क्राइम ब्रांच, पुलिस को सौंपा केस

ब्यूरो/ अमर उजाला/ मिर्जापुर Updated Thu, 06 Oct 2016 12:44 AM IST
विज्ञापन
क्राइम
क्राइम - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

विज्ञापन

पुलिस अधीक्षक अरविंद सेन ने डगमगपुर स्थित पाही पर सोते  समय गला रेतकर वृद्ध की हत्या करने तथा उसकी पत्नी को गंभीर रूप से जख्मी करने के मामले का खुलासा करने के लिए क्राइम ब्रांच व पड़री पुलिस को सौंपा है। पुलिस ने घटना के दूसरे दिन मृतक के पोते राजकुमार की तहरीर पर अज्ञात लोगाें के खिलाफ गैरइरादतन हत्या करने तथा चाकू मारने के आरोप में मुकदमा पंजीकृत किया है। थानाध्यक्ष पंकज यादव का कहना है कि आरोपियों ने कोई सामान नहीं लूटा है इसलिए लूट का मुकदमा पंजीकृत नहीं  किया गया है।  
सिंधोरा गांव निवासी प्यारेलाल की गला रेतकर हत्या करने व उनकी पत्नी को गंभीर रूप से जख्मी करने का मामला उलझ गया है। पुलिस कभी जमीनी विवाद तो कभी लूटपाट करने के बिंदु पर जांच कर रही है। सूत्रों की माने तो वृद्ध की हत्या करने के पीछे सबसे अधिक जमीनी विवाद ही लग रहा है। हालांकि परिवार  की माने तो कुछ लोगों से कुछ वर्ष पहले किसी मामले में मुकदमा चल रहा था। उनपर पर भी पुरानी रंजिश के चलते हत्या किए जाने की आशंका जताई जा रही है। इसके अलावा तीसरा मामला लूट का आता है। परिवार वालों की माने तो तीन हजार रुपये प्यारेलाल ने अपने पास रखा था। जो गायब है। इसके अलावा कुछ दिन पहले उसने पेड़ बेचा था।

उसका भी पैसा उनके पास ही था। इससे आश्ंाका जताई जा रही है कि कुछ लोगों को उनके पास मौजूद पैसे की जानकारी हो गई होगी जिसे लूटने के लिए वह रात में आए और उसने पैसा मांगा होगा। नहीं देने पर उनका गला रेत दिया होगा। बता दें कि सिंधोरा गांव निवासिनी रामा देवी चार बहने हैं। जिसमें सबसे बड़ी समदेई, दूसरे नंबर पर रामा देवी, तीसरे नंबर पर सुदामा देवी तथा चौथे पर बदामा है। रामा के पिता झुरू को कोई पुत्र नहंी होने पर रामा ही अपने पिता के साथ मायके में पति प्यारेलाल निवासी धौसापुर चौकाघाट बनारस के  साथ 36 वर्षो से रहती थी। मायके में रहने पर पिता की सारी संपति की देखरेख वहीं करती है। वर्तमान समय में रामा को एक पुत्र शीतल है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us