विज्ञापन

शौचालय में बेसुध मिली कस्तूरबा गांधी विद्यालय की छात्रा

Lucknow Bureauलखनऊ ब्यूरो Updated Mon, 10 Sep 2018 10:32 PM IST
ख़बर सुनें
जलालपुर (अंबेडकरनगर)। फत्तेपुर मोहितपुर स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के हॉस्टल में प्रसाधन कक्ष गई सातवीं की छात्रा रविवार देरशाम बेहोश हो गई। सूचना पर विद्यालय प्रशासन में हड़कंप मच गया। संवेदनहीन विद्यालय प्रशासन छात्रा को अस्पताल ले जाने के बजाए उसके अभिभावक का इंतजार करता रहा। सोशल मीडिया पर खबर वायरल होने के बाद डीएम के सख्त निर्देश के बाद आनन-फानन में छात्रा को नगपुर सीएचसी ले जाया गया, जहां उसका इलाज सुनिश्चित किया गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय फत्तेपुर की सातवीं की 12 वर्षीय छात्रा महिमा पुत्री संजय निवासिनी खानपुर उमरन विद्यालय के ही हॉस्टल में रहती है। वह रविवार रात लगभग आठ बजे शौचालय गई थी। वहां उसकी अचानक तबियत खराब हो गई और बेहोश होकर गिर पड़ी। कुछ देर के बाद एक अन्य छात्रा शौचालय गई, तो वहां का दृश्य देखकर सन्न रह गई। महिमा को बेहोश देख छात्रा ने शोर मचाया। उसके गुहार पर न सिर्फ छात्राएं, बल्कि शिक्षिकाएं ममता आदि भी मौके पर पहुंच गईं। महिमा को शौचालय से निकालकर उसे एक कमरे में ले जाया गया। छात्रा के इलाज की व्यवस्था करने की बजाए शिक्षिकाओं ने उसके अभिभावक को फोन कर कहा कि उसकी पुत्री की तबियत खराब हो गई, उसे आकर ले जाएं। लगभग एक घंटे तक अभिभावक का इंतजार किया जाता रहा।
इस बीच छात्रा के बेहोश होने की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इस पर डीएम सुरेश कुमार ने इसका संज्ञान लिया, और अधिकारियों को मौके पर जाने के लिए निर्देशित किया। इसके बाद तहसीलदार ज्ञानेंद्र यादव, बीआरसी मित्रसेन व किरन चौधरी विद्यालय पहुंचे। लगभग साढ़े नौ बजे छात्रा को नगपुर सीएचसी में भर्ती कराया गया। यहां इलाज के बाद उसकी स्थिति में सुधार हुआ। इस बीच छात्रा के अभिभावक भी ग्रामीणों के साथ अस्पताल पहुंच गए। विद्यालय प्रशासन की लापरवाही को लेकर परिवारीजनों व ग्रामीणों ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उनका कहना था कि छात्रा की तबियत खराब होने के बाद उसका इलाज सुनिश्चित करने की बजाए अभिभावक के पहुंचने का इंतजार किया जाता रहा। यदि इस बीच कोई अप्रिय घटना हो जाती, तो इसकी जिम्मेदारी कौन होता। अभिभावकों ने पूरे मामले की जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने की मांग की।

अवकाश पर चल रहीं वार्डेन
शिक्षिका ममता ने बताया कि वार्डेन कमलावती पिछले से एक सप्ताह से मेडिकल अवकाश पर चल रही हैं। कहा कि विद्यालय में कुल 83 छात्राएं पंजीकृत हैं। छात्राओं की बेहतर देखभाल सुनिश्चित की जाती है। कहा कि घटना के समय विद्यालय में वे तथा एक अन्य शिक्षिका अनामिका मौजूद थीं। यहां वार्डेन समेत कुल तीन शिक्षिकाओं की तैनाती है। कहा कि छात्रा के अभिभावक को जानकारी देने के साथ ही उसके इलाज की व्यवस्था की जा रही थी।

भविष्य में न हो ऐसी पुनरावृत्ति
ऐसे संवेदनशील मामलों में आगे इस तरह की लापरवाही न हो इसके निर्देश दिए गए हैं। छात्रा बीमार थी, तो इलाज का तत्काल प्रबंध करना चाहिए था। शिक्षिकाएं यदि स्वयं ले जाने में संभव नहीं थीं तो एंबुलेंस आदि की सुविधा लेनी चाहिए थी। कड़े निर्देश दिए गए हैं कि आगे ऐसे मामलों में कार्रवाई भी तय होगी। -सुरेश कुमार, जिलाधिकारी

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Ambedkar Nagar

पंक्चर दुकान के बाहर बाइक पर बैठे युवक को जीप ने रौंदा, मौत

पंक्चर दुकान के बाहर बाइक पर बैठे युवक को जीप ने रौंदा, मौत

23 मार्च 2019

विज्ञापन

रायबरेली की आधी आबादी ने गिनाईं अपनी समस्याएं, कहा इन पर सरकार करे काम

अमर उजाला का चुनावी रथ यूपी के रायबरेली पहुंचा। जहां पर आधी आबादी में महिलाओं ने सुरक्षा का सवाल उठाया। साथ ही महिलाओं ने कहा कि महिलाओं को बराबरी का भी दर्जा मिले।

22 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree