विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

पीलीभीत

शनिवार, 18 जनवरी 2020

तालाब में डूबने से व्यक्ति की मौत

पूरनपुर। घर के समीप तालाब में नहा रहे गांव घुंघचाई निवासी 40 वर्षीय राममूर्ति की पानी में डूबकर मौत हो गई। इसकी सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
हादसा सोमवार दोपहर करीब बारह बजे हुआ। घुंघचाई निवासी शकुंतला देवी ने बताया कि उनके पति राममूर्ति पहले परिवार के साथ गांव लालपुर में रहते थे। कुछ माह पूर्व ही वह ससुराल घुंघचाई आकर रहने लगे। मकान के पास बने तालाब में सोमवार को वह नहाने गए थे। गहरे पानी में पहुंचने के बाद वह डूब गए। वह तैरना नहीं जानते थे, इसलिए खुद का बचाव भी नहीं कर पाए। आसपास के लोगों ने उनको डूबते देखा तो शोर मच गया। काफी ग्रामीण जमा हुए। बमुश्किल राममूर्ति को बाहर निकालकर आनन-फानन में नगर के एक प्राइवेट अस्पताल लाया गया, वहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इसकी सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने जानकारी जुटाई। एसएसआई जितेंद्र कुमार ने बताया कि राममूर्ति के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा गया है। उधर, राममूर्ति की मौत के बाद उसके परिवार वालों में कोहराम मच गया। पत्नी शकुंतला देवी, तेरह वर्षीय पुत्री आरती और आठ वर्षीय पुत्र आकाश का रो-रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

दबिश के नाम पर सिर्फ औपचारिकता

पीलीभीत। सिटी डाकघर की जमीन पर अवैध कब्जे की कोशिश करने वाले रसूखदार अपनी ऊंची पहुंच के बल पर खुलेआम घूम रहे हैं। सत्ता का दबाव पुलिस पर काम कर रहा है, अगर ऐसा न होता तो संगीन मामले में पुलिस की कार्रवाई इस तरह से सुस्त न होती। दबिश देने के नाम पर सिर्फ औपचारिकता निभाई जा रही है।
कोतवाली क्षेत्र स्थित सिटी डाकघर की साढ़े छह सौ वर्ग गज बेशकीमती जमीन पर अवैध कब्जा करने की नीयत से रसूखदारों ने मंगलवार रात चहारदीवारी तोड़ दी थी। इसकी बुधवार सुबह सूचना मिलने पर पुुलिस ने कार्रवाई की। जहानाबाद नगर पंचायत की चेयरमैन ममता गुप्ता के बेटे शिवा गुप्ता, पूर्व में जिले में तैनात रहे एक बड़े अफसर के भांजे बताए जाने वाले लखनऊ निवासी पारसमणि पांडे समत 13 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई थी। चार को पुलिस जेल भेज चुकी है, लेकिन बाकी फरार हैं। रसूखदारों की अब तक धरपकड़ न किए जाने पर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल भी उठने लगे हैं। पुलिस दबिश का दावा कर रही है। गिरफ्तारी के लिए दबाव बनाने की बात भी कह रही है। आरोपियों को जल्द पकड़ भी लिया जाएगा, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं है। पुलिस की दबिश और दबाव बनाने का पैंतरा भी रसूखदारों के आगे काम नहीं कर रहा है। आमतौर पर जो पुलिस आम आरोपी के न मिलने पर उसके किसी करीबी तक को हिरासत में लेकर कई दिनों तक थाने में बैठाए रहती है, वह इस मामले में आरोपियों के घरवालों से सख्ती से पूछताछ तक नहीं कर रही है। इसके पीछे राजनीतिक दबाव के हावी होने की चर्चाएं हैं। बीते दिनों सोशल साइट्स पर आरोपी शिवा गुप्ता के फोटो अपलोड होने पर पुलिस ने ये अंदेशा तो जता दिया कि वह उत्तराखंड में होगा लेकिन न तो सर्विलांस की मदद ली गई, न ही कोई टीम उसकी तलाश में भेजी गई। नतीजतन रसूखदारों की धरपकड़ के प्रयास के नाम पर मामले को लंबित रखा जा रहा है। यह कहना गलत नहीं होगा कि आरोपियों को पैरवी का भी पूरा समय पुलिस दे रही है। पूछने पर सिर्फ दबिश जारी होने की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया जा रहा है। सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल ने बताया कि आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की टीमें लगी हुई हैं। लगातार प्रयास किया जा रहा है।
... और पढ़ें

हत्या के जुर्म में दो सगे भाइयों समेत तीन को आजीवन कारावास

पीलीभीत। विशेष सत्र न्यायाधीश सुरेंद्र मोहन सहाय ने हत्या के मामले की सुनवाई के बाद दोषी पाते हुए दो सगे भाइयों समेत तीन आरोपियों को आजीवन कारावास और प्रत्येक को पांच-पांच हजार रुपये अर्थदंड से दंडित किया है। अर्थदंड की धनराशि जमा होने पर उसमें से आधी धनराशि मुकदमे की वादिनी को देने का आदेश है।
कोतवाली पूरनपुर के गांव भगवंतापुर उर्फ आनंदपुर की परवीन ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि 31 मई 2016 को शाम छह बजे उसके चचिया ससुर जुम्मा शाह और हसनैन अली ने उसके रास्ते में लकड़ी लगा दी थी। उसके ससुर आलम शाह ने जुम्मा शाह, हसनैन अली और हासिम शाह से शिकायत की। इस पर आरोपियों ने लाठी डंडों से ससुर पर हमला कर दिया। शोर पर पति गुलफाम ससुर को बचाने पहुंचे तो तीनों ने मिलकर उनकी भी पिटाई कर दी। इसमें गुलफाम मौके पर बेहोश हो गए। सरकारी एंबुलेंस से उनको अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। वाद विवेचना पुलिस ने आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल किया। मुकदमे की सुनवाई के बाद स्पेशल जज ईसी एक्ट सुरेंद्र मोहन सहाय ने जुम्मा शाह, उसके भाई हसनैन अली और हासिम को गुलफाम की हत्या का दोषी पाते हुए आजीवन कारावास और प्रत्येक को पांच-पांच हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई।
... और पढ़ें

फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने वाला गैंग बेनकाब, पांच गिरफ्तार

फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाकर असलहों की खरीद-फरोख्त कराने वाले गिरोह का खुलासा कर गाजियाबाद पुलिस ने शाहजहांपुर के ग्राम प्रधान सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को डीएम अजय शंकर पांडेय व एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने कलक्ट्रेट सभागार में प्रेसवार्ता कर गिरोह के राजफाश की जानकारी दी।

डीएम ने बताया कि हाल ही में शाहजहांपुर जिले के एक शस्त्र लाइसेंस का गाजियाबाद में ट्रांसफर के लिए आवेदन आया था। जांच में यूनिक आईडी मैच नहीं हुई और पता चला कि उक्त यूनिक आईडी पर कोई शस्त्र लाइसेंस जारी नहीं है। उन्होंने डीएम शाहजहांपुर को चिट्ठी लिखते हुए गाजियाबाद कप्तान को जांच कराने की संस्तुति की। जांच में लाइसेंस फर्जी निकला और गिरोह की परतें खुलती चली गईं।

गन हाउस संचालक है सरगना
एसएसपी ने बताया कि कविनगर पुलिस ने फुरकान पुत्र अब्दुल वहीद निवासी बिहारीपुरा कमला हॉल वाली गली लाल क्वार्टर के सामने थाना विजयनगर, संजय गर्ग पुत्र राजपाल गर्ग निवासी ए-3, सेक्टर-12 प्रताप विहार थाना विजयनगर, विनोद पुऊत्र तेजराम सिंह निवासी मकान नंबर-64 सर्वोदय नगर थाना विजयनगर, हरिशंकर अवस्थी पुत्र राजकुमार निवासी मोहल्ला कोट थाना खुटार जिला शाहजहांपुर व सदानंद शर्मा पुत्र रामाधार शर्मा निवासी अनाथा थाना पुआया जिला शाहजहांपुर को गिरफ्तार किया गया है। हरिशंकर अवस्थी गन हाउस संचालक और गिरोह का सरगना है, जबकि सदानंद उसका सहयोगी व मौजूदा ग्राम प्रधान है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

अब पिपरा भगु गांव में मिले गोवंश के अवशेष

पीलीभीत। अधिकारियों की सख्ती के बावजूद जिले में गोकशी थमने का नाम नहीं ले रही है। लगातार इससे जुड़े मामले सामने आ रहे हैं। अब शहर से सटे पिपरा भगु गांव में गन्ने के खेत में गोवंशीय अवशेष मिलने के बाद खलबली मच गई है। सूचना पर सीओ सिटी, सुनगढ़ी पुलिस के साथ मौके पर पहुंची और जानकारी जुटाई। अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई है। हालांकि अभी कोई सुराग नहीं मिल सका है।
जिला मुख्यालय से करीब पांच किलोमीटर दूर सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के पिपरा भगु गांव में असम हाईवे से महज 100 मीटर दूर गन्ने के खेत में बृहस्पतिवार सुबह गोवंश के अवशेष पड़े मिले। ग्रामीणों ने अवशेष पड़े देखे तो गोकशी का शोर मच गया। भीड़ जमा हो गई। सूचना पुलिस को दी गई। कुछ ही देर में सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल, इंस्पेक्टर सुनगढ़ी सत्यप्रकाश सिंह, पूरनपुर गेट चौकी प्रभारी जवाहर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। मौका मुआयना करने के दौरान तीन खेतों में अवशेष मिले। ग्रामीणों से पुलिस ने जानकारी की, लेकिन कोई भी इस संबंध में जानकारी नहीं दे सका। इसके बाद पुलिस ने पशु चिकित्सक को बुलाकर अवशेषों को परीक्षण के बाद दफन करा दिया। ग्रामीणों का कहना है कि इससे पहले उनके गांव में कभी गोकशी का मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने घटना पर नाराजगी जताते हुए आरोपियों पर शिकंजा कसने की मांग की। पुलिस ने उनको सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

कहीं पर तो हो रही चूक
बीते माह गोकशी की घटनाएं बढ़ने पर एसपी मनोज कुमार सोनकर ने इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की थी। इसके बाद घटनाओं में कमी आई थी। अब कुछ दिनों से फिर से घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसे में कहना गलत नहीं होगा कि कहीं न कहीं बरती गई ढील तस्करों के लिए अभयदान साबित हो रही है।

गोकशी की हाल ही में हुई घटनाएं - 19 अप्रैल को गजरौला के बांसबोझ में बाग में मिले थे अवशेष
- 03 जून को जहानाबाद के परेवावैश्य गांव में 1.20 क्विंटल गोमांस और औजार हुए थे बरामद
- 16 जून को बरखेड़ा के मोहल्ला काहरान में मिले थे अवशेष
- 19 जून को बंद स्लाटर हाउस और भूरे खां में मिले थे अवशेष और खालें
- 20 जून को सुनगढ़ी क्षेत्र के चिड़ियादाह गांव में सात गोवंश के मिले थे अवशेष
- 23 जून को बीसलपुर के ग्यासपुर मोहल्ले में एक मकान से पांच क्विंटल गोमांस और औजार हुए थे बरामद
- 25 जून को बरखेड़ा के गाजीपुर कुंडा में खेत में मिले थे गोवंश के अवशेष
- पूरनपुर में आए दिन सामने आते हैं मामले
- 28 जून को पूरनपुर में शेरपुर सिमरिया मार्ग पर नहर के नजदीक मिले थे अवशेष
- 10 जुलाई को पूरनपुर के शेरपुरकलां निवासी मुख्तयार के खेत में मिले थे गोवंश के अवशेष और खालें
- 13 जुलाई को कोतवाली क्षेत्र के बिलगवां में मिले गोवंश के अवशेष
- 15 जुलाई को जहानाबाद के परेवा वैश्य में दो घरों में पकड़ी गई गोकशी

गोकशी की घटनाओं को लेकर लगातार कार्रवाई की जा रही है। गोमांस तस्करों की धरपकड़ कराई जा रही है। उन पर गैंगस्टर, गुंडा एक्ट से लेकर रासुका की कार्रवाई हो रही है। सुनगढ़ी में हुई घटना में भी मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। तस्करों का पता लगाकर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।
- मनोज कुमार सोनकर, एसपी

दूसरे दिन भी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े गोमांस तस्कर
बीसलपुर। कोतवाली पुलिस पर जानलेवा हमला कर भागने वाले पांचों गोमांस तस्कर अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। इनमें से चार के खिलाफ पहले भी गाय काटने के मामले में रिपोर्ट दर्ज हो चुकी है।
कोतवाली पुलिस ने 16 जुलाई को देर रात गांव रसायाखानपुर निवासी मंगल खां के यूकेलिप्टस के बाग में छापा मारा था। पुलिस को देखकर गोमांस तस्करों ने फायर झोंक दिया था, इसमें पुलिस पार्टी बाल बाल बच गई थी। पुलिस ने घेराबंदी कर छह में से एक तस्कर को पकड़ लिया था, जबकि पांच भाग गए थे। एसएसआई इख्त्यिार हुसैन ने कोतवाली में मांस तस्करों के विरुद्ध पुलिस पार्टी पर जानलेवा हमला करने, गोहत्या करने, और शस्त्र अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज की थी। रिपोर्ट में गांव रसायाखानपुर निवासी तौफीक, कयूम, गांव मीरपुरवाहनपुर निवासी इलियास, शरीफ, शकील और जाने आलम को नामजद किया गया था। पुलिस ने मौके से गिरफ्तार तौफीक को जेल भेज दिया था। फायरिंग कर भागे बाकी तस्कर अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। पुलिस बुधवार रात फरार मांस तस्करों की तलाश में कई जगह दबिश भी दी, लेकिन कामयाबी नहीं मिली।
... और पढ़ें

काटने ले जाए जा रहे सात गोवंशीय पशु बरामद, एक गिरफ्तार

पूरनपुर। काटने के लिए क्रूरता पूर्वक पीटते हुए ले जाए जा रहे सात गोवंशीय पशुओं को पुलिस ने बरामद किया है। बरामदगी दो स्थानों से हुई है। एक मामले में मोहल्ला साहूकारा लाइनपार निवासी अफजाल को गिरफ्तार किया गया है, जबकि उसके तीन साथी भाग गए। पुलिस के मुताबिक, इन्हीं चारों ने बुधवार को एक धार्मिक स्थल के पास गोवंशीय पशु काटा था। इसके अलावा शेरपुर-खैरपुर रोड से पुलिस ने पशु तो बरामद किए, लेकिन किसी आरोपी को नहीं पकड़ सकी।
हत्याकर मांस की तस्करी करने के लिए गोवंशीय पशु लाने की सूचना पर दरोगा अब्दुल समीद के नेतृत्व में पुलिस टीम ने शेरपुर नहर पुलिया पर घेराबंदी की। पुलिस ने चार लोगों को एक गोवंशीय पशु को क्रूरतापूर्वक पीटते हुए लाते देखा तो उन्हें ललकारा। इस पर आरोपी पशु को छोड़कर भागने लगे। पुलिस ने दौड़ाकर अफजाल को पकड़ लिया, जबकि उसके तीन साथी भाग गए। कोतवाली पुलिस ने दरोगा अब्दुल समीद की ओर से अफजाल और पुलिस को देखकर भागे गुलफाम, फुरकान, नाजिम के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। दरोगा अब्दुल समीद ने बताया कि इन्हीं चारों आरोपियों ने बुधवार को नगर के एक धार्मिक स्थल के समीप गोवंशीय पशु काटा था। उन्होंने बताया कि इसके अलावा शेरपुर-खैरपुर रोड पर काटने के लिए ले जाए जा रहे छह गोवंशीय पशु बरामद किए गए हैं, लेकिन उन्हें लेकर आ रहे चारों आरोपी भाग गए।
... और पढ़ें

बड़े दामाद ने छोटी बेटी के साथ मिलकर की थी बुजुर्ग की हत्या

पीलीभीत। वृद्ध किसान शंकरलाल पांडे की हत्या बड़े दामाद महमंदपुर निवासी ओमप्रकाश पांडे ने शंकरलाल की छोटी बेटी गांव पिपरिया जयभद्र निवासी नीलम पांडे के साथ मिलकर की थी। दोनों शंकर लाल के अपनी छह एकड़ जमीन भतीजे के नाम करने के फैसले से वे नाराज थे। एसपी ने दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी कर हत्याकांड का खुलासा किया। टीम को 24 घंटे के भीतर घटना का वर्कआउट करने पर पांच हजार के नकद इनाम की घोषणा की।
पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के महमंदपुर गांव निवासी 70 वर्षीय किसान शंकरलाल पांडे बुधवार सुबह करीब साढ़े दस बजे घर से साइकिल से पूरनपुर जाने के लिए निकले थे। रास्ते में उनकी सीने में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। भतीजे गोपी की ओर से पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। संपत्ति को लेकर हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस ने छानबीन शुरू की तो हत्याकांड का खुलासा हो गया। हत्यारोपी वृद्ध के बड़े दामाद ओमप्रकाश पांडे और छोटी बेटी नीलम पांडे निकले। उनको गिरफ्तार कर पुलिस ने पूछताछ की तो एक-एक कर पूरी गुत्थी सुलझ गई। हत्या में प्रयुक्त तमंचा और तीन कारतूस भी बरामद कर लिए गए। बृहस्पतिवार को एसपी मनोज कुमार सोनकर, एएसपी रोहित मिश्र ने पुलिस लाइन में घटना का खुलासा कर दोनों को जेल भेज दिया।

इधर जमीन भतीजे को देने का पता लगा, उधर रच दी हत्या की साजिश
पुलिस के अनुसार वृद्ध शंकरलाल पांडे के पास छह एकड़ जमीन है। उनकी चार विवाहित बेटियां हैं। पहले जमीन आरोपी बेटी नीलम के नाम कर दी गई थी, लेकिन बाद में वृद्ध ने इस निर्णय को कैंसल करा दिया। आठ बीघा जमीन अब भी नीलम के कब्जे में है। दामाद और बेटियों से उनके संबंध मधुर नहीं थे। इसी के चलते अब वह भतीजे गोपी के नाम पर जमीन करने वाले थे। इसी का पता लगते ही उनकी हत्या कर दी गई। बड़े दामाद ने छोटी बेटी को साथ लिया और बाइक पर बैठकर दोनों बुधवार सुबह आए और दामाद ने तमंचे से ससुर के सीने में गोली मार दी। फिर वह शेरपुर वाले रास्ते की तरफ से भाग गए।

कुछ सवाल अब भी अनसुलझे
हत्यारोपी के तौर पर पुलिस ने बड़े दामाद और छोटी बेटी को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। वृद्ध की हत्या की प्लानिंग को लेकर बड़ी बेटी और छोटे दामाद को भनक थी या नहीं? इस बात को अभी पुलिस स्पष्ट नहीं कर सकी है।

शंकरलाल हत्याकांड का खुलासा कर दोनों आरोपी जेल भेज दिए हैं। परिवार के अन्य सदस्यों की इसमें मिलीभगत है या नहीं? इसकी भी जांच होगी। नीलम के पास लाइसेंसी पिस्टल है। उसका भी लाइसेेेंस निरस्त कराने को कार्रवाई होगी।
- मनोज कुमार सोनकर, एसपी

परिवार के गले नहीं उतर रही पुलिस की कहानी
पूरनपुर। वृद्ध किसान शंकरलाल पांडे की हत्या का पुलिस ने भले ही खुलासा कर दिया है लेकिन परिजन इससे संतुष्ट नहीं हैं। उनका आरोप है कि पुलिस ने सही खुलासा करने के बजाय विरोधियों से मिलकर अपनों को ही जेल भेज दिया है।

बड़ी बेटी और आरोपी ओमप्रकाश की पत्नी सुनीता का कहना है कि उनकी ताऊ के घर वालों से कभी नहीं बनती थी। तहेरा भाई गोपीराम पांडेय चारों बहनों की शादी तक में शामिल नहीं हुआ। आरोप लगाया कि ताऊ का परिवार हमेशा संपत्ति के लालच में रहता था। पुलिस ने उनसे मिलकर गलत खुलासा किया है।
मतक की मझली बेटी ऊषा देवी का कहना है कि बेटा न होने पर पिता ने चारों बहनों को पुत्रों की तरह ही पाला था। वह अपनी संपत्ति बेटियों को ही देना चाहते थे। ये खुलासा गले उतरने लायक नहीं है।
मृतक की दूसरे नंबर की बेटी नन्ही देवी का कहना है कि गांव वालों से इस बात की पुष्टि की जा सकती है कि ताऊ के परिवार से हमारे कैसे संबंध थे। ताऊ के घर तो आना-जाना ही बंद था। मां के अंतिम संस्कार और अन्य कार्यक्रमों में भी वे कभी शामिल नहीं किए गए। पिता की संपत्ति हड़पने के लिए के लिए ताऊ का परिवार उन्हें वरगलाता था।

अंत्येष्टि पर विवाद, पहुंची पुलिस
वृद्ध शंकरलाल पांडे के शव का बृहस्पतिवार को अंतिम संस्कार किया गया। इसमें भतीजे गोपी के मुखाग्नि देने की इच्छा जताते ही विवाद की स्थिति बन गई। बेटियों ने विरोध कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराया। अंत में नाती अभिषेक ने मुखाग्नि दी।
... और पढ़ें

जमानत पर छूटे शनिदेव मंदिर के बाबा ने कार्रवाई पर उठाए सवाल

पीलीभीत। डेढ़ माह पूर्व आर्म्स एक्ट के तहत जेल भेजे गए एक बाबा ने जमानत पर छूटने के बाद खुद पर हुई कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। इसको कुछ लोगों की साजिश करार दिया। यह भी आरोप लगाया कि उनके आवास पर पलने वाली 27 गायें भी गायब हैं। डीएम से शिकायत कर पूरे मामले में जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।
गजरौला थाना क्षेत्र के सकरिया पुल शनिदेव मंदिर के बाबा रामदास पुत्र मंगरिया ने डीएम को दिए शिकायती पत्र में बताया कि वह 1994 से मंदिर में ही रहते हैं। वह जूना अखाड़े के बाबा हैं। 31 मई को कुछ आपराधिक किस्म के लोगों ने उनके पास से तमंचा बरामद होने की बात कहते हुए गजरौला पुलिस के सुपुर्द कर दिया। जिसके बाद उनको आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। कहा कि वह अपने निवास पर गाय पालन करते थे। जेल से वापस आए तो 70 में से 27 गाय कम मिलीं। इसके अलावा मौके से जब्त किए गए उनके दस्तावेज और नकदी भी वापस नहीं हो सकी है। पूरे मामले की जांच कराकर असल दोषियों पर कार्रवाई की मांग डीएम से की है।
... और पढ़ें

आरोपी थाने से भागा, चार घंटे बाद परिजन पुलिस को सौंप गए

न्यूरिया (पीलीभीत)। अवैध शराब के साथ पकड़ा गया आरोपी पानी पीने के बहाने पुलिस को चकमा देकर थाना परिसर से भाग गया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की तलाश के साथ ही परिजन पर भी दबाव बनाया। नतीजतन चार घंटे बाद खुद परिजन ही आरोपी को लेकर थाना न्यूरिया पहुंच गए। पुलिस ने अभिरक्षा से फरार होने की एक और रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है। अफसर आरोपी के वापस मिलने के बाद इस मामले को अब दबाने में लगे रहे।
अवैध शराब की तस्करी की सूचना पर बुधवार शाम न्यूरिया पुलिस ने कस्बे के मोहल्ला खेड़ा निवासी कुलदीप गुप्ता को गिरफ्तार किया था। उसके पास से 20 लीटर अवैध शराब बरामद की गई थी। बृहस्पतिवार सुबह कुलदीप पानी पीने के बहाने थाना न्यूरिया के मुंशी कार्यालय से बाहर निकला और पुलिस कर्मियों की नजर बचते ही दौड़ लगा दी। आरोपी के थाना परिसर से भागने का पता लगते ही पुलिस के होश उड़ गए। आनन-फानन में कई टीमें बनाकर आरोपी कुलदीप की तलाश में लगा दी गईं। उसके परिवार वालों से भी पुलिस ने न सिर्फ संपर्क साधा, बल्कि उसको हाजिर कराने का दबाव बनाने लगे। करीब चार घंटे बाद इसका असर भी दिखाई दिया। परिजन खुद ही कुलदीप को लेकर थाना न्यूरिया पहुंचे और उसको पुलिस के सुपुर्द कर दिया। जिसके बाद उसको सख्त बंदोबस्त में रखने के बाद कार्रवाई पूरी कर जेल भेज दिया गया। इंस्पेक्टर न्यूरिया बिरजाराम ने बताया कि आरोपी कुलदीप को कुछ देर बाद ही पकड़ लिया गया। जिसके बाद फरार होने से जुड़ी धाराएं बढ़ाकर उसका चालान कर दिया है।

अवैध शराब के दस मुकदमे हैं कुलदीप पर
आरोपी कुलदीप गुप्ता अवैध शराब की तस्करी को लेकर पहले भी कई बार जेल जा चुका है। पुलिस के पास उसका एक लंबा आपराधिक इतिहास भी है। जिसके तहत उस पर न्यूरिया में नौ और उत्तराखंड में आबकारी अधिनियम का एक मुकदमा दर्ज है।
... और पढ़ें

बेकाबू टेंपो 12 फुट गहरी खाई में पलटा, पांच घायल

बरखेड़ा /पीलीभीत। बरखेड़ा-नवाबगंज मार्ग पर देवहा नदी पुल के पास सवारियों भरा टेंपो अनियंत्रित होकर 12 फुट गहरी खाई में पलट गया। हादसे में टेंपो सवार पांच लोग घायल हो गए। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने घायलों को सीएचसी भिजवाया। वहां से प्राथमिक इलाज के बाद सभी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।
हादसा बुधवार दोपहर करीब एक बजे हुआ। बरखेड़ा से सवारियां लेकर एक टेंपो नवाबगंज के लिए रवाना हुआ। इसमें करीब दस लोग सवार थे। नवाबगंज मार्ग पर देवहा नदी पुल के नजदीक पहुंचते ही टेंपो अनियंत्रित होकर खाई में पलट गया। हादसे में टेंपो सवार सखौला (न्यूरिया) निवासी 35 वर्षीय सत्यपाल, उनकी पत्नी 32 वर्षीय तारावती, पुरानी पीलीभीत (सदर कोतवाली) निवासी 25 वर्षीय अनीता पत्नी रामकिशन, उनकी सास त्रिवेणी देवी पत्नी बाबूराम और तीन माह की बेटी गुड़िया घायल हो गई, जबकि अन्य पांच को मामूली चोट आईं। इसकी सूचना मिलने पर यूपी 100 और बरखेड़ा पुलिस मौके पर पहुंची। आनन-फानन में घायलों को सीएचसी भिजवाया गया। यहां से उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया है।
... और पढ़ें

खेत में खून मिलने पर गोकशी का मचा शोर, नहीं मिले अवशेष

बरखेड़ा /पीलीभीत। खेत में खून मिलने के बाद कुरैइया ताल्लुके फूटाकुआं गांव में गोकशी का शोर मच गया। काफी तलाशने के बाद भी अवशेष नहीं मिले। कुछ लोगों ने अवशेष देखे जाने की बात कही, लेकिन जब उनसे पुलिस ने संपर्क साधा तो उन्होंन इनकार कर दिया। ऐसे में मामला पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो सका। पुलिस को शरारत का भी अंदेशा है, लेकिन उस दिशा में भी साक्ष्य नहीं मिले हैं। फिलहाल पड़ताल की जा रही है, अभी कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई है।
बरखेड़ा थाना क्षेत्र के कुरैइया ताल्लुके फूटाकुआं गांव निवासी किसान तौलेराम के खेत में धान की फसल है। बुधवार सुबह उनके खेत में चकरोड के पास खून पड़ा मिला। पड़ोस में ही भाई भगवानदास के खेत में गोबर था। इस पर गांव में गोकशी का शोर मच गया। सूचना मिलने पर एसओ आलोक मिश्र पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और जानकारी की। आसपास काफी तलाशा लेकिन अवशेष नहीं मिल सके। कुछ ग्रामीण पहले अवशेष देखे जाने की बात कहते रहे लेकिन जब उनसे पूछताछ हुई तो उन्होंने इंकार कर दिया। एसओ बरखेड़ा ने बताया कि प्रथम दृष्टया जांच करने पर मामला गोकशी का प्रतीत नहीं हो रहा है। अभी सीधे तौर पर शरारत भी नहीं कही जा सकती। इस गांव से पहले भी झूठी सूचनाएं आती रही हैं। पुलिस पड़ताल कर रही है।

सरेंडर करने आए गोमांस तस्कर को दबोचा
पीलीभीत। एक माह से फरार चल रहे शातिर गोमांस तस्कर को बरखेड़ा पुलिस ने कचहरी तिराहे से धर दबोचा। उसके न्यायालय में सरेंडर करने की सूचना मिलने पर पुलिस टीम उसकी घेराबंदी में पहले से जुट गई थी। थाने लेलाकर पूछताछ करने के बाद आरोपी को जेल भेज दिया है।
15 जून की रात कस्बा बरखेड़ा में गोवंशीय पशुओं के अवशेष मिले थे। इस मामले में पुलिस को बीसलपुर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला हबीबुल्ला खां शुमाली निवासी गोमांस तस्कर भोला उर्फ राजू पुत्र नत्थू खां की तलाश थी। उसकी धरपकड़ के लिए कई बार दबिश दी गई, लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़ा। मंगलवार को उसके कोर्ट में सरेंडर करने की सूचना पुलिस को मिली। इस पर पुलिस ने कचहरी के आसपास घेराबंदी कर दी। जिरौनिया पुलिस चौकी प्रभारी संजीव तोमर की अगुवाई में पुलिस बल लगा रहा और आरोपी भोला को धर दबोचा। उसको गिरफ्तार करने के बाद पुलिस थाना बरखेड़ा ले आई। एसओ आलोक मिश्र ने बताया कि आरोपी शातिर गोमांस तस्कर है। उस पर बीसलपुर, बिलसंडा, बरखेड़ा, निगोही शाहजहांपुर करीब करीब 16 मुकदमे दर्ज हैं। अभी बरखेड़ा के अलावा बीसलपुर के दो, बिलसंडा के एक गोकशी के मामले में वह वांछित था। उसको जेल भेज दिया है।

गोहत्या कर लाया जा रहा मांस बरामद
पूरनपुर। गोहत्या कर लाए जा रहे करीब एक क्विंटल मांस को पुलिस ने बरामद कर लिया, लेकिन मांस ला रहे चारों आरोपी पुलिस के सामने से भाग गए। कोतवाली पुलिस ने दरोगा अब्दुल शमीद की ओर से चारों आरोपियों के खिलाफ गोहत्या की रिपोर्ट दर्ज की है।
पुलिस ने सूचना पर नगर के एक धार्मिक स्थल के समीप छापेमारी की। छापेमारी में गोहत्या कर लाया जा रहा करीब एक क्विंटल मांस बरामद किया। आरोपी पुलिस देखकर मौके से भागने मेें सफल हो गए। कोतवाली पुलिस ने दरोगा अब्दुल शमीद की ओर से नगर के मोहल्ला लाइनपार निवासी नाजिम, अफजाल और दो अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। इंस्पेक्टर आरके कश्यप ने बताया कि बरामद मांस का पशु चिकित्साधिकारी से परीक्षण करवाने के बाद नष्ट करवा दिया गया। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही गोहत्यारों को गिरफ्तार कर कोर्ट के लिए चालान करवाया जाएगा।
... और पढ़ें

विवाहिता से दुष्कर्म, विरोध करने पर पीटा

बीसलपुर। मोहल्ला हबीबुल्ल्ला खां शुमाली के एक युवक ने बुधवार को अपने घर में एक विवाहिता से दुष्कर्म किया। विरोध करने पर उसकी पिटाई भी की। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की विवाहिता ने बताया कि बुधवार दोपहर वह दवा लेने बीसलपुर आई थी। सरकारी अस्पताल के गेट पर उसे एक परिचित युवक मिल गया। वह उसे चाय पिलाने के बहाने घर ले गया। आरोप है कि घर पहुंचकर युवक ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया और विवाहिता से दुष्कर्म किया। विरोध करने पर उसकी लातघूंसों से पिटाई कर दी। बाद में विवाहिता ने कोतवाली में तहरीर दी। एसएसआई इख्त्यिार हुसैन ने बताया कि विवाहिता की तहरीर पर दुष्कर्म और मारपीट करने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आरोपी मोहल्ला हबीबुल्ला खां निवासी अवनीश वर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। विवाहिता को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। ब्यूरो
... और पढ़ें

मजदूर वीरेंद्र की मौत के मामले में उसके ही दोस्त पर हत्या का आरोप

न्यूरिया (पीलीभीत)। मजदूर वीरेंद्र की मौत के मामले में उसके ही दोस्त पर परिजन ने हत्या का आरोप लगाया है। आरोपी दोस्त को पकड़कर न्यूरिया पुलिस के हवाले करते हुए कार्रवाई की मांग की गई है। प्रेम प्रसंग में हत्या किए जाने का भी आरोप लगाया गया है। फिलहाल न्यूरिया पुलिस ने खटीमा (उत्तराखंड) पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दे दी है। अग्रिम कार्रवाई वहीं से की जाएगी।
न्यूरिया थाना क्षेत्र के बिथरा गांव निवासी 39 वर्षीय वीरेंद्र पुत्र धनीराम का शव मंगलवार को खटीमा (उत्तराखंड) के मेवादनगर में देवहा नदी में उतराता मिला था। खटीमा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया था। बुधवार को इस मामले में नया मोड़ आया। परिजन ने वीरेंद्र के शेरगढ़ (बरेली) निवासी दोस्त को बुधवार दोपहर पकड़कर न्यूरिया पुलिस के सुपुर्द कर दिया। उनका आरोप है कि उसने ही वीरेंद्र की हत्या की है। प्रेम प्रसंग को लेकर हत्या की अंदेशा जताया गया है। पुलिस ने युवक से पूछताछ की। इंस्पेक्टर बिरजाराम ने बताया कि ग्रामीणों ने एक युवक को पकड़कर उनके हवाले किया है। उसी पर प्रेम प्रसंग को लेकर वीरेंद्र की हत्या करने का आरोप है। चूंकि घटना उत्तराखंड के खटीमा थाना क्षेत्र में हुई है, इसलिए कानूनी कार्रवाई भी वहीं से की जाएगी। परिजन को वहीं जाकर तहरीर देने के लिए कहा गया है। आरोपी को भी खटीमा पुलिस के सुपुर्द किया जाएगा। खटीमा पुलिस को इसकी जानकारी दे दी गई है। उन्होंने बताया कि आरोपी से पूछताछ की गई तो वह भी अपना जुर्म कबूल कर रहा है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन