विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

भदोही

रविवार, 22 सितंबर 2019

बाढ़ : गाजीपुर-बलिया में हालात खराब, वाराणसी सहित आसपास के जिलों में स्थिति चिंताजनक

पूर्वांचल में गंगा की लहरें तबाही मचा रही हैं। गंगा के साथ अब पूर्वांचल के आसपास के जिलों में बहने वाली नदियों में पानी जलस्तर बढ़ गया है, जो खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। पूर्वांचल में कई जिलों के गांवों का संपर्क टूट गया है और बाढ़ का पानी घरों में घुस गया है। लोगों को पलायन करने को मजबूर होना पड़ा है।

वाराणसी में शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ प्रभावित इलाको का दौरा किया, और पीड़ित लोगों को राहत सामग्री दी। इसके साथ ही 12 घंटों के अंदर राहत पहुंचाने की बात कही थी। शनिवार को वाराणसी में गंगा का जलस्तर 71.82 मीटर था, जो खतरे के निशान (71.26) से 0.56 मीटर ऊपर बह रही हैं। इसके साथ ही गंगा में एक सेमी प्रति दो घंटे से पानी का बढ़ाव जारी है।

वाराणसी में वर्ष 2016 के बाद यह पहला मौका है, जब गंगा ने वाराणसी में खतरा बिंदु को पार कर लिया है। इससे पहले 2013 को वाराणसी में गंगा ने खतरे का निशान पार किया था। जलस्तर एक घंटा प्रति सेमी बढ़ रहा है। इस लिहाज से गंगा इस समय खतरे के निशान से 20 सेंटीमीटर ऊपर हैं। अगर अगले चौबीस घंटों तक यह गति जारी रही तो कई अन्य कालोनियों में भी गंगा का पानी भर जाएगा और स्थिति काफी भयावह हो जाएगी। गंगा खतरे के निशान को पार करके बह रही है। 1978 की बाढ़ में अधिकतम जलस्तर 73.901 मीटर रहा था।

काशी में बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अस्सी स्थित गोयनका संस्कृत महाविद्यालय में बने राहत शिविर में पीड़ितों के बीच पहुंचे थे। बाढ़ पीड़ितों को अपने हाथों से खाद्य सामग्री समेत उनके जरूरतों से संबंधित अन्य समान का वितरण किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ितों से कहा था कि इस मुसीबत की घड़ी में सरकार के साथ जिला प्रशासन पूरी तरह से उनके साथ खड़ी है। बाढ़ पीड़ितों की हर तरह से मदद की जाएगी, इसके लिए सरकारी खजाना खोल दिया गया है।
... और पढ़ें

भदोही की रामलीला तीसरा दिन

भदोही। भदोही की रामलीला में तीसरे दिन बृहस्पतिवार की रात श्रद्धालुओं ने अहिल्या उद्धार, गंगा दर्शन, श्रीराम का जनकपूरी आगमन, नगर दर्शन, फुलवारी व गौरी-पूजन लीलाओं का आनंद लिया। अयोध्या के कलाकारों ने बड़े ही सुंदर और मार्मिक ढंग से लीलाओं को प्रस्तुत किया। इस दौरान आधी रात तक श्रद्धालु डटे रहे।
गुरु विश्वामित्र मिथिला में सीता स्वयंवर की सूचना मिलते ही प्रभु श्रीराम लक्ष्मण के साथ जनकपुर को रवाना होते हैं। रास्ते में प्रभु के पैर से ठोकर लगने पर पत्थर स्त्री का रूप धारण कर लेती हैं। तब विश्वमित्र ने बताते हैं कि आपने अहिल्या का उद्धार कर दिया। इसके बाद श्रद्धालुओं ने शांत होकर गंगा दर्शन की लीला देखी, जिसमें अहिल्या किस प्रकार देवराज इंद्र पर मोहित होती हैं। चंद्रदेव द्वारा अर्धरात्रि को को मुर्गा बनकर बांग देना, ऋषि गौतम का अर्धरात्री को उठना और प्रात: समझ कर गंगा स्नान करने जाना, गंगा मैया और ऋषि गौतम के बीच वार्तालाप का प्रसंग सबको भा जाता है।
विश्वमित्र राम और लक्ष्मण को लेकर गंगा दर्शन को काशी पहुंचते हैं। जहां उन्हें गंगा दंर्शन कराने के लिए पंडों के बीच विवाद का चित्रण भी लोगों को प्रफुल्लित कर गया। उधर अपने मनोवांछित पति की प्राप्ति के लिए सीता गौरी पूजन करती हैं, जहां सीता को भगवान श्रीराम के दर्शन होते हैं। विश्वामित्र राम लक्ष्मण के साथ जनकपुर पहुंचते हैं। जहां राजा जनक उनका आदर सत्कार करते हैं। दोनों राजकुमारों का परिचय प्राप्त कर वे प्रसन्न हो उठते हैं। इसके अगले दिन दोनों राजकुमार जनकपुर घूमते हैं। तीसरे दिन सुबह दोनों भाइयों को राजा जनक के फुलवारी में देख कर माता सीता भगवान श्रीराम को देख मोहित हो जाती हैं। आयोजन समिति के पदाधिकारी भी इस दौरान मौजूद रहे और श्रद्धालुओं की सेवा करते रहे।
रामलीला 29 से, पदाधिकारी चयनित
वहिदानगर। विकास खंड डीघ की कोईरौना बाजार में प्रसिद्घ आदर्श रामलीला का शुभारंभ 29 सितंबर से कराया जाएगा। शुक्रवार को हुई समिति की बैठक में रामलीला को सकुशल संपन्न कराने के लिए पदाधिकारियों का चयन कर जिम्मेदारी दी गई। चयनित पदाधिकारियों में शिवमोहन-अध्यक्ष, बबलू पांडेय-कोषाध्यक्ष, देवीशंकर प्रधान-महामंत्री, डॉ. राजेंद्र प्रसाद श्रीवास्तव और आशीष अग्रहरी डायरेक्टर बनाए गए हैं।
... और पढ़ें

कलनुआ को चार सोलर वाटर पंप की सौगात

जंगीगंज। डीघ विकास खंड के कलनुआ गांव में शुक्रवार को ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्र ने 23 मुख्यमंत्री आवास का शिलान्यास किया। केंद्र और प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ ही पौधरोपण किया। उसके बाद गांव को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए 200 थाली और 200 स्टील का गिलास वितिरत किया।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल संचयन की मुहिम को आगे बढ़ा रहे हैं, जिसे पूरा करने के लिए सभी का सहयोग जरूरी है। उसी मुहिम के तहत गांव को प्लॉस्टिक मुक्त बनाने के साथ ही पौधरोपण किया जा रहा है। सभी को शुद्ध पानी मुहैया कराने के लिए गांव में चार सोलर वाटर पंप लगवाने की घोषणा की। ब्राह्मण बस्ती में 100 थाली और 100 गिलास, जबकि अन्य बस्ती के लिए 100 थाली और 100 गिलास वितरित किया। मुख्यमंत्री आवास योजना का शिलान्यास करने के साथ ही गांव को कीचड़मुक्त का संकल्प दोहराया। पौधरोपण के महत्व को समझाते हुए सभी को अधिकाधिक पौधे लगाने और उनको सुरक्षित रखने का आग्रह किया। इस दौरान विधायक ने 100 से अधिक फलदार पौधे लगाए। संचालन चंद्रेश मिश्र ने किया। इस मौके पर ग्राम प्रधान जगराजी देवी, कड़े नाथ तिवारी, धनंजय मिश्र, राजबली उपाध्याय, बऊ तिवारी, विनय उपाध्याय, जय प्रकाश दुबे, रमेश शुक्ल, बनारसी लाल, धर्मराज पाल, संकठा प्रसाद, मुसाफिर यादव आदि रहे।
वहीं बृहस्पतिवार को सेमराधनाथ धाम में आयोजित समारोह के दौरान ज्ञानपुर विधायक ने सेमराधनाथ धाम के विकास की घोषणा की। इसमें 24 लाख का शवदाह गृह और 14 लाख की लागत से सुलभ कांपलेक्स बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 60 लाख खर्च कर रही है। जिसे केंद्रीय मंत्री से वार्ता कर सेमराध के विकास के लिए लाया जाएगा।
... और पढ़ें

विद्युत विभाग पर किसान सभा का धरना

भदोही। विद्युत मूल्य वृद्धि, मनमानी बिजली कटौती व अधिकारियों के लचर रवैये को लेकर शनिवार को उप्र किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने सिविल लाइन स्थित विद्युत विभाग कार्यालय पर धरना दिया। धरना विद्युत मूल्य वृद्धी वापस लेने सहित विद्युत व्यवस्था सुधारने के लिए किया गया था। अंत में एक्सईएन की अनुपस्थिति में उनके कार्यालय अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर धरना समाप्त किया गया।
सुबह 10 बजे धरना शुरू हुआ। विद्युत मूल्य बढ़ाए जाने को लेकर किसानों में रोष दिखा। वक्ताओं ने कहा कि एक तो विद्युत कटौती पहले से बढ़ गई है। खराब ट्रांसफार्मरों को बदलने में सुविधा शुल्क मांगा जाता है। बदलने में एक एक महीना तक लगा देते हैं। ऐसे में विद्युत मूल्य वृद्धि हम किसानों की कमर तोड़ देगी। जिला मंत्री इंद्रदेव पाल ने कहा कि भाजपा राज में गरीब किसान मजदूर सब ठगे महसूस कर रहे हैं। सभी की आशाएं टूट चुकी हैं। विडंबना है कि संपन्न राज्यों में बिजली उप्र से सस्ता है। उप्र में किसान इतना पैसा कैसे दे पाएंगे? इस दौरान भाजपा के विरुद्ध नारेबाजी कर कहा गया कि सरकार का दोहरा चरित्र सामने आ गया है। जनप्रतिनिधि सब मौन धारणं किए हुए हैं।
अंत में मुख्यमंत्री को संबोधित 5 सूत्री मांग पत्र एक्सईएन कार्यालय में देकर धरना समाप्त किया गया। रमापति यादव ने मांग पत्र पढ़कर सुनाया। धरना में ज्ञान प्रकाश, जगन्नाथ मौर्य, प्रेम बहादुर, रामचंद्र पटेल, अमृत लाल मौर्य, चंद्रेश त्रिपाठी, परदेशी राम, भान सिंह मौर्य, बेचू लाल बिंद, राजकुमार बिंद, श्री राम सरोज, मुरलीधर पाल, रामलाल यादव आदि सैकड़ो लोग शामिल रहे।
... और पढ़ें

अंग्रेजी माध्यम स्कूल: नाम बड़े और दर्शन छोटे

ज्ञानपुर/दुर्गागंज। नाम बड़े और दर्शन छोटे। यह कहावत इन दिनों अंग्रेजी माध्यम स्कूलों पर सटीक बैठ रही है। योगी सरकार ने कान्वेंट की तर्ज पर प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाई के लिए अंग्रेजी माध्यम के स्कूल तो खुलवा दिया, लेकिन शिक्षकों की कमी से पठन-पाठन की व्यवस्था बेपटरी हो चुकी है। शिक्षकों के चयन में आवेदक न होने से शिक्षा विभाग भी ऐसे स्कूलों में अंग्रेजी शिक्षकों को तैनात करने में लाचार दिख रहा है। आलम यह है कि 200 से अधिक शिक्षकों कमी सरकार की मंशा को धरातल पर नहीं उतरने दे रहा है।
शुरुआती शिक्षा को बेहतर करने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार की ओर से तमाम योजनाएं चल रही हैं। 2017 में सूबे में भाजपा की सरकार बनने के बाद कान्वेंट स्कूलों की तर्ज पर ही प्राइमरी को आधुनिक किया गया। तीन साल में करीब 80 अंग्रेजी माध्यम स्कूलों का चयन किया गया। इन स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई करने वाले शिक्षकों का ही चयन होना था। दो साल के अंदर तीन बार साक्षात्कार किया गया, लेकिन स्कूलों की सीटें पूरी नहीं हो सकीं। एक साल से अधिक का समय गुजर चुका है, लेकिन अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में 200 शिक्षकों की कमी पूरी नहीं हो पा रही है। सरकार की गरीब बच्चों को बेहतर शिक्षा देने की मंशा पूरी नहीं होती दिख रही है। इससे अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में एडमिशन कराने वाले अभिभावक अब चिंतित होने लगे हैं।
-
केस.1- अभोली ब्लॉक के इंग्लिश मीडियम प्राइमरी स्कूल आनंदडीह में छात्र-छात्राओं की संख्या 280 है। मानक के अनुसार यहां आठ सहायक अध्यापकों की जरूरत है, लेकिन केवल दो सहायक अध्यापकों पर पांच कक्षाएं चलाने की जिम्मेदारी है। प्रधानाध्यापक डॉ. शैलेंद्र यादव ने बताया कि शिक्षकों की कमी को लेकर अभिभावक नाराज रहते हैं। 90 प्रतिशत उपस्थिति है, लेकिन ड्रेस का पैसा 280 के सापेक्ष महज 150 बच्चों का ही आया है।
-
केस.2- प्राथमिक विद्यालय भिड़िउरा भी अंग्रेजी माध्यम का स्कूल है। दो साल पूर्व इस विद्यालय का चयन किया गया। स्कूल को आधुनिक कर दिया गया, लेकिन यहां शिक्षकों की कमी से पढ़ाई नहीं हो पा रही है। ग्राम प्रधान मुन्ना पांडेय ने डीएम और बीएसए को प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन अब तक किसी की तैनाती नहीं हो सकी।
--
अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती के लिए तीन बार साक्षात्कार हुआ, लेकिन अभ्यर्थी कम होने से सीट खाली रह जाती है। जल्द ही विज्ञप्ति निकालकर शिक्षकों का चयन किया जाएगा।
अमित कुमार, बीएसए
... और पढ़ें

जीवित्पुत्ररेका व्रत आज, जमकर हुई खरीदारी

ज्ञानपुर। पुत्र की सलामती की कामना को लेकर रखा जाने वाला कठोर जीवित्पुत्रिका व्रत और पूजा रविवार को होगी। इसके लिए शनिवार को देर शाम तक सभी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया। तमाम महिलाएं निर्जला व्रत रखकर पुत्र की प्राप्ति और उनकी सलामती के लिए जीवित्पुत्रिका माता से आशीर्वाद प्राप्त करेंगी।
जीवित्पुत्रिका व्रत को लेकर शनिवार को जिले के बाजारों में पूरे दिन फल और पूजा के सामान की खरीदारी का दौर चला। फल मंडियों में खरीदारों की भारी भीड़ रही। यह सिलसिला देर रात तक चलता रहा। त्योहार को देखते हुए फल मंडियों में पूजा के फलों पर महंगाई का असर देखा गया। फलों की कीमतों में 20 से 25 फीसदी तक बढ़ोतरी हुई है। नाशपाती और संतरा की कीमतें तेजी से बढ़ी हैं। कल तक 30 रुपये किलो बिकने वाली नाशपाती इस समय 100 रुपये किलो बिक रही है। 30 से 40 रुपये दर्जन के रेट से मिलने वाला केला शनिवार को 50 रुपये दर्जन बिक रहा था। गोपीगंज, भदोही समेत जिले के अन्य बाजारों में भी जीवित्पुत्रिका को लेकर खरीदारी का दौर चलता रहा। उधर पूजा को लेकर मंदिरों और सार्वजनिक महत्व के अन्य धार्मिक स्थलों पर भी जीवित्पुत्रिका की तैयारी की गईं। मंदिरों में साफ-सफाई और सरोवरों के किनारे बेदियां बनाने के लिए तैयारी की जा रही थी। ज्ञानपुर नगर के हृदयस्थल हरिहरनाथ धाम के ज्ञान सरोवर की सीढ़ियां और चबूतरे की साफ-सफाई की गई। यहां महिलाएं गोंठ बनाकर जीवित्पुत्रिका पूजन करतीं हैं। साथ ही जीमूतवाहन के महात्म्य से जुड़ी कथाएं कही-सुनी जाती हैं।
...
फल- रेट पहले- रेट अब
केला- 30 से 40 - 50
अनार- 60 से 80- 120
पपीता- 30 - 80
नाशपाती- 30- 100
संतरा- 40 से 50- 100
--
23 सितंबर को होगा पारण
जीवित्पुत्रिका व्रत का पारण 23 सितंबर को अष्टमी तिथि के समापन के बाद होगा। डुहियां के आचार्य पं. दीनानाथ शुक्ल ने कहा कि काशी से प्रकाशित महावीर पंचांग के अनुसार जीवित्पुत्रिका का व्रत माताएं 22 सितंबर को करेंगी, जबकि पारण 23 को होगा। जिउतिया का व्रत करने से पुत्र दीर्घायु और सुरक्षित रहता है।
-
जीवित्पुत्रिका व्रत का महात्म्य
सनातनी परंपरा में मान्यता है कि जीवित्पुत्रिका व्रत के साथ गंधर्वों के राजकुमार जीमूतवाहन की कथा जुड़ी है। आश्विन मास कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के प्रदोषकाल में पुत्रवती महिलाएं जीमूतवाहन की पूजा करती हैं। कैलाश पर्वत पर भगवान शिव माता पार्वती को कथा सुनाते हुए बताते हैं कि आश्विन कृष्ण अष्टमी के दिन उपवास रखकर जो स्त्री सायं प्रदोषकाल में जीमूतवाहन की पूजा करती हैं और कथा सुनने के बाद आचार्य को दक्षिणा देती हैं, वह पुत्र-पौत्रों का पूर्ण सुख प्राप्त करती हैं। व्रत का पारण दूसरे दिन अष्टमी तिथि की समाप्ति के पश्चात किया जाता है। यह व्रत अपने नाम के अनुरूप फल देने वाला है।
... और पढ़ें

आकाशीय बिजली से महिला की मौत,दो घायल

ऊंज। थानाक्षेत्र के पूरेनगरी और हरिहरपुरसानी गांव में शनिवार को बिजली गिरने की दो घटनाओं में रीता (28) पत्नी जयराज बिंद की मौत हो गई। साथ ही चार लोग घायल हो गए। वहीं दो युवतियां गंभीर रूप से घायल होकर जीवन-मौत के बीच जूझ रही हैं। घटना को लेकर परिजनों में कोहराम मचा रहा। मृतका दो बच्चों की मां बताई गई है।
बताते हैं कि पूरे नगरी गांव में रीता देवी नीतू (16) और रिंकी (18) के साथ खेत से घास निकाल रही थी। उसी दौरान तेज आवाज के साथ बिजली गिरी। उसकी चपेट में आकर वह गंभीर रूप से से झुलस गई। परिजनों को भनक लगते ही आनन-फानन में तीनों को उपचार के लिए गोपीगंज ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने रीता की हालत नाजुक देख प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया और दोनों युवतियों उपचार के लिए भर्ती कर लिया। परिजन रीता को प्रयागराज लेकर जा ही रहे थे कि उसने रास्ते में दम तोड़ दि या। इसी तरह हरिहरपुरसानी गांव में भी करिश्मा एवं कोमल नामक किशोरियों के झुलसने की जानकारी मिली है। ग्राम प्रधान रमेशचंद्र सरोज ने जिला प्रशासन से मृतका के परिजनों को मुआवजा की मांग की है।
... और पढ़ें

यूको बैंक का एक्सपोर्टर्स मीट

भदोही। यूको बैंक के उपमहाप्रबंधक एसके सचदेवा ने कहा कि भारत के 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था बनने में कालीन उद्योग की भी महत्वपूर्ण भू मिका होगी। कालीन उद्योग में लगे मजदूरों के बल पर बैंकिग सेक्टर को आशा है कि हम वांछित लक्ष्य पा लेंगे। वे शनिवार की शाम आल इंडिया कारपेट मैनुफैक्चरर्स एसोसिएशन (एकमा) के सभागार में एक्सपोर्टर्स मीट को संबोधित कर रहे थे।
उपमहाप्रबंधक ने कहा कि यूको बैंक के स्टाफ और ग्राहक इस बात के लिए बधाई के पात्र हैं कि रिजर्व बैंक ने अपने असेसमेंट में यूको बैंक को एक मजबूत बैंक के रूप में चिन्हित किया। इसके चलते हमारे बैंक को हालिया मर्जर से बरी रखा है। बताया कि इरान से रुपये में कारोबार के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने केवल यूको बैंक को नामित किया है। यह भी हमारे लिए गौरव की बात है।
उन्होंने कहा हालिया खराब अर्थव्यवस्था को देखते हुए वित्त और वाणिज्य मंत्रालय ने कई ठोस कदम उठाए हैं। विश्वास जताया कि इसका लाभ कालीन उद्योग को भी मिलेगा। कहा कि भावी वर्षों में कालीन उद्योग भी तरक्की करेगा और 5 ट्रिलियन के सपने को साकार करने में आगे आगे होगा। उन्होंने उद्यमियों के लिए संचालित अपनी योजनाएं बताई और कहा कि आपके सुझावों से हम और योजनाएं लाने पर विचार करेंगे।
गोष्ठी में निर्यातकों सुझाव देते हुए अपनी कुछ समस्याओं के समाधान मांगे। बैंक के वरिष्ठ प्रबंधक जावेद अरशद ने आभार जताया। गोष्ठी के प्रारंभ में अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित किए। इश्तीयाक अहमद खां, पीसी जायसवाल, अब्दुल हादी अंसारी, आलोक बरनवाल, एसके सिनहा, हाजी अब्दुल सत्तार, तनवीर हुसैन, उमेश भल्ला, सैफ मोहम्मद, पीयूष रंजन, दिव्यांशु सिंह, गुंजन शेखर आदि उपस्थित रहे। (साजिद अंसारी, 1500 बाइट, 8.25 बजे)
... और पढ़ें

यूको बैंक का एक्सपोर्टर्स मीट

भदोही। यूको बैंक के उपमहाप्रबंधक एसके सचदेवा ने कहा कि भारत के 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था बनने में कालीन उद्योग की भी महत्वपूर्ण भू मिका होगी। कालीन उद्योग में लगे मजदूरों के बल पर बैंकिग सेक्टर को आशा है कि हम वांछित लक्ष्य पा लेंगे। वे शनिवार की शाम आल इंडिया कारपेट मैनुफैक्चरर्स एसोसिएशन (एकमा) के सभागार में एक्सपोर्टर्स मीट को संबोधित कर रहे थे।
उपमहाप्रबंधक ने कहा कि यूको बैंक के स्टाफ और ग्राहक इस बात के लिए बधाई के पात्र हैं कि रिजर्व बैंक ने अपने असेसमेंट में यूको बैंक को एक मजबूत बैंक के रूप में चिन्हित किया। इसके चलते हमारे बैंक को हालिया मर्जर से बरी रखा है। बताया कि इरान से रुपये में कारोबार के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने केवल यूको बैंक को नामित किया है। यह भी हमारे लिए गौरव की बात है।
उन्होंने कहा हालिया खराब अर्थव्यवस्था को देखते हुए वित्त और वाणिज्य मंत्रालय ने कई ठोस कदम उठाए हैं। विश्वास जताया कि इसका लाभ कालीन उद्योग को भी मिलेगा। कहा कि भावी वर्षों में कालीन उद्योग भी तरक्की करेगा और 5 ट्रिलियन के सपने को साकार करने में आगे आगे होगा। उन्होंने उद्यमियों के लिए संचालित अपनी योजनाएं बताई और कहा कि आपके सुझावों से हम और योजनाएं लाने पर विचार करेंगे।
गोष्ठी में निर्यातकों सुझाव देते हुए अपनी कुछ समस्याओं के समाधान मांगे। बैंक के वरिष्ठ प्रबंधक जावेद अरशद ने आभार जताया। गोष्ठी के प्रारंभ में अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित किए। इश्तीयाक अहमद खां, पीसी जायसवाल, अब्दुल हादी अंसारी, आलोक बरनवाल, एसके सिनहा, हाजी अब्दुल सत्तार, तनवीर हुसैन, उमेश भल्ला, सैफ मोहम्मद, पीयूष रंजन, दिव्यांशु सिंह, गुंजन शेखर आदि उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

अतिक्रमण व पालीथिन के खिलाफ चला अभियान

सुरियावां/गोपीगंज। प्रतिबंधित पॉलिथीन और अतिक्रमण के खिलाफ शनिवार को गोपीगंज और सुरियावां में अभियान चलाया गया। गोपीगंज में नौ अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए टीम ने सोलह सौ रुपये जुर्माना वसूला तो वहीं सुरियावां में प्रतिबंधित पालिथीन को स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक बताकर दोबारा इस्तेमाल न करने की हिदायत दी गई।
अधिशासी अधिकारी गोपीगंज नपा अमिता सिंह के नेतृत्व में ज्ञानपुर रोड, राष्ट्रीय राजमार्ग चौराहा, सदर मोहाल में पालिथीन और सड़क पर किए गए अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया गया। इससे लोगों में हड़कंप मचा रहा। कहा कि अभियान अनवरत जारी रहेगा। जांचोपरांत पालिथीन का उपयोग और राजमार्ग सहित आंतरिक लिंक-संपर्क मार्गों पर अवैध ढंग से अतिक्रमण पाया जाएगा तो कठोर कार्रवाई की जाएगी। टीम में अचल श्रीवास्तव, मंगला पांडेय, विष्णु, संतोष तिवारी, सिविल द्विवेदी, आशीष यादव, संतोष श्रीवास्तव सहित अन्य कर्मचारी शामिल रहे। इसी तरह सुरियावां नगर पंचायत की ओर से एक दर्जन से अधिक स्थानों पर पालीथिन की जांच कर टीम ने दुकानदारों एवं ग्राहकों को आगाह किया कि पालिथीन का उपयोग स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए हानिकारक है। इसका उपयोग मानव जीवन के लिए घातक होगा। शुद्घ वातावरण को प्रदूषित करने में इसकी जो भूमिका होती है, उससे लोग अनभिज्ञ हैं। समय रहते प्रतिबंधित पॉलीथिन से तौबा कर ली जाए। टीम में ओमप्रकाश तिवारी, नौशाद अली, आलोक मिश्रा, इसरार अली आदि शामिल रहे।
... और पढ़ें

कप्तान ने कोतवाली का निरीक्षण किया

भदोही। पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह शनिवार की शाम कोतवाली का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान अभिलेखों के अलावा अर्दली रुम, मालखाना आदि का निरीक्षण किया। पेंडिग विवेचना पर कप्तान ने नाराजगी जताई। इस दौरान कोतवाली परिसर की साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने का भी निर्देश दिया। निरीक्षण के बाद मातहतों के साथ लंबी बैठक की।
बैठक में कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत सभी पुलिस चौकी प्रभारियों के अलावा कोतवाली के दारोगा व सब इंस्पेक्टर आदि शामिल रहे। कप्तान ने कहा कि मुख्यत: विवेचनाओं में धीमी गति चिंता का कारण है। मैने भी से पेंडिंग मामलों की विवेचना पूरे करने के निर्देश दिए हैं। उनके सामने आ रही अड़चनों को भी जाना। उन्होंने सख्ती से कहा गया है कि विवेचना में लापरवाही न करें साथ ही कोतवाली आने वाले फरियादियों के साथ अच्छा सलूक करें। पुलिस कप्तान निरीक्षण के दौरान कोतवाली की साफ सफाई पर भी ध्यान दिया और प्रभारी निरीक्षक को जगह जगह कूड़ादान रखने और परिसर की साफ सफाई बनाए रखने को कहा।
सभी चौकी प्रभारियों से अपने अपने हल्के में गश्त करने और अपराध पर अंकुश लगाने के लिए जोर दिया। बैठक में प्रभारी कोतवाल आलमगीर खां, कस्बा चौकी प्रभारी संतोष कुमार राय, एसआई रामअशीष बिंद, परशुराम उपाध्याय, इंद्रजीत यादव, अजय कुमार मिश्रा, प्रेमशंकर श्रीवास्तव, भीम सिंह यादव, धर्मेंद्र नाथ तिवारी आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

अफवाह में पीटे घायल की मौत, तनाव

दुर्गागंज। बच्चा चोरी की अफवाह फैलाकर की गई पिटाई में घायल गुलाबधर बिंद की शनिवार को उपचार के दौरान ट्रामा सेंटर वाराणसी में मौत हो गई। खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया। ग्रामीण उग्र हो गए। गांव वालों का गुस्सा देखते हुए मौके पर तहसीलदार भदोही पहुंचे। घटना में घायल आठ लोगों में चालक की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने कुसौली गांव से दो युवकों को हिरासत में ले लिया है।
ऊंज थानाक्षेत्र के कुरमैचा गांव निवासी गुलाबधर बिंद (52) शुक्रवार को अपनी सास की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए ससुराल दानूपुर पूरब पट्टी गांव आए थे। शव को ट्रैक्टर से लेकर ग्रामीण दोपहर ढाई बजे रामपुर घाट गए। शाम को लौटते समय गोपीगंज के खोरावीर के पास बाइक सवार कुछ लोगों ने बच्चा चोर की अफवाह फैला दी और उस ट्रैक्टर का पीछा कर लिया। ट्रैक्टर को रास्ते में खड़ा कर पत्थर और डंडे से पीटने लगे। इससे गुलाबधर बिंद, मुरलीधर बिंद, लालमणि बिंद, घूरहू, रमापति, रामआसरे, मिथिलेश, पकौड़ी लाल समेत आठ लोग घायल हो गए थे। कुछ लोगों ने गुलाबधर पर फावड़े से हमला कर दिया। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। किसी तरह खबर मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंची।
घायल गुलाबधर बिंद को वाराणसी के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। शनिवार की सुबह उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। ग्रामीणों की नाराजगी को देखते हुए कई थानों की पुलिस को गांव में तैनात कर दिया गया। भदोही तहसीलदार भी मौके पर पहुंच गए। वहीं घटना में घायल चालक की हालत चिंताजनक बनी हुई है। मौत की खबर मिलने के बाद से ही दानूपुर पूरबपट्टी गांव में बड़ी संख्या में ग्रामीण जुट गए हैं। घटना को लेकर लोगों में नाराजगी है। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने गाड़ी मालिक की निशानदेही पर दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। दोनों कुसौली गांव के निवासी बताए गए। दोनों से अन्य लोगों के बारे में जानकारी ली जा रही है। पुलिस मामले में सक्रिय हुई तो घटना को अंजाम देने वालों में अन्य की भी गिरफ्तारी हो सकती है।
... और पढ़ें

दहेज हत्या में पति, ससुर और सास को कारावास

ज्ञानपुर। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक की अदालत ने दहेज हत्या के एक मामले में दोषी पति समेत तीन लोगों को साढ़े तीन साल कारावास की सजा सुनाई है। 16 साल पहले जोरई गांव में विवाहिता की मौत के मामले में कोर्ट ने यह निर्णय सुनाया है।
बैरीबीसा गांव निवासी बसंतलाल यादव ने 1998 में अपनी बेटी राजकुमारी की शादी ज्ञानपुर के जोरईं गांव निवासी ओम प्रकाश मुन्ना पुत्र बेचन यादव के साथ की थी। आरोप था कि शादी में दहेज देने के बाद भी बाइक और सोने की चेन के लिए बेटी को परेशान किया जाने लगा। 27 मई 2003 को जोरईं गांव के कुछ लोगों ने जानकारी दी कि उनकी बेटी ने फांसी लगाकर जान दे दी। घटनास्थल पर पहुंचने पर पता चला कि उसकी हत्या की गई है। मामले में पुलिस ने शुरू में मुकदमा दर्ज नहीं किया। कोर्ट के आदेश पर पति ओम प्रकाश, ससुर बेचन यादव और सास रन्नो देवी समेत छह लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोप पत्र न्यायालय में भेजा। दोनों पक्ष के अधिवक्ताओं के बहस-पैरवी की। उसके बाद न्यायाधीश रामकरन यादव ने दहेज हत्या का दोषी मानते हुए पति को साढ़े तीन साल, सास और ससुर को तीन साल तीन माह कारावास की सजा सुनाई। वादी की ओर से बहस-पैरवी शासकीय अधिवक्ता रमेश पांडेय ने की।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree