विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मनचाहा जीवनसाथी  पाने के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

योगी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार आज, इन चेहरों को मिल सकता है मौका

योगी आदित्यनाथ सरकार का बहुप्रतीक्षित पहला मंत्रिमंडल विस्तार बुधवार पूर्वाह्न 11 बजे राजभवन के गांधी सभागार में होगा।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अम्बेडकरनगर

बुधवार, 21 अगस्त 2019

पुल बना छुट्टा पशुओं का रैन बसेरा, प्रभावित हो रहा आवागमन

अंबेडकरनगर। पवित्र श्रवणक्षेत्र स्थित विसुई नदी पर बना पुल छुट्टा पशुओं का रैन बसेरा बन चुका है। दिन में तो कुछ गनीमत रहती है, लेकिन शाम होते ही दर्जनों की संख्या में ऐसे मवेशी पुल पर बैठ कर मार्ग को अवरुद्ध कर देते हैं। इससे न सिर्फ छोटे बड़े वाहनों को आने-जाने में परेशानी होती है, बल्कि जानमाल का भी जोखिम बना रहता है। बड़ी संख्या में होने के चलते इन्हें कोई भगाने का साहस भी जल्दी नहीं जुटा पाता। स्थानीय लोगों का कहना है कि अधिकारियों से शिकायत के बावजूद पशुओं के रखरखाव की उचित व्यवस्था नहीं की जा रही है।
छुट्टा पशुओं के समुचित रख रखाव की व्यवस्था न होने से किसानों व आम जनमानस के लिए संकट अभी भी बना हुआ है। हालांकि कई स्थाई तथा अस्थाई पशु आश्रय स्थल प्रशासन द्वारा स्थापित तो कराए गए हैं, लेकिन मवेशियों की संख्या के सापेक्ष वे भी पर्याप्त साबित नहीं हो रहे। इसके चलते छुट्टा मवेशी जहां तहां अपना आश्रय स्थल बना ले रहे। कुछ ऐसा ही हाल श्रवणक्षेत्र के विसुई नदी पर बने पुल का है। यहां शाम होते ही दर्जनों की संख्या में छुट्टा मवेशी बैठकर आवागमन बाधित कर देते हैं।
स्थानीय लोगों के अनुसार दिन में ये मवेशी किसानों की फसलों को चरकर बर्बाद करते हैं फिर शाम होते ही पुल पर बैठ कर आवागमन बाधित कर देते हैं। कई बार तो स्थिति तब असहज हो जाती है जब मवेशी पुल पर बीचोबीच बैठकर आवागमन पूरी तरह से ठप कर देते हैं। इससे छोटे बड़े वाहनों का निकलना दूभर हो जाता है। वाहनों के सुचारू आवागमन न हो पाने से कई बार जाम की स्थिति बन जाती है। बड़ी संख्या में होने के चलते इन्हें कोई वहां से हटाने का साहस भी जल्दी नहीं जुटा पाता। इससे हर समय राहगीरों को जान का जोखिम बना रहता है।
स्थानीय परमार सिंह, गुड्डू सिंह, विनीत यादव व केशव वर्मा आदि ने बताया कि पिछले दिनों ऐसे मवेशियों से परेशान होकर ग्रामीणों ने कुछ मवेशियों को बंधक बनाकर मार्ग भी जाम कर दिया था, इसके बाद एसडीएम सदर के आदेश पर मवेशियों को मिर्जापुर आश्रय स्थल भिजवा दिया गया था, लेकिन अभी भी क्षेत्र में बड़ी संख्या में आवारा पशुओं का जमावड़ा है, जो किसानों के साथ साथ आम जनमानस के लिए समस्या बने हुए हैं।
पालिटेकिभनक होने के कारण हर समय छात्र-छात्राओं का पुल से होकर आना जाना लगा रहता है, ऐसे में उनके साथ किसी अनहोनी से इंकार नहीं किया जा सकता। उधर एसडीएम सदर अभिषेक पाठक ने कहा कि ऐसे पशुओं को आश्रय स्थल पर भिजवाया जाएगा। ग्रामीणों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। ... और पढ़ें

बैरमपुर बरवां उपकेंद्र की विद्युत आपूर्ति बदहाली से उपभोक्ता आजिज

अंबेडकरनगर। तमाम शिकायतों के बावजूद बिजली आपूर्ति पटरी पर आने का नाम नहीं ले रही। स्थिति यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में निर्धारित रोस्टर 18 घंटे के सापेक्ष महज 10 से 12 घंटे की ही आपूर्ति उपभोक्ताओं को मिल पा रही है। नतीजा यह है कि जहां उपभोक्ताओं को पेयजल के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं खेती किसानी का भी कार्य प्रभावित हो रहा। उपभोक्ताओं की मानें तो आपूर्ति के लिए लगे उपकरण जर्जर हो चुके हैं, जिससे थोड़ी सी बारिश या हवा के झोंके से वह जवाब दे जाते हैं। इसके बावजूद विभाग ऐसे जर्जर उपकरणों को बदलने की जरूरत पर ध्यान नहीं दे रहा।
जिला मुख्यालय स्थित बरवा बैरमपुर उपकेंद्र से जुड़े उपभोक्ताओं को इन दिनों अनियमित बिजली कटौती से निजात नहीं मिल पा रही है। हालत यह है कि जहां दिन में घंटों की कटौती की जाती है, वहीं रात में भी कई बार बिजली के आने जाने का दौर जारी रहता है। वजह यह कि ग्रामीण क्षेत्रों में लगे विद्युत उपकरण हद दर्जे तक जर्जर हो चुके हैं, जो थोड़ी सी बारिश या ओवरलोड के चलते जवाब दे जाते हैं। इससे जहां आये दिन आपूर्ति में बाधा उत्पन्न होती रहती है तो वहीं उपभोक्ताओं को कई समस्याओं से जूझना पड़ता है, लेकिन विभागीय अधिकारियों को इन जर्जर उपकरणों को बदलवाने की सुध नहीं है। उपभोक्ताओं की मानें तो पिछले कुछ दिनों से आपूर्ति व्यवस्था बदहाली के दौर से गुजर रही है।
निर्धारित रोस्टर 18 घंटे के सापेक्ष महज 10 से 12 घंटे की आपूर्ति मिल पा रही है, उसमें भी कई बार विद्युत खराबी दूर करने के नाम पर आपूर्ति बाधित कर दी जाती है। इस अनियमित कटौती एवं व्यवधान से जहां उपभोक्ताओं को पेयजल के लिए मुसीबतें उठानी पड़ती हैं तो वहीं खेती किसानी का कार्य भी प्रभावित होता रहता है। अधिकारियों व कर्मचारियों की यह सब मनमानी करीब 20 हजार उपभोक्ताओं पर भारी पड़ रही है।
उपभोक्ता परशुराम, सियाराम, संदीप, ज्ञानदीप, समर सिंह आदि का कहना है कि बिजली आपूर्ति के नाम पर सिर्फ अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा मनमानी की जा रही है। उधर अधिशाषी अभियंता वीके पटेल ने कहा कि रोस्टर के अनुरूप आपूर्ति के सभी जरूरी प्रयास किए जाते हैं। कई बार विभिन्न गड़बड़ियों से आपूर्ति में व्यवधान आता है, जिसे समय रहते दुरुस्त कराया जाता है। ... और पढ़ें

महिला को पता नहीं, उसके नाम हो गया रसोई गैस कनेक्शन

अंबेडकरनगर। एक महिला के नाम पर फर्जी ढंग से गैस कनेक्शन आवंटित कर दिए जाने का मामला सामने आया है। मामले की जानकारी तब हुई, जब गत दिवस महिला के पति एक गैस एजेंसी पर कनेक्शन के लिए पहुंचा, जहां कर्मचारियों ने उसे यह कहकर लौटा दिया गया कि उसकी पत्नी के नाम पर पहले से ही एक कनेक्शन जारी है। अब उसे दूसरा कनेक्शन नहीं दिया जा सकता, जबकि महिला के पति का कहना है कि उसने कभी कोई कनेक्शन अभी तक लिया ही नहीं। मामले की शिकायत एसडीएम से की गई है।
मामला टांडा तहसील क्षेत्र का है। खासपुर निवासी जयराम ने एसडीएम एमपी सिंह को दिए शिकायती पत्र में बताया कि बीते दिनों वह एक गैस एजेंसी पर पत्नी के नाम से घरेलू गैस कनेक्शन के लिए पहुंचा। उसके द्वारा जब कनेक्शन के लिए प्रपत्र पेश किया गया तो एजेंसी के कर्मचारियों ने कनेक्शन देने से साफ मना कर दिया। कारण पूछने पर बताया गया कि उसकी पत्नी पटना देवी के नाम से पहले से कनेक्शन आवंटित है, ऐसे में एक ही नाम से दूसरा कनेक्शन जारी नहीं किया जा सकता। यह सुनते ही वह भौचक्का रह गया।
पीड़ित का कहना है कि उसके द्वारा इससे पहले कभी गैस कनेक्शन के लिए आवेदन ही नहीं किया गया, फिर इस तरह से उसके पत्नी के नाम पर कैसे कनेक्शन जारी किया जा सकता है। यह पूरी तरह से कर्मचारियों की मनमानी है। बताया कि उसके यहां लंबे समय से चूल्हे पर खाना बनाया जाता है। उसी से निजात पाने के लिए वह गैस कनेक्शन के लिए पहुंचा था, लेकिन एजेंसी के कर्मचारियों की मनमानी से उसे गैस कनेक्शन नहीं मिल पा रहा है।
पीड़ित ने एसडीएम को दिए पत्र में मांग किया कि उसकी पत्नी पटना देवी के आधार संख्या से अवैध रूप से गैस कनेक्शन लेने वाले के पते की जानकारी किया जाए तथा संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की है। उधर, इस मामले में एसडीएम एमपी सिंह ने मामले को दिखवाने का भरोसा दिलाया है। ... और पढ़ें

बंद हो सरकारी संस्थानों के निजीकरण का काम

अंबेडकरनगर। भीम सेना ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट के पास प्रदर्शन किया। तुगलकाबाद में संत शिरोमणि सतगुरु रविदास मंदिर का फिर से निर्माण कराने, सरकारी संस्थानों का निजीकरण रोकने व शिक्षा के दोहरीकरण पर अंकुश लगाने की मांग प्रमुखता से उठाई गई। जल्द ही मांगों का निस्तारण न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी गई। बाद में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा गया।
जिलाध्यक्ष प्रेमसागर ने कहा कि 10 अगस्त को दिल्ली के तुगलकाबाद स्थित संत शिरोमणि सतगुरु रविदासजी के मंदिर को तोड़ने से आस्था आहत हुई है। श्रद्धालुओं की भावना को देखते हुए मंदिर का फिर से निर्माण कराया जाए। कहा कि सरकारी संस्थाओं का निजीकरण किया जा रहा है। युवाओं की नौकरी का भी पता नहीं है। उन्होंने कहा कि कक्षा 10 व 12 की कक्षाओं में भारतीय संविधान के बारे में पढ़ाया जाए। वक्ताओं ने कहा कि देश में शिक्षा की दोहरी नीति को समाप्त किया जाए। डीजल-पेट्रोल के दाम में लगातार वृद्धि हो रही है। इससे महंगाई बढ़ रही है। चेतावनी दी गई कि जल्द ही मांगें नहीं मानी गईं तो बड़ा आंदोलन होगा। इस दौरान लालजी, जंगबहादुर, विनय भारती, संतोष, सत्यम, शैलेंद्र, गोलू, अंशिका, सचिन आदि मौजूद रहे। ... और पढ़ें

समस्याओं को लेकर ग्रामीण परेशान, कागजों पर दिखाया निस्तारित

अंबेडकरनगर। जिले में शिकायतों के निस्तारण के नाम पर मनमानी का माहौल है। हालत यह है कि समाधान दिवसों में शिकायतें निस्तारित दिखा दी जा रही है, लेकिन जमीनी हकीकत इससे इतर है। पीड़ित अपनी समस्याओं को लेकर भले ही तनाव में हैं, लेकिन कागजों में ऐसी समस्याओं का निपटारा दिखा दिया गया है। अमर उजाला ने जलालपुर व भीटी तहसील के सरकारी रजिस्टर में दर्ज कई शिकायतों के निस्तारण का सच जानने का प्रयास किया तो अधिकारियों व कर्मचारियों की मनमानी खुलकर सामने आ गई।
किसी की खतौनी कब्जेदारी का मामला निस्तारित नहीं हो पाया तो किसी के चकमार्ग पैमाइश का मामला लटका हुआ है। कहीं चकरोड पर घर बना लेने के मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है तो कहीं पुश्तैनी भूमि पर कब्जा कर लेने का मामला जस का तस है। ऐसे सभी मामलों को सरकारी रजिस्टर में निस्तारित दिखाया गया है। नतीजा यह कि पीड़ित लगातार अधिकारियों की चौखट नापने को विवश हैं।
राज्य सरकार जब अधिकारियों व कर्मचारियों की जवाबदेही तय करने में जुटी हुई है, तो भी सरकार की मंशा के अनुरूप जनसमस्याओं को निस्तारण करने तथा कार्यप्रणाली में बदलाव लाने की जरूरत नहीं महसूस की जा रही है। समस्याओं के निस्तारण को लेकर तहसीलों में क्या माहौल है यह जानने के लिए अमर उजाला ने मंगलवार को दो तहसीलों जलालपुर व भीटी का रुख किया। वहां कर्मचारियों से उन आवेदन पत्रों की जानकारी मांगी गई, जिनमें समस्याओं का निस्तारण हो चुका है। इस पर दोनों ही तहसीलों से अलग अलग नाम दिए गए। अमर उजाला टीम ने संबंधित नंबरों पर फोन करना शुरू किया, तो समस्याओं के निस्तारण के नाम पर चल रही मनमानी तार तार होती दिखी।
जलालपुर प्रतिनिधि के अनुसार मालीपुर निवासी रमापति उर्फ मोहन ने गांव के चकरोड पर एक व्यक्ति द्वारा घर बना लिए जाने की शिकायत की थी। यह शिकायत बाकायदा दर्ज है। शिकायत का निस्तारण दिखा दिया गया है, जबकि दूरभाष पर रमापति ने बताया कि तहसील दिवस में तीन बार प्रार्थनापत्र देने के बाद भी कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हो सकी है।
जैतपुर निवासी मुन्नीलाल की शिकायत थी कि उनकी पुश्तैनी भूमि पर अवैध कब्जा हो गया है। कागजों में यह मामला भी निस्तारित है, लेकिन टेलीफोन करने पर मुन्नीलाल ने बताया कि भूमि पर अभी भी कब्जा नहीं मिल पाया है। मंगुराडिला निवासी अहमद के नाम से भी समस्या का निस्तारण दर्ज है। दूरभाष पर अहमद बताते हैं कि आठ बार वे भूमि से कब्जा हटवाने के लिए प्रार्थनापत्र दे चुके हैं। उस पर कोई कार्रवाई न कर मनमाने ढंग से निस्तारण दिखा दिया गया है।
भीटी प्रतिनिधि के अनुसार फरीदपुर निवासी कमला प्रसाद ने चकमार्ग की पैमाइश किए जाने का जो प्रार्थनापत्र समाधान दिवस में दिया था, उसे निस्तारित दिखा दिया गया है। उन्हें फोन किया यगा, तो बताया कि समस्या अभी भी बरकरार है। पांच बार तहसील में प्रार्थनापत्र दिया जा चुका है। चपरा के चंद्रमणि तिवारी का रास्ता विपक्षियों द्वारा रोके जाने की शिकायत की गई थी। इसे भी निस्तारित दिखाया गया है, जबकि चंद्रमणि ने मंगलवार को बताया कि अभी तक समस्या नहीं निपटी है।
विशुनपुर के रामकुमार का मामला भी कागजों में निस्तारित है, जबकि वे चकमार्ग की पैमाइश के लिए अब तक नौ बार प्रार्थनापत्र दे चुके हैं। कहा कि कागजों में समस्या निस्तारण दिखा देने की कार्यशैली से ही आमलोगों को न्याय नहीं मिल पा रहा है। मुकुंदीपुर निवासी शेरसिंह खतौनी पर कब्जेदारी के लिए परेशान हैं। तहसील का चक्कर लगाते थक चुके हैं, लेकिन समस्या को निस्तारित बताकर प्रशासन अपनी जिम्मेदारी पूरी कर चुका है।
संपूर्ण समाधान दिवस के साथ ही कार्यालयों में आने वाली शिकायतों के प्रभावी ढंग से निस्तारण के निर्देश अधिकारियों को हैं। इसकी क्रॉस चेकिंग की भी व्यवस्था है। समय-समय पर जिला स्तर से भी मॉनीटरिंग होती रहती है। अब फिर से दिखवाया जाएगा कि मामलों के निस्तारण की क्या स्थिति है। समस्या नहीं निपटी है तो उसे कैसे निस्तारित दिखाया गया।
- अमरनाथ राय, एडीएम ... और पढ़ें

बालिका समेत पांच हुए डायरिया के शिकार, एक रेफर

अंबेडकरनगर। तापमान के उतार-चढ़ाव के बीच जिले में डायरिया का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे में एक बालिका समेत पांच लोग डायरिया के शिकार होकर जिला अस्पताल में भर्ती हुए। इनमें से एक की हालत गंभीर होने पर उसे अयोध्या रेफर कर दिया गया।
जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार, भीटी थाना क्षेत्र के भीटी निवासी रामजी (65) पुत्र मंगरू सोमवार देर शाम डायरिया का शिकार हो गया। उल्टी दस्त के बीच उसका स्थानीय स्तर पर इलाज कराया गया, लेकिन तबीयत में सुधार न होने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां प्रारंभिक इलाज के बाद उसे जिला अस्पताल अयोध्या रेफर कर दिया गया।
भीटी थाना क्षेत्र के पाठक का पूरा निवासी दिलीप (21) पुत्र जसलाल सोमवार देर शाम डायरिया की चपेट में आकर जिला अस्पताल में भर्ती हुए। महरुआ थाना अन्तर्गत मानिकपुर निवासी शिवशंकर की आठ वर्षीय पुत्री आकांक्षा को घरवालों ने मंगलवार सुबह उल्टी दस्त के बीच जिला अस्पताल में भर्ती कराया। अहिरौली थाना क्षेत्र के भवानीपुर गांव निवासी कालीदीन (42) पुत्र गोकुल सोमवार देर शाम डायरिया की चपेट में आ गया। स्थानीय इलाज के बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। अकबरपुर कोतवाली पहितीपुर निवासी दिनेश (32) पुत्र लालजी सोमवार देर रात्रि डायरिया की चपेट में आ गया। स्थानीय इलाज के बाद भी जब उसकी तबीयत में सुधार नहीं हुआ तो मंगलवार सुबह उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। ... और पढ़ें

डीएम ने किया गोवंश आश्रय स्थल का औचक निरीक्षण

अंबेडकरनगर। अमर उजाला की ओर से गोवंश आश्रय स्थलों की बदहाली को लेकर छेड़ी गई मुहिम के बीच डीएम राकेश कुमार मिश्र ने मंगलवार को रामनगर ब्लॉक के गोवंश आश्रय स्थल का औचक निरीक्षण किया। डीएम ने यहां पशुओं के लिए दो अतिरिक्त शेड व तीन पानी की टंकी बनवाने का निर्देश दिया।
गौरतलब है कि अमर उजाला ने इन दिनों जिले में स्थापित विभिन्न गोवंश आश्रयस्थलों की बदहाली तथा वहां चल रही मनमानी को लेकर विशेष मुहिम शुरू कर रखी है। अलग अलग समय पर किए गए मौका मुआयना में कई तरह की कमियां सामने आई थीं, जिसे प्रमुखता से प्रकाशित भी किया गया। इस बीच जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने मंगलवार को रामनगर ब्लॉक के गोवंश आश्रयस्थल का औचक निरीक्षण किया। वहां पाया कि पशुओं के लिए टिन शेड की संख्या बढ़ाए जाने की आवश्यकता है।
उन्होंने दो अतिरिक्त टिन शेड तथा तीन पानी की टंकी बनवाए जाने का निर्देश दिया। सफाई कर्मियों को साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिए जाने का निर्देश दिया। जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देशित किया कि पशुओं के चारे में किसी भी प्रकार की कमीं नहीं होनी चाहिए। पशुओं के स्वास्थ्य की नियमित जांच होनी चाहिए। पशुओं की देखभाल में यदि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी सामने आई, तो संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। डीएम को मौके पर 207 पशु मिले। 152 क्विंटल भूसा व 26 बोरा पशु आहार था। डीएम ने हरे चारे के लिए अलग से चरी बुआई का निर्देश दिया। प्रभारी सूचना अधिकारी महेशचंद्र के अनुसार डीएम को मौके पर सभी व्यवस्थाएं अच्छी मिलीं। ... और पढ़ें

विद्युत पोल की चपेट में आकर गई बच्ची की जान

अंबेडकरनगर। बिजली के खम्भे के नीचे दब कर फूलपुर गांव में तीन वर्षीय बालिका की मंगलवार को मौत हो गयी। पुलिस ने सूचना पर पहुंच कर पंचनामा भर कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। मामला टांडा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम फूलपुर का है।
बताया जाता है कि तीन साल की अनामिका पुत्री अरविंद निवासी ग्राम हिसामुद्दीनपुर थाना जहांगीरगंज अपनी मां के साथ मौसी रंभा देवी के घर फूलपुर आयी थी। मंगलवार दिन में गांव में कुछ लोग पेड़ काट रहे थे। वह भी खेलते हुए वहां पहुंच गयी। बताया जाता है कि पेड़ की एक डाल कटकर बगल लगे बिजली के खंभे पर गिरी थी। इससे पोल क्षतिग्रस्त होकर नीचे गिरा।
वहां खेल रही अनामिका पोल की चपेट में आ गई, और बुरी तरह घायल हो गई। उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। घटना से परिवारीजनों में रोना पिटना मच गया। जानकारी मिलते ही टांडा कोतवाली पुलिस गांव पहुंची, और शव को कब्जे में ले लिया। बाद में पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। कोतवाल बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि मामले में तहरीर मिली है। छानबीन के बाद केस दर्ज किया जाएगा। ... और पढ़ें

नपा प्रशासन बेफिक्र, कीचड़ व जल निकासी से जूझ रहा नगर

अंबेडकरनगर। अकबरपुर नगर को स्वच्छ रखने को लेकर नगर पालिका प्रशासन पूरी तरह उदासीन है। शहर में हर समय जगह-जगह गंदगी देखने को मिल जाएगी। बारिश के मौसम में तो और बुरा हाल हो गया है। नगर में कई स्थान ऐसे हैं, जहां समस्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। शिकायतें कर्मचारियों से लेकर नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी तक से दर्ज कराई जाती है, लेकिन होता कुछ नहीं है।
शहर के अयोध्या मुख्यमार्ग पर शीतला आश्रम के पास से सड़क की दोनों पटरियों पर जगह-जगह गंदे पानी व कीचड़ का जमाव है। शिवानी नर्सिंग होम से बनगांव मुख्य मार्ग तक स्थिति बद से बदतर है। तेज बारिश कई दिनों से नहीं हुई है, लेकिन यहां कीचड़ व जलभराव की स्थिति है। दुकानदारों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। संक्रामक रोगों का खतरा भी बढ़ गया है। दुकानदार अजय सिंह, आशू वर्मा व सुरेश यादव आदि का कहना है कि इसे लेकर कई बार शिकायत दर्ज कराई गई, लेकिन नगर पालिका प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है। कीचड़ व दुर्गंध से मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ गया है।
खटिकाना, पेवाड़ा, अहिराना, कसाई टोला सहित अन्य मोहल्लों में जल निकासी के लिए बनी नालियां गंदगी से भरी पड़ी हैं। हल्की बारिश में भी कीचड़ सड़क पर आ जाता है। शहजादपुर सब्जी मंडी में भी गंदगी और जलनिकासी की समस्या के चलते हल्की सी बारिश होने पर ही कीचड़ हो जाता है। तेज दुर्गंध भी यहां बड़ी समस्या है। आलोक त्रिपाठी, संदीप यादव, प्रदीप वर्मा व मनीष पटेल आदि ने नगर पालिका प्रशासन से सफाई व्यवस्था दुरुस्त कराने की मांग की है।
समुचित सफाई व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। कहीं गंदगी की समस्या मिली तो कर्मचारियों पर कार्रवाई भी होगी। बीते दिनों हुई बैठक में भी सफाई व्यवस्था की समीक्षा की गई थी। कर्मचारियों को फिर से निर्देश दिए जाएंगे। - सरिता गुप्ता, अध्यक्ष, नगर पालिका, अकबरपुर ... और पढ़ें

मॉरीशस में रामलीला के विभिन्न पात्रों का किरदार निभाएगी %प्रकृति%

अंबेडकरनगर। लोक गायिकी के क्षेत्र में बुलंदी छू रही जिले की बेटी डॉ. प्रतिमा यादव की छोटी बहन प्रकृति यादव ने भी जिले का मान बढ़ाया है। बहन से प्रेरित होकर लोकगायिकी को अपना कैरियर चुनने वाली प्रकृति यादव को लम्बे व कठिन प्रशिक्षण के बाद मॉरीशस में भगवान श्रीराम के जीवन पर आयोजित रामलीला में विभिन्न किरदार निभाने का अवसर मिला है। मंगलवार को प्रकृति दिल्ली से मॉरीशस के लिए रवाना होगी। उनकी इस सफलता पर परिजनों व शुभचिंतकों ने खुशी का इजहार किया है। वहीं डॉ. प्रतिमा यादव भगवान श्रीकृष्ण के जन्माष्टमी मौके पर मथुरा में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगी।
भगवान श्रीराम के आदर्शों से पूरी दुनिया प्रेरणा लेती है। हम भगवान राम के जीवन से प्रेरणा लेकर अपने कष्टों का निर्वारण आसानी से कर सकते हैं। भगवान राम के प्रत्येक स्वरूप से कुछ न कुछ सीखने को जरूर मिलता है। भगवान राम के जीवन के बारे में जो भी अध्ययन करता है, वह उन्हीं का होकर रह जाता है। भगवान राम की लीलाओं का वर्णन सिर्फ भारत देश में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी है। आगामी दिनों में मॉरीशस के विभिन्न शहरों में रामलीला का मंचन होगा।
इसके लिए अयोध्या शोध संस्थान पहले से ही तैयारी कर रहा था। बेहतर कलाकारों को मॉरीशस भेजने के लिए संस्थान करीब डेढ़ माह से विशेष प्रशिक्षण कैंप चला रहा था। इसमें अंबेडकरनगर जिले की बेटी प्रकृति यादव को भी शामिल होने का मौका मिला था। प्रशिक्षण कैंप पूर्ण होने पर प्रकृति को अब मॉरीशस में अपनी कला का प्रदर्शन करने का भी सौभाग्य मिला है। प्रकृति की इस सफलता पर परिजनों व शुभचिंतकों ने खुशी का इजहार किया है।
लोकगायिका व बड़ी बहन डॉ. प्रतिमा यादव ने बताया कि मंगलवार 20 अगस्त को प्रकृति 15 सदस्यीय दल के साथ दिल्ली से मॉरीशस के लिए रवाना होगी। प्रकृति इसके पहले अयोध्या शोध संस्थान, संस्कृति सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के तहत भी काम कर चुकी हैं। बताया कि प्रकृति जहां मॉरीशस में रामलीला के विभिन्न पात्रों का किरदार निभाएगी, वहीं वह भी मथुरा में आयोजित तीन दिवसीय कृष्ण जन्मोत्सव कार्यक्रम में शामिल होंगी। उन्होंने अन्य युवाओं से भी कला के क्षेत्र में आगे बढ़ने का आह्वान किया। कहा कि कला का क्षेत्र काफी वृहद है, और इसमें बेहतर कैरियर की संभावनाएं भी बहुत है। ऐसे में युवाओं को अच्छी शिक्षा के साथ साथ अपनी लोक कलाओं पर भी ध्यान देना चाहिए। ... और पढ़ें

वेतन विसंगति दूर करने को विद्युत अभियंताओं ने दिया धरना

वेअंबेडकरनगर। प्रांतीय आह्वान पर सोमवार को राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के बैनरतले सदस्यों ने अकबरपुर विद्युत उपकेंद्र परिसर में धरना दिया। इसमें वेतन विसंगति दूर करने, पुरानी पेंशन बहाल किए जाने, सामूहिक बीमा योजना का लाभ दिलाए जाने समेत विभिन्न मागों को लेकर आवाज बुलंद की गई। चेतावनी दी गई कि यदि शीघ्र ही उनकी मांगों का निस्तारण नहीं हुआ, तो बड़ा आंदोलन छेड़ा जाएगा।
अध्यक्षता कर रहे मंडल अध्यक्ष वीके वर्मा ने कहा कि जूनियर इंजीनियर्स अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह पूरी ईमानदारी के साथ कर रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी उनकी उपेक्षा की जा रही है। कहा कि वेतन विसंगति दूर करने व पुरानी पेंशन बहाली की मांग लंबे समय से की जा रही है, लेकिन इसे लेकर गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। जब भी इसे लेकर धरना प्रदर्शन किया जाता है, तो सिर्फ आश्वासन ही दिया जाता है। इससे आगे प्रक्रिया नहीं बढ़ रही है। इससे जूनियर इंजीनियर्स का हक मारा जा रहा है।
ग्रेड पे बढ़ाए जाने की मांग को भी नजरअंदाज किया जा रहा है। इससे लगातार बढ़ती महंगाई से उनके समक्ष विभिन्न प्रकार की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।
वक्ताओं ने मांग करते हुए कहा कि एसीपी व्यवस्था के तहत अभियंता संवर्ग में व्याप्त भेदभाव को दूर कराया जाए। कार्मिकों के सीपीएफ खाते का विकेंद्रीकरण किया जाए। साथ ही एनटीपीसी की तरह ही सामूहिक बीमा योजना का लाभ दिलाया जाए। इलाज के लिए कैशलेस चिकित्सा व्यवस्था लागू किया जाए। कहा गया कि अब और उपेक्षा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
यदि शीघ्र ही उनकी मागों का निस्तारण नहीं हुआ, तो बड़ा आंदोलन छेड़ा जाएगा। इस दौरान जिला संचिव एसपी यादव, आईबी मौर्या, गणेश प्रजापति, संतोष कुमार शर्मा, प्रवेश निषाद, आरके पाल, अनिल यादव, मुन्ना यादव आदि मौजूद रहे। ... और पढ़ें

ट्यूबवेल के स्विच में उतरे करंट से झुलसा युवक, रेफर

टअंबेडकरनगर। अलग-अलग थाना क्षेत्रों में एक युवक व एक युवती करंट से झुलस गए। दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां युवक की हालत गंभीर होने पर प्रारंभिक इलाज के बाद ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया।
परिवारीजनों के अनुसार पड़ोसी जिला सुल्तानपुर के अखंडनगर थाना अंतर्गत अखंडनगर निवासी अनिल कुमार (41) सोमवार सुबह खेत में सिंचाई के लिए ट्यूबवेल स्टार्ट करने के लिए गया। जैसे ही उसने उसने ऑन करने के लिए स्विच को दबाना चाहा, वैसे ही वह उसमें उतरे करंट की चपेट में आ गया। चीख पुकार पर खेत में काम कर रहे ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर उसे बोर्ड से अलग किया, लेकिन तब तक वह गंभीर रूप से झुलसकर बेहोश हो चुका था। स्थानीय इलाज के बाद उसे जिला अस्पताल अंबेडकरनगर में भर्ती कराया गया।
यहां चिकित्सकों ने इलाज शुरू किया, लेकिन हालत में सुधार नहीं हुआ तो उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर करना पड़ा। उधर जैतपुर थाना अंतर्गत जैतपुर निवासी एक युवती करंट से झुलस गई। परिवारीजनों के अनुसार गांव निवासी रेनू (21) सोमवार सुबह घर की सफाई कर रही थी। इसी बीच वह वहां रखा पंखा हटाने लगी। उस समय उसमें करंट उतरा हुआ था, जिससे वह उसकी चपेट में आ गई। जब तक उसे पंखे से हटाया जाता, तब तक वह गंभीर रूप से झुलस गई। स्थानीय इलाज के बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। ... और पढ़ें

पुलिस टीम ने तीन बाइक के साथ दबोचे तीन चोर

पुलिस नअंबेडकरनगर। जिले में रविवार देरशाम चले वाहन चेकिंग अभियान में सम्मनपुर पुलिस को बड़ी सफलता मिली। पुलिस टीम ने तीन चोरों को एक साथ अलग अलग तीन बाइक के साथ गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में तीनों ने बाइक चोरी करने की बात स्वीकार की। सोमवार को तीनों को जेल भेज दिया गया।
सीओ सदर धर्मेंद्र सचान ने बताया कि एसपी वीरेन्द्र कुमार मिश्र के निर्देश पर रविवार शाम को पुलिस टीम द्वारा वाहन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था। एसओ सम्मनपुर वकील सिंह यादव ने बताया कि वह टीम के साथ कुर्कीबाजार में वाहन चेकिंग अभियान चला रहे थे। इसी बीच तीन अलग-अलग बाइक से तीन युवक मौके पर पहुंचे। युवकों से वाहन से जुड़े कागजात आदि मांगे गए तो उन लोगों ने दिखाने में असमर्थता जतायी।
पुलिस द्वारा युवकों का नाम पता पूछा गया तो उसे भी बताने में वह आनाकानी करने लगे। इस पर पुलिस टीम को संदेह हो गया। टीम ने पूछताछ आगे बढ़ायी तो तीनों ने चोरी की बाइक होने की बात स्वीकार की। आरोपियों की पहचान विपुल शर्मा निवासी पटना मुबारकपुर थाना बसखारी, श्यामू निवासी कुर्की बरसावां थाना सम्मनपुर, व आकाश कुमार निवासी अरियौना कोतवाली अकबरपुर के रूप में हुई। बाद में तीनों को जेल भेज दिया। ... और पढ़ें

भट्ठे के दो कर्मचारियों ने ही पार की थी मालिक की रिवाल्वर

अंबेडकरनगर। बीते शनिवार को भीटी थाना क्षेत्र के एक भट्ठा संचालक की रिवाल्वर व नकदी चोरी के मामले में सोमवार को पुलिस ने दो गिरफ्तार अभियुक्तों को जेल भेज दिया। एसपी वीरेन्द्र कुमार मिश्र ने पुलिस कार्यालय में इसकी जानकारी दी। आरोपियों के पास से चोरी की गई रिवाल्वर, 10 कारतूस व 8900 रुपए नकद बरामद कर लिया है। पकड़े गए अभियुक्त भट्ठे पर बतौर कर्मचारी कार्यरत थे।
भीटी थाना क्षेत्र के पकड़ी नगऊपुर में सया निवासी हृदयराम वर्मा का भट्ठा है। वह प्रतिदिन की तरह शनिवार को भट्ठे पर मौजूद थे। वहां बने अपने कार्यालय में उन्होंने रिवाल्वर, 10 कारतूस व 26 हजार रुपए नकद रख दिया। इसके बाद वह कुछ काम करने के लिए चले गए। कुछ देर बाद वापस लौटे तो देखा कि रिवाल्वर, कारतूस व पैसा गायब है। उन्होंने तत्काल इसकी सूचना भीटी पुलिस को दी। सूचना मिलने पर एसओ मनीष सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर छानबीन की।
मामला एसपी वीरेन्द्र कुमार मिश्र तक पहुंचा तो उन्होंने पुलिस टीम को सक्रियता के साथ काम करने का निर्देश दिया। पुलिस टीम ने वहां कार्यरत कर्मचारियों से पूछताछ शुरू की दो कर्मचारी संदेह के घेरे में आ गए। पूछताछ में दोनों ने कुबूल किया कि उन लोगों ने मिलकर रिवाल्वर, कारतूस व पैसे की चोरी की। एसपी ने बताया कि आरोपी वीरेंद्र कुमार वर्मा व सुरेश तिवारी निवासी पकड़ी नगऊपुर को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है। दोनों की निशानदेही पर चोरी गया रिवाल्वर, 10 कारतूस व 8900 रुपए बरामद किया गया है। इस मौके पर सीओ सदर धर्मेन्द्र सचान व सीओ भीटी बीके श्रीवास्तव मौजूद रहे। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree