विज्ञापन

सिद्धार्थनगर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी: बस्ती में तैनात सिपाही चला रहा था जालसाजी का गिरोह, पुलिस ने ऐसे किया खुलासा

गोरखपुर जिले के गोला इलाके में रुपये दोगुने करने का लालच देकर दो लाख की जालसाजी करने वाले गिरोह का बुधवार को पुलिस ने भंडाफोड़ किया। जांच में पता चला कि बस्ती पुलिस लाइंस में तैनात सिपाही मनीष यादव सात लोगों के साथ मिलकर गिरोह का संचालन कर रहा था। पुलिस ने तीन आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेजा गया है।

फरार सिपाही, पूर्व प्रधान समेत अन्य आरोपियों की तलाश पुलिस ने तेज कर दी है। पकड़े गए आरोपियों के पास से 37 हजार पांच सौ रुपये, एक तमंचा, कारतूस और एक बाइक बरामद की गई है। इनमें से दो आरोपियों को घटना के दिन ही गांव वालों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। पकड़े गए बदमाशों की पहचान गगहा के विसुनपुरा निवासी भानू प्रताप यादव, बेलघाट के बगही निवासी अरविंद यादव और सिद्धार्थनगर के डुमरियागंज के वार्ड नंबर 15 निवासी दिनेश यादव के रूप में हुई।

जानकारी के मुताबिक, गोला इलाके के दुबौली निवासी अंशुमान राय सोमवार की शाम अपने वाहन से देईडीहा होते हुए घर जा रहे थे। लमतिया में दो बाइक पर सवार चार बदमाश उनकी गाड़ी के पास आए और उनसे इधर-उधर की बात कर उन्हें अपने झांसे में ले लिया। इसके बाद बदमाशों ने उनके रुपये दोगुने करने की बात कहकर उनकी गाड़ी में रखे दो लाख रुपये ले लिए और वहां से फरार हो गए।

हालांकि इस बीच बनरही गांव के रास्ते भागते हुए दो बदमाश उसी गांव में रामेश्वर दूबे के मकान के सामने बाइक से गिर पड़े। गांव के साहसी युवकों ने उन्हें शक के आधार पर पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया। जबकि दूसरी बाइक पर सवार दो अन्य बदमाश भाग निकले। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ और जांच में एक और आरोपी का नाम सामने आने के बाद पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया।

उसी समय यह सामने आया था कि आरोपियों में एक वर्दी में मौजूद था। इसके बाद ही एसएसपी के आदेश पर जांच तेज कर दी गई थी। जांच में पता चला कि गगहा के बनपुरवा निवासी सिपाही मनीष यादव पूरे गिरोह का संचालन कर रहा था। उसकी तैनाती वर्तमान में पुलिस लाइंस बस्ती में है।

 
... और पढ़ें

यूपी: प्रेम विवाह करने वाली बेटी को पिता ने सात साल बाद उतारा मौत के घाट, बोला- अब मिला सुकून

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां मायके वालों के मर्जी के बिना गांव के ही दूसरे समुदाय के युवक से शादी करने वाली युवती की पत्थर से सिर कूंचकर हत्या कर दी गई। ससुरालियों के घर के सामने स्थित खड़ंजे पर शव छोड़कर आरोपी फरार हो गए। दिनदहाड़े हुई हत्या की घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर छानबीन में जुट गई।

जानकारी के मुताबिक, चिल्हिया थाना क्षेत्र के कपिया खालसा निवासी विश्वनाथ की पुत्री सुनीता (30) परिजनों के मर्जी के विरूद्ध साल 2013 में गांव के ही अब्दुल मोतिन के साथ भाग कर मुंबई के बांद्रा कोर्ट में रजिस्टर्ड शादी कर ली थी। उसके तीन बच्चे भी हैं। वह एक माह पहले मुंबई से आकर गांव में रह रही थी। 

ग्रामीणों का कहना है कि रविवार को किसी बात के लिए सुनीता से उसके मायके पक्ष के लोगों से विवाद हो गया। जिसके बाद हुई मारपीट में सुनीता के सिर में पत्थर से गंभीर चोट लग गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हत्या के बाद उसका शव ससुराल के सामने खड़ंजे पर छोड़ आरोपी फरार हो गए। 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: मंदिर में पूजा करने के लिए दो भाई आपस में भिड़े, सात जख्मी

सिद्धार्थनगर जिले के त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के तेनुई गांव में शनिवार को मंदिर में पूजा करने के लिए दो भाइयों में टकराव हुआ। जमकर हंसिया और कुल्हाड़ी चली। मारपीट की इस घटना में सात लोग जख्मी हो गए। सभी को भनवापुर पीएचसी पहुंचाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद तीन की हालत गंभीर देख उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

त्रिलोकपुर क्षेत्र के तेनुई गांव के दो सगे भाई नरेंद पांडेय और कपिलदेव पांडेय कई वर्ष से अलग रहते हैं। घर व अन्य जमीन का अपना-अपना हिस्सा लेकर जीवन यापन करते हैं। घर के सामने एक शिव जी का मंदिर है। इसमें घर के परिवार के साथ गांव के लोग पूजा-अर्चना करते हैं।

शनिवार सुबह करीब छह बजे छोटे भाई कपिलदेव पांडेय की पत्नी सूरसती शिव मंदिर में पूजा करने गईं, जहां बड़े भाई नरेंद्र की पत्नी ने यह कहकर पूजा के लिए मना कर दिया कि मंदिर उनके हिस्से में है। इसी बात पर कहासुनी होने लगी और दोनों भाइयों के पत्नी व बच्चे इकट्ठा हो गए और दोनों परिवारों के बीच हाथापाई के बीच हंसिया, कुल्हाड़ी लाठी-डंडे चलने लगे।

इसमें कपिलदेव पांडेय और उनकी पत्नी सूरसती का सिर फट गया। पुत्री लक्ष्मी और पुत्र शिवम का हाथ टूट गया। सूरसती की तहरीर पर सभी को पुलिस ने पीएचसी भनवापुर भेजा। जहां से डॉक्टरों ने लक्ष्मी, कपिलदेव तथा सूरसती की हालत गंभीर देखकर जिला अस्पताल रेफर कर दिया।

वहीं, दूसरे पक्ष के बड़े भाई नरेंद्र पांडेय उनकी पुत्री निधी का सिर फट गया और पत्नी नीलम को हल्की चोर्टें आइं हैं। जिन्हें इलाज के बाद घर भेज दिया गया।
प्रभारी निरीक्षक त्रिलोकपुर रणधीर कुमार मिश्र ने कहा कि शिव मंदिर में पूजा करने को लेकर विवाद हुआ है। सूरसती की तहरीर पर चार और नरेंद्र की तहरीर पर तीन लोगों पर मारपीट सहित अन्य धारा में केस दर्ज करके मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

Siddharthnagar News: बाग में गई मंदबुद्धि महिला से सामूहिक दुष्कर्म, जांच में जुटी पुलिस

सिद्धार्थनगर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां खेसरहा थाना क्षेत्र क्षेत्र के एक गांव में बाग की ओर से गई मंदबुद्धि विवाहित महिला से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। घटना रविवार दोपहर की बताई जा रही है। पीड़िता के मायके वालों की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म सहित अन्य धारा में केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

खेसरहा क्षेत्र के एक गांव निवासी एक 28 वर्षीय महिला की शादी हुई थी। पीड़िता के भाई के मुताबिक बहन मंदबुद्धि थी, इसलिए पति ने उसे छोड़ दिया है। इसके बाद वह मायके में ही रहती है। यहां पर उसका भरण- पोषण करते हैं। रविवार की वह गांव दक्षिण स्थित सागौन के बाग की ओर गई थी।

इसी बीच क्षेत्र के ही एक गांव निवासी दो युवक कहीं जा रहे थे। बाग में देखकर घूम गए और डरा धमका कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद धमकी देकर मौके से भाग गए। घर पहुंचने के बाद बहन ने घर पर आकर मामले की जानकारी दी। भाई ने मामले की तहरीर पुलिस को देकर कार्रवाई की मांग की।

तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपी संदीप उर्फ टिंकू व सुनील उर्फ सोनू निवासी देउरी के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म सहित अन्य धारा में केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है। इस संबंध में थानाध्यक्ष खेसरहा अशोक कुमार वर्मा ने कहा कि तहरीर के आधार पर आरोपियों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

सिद्धार्थनगर: फंदे से लटकता मिला विवाहिता का शव, दहेज हत्या का लगा आरोप

सिद्धार्थनगर जिले के त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के इजरहवा गांव में मंगलवार शाम विवाहिता मीरा (28) का शव कमरे में छत के कुंडे के सहारे फंदे से लटकता हुआ मिला। मीरा के मायके के लोगों ने ससुराल पक्ष पर दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

इटवा थाना क्षेत्र के पाल गांव निवासी चंद्र भान यादव ने अपनी पुत्री मीरा की शादी करीब 10 वर्ष पूर्व त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के इजरहवा गांव निवासी धर्मेंद्र यादव के साथ की थी। करीब तीन वर्ष पूर्व धर्मेंद्र गौना कराकर मीरा को अपने घर लेकर गया था।

मंगलवार शाम को कमरे में छत के पंखे के कुंडे के सहारे फंदे से लटका हुआ उसका शव पाया गया। यह देख आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए। उसी बीच किसी ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। वहीं, मीरा की ससुराल के लोगों का आरोप है कि गौने के बाद से ही ससुराल में दहेज की मांग की जा रही थी। उसके लिए मीरा को प्रताड़ित किया जाता था।

आरोप है कि दहेज के लिए मीरा की हत्या कर दी गई। मीरा के चाचा बड़े लाल यादव ने त्रिलोकपुर थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। प्रभारी निरीक्षक राम कृपाल शुक्ल ने बताया कि प्रारंभिक जांच शुरू करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: फर्जी दस्तावेज के सहारे नौकरी करने वाले शिक्षक पर केस, कई लोगों पर हो चुकी कार्रवाई

फर्जी दस्तावेज के सहारे नौकरी हासिल करने के मामले में बर्खास्त शिक्षक पर बीईओ की तहरीर पर भवानीगंज थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है। केस दर्ज करने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। हालांकि छह फर्जी शिक्षकों में डेढ़ माह में विभाग एक शिक्षक पर ही मुकदमा दर्ज करा पाया है। केस दर्ज होने के बाद अन्य की बेचैनी बढ़ गई है।

फर्जीवाड़ा करके शिक्षक बनने वाले छह शिक्षक डेढ़ माह पूर्व पकड़ में आए थे। जांच में पाया गया कि ये लोग फर्जी प्रमाण पत्र के सहारे नौकरी कर रहे थे। जांच के बाद सभी छह लोगों को बर्खास्त करते हुए संबंधित खंड शिक्षाधिकारी को केस दर्ज कराने के लिए आदेश हुआ था। मगर विभागीय कार्रवाई शिथिल नजर आ रही है, जबकि पुलिस मामले को लेकर एक्टिव है।

बर्खास्त शिक्षकों से धन की रिकवरी की कार्रवाई के लिए पुलिस विभाग की ओर से दो बार पत्राचार भी किया गया। बीईओ डुमरियागंज की तहरीर पर भवानीगंज पुलिस ने रोहित कुमार त्रिपाठी सहायक शिक्षक पूर्व माध्यमिक विद्यालय जंगलीपुर की ओर से नियुक्ति में प्रस्तुत अध्यापक पात्रता परीक्षा प्रमाणपत्र को फर्जी पाए जाने के मामले में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है।

आरोपी मूल रूप से निवासी मेहदवरी कालोनी पोस्ट शिवकुटी जनपद प्रयागराज का स्थायी निवासी है। एसओ भवानीगंज अंजनी कुमार राय के मुताबिक, बीईओ की तहरीर पर केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

अब तक पकड़े में आ चुके हैं 109 फर्जी शिक्षक
कार्रवाई का दौर वर्ष 2017-18 में शुरू हुआ। इसके बाद फर्जीवाड़ा करने वालों की सूची लंबी होती गई। अब तक 109 फर्जी शिक्षक पकड़ में आ चुके हैं। सूत्रों का कहना है कि अगर विभाग कार्रवाई और जांच में तेजी लाए तो बड़ी संख्या में फर्जी शिक्षक पकड़ में आएंगे।

 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: पति सहित पांच पर दहेज हत्या का केस दर्ज, पांच साल पहले हुई थी शादी

सिद्धार्थनगर जिले के डुमरियागंज थाना क्षेत्र के सेमरी गांव में संदिग्ध हालात में हुई विवाहिता की मौत के मामले में पति, ससुर, चाचा और ननद पर पुलिस ने दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। केस दर्ज करने के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

संतकबीरनगर जनपद के बेलहर कला थाना क्षेत्र के कैथवलिया गांव निवासी अजीत लाल श्रीवास्तव की बेटी सुधा की शादी वर्ष 2016 में डुमरियागंज थाना क्षेत्र के सेमरी गांव के मनबहाल लाल श्रीवास्तव के बेटे सोनू उर्फ अरविंद के साथ हुई थी। अजीत ने आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही उनके दामाद सोनू उर्फ अरविंद और उनके पिता मनबहाल, चाचा शिवपूजन, बेटी की ननद प्रिया व ननदोई सचिन अक्सर बेटी को मायके से दो लाख नकद तथा बाइक लाने की बात करते थे।

उस पर बेटी के मना करने पर लोग तरह-तरह से प्रताड़ित करते थे। कई बार बेटी को लोग खाना भी नहीं देते थे और पीटते थे। आरोप लगाया कि आरोपियों ने सुधा की हत्या कर दी। अजीत की तहरीर पुलिस ने दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीम लगी हुई है। इस संबंध में डुमरियागंज सीओ अजय कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि तहरीर थाने में दी गई थी। मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: घर से निकले युवक का बाग में मिला शव, इस वजह से झेल रहा था तनाव

प्रतीकात्मक तस्वीर
सिद्धार्थनगर जिले के बांसी कोतवाली क्षेत्र के खरचौला गांव के बाग में बुधवार सुबह युवक का शव पेड़ के पास पाया गया। परिजनों का कहना है कि युवक को धमकी मिल रही थी, जिससे वह मानसिक तनाव में था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

खरचौला गांव के पास बुधवार सुबह बाग में टहलने गए ग्रामीण एक पेड़ के पास युवक का शव देखा। उन्होंने उसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी। सूचना फैलते ही वहां भीड़ इकट्ठा हो गई। मृत युवक की पहचान बगल के गांव हरिद्वार निवासी दयाराम (20) के रूप में हुई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने इसकी सूचना मृतक के परिजनों को दी तथा पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि शव के गले में रस्सी का फंदा था और पेड़ की डाल से बंधा था, लेकिन पैर जमीन पर टिके हुए थे।

 दाहिने पैर में चप्पल आधा निकली थी, जबकि बायां पैर मुड़ा हुआ था। मृतक के भाई राजाराम का कहना है कि शव जमीन पर पड़ा था। हम लोगों में किसी ने भी उसे पेड़ उतारा नहीं था। उन्होंने बताया कि शादी के कुछ माह बाद दयाराम से पत्नी ने तलाक ले लिया था। कुछ दिनों पूर्व दूसरी शादी तय हुई तो एक बिचौलिए ने विवाह कराने के नाम पर बहुत रुपये हड़प लिए और उस लड़की की शादी दूसरे के साथ हो गई।

यह जानकारी होने के बाद से दयाराम काफी परेशान थे। उन्हें धमकी भी मिल रही थी। मंगलवार रात 10 बजे के करीब खाना खाने के बाद दयाराम घर से मोबाइल फोन लेकर बाहर निकले थे। फिर वापस नहीं लौटे।


 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: चरिगवां के युवक की मुंबई में हत्या, केस दर्ज

सिद्धार्थनगर जिले के शोहरतगढ़ थानाक्षेत्र के चरिगवा गांव के रहने वाले युवक की मुंबई में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। परिजनों ने गांव के ही एक व्यक्ति पर पीटकर हत्या करने का आरोप लगाया है। मुंबई पुलिस ने आरोपित पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार भी कर लिया है। वहीं मौत की खबर मिलने के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

चरिगवां का रहने वाले रमेश शर्मा (25) पुत्र मुरली पंचायत चुनाव के बाद मुंबई में रोजगार के सिलसिले में गए थे। मुंबई में भिवंडी में रेहनाल गांव में मनी सूरत कंपाउंड में स्क्रेप का काम करने लगा। शुक्रवार देर रात वह अपने कमरे से कहीं चला गया। शनिवार की सुबह वह अपने गांव के ही पंचगुलाम गुप्ता की दुकान में मिला।

आसपास के लोग तुरंत उसे लेकर भिवंडी के इंदिरा गांधी अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृत शख्स के पिता मुरली ने गांव के ही पंचगुलाम गुप्ता पर अपने पुत्र की हत्या का आरोप लगाया है। परिजनों के मुताबिक मृत शख्स पर चोरी का आरोप लगाते हुए उसके साथ बेरहमी से पीटा गया है।

 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: संदिग्ध हाल में युवक की मौत, नाले में मिला शव, कुछ दिन पहले जताई थी हत्या की आशंका

सिद्धार्थनगर में दवा लेने की बात कहकर तीन दिन पूर्व घर से निकले हुए युवक का सदर थाना क्षेत्र के पिठनी पुल के पास जमुआर नाले में गुरुवार को उतराता हुआ शव मिला। सूचना मिलने के बाद पुलिस उसके लेकर थाने और आई शुक्रवार को शव का शिनाख्त होने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। युवक ने सोशल मीडिया पर जान का खतरा होने की बात शेयर की थी। वहीं, परिवार के लोग हत्या की आशंका व्यक्त कर रहे हैं।

क्षेत्र के बेलहिया गांव निवासी अशीष (30) पुत्र हनुमान दवा लेने की बात कहकर घर से निकला था। परिजनों के मुताबिक वह 22 सितंबर को जाने के बाद देर शाम घर तक नहीं लौटा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। मगर उसका कोई पता नहीं चला। गुरुवार को सदर थाना क्षेत्र के पिठनी पुल के पास जमुआर नाले में एक उतराता हुआ शव मिला।

सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बाहर निकलवाया और उसे थाने लेकर आई। मृतक की जेब से एक मोबाइल फोन मिला। पानी में भीगने की वजह से मोबाइल बंद था तो सिम निकला गया और सर्विलांस की मदद से नंबर की तस्दीक करके परिजनों को जानकारी दी गई।

 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: नमाज अदा करने गए व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, तीन गिरफ्तार

सिद्धार्थनगर जिले के चिल्हिया थाना क्षेत्र के गायघाट गांव के टोला कोल्हुआ में गुरुवार की सुबह मस्जिद में नमाज अदा करने गए शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या की वजह पुरानी रंजिश बताई जा रही है। पुलिस ने तीन आरोपियों पर हत्या का केस दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया। मौके से तमंचा बरामद किया गया। इस हत्याकांड से लोग सन्न रह गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद एसपी, एएसपी, सीओ और कई थानों की पुलिस गांव में पहुंच गई। सुरक्षा के मद्देनजर गांव में पुलिस तैनात है।

जानकारी के अनुसार, क्षेत्र के गायघाट गांव के टोला कोलुहवा निवासी कमरूजमा (55) गांव की मस्जिद में नियमित सुबह नमाज अदा करने के लिए जाते थे। गुरुवार की सुबह चार बजे कमरूजमा मस्जिद का ताला खोलकर अंदर गए। जैसे ही उन्होंने अजान शुरू की, तभी पीछे से उनके पट्टीदार सिराजुल अपने दो बेटों के साथ वहां आए। आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: चेकिंग के दौरान मुठभेड़ में एक इनामी बदमाश गिरफ्तार, दूसरा फरार

सिद्धार्थनगर जिले में चेकिंग के दौरान शिवनगर डिड़ई थाना क्षेत्र में पुलिस एवं एसओजी से बाइक सवार दो बदमाशों से हुई मुठभेड़ में एक 40 हजार के इनामी बदमाश को गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि दूसरा फरार होने में कामयाब रहा। मुठभेड़ में एक एचसीपी को हाथ में और बदमाश को पैर में गोली लगी है। दोनों का अस्पताल में इलाज कराया गया। यह जानकारी एएसपी सुरेश चंद्र रावत ने पुलिस लाइंस सभागार में प्रेस वार्ता में दी।

शिवनगर डिड़ई के थानाध्यक्ष भानू प्रताप सिंह एवं एसओजी प्रभारी जीवन त्रिपाठी पुलिस फोर्स के साथ शुक्रवार सुबह तिलौली में चेकिंग कर रहे थे। इसी बीच मुखबिर की सूचना मिली की एक बाइक सवार बदमाश दुबौलिया से मसिना के रास्ते बस्ती की तरफ जा रहा है। मौके पर पहुंची पुलिस एवं एसओजी की संयुक्त टीम ने बाइक सवार दो लोगों को रोककर तलाशी लेने का प्रयास किया तो बदमाशों ने फायर कर दिया। जिसमें मुख्य आरक्षी (एचसीपी) राजीव शुक्ला को दाएं हाथ में गोली लग गई।

पुलिस की जबाबी फायरिंग में बदमाश को दाएं पैर में गोली लगी। जिसके बाद पुलिस टीम ने एक बदमाश दबोच लिया, जबकि दूसरा बदमाश फरार होने में कामयाब रहा। पुलिस की पूछताछ में पकड़े गए बदमाश की पहचान महराजगंज जिले के पनियरा थानाक्षेत्र के औरहियां गांव निवासी 40 हजार के इनामी बदमाश हरिकृष्ण के तौर पर हुई। उसके पास से एक तमंचा, दो कारतूस, एक खोखा के साथ एक बाइक भी बरामद हुई।
 
... और पढ़ें

सिद्धार्थनगर: मछली पकड़ने के विवाद में धारदार हथियार से हमला, युवक की हालत गंभीर

सिद्धार्थनगर जिले में मछली पकड़ने के विवाद में एक युवक ने दूसरे पर चाकू से हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। परिजन उसे बेंवा सीएचसी ले गए, जहां हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। घटना शुक्रवार भोर की है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

डुमरियागंज थाना क्षेत्र के तेलियाडीह के टोला डीहवा निवासी सलाउद्दीन (22) पथरा थाना क्षेत्र के ककरा पोखर सिवान में स्थित पुल पर जाल से मछली मार रहे थे। उसी दौरान जाल में एक बड़ी मछली मिल गई तो मौके पर पहुंचे ककरा पोखर निवासी अल्ताफ ने कहा कि मछली हम लेंगे।

इसी बात को लेकर अल्ताफ और सलाहुद्दीन के बीच कहासुनी होने लगी। आरोप है कि अल्ताफ ने सलाउद्दीन के पेट में किसी धारदार हथियार से वार कर दिया। सलाउद्दीन गंभीर रूप से घायल हो गए। मारपीट में सलाउद्दीन के पिता को भी हल्की चोट आई। परिजनों ने सलाउद्दीन को आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेवां पहुंचाया। वहां चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार करके जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया।

जिला चिकित्सालय में पहुंचने पर चिकित्सकों ने मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने अल्ताफ को हिरासत में ले लिया। इस संबंध में प्रभारी थानाध्यक्ष शशि प्रकाश सिंह ने बताया कि तहरीर मिल गई है। आरोपित को हिरासत में लेकर आगे की कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00