विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

बुलंदशहर

रविवार, 22 सितंबर 2019

दबंगों ने जमीन के विवाद में आईटीबीपी के जवान को पीटा

दबंगों ने जमीन के विवाद में आईटीबीपी के जवान को पीटा
औरंगाबाद। थाना क्षेत्र के गांव पसौली में जमीन विवाद को लेकर बृहस्पतिवार शाम तीन दबंगों ने आईटीबीपी के जवान पर डंडों से हमला कर उसे लहूलुहान कर दिया। पीड़ित ने तीन आरोपियों को नामजद करते हुए थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने घायल युवक को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।
गांव पसौली निवासी आकाश पुत्र सतेन्द्र सिंह और धीरेन्द्र पुत्र विजयपाल सिंह के बीच पिछले कई साल से जमीन का विवाद चला आ रहा है। आकाश आईटीबीपी में जवान है और असम में तैनात है। जमीन विवाद के चलते बृहस्पतिवार को तीन दबंग लोगों ने आकाश को अकेला आता देख उस पर डंडों से हमला कर लहूलुहान कर दिया। तीनों हमलावर घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गये। किसी ग्रामीण ने 100 नंबर पर फोन कर घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को लखावटी सीएचसी में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने गंभीर हालत के चलते जिला अस्पताल रेफर कर दिया। पीड़ित ने तीन आरोपितों को नामजद कर थाने में तहरीर दी है। थानाध्यक्ष अवधेश त्रिपाठी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी न होने पर गर्भपात कराने की कोशिश

अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी न होने पर गर्भपात कराने की कोशिश
बुलंदशहर। देहात कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी विवाहिता को शादी के दो वर्ष बाद ही आरोपी ससुरालीजनों ने अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी न होने पर मारपीट कर घर से निकाल दिया। पीड़िता का आरोप है कि इस दौरान आरोपी ससुरालीजनों ने उसका गर्भपात कराने की कोशिश भी की थी। पीड़िता की शिकायत पर देहात कोतवाली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
देहात कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला टांडा निवासी महिला सुनिया ने देहात कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि उसका निकाह करीब दो वर्ष पूर्व मोहल्ला निवासी एक युवक के साथ हुआ था। निकाह में मायके पक्ष ने हैसियत से अधिक दान दहेज भी दिया था। लेकिन, आरोपी ससुरालीजन निकाह में मिले दहेज से खुश नहीं थे। वह अतिरिक्त दहेज के रुप में कार व नगदी की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर उसका उत्पीड़न किया जा रहा था। आरोप है कि गत दिनों आरोपियों ने उसके साथ जमकर मारपीट भी की थी। मायके पक्ष के समझाने के बावजूद आरोपी अपनी मांगो पर डटे हुए थे। आरोप है कि गत दिनों आरोपी ससुरालीजनों ने उसका धोखे से गर्भपात कराने की कोशिश भी की थी। पीड़िता के विरोध करने पर आरोपियों ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। देहात कोतवाल अखिलेश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मामले में तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को दबोच लिया जाएगा।
... और पढ़ें

रिटायर्ड चकबंदी सीओ के पुत्र का मंदिर के पास मिला शव

रिटायर्ड चकबंदी सीओ के पुत्र का मंदिर के पास मिला शव
औरंगाबाद। थाना क्षेत्र के गांव विसुंधरा निवासी रिटायर्ड चकबंदी सीओ के लापता बेटे का शव करीब 11 घंटे बाद मटका मंदिर के निकट संदिग्ध परिस्थितियों में पड़ा मिला। मृतक के माथे पर चोट के निशान हैं। गश्ती पुलिस ने परिजनों को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये जिला मुख्यालय भेज दिया है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है।
बता दें कि गांव विसुंधरा निवासी रिटायर्ड चकबंदी सीओ रहे नेपाल सिंह का 45 वर्षीय पुत्र पुष्पेन्द्र चौहान बृहस्पतिवार की दोपहर करीब तीन बजे बाइक से गांव मूढ़ीबकापुर वाले बिजलीघर पर बिल जमा करने की बात कहकर घर से आया था। औरंगाबाद पहुंचकर एटीएम से आठ हजार रुपये की धनराशि निकाली। लेकिन उसने बिजली का बिल जमा नहीं किया। इस दौरान पवसरा बस स्टैंड पर गांव के ही दो युवकों से मुलाकात हुई। जिसके बाद तीनों नवीन अनाज मंडी के सामने एक होटल पर पहुंचे और यहां तीनों ने शराब का सेवन किया। रात करीब नौ बजे तीनों युवक होटल से बाइक लेकर गांव जाने की बात कहकर चले गये। होटल मालिक के अनुसार रात करीब 12 बजे उक्त तीनों युवकों में से दो युवक वापस होटल पर आकर सो गये। पुलिस के अनुसार रात दो बजे औरंगाबाद थाने की पुलिस गश्त कर रही थी। इस दौरान मटका मंदिर के पास एक युवक का शव पड़ा मिला। पुलिस ने मृतक की जेब में रखे आधार कार्ड से उसकी पहचान गांव विसुंधरा निवासी पुष्पेन्द्र चौहान के रूप में की। पुलिस ने गांव के चौकीदार को बुलाकर शव की शिनाख्त कराई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मृतक के माथे पर चोट के निशान थे। मृतक की जेब से मोबाइल और 150 रुपये बरामद हुए हैं। पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। पुलिस ने मामले में चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।
कोट..
मृतक के परिजनों की ओर से थाने में अभी तक कोई तहरीर नहीं आई है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जल्द ही खुलासा कर दिया जाएगा। -अवधेश कुमार इंस्पेक्टर औरंगाबाद
... और पढ़ें

फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव

फंदे से लटका मिला विवाहिता का शव
जहांगीराबाद । कोतवाली क्षेत्र के गांव शिवाली में नवविवाहिता का शव उसके ससुराल में संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे से लटका हुआ मिला। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, मृतका के मायके वालों ने ससुरालीजनों पर अतिरिक्त दहेज की खातिर विवाहिता की हत्या का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई है।
जानकारी के मुताबिक, कोतवाली क्षेत्र के गांव गहना गोवर्धनपुर निवासी सतीश पुत्र नौरंग सिंह ने कोतवाली में तहरीर देकर अपनी बहन की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें उन्होंने बताया कि बहन की शादी करीब आठ माह पूर्व 20 जनवरी 2018 को कोतवाली क्षेत्र के ही गांव शिवाली निवासी तेजवीर के पुत्र प्रवेश के साथ संपन्न हुई थी। दहेज को लेकर बहन को ससुरालवाले प्रताड़ित करते थे। दहेज की मांग पूरी न होने पर पूजा के पति ने अपने घरवालों के साथ मिलकर शुक्रवार की देर शाम गला घोटकर उसकी हत्या कर दी और मामले को आत्महत्या दिखाने के लिए शव को फंदे से लटका दिया। पुलिस ने मृतका के भाई सतीश की तहरीर पर हत्यारोपी पति परवेश, सास व ससुर के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं, कोतवाली प्रभारी विवेक शर्मा ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, वहीं मृतका के भाई की तहरीर पर सभी हत्यारोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपी पति प्रवेश व ससुर तेजवीर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें

बीएसएनएल आपरेटर को बंधक बनाकर लाखों की डकैती

बीएसएनएल आपरेटर को बंधक बनाकर लाखों की डकैती
औरंगाबाद। थाना क्षेत्र के गांव लखावटी में बीएसएनएल के टावर पर शुक्रवार रात एक दर्जन हथियार बंद बदमाशों ने बेखौफ होकर लाखों की डकैती को अंजाम दिया। आपरेटर को बंधक बनाकर मारपीट करते हुए करीब पांच लाख रुपये की बैट्रियां लूटकर ले गये। आपरेटर ने बंधन मुक्त होकर पुलिस को सूचना दी। बीएसएनएल के अफसरों ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है।
लखावटी-सैदपुर मार्ग पर बीएसएनएल का टावर है। यहां रामगढ़ निवासी वीरेन्द्र पुत्र भूप सिंह आपरेटर के पद पर तैनात हैं। रात करीब 12 बजे महिन्द्रा पिकअप में सवार होकर दर्जनभर हथियार बंद डकैत टावर की दीवार फांदकर अंदर घुस आये और आपरेटर को गन प्वाइंट पर लेते हुए मारपीट की और उसके हाथ पैर चारपाई से बांध दिये। शोर मचाने पर गोली मारने की धमकी देते हुए लूटपाट करनी शुरू कर दी। टावर से बदमाश पांच लाख कीमत की करीब 24 बैट्रियां लूटकर ले गये। सुबह करीब चार बजे शौच करने गये एक ग्रामीण ने आपरेटर को बंधन मुक्त किया। पीड़ित ने 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की इतिश्री कर वापस लौट आई। शनिवार दोपहर बीएसएनएल के एक्सईएन ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया और पीड़ित के साथ लखावटी पुलिस चौकी पर पहुंचकर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ थाने में तहरीर दी। इंस्पेक्टर अवधेश त्रिपाठी का कहना है कि पुलिस तहरीर के आधार पर मामले की जांच कर रही है।
दो घंटे तक करते रहे लूटपाट, सोती रही पुलिस
गांव लखावटी में मोबाइल टावर पर हुई लाखों की डकैती में पुलिस की लापरवाही उजागर हुई है। टावर पर दो घंटे तक बदमाश तांडव मचाते रहे, लेकिन पुलिस का कोई पता नहीं था। जबकि घटनास्थल से पुलिस चौकी की दूरी 800 मीटर है। ऐसे में पुलिस की गश्त पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है। क्षेत्र में आये दिन लूटपाट हो रही हैं। लेकिन पुलिस उन्हें रोकने में असमर्थ हैं। रात 12 से दो बजे तक टावर पर रहे। जबकि बदमाशों की गाड़ी रोड पर ही खड़ी थी, लेकिन गश्ती पुलिस को कोई अतापता नहीं था। इससे यह साबित हो गया है कि क्षेत्र में रात्रि गश्त केवल कागजों में सिमट कर रह गया है।
... और पढ़ें

वाह री पुलिस! रंजिशन बना दिया युवक को लुटेरा

वाह री पुलिस! रंजिशन बना दिया युवक को लुटेरा
औरंगाबाद। स्टेट हाइवे पर गत 11 सितंबर को हुई लूट के मामले में एक युवक की नामजदगी गलत पाई गई है। परिजनों की शिकायत पर एएसपी रविंद्र कुमार ने प्रकरण की गोपनीय जांच की। जांच में औरंगाबाद थाना पुलिस द्वारा उक्त युवक को फर्जी ढंग से लुटेरा बना दिया जाना पाया गया है। आईपीएस ने नामजद युवक को क्लीनचिट देते हुए स्थानीय पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाये हैं। साथ ही पूरे मामले में एसएसपी को रिपोर्ट भेजी गई है।
बता दें कि शिकारपुर कोतवाली क्षेत्र के गांव बादशाहपुर पंचगाई निवासी जितेंद्र पुत्र दीवान सिंह से नरसैना जाते समय गत 11 सितंबर को औरंगाबाद क्षेत्र के गांव इस्माइला के पास बाइक सवार चार बदमाशों ने हथियारों के बल पर तीन हजार रुपये की नगदी और मोबाइल लूट लिया था। मामले में पीड़ित ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने 18 सितंबर को जहांगीराबाद कोतवाली के गांव कुरैना निवासी युवक सागर पुत्र महीपाल को लूट का खुलासा करते हुए जेल भेज दिया था। जबकि तीनों अज्ञात बदमाशों के नाम पुलिस ने आरोपी सागर के कहने पर दर्ज किये थे। यही नहीं, गत 17 सितंबर को केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान पूर्व केबिनेट मंत्री रहे मरहूम सईदुल हसन के पौत्र हुसैन अली के आवास पर आये हुए थे। इस दौरान सागर के परिजनों ने राज्यपाल से मिलकर अपने बेटे की फर्जी नामजदगी की शिकायत की थी। राज्यपाल से शिकायत होने से बौखलाकर थाना पुलिस ने सागर को 18 सितंबर की सुबह चार बजे मुठभेड़ में गिरफ्तारी दिखाकर जेल भेज दिया था। जिसका समाचार 19 सितंबर के अंक में ‘रात में राज्यपाल से शिकायत, सुबह युवक को मुठभेड़ के बाद भेजा जेल’ शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिसमें गांव मैथना जगतपुर निवासी हेमंत शर्मा पुत्र संतोष शर्मा भी नामजद था।
--------
परिजनों की शिकायत के बाद हुआ खुलासा
20 सितंबर को गांव मैथना जगतपुर निवासी 40-50 ग्रामीण एकत्रित होकर एसएसपी संतोष कुमार सिंह से मिले और इंस्पेक्टर पर निर्दोष युवक को लूट के मामले में फर्जी फंसाये जाने की शिकायत की। एसएसपी ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए पूरे प्रकरण की जांच एएसपी रविन्द्र कुमार को सौंपी। एएसपी रविन्द्र कुमार करीब तीन बजे गांव मैथना जगतपुर में पहुंचे और वहां अपनी गोपनीय जांच पड़ताल की। एएसपी ने अलग-अलग समुदाय के लोगों से बारीकी से मामले में छानबीन की। बाद में पुलिस द्वारा बनाये गये लुटेरे के घर पहुंचकर जांच पड़ताल की। जांच में आईपीएस आफिसर को कोई ऐसा क्लू नहीं मिल सका जिससे उसके आरोपी होने का पुख्ता सबूत हो। आईपीएस ने उक्त युवक को मामले में निर्दोष पाया है।
--------
कोट..
पुलिस द्वारा पकडे़ गये लुटेरे सागर ने हेमंत शर्मा का लूट में रंजिशन नाम लिया था। गांव के अधिकतर लोगों से जांच पड़ताल की गई। जिसमें हेमंत लुटेरा नहीं निकला। इंस्पेक्टर की लापरवाही की रिपोर्ट एसएसपी को भेज दी गई है। - रविंद्र कुमार, एएसपी
... और पढ़ें

एक गाय की देखरेख पर पालिका करेगी 120 रुपये खर्च

एक गाय की देखरेख पर पालिका करेगी 120 रुपये खर्च
सिकंदराबाद। पालिका की गोशाला में पलने वाले गोवंश पर 120 रुपये प्रति गोवंश के हिसाब से खर्च करेगी। जबकि शासन की गोशाला में 30 रुपये प्रति गोवंश के हिसाब से अनुदान राशि दी जाती है। इसके अलावा नगर में विकास कार्यों को गति देने के लिए चार करोड़ की लागत से विकास कार्य कराए जाएगा। शनिवार को पालिका की बोर्ड बैठक में उक्त प्रस्तावों को मंजूरी मिली।
पालिका सभागार में चेयरपर्सन बब्बो प्रवीन की अध्यक्षता में बोर्ड बैठक का आयोजन किया गया। बोर्ड बैठक में नगर में विकास कार्यो के लिए लाए गए कुल 56 प्रस्तावों में से सभासदों ने 54 प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई। बोर्ड बैठक में पास किए प्रस्तावों में नगर के विभिन्न मोहल्लों में पथ प्रकाश व्यवस्था हेतु सोडियम लाइटें, नगर के चौराहों पर हाईमाक्स लाइटें,, नालों की सफाई, पेयजल व्यवस्था में सुधार को पूर्व में बने नलकूपों पर मोटर व उन्हें संचालित कराने के कर्मियों की संविदा पर तैनाती, नगर में सफाई व्यवस्था हेतु सफाई ठेके को रिन्यूवल समेत अन्य प्रस्तावों को मंजूरी मिली। जबकि दो प्रस्ताव निरस्त किए गए। पालिका की अस्थाई गोशाला में देखरेख में लगे दिन व रात की ड्यूटी करने वाले कर्मियों के मानेदय, चारा आदि के लिए 120 रुपये प्रति गोवंश के हिसाब से सौ गोवंशों के लिए धनराशि स्वीकृत की गई। मच्छरों के प्रकोप से बचने के लिए फॉगिंग, कीटनाशक दवाइयों व विभिन्न नालों की सफाई का कार्य भी शामिल है। मात्र आधा घंटे चली बैठक का संचालन ईओ संजीवराम यादव ने किया। उन्होंने बताया कि बैठक में चार करोड़ के विकास कार्य के प्रस्ताव को मंजूरी मिली। टेंडर प्रकिया पूरी होने पर शीघ्र कार्य शुरू हो जाएगा। मौके पर सभासद सत्यप्रकाश शर्मा, इरफान गौरी,राजीव कुमार एडवोकेट, ऊषा शर्मा, सीमा देवी, रिजवान कुरैशी, यशोदा,कमलेश, फुरकाना, निसार अहमद, पूजा अग्रवाल आदि व पालिका कर्मी मौजूद रहे।
-----------
... और पढ़ें

साबरमती जाएंगे जनपद के 40 प्रधान और स्वच्छताग्राही

साबरमती जाएंगे जनपद के 40 प्रधान और स्वच्छताग्राही
बुलंदशहर। गुजरात स्थित साबरमती में दो अक्तूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जन्म शताब्दी समारोह स्वच्छ भारत मिशन का आयोजन होगा। इसमें जनपद के 40 प्रधान और स्वच्छताग्राही भागीदारी करेंगे। शासन के आदेश पर विभागीय अधिकारियों ने गुजरात जाने की तैयारी शुरू कर दी है।
जिला पंचायत राज अधिकारी अमरजीत सिंह ने बताया कि शासन ने आदेश जारी कर अवगत करवाया है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जन्मशताब्दी पर गुजरात स्थित साबरमती पर स्वच्छ भारत मिशन का आयोजन होगा। 30 सितंबर से दो अक्तूबर तक चलने वाले इस कार्यक्रम में भाजपा सरकार के बड़े नेता और कार्यकर्ताओं के अलावा देश-विशेष से भी बड़ी संख्या में लोग भागीदारी करेंगे। इसमें शासन ने जनपद के प्रधानों और स्वच्छताग्राही को गुजरात भेजकर इस समारोह में भागीदारी करेंगे। इसके लिए शासन से जिला प्रशासन को न्यौता मिल गया है और इसमें जनपद के 40 ग्राम प्रधानों और स्वच्छताग्राही शामिल होंगे। जिला पंचायती राज अधिकारी अमरजीत सिंह ने बताया समारोह की जानकारी मिल गई है। आदेश के तहत जनपद से 40 प्रधान और स्वच्छताग्राही को गुजरात भेजा जाएगा। ट्रेन में रिजर्वेशन न होने पर यह भी 29 सितंबर को बस से गुजरात को रवाना हो जाएंगे। जहां आयोजित होने वाले समारोह में भागीदारी करेंगे।
... और पढ़ें

स्कूल में अनियमितताएं मिलने पर दो शिक्षिकाएं निलंबित

स्कूल में अनियमितताएं मिलने पर दो शिक्षिकाएं निलंबित
बुलंदशहर। गांव अल्लीपुर गिझौरी स्थित बेसिक शिक्षा विभाग के संविलियन स्कूल की दो शिक्षिकाओं को निलंबित कर दिया गया है। स्कूल में मिड डे मील के तहत बच्चों को दूध का वितरण न करने, बच्चों की संख्या कम मिलने और बाल अधिकार के हनन का आरोप है। बीएसए ने यह कार्रवाई निरीक्षण की रिपोर्ट मिलने पर की है।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अम्बरीष कुमार ने बताया कि विगत छह सितंबर को शिकायत मिली थी कि गांव अल्लीपुर गिझौरी स्थित संविलियन स्कूल में बच्चों को दूध का वितरण नहीं किया जा रहा है। बच्चे भी कम पहुंच रहे हैं। एमडीएम के तहत दूध के स्थान पर बच्चों को चावल वितरित किया गया। शिकायत मिलने पर विगत सात सितंबर कोे क्षेत्र के एबीएसए से स्कूल का निरीक्षण करवाया गया। निरीक्षण के दौरान बच्चों ने भी दूध का वितरण न होने की बात कहीं थी। साथ ही कम बच्चे पहुंचने की शिकायत भी सही पाई गई। जांच रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि ग्राम प्रधान के साथ साठगांठ कर वित्तीय अनियमितता बरती जा रही है। विभागीय आदेशों का पालन नहीं हो रहा। साथ ही स्कूल में बाल अधिनियम का हनन करने का भी दोषी मानते हुए दो शिक्षिकाओं को बीएसए ने निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए हैं। निलंबित शिक्षिकाओं में प्रधान अध्यापक रीतू कुमारी और सहायक शिक्षिका सुनहेरा देवी शामिल हैं। साथ ही दोनों शिक्षिकाओं को बीआरसी बुलंदशहर से संबद्ध कर दिया गया है।
... और पढ़ें

एसएसपी ने खुद संभाली चेकिंग अभियान की कमान

एसएसपी ने खुद संभाली चेकिंग अभियान की कमान
बुलंदशहर। यूं तो सरकार सड़क पर वाहन स्वामियों की सुरक्षा के लिए सख्त कदम उठा रही है। लेकिन, वाहन चालक जनपद में अभी भी नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं। शुक्रवार देर रात एसएसपी ने नगर पुलिस के साथ कालाआम चौराहे पर सघन चेकिंग अभियान चलाते हुए लोगों को यातायात नियमों का पाठ भी पढ़ाया। इस दौरान दर्जनों वाहनों के चालान भी काटे गए।
बता दें कि बीते दिनों यातायात के नियमों में जुर्माना राशि बढ़ा कर सरकार ने लोगों को चेताया था। जिससे उम्मीद जताई जा रही थी कि वाहन चालक जुर्माना राशि बढ़ने के बाद यातायात नियमों का पालन करने लगेंगे। लेकिन, जनपद में जुर्माना राशि बढ़ाए जाने के बावजूद वाहन चालकों पर कोई खास असर होता नजर नहीं आ रहा है। इसी के चलते शुक्रवार देर रात को एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने मय एसपी देहात, एएसपी रविंद्र कुमार, नगर कोतवाल अरुणा राय समेत भारी भरकम पुलिस फोर्स के साथ कालाआम चौराहे पर वाहन चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान दर्जनों वाहन चालकों के हेलमेट न लगाने, सीट बेल्ट न लगाने आदि पर चालान किए गए तो कुछ को हिदायत देकर छोड़ दिया गया। इस दौरान एसएसपी ने लोगों से यातायात नियमों का पालन करने का आह्वान भी किया। देर रात चले अभियान से चौराहे पर अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि यह अभियान भविष्य में भी जारी रहेगा। यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा।
इनसेट=
सख्ती के बावजूद खुद खाकी भी बेपरवाह
जनपद में खुद खाकी और प्रशासनिक अधिकारियों के नुमाइंदे यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए नजर आ रहे हैं। एक ओर शुक्रवार देर रात एसएसपी ने अभियान चलाया तो वहीं, चंद घंटो बाद शनिवार सुबह से ही कालाआम चौराहे समेत विभिन्न मुख्य मार्गों पर खुद खाकी के नुमाइंदे बिना हेलमेट बाइक चलते और प्रशासनिक अफसरों के चालक चार पहिया वाहन बिना सीट बेल्ट के चलाते हुए नजर आए। जिससे साफ है कि यातायात नियमों का पाठ पढ़ाने वाली खाकी खुद ही नियमों की धज्जियां उड़ा रही है।
इनसेट =
पुरानी दरों पर ही जमा किए जा रहे चालान
एआरटीओ प्रशासन मुहम्मद कय्यूम ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा अभी प्रदेश में केंद्रीय मोटरयान अधिनियम 2019 की नई दरें लागू नहीं की गई है। नई दरें लागू न होने पर अभी पुरानी दरों पर ही चालान की धनराशि जमा कराई जा रही है। नया अधिनियम लागू होने पर नई दरों के हिसाब से जुर्माना वसूला जाएगा। उन्होंने वाहन स्वामियों/चालकों से जुर्माना राशि से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन करने की अपील की है।
... और पढ़ें

भरभराकर गिरी मिट्टी की ढांग, नीचे दबकर महिला की मौत

भरभराकर गिरी मिट्टी की ढांग, नीचे दबकर महिला की मौत
अनूपशहर। थाना क्षेत्र के एक गांव में पति व बच्चे के साथ मिट्टी लेने के लिए खेत पर गई महिला की ढांग गिरने से उसके नीचे दबकर मौत हो गई। महिला की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। वहीं, पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, जबकि प्रशासन ने उचित मदद दिलाने का आश्वासन दिया है।
जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के गांव बच्चीखेड़ा निवासी राकेश मेहनत मजदूरी कर अपना व परिवार का पालन पोषण करते हैं। बताया गया कि शनिवार शाम करीब पांच बजे वह अपनी पत्नी ममता (30) व एक मासूम पुत्र के साथ पड़ोस के गांव जाफराबाद से मिट्टी खोदने के लिए गए थे। इस दौरान अचानक मिट्टी की ढांग भरभराकर गिर पड़ी। जिसके नीचे ममता दब गईं और राकेश व उनका पुत्र मामूली रुप से बच गए। सूचना मिलने पर ग्रामीण व पुलिस-प्रशासनिक अफसर मौके पर पहुंच गए। जिसके बाद जेसीबी से महिला को खुदाई कराकर बाहर निकाला गया और सीएचसी पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, तहसीलदार धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि मामले में मृतका के परिजनों को शासन स्तर से हरसंभव मदद दिलाने की कोशिश की जाएगी।
... और पढ़ें

अनियमितता पर सीएमओ ने सील किया मेडिकल स्टोर

अनियमितता पर सीएमओ ने सील किया मेडिकल स्टोर
ककोड़। जांच के दौरान मेडिकल स्टोर पर एक्सपायरी दवा मिलने पर सीएमओ ने मेडिकल स्टोर को सील कर दिया। शिकायत पर सीएमओ मेडिकल स्टोर की जांच करने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने वैर पीएचसी का भी निरीक्षण किया।
सीएमओ केएन तिवारी ने बताया कि ककोड़ क्षेत्र के वैर में पीएचसी के बराबर में संचालित हो रहे मेडिकल स्टोर पर उन्हें अनियमितता की शिकायत मिली थी। शिकायत पर वह शनिवार को जांच करने के लिए पहुंचे। बताया कि जांच के दौरान मेडिकल स्टोर पर एक्सपायरी डेट की दवाईयां पाई गईं। कार्रवाई करते हुए मेडिकल स्टोर को सील कर दिया गया। इस दौरान उन्होंने पीएचसी वैर का भी निरीक्षण किया। बताया कि निरीक्षण के दौरान पीएचसी में सभी कार्य संतोषजनक पाए गए।
... और पढ़ें

सरकारी व्यवस्थाओं से तंग ऊंचागांव के बीडीओ ने दिया इस्तीफा

सरकारी व्यवस्थाओं से तंग ऊंचागांव के बीडीओ ने दिया इस्तीफा
बुलंदशहर। अव्यवस्थाओं से आजिज होकर सरकारी अफसर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। यह सरकारी अफसर कोई और नहीं, जनपद के ऊंचागांव ब्लॉक पर तैनात बीडीओ डा. आदेश कुमार हैं। हालांकि, बातचीत के दौरान उन्होंने सरकारी तंत्र की अव्यवस्थाओं और अपने निजी कारणों के कारण इस्तीफा देने की बात कही है। बीडीओ के इस्तीफे के बाद प्रशासनिक अमले में सुगबुगाहट तेज हो गई है।
ऊंचागांव ब्लॉक पर तैनात खंड विकास अधिकारी डा. आदेश कुमार को बीते दिनों ही तैनाती मिली थी। ब्लाक का कार्यभार ग्रहण करते ही उन्होंने वहां पर अव्यवस्थाओं को सुधारने को प्रयास किया। ब्लाक पर तैनात कर्मचारियों को उन्होंने ईमानदारी का पाठ पढ़ाते हुए उन्हें मेहनत से कार्य करने के लिए जागरूक भी किया। बताया गया कि वह पिछले कुछ समय से ब्लाक पर प्रशासनिक अव्यवस्थाओं से काफी परेशान थे। कई बार उन्होंने व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए उच्चाधिकारियों को अवगत भी कराया था। यही, नहीं बताया जा रहा है कि गत अगस्त माह का उनका वेतन भी रोक दिया गया था। ब्लाक पर व्यवस्थाएं और खराब होते देख खंड विकास अधिकारी डा. आदेश कुमार ने मुख्य विकास अधिकारी सुधीर कुमार रूंगटा सहित जिला विकास अधिकारी साहित्य प्रकाश मिश्र को अपना इस्तीफा स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजा है। इस्तीफे के बाद चर्चाओं का बाजार गरम है। चर्चा है कि विभागीय भ्रष्टाचार होने के कारण बीडीओ ने अपना इस्तीफा दिया है। वहीं, अधिकारी इस्तीफा देने के मामले में ज्यादा बोलने को तैयार नहीं हैं।
बीडीओ डा. आदेश कुमार ने अमर उजाला से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने बताया कि वह अपने निजी कारणों व सरकारी तंत्र की अव्यवस्थाओं से तंग थे। इस कारण उन्होंने यह कदम उठाया है। साथ ही कहा कि उन्होंने अपनी नौकरी को पूरी ईमानदारी के साथ किया, अपनी ड्यूटी को पूरी तरह से निभाया। क्षेत्र के लोगों की हर संभव मदद की। सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं को उनके पात्रों तक पहुंचाया। साथ ही एक ओर उन्होंने सरकारी तंत्र की अव्यवस्थाओं का हवाला देते हुए कहा कि यदि सरकार की योजनाओं का लाभ पात्रों तक नहीं पहुंचे तो यह परेशान करता है। उन्होंने बताया कि उन्होंने अपना इस्तीफा स्पीड पोस्ट के माध्यम से अधिकारियों को भेजा है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree