बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

गाजीपुर

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी: मलमास के अंतिम दिन गंगा नहाने जा रही तीन महिलाओं की ट्रक से कुचलकर मौत, हादसे में चार घायल

यूपी के गाजीपुर जिले के जमानिया कोतवाली क्षेत्र के मंझरिया गांव के सामने ट्रक से कुचलकर तीन महिलाओं की मौत हो गई। जबकि चार गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे के बाद  गुस्साए ग्रामीणों ने जमानिया-गाजीपुर मार्ग जाम कर दिया। उधर, हादसे की जानकारी मिलते ही एसडीएम सत्यप्रिय सिंह और सीओ मौके पर पहुंच गए। लेकिन ग्रामीण मौके पर डीएम-एसपी को बुलाने की जिद्द पर अड़े हुए हैं।

मंछरियां गांव निवासी ज्योतिया देवी (60), किरन (14), अंजलि यादव (16), मीरा (45), मौसम यादव(17), भागमनी (55) और राधिका देवी (50) मलमास के अंतिम दिन गंगा नहाने जा रही रही थीं। इसी दौरान तेज रफ्तार अनियंत्रित ट्रक ने ज्योतिया देवी और मीरा को कुचलते हुए अन्य पांच को भी धक्का मार दिया। हादसे में इलाज के लिए वाराणसी जा रही एक और घायल महिला ने दम तोड़ दिया।
... और पढ़ें

यूपी: मुख्तार अंसारी गैंग पर शिकंजा, मऊ विधायक  समेत 8 पर गैंगेस्टर, ठेके के विवाद में हत्या का मामला

मऊ विधायक मुख्तार अंसारी पर आजमगढ़ जनपद पुलिस ने शिकंजा कसना तेज कर दिया है। जिले के तरवां थाना क्षेत्र में हुए हत्या के एक मामले में पुलिस ने मुख्तार समेत उसके 8 सहयोगियों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई की है। एसपी के निर्देश पर तरवां थाने में गैंगेस्टर का मुकदमा पंजीकृत करने के साथ ही गैंगशीट खोलने की कवायद भी शुरू कर दी गई है। ताकि मुख्तार व उसके सहयोगियों पर आगे की कार्रवाई की जा सके।

दरअसल, छह फरवरी 2014 को तरवां थाना क्षेत्र के ऐराकला गांव में निर्माणाधीन एक सड़क के ठेके को लेकर मुख्तार गैंग के लोगों ने ठेकेदार राजेश सिंह निवासी अहिराबाद थाना सरायलखंसी, जिला मऊ पर 6 फरवरी 2014 को ताबड़तोड़ फायरिंग की थी। इस दौरान राजेश सिंह के दो मजदूरों राम इकबाल पुत्र मोहन निवासी सरदहा थाना मोच जिला गया बिहार तथा पांचू पुत्र रामजतन को भी गोली लगी थी।

इसमें राम इकबाल की मौत हो गई थी। घटना के बाबत ठेकेदार राजेश सिंह ने विधायक मुख्तार समेत 15 के खिलाफ तरवां थाने में नामजद मुकदमा दर्ज कराया था।

मुकदमा स्पेशल एमपी-एमएलए कोर्ट में चल रहा था, जिसमें मुख्तार के अलावा मऊ जिले के सरायलखंसी थाना क्षेत्र के कोथौली गांव निवासी हरेंद्र सिंह, अशोक सिंह, मेंहनगर के वीरपुर गांव निवासी सोहन पासी, मऊ के चिरैैयाकोट थाना क्षेत्र के मोहावापुर गांव निवासी राजन पासी, तरवां के रासेपुर निवासी झिन्नू सेठ, मेंहनगर के वीरपुर गांव निवासी श्याम बाबू पासी, मऊ के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र के रायपुर सरसेना गांव निवासी छोटा पंकज, अनुज कन्नौजिया, मऊ के चिरैयाकोट थाना क्षेत्र के रायपुर पलिया गांव निवासी राजेंद्र पासी, जहानागंज के मोहसिल गांव निवासी हरिकेश यादव, मऊ के सराय लखंसी थाना क्षेत्र के अहिराबाद गांव निवासी राजेश उर्फ राजन सिंह, उमेश सिंह, सिहारी राजभर, अभिशेष मिश्र शामिल थे। 
 
... और पढ़ें

गाजीपुर: रात में घर से किशोरी को किया अगवा, शादी का झांसा देकर किया सामूहिक दुष्कर्म, मुकदमा

गाजीपुर जिले के नंदगंज थाना क्षेत्र के एक गांव की किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म करने का मामला शनिवार की देर रात प्रकाश में आया। पीड़ित परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्जकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। साथ ही पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल भेज दिया गया।         

पीड़िता के भाई ने देर शाम पुलिस को तहरीर देकर बताया कि एक अक्तूबर की रात बहन घर में सोई थी। रात में तीन युवकों ने उसे घर से अगवा कर लिया था। काफी तलाश करने के बाद वह अगले दिन दो अक्तूबर को जौनपुर जनपद के पतरही गांव में मिली थी। किशोरी ने परिजनों को आप बीती सुनाई।

उसने बताया कि एक युवक ने अपने दो साथियों के सहयोग से अगवा किया और शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया। थानाध्यक्ष राकेश सिंह ने बताया कि तहरीर मिली है। तीनों युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। किशोरी को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

दर्दनाक: नशे में धुत मामा ने इकलौते भांजे की गला रेतकर हत्या की, हत्यारोपी को ग्रामीणों ने पकड़ा

गाजीपुर जिले के गहमर थाना क्षेत्र के रिपोर्टिंग पुलिस चौकी स्थित बस स्टैंड के पास गुरुवार की शाम करीब पांच बजे गांजे के नशे में धुत मामा ने तीन वर्षीय इकलौते भांजे की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। वारादात को अंजाम देकर भाग रहे हत्यारोपी को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और आरोपी को हिरासत में लेकर पुलिस थाने ले गई। इधर घटना के बाद परिजनों के रोने-बिलखने से गांव में मातम पसर गया।

पुलिस के अनुसार, दिलदारनगर थानाक्षेत्र के मिर्चा गांव निवासी अमजद खां का पुत्र दानियाल(3) मां शबाना खातून के साथ एक वर्ष से बारा गांव में ननिहाल रहता था। गांजे के नशे में धुत मामा अमजद खां घर के एक कमरे में सो रहा था।

आंगन में खेलते समय ले गया कमरे में
इसी बीच किसी बात को लेकर घर के आंगन में खेल रहे अपने इकलौते भांजे दानियाल को कमरे में ले गया और पलंग पर लेटाकर चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। घटना की जानकारी होने पर मासूम की मां शबाना खातून सहित परिवार के अन्य सदस्यों में चीख-पुकार मच गई।
 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

गोरखपुर: मनीष गुप्ता हत्याकांड के दो और हत्यारोपी पुलिसकर्मी गिरफ्तार, आत्मसमर्पण करने जा रहे थे कोर्ट

गोरखपुर के होटल कृष्णा पैलेस में कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की मौत मामले में हत्यारोपी दरोगा राहुल दुबे और सिपाही प्रशांत कुमार को मंगलवार की दोपहर गोरखपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के कोर्ट में हाजिर होने के फिराक में गोरखपुर आए थे। पुलिस ने आजाद चौक इलाके से दोनों को गिरफ्तार कर एसआईटी कानपुर के सुपुर्द कर दिया है। दोनों पर कानपुर पुलिस की ओर से एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया था। एसआईटी देर शाम तक दोनों से पूछताछ कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, कारोबारी गुप्ता की हत्या में नामजद आरोपी राहुल दुबे और सिपाही प्रशांत कोर्ट में हाजिर होने के लिए गोरखपुर आए थे। इसकी भनक गोरखपुर पुलिस को लग गई थी। लिहाजा, एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने घेराबंदी कराई और अलग-अलग टीमें लगा दीं।

इसी बीच कैंट इंस्पेक्टर सुधीर कुमार सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी दरोगा और सिपाही आजाद चौक चौकी के पास मौजूद है। दोनों वाहन पकड़कर कचहरी जाने के फिराक में थे। सूचना मिलने के साथ ही कैंट इंस्पेक्टर सुधीर सिंह, रामगढ़ताल इंस्पेक्टर सुशील कुमार शुक्ला व फलमंडी चौकी इंचार्ज शेष कुमार शुक्ला पहुंच गए और दोनों आरोपियों को पकड़ लिया।

उन्हें सीधे रामगढ़ताल थाने ले जाया गया। साथ ही गिरफ्तारी की सूचना कानपुर एसआईटी के प्रभारी व एसीपी आनंद प्रकाश तिवारी को दी गई। सूचना पर एसआईटी रामगढ़ताल थाने पहुंच गई थी और दोपहर 2:30 बजे से देर शाम तक पूछताछ जारी थी। गिरफ्तार राहुल दुबे मिर्जापुर के कोतवाली देहात के मिश्र पचेर गांव का रहने वाला है, जबकि प्रशांत कुमार गाजीपुर के सैदपुर थानाक्षेत्र के भटौला गांव का रहने वाला है।


 
... और पढ़ें

गाजीपुर: मुख्तार अंसारी की पत्नी और साले की एक करोड़ 18 लाख की संपत्ति कुर्क, लखनऊ में भी होगी कुर्की

प्रदेश के माफियाओं के खिलाफ योगी सरकार लगातार एक्शन मोड में है। इन पर शिकंजा कसने के साथ लगातार ताबड़तोड़ कार्रवाई हो रही है। प्रशासन माफियाओं के अवैध निर्माणों को ध्वस्त कराने, अवैध संपत्ति को कुर्क करने के साथ ही शस्त्र लाइसेंसों को निलंबित करने की कार्रवाई कर रही है। 

गाजीपुर में मंगलवार को जिला प्रशासन ने आईएस 191 गैंग के लीडर बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी और साले सरजील रजा की नगर के सैय्यदबाड़ा स्थित एक करोड़ 18 लाख के आवासीय भवन को मुनादी कराकर कुर्क किया। वहीं लखनऊ के गोमतीनगर स्थित एक करोड़ के आवासीय फ्लैट को कुर्क करने के लिए जिला पुलिस टीम लखनऊ के लिए रवाना होगी।



 
सीओ सिटी ओजस्वी चावला ने बताया कि प्रदेश में माफियाओं के विरुद्ध चल रहे अभियान के तहत जिलाधिकारी एमपी सिंह ने पुलिस की आख्या पर दो अगस्त को गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी और साले सरजील रजा की कुल दो करोड़ 18 लाख की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश जारी किया था। आदेश के क्रम में नगर के सैय्यदबाड़ा स्थित आवासीय भवन (अनुमानित लागत एक करोड़ 18 लाख) को मुनादी कराकर कुर्क करने की कार्रवाई की गई। इसके साथ ही लखनऊ के गोमतीनगर स्थित आवासीय फ्लैट (अनुमानित लागत एक करोड़) के कुर्की की कार्रवाई के लिए जिले की पुलिस टीम लखनऊ रवाना होगी। 
... और पढ़ें

गाजीपुर ऑनर किलिंग: पहले अपनी बेटी को दफनाया, फिर जिस सिपाही से कोर्ट में शादी की शादी, उसे भी मारकर फेंका

अमेठी में तैनात बभनौली गांव निवासी पुलिसकर्मी ही नहीं, उसकी प्रेमिका की भी हत्या की गई थी। प्रेमिका के घरवालों ने ही दोनों को गोली मारी थी। वारदात के बाद युवती के शव को घर के पास खेत में दफना दिया था। पुलिस ने युवती का शव बरामद कर लिया। मामले में छह लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। चचेरी बहन की सगाई पर अमेठी से छुट्टी लेकर गाजीपुर जिले के खानपुर थाना क्षेत्र के बभनौली गांव आया पुलिसकर्मी अजय यादव 22 फरवरी को रामपुर गांव के बाहर सिवान में गोली लगने से घायल मिला था। इलाज के दौरान वाराणसी में उसकी मौत हो गई थी। पुलिस टीम ने उसके दो साथियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। उनसे मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने इचवल गांव में एक मकान पर छापा मारकर पुलिस ने छह लोगों को उठाया तो मामला खुल गया। पुलिस के अनुसार, अजय यादव और इचवल निवासी सोनाली सिंह(25) में कईं वर्षों से प्रेम संबंध था। दोनों ने 2018 में कोर्ट मैरिज कर ली थी, लेकिन युवती के परिवार वाले इसे मानने को तैयार नहीं थे। देखें अगली स्लाइड्स...।
... और पढ़ें

तस्वीरें: ऑनर किलिंग की ये कहानी जानकर हो जाएंगे हैरान, पहले पिता ने बेटी को दफनाया फिर उसके प्रेमी के सिर में मार दी गोली

सोनाली सिंह (फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में सोमवार को हुई पुलिसकर्मी की मौत के मामले में पुलिस ने एक खुलासा किया है। जिसमें उसकी हत्या प्रेम-प्रसंग में की गई थी। सोमवार को पुलिसकर्मी घायल अवस्था में मिला था, जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया था। वहां उसकी मौत हो गई। पुलिसकर्मी अमेठी जिले के थाने में तैनात था। दो साल पहले उसने अपने पड़ोस के गांव की ही युवती से कोर्ट मैरेज की थी। सोमवार की सुबह युवती के परिजनों ने पुलिसकर्मी को फोनकर घर पर बुलाया था। इसके बाद दोनों की गोली मार दी। जिसमे युवती की मौके पर ही मौत हो गई और उसके शव को घर के पास खेत में दफन कर दिया। जबकि पुलिसकर्मी को घायला अवस्था में रामपुर गांव के सिवान में छोड़कर चले गए थे। पुलिस टीम ने मृतक पुलिसकर्मी के स्मार्ट फोन से छानबीन के बाद  खेत में दफन किए गए युवती के शव को भी बरामद कर लिया। साथ ही हत्यारोपी पिता को हिरासत में लेकर छानबीन शुरू कर दी। देखें अगली स्लाइड्स...।
... और पढ़ें

मोहब्बत के इस खौफनाक अंत को जानकर कांप उठेगी रूह, पिता ने बेटी और उसके पुलिसकर्मी प्रेमी को गोली मारकर दफनाया

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में सोमवार को घायल मिले पुलिसकर्मी की इलाज के दौरान मौत हो जाने के मामले में नया मोड़ आया है। पुलिसकर्मी अमेठी जिले के थाने में तैनात था। दो साल पहले उसने अपने पड़ोस के गांव की ही युवती से कोर्ट मैरिज की थी। सोमवार की सुबह युवती के परिजनों ने पुलिसकर्मी को फोनकर घर पर बुलाया था।

इसके बाद दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी। युवती के शव को घर के पास खेत में दफन कर दिया। जबकि पुलिसकर्मी को घायल अवस्था में रामपुर गांव के सिवान में छोड़कर चले गए थे।

पुलिस टीम ने मृतक पुलिसकर्मी के स्मार्ट फोन से छानबीन के बाद  खेत में दफन किए गए युवती के शव को भी बरामद कर लिया। साथ ही हत्यारोपी पिता को हिरासत में लेकर छानबीन शुरू कर दी।
... और पढ़ें

यूपीः  छत्तीसगढ़ का सिपाही ग्रेनेड के साथ गिरफ्तार, साथी के पास से रिवाल्वर, पिस्टल और पांच कारतूस भी बरामद

गाजीपुर जिले की गहमर पुलिस और एसओजी की टीम ने सोमवार देर रात संदिग्धावस्था में घूम रहे छत्तीसगढ़ आर्म्स पुलिस के कांस्टेबल राकेश राय सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी में उनके पास एक हैंड ग्रेनेड, रिवाल्वर, पिस्टल एवं पांच कारतूस बरामद हुए।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अनिल झा ने गहमर थाने में मीडिया को बताया कि सोमवार देर रात गहमर पुलिस एवं एसओजी टीम गश्त कर रही थी। टीम बारा गांव स्थित दंगलबीर बाबा मंदिर के पास पहुंची तो दो संदिग्ध दिखाई पड़े। पुलिस ने दोनों रोका तो उन्होंने भागने की कोशिश की पर टीम ने उन्हें दबोच लिया।

तलाशी में उनके पास से एक हैंड ग्रेनेड, 32 बोर का रिवाल्वर, नाइन एमएम की पिस्टल, पांच कारतूस बरामद हुए। पूछताछ में छत्तीसगढ़ पुलिस के कांस्टेबल राकेश राय ने बताया कि वह उसका साथी गंगासागर बिहार के बक्सर जिले के राजपुर थाना स्थित जलीलपुर गांव के निवासी हैं।

वह 40 दिनों के अवकाश पर घर आया था और तभी से गैरहाजिर चल रहा है। हैंडग्रेनेड और अन्य असलहे वह वहीं से लेकर आया था। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज लिया है। राकेश के कमांडेंट एवं कंपनी कमांडर को रिपोर्ट भेज दी गई है।
... और पढ़ें

गाजीपुर में बदमाशों ने किसान को मारी गोली, खाना खाने के बाद घर के बाहर निकला था हाथ धोने 

गाजीपुर जिले के मुहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के दौलताबाद गांव में शुक्रवार की देर रात ट्यूबवेल पर खाना खाकर हाथ धो रहे किसान को बदमाशों ने गोली मार दी। गोली उसके बाएं हाथ की कोहनी के ऊपर लगी है। किसान ने खेत में भागकर जान बचाई। पुलिस ने किसान को सीएचसी पहुंचाया, जहां से डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। पुलिस ने होमगार्ड समेत तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया। 

गांव निवासी जितेंद्र कुशवाहा (40) देर रात ट्यूबवेल स्थित कमरे में खाना खाने के बाद बाहर निकलकर हाथ धो रहे थे। इसी दौरान पैदल तीन लोग आते दिखाई दिए। उन्हें देखकर जितेंद्र जब घर की तरफ भागने लगे तो बदमाशों ने गोली चला दी। गोली किसान के बाएं हाथ की कोहनी के ऊपर लगी।

अंधेरे का लाभ उठाते हुए जितेंद्र खेत में जा छिपे। कुछ देर तक तलाश करने के बाद बदमाश  फरार हो गए। सूचना पर पुलिस ने घायल से पूछताछ की और उसे अस्पताल भेजा।
... और पढ़ें

यूपी: चाकू मारकर चचेरे भाई की हत्या, पारिवारिक विवाद में दिया वारदात को अंजाम 

गाजीपुर जिले के नोनहरा थाना क्षेत्र के फत्तेहपुर अटवा गांव में करकट (सीमेंट रूफिंग शीट)  लौटाने को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए। विवाद में चचेरे भाई की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना के बाद दर्जनभर लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।
 
इलाके के फतेहपुर अटवा निवासी राशिद खान (25) और उसके चचेरे भाई शहबाज खान के बीच करकट लौटाने को लेकर गुरुवार की रात कहासुनी हो गई। लोगों के समझाने-बुझाने के बाद मामला शांत हो गया। इसके बाद दोनों परिवार के लोग सो गए। आज सुबह सात बजे शहबाज खान अपने मित्रों के साथ राशिद के घर पहुंचा और गाली-गलौज करने लगा।

मना करने पर शहबाज ने चचेरे भाई राशिद के पेट व सीने में ताबड़तोड़ चाकू से प्रहार कर दिया। परिजनों के शोर मचाने पर जब-तक आस-पास के लोग पहुंचते आरोपी और उसके साथी फरार हो गए। इधर, ग्रामीणों की मदद से परिजन घायल को उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर आए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
... और पढ़ें

यूपी के गाजीपुर में जमीन विवाद में बड़े भाई ने की छोटे की हत्या, 5 दिन पहले शव मकान में बंदकर फरार, ऐसे हुई जानकारी

गाजीपुर जिले के  नोनहरा थाना क्षेत्र के बवाड़ा गांव में पांच दिन पहले घर के बंटवारे के विवाद में बड़े और छोटे भाई में जमकर विवाद हुआ। इसके बाद बड़े ने छोटे भाई की धारदार हथियार से हत्या की और दरवाजे को बाहर से बंदकर फरार हो गया। शुक्रवार को दुर्गंध उठने के बाद ग्रामीणों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस ने दरवाजे का ताला तोड़ा तो जमीन पर शव पड़ा मिला। इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी गई। आनन-फानन में फारेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंच गई और मामले की छानबीन में जुट गई। उधर, पिता की हत्या की सूचना  मिलते ही उनकी बेटियां रोते-बिलखते घर पहुंचीं । मृतक की बड़ी बेटी की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर हत्यारोपी की तलाश शुरू कर दी।
 
बवाड़ा गांव निवासी गुप्तेश्वर सिंह उर्फ मुन्ना (45) निजी बस पर कंडेक्टर का काम करता  था । वह बीते 12 दिसंबर को घर पहुंचा। दूसरे दिन अचानक तीस साल पहले खेत बेचकर घर से फरार हो चुका बड़ा भाई मोहन सिंह आ धमका। रात में दोनों में घर के बंटवारे को लेकर कहासुनी हुई। विवाद काफी बढ़ गया, लेकिन इस बात की जानकारी किसी को नहीं हुई।

आशंका है कि उसी दिन रात में  मोहन ने छोटे भाई पर धारदार हथियार से वार कर मौत के घाट उतार दिया। साथ ही शव को घर में छोड़ बाहर से दरवाजे में ताला बंदकर फरार हो गया। पांच दिन बाद जब शव में सड़न से दुर्गंध आनी शुरू हुई, तो ग्रामीणों ने इसकी सूचना नोनहरा पुलिस को दी।
 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00