विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

श्रावस्ती

रविवार, 22 सितंबर 2019

बारिश के पानी में बहते दिखे आधार कार्ड

इकौना (श्रावस्ती)। इकौना में बुधवार को हुई बारिश के बाद मुबारक नगर की नालियों में काफी मात्रा में आधार कार्ड बहते नजर आए। इसको लेकर दिन भर क्षेत्र के लोग चर्चा करते दिखे। लोगों के अनुसार क्षेत्र स्थित डाकघर के सामने काफी समय से जमे कूड़े के ढेर की मिट्टी हटने से चलते यह आधार कार्ड पानी में बहने लगे।
स्थानीय नागरिकों में यह भी चर्चा रही कि पूर्व में जब डाकघर से आधार का वितरण कराया जा रहा था तब इन्हें लोगों के घरों तक न पहुंचा कर कूड़े में फेंक दिया गया था। जो मिट्टी के ढेर में दब गए थे। बारिश में मिट्टी हटने से यह सभी पानी में उतराने लगे।
इकौना के मोहल्ला मुबारकनगर में बुधवार को हुई झमाझम बरसात के दौरान पानी में काफी संख्या में आधार कार्ड बहते नजर आए। इसे देख स्थानीय लोगों ने गुरुवार को डाकघर में तैनात कर्मचारियों से इनके बारे में पूछताछ की तो उन्होंने किसी भी जानकारी से इन्कार कर दिया।
वहीं लोगों के अनुसार मोहल्ला मुबारकनगर स्थित डाकघर के सामने कई माह से कूड़े का ढेर लगा हुआ था। इसे न तो नगर पंचायत की ओर से हटवाया जा रहा था, और न ही सामने स्थित डाकघर के जिम्मेदार ही हटवा रहे थे। इसी कूड़े के ढेर में आधार कार्ड भी दबे थे। बुधवार को हुई तेज बारिश से कूड़े पर जमा मिट्टी बह गई और आधार कार्ड पानी में उतराने लगे।
इस दौरान लोगों में चर्चा रही की पूर्व में डाकघर के माध्यम से आधार कार्ड का वितरण कराया जा रहा था, तब कर्मचारियों ने इसका वितरण न कर उसे कूड़े में फेंक दिया था। जब लोग अपना आधार कार्ड लेने डाकघर पहुंचते थे तो उन्हें बहाने बनाकर लौटा दिया जाता था।
वहीं इस संबंध में पोस्टमास्टर डाकघर इकौना संतोषी लाल यादव ने बताया कि पानी में बहते हुए आधार कार्ड हमारे डाकघर के नहीं है। यह पानी में कैसे पहुंचें हमें इसकी जानकारी नहीं है। उधर इस संबंध में एडीएम योगानंद पांडेय ने बताया कि पानी में आधार कार्ड कहा से आए अथवा कैसे फेंके गए, इसकी जांच कराई जाएगी। जो भी दोषी हुआ उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

रिमझिम बरसात से सराबोर हुई तराई, फसलों को हुआ फायदा

श्रावस्ती। तराई में बुधवार भोर से शुरू हुई बारिश पूरे दिन जारी रही। इससे जहां धान को फायदा पहुंचा, वहीं अन्य फसलों के लिए भी यह बरसात वरदान साबित हुई। इससे किसानों के चेहरे खिल उठे। वहीं बरसात के कारण जगह जगह जल भराव की स्थिति हो गई।
असिंचित तराई क्षेत्र के किसानों के लिए बुधवार भोर शुरू हुई रिमझिम बरसात किसी वरदान से कम नहीं रही। सुबह शुरू हुई रिमझिम बरसात पूरे दिन रुक रुक कर जारी रही। इससे तराई क्षेत्र में पानी के अभाव में बर्बाद हो रही धान सहित अन्य फसलों को काफी फायदा मिला।
जिन किसानों ने विगत दिनों हुई बरसात के बाद धान के खेतों में यूरिया डाली थी, उनके लिए यह संजीवनी साबित हो रही है। वहीं बरसात के अभाव में सूख रही अन्य फसलों को भी जीवनदान मिला। इससे खेतों की नमी लौट आई। इसका फायदा किसानों को रबी के मौसम में भी मिलेगा। किसान अब आसानी से तिलहनी फसल की बोआई कर सकेंगे।
उमस भरी गर्मी से मिली राहत
जिले में पड़ रही भीषण उमस भरी गर्मी से जन जीवन अस्त व्यस्त था। ऐसे में रुक रुक हो रही रिमझिम बरसात के कारण मौसम का मिजाज पूरी तरह सुहावना हो गया। इससे जहां लोगों को भीषण उमस भरी गर्मी से राहत मिली, वहीं अब लोगों में मौसम का मिजाज नर्म होने की उम्मीद भी बढ़ी है।
जलभराव व कीचड़ से परेशानी
जिले में रुक रुक कर हो रही रिमझिम बरसात से भिनगा व इकौना नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में कीचड़ व जलभराव की समस्या हो गई है। इस बरसात के कारण भिनगा में खलवा बाजार, व्यास भवन, शंकरी सिंह चौराहा, खैरी मोड़, दहाना बस स्टैंड सहित कई अन्य स्थानों पर लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।
अघोषित बिजली कटौती से बेहाल रहे लोग
जिले में हो रही रिमझिम बरसात के कारण पूरे दिन बिजली की आवाजाही जारी रही। वहीं जंगल के मध्य से होकर विद्युत लाइन गुजरने के कारण विद्युत उपकेंद्र भिनगा के मछरिहिवा फीडर की आपूर्ति पूरे दिन बाधित रही। यही हाल जिले के अन्य क्षेत्रों का भी रहा। जहां बिजली की आवाजाही का खेल पूरे दिन चलता रहा।
... और पढ़ें

प्रेरणा एप के विरोध में शिक्षकों ने किया धरना प्रदर्शन

श्रावस्ती। प्रेरणा एप के विरोध में बुधवार को उप्र प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला इकाई के शिक्षकों ने भिनगा में प्रदर्शन किया। इस दौरान शिक्षकों ने जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भिनगा विधायक को सौंपा। शिक्षकों ने अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी भी की।
प्रदर्शन के दौरान उप्र प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष जय प्रकाश मिश्र ने कहा है कि बेसिक शिक्षा विभाग के सभी शिक्षक व शिक्षिकाओं का स्थानांतरण उनके आवास से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित विद्यालय में किया जाए। राज्य कर्मचारियों की भांति शिक्षक शिक्षिकाओं को भी सभी सुविधाएं प्रदान की जाए।
जिससे शिक्षकों व कर्मचारियों के बीच की असमानता को खत्म किया जा सके। जिला संगठन मंत्री संदीप कुमार मिश्र ने कहा कि विद्यालय में शिक्षकों की तैनाती आरटीई एक्ट 2009 के क्रम में की जाए। विद्यालयों को भौतिक संसाधनों से दुरुस्त किया जाए। प्ररेणा एप शिक्षकों के आत्म सम्मान पर कुठाराघात है।
इसको शिक्षक समाज में स्वीकार नहीं किया जा सकता है। शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य से मुक्त किया जाए। जिला संयुक्त मंत्री आशुतोष कुमार ने कहा कि पुरानी पेंशन योजना से शिक्षक व शिक्षिकाओं को आच्छादित किया जाए। शिक्षकों की अनगिनत समस्याएं होने के बाद भी सरकार उनका निपटारा करने के बजाय शिक्षकों को बदनाम करने की नियति से प्रेरणा एप लागू कर रही है।
इससे सरकार की शिक्षक विरोधी नीति उजागर हो रही है। इस मौके पर शिक्षकों ने मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन भिनगा विधायक मोहम्मद असलम राईनी को सौंपा। धरना प्रदर्शन के दौरान आत्माराम वर्मा, संतोष पाठक, इंद्रमणि श्रीवास्तव, अजीमुद्दीन, संतोष सोनी, लक्ष्मी शरण वर्मा, सीताराम, महादेव प्रसाद सहित काफी संख्या में परिषदीय शिक्षक मौजूद रहे।
... और पढ़ें

हस्ताक्षर बनाकर गायब प्रभारी प्रधानाध्यापक से जवाब तलब

श्रावस्ती। हरिहरपुररानी क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय खाले ककरा का शनिवार को सीडीओ ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उपस्थित पंजिका पर हस्ताक्षर बनाकर प्रभारी प्रधानाध्यापक नदारद मिले। इस पर उनसे स्पष्टीकरण तलब किया गया है। वहीं उच्च प्राथमिक विद्यालय केवटनपुरवा में गंदगी मिलने पर शिक्षक को फटकार लगाई।
मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय ने शनिवार को प्राथमिक विद्यालय खाले ककरा का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने उपस्थिति पंजिका का निरीक्षण किया गया। विद्यालय में प्रभारी प्रधानाध्यापक राम मिलन, सहायक अध्यापक बृजेश पाल तथा शिक्षामित्र जगतराम वर्मा की तैनाती मिली। इसमें प्रभारी प्रधानाध्यापक हस्ताक्षर बनाकर नदारद मिले। इस पर सीडीओ ने प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण तलब किया है।
वहीं छात्र उपस्थित पंजिका का निरीक्षण करने पर पता चला कि कक्षा 01 में 32 के सापेक्ष 12, दो में 66 के सापेक्ष सात, तीन में 32 के सापेक्ष 14, चार में 17 के सापेक्ष नौ तथा कक्षा 05 में 16 के सापेक्ष 09 बच्चे ही उपस्थित हैं। ज्यादातर बच्चे यूनीफार्म में विद्यालय नहीं आये थे। इस सहायक अध्यापक को फटकार लगाते हुए बच्चों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया।
यहां सीडीओ को मध्याह्न भोजन का सैंपल भी नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने उच्च प्राथमिक विद्यालय केवटनपुरवा का निरीक्षण किया। यहां पंजीकृत 104 के सापेक्ष 61 बच्चे ही उपस्थित मिले।
विद्यालय में लाइब्रेरी का पैसा होने के बावजूद अभी तक पुस्तकें नहीं खरीदी गई थी। इस पर नाराजगी जताते हुए प्रधानाध्यापक को एक सप्ताह में पुस्तकें खरीदने का निर्देश दिया। विद्यालय परिसर व शौचालय गंदा देख प्रभारी प्रधानाध्यापक को ग्राम प्रधान से सामंजस्य बनाकर सफाई व्यवस्था ठीक कराने को कहा। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडे मौजूद रहे।
... और पढ़ें

विद्यालय व घरों के ऊपर से गुजरी विद्युत लाइन

जमुनहा (श्रावस्ती)। पावर कॉर्पोरेशन की लापरवाही लोगों की जान पर भारी पड़ सकती है। कॉर्पोरेशन की ओर से विद्यालय तो कहीं घरों के ऊपर से विद्युत लाइन गुजार दी गई है। गड़रियनपुरवा गांव में एक व्यक्ति के घर से सटा कर ट्रांसफार्मर लगा दिया गया। इसकी लगातार शिकायतों के बाद भी विभागीय अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
मल्हीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम फत्तेहपुर बनगई के मजरा गड़रियनपुरवा में पावर कॉर्पोरेशन के कर्मचारियों ने सुकई पाल के घर की दीवार के पास ट्रांसफार्मर लगा दिया है। इतना ही नहीं इसी गांव में हाईटेंशन व एलटी लाईन कई लोगों के घरों की छतों से होकर गुजरी है।
ऐसा ही हाल थाना क्षेत्र के ग्राम परसोहना के मजरा मनकौरा में भी देखा जा सकता है। जहां प्राथमिक विद्यालय के ऊपर से हाई टेंशन लाइन गुजरी है। विद्यालय परिसर में ही ट्रांसफार्मर भी लगाया गया है। यह मात्र बानगी भर है।
यही हाल क्षेत्र के कई अन्य गांवों का भी है। जहां हाईटेंशन व एचटी लाइन कहीं विद्यालय की छत तो कहीं लोगों के घर के ऊपर से गुजरी है। इसे हटाने के लिए स्थानीय ग्रामीणों ने कई बार विभागीय अधिकारियों से शिकायत की पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।
वहीं इस संबंध में अधिशासी अभियंता पावर कॉर्पोरेशन रमाशंकर मौर्य ने बताया कि इसकी जांच कराई जाएगी। यदि कहीं भी विद्युत लाइन अथवा ट्रांसफार्मर विद्यालय अथवा लोगों के घरों आसपास स्थित है तो उसे हटवाया जाएगा।
... और पढ़ें

बौद्ध अनुयायियों ने तपोस्थली में की विशेष पूजा

कटरा (श्रावस्ती)। बौद्ध तपोस्थली श्रावस्ती शनिवार को अनुयायियों से गुलजार रही। श्रीलंका व वियतनाम से आए अनुयायियों ने श्रद्धालोक महाथेरो के नेतृत्व में गंध कुटि पर विशेष वर्षावास पूजा की। इस दौरान अनुयायियों को बुद्ध के जीवन चरित्र के बारे में जानकारी दी गई। बौद्ध अनुयायियों ने तपोस्थली में पूजा कर विश्व शांति की कामना की।
विशेष वर्षावास पूजा के दौरान भिक्षु श्रद्धालोक महाथेरो ने कहा कि 35 वर्ष की आयु में वैशाखी पूर्णिमा के दिन सिद्धार्थ पीपल वृक्ष के नीचे ध्यानस्थ थे। बुद्ध ने बोधगया में निरंजना नदी के तट पर कठोर तपस्या की। इस दौरान उन्होंने सुजाता नामक महिला के हाथों खीर खाकर उपवास तोड़ा।
मान्यता है कि समीपवर्ती गांव की एक स्त्री सुजाता को पुत्र हुआ। वह बेटे के लिए पीपल वृक्ष से मन्नत पूरी करने के लिए सोने के थाल में गाय के दूध की खीर लेकर पहुंची। सिद्धार्थ वहां बैठ कर ध्यान कर रहे थे। सुजाता को लगा कि वृक्षदेवता ही मानो पूजा लेने के लिए शरीर धरकर बैठे हैं।
सुजाता ने बड़े आदर से सिद्धार्थ को खीर भेंट की और कहा कि जैसे मेरी मनोकामना पूरी हुई, उसी तरह आपकी भी हो’ उसी रात को ध्यान लगाने पर सिद्धार्थ की साधना सफल हुई। उन्हें सच्चा बोध हुआ और तभी से सिद्धार्थ बुद्ध कहलाए। जिस पीपल वृक्ष के नीचे सिद्धार्थ को बोध मिला वह बोधिवृक्ष कहलाया।
चार सप्ताह तक बोधिवृक्ष के नीचे रहकर धर्म के स्वरूप का चिंतन करने के बाद बुद्ध धर्म का उपदेश करने निकल पड़े। आषाढ़ की पूर्णिमा को वह काशी के पास मृगदाव (वर्तमान में सारनाथ) पहुंचे। वहीं पर उन्होंने सर्वप्रथम धर्मोपदेश दिया। इस मौके पर धम्म सागर, सुख सागर, नाग सागर, नाग ज्योति, माता विद्यावती आदि मौजूद रही।
... और पढ़ें

मरीजों की सुरक्षा व कर्तव्य पालन की ली शपथ

श्रावस्ती। जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर शनिवार को विश्व मरीज सुरक्षा दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान मरीजों की सुरक्षा, उनके अधिकारों के प्रति सजग रहने और चिकित्सकों के कर्तव्यों का पालन करने को लेकर सभी सरकारी चिकित्सकों व पैरा मेडिकल स्टाफ ने शपथ ली। साथ ही मरीजों व उनके तीमारदारों से उचित व्यवहार करने का संकल्प भी लिया।
सीएमओ कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वीके सिंह ने कहा कि जिले के सभी सीएचसी व पीएचसी पर विश्व मरीज सुरक्षा दिवस को सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है। इस दौरान स्वास्थ्य केन्द्रों पर तैनात अधीक्षकों की ओर से सभी चिकित्सकों व पैरा मेडिकल स्टाफ को मरीजों की सुरक्षा और उनके हितों का ध्यान रखने की शपथ दिलाई जा रही है।
स्वास्थ्य कर्मचारियों को मरीज व उनके परिवारीजनों को उपचार और तरीकों की पूरी जानकारी देने, इलाज के दौरान सावधानी बरतने, विशेष जांच आदि से पहले मरीज व परिजनों से सहमति लेने, सही समय पर दवा देने, मरीज का प्रतिदिन बेड टू बेड हैंडओवर लेने, मरीज की भर्ती व डिस्चार्ज प्रक्रिया नियमानुसार करने, मरीज को दी गई दवाओं का नियमानुसार ऑडिट करने व उनके परिणाम में सुधारात्मक व निवारक कार्यवाही करने की शपथ दिलाई गई।
इस दौरान इकौना में डॉ. एके मिश्रा, भिनगा में डॉ. विनय वर्मा, गिलौला में डॉ. रोहित, मल्हीपुर में डॉ. एसबी सिंह, भंगहा में डॉ. प्रवीण कुमार, सिरसिया में डॉ. सूर्य कुमार सिंह, सीडीएच में डॉ. विजय कुमार ने सभी पैरामेडिकल स्टाफ के साथ मरीज की सुरक्षा, अधिकार और अपने कर्तव्य पालन की शपथ ली।
... और पढ़ें

बीडीओ ने शिक्षकों का किया अपमान

सीएचसी भंगहा में सुरक्षा, अधिकार और कर्तव्यों की शपथ लेते पैरामेडिकल स्टाफ(
श्रावस्ती। बीआरसी जमुनहा में शनिवार को शिक्षकों के प्रशिक्षण के दौरान पहुंचे खंड विकास अधिकारी के बोल बिगड़ गए। बीडीओ ने विद्यालय के समय में प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने पर सवाल उठाते हुए अध्यापकों को अपशब्द कहे।
उन्होंने शिक्षकों से कहा कि जो सीखना था वो सीख चुके हो अब कुछ नहीं सीख पाओगे। इस पर शिक्षक भड़क उठे और मल्हीपुर पहुंचकर बीडीओ ऑफिस का घेराव कर प्रदर्शन किया। इसकी जानकारी होने पर मौके पर पहुंचे बीडीओ ने शिक्षकों से अपने शब्दों के लिए माफी मांगी, लेकिन इस दौरान भी उन्होंने अध्यापकों की कई कमियों को गिना दिया।
जमुनहा के बीआरसी भवन में शनिवार को शिक्षकों का दो दिवसीय प्रशिक्षण चल रहा था। इस दौरान शिक्षकों को शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए सपोर्टिव सुपरविजन कार्यक्रम की जानकारी दी जा रही थी।
इसी बीच निरीक्षण के लिए बीआरसी पहुंचे बीडीओ जमुनहा जितेंद्र कुमार दूबे अचानक शिक्षकों के प्रशिक्षण कक्ष में पहुंच गए। उन्होंने विद्यालय समय में प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने पर नाराजगी जताई। शिक्षकों से कहा कि आप लोग विद्यालय समय में प्रशिक्षण कर रहे हो, यह गलत है। जो सीखना था वो सीख चुके हो अब कुछ सीख नहीं पाओगे। इसके बाद उन्होंने शिक्षकों को अपशब्द कहा।
बीडीओ के यह बोलते ही प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे शिक्षक भड़क उठे। इसके बाद शिक्षकों ने मल्हीपुर पहुंचकर बीडीओ ऑफिस का घेराव किया। इसकी जानकारी पर बीडीओ ने शिक्षकों से अपने शब्दों के लिए माफी मांग ली, लेकिन इस दौरान भी उन्होंने शिक्षकों की कई कमियां गिनाईं। बीडीओ की ओर से माफी मांगे जाने पर शिक्षकों ने घेराव समाप्त कर दिया।
... और पढ़ें

खंड विकास अधिकारी ने अध्यापकों को बोला गधा, भड़के शिक्षकों ने किया घेराव, मांगनी पड़ी माफी

श्रावस्ती जिले में बीआरसी भवन जमुनहा में 20 से 21 सितम्बर तक गुणवत्ता के लिए सपोर्टिव सुपरविजन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। शनिवार को खंड विकास अधिकारी जमुनहा जितेंद्र कुमार दूबे प्रशिक्षण कक्ष में पहुंचे और कहा कि आप लोग विद्यालय समय में प्रशिक्षण कर रहे हो, यह गलत है। जो सीखना था वो सीख चुके हो, अब कुछ सीख नहीं पाओगे क्योंकि तुम सब गधे हो।

खंड विकास अधिकारी के इतना कहने पर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे शिक्षक/ शिक्षिकाएं भड़क उठे। इसके बाद शिक्षकों ने मल्हीपुर पहुंकर खंड विकास अधिकारी के दफतर का घेराव कर लिया। इसके बाद खंड विकास अधिकारी को सबके सामने आकर माफी मांगनी पड़ी।
... और पढ़ें

500 बच्चों ने कैनवास पर उतारा स्वदेशी आंदोलन

श्रावस्ती। स्वदेशी आंदोलन को तेज करने के लिए अमर उजाला व खादी ग्रामोद्योग बोर्ड ने शुक्रवार को स्वदेशी चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया। इसके तहत जिले के नौ विद्यालयों में 500 बच्चों ने प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया।
इस दौरान बच्चों ने कैनवास पर पेंसिल व रंगों के माध्यम से गांधी जी के स्वदेशी आंदोलन की झलक लोगों को दिखाई। प्रतियोगिता में जिले के एमएसपी इंटर कॉलेज तुलसीपुर, चौधरी राम बिहारी बुद्ध इंटर कॉलेज कटरा, जेतवन इंटर कालेज कटरा इकौना, किसान इंटर कॉलेज गिलौला, कृष्ण लली सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, सत्या द आर्यन पब्लिक स्कूल इकौना, आदर्श इंटर कॉलेज जमुनहा, श्रावस्ती पब्लिक स्कूल भिनगा व जनता इंटर कॉलेज पटना खरगौरा के बच्चों ने अपनी प्रतिभा दिखाई।
जेतवन इंटर कालेज में पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रतिभाग करते छात्र।
जेतवन इंटर कालेज में पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रतिभाग करते छात्र।- फोटो : SRAWASTI
... और पढ़ें

889 आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों का अन्नप्राशन

श्रावस्ती। कुपोषण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए पोषण माह का आयोजन किया गया है। इसके तहत शुक्रवार को जिले के 889 आंगनबाड़ी केंद्रों पर छह माह तक के बच्चों का अन्नप्राशन कराया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ डीपीओ ने आंगनबाड़ी केंद्र तुलसीपुर में बच्चे को खीर खिला कर किया।
जिले में कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों की संख्या अधिक है। इस कुपोषण को दूर करने के लिए जिले में पोषण माह चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत शुक्रवार को बाल सुपोषण उत्सव मनाते हुए जिले के सभी 889 केंद्रों पर अन्नप्राशन का आयोजन किया गया।
इसका शुभारंभ जिला कार्यक्रम अधिकारी आशा सिंह ने आंगनबाड़ी केंद्र तुलसीपुर में छह माह के ऋतिक को खीर खिला कर किया। इस दौरान रौनक, अंशिका, चंादनी, सोनी, लखन को भी छह माह पूरे होने पर खीर खिलाकर उन्हें आहार देने की बात कही।
इस दौरान आशा सिंह ने कहा कि जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर अन्नप्राशन दिवस मनाया जा रहा है। इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं के बीच टीएचआर का भी वितरण किया गया। इस दौरान उन्होंने अन्य धात्री माताओं को पूरक पोषाहार के विषय में व साफ सफाई के बारे में जानकारी दी। साथ ही माताओं को उबली हुई सब्जी, दलिया एवं अन्य पूरक आहार देने को कहा गया।
बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए 6 माह तक का सिर्फ स्तनपान व इसके बाद स्तनपान के साथ पूरक पोषाहार देने की बात कही। 6 से 8 माह के बच्चों को दिन में दो से तीन बार, 9 से 11 माह के बच्चों को तीन से चार बार पूरक आहार के साथ 12 माह से 2 साल तक के बच्चों को घर में पके भोजन देने की बात कही। इस दौरान काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।
... और पढ़ें

छोटे कारीगरों को नहीं छोड़ना पड़ेगा शहर

श्रावस्ती। उद्यम समागम व एक जिला एक उत्पाद की दो दिवसीय प्रदर्शनी का आयोजन शुक्रवार को किया गया। तथागत हाल में आयोजित इस समागम का शुभारंभ श्रावस्ती विधायक राम फेरन पांडेय ने किया। इस दौरान थारु समुदाय के लोगों ने अपने उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई।
समागम का शुभारंभ करते हुए विधायक ने कहा कि एक जिला एक उत्पाद से छोटे कारीगरों की आय में वृद्धि होगी। इन कारीगरों को रोजगार और अधिक पैसों के लिए अपने घर को छोड़ कर शहर की ओर पलायन नहीं करना होगा। ओडीओपी योजना से पलायन में कमी आ रही है। यह एक पायलट प्रोजेक्ट है।
उत्तर प्रदेश राज्य में सफल होने के बाद इसे राष्ट्रीय स्तर पर भी लांच किया जायेगा। इससे भारत को एक सूत्र में पिरोया जा सकता है। केरल के एक छोटे से जिले का उत्पाद श्रावस्ती में मिल सकेगा। श्रावस्ती के एक गांव का उत्पाद केरल के बड़े बाजार में मिल सकेगा।
इस अवसर पर उपायुक्त उद्योग जेएन यादव ने कहा कि भारत देश अनेकता में एकता रखता है। यहां कला की कमी नहीं है, हर प्रदेश अपने कुछ विशेष चीजों के लिए प्रसिद्ध है। उत्तर प्रदेश में भी छोटे लघु उद्योग है। जहां से वह विशेष वस्तु बनाकर देश विदेश में बेंच सकते है।
प्रदेश में कांच का सामान, लखनवी कढ़ाई से युक्त कपडे़, विशेष चावल बहुत प्रसिद्ध हैं। ऐसे सभी आइटम छोटे से गांव के छोटे-छोटे कलाकार बनाते है। जो साधनों की कमी के बावजूद अपनी कला को दुनिया में बिखरते है। समय के साथ इन छोटे कलाकार का अस्तित्व भी घूम होता जा रहा है।
इन छोटे लघु उद्योग की जगह बड़े बड़े कारखानों ने ली है। जहां हाथ के बजाय मशीन से काम होता है। हाथ के कारीगर को उनका वह दाम नहीं मिलता, जितना उनको मिलना चाहिए। एक जिला एक उत्पाद ऐसे ही खोये हुए कलाकार को रोजगार देगा।
प्रदेश में जो भी जिला जिस विशेष सामान के लिए जाना जाता है, वहां के लघु उद्योग को सरकार पैसा देगी और लोगों को आगे बढ़ाएगी। अपना जिला थारु क्राफ्ट के लिये चुना गया है। इस दौरान विधायक ने प्रदर्शनी में लगे बाल विकास एवं पुष्टाहार, मत्स्य विभाग, कौशल विकास, रेशम पालन, डूडा, कृषि विभाग, आपदा से बचाव हेतु, आईटीआई, बैंक के स्टाल का निरीक्षण किया।
... और पढ़ें

युवाओं को बेहतर बनाना स्काउटिंग का उद्देश्य

कटरा (श्रावस्ती)। चौधरी राम बिहारी बुद्ध इंटर कॉलेज श्रावस्ती में शुक्रवार से स्काउट गाइड का प्रथम, द्वितीय व तृतीय सोपान का प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ। इसकी अध्यक्षता विद्यालय के प्रधानाचार्य ने की। इस दौरान स्काउट व गाइड को उद्देश्य व व्यक्तित्व के बारे में जानकारी दी गई।
प्रशिक्षण के दौरान प्रधानाचार्य मुन्ना लाल यादव ने कहा कि अच्छा व्यक्ति बनने के लिये स्काउटिंग आवाहन कर रहा है कि ‘आओ हमारे घेरे में आओ’। हम आपको अच्छा व्यक्ति बनाना चाहते हैं। इसके लिए आपको सतत प्रयत्न करना होगा। जो इंद्र धनुष देखना चाहते हैं उन्हें वर्षा जनित असुविधाओं से भी रूबरू होना पडे़गा। स्काउटिंग उद्देश्य है, युवाओं को बेहतर बनाना ताकि वह अपनी क्षमताओं का बेहतर उपयोग कर सकें।
स्काउट प्रशिक्षक राजेश कुमार यादव ने बताया कि स्काउटिंग व्यक्ति में छिपे गुणों को उभारना जानती है। युवाओं के व्यक्तित्व में छिपे गुणों को विकसित करने के बहु आयामी कार्यक्रम स्काउटिंग के पास है। हर व्यक्ति में आगे बढ़ने और प्रतिस्पर्धा करने के गुण होते हैं। जरूरत है उन्हें तराश कर धारदार और सार्थक बनाने की। जो युवा पीढ़ी में मानवीय गुणधर्मिता को विकसित करने के साथ सुव्यवस्थित कैरियर विकसित करने की क्षमता रखता है।
स्काउटिंग सदैव ही व्यक्ति में सकारात्मक सोच विकसित करने में सक्षम है। तकनीकी प्रशिक्षण तो मात्र 15 प्रतिशत ही सफलता की भागीदारी प्रदान करता है। 85 प्रतिशत सफलता तो सुलझे हुए व्यक्तित्व के कारण ही मिलती है। इस मौके पर एसबी शुक्ला, कौशल यादव, श्वेता सिंह यादव, पंकज द्विवेदी सहित काफी संख्या में स्काउट व गाइड मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree