विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण
Kundali

घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, जानें बनते काम बिगड़ने का कारण

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

संगीता हत्याकांड: लापरवाही बरतने पर दरोगा निलंबित, 60 हजार रिश्वत लेने का भी लगा था आरोप

आगरा के थाना ताजगंज के नगला कली स्थित पुष्पांजलि ईको सिटी में पूर्व फौजी अनिल कुमार राजावत की पत्नी संगीता को जिंदा जलाने की घटना के बाद चौकी प्रभारी योगेश कुमार पर लापरवाही के आरोप लग रहे थे। सोमवार को भूतपूर्व सैनिकों ने कलक्ट्रेट में बैठक की थी। 

मंगलवार को एसएसपी बबलू कुमार ने आरोपी दरोगा योगेश कुमार को निलंबित कर दिया। उसके खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू करा दी गई है। दरोगा को पहले लाइन हाजिर किया जा चुका था। दरोगा पर पूर्व फौजी से 60 हजार रुपये रिश्वत मांगने का आरोप भी लगा था।


11 अक्तूबर को अनिल कुमार राजावत की पत्नी संगीता जिंदा जल गई थीं। इस मामले में पड़ोसी भरत खरे सहित चार लोगों पर जिंदा जलाने का आरोप लगाया गया था। हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस ने चारों आरोपियों को जेल भेजा था। 12 आरोपी अज्ञात थे। उनकी पहचान अब तक नहीं हो सकी है। 
... और पढ़ें

एमबीबीएस परीक्षा में नकल करते पकड़े 'मुन्नाभाई', ताबीज में डिवाइस और कान में लगा था ब्लूटूथ

आगरा के एत्मादपुर स्थित एफएच मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस अंतिम वर्ष के 10 परीक्षार्थी ताबीज में फिट किए गए मोबाइल जैसे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट और कान में लगी ब्लू टूथ डिवाइस के जरिए नकल करते हुए रंगेहाथ पकड़े गए। परीक्षा केंद्र के बाहर बैठे शातिर इन्हें सवालों के जवाब बता रहे थे। शक होने पर इनकी तलाशी ली गई तो भंडाफोड़ हो गया। इनके खिलाफ न्यू आगरा थाना में तहरीर दी गई है।

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय की एमबीबीएस परीक्षा अंतिम वर्ष की परीक्षा में एफएच मेडिकल कॉलेज के 90 छात्रों का परीक्षा केंद्र विवि. के ही खंदारी कैंपस में है। मंगलवार को सुबह 8 से 11 की पाली में ऑफ्थलमॉलॉजी (नेत्र विज्ञान) की परीक्षा थी। दो कक्षों में चल रही परीक्षा के दौरान सुबह नौ से साढ़े नौ बजे के बीच कक्ष निरीक्षक ने देखा कि कई छात्र धीरे-धीरे कुछ बोल रहे हैं।


ताबीज को हाथ लगाने से हुआ शक 

ये छात्र बार-बार ताबीज और कान को हाथ भी लगा रहे थे। इसलिए शक हुआ। एक के कान में ब्लू टूथ डिवाइस नजर आने पर सभी की तलाशी ली गई। 10 छात्रों ने बड़े आकार के ताबीज गले में डाल रखे थे। इन्हें खोलकर देखा गया तो इनमें मोबाइल की तरह काम करने वाला इलेक्ट्रॉनिक सर्किट लगा था जिसमें सिमकार्ड भी थी।
... और पढ़ें

Agra News Today 21 Oct: आगरा की आज की खास खबरें

पीएफआई/सीएफआई सदस्यों की जांच एसटीएफ को सौंपी, अभी तक क्राइम ब्रांच देख रही थी केस

विदेशी फंडिंग से दंगा फैलाने की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) व सीएफआई (कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया) के सदस्यों की गिरफ्तारी मामले की जांच अब क्राइम ब्रांच नहीं, एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) करेगी। गृह मंत्रालय के आदेश पर यह जांच बुधवार को स्थानांतरित कर दी गई है।

दिल्ली से हाथरस जाते समय पांच अक्तूबर को मांट टोल प्लाजा पर पुलिस ने पीएफआई/सीएफआई के चार सदस्यों अतीकुर्रहमान, सिद्दीक, आलम और मसूद को पकड़ा था। इन सभी को एसडीएम मांट ने जेल भेजा। बाद में इनके खिलाफ राजद्रोह समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। इस केस की जांच क्राइम ब्रांच के सीओ कर रहे थे। मंगलवार देर शाम गृह मंत्रालय की ओर से जारी आदेश मथुरा पुलिस तक पहुंचा, जिसमें जांच एसटीएफ को सौंपने की बात कही है। बुधवार को यह जांच एसटीएफ को स्थानांतरित भी कर दी गई। सीओ क्राइम ब्रांच डीएस चौहान ने बताया यह जांच एसटीएफ को स्थानांतरित कर दी गई है।

जिला जज के न्यायालय में लगाई जमानत अर्जी
सीजीएम कोर्ट के एपीओ बृजमोहन ने बताया के सीजेएम न्यायालय से अतीकुर्रहमान, आलम और मसूद की जमानत 11 अक्तूबर को खारिज हो गई थी, जबकि पोर्टल पत्रकार सिद्दीक की जमानत अर्जी नहीं लगाई थी। तीनों के अधिवक्ता ने जिला जज के न्यायालय में जमानत अर्जी लगाई है।

मिली सिद्दीक से मिलने की अनुमति
सिद्दीक ने अपनी गिरफ्तारी के मामले में जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ताओं को लगाया है। अधिवक्ता सिद्दीक से मिलना चाहते हैं। सात दिन पूर्व अधिवक्ता जेल तो उन्हें मिलने नहीं दिया गया। जेल में मुलाकात के लिए उन्होंने सीजीएम कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया, लेकिन सीजेएम ने इस पर सुनवाई नहीं की। एपीओ बृजमोहन के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता को न्यायालय ने अभियुक्त सिद्दीक से मिलने की अनुमति नहीं दी है।
... और पढ़ें
मथुरा पुलिस द्वारा पकड़े गए पीएफआई सदस्य मथुरा पुलिस द्वारा पकड़े गए पीएफआई सदस्य

Corona In Agra: हृदय रोगी की मौत, 6859 पहुंचा कुल संक्रमितों का आंकड़ा

आगरा में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार मिल रहे हैं। बुधवार को सिकंदरा निवासी 78 वर्षीय हृदय रोगी की मौत हो गई। संक्रमित मृतक संख्या अब 139 हो गई है। वहीं बुधवार को 39 नए मरीज और मिले हैं। कुल मरीजों का आंकड़ा 6859 पहुंच गया है।

जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने बताया मृतक रोगी पुरानी हृदय की बीमारी से पीड़ित था। कोरोना संक्रमण फेफड़ों में पहुंचने से सांस लेने में तकलीफ बढ़ गई। उपचार के दौरान बुधवार को मृत्यु हो गई। 139 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। कुल 6859 लोग अब तक संक्रमित हुए हैं। इनमें 6260 मरीज ठीक हो चुके हैं। जिले में 2.43 लाख लोगों के सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं।

ये भी पढ़ें- 
'रोटी वाली अम्मा' को मिला पीएम स्वनिधि योजना से लोन, बोलीं- जब तक हाथ पैर चलेंगे करुंगी सेवा

ये भी पढ़ें- आगराः जन औषधि केंद्रों पर खत्म हुईं सस्ती दवाएं, मजबूरी में महंगी दवाएं खरीद रहे मरीज 

42086 लोगों की सेहत का हाल जानकर दी मल्टी विटामिन दवाएं 

स्वास्थ्य विभाग की 134 टीमों ने शहीद नगर, ताजगंज, सदर भट्टी, दहतौरा, जयपुर हाउस, ताजगंज, शाहगंज, शास्त्रीपुरम, बोदला, आवास विकास कॉलोनी, सिकंदरा, खंदारी, दयालबाग, कमला नगर, बल्केश्वर, लोहामंडी, बरौली अहीर, शमसाबाद और ट्रांसयमुना कॉलोनी के 9057 घरों का सर्वे किया। यहां पर बीमार, गर्भवती महिलाओं की सूची बनाई। लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कर शरीर का तापमान मापा। पल्स ऑक्सीमेट्री के जरिये रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा भी परखी। स्वास्थ्य सर्वे प्रभारी डॉ. संजीव वर्मन ने बताया कि बीमार लोगों को दवाएं बंद न करने और घर से बाहर जाने पर मास्क जरूर लगाने की हिदायत दी। ... और पढ़ें

एमबीबीएस परीक्षा में हाईटेक नकलः उड़नदस्ते से बचने को त्वचा की रंग की मंगवाई थी ब्लू टूथ डिवाइस

दिसंबर से शुरू होगा आगरा मेट्रो का काम, 273 करोड़ की लागत से बनेंगे तीन प्रमुख स्टेशन

एमबीबीएस के छात्रों के पास से मिली डिवाइस
आगरा में मेट्रो रेल के बसई, ताजमहल के पूर्वी गेट और फतेहाबाद रोड स्टेशन का निर्माण 273 करोड़ की लागत से होगा। यहां दिसंबर से काम शुरू हो जाएगा। सिकंदरा से ताजमहल तक 14.25 किमी लंबी पहली लेन में चार किमी एलिवेटिड ट्रैक का निर्माण किया जाएगा। ठेका लेने वाली कंपनी सेम इंडिया बिल्डवेल को 26 महीने में काम पूरा करना है।

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने अगस्त में निविदाएं आमंत्रित की थीं। 290 करोड़ रुपये की अनुमानित कीमत रखी थी। तीन कंपनियों ने तकनीकी निविदा पास की। सोमवार को वित्तीय निविदा खुलने पर सेम बिल्डवेल ने 272.90 करोड़ में अधिकार हासिल कर लिए हैं।


कंपनी डक्ट नुमा एलिवेटिड ट्रैक व तीन स्टेशन बनाएगी। साथ में सभी तरह के सिविल कार्य, आर्किटेक्चर फिनिशिंग, पेयजल आपूर्ति, अग्नि सुरक्षा और बचाव के उपकरण लगाएगी। स्टेशन व ट्रैक पर सभी तरह के मैकेनिकल व इलेक्ट्रिकल कार्य भी कंपनी को ही करने होंगे।
... और पढ़ें

Police Commemoration Day: शहीदों को किया नमन, बिकरूकांड के शहीद बबूल को दी श्रद्धांजलि

लाइसेंसी राइफल से खुद को गोली मारी, पिता की मौत से सदमे में था मृतक, परिवार में मचा कोहराम

आगरा जनपद के थाना मंसुखपुरा क्षेत्र के अंतर्गत गांव टीकतपुरा में संदिग्ध परिस्थितियों में एक व्यक्ति ने घर में रखी लाइसेंसी राइफल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। मृतक के परिवार में कोहराम मचा हुआ है। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने राइफल को कब्जे में लेकर मृतक के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

जानकारी के अनुसार थाना मंसुखपुरा क्षेत्र के अंतर्गत गांव टीकतपुरा थाना मंसुखपुरा निवासी रामहरि शर्मा पुत्र रामसनेही शर्मा बुधवार सुबह घर में रखी लाइसेंसी राइफल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। गोली की आवाज सुनकर पहुंचे परिजनों ने व्यक्ति को मृत अवस्था पड़ा देखा तो परिजनों के होश उड़ गए।  

ये भी पढ़ें-
आगराः बड़े भाई ने की छोटे की हत्या, पुलिस से बोला- मैंने भाई को मार डाला... 

आत्महत्या की सूचना पर दर्जनों की संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने घटना का संज्ञान लिया। राइफल को कब्जे में लेकर परिजनों से जानकारी ली, परिजनों के मुताबिक मृतक राम हरि शर्मा पिछले नौ माह पूर्व उनके पिता की हार्टअटैक से मौत हो गई थी। तब से वह मानसिक तनाव में रहते थे, और मानसिक रूप से बीमार चल रहे थे। परिजनों द्वारा उनका इलाज चिकित्सकों द्वारा कराया जा रहा था।
  ... और पढ़ें

बेटे का मुंडन कराकर लौट रहे परिवार को डंपर ने रौंदा, पिता-पुत्र की मौत, दादी सहित दो घायल

उत्तर प्रदेश के एटा जनपद में मंगलवार रात को दर्दनाक हादसा घटित हो गया। एटा कोतवाली देहात अलीगंज रोड स्थित गांव पवांस के पास मंगलवार की रात डंपर ने ऑटो को रौंद दिया। इस हादसे में पिता और उसके मासूम पुत्र की मौत हो गई। जबकि दादी सहित दो महिलाएं घायल हुईं हैं। दादी को गंभीर हालत में आगरा रेफर किया गया है। 

थाना बागवाला क्षेत्र के गांव बरथरी निवासी भानु प्रताप उर्फ छोटू (30) पुत्र सुरेश चंद्र इनका तीन वर्षीय पुत्र कृष्णा उर्फ किन्ना, मां कमला देवी और गांव की ही रामादेवी पत्नी विनोद कुमार घायल हो गईं। हादसे की खबर मिलने के बाद पहुंची पुलिस की ओर से सभी घायलों को जिला अस्पताल लाया गया।

यहां चिकित्सकों ने मासूम (तीन) कृष्णा को मृत घोषित कर दिया। गंभीर रूप से घायल छोटू सहित दोनों महिलाओं का उपचार शुरू कर दिया। इलाज के दौरान करीब एक घंटे बाद छोटू की भी मौत हो गई। घायल कमला देवी की हालत चिंताजनक होने के चलते आगरा रेफर कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें- 
एमबीबीएस परीक्षा में हाईटेक नकलः उड़नदस्ते से बचने को त्वचा की रंग की मंगवाई थी ब्लू टूथ डिवाइस

परिजनों ने बताया है कि छोटू अपनी मासूम पुत्र कृष्णा का मुंडन बेलोन देवी के दरबार में कराने के बाद घर लौट रहे थे तभी हादसा हो गया। इस हादसे में पिता-पुत्र की मौत हो गई है। बताया है कि ऑटो को गांव से ही भाड़े पर करके ले गए थे इसमें गांव के और लोग भी सवार थे, उनके हल्की चोटें आई हैं। पुलिस ने पिता-पुत्र के शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिए हैं। ... और पढ़ें

आगराः संगीता हत्याकांड में उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा से मिला पीड़ित परिवार

ताजगंज के नगला कली स्थित पुष्पांजलि ईको सिटी में सेवानिवृत्त फौजी अनिल कुमार राजावत की पत्नी संगीता को जिंदा जलाने के मामले में बुधवार को पीड़ित परिवार ने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा से सर्किट हाउस में मुलाकात की। संगीता के पति अनिल ने पूर्व सैनिकों के दल के साथ सूबे के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा से मुलाकात कर पूरा प्रकरण उनके समक्ष रखा। पूर्व सैनिक अनिल ने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और उत्तर प्रदेश सरकार से न्याय की गुहार लगाई। उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने संगीता के परिवार को हर संभव न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया है।

गौरतलब है कि सोमवार को भूतपूर्व सैनिकों ने बैठक के बाद पुलिस-प्रशासन को अल्टीमेटम दिया था। एलान किया था कि पांच दिन में ताजगंज चौकी प्रभारी रहे दरोगा को बर्खास्त कर जेल भेजें नहीं तो परिवारों के साथ शहीद स्थल पर धरना-प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद दरोगा पर कार्रवाई की गई।

ये था मामला
पूर्व फौजी अनिल कुमार रजावत और पड़ोसी भरत खरे के बच्चों के बीच छह अक्तूबर को विवाद के बाद एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके बाद कॉलोनी में रविवार को पंचायत हुई थी। पंचायत के बाद अनिल की पत्नी संगीता जल गई थीं। सोमवार को उनकी मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर भरत खरे, उसकी पत्नी सुनीता सहित चार नामजद आरोपियों को जेल भेजा गया था। मुकदमे में 12 आरोपी अज्ञात भी हैं। 

संबंधित खबरें- 
संगीता हत्याकांड: लापरवाही बरतने पर दरोगा निलंबित, 60 हजार रिश्वत लेने का भी लगा था आरोप
 
 संगीता हत्याकांड: पूर्व सैनिकों की चेतावनी, पांच दिन में दरोगा को जेल भेजें, नहीं तो...




  ... और पढ़ें
Test
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X