विज्ञापन

फसलें समेटने में पंजाब की मशीनरी बनी सहायक

ब्यूरो, अमर उजाला/हमीरपुर Updated Sun, 05 Apr 2015 12:49 AM IST
The concentration of crops in Punjab auxiliary machinery
विज्ञापन
ख़बर सुनें
आए दिन मौसम के रंग बदलने से किसान भयभीत है। फसलों पर प्राकृतिक आपदा की मार झेल चुके किसान बची खुची फसलों को समेटने में जुटे है। पंजाब की मशीनरी किसानों के लिए आसरा बन चुकी है। खेती से किसानों का मोह सा भंग होने लगा है।
विज्ञापन
पहले खरीफ व अब रबी की फसल पर प्रकृति ने जमकर कहर बरसाया है। इस क्षेत्र में खरीफ की फसल 70 प्रतिशत से अधिक खराब हुई थी। रबी फसल में ओलावृष्टि से मटर, मसूर की फसलें तहस नहस हो चुकी हैं। गेहूं की फसल भी जमीन में लेटी पड़ी है। फसल में भी 50 फीसदी से अधिक का नुकसान हो चुका है। लेकिन प्रकृति का कहर अभी भी कम नहीं हुआ है।

दो दिन से आसमान में मंडरा रहे बादल व तेज हवाओं से किसान भयभीत हैं। कसबे के बड़े किसान अरविंद राजपूत व जयनारायन सिंह बताते है कि निजी संसाधनों के बाद भी प्राकृतिक आपदा से किसान अछूता नहीं है। 60 से 70 प्रतिशत उत्पादन पर असर पड़ा है। जानवरो के लिए भी इस साल भूसे का संकट रहेगा।

जरिया गांव के किसान राजू तिवारी का कहना है कि क्षेत्र में मजदूरों का संकट होने की वजह से ज्यादातर किसान पंजाब की मशीनरी के भरोसे है। फसल काटने व भूसा बनाने की मशीनों से काम चलाया जा रहा है। यदि पंजाब के लोग यहां न आते तो किसानों की और मुसीबत हो जाती।

छोटे किसान जुगल किशोर, नयनसुख, किशोरीलाल, हरीसिंह, देवी प्रसाद आदि का कहना है कि खेती से अच्छा मेहनत मजदूरी करने में फायदा है। खेती में हाड़तोड़ मेहनत के बाद भी लागत नहीं निकल रही है।

अगले साल खेती नहीं करेंगे। फसलों की कटाई शुरू होते ही पंजाब के किसानों ने मशीनरी लेकर क्षेत्र में कब्जा कर लिया है इसमें उन्हें मोटी कमाई होती है। लुधियाना से आए हरमिंदर व निम्मका सिंह का कहना है कि उनके पास फसलें काटने व भूसा बनाने की मशीनें है। यहां के लोग उनके संपर्क में रहते हैं।

फसल पकते ही इस क्षेत्र में मशीनरी के साथ आते हैं। हार्वेस्टर से कटाई का रेट 1100 रुपये एकड़ व 400 रुपये बीघा लेते है तथा भूसा बनाने का 2200 रुपये प्रति ढाला ले रहे है। उन्होंने बताया कि पंजाब प्रांत से भारी संख्या में लोग इस मौसम में यूपी सहित विभिन्न प्रांतों में निकल जाते हैं और अच्छी खासी कमाई कर लेते हैं। कितनी कमाई होती है इसके बारे में बताने से कन्नी काट ली।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Kanpur

दर्दनाकः किसान पर काल बनकर टूट पड़े 50 जानवर, देखते ही देखते रौंद डाला

यूपी के हमीरपुर जिले में अन्ना घूम रहे मवेशी किसानों के जान के भी दुश्मन बने हैं। बुधवार को खेत पर फसलों की रखवाली कर रहे अधेड़ को करीब 50 जानवरों ने रौंद दिया। जानकारी होने पर परिजन किसान को इलाज के लिए सीएचसी ले गए।

17 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: इस मेले में भिड़े दो समुदाय, पुलिस पर भी हुई पत्थरबाजी

हमीरपुर में कंस मेले के जुलूस के दौरान दो समुदाय के लोग आमने सामने आ गए और देखते ही देखते बवाल शुरू हो गया। वहीं हद तो तब हो गई जब मामले को शांत कराने पहुंची पुलिस पर भी हमला करना शुरू कर दिया गया।

26 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree