बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
ये हैं सप्ताह की चार भाग्यशाली राशियां, धनलाभ के बनेंगे प्रबल योग
Myjyotish

ये हैं सप्ताह की चार भाग्यशाली राशियां, धनलाभ के बनेंगे प्रबल योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

आजमगढ़ में मंदिर से चांदी की प्रतिमाएं चोरी,एक माह में मंदिर से चोरी की दूसरी घटना  

आजमगढ़ जिले के अहरौला थाने के युधिष्ठिरपट्टी गांव निवासी एक व्यक्ति के मकान में स्थित दुर्गा मंदिर में मंगलवार की रात चोरी हो गई। चोर राम-सीता की चांदी की प्रतिमा के साथ ही दुर्गा प्रतिमा पर चढ़ाए गए जेवरात उठा ले गए। पुलिस जांच पड़ताल कर रही है। 

युधिष्ठिरपट्टी गांव निवासी हवलदार निषाद उड़ीसा में कारोबारी हैं। गांव के बाहर उनका बड़ा मकान है। मकान परिसर में ही एक मंदिर भी है। मकान में हवलदार निषाद की पत्नी आशा देवी अकेली रहती हैं। इन दिनों उनका बेटा भी आया हुआ है। सुरक्षा के लिहाज से घर में दो डाबरमैन कुत्ते भी पाले गए हैं।

मंगलवार रात मकान की चहारदीवारी फांद कर चोर अंदर घुस गए। मंदिर से राम-सीता की चांदी की प्रतिमाओं के साथ ही दुर्गा प्रतिमा के मुकुट, नथिया, मांग टीका, हार आदि जेवरात चुरा ले गए। बुधवार सुबह आशा देवी को चोरी की जानकारी हुई। सूचना पर सीओ बूढ़नपुर महेंद्र शुक्ला के साथ ही अहरौला पुलिस मौके पर पहुंच गई। घटना के बाबत आशा देवी ने पुलिस को तहरीर दे दी है। गृहस्वामी के अनुसार मंदिर से ढाई से तीन लाख की चोरी हुई है। 

चार साल पूर्व हुई थी 12 लाख की डकैती
हवलदार निषाद का मकान आबादी से दूर बना है। चार साल पूर्व इसी मकान में 12 लाख की डकैती हुई थी। बदमाशों ने आशा देवी व उनके पांच साल के नाती को बंधक बना कर पूरा घर खंगाल डाला था। लगभग 12 लाख का माल लेकर बदमाश भाग गए थे। अहरौला पुलिस अब तक इस मामले का पर्दाफाश नहीं कर सकी। 

तमसा नदी के तट पर स्थित है मंदिर 
अहरौला थाना क्षेत्र में एक माह के अंदर मंदिर से चोरी की यह दूसरी घटना है। इसके पूर्व पांच फरवरी को अरुषा गांव में तमसा तट स्थित मंदिर से चोरों ने पांच किलो की चांदी की दुर्गा प्रतिमा के साथ ही मुकुट आदि चुरा लिया था। पुलिस इस घटना का भी खुलासा नहीं कर सकी है। सीओ ने जल्द खुलासे का दावा किया था।  
... और पढ़ें

भदोही: पड़ोसियों को फंसाने के लिए अपने अपहरण और हत्या का ड्रामा कर हुआ लापता, 13 साल बाद पकड़ाया

पड़ोसियों और अन्य लोगों को फंसाने के लिए अपने अपहरण और हत्या का ड्रामा कर लापता होने वाला व्यक्ति 13 साल बाद बुधवार को पकड़ा गया। अपहरण कर लापता करने के मामले में चार लोगों को सजा हुई थी। मामला भदोही जिले के गोपीगंज थाना क्षेत्र के चकनिरंजन गांव का है। ड्रामा रचने का आरोपी चोरी-छुपे अपनी पत्नी से मिलने आया था। उसे गुरुवारको कोर्ट में पेश किया जाएगा।

चकनिरंजन निवासी जोखन तिवारी ने वर्ष 2008 में अपने अपहरण और हत्या का ड्रामा रचा था। उसने गांव से थोड़ी दूर एक कुत्ते को काटकर उसका खून फैला दिया और खुद लापता हो गया था। जोखन के परिजनों की तहरीर पर गोपीगंज पुलिस ने पड़ोसी दूधनाथ तिवारी, भाई काशीनाथ तिवारी के अलावा साले वंशनाथ तिवारी व छोटन तिवारी (निवासी नेवादा, थाना रामपुर, जौनपुर) के खिलाफ अपहरण कर लापता करने का केस दर्ज कर जेल भिजवा दिया था।

दिसंबर 2009 में फास्ट ट्रैक कोर्ट से गवाहों और सुबूतों के आधार पर चारों को पांच-पांच साल की सजा सुनाई गई थी। मामले के सभी आरोपी दो बार में पौने चार-चार साल की सजा काट चुके हैं और वे 2012 में हाईकोर्ट से जमानत पर छूटे।
... और पढ़ें

यूपी: शादी के नौ महीने बाद दंपती ने लगाई फांसी, दोनों ने किया था प्रेम विवाह

आजमगढ़ जिले के मेहनाजपुर थाना क्षेत्र के जमुखा गांव में पति-पत्नी का शव घर के कमरे फंदे से लटका हुए मिलने से हड़कंप मच गया। दोनों की नौ माह पहले ही प्रेम-विवाह हुआ था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्ट के लिए भेज दिया है। ससुरालिए और मायकेवाले दोनों आत्महत्या के अलग-अलग कारण बता रहे हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार, ग्राम जमुखा थाना मेहनाजपुर निवासी धमेंद्र राजभर पुत्र कमला राजभर की शादी पिछले वर्ष जुलाई माह में संजू पुत्री चन्द्रिका राजभर निवासी मिर्जापुर थाना सादात जिला गाजीपुर से हुई थी। दोनों ने प्रेम विवाह किया था। धमेंद्र मुंबई में फर्नीचर का काम करता था।

मंगलवार सुबह जब धमेंद्र की मां इनौता पुत्र को जगाने गई तो पुत्र और बहू को फंदे से लटकते देखा। दोनों का शव सीमेंट शेड के कमरे में लोहे के एंगल से लटक रहा था। ये देख उसके होश उड़ गए। जोर-जोर से चिल्लाने लगी। चीख सुनकर गांव के लोग जुट गए।
... और पढ़ें

यूपी: वाराणसी के डॉक्टर से करते थे सेटिंग, 36 हजार रुपये में बेचते थे ऑक्सीजन गैस सिलिंडर, तीन गिरफ्तार

गोरखपुर शहर के गोरखनाथ इलाके के धर्मशाला के पास से मंगलवार देर रात पुलिस ने ऑक्सीजन गैस सिलिंडर के साथ तीन युवकों को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपियों ने सिलिंडर की कालाबाजारी की बात कबूल कर ली है। बताया है कि वाराणसी के डॉक्टर अभिषेक मरीज से सेटिंग करते थे और फिर एक सिलिंडर पहुंचाकर 36 हजार रुपये वसूलते थे। पुलिस ने ड्रग इंस्पेक्टर जय सिंह की तहरीर पर तीनों युवकों पर जालसाजी की धारा में केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान तिवारीपुर के छोटेकाजीपुर निवासी जितेंद्र विश्वकर्मा (35), आजमगढ़ के मुबारकपुर थाना क्षेत्र के सठियांव निवासी सिद्धार्थ यादव (24) और कुशीनगर जनपद के पटेरहवा इलाके के कोटवा निवासी रोशन सिंह (23) के रूप में हुई है। जानकारी के मुताबिक, ड्रग इंस्पेक्टर कालाबाजारी की सूचना पर छानबीन में जुटे थे।

इसी दौरान उनको पता चला कि धर्मशाला के पास से सिलिंडर ले जाया जा रहा है। इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंच गई और मुखबिर के इशारे पर एक कार को रोका। जांच पड़ताल की तो उसमें से एक ऑक्सीजन सिलिंडर भरा हुआ मिला। कार में मौजूद लोग कागजात नहीं दिखा पाए।

पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपियों ने बताया कि वाराणसी के डॉक्टर अभिषेक मरीज का नाम-पता बताते थे। उसे सिलिंडर पहुंचाकर 36 हजार एक सिलिंडर के बदले में मिलता था। कार का भी कोई कागजात नहीं मिला है। उसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है और विधिक कार्रवाई कर रही है।
... और पढ़ें
फाइल फोटो फाइल फोटो

वाराणसी: पिता-पुत्र की रहस्यमयी परिस्थिति में मौत, दुर्गंध आने पर चला पता, लाश मिलने से सनसनी

वाराणसी में सारनाथ थाना क्षेत्र के पहड़िया स्थित श्रीनगर कॉलोनी में स्थित टीन शेड के कमरे में बुधवार की सुबह रहस्यमय परिस्थितियों में पिता-पुत्र का शव मिला। जैसे ही शव मिलने की सूचना आसपास के लोगों को पता चली इलाके में सनसनी फैल गई है। इस दौरान घटनास्थल पर लोगों की भीड़ लग गई। सूचना के बाद मौके पर पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के अनुसार, श्रीनगर कॉलोनी में बासदेव बाबा स्थान के पीपल के पेड़ के पास बुधवार की सुबह महिलाएं पूजा करने गई थीं। जब वह पूजा कर रही थीं, तो इस दौरान उन्हें पास के ही टीन शेड के कमरे से दुर्गंध आने लगी थी। महिलाओं ने पड़ोस के लोगों को इस बारे में सूचना दी। जब लोगों ने कमरे में जाकर देखा तो दंग रह गए। उन्होंने बालेश्वर ओझा(85) और उनके पुत्र जित्तन ओझा(52) की लाश पड़ी देखी थी।

लोगों ने इसकी सूचना सारनाथ पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शव के पास से उनका आधार कार्ड मिला। जिससे उनकी पहचान हुई। वह भोजपुर (बिहार) जिले के सेमरिया गांव के रहने वाले थे।
... और पढ़ें

यूपी: बदमाशों ने बाइक सवार युवक को मारी गोली, गंभीर हालत में वाराणसी रेफर

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में मंगलवार की रात साढ़े 9 बजे करीब नेशनल हाईवे पर बदमाशों ने बाइक सवार को गोली मार दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को पीएचसी दोहरीघाट में भर्ती कराया, जहां डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद घायल को हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया।

गोली बाइक सवार के पैर में लगी है। घटना का कारण आपसी रंजिश बताई जा रही है। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। जबकि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के अनुसार, मऊ जिले के दोहरीघाट थाना क्षेत्र के बसारथपुर दर्शन टोला निवासी कृष्णा यादव(20) पुत्र सीताराम यादव मंगलवार की रात साढ़े 9 बजे अहिरानी पेट्रोल पंप पर बाइक में तेल भरवाने गया था। वापस लौटने के दौरान जैसे ही वह बसारथपुर और अहिरानी गांव के बीच पहुंचा, तभी पीछे से आए बाइक सवार बदमाशों ने टारगेट कर उस पर फायरिंग कर दी। एक गोली कृष्णा के पैर में लगी जबकि दूसरी गोली बाइक की टंकी के पास से गुजर गई।
... और पढ़ें

बच्चा पैदा न होने पर भाभी नामर्द कहकर मारती थी ताना, इसलिए उठाया ऐसा कदम

बच्चा न पैदा होने पर भाभी द्वारा बार-बार नामर्द कहकर ताना मारना इतना नागवार गुजरा कि देवर ने तलवार से वार कर उसकी हत्या कर दी। घटना वाराणसी के लोहता थाने के रहीमपुर गांव की सोमवार शाम की है। पुलिस ने आरोपी रहीमपुर निवासी तौफीक खान को वारदात में प्रयुक्त तलवार के साथ मंगलवार को हरपालपुर से गिरफ्तार कर लिया।

लोहता थाना क्षेत्र के रहीमपुर गांव में सगे भाई मुर्शीद खान और तौफीक खान का परिवार रहता है। मुर्शीद की सात बेटियां व दो बेटे हैं और तौफीक निसंतान है। सोमवार की शाम मुर्शीद खान के लड़के घर के बाहर पटाखे फोड़ रहे थे। इस पर तौफीक ने तेज आवाज में पटाखे फोड़ने से मना किया। इसे लेकर मुर्शीद की पत्नी रोशन जहां(50) और तौफीक की पत्नी शहनाज के बीच कहासुनी शुरू हुई।

कहासुनी के बीच ही तौफीक अपने घर से तलवार निकाल कर लाया और भाभी के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। इसके बाद तौफीक घर से भाग निकला। आननफानन में रोशन जहां को एक निजी चिकित्सालय से बीएचयू ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मुर्शीद की तहरीर के आधार पर तौफीक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की।
... और पढ़ें

बलिया में लगातार तीसरे दिन मासूम बनी हैवानियत का शिकार, दो रुपये का लालच देकर हैवान ले गया था घर

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।
बलिया जिले के रेवती थाना क्षेत्र के एक गांव में युवक पड़ोस के घर के बाहर खेल रही चार साल की बच्ची को दो रुपये देने का लालच देकर अपने घर में ले गया तथा उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किया। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

इसके पहले बीते 16 मार्च को इसी थाना क्षेत्र के एक गांव में 13 वर्षीय किशोर ने ढाई साल की मासूम से दुष्कर्म किया था, जिसे 18 मार्च को पुलिस ने गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह में भेजा है। 18 मार्च को बांसडीहरोड थाना क्षेत्र के एक गांव में पांच साल के बालक के साथ 15 वर्षीय किशोर द्वारा अप्राकृतिक दुष्कर्म का मामला सामने आया। पुलिस ने बालक को मेडिकल कराने के लिए जिला अस्पताल भेजा है।

रेवती थाना प्रभारी यादवेंद्र पांडेय ने बताया कि थाना क्षेत्र के एक ग्राम में भीम साहनी(20) शुक्रवार को दिन में साढ़े दस बजे पड़ोस के घर के बाहर खेल रही चार साल की बच्ची को दो रुपये देने का लालच देकर अपने घर में ले गया। आरोप है कि वहां उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया।
... और पढ़ें

यूपी: फांसी के फंदे से लटके मिले नेपाली प्रेमी युगल, कारपेट कंपनी में की आत्महत्या

उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में एक नेपाली प्रेमी जोड़े की लाश पेड़ पर फांसी के फंदे से लटकती मिली है। इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया है। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों के शव पेड़ से उतारे और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए। पुलिस इस मामले में आगे की जांच और कार्रवाई में जुट गई है।

पुलिस के अनुसार, गोपीगंज थाना क्षेत्र के सोनखरी स्थित दीप कारपेट के कालीन कंपनी के अहाते में स्थित पेड़ पर नेपाली प्रेमी युगल फांसी के फंदे पर झूलते मिले। सोनखरी गांव में कालीन कारखाना स्थित है, जहां नॉटेड गलीचे का काम चलता है। इसमें बड़ी संख्या में नेपाल के लोग काम करते हैं।

नेपाल के बकैया मकवानपुर के रहने वाले मृतक विक्रम लामा(25) पुत्र पूर्ण बहादुर के भाई अविनाश ने बताया कि वह पांच भाई और तीन बहन हैं। सभी निजी कंपनी में काम करते हैं। पिछले दिनों विक्रम गांव गया था, वहां से गांव की ही विवाहित युवती उर्मिला घलान को साथ लेकर आया था। इस बारे में महिला के पति ईमान सिंह घालान को इसकी सूचना यहां पहुंचने के बाद दे दी थी। जब महिला का पति उसे यहां बुलाने आया तो दोनों को समझा-बुझाकर वापस भेज दिया था।
... और पढ़ें

तस्वीरें: बिहार के तीन लोगों की धारदार हथियार से हत्या, मिर्जापुर में खून से लथपथ मिली लाशें

मिर्जापुर जिले में सड़क किनारे बिहार के तीन लोगों की लाश मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया। तीनों की किसी धारदार हथियार से हत्या की गई, इसके बाद उनके शव मिर्जापुर-वाराणसी बॉर्डर पर स्थित चुनार थाना क्षेत्र के नंदूपुर गांव में सड़क किनारे फेंके गए थे। खून से लथपथ मिले शवों को देखकर सनसनी फैल गई थी। स्थानीय लोग तरह-तरह के कयास लगाने लगे। किसी ने घटना के बारे में पुलिस को सूचना दी।

पुलिस मौके पर पहुंच गई और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके पर डॉग स्क्वॉयड की टीम भी पहुंची और जांच कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है। वहीं पुलिस आसपास के लोगों से पूछताछ कर जानकारी जुटा रही है। देखें अगली स्लाइ्डस...।
... और पढ़ें

यूपी: शादी के चार महीने बाद ही फंदे से लटकती मिली विवाहिता, दहेज हत्या का आरोप

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में रविवार की सुबह एक विवाहिता शव फांसी के फंदे से लटका हुआ मिला। मृतका के मायके वालों ने ससुरालियों पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना रेवती थाना के सुरेमनपुर दीयरांचल के मानगढ़ गांव की है।

पुलिस के अनुसार, बिहार के छपरा सारण जिले के भगवान बाजार थाना क्षेत्र के अजायबगंज की रहने वाली प्रियंका(20) उर्फ तारा पुत्री लक्ष्मण चौधरी की शादी 29 नवंबर 2020 को मानगढ़ निवासी सूबेदार साहनी के पुत्र पप्पू चौधरी से हुई थी। आरोप है कि दहेज में एक लाख रुपया तय था।

प्रियंका के पिता आर्थिक तंगी के कारण तय दहेज की राशि नहीं दे पाए थे। मंडप में शादी के समय पप्पू चौधरी सीकरी के लिए अड़ गया था, हालांकि आसपास के लोगों ने समझा-बुझाकर शादी करा दी। प्रियंका अपने पति के साथ ससुराल आ गई। आरोप है कि दहेज में पलंग व एक और सोने के सीकरी के लिए प्रियंका को ससुराली प्रताड़ित करते थे।
... और पढ़ें

भाजपा कार्यकर्ता की हत्या: बीजेपी नेताओं के कार्यक्रम में बढ़चढ़ कर लेता था हिस्सा, परिजनों ने लगाए ये आरोप

वाराणसी के सारनाथ थाना क्षेत्र के पुराना पुल चौकी से लगभग 500 मीटर दूर पुलकोहना में कमीशन लेकर बैंक से लोन पास कराने का काम करने वाले भाजपा कार्यकर्ता धनंजय राय(35) की गला रेतकर हत्या कर दी। मंगलवार की सुबह यह सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई, और शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इसके बाद धनंजय के परिजन भड़क गए। सभी ने पुराना पुल चौकी के समीप वाराणसी-गाजीपुर मार्ग पर जाम लगा दिया। उनका कहना था कि लेनदेन के विवाद में धनंजय के दोस्तों ने ही उसकी हत्या की है। तकरीबन पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शाम चार बजे पुलिस ने ठोस कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम खत्म कराया। परिजनों ने जिन पर हत्या की आशंका जताई है उनमें से दो लोगों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। देखें अगली स्लाइड्स...।
... और पढ़ें

वाराणसी: सारनाथ क्षेत्र में पुलिस चौकी के पास युवक की गला रेत कर हत्या, मचा हड़कंप

वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र में पुराना पुल चौकी से लगभग 500 मीटर दूर पुलकोहना स्थित मुस्लिम बस्ती में कमीशन लेकर बैंक से लोन पास कराने का काम करने वाले भाजपा कार्यकर्ता धनंजय राय (35) की गला रेतकर हत्या कर दी गई। मंगलवार की सुबह यह सूचना मिलने के साथ ही शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए जाने पर धनंजय के परिजन भड़क गए।

सभी ने पुराना पुल चौकी के समीप वाराणसी-गाजीपुर मार्ग पर जाम लगा दिया। सभी का कहना था कि लेनदेन के विवाद में धनंजय के दोस्तों ने ही उसकी हत्या की है। तकरीबन पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शाम चार बजे पुलिस ने ठोस कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम खत्म कराया। परिजनों ने जिन पर हत्या की आशंका जताई है उनमें से दो लोगों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

सारनाथ थाना अंतर्गत खालिसपुर निवासी धनंजय राय लगभग चार साल पहले तक जनसेवा केंद्र संचालित करता था। इसके बाद वह लोगों से कमीशन लेकर बैंक से उनका लोन स्वीकृत कराने का काम कर रहा था। सोमवार की सुबह भी धनंजय घर से क्षेत्र में निकला था। रात में उसने अपने भाई और पत्नी से थोड़ी देर में आने की बात कही थी। इसके बाद उसका कहीं पता नहीं लगा।

मंगलवार की सुबह धनंजय के घर से लगभग साढ़े चार किलोमीटर दूर पुलकोहना की मुस्लिम बस्ती स्थित एक चहारदीवारी के समीप सड़क के किनारे खून से लथपथ औंधे मुंह उसका शव पड़ा मिला। इसकी सूचना नमाज पढ़ने जा रहे दो मासूम भाइयों ने अपने पिता को दी तो पुलिस आई।

धनंजय की जेब से मिले आधार कार्ड और मोबाइल से उसकी शिनाख्त कर पुलिस ने परिजनों को सूचना देते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। धनंजय को देखे बिना उसका शव पोस्टमार्टम के भेजे जाने नाराज परिजनों ने जाम लगा दिया।
 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन