विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

गाजीपुर

रविवार, 22 सितंबर 2019

बाढ़ पीड़ितों के घर एक सप्ताह से नहीं जले चूल्हे

औड़िहार। गंगा और गोमती से घिरे गांव खरौना की हालत सबसे दयनीय बनी हुई है। करीब पांच हजार की आबादी वाले इस गांव के लोग शासन -प्रशासन से सहायता पाने का इंतजार कर रहे हैं। घर बार छोड़ कर अधिकतर लोग सड़कों पर आ गए हैं। सबसे बदहाल स्थिति मलहिया बस्ती की है। यहां शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। कहीं पशुओं के बह जाने का डर तो कहीं घर के लोगों के साथ अनहोनी की आशंका। ऊपर से विषैले सांप, बिच्छू आदि जीव जंतु इधर उधर निकल रहे हैं, जिसका खतरा बना हुआ है। बाढ़ से रिहायशी झोपड़ियां और उसमें रखा सामान बर्बाद हो गया है।
जिला प्रशासन ने बाढ़ पीड़ितों के लिए बाढ़ राहत केंद्र बनाया है, लेकिन बस्ती सें दूर होने के नाते पशु आदि लेकर वहां कैसे जाएं, यह परेशानी सामने आ रही है। बाढ़ से फसलें तो पहले ही बर्बाद हो गई है, अब घर में रखा अनाज भी नही बचा है। कई घरों में चूल्हे जलने के लाले पड़े हैं। मिट्टी का तेल तक नसीब नहीं है। पानी गांव की बस्ती को चपेट में ले लिया है। बस्ती में रखे गये गोबर और उपले सड़ कर सड़ांध पैदा कर रहे हैं। बस्ती में संक्रामक रोगों के फैलने का खतरा बना हुआ है। पीने के स्वच्छ जल का पूर्णतया अभाव है। शासन ने अभी तक इस बस्ती के लोगों की सुधि नहीं ली है। गांव की धर्मा देवी, बगेसरा देवी, रेशमा, गंगा यादव, धनंजय, सुभाष, रमापति, उर्मिला, चंद्रा, ज्योति, चंपा प्रशासन को कोस रही है। इन लोगों का कहना है कि सरकार कुछ राहत सामग्री नहीं दे रही है। मलहिया बस्ती की उषा निषाद व उनके पति सुभाष निषाद, इमरती देवी बताती है कि दो दिन से उनके घर चूल्हे नहीं जले हैं। छोटे बच्चों को लाई खिला कर रखा जा रहा है। निशा और मनोज कुमार कहते हैं कि पूरा गांव तीन ओर से पानी से घिर चुका है। गांव के वीरेंद्र सिंह और लाल बहादुर यादव अधिकारियों के आश्वासन को छलावा बताते हुए कहते हैं कि बाढ़ जैसी आपदा के वक्त गरीबों व पीड़ितों को नजर अंदाज करना ना इंसाफी है।
... और पढ़ें

यूपीः बाढ़ पीड़ितों से मिलने गाजीपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी, बांटी राहत सामग्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार दोपहर बाढ़ की मार झेल रहे लोगों से मिलने गाजीपुर के दौरे पर पहुंचे। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री बांटी। लोगों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि पूरा जनपद बाढ़ से पीड़ित है। लोग घर छोड़ने के लिए मजबूर हैं। इन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन को अलर्ट किया गया है। बाढ़ क्षेत्र में राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है और गांव-गांव में नौकाएं लगाई गई हैं

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य की सुविधा के लिए चिकित्सकों को तैनात किया गया है। इसके बाद हेलीकॉप्टर से हवाई सर्वेक्षण कर मुख्यमंत्री ने  बाढ़ग्रस्त इलाके का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने बाढ़ पीड़ितों की हर संभव मदद करने का भरोसा दिलाया।

बयेपुर देवकली में उन्होंने बाढ़ग्रस्त लोगों को राहत सामग्री भी वितरित की। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गांवों में बाढ़ का पानी पहुंचाने से लोगों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। लोग अपने घर छोड़कर पलायन करने को मजबूर हो रहे हैं। बाढ़ से पीड़ित लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाई जाए। एक भी व्यक्ति छुटने न पाए। 
... और पढ़ें

प्रियंका पर अमर्यादित टिप्पड़ी बरदाश्त नहीं

गाजीपुर। जिले के प्रभारी मंत्री आनंद स्वरुप शुक्ला की ओर से कांग्रेस की महासचिव तथा प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी के उपर की गई अमर्यादित टिप्पणी को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का गुस्सा गुरुवार को टूट पड़ा। उन्होंने विरोध जताते हुए मंत्री के फोटो पर कालिख पोत कर अपने गुस्से का इजहार किया।
इस दौरान नेतृत्व कर रहे युवा कांग्रेस के निवर्तमान अशुतोष गुप्ता ने कहा कि आज देश भर में युवा बेरोजगार घूम रहे है। आंर्थिक मंदी जैसे संकट के दौर से देश गुजर रहा है। इन मुद्दों को सुलझाने की बात न कर प्रदेश के मंत्री उल जुलूल बयानबाजी में लगे हुए है। निवर्तमान प्रदेश सचिव जय प्रकाश यादव ने कहा कि जिले के प्रभारी मंत्री को कुछ भी सोच समझ कर बोलना चाहिए। प्रियंका गांधी पर अमर्यादित टिप्पड़ी कभी माफ नहीं किया जाएगा। वरिष्ठ नेता शबीहुल हसन ने कहा कि ऐसे मंद बुद्धि मंत्री को तत्काल बरखास्त कर उन्हे जेल भेजा जाना चाहिए। अन्य वक्ताओं ने कहा कि एक ओर बेटियों की इज्जत और मर्यादा बचाने का ढिंढोरा पीटा जा रहा है वहीं दूसरी ओर भाजपे के नेता देश की बेटियों के खिलाफ जहर उगल रहे है। आगे आने वाले समय में जनता इसका जबाब देगी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष मारकंडेय सिंह, अजय श्रीवास्तव, देवाशु पांडेय, माधव कृष्ण, फरहान अंसारी, शशांक उपाध्याय, अनुराग पांडेय, जनक कुशवाहा, पंकज दूबे, राजेश श्रीवास्तव, श्यामनारायण कुशवाहा, ओमप्रकाश भारद्वाज समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।
... और पढ़ें

प्रेरणा ऐप के विरोध में किया धरना-प्रदर्शन

प्रेरणा ऐप के विरोध में किया धरना-प्रदर्शन
अमर उजाला ब्यूरो
रेवतीपुर। पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर प्रेरणा ऐप के विरोध में ब्लॉक संसाधन केंद्र रेवतीपुर में शनिवार को शिक्षकों ने धरना-प्रदर्शन किया। इस अवसर पर आयोजित सभा में संघ के ब्लॉक अध्यक्ष कृष्णकुमार सिंह ने कहा कि शिक्षक का पद गरिमा का पद है। हम अपने मान-सम्मान के खिलाफ कोई भी आदेश स्वीकार नहीं कर सकते। जब तक इसको वापस नहीं लिया जाएगा तब तक विरोध जारी रहेगा।
सभा में प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष भगवती प्रसाद तिवारी ने कहा कि पूरी दुनिया को अज्ञानता के अंधकार से निकाल कर प्रकाश देने वाले शिक्षक को समाज की नजरों में गिराने का असफल प्रयास किया जा रहा है। सरकार जिस तरह रोज तुगलकी फरमान जारी कर रही है, उसका हम विरोध करते हैं। उन्होंने शिक्षकों से एकजुट होकर संघर्ष तेज करने की अपील की। इस मौके पर नागेश दुबे, इंद्रासन यादव, सत्यप्रकाश श्रीवास्तव, मुश्ताक अंसारी, श्रीकांत मिश्र, शंभूनाथ शर्मा, नवनीत, सत्येंद्र, कृष्णानंद, बिजेंदर, चंद्रमोहन, फहीम, त्रिभुवन राम, धीरेंद्र, विजय सिंह, अखिलेश, मनोरमा सिंह, मंजू सिंह, पूनम साहनी, प्रवीण शुक्ला आदि उपस्थित थे। सभा की अध्यक्षता वीरेंद्र राम तथा संचालन जयशंकर राय ने किया।
... और पढ़ें

सहायक नदियों में भी उफान जारी

गाजीपुर। गंगा की सहायक नदियां गोमती, टोंस, कर्मनाशा, बेसो, मंगई, गांगी आदि में शनिवार को बढ़ाव जारी होने तथा गांवों में प्रवेश करने से अब खतरा बढ़ता जा रहा है। इन नदियों में तेजी का क्रम बना हुआ है। गंगा के तेवर जब तक ढीले नहीं पड़ेंगे, तब तक इन नदियों का जलस्तर भी बढ़ता रहेगा। शनिवार को दर्जन भर से अधिक नए गांवों में पानी घुसने से लोगों में खलबली मची गई है।
गंगा का पानी नगर के चारों तरफ फैल गया है। सभी पक्का घाट और सीढ़ियां पहले ही डूब चुकी हैं। नदी तट पर बने मंदिरों से लेकर चौखट तक पानी पहुंच गया है। कुछ मंदिर भी बाढ़ में डूब गए हैं। शहर के नखास, लकड़ी के टाल, गोला घाट, बंधवा, तड़बनवा, पथरघाट आदि में पानी घुसा है। नगर के कई इलाके में पानी अपना पांव पसार चुका है। बाढ़ का पानी जिलाधिकारी आवास के पास तक पहुंच गया है।
उधर, बेसो नदी का बढ़ाव भी कम नहीं हो रहा है। फतेपुर अटवां, खालिसपुर बवाड़ा, नगवा नवापुरा, जल्लापुर, पकवाइनार, चौरही, चकफरीद आदि गांवों में पानी प्रवेश कर गया है। संपर्क मार्ग डूब गए हैं, जिससे आवागमन बाधित है। गंगा भी कई गांवों में घुसकर कहर बरपा रही है। शहबाजकुली, गौसपुर, फिरोजपुर, चकफरीद गांवों में पानी चढ़ रहा है, जिससे स्थिति और गंभीर होती जा रही है। बारा संवाददाता के मुताबिक, क्षेत्र में गंगा एवं कर्मनाशा नदी का कहर जारी है। बारा गांव के बाहरी क्षेत्र में जल ही जल दिखाई दे रहा है। रौजा, रकबा मुहल्ले में बाढ़ का पानी सड़क पर चढ़ गया है। उधर, कर्मनाशा के पानी से अब कुतुबपुर, मगरखाई, भतौरा आदि गांवों के सैकड़ों घर पानी से घिर गए हैं। कुछ घरों में बीते 24 घंटे के भीतर पानी घुसने लगा है। बाढ़ की समस्या अब और गंभीर होती जा रही है। कर्मनाशा का पानी बारा, कुतुबपुर, मगरखाई, भतौरा, दलपतपुर स्थित खेतों में भी तेजी से फैल रहा है। करीमुद्दीनपुर संवाददाता के मुताबिक, मुहम्मदाबाद-बलिया मार्ग पर पड़ने वाली मंगई नदी भी जोरदार उफान मार रही है। इससे मंगई नदी के तटवर्ती गांव महेंद्र, गोड़उर, करीमुददीनपुर, राजापुर, सिलाईच, खेमपुर, हाटा, प्रधान की बरेजी आदि गांवों में हजारों एकड़ फसलें डूबने के साथ ही सब्जी की खेती को नुकसान पहुंचा है। नदी के तटवर्ती इलाके में रहने वाले लोगों की नींद हराम है। नदी में बाढ़ आने से पानी अब गांव तक पहुंच गया है। ताजपुरडेहमा संवाददाता के अनुसार, टोंस नदी से करीब एक दर्जन गांव घिर गए हैं। गोसलपुर, कुसहां, गड़ार आदि गांवों के किसानों की हजारों एकड़ फसलें जलमग्न हो गई हैं। तटवर्ती इलाके की सैकड़ों एकड़ धान, बाजरा, अरहर, हरी सब्जियां आदि बर्बाद हो गई हैं। पशुओं के चारे की समस्या भी गंभीर होती जा रही है।
... और पढ़ें

बकाया जमा न करने पर कटा 150 का कनेक्शन.

बिरनो। क्षेत्र के पृथ्वीपुर विद्युत उपकेंद्र से संबंधित क्षेत्रों में शनिवार को अधीक्षण अभियंता के नेतृत्व में अधिकारियों ने विद्युत चेकिंग की। इस दौरान विद्युत चोरी करते पाए जाने पर जहां तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। वहीं बकाया जमा न करने पर 150 लोगों का कनेक्शन काटा गया, जबकि एक उपभोक्ता ने बकाया का दस हजार जमा किया। चेकिंग से उपभोक्ताओं में अफरा-तफरी मची रही।
अधीक्षण अभियंता एसएन शुक्ला के नेतृत्व में टीम ने पृथ्वीपुर विद्युत उपकेंद्र से संबंधित दर्जनों क्षेत्रों में उपभोक्ताओं के कनेक्शन की जांच की। इस दौरान लोगों के कनेक्शन के कागजातों के साथ ही मीटर की जांच-पड़ताल की गई। अधीक्षण अभियंता श्री शुक्ला ने बताया कि चेकिंग के दौरान तीन लोग विद्युत चोरी करते हुए पाए गए, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। दस हजार से अधिक के 150 बकाएदारों का कनेक्शन विच्छेद किया गया। एक उपभोक्ता ने बकाया का दस हजार जमा किया। उन्होंने कहा कि विद्युत चोरी में जिन लोगों का कनेक्शन काटा गया है। अगर वह विभाग को सूचना दिए बगैर दोबारा कनेक्शन जोड़ते हैं तो उनके खिलाफ कठोर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी बड़े बकाएदार हैं, वह समय रहते बिल का भुगतान कर दें। ऐसा न करने पर उनका कनेक्शन काटने की कार्रवाई की जाएगी। कहा कि बिजली चोरी किसी भी हाल में क्षम्य नहीं है जो लोग भी चोरी करते हुए पाए जाएंगे, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही अन्य विभागीय कार्रवाई की जाएगी। टीम में अ धीक्षण अभियंता के साथ अधिशासी अभियंता मनीष कुमार निषाद और अन्य अधिकारी-कर्मचारी शामिल रहे। चेकिंग अभियान से उपभोक्ताओं में अफरा-तफरी मची रही। जो लोग कटिया कनेक्शन से बिजली जला रहे थे, वह आनन-फानन में अपना केबिल उतारने में जुट गए। तमाम लोग मकानों में ताला लगाकर इधर-उधर हट गए। बकाया में जिन लोगों की बिजली कटी, उनकी परेशानी बढ़ गई।
... और पढ़ें

नकाबपोश बदमाशों ने कारोबारी को लूटने का प्रयास किया.

बहरियाबाद। थाना क्षेत्र के चकफरीद पुलिया के पास शुक्रवार की देर रात नकाबपोश तीन बदमाशों ने एक कारोबारी से लूट का प्रयास किया, लेकिन कारोबारी बाइक की रफ्तार तेज कर भाग निकला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आसपास बदमाशों की तलाश किया, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला।
मालूम हो कि अकबरपुर गांव निवासी बिहागड़ यादव की कस्बा बाजार के पानी टंकी तिराहा के पास पान एवं जनरल स्टोर की दुकान है। रोज की तरह शुक्रवार की रात भी वह दुकान बंद कर बाइक से घर लौट रहा था। रात करीब दस बजे चौक से जिला मुख्यालय को जाने वाली सड़क पर जैसे से ही चकफरीद नाले पर बनी पुलिया के पास पहुंचा तो देखा कि पुलिया के बीच में तीन नकाबपोश बदमाश हाथों में तमंचा लिए खड़े हैं और रुकने का इशारा कर रहे हैं। यह देख पहले तो बिहागड़ के होश उड़ गए, लेकिन बाद में उसने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए बाइक की रफ्तार को कम किया। इस पर बदमाशों ने सोचा कि वह बाइक रोक रहा है। इसी बीच रफ्तार तेज कर भागने लगा। इस पर बदमाश गोली मारने की बात कहते हुए उसका पीछा करने लगे, लेकिन वह भागने में सफल रहा। घर पहुंचकर उसने घर वालों के साथ ही पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही पुलिस के वायरलेस सेट गरजने लगे। थाना के साथ ही डायल-100 पुलिस ने बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए इधर-उधर भाग-दौड़ की, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला। इस संबंध में थानाध्यक्ष सुशील कुमार यादव ने सूचना मिलते ही बदमाशों की तलाश शुरु कर दी थी। इधर-उधर उनकी खोज करने के साथ ही कई स्थानों पर वाहन चेकिंग की गई, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला। इस मामले में पीड़ित की तरफ से अभी तक तहरीर नहीं मिली है। फिर भी मामले की छानबीन करते हुए बदमाशों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

गबन व धोखाधड़ी का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

दिलदारनगर। थाना पुलिस ने पोस्ट आफिस में आरडी, बैंक में एफडी, एलआईसी के अलावा दर्जनों लोगों से करोड़ों रुपये का धोखाधड़ी करने वाले मुख्य आरोपी को शनिवार की सुबह रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। संबंधित धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया। मुख्य आरोपी के बेटी-बेटी की तलाश में पुलिस संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।
दिलदारनगर बाजार के वार्ड नंबर-पांच निवासी लोकनाथ गुप्ता सहित उसके बेटे अवधेश कुमार एवं बेटी श्वेता गुप्ता के खिलाफ नगर क्षेत्र के करीब 35 लोगों ने पोस्ट आफिस में आरडी, बैंक में एडी, एलआईसी के नाम पर करोड़ों रुपए का धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराया था। पुलिस लगातार तीनों आरोपियों की तलाश में जुटी हुई थी। इसी क्रम में शनिवार को सुबह पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मुख्य आरोपी लोकनाथ गुप्ता रेलवे स्टेशन के पास खड़ा है और कही भागने की फिराक में है। सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आ गई और सुबह करीब साढ़े सात बजे उक्त स्थान पर पहुंच गई। पुलिस को देखते ही आरोपी भागना चाहा, लेकिन पुलिस ने दौड़कर पकड़ लिया और उसे थाना लाई।
इस संबंध में थाना प्रभारी निरीक्षक जयश्याम शुक्ला ने बताया कि मुख्य आरोपी लोकनाथ गुप्ता को रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया गया। संबंधित धाराओं में चालान कर उसे जेल भेज दिया गया। मुख्य आरोपी के बेटा और बेटी की गिरफ्तारी के लिए लगातार संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। उन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। मालूम हो कि नगर के वार्ड नंबर-पांच निवासी डाकघर एजेंट की बेटी श्वेता कुमारी, बेटा अवधेश गुप्ता, पिता लोकनाथ गुप्ता ने पोस्ट ऑफिस में आरडी, एलआईसी के अलावा एफडी के नाम पर वर्षों से नगर सहित आस-पास के लोगों से करोड़ों रुपया का धोखाधड़ी कर फरार हो गया था। इसकी जानकारी होते ही पीड़ितों ने आरोपी के घर पर अपना ताला लगा दिया था। इसके बाद थाना पहुंचे थे। थानाध्यक्ष ने उन्हें समझाते हुए प्रशासनिक अधिकारी से मिलने की सलाह दी थी। जिलाधिकारी के निर्देश पर बीते दिनों पुलिस ने पिता, पुत्र और पुत्री के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर उनकी तलाश शुरू कर दिया था।
... और पढ़ें

वाराणसी सहित इन जिलों में हुईं आपराधिक घटनाएं, जानें कौन सी हैं वो खबरें

वाराणसी सहित आसपास के जिलों में आपराधिक मामले में कम नहीं हो रहे हैं। मझ जिले में पुरानी जमीन को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही वाराणसी में भी बदमाशों ने दंपती की गोली मारकर हत्या कर दी। चंदौली में पीएम आवास के लाभार्थी से घूस लेने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं बलिया में सितंबर को डेढ़ लाख लूट फरार हुए बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बाकी खबरें पढ़ें आगे...

मऊ जिले के रानीपुर थाना क्षेत्र के ब्राह्मणपुर ग्राम पंचायत के हुड़हरा की मठिया गांव में दो पट्टीदारों के बीच जमीनी विवाद को लेकर उपजे विवाद में शुक्रवार की देर रात खूनी संघर्ष हुआ। धारदार हथियार से लैस पट्टीदार ने अपने साथियों संग दूसरे पक्ष पर जानलेवा हमला कर दिया।

क्लिक कर पढ़ें खबर : 
यूपी : जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, तीन लोगों की हत्या से गांव में दहशत

वाराणसी के चेतगंज थाना क्षेत्र के काली महाल क्षेत्र में शनिवार सुबह पिशाचमोचन की गद्दी और संपत्ति विवाद में पूजा कराने जा रहे कर्मकांडी ब्राह्मण और पत्नी की घर में नृशंस हत्या कर दी गई।

क्लिक कर पढ़ें खबर : डबल मर्डर : कर्मकांड कराने वाले गद्दी संचालक और पत्नी की हत्या, एसएसपी से लिपटकर खूब रोया बेटा ... और पढ़ें

चालान काटने पर दो युवकों ने की पुलिसकर्मी की पिटाई, फाड़ दी वर्दी

बाढ़ : गाजीपुर-बलिया में हालात खराब, वाराणसी सहित आसपास के जिलों में स्थिति चिंताजनक

पूर्वांचल में गंगा की लहरें तबाही मचा रही हैं। गंगा के साथ अब पूर्वांचल के आसपास के जिलों में बहने वाली नदियों में पानी जलस्तर बढ़ गया है, जो खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। पूर्वांचल में कई जिलों के गांवों का संपर्क टूट गया है और बाढ़ का पानी घरों में घुस गया है। लोगों को पलायन करने को मजबूर होना पड़ा है।

वाराणसी में शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ प्रभावित इलाको का दौरा किया, और पीड़ित लोगों को राहत सामग्री दी। इसके साथ ही 12 घंटों के अंदर राहत पहुंचाने की बात कही थी। शनिवार को वाराणसी में गंगा का जलस्तर 71.82 मीटर था, जो खतरे के निशान (71.26) से 0.56 मीटर ऊपर बह रही हैं। इसके साथ ही गंगा में एक सेमी प्रति दो घंटे से पानी का बढ़ाव जारी है।

वाराणसी में वर्ष 2016 के बाद यह पहला मौका है, जब गंगा ने वाराणसी में खतरा बिंदु को पार कर लिया है। इससे पहले 2013 को वाराणसी में गंगा ने खतरे का निशान पार किया था। जलस्तर एक घंटा प्रति सेमी बढ़ रहा है। इस लिहाज से गंगा इस समय खतरे के निशान से 20 सेंटीमीटर ऊपर हैं। अगर अगले चौबीस घंटों तक यह गति जारी रही तो कई अन्य कालोनियों में भी गंगा का पानी भर जाएगा और स्थिति काफी भयावह हो जाएगी। गंगा खतरे के निशान को पार करके बह रही है। 1978 की बाढ़ में अधिकतम जलस्तर 73.901 मीटर रहा था।

काशी में बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अस्सी स्थित गोयनका संस्कृत महाविद्यालय में बने राहत शिविर में पीड़ितों के बीच पहुंचे थे। बाढ़ पीड़ितों को अपने हाथों से खाद्य सामग्री समेत उनके जरूरतों से संबंधित अन्य समान का वितरण किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ितों से कहा था कि इस मुसीबत की घड़ी में सरकार के साथ जिला प्रशासन पूरी तरह से उनके साथ खड़ी है। बाढ़ पीड़ितों की हर तरह से मदद की जाएगी, इसके लिए सरकारी खजाना खोल दिया गया है।
... और पढ़ें

स्वामी सहजानंद पीजी कालेज के छात्रों का धरना समाप्त

गाजीपुर। स्वामी सहजानंद पीजी कालेज में मुख्य द्वार पर सीसीटीवी कैमरा और परिसर में बाहरी छात्रों का प्रवेश वर्जित किए जाने समेत 10 सूत्रीय मांगों को लेकर छात्रों की ओर से पांच दिनों से चलाया जा रहा धरना शुक्रवार को समाप्त हो गया। धरना स्थल पर पहुंचे प्राचार्य रवींद्रनाथ राय ने छात्रों की मांगों के संबंध में वार्ता किया आश्वासन दिया। कालेज के मुख्य गेट पर सीसीटीवी लगाने का काम भी शुरु करा दिया गया।
विनय कुमार पाठक ने कहा कि छात्र हित के साथ किसी भी प्रकार की लापरवाही बरदाश्त नहीं की जाएगी। कालेज के मुख्य द्वार पर सीसीटीवी कैमरा और कालेज परिसर में कैंटीन अवश्य होना चाहिए। शिवम उपाध्याय ने कहा कि हमारी सभी मांगे जायज है और इसे हर हाल में पूरा किया जाना चाहिए। कालेज परिसर में बाहरी छात्रों का प्रवेश वर्जित हो जाना चाहिए। फरहान अंसारी ने कालेज में अनुशासन और नियमित पढ़ाई पर जोर दिया। कहा कि इस कालेज में जिले के दूर दराज स्थानों से छात्र छात्राएं आते है। सभी कक्षाओं में माइक्रोफोन स्पीकर होनी चाहिए जिससे शिक्षक की आवाज पीछे तक स्पष्ट सुनाई दे सके। इस मौके पर गोराबाजार के चौकी प्रभारी अशोक मिश्रा, प्रो. रामनगीना यादव, संजय राय, इकबाल अंसारी, नीतिश राय, ओम मिश्रा, आकाश यादव, प्रवीण पांडेय, फहीम खान, अनुराग पाठक, अनुराग पांडेय, ऋषभ उपाध्याय, सिद्धांत सिंह आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

गंगा की सहायक नदियों में बाढ़ से तबाही जारी

गाजीपुर। जनपद से होकर गुजरने वाली गंगा नदी के साथ ही अन्य सहायक नदियों में उफान के कारण विभिन्न इलाकों में तबाही का मंजर जारी है। इन सहायक नदियों में गोमती, टोंस, कर्मनाशा, बेसो, मंगई, गांगी, भैसहीं, उदंती आदि शामिल हैं। इस समय इन सभी के जलस्तर में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। जिससे कई गांव प्रभावित हैं। इस समय गोमती, टोंस, बेसो, कर्मनाशा, मंगई आदि नदियां भी तबाही मचा रही है। तटवर्ती लोगों की सांसें टंग गई हैं। इन बाढ़ पीड़ितों को अभी तक कोई प्रशासनिक सहयोग नहीं मिला है।
टोंस नदी में बढ़ाव जारी, लोग चिंतित
ताजपुरडेहमा। गंगा के दबाव के कारण टोंस नदी में तेजी से पानी बढ़ने लगा है। इसके कारण क्षेत्र के कई गांव पानी से घिर गए हैं। लोगों की नीदें उड़ गई हैं। गोसलपुर, कुसहां, गड़ार आदि गांवों के किसानों की हजारों एकड़ फसलें जलमग्न हो गई हैं। तटवर्ती इलाके की सैकड़ों एकड़ धान, बाजरा, अरहर, हरी सब्जियां आदि बर्बाद हो गई हैं। पशुओं के चारे की समस्या भी गंभीर होती जा रही है। किसान लल्लन, पारस, मुरली, सुभाष, छेदी यादव, लाल बच्चन, गिरजा, हरिहर, रामबदन आदि ने बताया कि नुकसान का आंकलन करने के लिए अब तक कोई कर्मचारी भी दिखाई नहीं दे रहा है। जिला प्रशासन सहायक नदियों से होने वाले नुकसान और तबाही से अनजान है।
कर्मनाशा भी तबाही मचाने को बेकरार
बारा। गंगा एवं कर्मनाशा नदी में उफान से तबाही का मंजर साफ दिखाई देने लगा है। नालों के रास्ते बारा गांव स्थित रौजा, रकबा मुहल्ले में बाढ़ का पानी सड़क पर चढ़ गया है। उधर कर्मनाशा के पानी से कुतुबपुर, मगरखाई , भतौरा गांवों के अनेक घर चारों तरफ से पानी से घिर चुके हैं। अगर थोड़ा और पानी बढ़ा तो कई मुहल्लों की समस्या गंभीर हो जाएगी। गांव में पानी निकासी के लिए बने नालों के रास्ते बाढ़ का पानी निचले इलाकों में प्रवेश करना शुरू कर दिया है। स्थानीय गांव में जिला परिषद की सड़क पानी में डूब गई है। दूसरी ओर कर्मनाशा का पानी बारा, कुतुबपुर, मगरखाई, भतौरा, दलपतपुर स्थित खेतों में तेजी से फैलने लगा है। इस स्थिति को देखते हुए लोगों को 2016 में आई बाढ़ की याद सताने लगी है। जब गांवों में नावों की मदद लेनी पड़ गई थी।
मंगई भी तबाही मचाने को अग्रसर
मुहम्मदाबाद। बलिया की ओर से गंगा के बढ़ रहे दबाव के कारण क्षेत्र से गुजर रही मगंई नदी भी जोरदार उफान मार रही है। गंगा का पानी मंगई नदी में मिल कर क्षेत्र में फैलना शुरू हो गया है। जिससे मंगई नदी के तटवर्ती गांव महेंद्र, गोड़उर, करीमुददीनपुर, राजापुर, सिलाईच, खेमपुर, हाटा, प्रधान की बरेजी आदि गांवों में फसलें जलमग्न हो रही हैं। इससे सब्जी की खेती को नुकसान पहुंच रहा है।
बेसों से घिरे दर्जनों गांव
कठवामोड़। क्षेत्र में बेसो नदी के बढ़ाव से तबाही मची हुई है। पानी दर्जनों गांव में प्रवेश कर गया है तथा अधिकतर गांव घिरे हुए हैं। शुक्रवार को भी फतेपुर अटवां, खालिसपुर बवाड़ा, नगवां नवापुरा, जल्लापुर, पकवाइनार, चौरही, चकफरीद आदि गांवों में पानी प्रवेश करता रहा। इस क्षेत्र में गंगा भी कई गांवों में घुस कर कहर बरपा रही है। शहबाजकुली, गौसपुर, फिरोजपुर, चकफरीद गांवों में पानी चढ़ रहा है जिससे स्थिति और गंभीर होती जा रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree