विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हिमाचल के 1.75 लाख कर्मचारियों को इस माह से बढ़कर मिलेगी पगार

हिमाचल सरकार ने पौने दो लाख से ज्यादा कर्मचारियों को चार फीसदी महंगाई भत्ते की अधिसूचना जारी कर दी है।

21 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

सोलन

बुधवार, 21 अगस्त 2019

कालका-शिमला रेलमार्ग पर ट्रेनों की आवाजाही बहाल

सोलन। धर्मपुर-कुमारहट्टी के बीच भूस्खलन से बाधित रेलमार्ग को सोमवार को बहाल कर दिया गया। अब इस ट्रैक पर सभी ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो चुकी है। हालांकि, रेल मार्ग को मलबा गिरने के सात घंटे बाद सुचारु कर दिया गया था लेकिन तेज बारिश से सभी ट्रेनों के रूट स्थगित कर दिए गए थे।
कुमारहट्टी-धर्मपुर के बीच में रेल मार्ग पर भारी मलबा आ गया था। मलबा गिरने से कालका से शिमला जाने वाली 52457 को धर्मपुर में ही रोकना पड़ा। इसमें सवार यात्रियों को सड़क मार्ग से टैक्सी या बस से शिमला जाना पड़ा। इस हादसे के बाद 52451 शिवालिक, 52453 मेल अप मिक्स, 52452, 52454, 52455 हिमालयन क्वीन अप, 52456, 52458 सहित डाउन मिक्स ट्रेनों के रूट स्थगित कर दिए गए।
ट्रैक पर मलबा गिरते ही ट्रेन को धर्मपुर में ही रोकना पड़ा। सूचना मिलते ही रेलवे बोर्ड के अधिकारी पहुचे जिनकी देखरेख में मलबे को जेसीबी और कर्मचारियों की सहायता से हटाने का कार्य सात घंटे तक चलता रहा। लेकिन तेज बारिश के कारण ट्रेनों की आवाजाही को बंद रखा गया।
सोमवार से ट्रेनों की आवाजाही हुई शुरू
रेलवे स्टेशन सोलन के अधीक्षक सुरेंद्र परमार ने बताया कि रेलमार्ग पर धर्मपुर-कुमारहट्टी के पास गिरे मलबे को छह घंटे की मशक्कत के बाद हटा लिया गया था। लेकिन भारी बारिश के चलते सभी ट्रेनों के रूट स्थगित कर दिए गए थे। उन्होंने बताया कि सोमवार तड़के ट्रैक पर ट्रेनों की आवाजाही शुरू कर दी गई। ... और पढ़ें

हिमाचल: भूस्खलन होने से एक किमी तक बनी झील, गांव छोड़ भागे लोग, लाहौल-रोहतांग में बर्फबारी, सैलानी फंसे

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के नूरपुर की धन्नी पंचायत में भारी भूस्खलन हुआ है। जब्बर खड्ड का पानी रुक जाने से एक किलोमीटर तक के क्षेत्र में झील बन गई है। घरों को खतरा देख लोग पलायन करने लगे हैं। खेतों के रास्ते पानी का बहाव मोड़ने का प्रयास जारी है।
... और पढ़ें

बीबीएन में बंद पड़ी 30 सड़कों में से 16 बहाल

नालागढ़ (सोलन)। बीबीएन में कहर बनकर बरसी बारिश के जख्म अभी भी ताजा हैं जिन्हें भरने में समय लग जाएगा। मूसलाधार बारिश से बीबीएन में पांच लोगों को जान गंवानी पड़ी। इसके लिए सरकारी महकमे और लोग जी-जान से मशक्कत में जुटे हैं। लोनिवि नालागढ़ मंडल के तहत पूरी तरह से बंद 30 सड़कों में से सोमवार देर शाम तक 16 मार्गों को यातायात के लिए बहाल कर दिया गया जबकि 14 मार्ग अवरुद्ध पड़े हैं।
लोनिवि को इस बारिश ने जमकर नुकसान पहुंचाया है जिससे करीब चार करोड़ का हाल ही मूसलाधार बारिश से नुकसान हुआ है। इस बार की बरसात में कुल 7 करोड़, 91 लाख, 42 हजार की विभाग को चपत लग चुकी है। उधर, एचआरटीसी नालागढ़ डिपो के तहत 30 बसें फंस गई थी जिनमें से तीन बसें ही निकल पाई हैं और 27 बसें अभी तक मार्ग बंद होने के कारण फंसी पड़ी हैं।
इससे लोगों को आवागमन में असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। विभाग के अधीन आने वाले शिमला कुनिहार रामशहर नालागढ़, नालागढ़ बुवासनी, पनोह बारियां अल्यौण, गोलजमाला गुज्जरहटटी, कुमारहट्टी क्वारनी, मस्तानपुरा कोटला कुंडलू, टिक्करी बोहरी अंब दा हार, मलाहला कोटला, अंबवाला रजवाहन, रामशहर स्वारघाट, रामशहर सुन्ना नेरली, दभोटा माजरा, लिंक रोड हटड़ा, भाटियां धुंधली, लेही घरेड़, बरोटीवाला बद्दी रामशहर, शीतलपुर नानोवाल, साई बुवासनी, बागवानियां सलेहड़ा खेड़ा, नंदपुर बसौला, लोदीमाजरा खरियाणा, गुरुमाजरा ढेला कासला, ठेडा रौंतावाला जामन दा डोरा आदि को नुकसान हुआ है। ये सभी सड़कें बंद हो गई हैं।
इन मार्गों पर मशीनरी लगाकर इन्हें यातायात के लिए खोलने का प्रयास किया जिसमें से 16 सड़कें शिमला कुनिहार रामशहर नालागढ़, नालागढ़ बुवासनी, गोलजमाला गुज्जरहट्टी, मस्तानपुरा कुंडलू, मलाहला कोटला, रामशहर स्वारघाट, रामशहर सुन्ना नेरली, साई बुवासनी, बागवानियां सलेहड़ा, नंदपुर बसोटा, लोदीमाजरा, सेरी झांडियां आदि को खोल दिया है। एसडीओ लोनिवि नालागढ़ मंडल राजकुमार शर्मा ने कहा कि मूसलाधार बारिश से बंद 30 सड़कों में से 16 को मशीनरी लगाकर खुलवा दिया है। 14 पर मशीनरी से काम किया जा रहा है।
क्षेत्रीय प्रबंधक एचआरटीसी नालागढ़ डिपो जोगिंद्र चौधरी ने कहा कि डिपो की फंसी 30 बसों में से तीन निकल आई हैं जबकि 27 बसें अभी भी विभिन्न मार्गों पर फंसी हैं। जहां तक पक्के मार्ग हैं, वहां यातायात सुचारु है। ... और पढ़ें

मुरारीलाल माहेश्वरी वाद-विवाद स्पर्धा: शिमला मंडल में सोलन कॉलेज ने मारी बाजी

राजधानी शिमला के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस संजौली कॉलेज में आयोजित मंडल स्तरीय मुरारीलाल माहेश्वरी स्मृति वाद-विवाद प्रतियोगिता में सोलन कॉलेज की टीम प्रथम रही। बुधवार को हुई इस स्पर्धा में कॉलेज छात्रों ने ‘क्षेत्रवाद ने भारतीय संघवाद को कमजोर किया’ विषय पर अपनी बात तर्कों के साथ रखी। प्रतियोगिता में राजीव गांधी महाविद्यालय कोटशेरा की टीम दूसरे और कुमारसैन डिग्री कॉलेज की टीम तीसरे स्थान पर रही। शिमला मंडल के चार जिलों की इस प्रतियोगिता में जिला स्तर पर पहले और दूसरे स्थान पर रहने वाली टीमों ने भाग लिया। रामपुर पीजी कॉलेज और सिरमौर के संगड़ाह कॉलेज की टीम ने सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किए। 
... और पढ़ें

अब स्वास्थ्य विभाग करवाएगा चयनित जमीन की पैमाइश

सोलन। स्वास्थ्य विभाग कथेड़ में बनने वाले नए अस्पताल के लिए जमीन को अपने कब्जे में लेकर पैमाइश करवाने की तैयारियों में जुट गया है। यही नहीं पैमाइश करवाने के तुरंत बाद इस जमीन की फेंसिंग का कार्य को भी जल्द किया जाएगा। जानकारी के अनुसार मंगलवार को अस्पताल प्रशासन को जमीन के स्थानांतरित होने का पत्र पहुंचा है। जिसके बाद राजस्व विभाग को जमीन की पैमाइश करने के लिए पत्र भेजा जाएगा। यही नहीं पैमाइश होने के तुरंत बाद जमीन की चारों ओर से फेंसिंग भी की जाएगी। गौर रहे कि इस अस्पताल का निर्माण कथेड़ में किया जाएगा। जिसके लिए राजस्व विभाग की ओर से कुल 59 हजार 814 स्क्वेयर मीटर जमीन स्वास्थ्य विभाग को मुहैया करवाई गई है। दो साल की अवधि में स्वास्थ्य विभाग को अस्पताल का निर्माण करवाया शुरू करवाना होगा। अस्पताल सोलन शहर की भीड़भाड़ से बाहर शिफ्ट करने की मांग लोग काफी समय से करते आ रहे थे। इसके लिए लोगों सहित कई राजनीतिज्ञों ने इस मांग को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास भी किए और जिला प्रशासन के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भी सौंपे थे। क्षेत्रीय अस्पताल करीब 70 वर्ष पहले बनाया गया था। जिसकी हालत खस्ता होने के साथ मरीजों को बेहतर सुविधाएं भी नसीब नहीं हो रही हैं। रोजाना की ओपीडी 1500 से 2000 तक होती है। अब जमीन के स्थानांतरित होने के बाद लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने की उम्मीद जगी है।
जानकारी के अनुसार सुझाव मांगे जाने पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से लेवल 100 बिस्तरों वाले ट्रॉमा सेंटर को खोलने का प्रस्ताव भेजा जाएगा। हालांकि इससे पूर्व भी राष्ट्रीय राजमार्ग पर रोजाना हो रही घटनाओं को देखते हुए लेवल 3 ट्रॉमा सेंटर का प्रस्ताव भी भेजा गया था। जिस पर कोई भी कार्रवाई न होने के कारण अभी तक मेजर इंजरी वाले मरीजों को शिमला, चंडीगढ़ रेफर किया जाता है।
जमीन की पैमाइश और फेंसिंग की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू
चिकित्सा अधीक्षक महेश गुप्ता ने बताया कि अस्पताल की जमीन स्वास्थ्य विभाग के नाम होने का पत्र मंगलवार को मिला है। उन्होंने बताया कि अब जमीन की पैमाइश करने के लिए राजस्व विभाग से पत्राचार किया जाएगा। पैमाइश होने और पैसा आने के तुरंत बाद जमीन की चारों और से फेंसिंग की जाएगी।
स्वास्थ्य विभाग से पत्र मिलते ही होगी पैमाइश
तहसीलदार सोलन गुरमीत नेगी ने बताया कि अस्पताल की भूमि को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा जमीन की पैमाइश के लिए अभी पत्र नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि विभाग का पत्र मिलते ही जमीन की पैमाइश का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। ... और पढ़ें

सरकार की निगरानी में होंगे स्ट्रीट वेडिंग कमेटी के चुनाव

परवाणू(सोलन)। दीनदयाल उपाध्याय अंतोदय योजना व राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत स्ट्रीट वेंडिंग कमेटी (नगर विक्रय समिति) परवाणू की बैठक मंगलवार को नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी सुधीर शर्मा की अध्यक्षता में हुई। इस मौके नगर परिषद परवाणू के अध्यक्ष ठाकुर दास शर्मा विशेष तौर पर उपस्थित रहे। इस अवसर पर वेंडर एक्ट 2014 के तहत वेंडर्स दोबारा बनाने के लिए चर्चा की गई। इस अवसर पर वेंडर कमेटी के होने वाले चुनावों के बारे भी उपस्थित वेंडर्स को जानकारी उपलब्ध करवाई गई। इस अवसर पर वेंडर्स को स्ट्रीट वेंडर्स कमेटी के चुनावों के बारे जानकारी दी गई।। कार्यकारी अधिकारी सुधीर शर्मा ने वेंडर्स को बताया की यह चुनाव जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त रिटर्निंग ऑफिसर की देखरेख में संपन्न होंगे। चुनावों में वही वेंडर्स भाग ले सकेंगे जिनके शुल्क नगर परिषद में जमा हो चुके होंगे। उनके पास नगर परिषद द्वारा जारी वैध लाइसेंस और पहचान पत्र होगा। चुनाव के बाद चुनी गई वेंडर्स की टीम से ही भविष्य में शहर के वेंडर्स से संबंधित वार्तालाप की जाएगी। चुनाव में जीते सदस्य ही पूरे शहर के वेंडर्स का प्रतिनिधित्व करेंगे। बैठक में हिमुडा द्वारा दी गई जमीन जिस पर वेंडर मार्केट प्रस्तावित है, की जानकारी भी वेंडर्स को दी गई। बैठक में स्ट्रीट वेंडर कमेटी के सदस्य पार्षद संजय यादव, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन जिला सोलन के मैनेजर सुधीर सिंह, नप के सेनिटरी इंस्पेक्टर आशुतोष शर्मा, कम्युनिटी सर्विस ऑपरेटर पूजा कुमारी, स्ट्रीट वेंडर कमेटी के सदस्य रवि आहूजा, स्ट्रीट वेंडर कमेटी के सदस्य राकेश शर्मा दिशु, बिल्लू समेत अन्य वेंडर्स उपस्थित थे। ... और पढ़ें

सर्कुलर रोड पर 18.82 ग्राम चिट्टे सहित एक गिरफ्तार

सोलन। शहर के सर्कुलर रोड पर पुलिस ने एक व्यक्ति को 18.82 ग्राम चिट्टे सहित गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस जानकारी के अनुसार परवाणू और सोलन पुलिस गश्त पर थी, इसी बीच पुलिस को सूचना थी, कि एक व्यक्ति चिट्टा का कारोबार करता है और चिट्टे की खेप लेकर सर्कुलर रोड की तरफ जा रहा है, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर एक उसे दबोच लिया। उक्त व्यक्ति ने पीठ पर एक बैग लटकाया हुआ था, वहीं जब पुलिस ने उक्त व्यक्ति के बैग की तलाशी ली तो उसमें से 18.82 ग्राम चिट्टा बरामद किया है। उक्त व्यक्ति की पहचान संतोष गांव लवानधार मंझोली तहसील कुपवीं जिला शिमला के रूप में हुई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उधर, मामले की पुष्टि एएसपी सोलन शिव कुमार ने की है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर आगामी जांच शुरू कर दी है। ... और पढ़ें

फल मंडियों में घटेगा आढ़तियों का कमीशन, जानिए हिमाचल कैबिनेट के बड़े फैसले

हिमाचल की फल एवं सब्जी मंडियों में आढ़तियों का कमीशन पांच से घटाकर दो फीसदी किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश विधानसभा के चल रहे मानसून सत्र में कृषि उत्पाद मंडी समिति (एपीएमसी) संशोधन बिल-2019 पेश किया जाएगा। मंगलवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस बिल के ड्राफ्ट पर चर्चा हुई।
... और पढ़ें

हिमाचल विधानसभा के मानसून सत्र में दूसरे दिन भी हंगामा, विपक्ष ने किया वाकआउट

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन भी सदन में हंगामा हुआ और विपक्ष ने वाकआउट कर दिया। ऊना के कांग्रेस विधायक से जुडे़ शराब प्रकरण पर सदन में प्रश्नकाल शुरू होने से पहले ही विपक्ष के सदस्य शोर-शराबा करते रहे। विपक्षी कांग्रेस ऊना के एसपी की बर्खास्तगी और तबादले की मांग करती रही।

सीएम ने जांच के पूरा होने से पहले तबादले से इंकार किया तो नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के नेतृत्व में कांग्रेस विधायक नारेबाजी करते हुए वेल में चले गए। पहले खडे़ होकर नारेबाजी करते। बाद में चौकड़ी मारकर नीचे बैठ गए। प्रश्नकाल के खत्म होते ही विपक्ष के सदस्यों ने वाकआउट कर दिया। माकपा विधायक राकेश सिंघा ने भी कांग्रेस विधायकों के साथ वेल में जाने के बाद वाकआउट किया। 

मंगलवार को मानसून सत्र की दूसरी बैठक के शुरू में ही नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने हाथ खड़ा कर स्पीकर डा. राजीव बिंदल की ओर इशारा किया। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि नियम - 67 के तहत उन्होंने आग्रह किया था कि जो ऊना का विधायक से संबंधित मसला है, उसके लिए काम रोको प्रस्ताव मंजूर किया जाए। सीएम ने सदन मेें वह पक्ष रखा है जो पुलिस ने कहा।
... और पढ़ें

हिमाचल में भूस्खलन से 824 सड़कें बंद, नेरवा में 554 छात्राएं फसीं

हिमाचल में तीन दिन तक भारी बारिश के बाद भले ही मंगलवार को मौसम खुल गया, लेकिन दुश्वारियां कम नहीं हुईं। प्रदेश में अभी भी 824 सड़कें बंद हैं। जगह-जगह भूस्खलन से प्रदेश में सैकड़ों लोग और पर्यटक फंसे हैं।

नेरवा में अंडर-19 खेलकूद स्पर्धा के लिए गईं शिमला जिले की 554 छात्राएं फंस गई हैं। रोहतांग मार्ग पर मढ़ी में मंगलवार तड़के चार बजे भूस्खलन से सैकड़ों पर्यटक वाहनों सहित फंसे रहे। लेह के लिए निकली सेना की गाड़ियां मनाली लौट आईं।

मनाली-लेह हाईवे पर बंता के पास तेल के टैंकर पर चट्टानें गिर गईं। हालांकि इससे कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है। हालांकि मार्ग कुछ देर के लिए बहाल हुआ, लेकिन शाम को भूस्खलन के चलते फिर से बंद हो गया। इसके चलते सैकड़ों पर्यटक और लाहौल जाने वाले वाहन फंस गए हैं।

शिमला और कुल्लू के ग्रामीण इलाकों में सड़कें बहने से करोड़ों का पेटियों में बंद सेब फंस गया है। पहाड़ दरकने से शिमला-कालका हाईवे तीन घंटे बाधित रहा। हमीरपुर के मैड़ के पास बाधित शिमला-मटौर एनएच देर शाम बहाल हुआ। 
... और पढ़ें

हिमाचल में मौसम खुलने के बाद भी कम नहीं हुईं दुश्वारियां, पर्यटक फंसे, तस्वीरों में देखें तबाही

हिमाचल में तीन दिन तक भारी बारिश के बाद भले ही मंगलवार को मौसम खुल गया, लेकिन दुश्वारियां कम नहीं हुईं। प्रदेश में अभी भी 824 सड़कें बंद हैं। जगह-जगह भूस्खलन से प्रदेश में सैकड़ों लोग और पर्यटक फंसे हैं। 
... और पढ़ें

हिमाचल कैबिनेट की बैठक आज, इन फैसलों पर लगेगी मुहर

हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक मंगलवार को सदन की कार्यवाही के बाद बुलाई गई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में यह बैठक प्रदेश विधानसभा परिसर में ही संभावित है।

इसमें विधानसभा में पेश किए जा रहे विधेयकों पर चर्चा के अलावा कई अन्य फैसले लिए जा सकते हैं। वहीं, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मंगलवार को सदन में अनुच्छेद 370 खत्म करने के मामले में अपना वक्तव्य प्रस्तुत करेंगे।

सदन में स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार गुर्दा प्रत्यारोपण सुविधा देने पर अपना वक्तव्य प्रस्तुत करेंगे। प्रदेश में भारी बरसात से हुए नुकसान के मामले में भी सदन में चर्चा होगी। नियम 130 के तहत इस संबंध में सात विधायकों ने प्रस्ताव लाने को नोटिस दिया है। 
... और पढ़ें

हिमाचल की 148 सड़कें खतरनाक, आवाजाही पर रोक

प्रदेश में खतरनाक बन चुकी 148 सड़कों पर आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। ये ऐसी सड़के हैं, जिन पर सफर करना खतरनाक है। इन सड़कों पर जगह-जगह मलबा, पेड़ और पहाड़ी से पत्थर गिरने पर हादसों की आशंका बनी हुई है।

लोक निर्माण विभाग ने ऐसी सड़कों पर सफर न करने की हिदायत दी है। इन सड़कों का निर्माण एक दो साल के भीतर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत हुआ है। 

लोक निर्माण विभाग का कहना है कि कई सड़कें कच्ची हैं जबकि कई में टारिंग तक हो चुकी है। इनका निर्माण एक से दो साल के भीतर हुआ है। ऐसे में मलबा और पेड़ गिरने की आशंका अधिक है।

हिमाचल में दो दिनों से ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कें बहाल न होने से एचआरटीसी के करीब 280 रूट प्रभावित हुए हैं।  इधर, परिवहन निगम ने चालक परिचालकों को निर्देश दिए गए हैं कि जहां भी सड़कों पर मलबा या सड़क पर दरारें हैं, वहां बस चलाने का जोखिम न उठाएं।

नालों के किनारे भी बसें खड़ी न करने के निर्देश दिए हैं। परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि जैसे-जैसे सड़कें खुलने की सूचना मिल रही है, उन रूटों पर बसें भेजी जा रही हैं।
... और पढ़ें

हिमाचल में एक हफ्ते में सामान्य से 184 फीसदी अधिक बरसे बादल

हिमाचल में एक सप्ताह में मानसून सीजन में अभी तक की सबसे अधिक बारिश हुई है। पिछले सात दिनों में प्रदेश में सामान्य से 184 फीसदी अधिक बारिश रिकॉर्ड हुई है। अगस्त माह में अभी तक सूबे में सामान्य से 51 फीसदी अधिक बादल बरसे। अगस्त में 274.8 मिलीमीटर बारिश हुई है।

18 और 19 अगस्त को हुई बारिश से मानसून सीजन की औसत में बड़ा सुधार आया है। 17 अगस्त तक प्रदेश में सामान्य से 15 फीसदी कम बारिश रिकॉर्ड हुई थी। दो दिनों तक जारी मूसलाधार बारिश से 13 फीसदी की कमी दूर हो गई है।

सोमवार शाम तक प्रदेश में एक जून से 19 अगस्त तक सामान्य से दो फीसदी कम बारिश दर्ज हुई है। बिलासपुर, हमीरपुर, कुल्लू, ऊना और शिमला जिला में मानसून सीजन के दौरान अभी तक सामान्य से अधिक बारिश दर्ज हुई है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree