बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी
Safalta

SBI भर्ती 2021: शुरू होने वाली है भारतीय स्टेट बैंक में क्लर्क भर्ती, ऐसे करें तैयारी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

कोरोना का नया रिकॉर्ड: दिल्ली में 19 हजार से अधिक मामले आए सामने, 141 मरीजों की मौत

राजधानी में संक्रमितों की संख्या रोज नए रिकॉर्ड बना रही है। स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को कोरोना के 19,486 नए मामलों की पुष्टि की। जबकि, 141 लोगों की मौत हो गई। पिछले साल मार्च में संक्रमण की शुरूआत के बाद ऐसा पहली बार है जब एक दिन में इतने मामले आए हैं, वहीं, मौत का आंकड़ा भी सर्वाधिक है। कोरोना के सक्रिय मामले भी 60 हजार के पार पहुंच गए हैं। इस दिन की संक्रमण दर बृहस्पतिवार के मुकाबले घटकर 19.69 रही है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, गुरुवार को 12,649 लोग स्वस्थ हुए। 

दिल्ली में अब कुल मरीजों की संख्या  8,03,623 पहुंच गई है। इसमें से 7,30, 825 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अब तक 11,793 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमण से मृत्युदर 1.47 फीसदी है। वहीं, कुल संक्रमण दर 5.01 फीसदी है। सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 61,005 हो गई है। इसमें से 11,268 अस्पतालों में भर्ती हैं। होम आईसोलेशन में 29,705 रोगियों का और कोविड केंद्रों में 510 मरीजों का इलाज चल रहा है।
    
विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 98,957 लोगों की जांच की गई। आरटीपीसीआर तरीके से 64,939 और रैपिड एंटीजन से प्रणाली से 34,018 टेस्ट हुए। अब तक 1 करोड़ 60 लाख 41 हजार सैंपल की जांच हो चुकी है। कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 9929 हो गई है। है।

76,642 लोगों का हुआ टीकाकरण
कोरोना टीकाकरण अभियान में पिछले 24 घंटो में 75 हजार से अधिक लोगों को टीका लगाया गया। अब तक 24 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, 700 से अधिक केंद्रों पर चले टीकाकरण कार्यक्रम में कुल 76,642 लोगों को टीका लगाया गया। कुल टीकाकरण में 59,493 को पहली व 17,149 लोगों को दूसरी खुराक लगाई गई। अब तक 24,50424 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। 



 
... और पढ़ें
कोरोना जांच करता स्वास्थ्यकर्मी कोरोना जांच करता स्वास्थ्यकर्मी

दिल्ली-एनसीआर में तेज धूप के बाद बदला मौसम, कई इलाकों में हुई बूंदाबांदी

राजधानी में शुक्रवार को तपती गर्मी से तेज हवाओं और हल्की बारिश की फुहार ने राहत दिलाई। दोपहर बाद मौसम के करवट लेने के साथ धूल भरी आंधी का दौर बना और सूरज ढलने के साथ-साथ दिल्ली के विभिन्न इलाकों में हल्की बारिश दर्ज की गई। अगले 24 घंटे में भी दिल्ली में बारिश की संभावना है और तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से कम रहेगा।

मौसम विभाग ने एक दिन पहले ही दिल्ली में तेज हवाएं चलने के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई थी। इस कड़ी में दिनभर सूरज और बादलों के बीच लुकाछिपी का खेल चलता रहा और शाम चार बजे के बाद करीब 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दिल्ली में धूल भरी आंधी चली। आसमान में काले बादल मंडराने की वजह से दोपहर में ही दिल्ली में हल्का अंधेरा छा गया था। इसके बाद सूरज की छिपती किरणों के साथ साथ हल्की बारिश भी दर्ज की गई।



प्रादेशिक मौसम विभाग के मुताबिक, शुक्रवार को राजधानी का अधिकतम तापमान सामान्य से तीन अधिक 40 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान सामान्य से दो कम 20.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पिछले 24 घंटे में हवा में नमी का अधिकतम स्तर 69 फीसदी और न्यूनतम स्तर 23 फीसदी रहा। दिल्ली के स्पोर्ट्स कंपलेक्स इलाके में अधिकतम तापमान 41.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा जफरपुर में 40.7, गुरुग्राम में 40.2, आया नगर में 40.4, लोधी रोड में 38.9, पालम में 40.6 व नरेला में 40.5 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान रहा।

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों में दिल्ली में हल्के बादल छाए रहने की संभावना है। इससे न्यूनतम व अधिकतम तापमान में कमी आएगी और दिल्लीवासियों को तेज गर्मी से राहत मिलेगी। हालांकि, यह राहत ज्यादा दिन के लिए नहीं है। इसके बाद लगातार न्यूनतम और अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी की भी संभावना जताई जा रही है। इससे एक बार फिर गर्मी अपना रंग दिखाएगी।
गौरतलब है कि सप्ताह के शुरुआत से ही अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार बना हुआ है और न्यूनतम तापमान भी 20 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया जा रहा है। इस वजह से दिन के साथ-साथ रात में भी गर्मी का एहसास बना हुआ है। 

दूसरी ओर मौसम में बदलाव होने के बाद भी दिल्ली-एनसीआर की हवा में बदलाव नहीं हुआ। शुक्रवार को एनसीआर के साथ दिल्ली की हवा भी खराब श्रेणी में दर्ज की गई। 
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 238 रहा। वहीं, फरीदाबाद का 254, गुरुग्राम का 250, ग्रेटर नोएडा का 282 व नोएडा का 249 दर्ज किया गया। इसके अलावा गाजियाबाद की हवा 308 के साथ खराब श्रेणी में दर्ज की गई।
... और पढ़ें

नोएडा: एसीपी-1 और यीडा में 11 कर्मचारी संक्रमित, शारदा बना कोविड अस्पताल

यूपी के अन्य जिलों की तरह गौतमबुद्ध नगर में भी कोरोना के मामले दिनोंदिन बढ़ रहे हैं। ताजा मामला सामने आया है नोएडा की एसीपी-1 का जो कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। वहीं गुरुवार को यमुना प्राधिकरण में 11 कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गए। इससे पहले बुधवार को यीडा के ओएसडी सदानंद गुप्ता भी संक्रमित हो गए थे।

गुरुवार को कोरोना जांच के लिए शिविर लगाया गया, जिसमें ये कर्मचारी संक्रमित मिले। इसके बाद यीडा दफ्तर को सैनिटाइज कराया गया। सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने संक्रमण को देखते हुए लोगों से दफ्तर कम से कम आने की अपील की है।

शारदा बना कोविड अस्पताल, सामान्य मरीजों के लिए ओपीडी सेवा बंद
ग्रेटर नोएडा में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नॉलेज पार्क स्थित शारदा अस्पताल ने ओपीडी सेवा फिलहाल बंद कर दी है। अस्पताल को कोविड अस्पताल बना दिया गया है। इसके पहले जिम्स में भी सामान्य मरीजों के लिए ओपीडी बंद कर दी गई है। इन दोनों अस्पतालों में अब सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े मरीजों को ही चिकित्सा सुविधा का लाभ फिलहाल मिलेगा।

जिम्स व शारदा अस्पताल में क्षेत्र के सैकड़ों मरीज रोज इलाज कराने के लिए आते हैं। सामान्य ओपीडी बंद होने से सबसे ज्यादा असर यहां इलाज के लिए आने वाले गरीब मरीजों पर पड़ेगा। उन्हें अब ओपीडी की चिकित्सा सुविधा के लिए निजी अस्पतालों के चक्कर काटने पड़ेंगे। उन्हें इलाज के लिए मोटी फीस भी भरनी पड़ेगी।

अभी जिम्स में सिर्फ 50 रुपये व शारदा में निशुल्क ओपीडी की सुविधा मरीजों को दी जा रही थी। शारदा अस्पताल के प्रवक्ता डॉ. अजीत कुमार ने बताया कि इन दिनों मौसम बदलने के कारण ओपीडी में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसमें वायरल बुखार के अलावा बच्चों में सर्दी जुकाम के मामले भी सामने आ रहे हैं। इसी बीच कोविड महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन ने बृहस्पतिवार से ओपीडी सेवाओं को बंद रखने का फैसला लिया है। जब हालात सामान्य होंगे तब जाकर ही मरीजों को इसका लाभ मिलेगा।
... और पढ़ें

दिल्ली अव्वल: कोरोना मरीजों के मामले में राजधानी की हालत देश में सबसे खराब

राजधानी दिल्ली देश में सबसे अधिक कोरोना प्रभावित शहर बन गया है। कुछ डॉक्टर इसे बेहद खतरनाक बता रहे हैं। हालांकि कुछ सप्ताह पहले तक हालात ऐसे नहीं थे। इसके साथ दिल्ली ने मुंबई को काफी पीछे छोड़ दिया है जो एक समय देश में कोरोना का एक बड़ा हॉट स्पॉट था। 

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के 16699 नए मामले सामने आए तो वहीं 112 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। आंकड़ों के अनुसार राजधानी में कोरोना संक्रमण की दर 20.22 फीसदी रही। ये बेहद खतरनाक और महामारी शुरू होने के बाद सबसे अधिक है। हालांकि बुधवार को कम मामले सामने आए थे क्योंकि 20 हजार जांच कम की गई थी। इससे संक्रमण दर 20.22 फीसदी हो गई। 

तीसरी लहर के दौरान सबसे अधिक संक्रमण दर 14 नवंबर को 15.33 फीसदी रही थी। वहीं आंकड़ों के अनुसार मुंबई में अब तक के सबसे अधिक 11163 केस चार अप्रैल को सामने आए थे। 

दिल्ली में महामारी की तीसरी लहर में एक दिन में सबसे अधिक 8593 मामले 11 नवंबर 2020 आए थे जबकि 18 नवंबर को 131 मौतें हुई थीं जो एक दिन में सबसे अधिक थीं। वहीं राजधानी में 11 अप्रैल को 10774 मामले सामने आए और उसके बाद इसमें लगातार बढ़ोतरी हो रही है। मंगलवार को 13468, और बुधवार को 17282 मामले सामने आए।

अपोलो अस्पताल के डॉक्टर सुरजीत चैटर्जी के अनुसार कोरोना राजधानी में हर किसी को निशाना बना रहा है। चाहे बच्चा हो या बुजुर्ग, चाहे टीका लगवाया है या नहीं। वहीं दूसरे डॉ. अवधेश बंसल का कहना है कि हमें कुछ दिन और देखना होगा कि इस बढ़ोतरी का पीक कहां पर आता है। इसमें सबसे खतरनाक बात ये है कि परिवार के ज्यादातर या सभी सदस्य संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। 

बुधवार को बंगलूरू में 8155, चेन्नई में 2564 मामले सामने आए थे। वहीं महामारी शुरू होने के बाद पुणे में सबसे अधिक 12494 केस चार अप्रैल को दर्ज किए गए। 


मार्च में कोरोना के आंकड़े 

                पंजीकृत        मौत
दिल्ली         23141        117 

मुंबई          88710        216
... और पढ़ें

फिर वायरल हुआ वीडियो: यूपी और दिल्ली के बाद गुरुग्राम में थूक लगाकर रोटी बनाता दिखा कारीगर, दो गिरफ्तार

अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीज
गुरुग्राम में अलसीफा नाम से संचालित ढाबे पर थूक लगाकर रोटी बनाने का वीडियो वायरल होने को पुलिस ने गंभीरता से लिया है। इस मामले में आरोपी की वीडियो के आधार पर पहचान कर ली। मौके से ढाबा संचालक और उसके कारीगर दोनों को गिरफ्तार भी कर लिया है। इस तरह का एनसीआर में यह दूसरा मामला बताया जा रहा है। इससे पहले दिल्ली में एक मामले का खुलासा हुआ था। उसमें भी पुलिस की ओर से कार्रवाई की जा चुकी है।

सेक्टर-12 स्थित अलसीफा ढाबे का वीडियो मंगलवार को वायरल हुआ था। जिसमें एक व्यक्ति रोटी बनाने के साथ-साथ थूक लगा रहा था। इस वीडियो के वायरल होेने की जानकारी देवीलाल नगर निवासी भगत सिंह को हुई। वह अपने साथी दीप चंद्र को लेकर ढाबे के बारे में जानकारी करने गए।

पूरी तरह से मामला पुष्ट होने के बाद उन्होंने सेक्टर-14 थाना पुलिस को मंगलवार शाम शिकायत दी। जिसके आधार पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने ढाबे पर छापा मारा और वीडियो के आधार पर वहां पर काम करने वाले व्यक्ति को हिरासत में ले लिया।

जिनकी पहचान दिल्ली की न्यू सीमापुरी निवासी मोहम्मद इब्राहिम और उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के गांव कुराली निवासी उस्मान मलिक के रूप में हुई है। मोहम्मद इब्राहिम ढाबा संचालक है जबकि उस्मान कारीगर है। 
... और पढ़ें

निर्ममता: रातभर कोविड मरीज के शव संग बैठी रही पत्नी, घर ले जाने के लिए तीन हजार मांगने का आरोप

कोरोना के कहर के बीच प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का लापरवाह रवैया जारी है। विभिन्न हेल्पलाइन के जरिये कोविड संक्रमितों की मदद के दावे खोखले नजर आने लगे हैं। बृहस्पतिवार को एक और संक्रमित बुजुर्ग ने व्यवस्था से लाचार होकर होम आइसोलेशन में दम तोड़ दिया। 

वहीं, पत्नी अकेले रातभर शव के साथ बैठी रही। उनकी मदद के लिए कुछ पड़ोसियों ने तो हाथ बढ़ाए, लेकिन विभाग से कोई मदद नहीं मिल सकी। दरअसल, सेक्टर-22 निवासी इंश्योरेंस कंपनी से रिटायर दरबान सिंह रावत में 4-5 दिन पहले करोना की पुष्टि हुई थी। 

एक निजी अस्पताल में जांच के दौरान बीमारी का तो पता चला, लेकिन बेड की कमी से अस्पताल ने उन्हें भर्ती नहीं किया। कोई संतान नहीं होने व रिश्तेदार पास न होने से उन्होंने पड़ोसियों से सहायता मांगी। पड़ोसी दिवान सिंह का आरोप है कि बुजुर्ग की गंभीर हालत देखकर उन्होंने सभी सरकारी हेल्पलाइन से मदद मांगी। 

स्वास्थ्य विभाग,  प्रशासन व अस्पतालों से संपर्क किया, लेकिन कहीं किसी ने मदद नहीं की। बृहस्पतिवार शाम 4 बजे बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया तो पड़ोसियों ने दोबारा स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया। शव ले जाने के लिए एक वैन तो आई, लेकिन शव पैक करने के लिए 3000 रुपये मांगे गए। 
... और पढ़ें

राजधानी में 75 किमी की रफ्तार से चली हवा

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X