विज्ञापन

संभल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बाइक सवार बदमाशों ने तमंचे के बल पर बुलेट बाइक लूटी, पुलिस को दी तहरीर

संभल। असमोली थाना क्षेत्र के गांव अकबरपुर गहरा के नजदीक बाइक सवार बदमाशों ने तमंचे के बल पर बुलेट बाइक लूट ली और मारपीट कर भाग गए। पीड़ित ने इसकी जानकारी परिजनों को दी। लूटपाट की जानकारी होने पर परिजन आ गए। उन्होंने पुलिस को कार्रवाई के लिए तहरीर दी है। पुलिस मामले में जांच पड़ताल करने की बात कह रही है।
शनिवार की रात करीब साढ़े नौ बजे असमोली थाना क्षेत्र के गांव अकबरपुर गहरा के नजदीक थाना क्षेत्र के गांव दबोई खुर्द निवासी महफूज पुत्र मकसूद से स्पेलेंडर बाइक पर सवार होकर आए दो बदमाशों ने बाइक लूट ली। युवक ने विरोध किया तो बदमाशों ने तमंचे की बट्ट से पीटा। जिसमें वह घायल हुआ है।
घटना उस समय हुई जब पीड़ित युवक हयात नगर थाना क्षेत्र के सरायतरीन स्थित सिलाई कारखाने से काम कर घर लौट रहा था। जैसे ही संभल-जोया मार्ग स्थित गांव अकबरपुर गहरा के नजदीक पहुंचा तो पीछे से स्पेलेंडर बाइक सवार दो युवक आए।
उन्होंने मनोटा पुल की दूरी पूछी। जिसके जवाब में उन्हें दो किलोमीटर दूरी बता दी। इसी बात कोे लेकर वह गुस्सा हो गए। उन्होंने अपनी बाइक लगाकर रोक लिया और तमंचा निकाल कर बाइक देने के लिए कहा।
विरोध किया तो तमंचे की बट्ट से पिटाई की। जिसमें वह घायल हो गया। आरोपी बाइक लूटकर संभल की ओर भाग गए। पीड़ित युवक ने बताया कि जो बाइक लूटी है वइ उसकी नहीं है। जिस कारखाने में सिलाई का काम करता है। उसके मालिक की बाइक है। पीड़ित ने पुलिस को तहरीर दे कार्रवाई की मांग की है। पुलिस मामले में जांच पड़ताल करने की बात कह रही है।
... और पढ़ें

प्रसूता ने प्रसव के बाद दम तोड़ा,परिजनों ने किया हंगामा

चंदौसी। कोतवाली के मुंसिफ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में महिला की प्रसव के बाद हालत बिगड़ गई। हालत बिगड़ने पर चिकित्सक ने महिला को मुरादाबाद रेफर कर दिया। जहां महिला ने शनिवार की सुबह उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। परिजनों ने कोतवाली में जाकर हंगामा किया। महिला के ससुर ने आरोपी चिकित्सक दंपति के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी है। पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम को भेजा है।
कोतवाली के मोहल्ला डहरिया निवासी संजय कुमार वाल्मीकि की पत्नी रूबी (30) नौ माह की गर्भवती थी। 19 जून को रात आठ बजे उसे प्रसव पीड़ा हुई तो परिजन ने उसे मुंसिफ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया। 20 जून को रूबी की तबियत बिगड़ी तो पति संजय ने चिकित्सक से कहा कि अगर हालत सही नहीं हो पा रही है तो वह उसे बाहर ले जाए। चिकित्सक ने बड़े आपरेशन की बात कहते हुए आपरेशन फीस जमा करा ली। इसके बाद चिकित्सक ने आपरेशन कर दिया। आपरेशन के बाद रूबी को बेटा हुआ। संजय का आरोप है कि आपरेशन के दौरान चिकित्सक दंपति ने उपचार में लापरवाही बरती। इसलिए रूबी की हालत और अधिक बिगड़ गई। आरोप है कि संजय ने इस बारे में चिकित्सक को बताया लेकिन वह टालमटोल करते रहे। 21 जून रात 11.30 चिकित्सक दंपति ने हाथ खड़े कर दिए और बाहर ले जाने को कहा। इसके बाद परिजन रूबी को गंभीर हालत में मुरादाबाद के टीएमयू अस्पताल में ले गए। जहां 22 जून की सुबह रूबी ने उपचार के बाद दम तोड़ दिया। इससे परिजनों में कोहराम मच गया। परिजन उसके शव को यहां कोतवाली लेकर आए और काफी संख्या में वाल्मीकि समाज के लोग इकट्ठे होकर हंगामा करने लगे। प्रभारी निरीक्षक के समझाने पर शांत हुए। महिला के ससुर महेंद्र पाल वाल्मीकि ने चिकित्सक दंपति के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी है। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम को भेजा है। प्रभारी निरीक्षक ऋषिराम कठेरिया ने बताया कि शव पोस्टमार्टम को भेजा है। रिपोर्ट आने पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

फोटो-
... और पढ़ें

पिता ने बनाया नाबालिग बेटी को हवस का शिकार, परिजनों ने पीटा, मौत

संभल। नखासा थाना क्षेत्र के एक गांव में रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना हुई है। सौतेले पिता ने नाबालिग बेटी के साथ कई बार दुष्कर्म किया। पकड़े जाने पर गुरुवार की रात परिजनों ने सौतेले पिता की जमकर पिटाई की। इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के मामले में आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर चुकी है। घटना के बाद से गांव में हड़कंप मचा हुआ है।
गुरुवार की रात 12 बजे करीब नखासा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी सौतेले पिता ने 14 वर्षीय बेटी के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया। इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो वे विरोध पर उतर आए। आरोपी को पकड़ा और जमकर पीटा फिर चारपाई से हाथ पैर बांध दिए। ताकि आरोपी भागने न पाए। इसकी सूचना शुक्रवार की सुबह आरोपी के परिजनों ने पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची। आरोपी व्यक्ति को पहले जिला अस्पताल लाया गया। हालत गंभीर होने पर उसे मुरादाबाद रेफर कर दिया गया। जहां उपचार के दौरान शुक्रवार की दोपहर उसकी मौत हो गई।
पुलिस ने अब तक जो छानबीन की है उसके मुताबिक मालूम हुआ आरोपी व्यक्ति एक महीने में अपनी किशोर उम्र की अपनी सौतेली बेटी के साथ कई बार दुष्कर्म कर चुका था। पत्नी ने बताया कि एक महीने पहले वह कहीं गई थी। इस दौरान घर में उसकी बेटी अकेली रह गई थी। इसी का फायदा उठाते हुए किशोरी के साथ आरोपी पिता ने दुष्कर्म किया। जब शाम को वह लौटी तो बेटी ने घटना की जानकारी दी।
जब विरोध किया तो आरोपी ने सभी को मारने की बात कही। जिसके बाद वह खामोश हो गई। लेकिन इसके बाद भी कई बार दुष्कर्म किया गया। इसकी शिकायत उसने आरोपी के भाइयों से की थी। गुरुवार की रात फिर से आरोपी ने दुष्कर्म करने का प्रयास किया। उसकी बेटी ने शोर मचाया, जिसे सुनकर आरोपी के भाई आ गए। इसके बाद आरोपी के साथ मारपीट की गई। जिसमें वह घायल हो गया।

पांच वर्ष पहले हुई थी महिला से शादी
संभल। बेटी से दुष्कर्म करने के आरोपी व्यक्ति की इतनी पिटाई की गई कि उसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। महिला ने बताया कि उसका विवाह आरोपी से पांच वर्ष पहले हुआ था। क्योंकि उसके पहले पति की मौत हो गई थी।
पहले पति से तीन बेटी और एक बेटा है। आरोपी ने पांच वर्ष पहले विवाह के दौरान कहा था कि वह सभी बच्चों को सगे पिता की तरह रखेगा। लेकिन कुछ महीने से आरोपी दूसरे नंबर की बेटी पर बुरी नजर रखने लगा। एक महीने पहले दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद कई बार और दुष्कर्म किया। गुरुवार की रात को आरोपी फिर से दुष्कर्म करने का प्रयास कर रहा था।
--------------------
एक व्यक्ति ने सौतेली बेटी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। आक्रोश में आए परिजनों ने उसकी पिटाई की थी। मारपीट में घायल होने के बाद उपचार के लिए आरोपी को मुरादाबाद भेजा गया था। जहां अस्पताल में उपचार के दौरान आरोपी ने दम तोड़ दिया।
जितेंद्र सिंह, कार्यवाहक प्रभारी निरीक्षक थाना नखासा।
... और पढ़ें

संभल: चंदौसी में दुकान में घुसकर तमंचाधारियों ने व्यापारी से पांच लाख लूटे, व्यापारियों में रोष

शहर के गोपाल मोहल्ले में रिफाइंड व सरसों तेल के थोक व्यापारी की दुकान में बुधवार शाम दाखिल हुए तीन बदमाशों ने व्यापारी और उनके पुत्र पर तमंचे तानकर पांच लाख रुपये लूट लिए। सरेशाम वारदात को अंजाम देकर तीनों एक ही बाइक से फरार हो गए। वारदात से बाजार में सनसनी और व्यापारियों में रोष है।

विनायक गार्डन निवासी शोभिग्य अग्रवाल उर्फ विक्की रिफाइंड व सरसों के तेल का थोक व्यापार करते हैं। उनकी दुकान व गोदाम मोहल्ला गोपाल में है। बुधवार की शाम करीब पौने छह बजे वह अपने पुत्र शुभ के साथ दुकान में दिनभर के कलेक्शन के रुपये गिन रहे थे। तभी तीन बदमाश दुकान में दाखिल हुए और तीनों ने पिता-पुत्र पर तमंचे तानकर गोली मारने की धमकी थी। पिता-पुत्र के सहमते ही दो बदमाशों ने दुकान में मौजूद कैश थैले में भरना शुरू कर दिया, जबकि एक पिता-पुत्र पर तमंचा ताने रहा।
... और पढ़ें
घटना के बारे में जानकारी देते संभल एसपी चक्रेश मिश्रा घटना के बारे में जानकारी देते संभल एसपी चक्रेश मिश्रा

संभल: युवक का गोली लगा शव मिला, दावा- चोरी करने के इरादे से आए थे तीन लोग, अपने ही साथी को मारकर भागे

संभल के गांव रामपुर मोहकम में 25 वर्षीय युवक का सीने में गोली लगा शव मिला है। ग्रामीणों का दावा है कि बाइक सवार तीन लोग एक ग्रामीण के घर चोरी का प्रयास कर रहे थे। ग्रामीणों में जाग होने पर शोर मचाया। जिसके बाद बाइक सवार तीनों लोग मौके से भाग गए। कुछ ही दूरी पर जाकर बाइक सवार चोरों ने ही अपने साथी को गोली मार दी और मौके से फरार हो गए।

पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है और शव की शिनाख्त कराने के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं। रजपुरा थाना क्षेत्र के गांव रामपुर मोहकम निवासी मुकेश शर्मा ने पुलिस को तहरीर में बताया है कि देर रात उनके घर में खड़े ट्रैक्टर से बैटरी चोरी करने का प्रयास किया गया। आहट होने पर वे जाग गए जब बाहर पहुंचे तो देखा एक व्यक्ति बाइक पर बैठा है जबकि दो लोग ट्रैक्टर के पास से भागकर बाइक पर बैठ गए।

मुकेश शर्मा का दावा है कि बाइक सवार तीनों लोग जब भागे तो कुछ ही दूर जाकर फायर की आवाज आई जब ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो एक युवक मृत अवस्था में पड़ा था जो आरोपियों का साथी था। मौके पर पहुंची रजपुरा थाने की पुलिस ने जांच पड़ताल की है। इंस्पेक्टर कुलदीप सिंह का कहना है कि फिलहाल अज्ञात के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई है। युवक की शिनाख्त नहीं हो पाई है। शिनाख्त कराने का प्रयास जारी है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।
... और पढ़ें

दर्दनाक अंत: अधेड़ ने प्रेमिका की सीने में गोली मारकर हत्या, बाद में खुद को भी उड़ाया, दोनों की मौत

पति-पत्नी के रूप में रह रहे एक अधेड़ जोड़े की दर्दनाक मौत हुई है। अधेड़ ने पहले अधेड़ प्रेमिका के सीने में गोली मार दी। इसके बाद खुद भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली। आसपास के लोगों ने गोली चलने की आवाज सुनी तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस गेट तोड़कर अंदर घुसी तो अंदर खून ही खून फैला पड़ा था और दोनों लोगों की मौत हो चुकी थी। 

यह दोनों लोग करीब 8 महीने से किराए के मकान में रह रहे थे। सोमवार की सुबह 11 बजे करीब कोतवाली चन्दौसी क्षेत्र के गांव मौलागढ़ में किसी विवाद के चलते अधेड़ व्यक्ति ने पत्नी के रूप में साथ रख रहे प्रेमिका को गोली मारकर हत्या कर दी। साथ ही खुद को भी सीने में गोली मारकर जान दे दी। 

अधेड़ की पहचान गुन्नौर कोतवाली क्षेत्र के गांव चाऊपुर टांडा निवासी वीरपाल (48) पुत्र लालमन के रूप में हुई है। जबकि महिला के पास जो आधार कार्ड मिला है उसमें दिल्ली के अशोक नगर निवासी है विमलेश (45) के रूप में पहचान हुई है। 

मौलागढ़ निवासी सेवानिवृत्त उप निरीक्षक वीरेंद्र सिंह के मकान में यह जोड़ा करीब आठ महीने से रह रहा था। मकान मालिक और आस-पड़ोस के सभी लोग इस जोड़े को पति-पत्नी समझते थे। आस पड़ोस के लोगों ने बताया कि दोनों लोगों में आए दिन किसी न किसी बात को लेकर विवाद होता रहता था। सोमवार की सुबह भी दोनों लोगों में विवाद हुआ था। विवाद होने के कुछ ही देर बाद गोली चलने की आवाज आई। 

वहीं दूसरी ओर पुलिस को मौके से दो तमंचे एक खोखा पड़ा मिला है। इसके अलावा 500-500 के करीब एक लाख रुपये के नोट बिखरे हुए मिले हैं। पुलिस ने सभी सामान सील कर दिया है और दोनों लोगों के परिजनों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे सही जानकारी सामने आ सके। घटना के बाद मौके पर पहुंचे एसपी चक्रेश मिश्र ने बताया कि अब तक जो जानकारी सामने आई है। उसके मुताबिक यह दोनों दो पति पत्नी नहीं थे। परिजनों के आने के बाद ही सही जानकारी सामने आ पाएगी।
... और पढ़ें

पंचायत में दुष्कर्म की सजा एक लाख, पैसे नहीं देने पर पुलिस को तहरीर, समझौता 

महिला के साथ पकड़े गए युवक को गांव की पंचायत ने एक लाख रुपये अदा करने की सजा सुनाई। युवक ने जब पैसे देने से इनकार कर दिया तो महिला के परिजनों ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर पुलिस को तहरीर दे दी। पुलिस की कार्रवाई से पहले ही दोनों पक्षों में समझौता हो गया। पुलिस के मुताबिक दोनों पक्षों ने लिखकर दे दिया है कि वो कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं। हालांकि गांव में चर्चा है कि महिला और युवक के बीच प्रेम संबंध है।  

 हयातनगर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला का पति बाहर गया हुआ है। शनिवार को महिला के ससुर और अन्य परिजन गांव में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने गए थे। महिला का जेठ जब घर आया तो वहां एक युवक दिखाई दिया। वह उसे देखकर भागने लगा। उसने शोर मचाकर युवक को पकड़ लिया। महिला के परिजनों ने युवक की पिटाई भी कर दी। 

इसके बाद गांव में पंचायत बुलाई गई। पंचायत में आरोप लगाया गया कि युवक ने महिला के साथ दुष्कर्म किया है। महिला ने भी आरोप की पुष्टि कर दी। इसके बाद पंचायत ने युवक पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाने की सजा सुनाई। युवक ने इतने रुपये देने में असमर्थता जताई।

इसके बाद महिला के परिजन रविवार की सुबह हयातनगर थाने पहुंच गए और पुलिस को तहरीर दे दी। इसके  बाद गांव की पंचायत फिर से बैठी, जिसमें मामला रफादफा कर दिया गया। हयातनगर थाना इंस्पेक्टर सतेंद्र भड़ाना ने बताया कि दोनों पक्षों में समझौता हो गया है। दोनों पक्ष लिखित में समझौतानामा लिखकर दे गए हैं।
... और पढ़ें

संभल में पड़ोसियों के बीच खूनी संघर्ष में एक की मौत, आठ घायल

rape case
डेढ़ महीने पहले बारिश के दौरान दीवार गिरने से दो पड़ोसियों में शुरू हुए विवाद ने रविवार को खूनी संघर्ष की शक्ल ले ली। दोनों ओर से जुटे लोगों के बीच जमकर लाठी-डंडे व धारदार हथियार चले। संघर्ष के बीच दोनों पक्षों के नौ लोग घायल हो गए। इनमें से एक की उपचार के दौरान मौत हो गई। घटना से गांव में तनाव देख पुलिस तैनात की गई है।

यह मामला रजपुरा थाना क्षेत्र के गांव मेहुआ हसनगंज का है। ग्रामीणों के मुताबिक लगभग डेढ़ महीने पहले बारिश के समय खेमकरन के मकान की दीवार गिर गई थी। खेमकरन ने पड़ोसी जगदीश पर साजिशन दीवार गिराने का आरोप लगाया था। इस बात को लेकर दोनों में काफी कहासुनी हुई थी। आसपास के लोगों के दखल पर तब दोनों शांत हो गए लेकिन मकान की दीवार दोनों के बीच विवाद का कारण बनी रही।

रविवार की सुबह फिर दोनों के बीच इस बात पर कहासुनी शुरू हो गई। देखते-देखते दोनों पक्षों के और लोग जुटे और मारपीट के बाद लाठियों और धारदार हथियारों का इस्तेमाल शुरू हो गया। इस संघर्ष में एक पक्ष से जगदीश, राजेश, कुमारी मिथलेश, गंगा देवी घायल हो गए। दूसरे पक्ष से खेमकरन, फूलवती, हरप्यारी, सोनभद्र और नत्थू भी घायल हो गए। उपचार के दौरान जगदीश (56) की मौत हो गई। 

मौत की जानकारी गांव में पहुंचते ही दोनों पक्षों के बीच तनाव और गहराने लगा। सूचना पर गांव में पुलिस तैनात की गई है। रजपुरा थाने के इंस्पेक्टर कुलदीप सिंह ने बताया कि जगदीश का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। तहरीर के आधार पर खेमकरन, सत्यवीर, जसपाल और हरप्यारी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।
... और पढ़ें

छछैरा गांव में नाला निर्माण का विरोध, ग्रामीणों का पुलिस से टकराव और पथराव

संभल। नाला निर्माण को लेकर चल रहे विरोध को खत्म करने पहुंची पुलिस का छछैरा गांव में रविवार की सुबह साढ़े दस बजे ग्रामीणों से टकराव हो गया। हंगामे और अफरातफरी भरे माहौल में पुलिस ने ग्रामीणों को पुलिसिया लहजे में समझाया और डंडा दिखाया तो गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिसकर्मियों को मौके से भागना पड़ा। वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने हवाई फायरिंग कर उन्हें खदेड़ा है। ग्रामीणों ने कहा कि पुलिस ने अभद्रता की है। पुलिस के डंडे से महिलाओं समेत कई ग्रामीणों को चोट लगी है लेकिन वह इसलिए अपनी शिकायत दर्ज कराने नहीं जा रहे हैं कि पुलिस उल्टे उन्हें ही फंसा देगी। गांव के एक युवक ने पुलिस की गोली करीब से छूकर निकलने की बात कही है। दूसरी ओर पुलिस ने फायरिंग से इनकार किया है।
रविवार की सुबह साढ़े दस बजे करीब कोतवाली क्षेत्र के गांव छछैरा में ग्राम प्रधान नाला निर्माण के लिए जेसीबी से खुदाई करा रहे थे। इसी दौरान गांव के कुछ लोगों ने कहा कि अगर नाला खुदा तो बच्चों के कब्रिस्तान की ओर पानी आएगा और अगर कब्रिस्तान पर पानी भर गया तो वे बच्चों को कहां दफनाएंगे। इसीलिए वे खुदाई का काम रुकवाना चाहते हैं। जब उन्होंने खुदाई का विरोध किया तो ग्राम प्रधान ने मौके पर पुलिस बुला ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों से खुदाई कार्य कराने के लिए कहा लेकिन ग्रामीण लगातार विरोध करते रहे। ग्रामीणों से पुलिस की कहासुनी होने लगी।
इसी बात से गुस्साई पुलिस ने ग्रामीणों पर बल प्रयोग किया। उन्हें पुलिसिया धौंस में लेने का प्रयास करते हुए डंडा उठा लिया। पुलिस ने डंडा चलाया तो ग्रामीणों का गुस्सा बढ़ गया। पुलिस के डंडे से एक दो लोगों को चोट लगी। इस पर ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पथराव होने के साथ ही पुलिसकर्मी मौके से भागने लगे। एक पुलिसकर्मी ने एक घर में दुकान में घुसकर खुद को बचाया।
जब कोतवाली से पुलिस बल मौके पर पहुंचा तब वह घर से निकल आए। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने उनकी ओर हवाई फायरिंग किए। वहीं दूसरी ओर पुलिस फायरिंग करने की बात से इनकार कर रही है। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक धर्मपाल सिंह भारी पुलिस बल और दंगा नियंत्रण वाहन को लेकर घटना स्थल पर पहुंचे। वहां से लौटने के बाद उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने हंगामा करते हुए नाले की खुदाई का काम रोका है। इस मामले में ग्राम पंचायत सचिव की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की जा रही है। पुलिस की ओर से अभी कोई मामला दर्ज नहीं किया गया। जो पुलिसकर्मी मौके पर गए थे। उनके बयान लेकर ग्राम पंचायत सचिव की ओर से दर्ज मामले में ही उसे शामिल किया जाएगा। जिन लोगों ने कानून को अपने हाथ में लिया है उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

पहले से था टकराव का अंदेशा
संभल। मनरेगा योजना के तहत तालाब तक नाले को खोदा जाना था। इसमें विरोध का अंदेशा था। इसीलिए ग्राम विकास अधिकारी और पंचायत सचिव भुवनेश सिंह ने खंड विकास अधिकारी को अवगत कराया था। खंड विकास अधिकारी ने प्रभारी निरीक्षक को पत्र भेजा था। प्रभारी निरीक्षक से खंड विकास अधिकारी ने पुलिस बल उपलब्ध कराने के लिए कहा था। प्रभारी निरीक्षक ने टांडा चौकी पुलिस को भेजा था। टांडा के चौकी इंचार्ज अवधेश कुमार का कहना है कि वह मौके पर गए थे। पुलिस ने न तो बल प्रयोग किया और न ही हवाई फायर किया। ग्रामीणों ने पथराव किया था। इस पर ग्राम विकास अधिकारी की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है। वहीं उप जिलाधिकारी दीपेंद्र यादव का कहना है कि उन्हें इस तरह के मामले से अवगत नहीं कराया गया था। अन्यथा की स्थिति में वह व्यापक पुलिस बल को मौके पर भेजते।

गांव के एक हिस्से में जलभराव की समस्या
संभल। ग्राम प्रधान जरीफ अहमद ने कहा कि गांव के एक हिस्से में जल भराव की समस्या है। उसके समाधान के लिए खंड विकास अधिकारी के आदेश से रविवार को नाला खोदा जा रहा था लेकिन कुछ लोगों ने विरोध किया और पथराव कर दिया। इससे काम रुक गया है। जिस वक्त घटना हुई वह गांव में नहीं थे।
... और पढ़ें

उधारी के रुपये नहीं दिए तो बच्चे को अगवा किया

जुनावई/चंदौसी। लगातार तगादा करने पर एक व्यक्ति ने दो पक्ष का एक बालक अगवाकर अपनी रिश्तेदारी में रख लिया। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी तो पुलिस ने बालक को छुड़ा लिया। बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया। जिससे कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया जा सका।
गुन्नौर थाना क्षेत्र के अहरोला नवाजी निवासी एक व्यक्ति व अलीगढ़ क्षेत्र के अभयपुर गांव निवासी व्यक्ति से रुपये के लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा है।अहरौला नवाजी का ग्रामीण लगातार टालमटोल कर रहा है।
अलीगढ़ वाले पक्ष में शुक्रवार को अहरोला नवाजी के ग्रामीण का एक बच्चा उठा लिया। कहा कि उसे तभी छोड़ेगा, जब वह उसके उधार के रुपये दे देगा। ग्रामीण ने बच्चे को अगवा किए जाने की सूचना गुन्नौर पुलिस को दी।
जुनावई चौकी प्रभारी अनोखे लाल गंगवार एवं मणिकावली चौकी तथा वैरपुर चौकी के प्रभारी सुल्तान सिंह पहुंचे। एक घंटे में बच्चे को बरामद कर लिया गया। लेकिन आरोपी भागने में कामयाब हो गया।
गुन्नौर के कोतवाली प्रभारी रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि मामला बच्चे को अगवा करने का नहीं बल्कि उधार के रुपये नहीं देने का था। फिलहाल कोई तहरीर नहीं दी गई है, यदि तहरीर मिलती है तो रिपोर्ट लिखकर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

मालपुर मिलक में सूखे तलाब पर कब्जे का विरोध, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

मढ़न/संभल। योगी सरकार जहां सरकारी जमीन पर सूखे पड़े तालाबों को सफल बनाने का काम कर रही हैं। वहीं असमोली के मालपुर मिलक में भू-माफिया तालाब की जमीन पर कब्जा कराकर सरकार की आंखों में धूल झोंकने का प्रयास कर रहे हैं। खसरा में दर्ज तालाब पर भूमाफियाओं प्लॉटिंग करने का प्रयास कर रहे हैं। ग्रामीणों ने इसके विरोध जमकर हंगामा किया। अब अधिकारियों से मिलकर शिकायत करेंगे।
असमोली थाना क्षेत्र के मालपुर मिलक गांव में आबादी के बाहर सरकारी जमीन पड़ी हुई हैं। ग्रामीणों के मुताबिक लगभग 100 साल से भी ज्यादा सारे गांव का पानी तालाब में जा रहा है। ये भूमि जलमग्न है। भू-माफियाओं ने राजस्व विभाग से सांठगांठ कर श्रेणी में परिवर्तन करा लिया।
इसके बाद तालाब की जमीन पर प्लाटिंग किए जाने का प्रयास है। ग्रामीणों ने बताया कि इस तालाब में गांव के पशु-पक्षी पानी पीते रहे हैं। दो दिन पहले ग्रामीणों को तालाब के बेचने की जानकारी हुई। तो ग्रामीण दंग रह गए। वे इसका विरोध कर रहे हैं। इसे लेकर कई लोगों ने गांव में प्रदर्शन किया है। उन लोगों का घेराव किया जो तालाब पर कब्जा करने आए थे।
... और पढ़ें

आंगन में सो रहे युवक को मारी गई गोली, अलीगढ़ रेफर

रजपुरा। रजपुरा थाना क्षेत्र के गांव चाऊपुर में घर के आंगन में सोते समय युवक को गोली मार दी। इसमें वह गंभीर रूप से घायल हुआ है। जिस समय गोली लगी युवक घर में अकेला था। गुरुवार की सुबह मां घर पहुंची तो उन्होंने युवक को खून से लथपथ देखा। जिसे देखकर होश उड़ गए। आनन-फानन में अस्पताल भर्ती कराया जहां से प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया गया है।
वहीं दूसरी ओर पुलिस इस घटना की तहरीर मिलने का इंकार कर रही है। बुधवार की रात रजपुरा थाना क्षेत्र के गांव चाऊपुर निवासी नेतराम पुत्र करन सिंह को गोली मार दी। इसमें युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना उस समय की है जब घर पर कोई नहीं थी। युवक ने पुलिस को बताया कि उसका गांव के तीन लोगों से विवाद हो गया था। कुछ लोगों ने बीच-बचाव करा दिया था। लेकिन आरोपी पक्ष के तीन लोग रात के समय आए और गोली मार कर भाग गए।
पीड़ित ने बताया की घटना जिस समय हुई घर पर कोई नहीं था। वह सारी रात बेसुध हालत में पड़ा रहा। गुरुवार की सुबह 11 बजे करीब जब युवक की मां प्रेमवती रिश्तेदारी से घर पहुंची तो उनको घटना की जानकारी हुई।
उन्होंने रजपुरा पुलिस और 108 एंबुलेंस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने युवक को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए रजपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद अलीगढ़ के लिए रेफर कर दिया। वहीं थाना प्रभारी निरीक्षक अमित कुमार ने बताया कि घटना की तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

आठ वर्षीय मासूम बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म

संभल/असमोली। असमोली थाना क्षेत्र के एक गांव में मासूम बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है। आरोपी मासूम को हवस का शिकार बनाने के बाद दूसरे गांव में लहूलुहान हालत में छोड़कर भाग गए। ग्रामीणों की नजर मासूम पर पड़ी तो उन्होंने जानकारी की। जिसके बाद मासूम को उसकी नानी के घर तक पहुंचाया जा सका। मासूम की हालत देखकर सभी में हड़कंप मच गया। इसकी जानकारी परिजनों को दी गई। मौके पर पहुंचे परिजन मासूम को थाने लेकर पहुंचे और कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने देर शाम दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली।
बुधवार की शाम करीब तीन बजे आठ वर्षीय मासूम बालिका को खेलते समय दो लोग बाइक पर उठा ले गए। खेत खलिहानों में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। शाम को सात बजे करीब मासूम बालिका दूसरे गांव के नजदीक लहूलुहान हालत में पड़ी मिली। ग्रामीणों ने मासूम को देखा तो उससे पूछताछ की। कुछ ग्रामीणों ने पहचान की और मासूम को उसकी नानी के घर पहुंचा दिया। जबकि मासूम के परिजन अपने गांव में मासूम की तलाश कर रहे थे।
मासूम के मिलने की सूचना हुई तो वह दूसरे गांव पहुंचे। हालत देखकर परिजनों के होश उड़ गए। मासूम ने घटना की जानकारी दी। पीड़ित पिता ने बताया कि उनके घर एक महीने पहले उनके गांव के एक युवक ने मकान में कार्य किया था। बुधवार की शाम तीन बजे करीब आरोपी अपने एक साथी के साथ बाइक पर मासूम को उठाकर ले गया। खेत खलिहानों में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।
पीड़ित पिता ने बताया कि वह 25 जून की शाम को एक रिश्तेदारी में अपनी पत्नी के साथ गया था। घर पर बच्चे अपने दादी के साथ थे। 26 जून को जब घर लौटे तो उनकी बेटी लापता थी। काफी तलाश की लेकिन वह नहीं मिली। शाम को फोन पर सूचना मिली कि दूसरे गांव के नजदीक मासूम बेसुध हालत में पड़ी मिली है। वहीं पुलिस ने दो लोगों में से एक नामजद और एक अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

मासूम का 24 घंटे तक नहीं हो सका मेडिकल, पीड़ित परिवार भटका
संभल। असमोली थाना क्षेत्र के एक गांव में मासूम के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई है। लेकिन पीड़िता बालिका का चौबीस घंटे बाद भी चिकित्सकीय परीक्षण नहीं हो सका है। पीड़ित परिवार मासूम को लेकर पुलिस और अस्पतालों के चक्कर लगाता रहा। पीड़ित पिता ने बताया कि घटना की जानकारी के बाद बुधवार की रात को वह मासूम बेटी के साथ असमोली थाने पहुंचा था।
पुलिस ने चिकित्सकीय परीक्षण कराने के लिए मुरादाबाद भेज दिया। वहां चिकित्सकीय परीक्षण करने से इंकार कर दिया। इसके बाद गुरुवार की सुबह संभल जिला अस्पताल भेजा। वहां काफी देर तक इंतजार किया लेकिन महिला चिकित्सक नहीं मिलीं। दोपहर के समय चंदौसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा। वहां भी चिकित्सकीय परीक्षण नहीं हुआ। पीड़ित ने बताया कि चिकित्सकीय परीक्षण कराने के लिए चक्कर लगा लगा कर थक गया। जबकि मासूम की हालत ठीक नहीं हैं।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00