विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अनोखा विरोध: कलक्ट्रेट के बाहर 25 रुपये प्रति किलो बेचा प्याज, खरीदारों की उमड़ी भीड़

वरिष्ठ कांग्रेसजन संघर्ष समिति के लोगों ने कलक्ट्रेट के गेट पर महंगाई के विरोध प्याज की सेल लगाई।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

एटा

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

शाम ढलते ही सूनी हो जाती हैं शहर की अधिकांश चौकियां

एटा। सर्दी धीरे-धीरे परवान चढ़ने लगी है। देर रात से छाने वाला कोहरा दोपहर तक छाया रहता है। सर्दी भरी रातों में लोगों में सुरक्षा को लेकर आशंका बनी रहती है, हो भी क्यों न जब शहर की ज्यादातर सुरक्षा पुलिस चौकियां राम भरोसे हैं। अधिकतर चौकियां सूरज ढलते ही सूनी हो जाती हैं। अमर उजाला ने छह दिसंबर की रात शहर की चौकियों की लाइव पड़ताल की तो कई पुलिस चौकियों पर एक भी सिपाही नहीं मिला। कई पर ताले लटके नजर आए। सबसे महत्वपूर्ण पुलिस चौकी इंद्रपुरी है, यहां पर बराबर में ही सदर विधायक रहते हैं। इंद्रपुरी खुद ही पॉश कालोनी में शुमार है। इस कालोनी में शहर के बड़े व्यापारी और संभ्रांत लोग रहते हैं।
इस चौकी की हालत यह है कि सूरज ढलते ही प्रभारी सहित बीट का सिपाही तक नजर नहीं आता है। यही आलम सबसे व्यस्ततम क्षेत्र गोदाम चौकी का मिला। यहां पर पिछले दिनों ही चौकी के सामने से व्यापारी की दुकान में नकाबपोश घुस गए थे और लाखों की चोरी कर ले गए। इसके बावजूद गोदाम चौकी प्रभारी द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। यहां पर जब 10 बजे पहुंचकर लाइव देखा गया तो एक भी सिपाही नहीं था और न ही चौकी प्रभारी मिले। इससे साबित हो रहा है कि घंटाघर के आस पास व्यापार करने वाले व्यापारी अपनी खुद ही सुरक्षा करें न कि पुलिस के भरोसे रहे।
... और पढ़ें

चप्पे-चप्पे पर तैनात रहा फोर्स

एटा। अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने की 27वीं बरसी पर जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जिला मजिस्ट्रेट सुखलाल भारती, एसएसपी सुनील कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से शुक्रवार को शहर में भ्रमण किया। अधिकारियों ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। कहा कि धारा 144 लागू है, अवहेलना करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
डीएम, एसएसपी ने गोदाम चौकी पहुचंकर जीटी रोड, हाथीगेट आदि स्थानों पर रूट मार्च कर व्यापारियों, आमजमानस से शांति की अपील की। बताया कि जिले को दो सुपर जोन, 4 जोन, 17 सेक्टर में बांटते हुए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को तैनात किया है। एसएसपी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया पर भी पुलिस की कड़ी नजर है। भड़काऊ पोस्ट डालने, शेयर करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सीओ इरफान नासिर खान, देव आनंद, थाना प्रभारी अशोक कुमार सिंह आदि मौजूद रहे।
देहात में भी छायी रही शांति
अलीगंज। सीओ के निर्देशन में चेकिंग अभियान चलाया। एसडीएम पीएल मौर्य, सीओ अजय भदौरिया के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पंकज मिश्रा ने डांक बंगला, कैल्ठा चौराहा, नगला पड़ाव, कोल्डस्टोर के पास, सराय अगहत बस स्टैंड, मैनपुरी रोड आदि पर वाहनों की चेकिंग कराई और संदिग्ध लोगों से पूछताछ की। जलेसर में भी शांति व सौहार्द बनाये रखने के लिए एसडीएम अरुण कुमार, सीओ गुरमीत सिंह, कोतवाली प्रभारी एमएस भाटी ने पैदल मार्च किया। राजा का रामपुर में संबंधित थानों में पीस कमेटी की बैठक की गई। थाना प्रभारी रामवतार सिंह कस्बा और ग्रामीण इलाकों में गश्त करते रहे।
... और पढ़ें

घने कोहरे ने बढ़ाई परेशानी, सड़कों पर रेंगते रहे वाहन

एटा। दिसंबर माह के शुरुआत में ही ठंड के तेवर दिखने लगे हैं। शीतलहर और कोहरे ने लोगों को खासा परेशान करना शुरू कर दिया है। सर्दी से राहत पाने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया। लोग मूं्गफली, गजक, रेवड़ी, पकोड़े और चाय का स्वाद ले रहे हैं।
शुक्रवार सुबह-सुबह ठंड और कोहरे का असर नजर आया। कोहरे ने लोगों को परेशान किया। वहीं गलन ने आफत बढ़ाई। घने कोहरे में दृश्यता कम रहने के चलते वाहनों की रफ्तार पर ब्रेेक लगे रहे। लोगों को वाहनों की लाइट जलाकर रास्ता पार करना पड़ा। कोहरे के साथ चलीं सर्द हवाओं ने भी ठंड बढ़ा दी।
सुबह 11 बजे तक कोहरे घनी चादर तनी रही। इस दौरान सड़क पर गिने-चुने वाहन ही नजर आए। कोहरे के चलते लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हुई। वहीं लोग घरों से गर्म कपड़ों में बाहर निकले। दोपहर को हल्की धूप निकली, लेकिन सर्द हवा चलने से राहत नहीं मिल सकी। कोहरे के साथ सर्द हवाओं के चलने से तमाम जगह पर लोग अलाव तापते नजर आए।
घने कोहरे में रोडवेज और टाटा 407 भिड़े, एक की मौत, दो घायल
जैथरा। थाना क्षेत्र स्थित गांव सर्रा एटा-अलीगंज रोड के पास सुबह सात बजे घने कोहरे में लोनी डिपो की बस और टाटा 407 की भिड़ंत हो गई। दोनों वाहनों की भिड़ंत में टाटा 407 में सवार महेश (50) पुत्र रामसहाय निवासी राया थाना जैथरा, जगपाल (60) पुत्र बेला सिंह निवासी अहमदपुर थाना जैथरा और असगर अली (48) पुत्र नूर हुसैन निवासी सौंहार थाना मलावन घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां पर महेश और जगपाल की हालत गंभीर होने पर आगरा रेफर कर दिया गया है। जहां जगपाल की मौत हो गई।
वहीं थाना सकीट क्षेत्र स्थित नवोदय विद्यालय के पास मैक्स की चपेट में आने से मारुति वैन अनियंत्रित होकर नाली में पलट गई। वैन में सवार नंदन सराफ घायल हो गए। अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों हादसे घने कोहरे के चलते शुक्रवार की सुबह घटित हुए हैं।
स्पीड ब्रेकर पर अनियंत्रित बस विद्युत पोल से टकराई
अवागढ़। घने कोहरे के चलते एक बस विद्युत पोल से टकरा गई। इससे रकसबा सहित छह फीडर की विद्युत आपूर्ति 20 घंटे तक प्रभावित रही। अवागढ़-एटा रोड स्थित ग्राम मोहनपुर में बृहस्पतिवार रात नौ बजे ऊंचे स्पीड ब्रेकर से अनियंत्रित होकर 33 हजार के विद्युत पोल से टकराकर भूरे खां के घर में घुस गई। इससे पोल टूट गया। घर में बंधी भैंस घायल हो गई। पूरे बिजलीघर की आपूर्ति ठप हो गई। कस्बा सहित छह ग्रामीण फीडर 20 घंटे तक बंद रहे। शुक्रवार शाम चार बजे आपूर्ति सुचारु हो सकी।
... और पढ़ें

सर्द मौसम पढ़ने लगा मासूमों की सेहत पर भारी

एटा। सर्द मौसम बच्चों के लिए खतरनाक होता जा रहा है। जरा सी लापरवाही से बच्चे बीमार पड़ सकते हैं। इस मौसम में बच्चों को बीमारियों से बचाने के लिए सावधानी जरूरी है। अन्यथा उन्हें डायरिया, निमोनिया और वायरल बुखार जैसी घातक बीमारी घेर सकती हैं। इन दिनों जिला अस्पताल सहित नर्सिंग होम में मरीजों में सर्वाधिक संख्या बच्चों की है।
बदलता मौसम बीमारियां तेजी से लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। उल्टी, खांसी, दस्त, निमोनिया और डायरिया से बच्चों की सेहत बिगड़ रही है। जिला अस्पताल से लेकर नर्सिंग होम में बीमार बच्चों की भरमार देखी जा सकती है। सही समय पर लक्षणों की पहचान कर बच्चों को इन बीमारियों से बचाया जा सकता है।
यदि बच्चे की पसली चले, स्तनपान न करे, अंगों में शिथिलता हो तो यह लक्षण निमोनिया के है। बच्चे को बिना लापरवाही किए तुरंत चिकित्सक को दिखाना चाहिए। यदि बच्चे को 24 घंटे में तीन से चार दस्त हों ऐसी स्थिति में वह डायरिया का शिकार हो सकता है। ऐसे बच्चे को तुरंत ओआरएस का घोल देना चाहिए।
कम वजन के बच्चे हो रहे इंफेक्शन का शिकार
सर्दी के मौसम में सर्वाधिक बीमारियों के शिकार कम वजन के बच्चे हो रहे हैं। चिकित्सकों की मानें तो एक वर्ष के बच्चे में दस किलोग्राम का वजन होना चाहिए, लेकिन जिले में यह स्थिति चिंताजनक है। यहां बच्चे सात से आठ किलोग्राम के हैं। इससे उनकी प्रतिरोधी क्षमता पर प्रभाव पड़ता है। जिससे बच्चों में बीमारियां फैल रहीं है।
जिला अस्पताल में सोमवार को पहुंचे 260 बच्चे
जिला अस्पताल में सोमवार को बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. अनंत व्यास ने 260 बच्चों का इलाज किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि 20 फीसद बच्चे निमोनिया व डायरिया के पीड़ित आ रहे है। अधिकांश बच्चे सर्दी, खांसी से ग्रसित हैं।
छह माह तक पिलाएं मां का दूध
चिकित्सकों ने बताया कि नवजात को गंभीर जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए मॉ का दूध जरूरी होता है। इसलिए नवजात को छह माह तक मां का दूध पिलाना चालिए। जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
चिकित्सकों का कहना
बदलते मौसम में बच्चे बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। बच्चों पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है । माताएं अपने बच्चे को छह माह तक स्तनपान कराएं। इसके बाद ही बच्चों को पूरक आहार देें।
डॉ. राजेश सक्सेना, बाल रोग विशेषज्ञ
इस समय बच्चों को सर्दी से बचाना जरूरी है। थोड़ी सी लापरवाही में बच्चे निमोनिया व डायरिया के शिकार हो रहे हैं। बीमारियों से बच्चों को बचाने के लिए ऊनी कपड़ों से उन्हें पूरी तरह ढककर रखें।
डॉ. अनंत व्यास, बाल रोग विशेषज्ञ जिला अस्पताल
... और पढ़ें
एक क्लीनिक पर बच्चे को लेकर बैठी दवा लेने आई  महिला साक्षी- संवाद एक क्लीनिक पर बच्चे को लेकर बैठी दवा लेने आई महिला साक्षी- संवाद

थाने-चौकियों में हो रहा मानवाधिकारों का उल्लंघन

एटा। हैदराबाद में डॉक्टर बिटिया से दुष्कर्म के आरोपियों के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से एक बार फिर मानवाधिकारों पर बहस छिड़ गई है। यह सही भी है कि मानवाधिकारों के संरक्षण का जिस खाकी वर्दी पर दायित्व है, वही सबसे ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन करती है। यहां तक की अपने बचाव के लिए जिले के थाने और चौकियों में शासनादेश के बावजूद मानवाधिकार संबंधी बोर्ड तक नहीं लगाए हैं।
मंगलवार को विश्व मानवाधिकार दिवस मनाया जाएगा। गोष्ठियां और रैलियां निकालकर मानवाधिकारों की दुहाई दी जाएगी और लोगों को अधिकारों का पाठ पढ़ाया जाएगा। लेकिन शहर में सबसे महत्वपूर्ण पुलिस विभाग ही इसके प्रति सजग और संवेदनशील नहीं हैं। पुलिस थानों में ही मानवाधिकारों का सबसे ज्यादा उल्लंघन किया जा रहा है।
अमर उजाला की टीम ने सोमवार को इसकी पड़ताल की तो चौंकाने वाले नजारे देखने को मिले। कोतवाली नगर, कोतवाली देहात और महिला थाना सहित अन्य चौकियों पर धड़ल्ले से मानवाधिकारों का उल्लंघन होते मिला। नियमों की जानकारी तो दूर यहां पर मानवाधिकार संबंधी बोर्ड तक टंगा नहीं मिला। थाने में बोर्ड न लगने की बात जब प्रभारी इंस्पेक्टर देहात कोतवाली सुभाष सिंह बात को टालते नजर आए। कोतवाली शहर में मुंशी लखन ने बताया कि किसी ने वॉल पेंट होने के चलते मिट गया होगा। कई इस बात पर चुप्पी साधते नजर आए।
हवालातों में गंदगी और बदबू
कोतवाली सिटी में हवालात का सबसे बुरा हाल मिला। यहां पर न तो कोई साफ-सफाई है और न ही पानी, शौचालय का इंतजाम है। हवालात में बदबू आ रही है। पीने के पानी का कैंपर हवालात के बाहर रखा मिला, जबकि बंदी के पानी मांगने पर पहरा बोतल में पानी भरकर देता है।
ये हैं मानवधिकार
- प्रत्येक पीड़ित की एफआईआर दर्ज करना पुलिस की जिम्मेदारी है। पुलिस मना नहीं कर सकती है।
- थाने लाए गए किसी भी व्यक्ति के साथ पुलिस अमानवीय व्यवहार या मारपीट नहीं कर सकती।
- पुलिस बिना कारण बताए किसी भी मामले में किसी भी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं कर सकती है।
- गिरफ्तार व्यक्ति को 24 घंटे के अंदर पुलिस को नजदीकी न्यायालय के समक्ष पेश करना जरूरी है।
- पुलिस किसी भी व्यक्ति को हिरासत में थाने लाती है, तो उसे समय पर भोजन देना होता है।
- न्यायालय के आदेश के बिना पुलिस किसी भी आरोप में व्यक्ति को हथकड़ी नहीं लगा सकती।
- किसी भी व्यक्ति की गिरफ्तारी पर पुलिस वालों को इसकी सूचना परिजनों को देना जरूरी है।
- दुष्कर्म पीड़िता से महिला पुलिस की मौजूदगी में ही पूछताछ की जा सकती है।
मानवाधिकार का बोर्ड प्रत्येक थाने में लगाने का प्रावधान है, जांच करके बोर्ड लगवाएंगे। हवालात में भी साफ-सफाई जल्द ही कराएंगे।
- संजय कुमार, एएसपी।
... और पढ़ें

एटा में दिल्ली जैसी घटना के इंतजार में प्रशासन

एटा। दिल्ली में घनी और सकरी गली में अग्रिकांड में 40से ज्यादा लोगों के मरने की घटना के बावजूद जिले में अफसर सतर्क नहीं हैं। यहां बाबूगंज जैसे सघन बाजार की संकरी गलियों में फायर बिग्रेड की गाड़ी तक जाने का रास्ता नहीं है, ऐसे में यहां कभी अग्रिकांड हुआ तो जनहानि से इंकार नहीं किया जा सकता है। कई अन्य बाजारों की संकरी गलियों में चल रहीं फैक्ट्रियों में लोग जान जोखिम में डालकर मजदूरों से काम करा रहे हैं।
दिल्ली की घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया। स्कूली बैग और अन्य सामान बनाने वाली पंाच मंजिला इमारत में आग से 40 से ज्यादा लोग जलकर ओर दम घुटने से मर गए, जबकि इतने ही लोग घायल हैं। इतनी बड़ी घटना के दूसरे दिन भी प्रशासन में रत्ती भर हलचल नहीं हुई। अफसरान ऑफिसों में बैठकर घटना पर चर्चा तो करते दिखे पर इस बाबत शहर के हालातों का जायजा लेकर जिले में भी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए न तो कोई ठोस उपाए किए गए और न ही रणनीति बनाई गई।
बाबूगंज सबसे ज्यादा संवेदनशील
शहर का सघन और व्यस्त बाजार है बाबूगंज, यहां परचून से लेकर कपड़ों की दुकान, सब्जी के फड़ सहित अन्य सामानों की दुकानें हैं। तीन से चार मंजिला बिल्डिंग में नीचे दुकान चल रही हैं तो ऊपर लोग रहते हैं या फिर गोदाम और फैक्ट्रियां बना रखी हैं। तंग गलियों के इस बाजार में सुबह सात से रात दस बजे तक लोगों की भीड़ रहती है। ऐसे में कभी यहां आगजनी की घटना हुई तो फायर बिग्रेड की गाड़ी नहीं पहुंच पाएगी, वहीं बाजार में भगदड़ मची तो कई जान जा सकती हैं।
यहां भी तंग गलियों में चलतीं फैक्ट्रियां
में अलीगंज रोड, आगरा रोड, नई बस्ती, विजय नगर आदि इलाकों में कपूर बनाने, दूध से पनीर और मिठाई बनाने की फैक्ट्रियां सहित कारखाने संचालित हैं। इन गलियों में गाड़ी जाने की कोई व्यवस्था नहीं है।
हाथी गेट का बाजार भी असुरक्षित
हाथी गेट का बाजार भी सघन है। यहां भी संकरी गलियों में दुकान, मकान और गोदाम बने हुए हैं। यहां भी यदि कभी आगजनी हुई तो प्रशासन को भारी पड़ सकता है।
बहुतायत में बनती आतिशबाजी
एटा जिला आतिशबाजी के लिए मशहूर है। यहां सैकड़ों घरों में आतिशबाजी और देसी पटाखा बनाए जाते हैं। मिरहची में सितंबर माह में एक मकान में पटाखा बनाते समय आग लगने से पूरा मकान उड़ गया था, इसमें आधा दर्जन लोगों की मौत ने जिले को हिलाकर रख दिया था।
मर चुकी हैं दो बालिकाएं
करीब आठ साल पूर्व कचहरी रोड पर एक मकान में आग लग गई थी, आग इतनी भीषण थी कि पुुलिस और फायर बिग्रेड के पहुंचने से पहले ही दो बच्चियों की जलकर मौत हो गई थी।
होटल-रेस्टोरेंट भी मानक नहीं करते पूरा-
शहर में बने होटल और रेस्टोरेंट में भी आग बुझाने के साधन नहीं है। पिछले माह अग्रिशमन विभाग ने ऐसे होटल और रेस्टोरेंट संचालकों को नोटिस थमाया था, पर कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हो सका।
बाबूगंज सघन और व्यस्त बाजार है, यहां संकरी गलियों में दुकान और गोदाम हैं। यहां आग लगने वाले स्थानों को चिह्नित कर लोगों को नोटिस दिए गए हैं।
शिवदयाल शर्मा, जिला अग्रिशमन अधिकारी
... और पढ़ें

सपा पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है

एटा। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के लिए आयोजित सपा की शोकसभा में नेताओं ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। साथ ही प्रदेश सरकार की बर्खास्तगी की मांग की। जिलाध्यक्ष अशरफ हुसैन ने कहा कि सपा पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। पूर्व सांसद कैलाश यादव ने कहा कि बढ़ते अपराधों से लगता है कि सरकार फेल हो चुकी है।
पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव ने कहा कि बिगड़ती कानून व्यवस्था पर राज्यपाल को संज्ञान लेना चाहिए। पूर्व विधायक अमित गौरव यादव एवं रणीजीत सुमन ने प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। वजीर सिंह यादव ब्लाक प्रमुख, परवेज जुबैरी, रंजीत यादव, अनिल सागर, सत्यभान शाक्य, राजू यादव, शशांक यादव, भूपेंद्र प्रजापति आदि प्रमुख हैं।
नहीं दिखा विरोध प्रदर्शन
एटा। सपा के गढ़ में पार्टी का विरोध प्रदर्शन शोकसभा तक सिमट गया। नेताओं, कार्यकर्ताओं ने उपस्थिति भर दर्ज कराई। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना के विरोध में विधानसभा के मुख्य द्वार पर धरना देकर प्रदेश भर में घटना के विरोध के निर्देश दिए थे। लेकिन अपने ही घर में पार्टी का आंदोलन फीका रहा।
उत्तर प्रदेश में जंगल राज : लोधी
एटा। एटा लोकसभा क्षेत्र से पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी नूर मोहम्मद खान के आवास पर उन्नाव रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए चर्चा की गई। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व लखनऊ में प्रदर्शन कर रहे नेताओं पर पुलिस द्वारा बरर्बता व लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की गई। कहा कि भाजपा सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह फेल हो गई है। जिलाध्यक्ष एकेश लोधी ने कहा कि प्रदेश में जंगल राज कायम हैं। युवा कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष लोधी योगेश राजपूत, प्राचार्य गंगासाय लोधी आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

गलन से ठिठुर रहे गरीब, अफसर कागजी इंतजाम कर मस्त

शहीद पार्क में सपा द्वारा आयोजित शोक सभा में मंच से बोलते जिलाध्यक्ष वहीं मौजूद पूर्व जिला पंचाय?
एटा। सर्द मौसम में खुले आसमान के नीचे रात गुजार रहे गरीबों के दर्द से नगर पालिका को कोई सरोकार नहीं है। ज्यों-ज्यों सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है, पालिका के इंतजाम कागजों में तो दुरुस्त होते जा रहे हैं, पर हकीकत कोसों दूर है। सर्द मौसम में हीटर के आगे बैठ बजट ठिकाने लगाने वाले यह तक देखना मुनासिब नहीं समझ रहे कि उनके कागजी इंतजाम अभी तक धरा पर उतर भी पाए हैं या नहीं। यही हाल अलावों का है। शहर में अभी तक किसी भी स्थान पर अलाव नहीं जलवाए गए हैं।
शनिवार की रात अब तक की सबसे सर्द रात रही। इस रात पारा करीब नौ डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। ऐसे में सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को हुई जो किसी न किसी काम से घर से बाहर रहे। गरीब तबके सहित बाहर से आने वाले यात्रियों को कड़ाके की ठंड में पालिका रैन बसेरा में सुविधाएं मुहैया नहीं करा पा रहा है। नगर पालिका और डूडा ने रैन बसेरा बनाकर अपने कर्तव्य की इतिश्री तो कर ली पर हकीकत जानने कोई अधिकारी फील्ड में नहीं उतरा।
अमर उजाला टीम ने शनिवार देर रात बस स्टैंड पर बने रैन बसेरा की पड़ताल की। यहां रैन बसेरा के नाम पर टेंट तो लगा था, पर न कोई कर्मचारी तैनात था और न ही रजाई, गद्दे और कंबल की कोई व्यवस्था थी। बस स्टैंड पर लोग अपने-अपने कंबल ओढ़ कर जमीन पर सोते मिले जबकि, गरीब और असहाय लोग सर्दी से ठिठुरते देखे गए।
यहां भी ठिठुरते मिले
शहर में जिला अस्पताल महिला व पुरुष, सैनिक पड़ाव, शिकोहाबाद रोड, मंडी समिति, आगरा रोड, कैलाश मंदिर, रेलवे स्टेशन, रेलवे रोड आदि स्थानों पर लोग रात में दुकानों के आगे फुटपाथ पर गुदड़ी और कंबलों में रात बिताने को मजबूर दिखे।
अलाव को तरसे लोग
नगर पालिका के दावे थे कि चार स्थानों पर अलाव जल रहे हैं। बस स्टैंड, जिला अस्पताल महिला व पुरुष, रेलवे स्टेशन चारों ही स्थानों पर अलाव नहीं जलाए गए। सबसे ज्यादा दिक्कत बस स्टैंड पर लोगों को उठानी पड़ी। यहां यात्री बसों का इंतजार सर्दी में ठिठुरते हुए कर रहे तो रिक्शा और टेंपो चालक भी सिकुड़ते रहे।
रैन बसेरा के बाहर लोग करते टॉयलेट
बस स्टैंड पर बने रैन बसेरा के आसपास साफ-सफाई नहीं है। यहां तक शौचालय की भी व्यवस्था नहीं की गई है। चलते-फिरते यात्री टेंट के पास ही टॉयलेट कर जाते हैं। ऐसे में कोई भी रैन बसेरा में जाने की कोशिश भी नहीं करेगा, जहां टॉयलेट की बदबू आएगी।
--
अलीगढ़ जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे हैं। ठंड ज्यादा होने की वजह से यहां पर बैठे हैं। रैन बसेरा में रजाई, गद्दे तक नहीं हैं।
- चंद्रपाल, यात्री।
दिल्ली जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे हैं, यहां पर महिलाओं के लिए को रुकने के लिए रैन बसेरा की कोई व्यवस्था नहीं की गई है।
- रज्जो देवी, यात्री।
... और पढ़ें

मैनपुरी: जीटी रोड पर दो ट्रकों की आमने-सामने भीषण भिड़ंत, एक चालक की मौत

मैनपुरी जनपद के कुरावली क्षेत्र में रविवार सुबह जीटी रोड पर दो ट्रकों की आमने-सामने भीषण भिड़ंत हो गई। इस हादसे में एक चालक की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद दूसरा चालक ट्रक छोड़कर मौके से फरार हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं परिवार में इस हादसे की जानकारी मिलने के बाद कोहराम मचा हुआ है।

मैनपुरी के कुरावली क्षेत्र में ग्राम हटऊ व शरीफपुर के बीच रविवार सुबह दो ट्रकों की सामने से टक्कर हो गई। बताया गया है कि ट्रक संख्या एचआर 36 T3659 एटा की ओर जा रहा था।

वहीं ट्रक संख्या यूपी 14FT 5746 एटा से आ रहा था। जनपद एटा की शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव नगला धनी निवासी 30 वर्षीय अजीत कुमार यादव ट्रक चालक था। शनिवार की रात वह ग्वालियर से ट्रक में एक कंपनी के पाइप लेकर इटावा होते हुए एटा के लिए निकला था। 

 
... और पढ़ें

सभी को साथ लेकर पार्टी के संकल्प को पूरा करेंगे- संदीप

एटा। संदीप जैन के भाजपा का नया जिलाध्यक्ष बनने लोगों में उत्साह है। उनके स्वागत समारोह हो रहे हैं। शनिवार को जीटी रोड स्थित पार्टी कार्यालय, सांसद आवास पर आयोजित सम्मान समारोह में निर्वतमान जिलाध्यक्ष, विधायक व पार्टी पदाधिकारियों ने फूल मालाओं से स्वागत किया। उन्होंने ने कहा कि उनका लक्ष्य सभी कार्यकर्ताओं को साथ लेकर पार्टी के संकल्प व लक्ष्यों को पूरा करना है। वरिष्ठ पदाधिकारियों के मार्गदर्शन में वे इसे पूरा करेंगे।
पार्टी कार्यालय पर निवर्तमान जिलाध्यक्ष डॉ. दिनेश वशिष्ठ ने बधाई देते हुए कहा कि पार्टी के लिए समर्पित जैन बीते ढाई दशक से सार्वजनिक जीवन में हैं। जिला महामंत्री सचिन उपाध्याय व पंकज चौहान आदि मौजूद रहे। शांति नगर स्थित सांसद आवास पर हुए समारोह में विधायक वीरेंद्र वर्मा, सुशील गुप्ता, अग्रिम जैन, सत्येंद्र राठौर, राजीव गुप्ता, अनिल यादव, विनीत भारद्वाज, टिन्नी यादव, कौशिक राजपूत आदि प्रमुख हैं। गौरव शाह सिसौदिया, सभासद मनीष जैन, बृजेश गुप्ता सभासद, अनुज जैन, नरेंद्र गिहार ने भी जैन को माला पहनाकर बधाई दी।
25 वर्ष से पार्टी में हैं सक्रिय
बीकॉम एलएलबी शिक्षित जैन संघ स्वयंसेवक के साथ पेशे से अधिवक्ता भी हैं। पार्टी से तीन दशक से जुड़े जैन 25 वर्ष से पार्टी के विभिन्न पदों पर रहे हैं। 1994 में युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष से सक्रिय राजनीति में आए जैन 1997-2003 तक भाजपा के नगर अध्यक्ष, 2005 में विधि प्रकोष्ठ के जिला संयोजक, 2009 से 2012 तक जिला कोषाध्यक्ष एवं 2012 से अब तक जिला महामंत्री के रूप में पार्टी का नेतृत्व किया।
भाजपाइयों ने जताई खुशी
राजा का रामपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने मिष्ठान वितरित कर खुशी जताई। चेयरमैन महावीर सिंह राठौर, विजय सिंह, नरेंद्र सिंह आचार्य, राजेन्द्र सिंह, अखिलेश सिंह, आशुतोष तिवारी, लोकेश शुक्ला, आयुष गुप्ता, राकेश सिंह आदि , अर्जुन सिंह, उदय सिंह, प्रदीप कुमार आदि ने खुशी जताई। अलीगंज में पूर्व चेयरमैन प्रदीप कुमार गुप्ता, चेयरमैन बृजेश गुप्ता, आमोद आर्या, दिनेश चन्द्र गुप्ता, सूर्यकान्त गुप्ता, अल्पसंख्यक मोर्चा के अशरफ अली, राघवेन्द्र गुप्ता, विकास गुप्ता आदि ने बधाई दी है।
जैन समाज ने दी बधाई
निधौली कलां में जैन समाज की बैठक में किसी जैन को जिले का नेतृत्व मिलने पर बधाई प्रस्ताव पारित किया गया। महीपाल जैन ने कहा कि संदीप के नेतृत्व में समाज ही नहीं पूरी भाजपा एकजुट रहेगी। मुन्नालाल जैन, मोहन जैन, अशोक जैन, राकेश जैन, अनिल जैन, प्रवीन जैन, कमलेश जैन, बन्टू जैन, प्रिंस जैन, संजीव जैन, बॉबी जैन आदि ने खुशी व्यक्त की है।
... और पढ़ें

देश की सुरक्षा कर रहे सैनिकों के लिए किया रक्तदान

एटा। अटेवा पेंशन बचाओ मंच के तत्वावधान में डॉ. रामाशीष सिंह की तृतीय पुण्य तिथि पर पुरानी पेंशन बहाली व देश की सुरक्षा में सीमा पर लगे सैनिकों के लिए रक्त दान किया। यह रक्त आगरा स्थिति सैनिक अस्पताल में भेजा जाएगा। जिला अस्पताल स्थित ब्लड बैंक में रक्त दान शिविर का शुभांरभ सीएमओ डॉ. अजय अग्रवाल व सीएमएस डॉ. राजेश अग्रवाल ने रामाशीष ने चित्र पर पुष्प अर्पित कर किया।
इस दौरान 13 महिलाआों सहित 58 शिक्षा, स्वास्थ्य, पंचायत विभाग के कर्मचारियों ने रक्तदान किया। जिला संयोजक डॉ. नंदलाल निर्भय ने कहा अटेवा पेंशन बचाओ मंच ने सिद्ध कर दिया है कि वह पुरानी पेंशन की लड़ाई के साथ- साथ समाज व देश के लिए भी मजबूत स्तंभ बनकर खड़ा रहेगा। उन्होंने कहा पुरानी पेंशन की लड़ाई व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई है। इस दौरान डॉ. प्रिया शर्मा, प्रवीन फौजी, आशा चौधरी, सौरभ मिश्रा, दीप्ती गुप्ता, पूनमदीप, अमित पटेल, रविशंकर, रजत अग्रवाल आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

हरनाथ ने राज्यसभा में उठाया पेंशन मुद्दा

एटा। राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने राज्यसभा में पेंशन का मुद्दा उठाते हुए नई पेंशन को समाप्त करने और पुरानी पेंशन को पुन: लागू करने की मांग की। सड़क सुरक्षा, मिलावटी दूध, शिक्षा के गिरते स्तर एवं नशीले पदार्थों पर अंकुश की मांग को देश की सर्वोच्च पंचायत में उठाने वाले हरनाथ सिंह ने पुरानी पेंशन की मांग को समर्थन दिया।
यादव ने कहा कि देश के 33 लाख से अधिक कर्मचारी व इनके सवा करोड़ से अधिक आश्रित सरकार की नई पेंशन योजना से आहत हैं। सेवानिवृत्ति के बाद इनके भविष्य सुखमय नहीं रह गए। देश की जटिलतम समस्याओं का समाधान करने वाली मोदी सरकार को कर्मचारियों के हित में नई पेंशन को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना को पुन: लागू करना चाहिए। क्योंकि सरकारी कर्मचारी भी सरकार का ही हिस्सा हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election