखपाल से माह के अंत तक तृतीय सत्यापन आख्या अवश्य प्रस्तुत करें। कोटेदार राशन कम मिलने की दशा में कार्यालय को सूूूूचित करें। मगर किसी भी दशा में राशन कार्ड धारकों को राशन कम न दें। ऐसा न करने पर संबंधित कोटेदार पर खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।
... और पढ़ें

बंधक बनाकर बदमाशों ने की लूटपाट

डुमरियागंज। थाना क्षेत्र के परसा इमाद गांव के टोला सोतवा में शुक्रवार रात बदमाशों ने घर में परिवार के लोगों को बंधक बनाकर तीन लाख के जेवरात लेकर फरार हो गए। कमरे की चाबी न देने पर घर के मुखिया का हाथ-पैर बांधकर चाकू से हमला भी किया। घटना की जानकारी होने पर शनिवार सुबह डुमरियागंज पुलिस के साथ विधायक राघवेंद्र सिंह भी पहुंचे। वहीं, घायल का बस्ती जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।
परसा इमाद गांव के सोतवा टोला निवासी संतराम पांडेय (60) शुक्रवार की रात खाना खाने के बाद बेटियों के साथ छत पर सोने चले गए थे। बताया जा रहा है कि रात करीब 12 बजे बाइक सवार चार बदमाश बगल के निर्माणाधीन मकान के रास्ते छत पर चढ़े। इसके बाद बदमाशों ने छत पर सो रही संतराम की बेटी खुशबू पांडेय (17), डाली (15), लाली (11) व संजना को चाकू की नोक पर कमरे में बंद कर दिया। एक बदमाश उन चारों के साथ कमरे में रुक गया। अन्य तीनों बदमाशों ने दोबारा छत पर आकर संतराम से ऑलमारी की चाबी मांगी। संतराम के आनाकानी करने पर बदमाशों ने उनके दाहिने पैर में चाकू से हमला कर दिया। इसके बाद संतराम ने चाकू छीनकर एक बदमाश के सिर पर वार कर दिया। बाद में संतराम को तीनों बदमाश छत से घसीटकर नीचे ले आए और लात-घूसों से पिटाई कर एक कमरे में बंद कर दिया। बदमाशों ने 7-8 बक्शों को तोड़कर उसमें रखा 50 हजार नकदी, दो सोने का हार, दो माथे का टीका, दो झाला, 6 अगूंठी, एक नथिया, दो चांदी की करधन व 5 जोड़ा पायल लूट ले गए। परिजनों के मुताबिक बदमाश नकदी समेत तीन लाख जेवरात लेकर गए हैं।

जाते समय दे गए 500 रुपये
जाते समय बदमाशों में एक ने संतराम के हाथ में 500 का नोट रखकर दवा करवाने को कहा। बदमाशों ने घाव पर कपड़ा बांधकर कहा कि अगर चाबी दे देते तो वे उन्हें नहीं मारता। चलो दवा करवा दूं। इसके अलावा बदमाशों ने बेटियों की तरफ अगुंली दिखाते हुए धमकी दी कि ज्यादा शोर शराबा मत मचाना। पकड़ गए तो हम तीन या चार माह जेल रहेंगे फिर छूटकर आ जाएंगे। उसके बाद अंजाम भुगतने को तैयार रहना। बदमाशों के जाने के बाद खुशबू ने घटना की जानकारी पुलिस को दी।
बेटी ने दी तहरीर, मौके पर पहुंचे विधायक
सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। बेटी खुशबू पांडेय ने मामले में तहरीर दी है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने लूट का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। साथ ही संतराम को इलाज के लिए जिला अस्पताल बस्ती भेजवाया है। शनिवार सुबह विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने भी पीड़ित के घर पहुंचकर सांत्वना दिया। साथ ही खुलासे के लिए कहा। इंस्पेक्टर केडी सिंह ने बताया कि तहरीर मिली गई है, पड़ताल शुरू कर दी है। अपराधियों का स्कैच तैयार कराया जा रहा है।

हाशिम नाम लेकर बुला रहे थे बदमाश
खुशबू पांडेय ने बताया कि लूट की घटना को अंजाम देने वालों बदमाशों में एक का नाम हाशिम था। खुशबू के मुताबिक बदमाश अपने एक साथी को हाशिम के नाम से बार-बार पुकार रहे थे। बदमाशों द्वारा एक ही बदमाश का नाम लने से यह भी आशंका जताई जा रही है कि शायद उनके सरगनाका नाम हाशिम हो। खुशबू ने यह भी बताया कि तीन बदमाशों का चेहरा ढका नहीं था। जबकि एक बदमाश मुंह पर रुमाल बांधे था। अगर वह तीनों को देख लेगी, तो उन्हें आसानी से पहचान जाएगी। सभी की उम्र करीब 25 से 30 साल के बीच थी।
... और पढ़ें

युवक की गला काटकर हत्या

डुमरियागंज। थाना क्षेत्र के गौहनिया राज गांव में शनिवार रात खेत की ओर गए युवक की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी गई। गांव के बाहर बाग में उसकी लाश मिली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही गांव के ही तीन लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूूछताछ शुरू कर दी है। मृत युवक के पिता की तहरीर पर तीन नामजद व पांच अज्ञात के खिलाफ हत्या केस दर्ज किया गया है।
मामले की जानकारी मिलने के बाद रविवार सुबह एएसपी व सीओ ने मौके पर पहुंचकर घटना के बारे में जानकारी ली। साथ ही परिजनों को न्याय का भरोसा दिलाया।
क्षेत्र के गौहनिया राज गांव निवासी शनिवार फूलचंद उर्फ फूले (18) पुत्र परशुराम यादव का भाई और उसकी पत्नी शनिवार को रिश्तेदार के यहां गए थे। साथ में वह भी गया था। बताया जा रहा है कि रात करीब 9 बजे फूलचंद उर्फ फूले अपने घर आने के बाद खेत की ओर चला गया। पड़ोस के ही रामस्वरूप जिससे पुरानी रंजिश थी, उसका पुत्र महेश और उसके साथ करीब सात अन्य लोग जो वहां पहले से ही घात लगाए बैठे थे। उसे सभी फूलचंद को पकड़कर 200 मीटर दूर गांव के बाहर बाग में ले गए जहां महेश ने धारदार हथियार से फूलचंद के गले पर पीछे से वार कर दिया जिससे उसका आधा गला कट गया और वह जमीन पर गिर पड़ा। इसके बाद चाकू से उसके पेट, दोनों हाथ व दाहिने पैर में धारदार हथियार से सभी ने एक के बाद एक कई वार कर मौके पर ही मरा समझ वहां छोड़ कर भाग गए।
उधर, खून से लथपथ घायल फूलचंद को फोन आया और इस घटना की जानकारी बहन को दी। वह गांव वालों के साथ भाई को खोजते हुए बाग में पहुंची। इसके बाद परिजन उसे लेकर बेंवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां हालत नाजुक देख उसे डाक्टरों ने बस्ती जिला अस्पताल रेफर कर दिया। वहां, से भी डाक्टरों ने फूलचंद के गले की नस कटी देख तत्काल उसको गोरखपुर मेडिकल कॉलेज को कहा। लेकिन फू लचंद ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। वहीं, रात करीब ढाई बजे परिजन लाश लेकर थाने पर पहुंचे।
पीड़ित पिता परशुराम ने तीन नामजद और पांच अज्ञात के खिलाफ तहरीर देकर बेटे की हत्या करने का आरोप लगाकर कार्रवाई की मांग की। वहीं, सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीन लोगों को पकड़कर उनसे पूछताछ की। फूले के पिता की तहरीर पर रामस्वरूप, महेश, गोगई, भगवानदास व पांच अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर पूछताछ में जुट गई है। रविवार सुबह एएसपी मायाराम वर्मा और प्रभारी सीओ श्रीयष त्रिपाठी भी गांव पहुंचकर वहां के हालात का जायजा लिया। इस संबंध में डुमरियागंज इंस्पेक्टर केडी सिंह ने बताया कि तीन लोगों को पकड़कर थाने पर लाया गया है। मुख्य अभियुक्त महेश फरार है। उसके पिता रामस्वरूप को थाने पर लाया गया है। पूछताछ जारी है। जल्द ही सभी आरोपी गिरफ्तार कर जेल भेजे जाएंगे। मामला पुरानी आपसी रंजिश का बताया जा रहा है।

खाना खाने के लिए बहन के फोन करने पर आवाज सुन फफक पड़ा था फूलचंद
डुमरियागंज। बहन के मुताबिक जब हत्यारे फूलचंद को पकड़कर हत्या करने के लिए बाग में ले जा रहे थे तो फूलचंद की बहन अंशू देवी ने भाई को फोन कर जल्दी घर आकर खाना खाने को कहा। बहन की आवाज सुनकर फूलचंद फफक पड़ा था। रोते हुए बोला कि महेश उसे मारने के लिए उस पर हमला कर रहा है। जल्दी से गांव वालों को बुलाकर बाग में लाओ। इतनी बात होते ही महेश ने उसके गले पर वार कर दिया था।

सात साल पहले महेश की बुआ हुई थी लापता
डुमरियागंज। फूलचंद की हत्या का मुख्य आरोपी महेश के इस कुकृत्य की घटना को अंजाम देने के पीछे गांव के लोग दबी जुबान यह भी बात करते दिखे कि सात साल पहले फूलचंद के पट्टीदारी के बाबा लगने वाने झिनकन की बेटी घर से अचानक लापता हो गई थी जिसके बाद उसके घरवालों को यह आशंका थी कि फूलचंद के परिजन ही उसे लापता करवाने में मदद किए हैं। इस बात को लेकर भी दोनों पट्टीदारों में विवाद हुआ था।

पीड़ित परिवार से मिले विधायक
डुमरियागंज। घटना की सूचना पाकर रविवार सुबह विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह भी गौहनिया राज पहुंचकर पीड़ित परिवार के सदस्यों से मिलकर उन्हें ढांढस दिया। विधायक को देख फूलचंद की मां दौड़कर आकर उनसे लिपट कर दहाड़े मारकर रोने लगी। यह देख वहां मौजूद सबकी आंखें नम हो गईं। इसके बाद विधायक राघवेन्द्र सिंह ने फूलचंद के सभी हत्यारों की जल्दी गिरफ्तारी करवाने के साथ ही उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करवाने का भी आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि घटना में पीड़ित परिवार को हरहाल में न्याय मिलेगा।
... और पढ़ें

चोरी का माल बरामद, तीन बदमाश गिरफ्तार

सिद्धार्थनगर। स्वाट व सदर पुलिस की संयुक्त टीम ने शुक्रवार की सुबह क्षेत्र के जमुआर नाले के पास से तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया। इनके पास से चोरी के आभूषण व चोरी में प्रयोग करने वाले हथियार बरामद किए हैं। पुलिस का दावा है कि पकड़े गए बदमाशों ने ही हाल में दो चोरी की दो घटनाओं को अंजाम दिया था। पूछताछ के बाद तीनों को जेल भेज दिया गया है।
शुक्रवार को सदर थाने में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में सीओ सदर सुनील कुमार सिंह ने बताया कि हाल ही में हुई चोरी की घटनाओं का अनावरण करने के लिए स्वाट व सदर पुलिस की टीम को लगाया गया था। शुक्रवार को सदर एसओ डीसी चौधरी को मुखबिर से सूचना मिली कि चोरी की घटना को अंजाम देने वाले तीन शातिर अपराधी जमुआर नाले के पास मौजूद हैं और वह नेपाल भागने की फिराक में हैं। सूचना को संज्ञान में लेते हुए स्वाट टीम को साथ लेकर बताए हुए स्थान पर पहुंच गए और घेराबंदी करके तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े गए बदमाशों की पहचान अशलम निवासी खजुरिया, विनय तिवारी निवासी परसा शाह आलम, सुनील पासवान निवासी पिठनी विजयनगर थाना सदर के रूप में हुई। असलम खां व विनय तिवारी पर छह अलग-अलग मामले पहले से दर्ज है। दोनों चोरी, लूट सहित अन्य प्रकार के अपराध को अंजाम देते हैं। वह पहले जेल भी जा चुका है। पूछताछ के बाद तीनों को जेल भेज दिया गया है। पकड़ने वाली टीम में एसओ सदर डीसी चौधरी, एसआई द्वारिका तिवारी, राकेश तिवारी, स्वाट टीम प्रभारी ब्रह्म गौंड, अवनिश सिंह, पवन तिवारी, प्रद्युम यादव, आशीष कुमार, दिनेश यादव शामिल रहे।

बरामद चोरी का सामान
पुलिस के मुताबिक पकड़े गए बदमाशों के पास से दो जोड़ी पायल, एक जोड़ी हथसार सोने का, बिछुआ आठ, तीन अंगूठी, चार चांदी का सिक्का, 3600 रुपये नकदी, दो मोबाइल फोन, ताला तोडने वाला दो हथियार बरामद किया गया है।
... और पढ़ें

महिला से ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार

उसका बाजार। उसका पुलिस ने शुक्रवार को एक शातिर ठग को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक शातिर अपराधी महिलाओं को ठगने का काम करता था। आभूषण बदलने का झांसा देकर कई घटनाओं को अंजाम भी दे चुका है। पुलिस ने उसके पास से आभूषण भी बरामद किए हैं।
एसओ सदर अंजनी कुमार राय ने बताया कि 19 जून को एक शातिर ठग कस्बा के रानीगंज स्थित निजाम के घर पहुंचकर उसकी पत्नी रुकसाना खातून से बर्तन सोना-चांदी की सफाई का काम करने की बात कही। उसने अपनी बातों से विश्वास कायम करते हुए उसे जेवर की सफाई के लिए फंसा लिया। रुकसाना ने अपना एक झाला, दो पायल और मंगलसूत्र साफ करने के लिए दे दिया। इसी बीच एक टिफिन में पानी, केमिकल व जेवर डालकर उसे गर्म करने के लिए स्टोव की मांग की। जब रुकसाना घर के अंदर स्टोव लेने गई। इसी बीच उसने टिफिन से जेवर निकाल लिया। टिफिन को गर्म करके ढक्कन बंद कर दिया। जिसे 15 मिनट बाद खोलने को बोलकर चलता बना।
जब रुकसाना ने टिफिन खोला तो हैरान हो गई। जानकारी मिलने के बाद ठग की तलाश की जा रही थी। शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे उसका बाजार रेलवे स्टेशन से ठग धर्मेंद्र शाह को दबोच लिया है। तलाशी में उसके पास से कान की झुमकी, दो पायल और आभूषण साफ करने का उपकरण बरामद हुआ है। गिरफ्तार करने वाली टीम में पुलिस टीम में एसआई विनोद मिश्र, आरडी सिंह, गणेश सिंह और अरविंद चौहान शामिल थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन