चुनावी रंजिश में बीडीसी सदस्य के बेटे की हत्या

ब्यूरो /पीलीभीत Updated Sat, 08 Oct 2016 11:32 PM IST
विज्ञापन
चुनावी रंजिश में बीडीसी सदस्य के बेटे की हत्या
चुनावी रंजिश में बीडीसी सदस्य के बेटे की हत्या - फोटो : पीलीभ्‍ाीत/उत्‍ततर प्रदेश्‍ा

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
नवरात्रि के मौके पर गांव के देवीस्थान मंदिर परिसर के पास एक खेत में बीडीसी सदस्य रामरतन के तेरह साल के बेटे अरुण कुमार की शुक्रवार रात चुनावी रंजिश में हत्या कर दी गई। अरुण का शव शनिवार सुबह खेत में पड़ा मिला। उसका गला दबाने के अलावा चेहरे और कान पर धारदार हथियार से वार किए गए। पुलिस ने तहरीर के आधार पर गांव के ही धर्मेंद्र और उसके साथियों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। 
विज्ञापन

सेहरामऊ थाना क्षेत्र के गांव सोंधा निवासी बीडीसी सदस्य रामरतन की गांव में ही आटा चक्की हैं। नवरात्रि के मौके पर गांव के देवीस्थान मंदिर परिसर में प्रोजेक्टर पर रामायण दिखाई जा रही है। शुक्रवार रात रामरतन का बड़ा बेटा अशोक (28) अपने छोटे भाई अरुण (13) के साथ वहां गया। अशोक के मुताबिक, रात करीब पौने ग्यारह बजे गांव का ही धर्मेंद्र कुछ लोगों के साथ वहां आ गया और अरुण को सेलर पर पिता रामरतन के पास छोड़ने की बात कहकर ले गया। घर पहुंचकर जब उसे अरुण के घर न आने की जानकारी मिली तो उसकी तलाश की गई। धर्मेंद्र के घर जाकर पूछा, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। सुबह अरुण का शव धर्मेंद्र के खेत में पड़ा मिला। 
रामरतन ने बताया कि उसके बेटे की हत्या चुनावी रंजिश में की गई है। प्रधानी के चुनाव में आरोपी धर्मेंद्र के पिता रामलाल ने एक प्रत्याशी को चुनाव लड़ाने का दबाव बनाया था, लेकिन उसने अपने मनचाहे प्रत्याशी को चुनाव लड़ाया था।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us