बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
UP Police (SI) 2021: किन-किन राज्यों के लोग कर सकते हैं यूपी पुलिस में SI के लिए आवेदन, समझिए पूरी बात
Safalta

UP Police (SI) 2021: किन-किन राज्यों के लोग कर सकते हैं यूपी पुलिस में SI के लिए आवेदन, समझिए पूरी बात

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

प्रतापगढ़ में धार्मिक स्थल में घुसकर तोड़फोड़, लाउडस्पीकर बजाने से रोका

मानधाता कस्बे में रविवार की रात बाइक सवार दो शरारती युवकों की करतूत से इलाके में तनाव व्याप्त हो गया। नशे में दुत युवक एक धार्मिक स्थल में घुस गए और तोड़फोड़ करने लगे।  विरोध करने पर लोगों को धमकाते हुए माइक का उपयोग बंद करने की धमकी दी। अधिकारियों के आदेश पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया।

मानधाता कस्बा स्थित एक धार्मिक स्थल में रविवार की रात बाइक सवार दो युवक घुस गए। आरोप है कि उन्होंने इनवर्टर के उपकरण तोड़ दिए। विरोध करने पर गालीगलौज करते हुए माइक का उपयोग करने पर जान से मारने की धमकी देने लगे। शोरशराबा सुनकर आसपास के लोग दौड़े तो आरोपी भाग निकले।

रात में ही लोगों ने स्थानीय पुलिस के साथ अफसरों को घटना की जानकारी दी। घटना के बाद इलाके में तनाव फैल गया। अधिकारियों के आदेश पर मानधाता पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। एसओ मानधाता ने बताया कि आरोपी युवकों को हिरासत में ले लिया गया है। घटना के समय दोनों नशे में थे। अब तनाव जैसी कोई बात नही है। बाजार की निगरानी बढ़ा दी गई है।
... और पढ़ें

सुपारी देकर कराई गई सदर विधायक के रिश्तेदार की हत्या

सदर विधायक राजकुमार पाल के रिश्तेदार की हत्या सुपारी देकर कराई गई है। भाड़े के हत्यारे भागते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए हैं। पुलिस उनकी पहचान करने का प्रयास कर रही है। मृतक के परिवार के कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इधर, पोस्टमार्टम में विलंब होते देख सदर विधायक राजकुमार पाल का गुस्सा भड़क उठा। पुलिस को खरीखोटी सुनाते हुए उन्होंने समर्थकों के साथ गायघाट रोड पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंचे सीओ सिटी ने किसी तरह मामला संभाला। 

नगर कोतवाली के पूरे ईश्वरनाथ निवासी रामपाल पाल राजगीरी का काम करता था। वह सदर विधायक राजकुमार पाल का रिश्ते में चाचा लगता था। रविवार की रात घर जाते समय बाइक सवार दो बदमाशों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद रामपाल की बाइक पर पीछे बैठा युवक गायब हो गया था। पुलिस मृतक के परिवार समेत बाइक पर पीछे बैठे युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इस मामले में मृतक के भाई की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था।

सोमवार को दोपहर तक शव का पोस्टमार्टम नहीं हो सका। पुलिस ने वीडियोग्राफी के बीच डाक्टरों के पैनल से शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए लिखापढ़ी की थी। जिला अस्पताल में एक्सरे के बाद उसके सिर में एक बुलेट फंसी मिली। वीडियोग्राफर के इंतजार में हो रहे विलंब की खबर मिलने पर सदर विधायक राजकुमार पाल समर्थकों संग पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गए। पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही देख उनका पारा गरम हो गया।

गुस्साए विधायक ने पोस्टमार्टम हाउस के सामने गायघाट रोड पर वाहनों को खड़ा करा दिया और पुलिस को खरीखोटी सुनानी शुरू कर दी। मामले की जानकारी मिलते ही सीओ सिटी अभय पांडेय व नगर कोतवाल भागकर पहुंचे। विधायक को समझा-बुझाकर शांत कराया। करीब पंद्रह मिनट बाद जाम समाप्त हुआ। देर शाम शव का परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया। सीओ सिटी अभय पांडेय ने बताया कि मृतक की हत्या सुपारी देकर कराई गई है। शूटर रास्ते में लगे सीसीटीवी में कैद हुए हैं। उनकी शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है। अभी तक की छानबीन में जमीन के विवाद में हत्या की बात सामने आ रही है। 

पुलिस पर भड़के विधायक 
गायघाट रोड पर जाम के दौरान पुलिस पर भड़के सदर विधायक का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा था। विधायक सिविल लाइन पुलिस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों को सामने देख झल्ला उठे। कहा कि कितनी बार शिकायत कर चुका हूं कि सूनसान स्थानों पर रात में चेकिंग की जाए। संदिग्धों की धरपकड़ हो, मगर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जिसके परिणामस्वरूप हत्या की घटना हुई है।

एडीजी ने घटनास्थल का किया निरीक्षण 
अपर पुलिस महानिदेशक प्रयागराज प्रेमप्रकाश सोमवार को पुलिस लाइन पहुंचे। नए कप्तान सचींद्र पटेल से अवैध शराब व सदर विधायक के रिश्तेदार की हत्या की बाबत जानकारी ली। देर शाम एडीजी ने पूरे ईश्वरनाथ में घटनास्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने मृतक की मां से मिलकर जानकारी ली। पुलिस को जल्द खुलासा करने का निर्देश दिया। 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : सदर विधायक के रिश्तेदार की गोली मारकर हत्या

शहर के पूरे ईश्वरनाथ में रविवार रात बाइक सवार दो बदमाशों ने सदर विधायक राजकुमार पाल के रिश्तेदार रामपाल (45)  की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस छानबीन में जुट गई। वारदात के वक्त रामपाल के साथ रहा युवक फरार बताया गया है। हत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है।

नगर कोतवाली के पूरे ईश्वरनाथ में सदर विधायक राजकुमार पाल का आवास है। उनके घर के बगल में ही चचेरे चाचा रामपाल का भी परिवार रहता है। रामपाल राजगीर का काम करते थे। रविवार रात करीब सवा आठ बजे वह बाइक से घर जा रहे थे। उनके साथ गांव का एक युवक भी था। विधायक के घर से कुछ आगे बढ़ने पर पीछे से आए बाइक सवार दो बदमाशों ने रास्ता पूछने के बहाने उन्हें रोक लिया। इस दौरान बाइक पर पीछे बैठे बदमाश ने पिस्टल निकालकर उनके सिर में गोली मार दी।
... और पढ़ें

हिस्ट्रीशीटर सपा नेता के खेत में फटा बम, काम कर रहे दो मजदूर घायल

थाना क्षेत्र के मिर्जापुर निवासी पूर्व ब्लाकप्रमुखपति व सपा के जिला सचिव शमीम अहमद थाने के हिस्ट्रीशीटर हैं। सोमवार की सुबह घर के बगल खेत में लहसुन की तैयार फसल की खुदाई करने आशापुर निवासी हरिकेश (40) व चंद्र लाल (40) आए थे। खुदाई के दौरान अचानक हरिकेश का फावड़ा लहसुन के खेत में रखे देशी बम पर पड़ा। जोरदार विस्फोट के साथ पूरे खेत में धुएं का गुबार उठने लगा। देशी बम की चपेट में आने से हरिकेश का दाहिना पैर व हाथ उड़ गया। जबकि चंद्रलाल का हाथ उड़ा।

धमाके की आवाज सुनकर आस-पास के लोग शमीम के घर की ओर दौड़ पड़े। देखते- देखते ही घटना स्थल पर सैकड़ों की भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने फौरन इसकी सूचना पुलिस ने को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से दोनों घायलों को एंबुलेंस से उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा। वहां से दोनों को प्रयागराज रेफर कर दिया गया।

इधर सपा नेता शमीम अहमद को पकड़ कर पुलिस थाने ले आई। शाम को उनके खिलाफ पुलिस ने  बम विस्फोटक अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस घटना की जांच कर रही है। इस बारे में अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेंद्र प्रसाद ने बताया कि एसआई अनिल कुमार की तहरीर पर सपा नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसका चालान न्यायालय भेजा जा रहा है। मजदूरों के बेहतर इलाज के लिए उन्हें एसआरएन भेजा गया है।

आधे घंटे तक तड़पते रहे मजदूर, धमाके के डर से लोगों ने बनाए रखी दूरी 
बम के धमाके की चपेट में आने से हरिकेश व चंद्रलाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घटना की जानकारी होने पर खेत के आस- पास लोगों की भीड़ जमा हो गई। हाथ व पैर में गंभीर चोट आने से चंद्रलाल व हरिकेश खेत में दर्द से तड़प रहे थे। मगर कोई उनकी मदद करने आगे नहीं आ रहा था। दरअसल ग्रामीणों को बम के धमाके का डर सता रहा था। पुलिस के पहुंचने के बाद ही उन्हें खेत से बाहर निकालकर अस्पताल भेजा गया। 

घटनास्थल पर जांच को पहुंची फील्ड यूनिट की टीम 
मिर्जापुर चौहारी में बम बिस्फोट होने की सूचना के बाद सीओ रानीगंज अतुल अंजान के निर्देश पर फील्ड यूनिट की टीम जांच करने घटना स्थल पर पहुंची। वहां फटे हुए बम का अवशेष मिला। फील्ड यूनिट की टीम ने अवशेष की जांच की। हालांकि घटनास्थल पर कोई और बम नहीं मिला। 


भाजपा नेता के प्रचार वाहन पर हमला, सपा कार्यकर्ताओं पर लगाया हमले का आरोप
मिर्जापुर चौहारी गांव में पूर्व ब्लाक प्रमुखपति व सपा नेता के खेत में बम धमाके के बाद ग्रामीणों की भारी भीड़ जुट गई। घटना स्थल से थोड़ी दूर सड़क से होकर गुजर रहे भाजपा के प्रचार वाहन पर अराजकतत्वों ने पथराव कर दिया। इससे खफा भाजपा कार्यकर्ताओं ने सपा कार्यकर्ताओं पर प्रचार वाहन व तोडफ़ोड़ का आरोप लगाते हुए थाने का घेराव कर कार्रवाई की मांग करने लगे। जानकारी मिलने पर रानीगंज विधायक धीरज ओझा भी थाने पहुंच गए। कुछ देर बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवाकांत ओझा भी थाने पहुंचे। भाजपा व सपा कार्यकर्ता आमने-सामने भी हुए। मगर पुलिस की मुस्तैदी से दोनों पक्षों को वहां से हटा दिया गया। इसे लेकर करीब तीन घंटे तक थाने पर हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा।

रानीगंज थाना क्षेत्र के मिर्जापुर चौहारी में बम विस्फोट के बीच ही  शिवगढ़ प्रथम से जिला पंचायत सदस्य पद के लिए भाजपा समर्थित प्रत्याशी नीरज मिश्र अपने कार्यकर्ताओं के साथ गुजर रहे थे। उनका आरोप है कि  वहां मौजूद सपा कार्यकर्ताओं ने उनके प्रचार वाहन पर हमला बोलकर तोड़फोड़ की। कार्रवाई की मांग को लेकर वह थाने पहुंचे। यह खबर मिलते ही विधायक धीरज ओझा भी थाने पहुंच गए। मामले की जानकारी होने पर सपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी अशोक मिश्र भी थाने पहुंचे। थाने में ही सपा और भाजपा कार्यकर्ता आमने सामने होने लगे। तकरार बढ़ता देख पुलिस ने उन्हें हटाया। इस दौरान अधिवक्ता पप्पू मिश्रा ने विधायक के थाने में बैठने का विरोध जताया। जिसे लेकर फिर माहौल गरमा गया। कुछ देर के लिए थाने में अफरातफरी का माहौल कायम हो गया। इस बीच पूर्व कैबिनेट मंत्री प्रोफेसर शिवाकांत ओझा भी थाने पहुंच गए। उन्होंने भी कार्रवाई को लेकर नाराजगी जाहिर की। 

बोले पूर्व मंत्री बोले, एसपी पर पूरा भरोसा 
पूर्व मंत्री व सपा के वरिष्ठ नेता प्रोफेसर शिवाकांत ओझा ने कहा कि राजनैतिक द्वेष के कारण हिस्ट्रीशीटर सपा नेता व सपा समर्थित प्रत्याशी पप्पू मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। हमें पुलिस अधीक्षक की न्याय प्रियता पर पूर्ण विश्वास है। मामले की जांच निष्पक्ष होगी तो सही और गलत का आंकलन होगा। पूर्व में भी जिला सचिव की हत्या कराने का प्रयास हो चुका है। यह भी उसी घटना की एक साजिश है।

हिस्ट्रीशीटर शमीम पर दर्ज हैं 11 मुकदमे
अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेंद्र प्रसाद ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर सपा नेता शमीम अहमद के खिलाफ रानीगंज समेत अन्य थानों में 11 मुकदमे दर्ज हैं। जिसमे जानलेवा हमला समेत अन्य अपराध शामिल हैं।
प्रधान प्रत्याशी की हृदयगति रूकने से मौत रानीगंज। प्रधान प्रत्याशी की हृदय गति रूकने से मौत हो गई। घटना को लेकर परिजनों में कोहराम मचा रहा। 
रानीगंज थाना क्षेत्र के संसरियापुर निवासी राम नारायण पटेल प्रधान पद के  लिए चुनाव मैदान में थे। रविवार की रात अचानक उनकी तबियत बिगड़ गई। परिजन उपचार के लिए उन्हें रानीगंज सीएचसी लाए। जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
... और पढ़ें
क्राइम क्राइम

Pratapgarh : तमंचे के बल पर शराब कारोबारी के मैनेजर 1.5 लाख की लूट

कंधई थाना क्षेत्र के भरतीपुर में रविवार दोपहर शराब कारोबारी के मैनेजर से तमंचे के बल पर दो बदमाशों ने 1.5 लाख रुपये लूट लिए। वारदात को अंजाम देने के बदमाश भाग निकले। सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस बदमाशों की खोजबीन में जुट गई। कंधई थाना क्षेत्र के मंगरौरा बाजार निवासी अखिलेश सिंह शराब कारोबारी हैं। उनकी क्षेत्र में कई शराब की दुकानें हैं। रविवार को उनका मैनेजर मेवालाल निवासी मंगरौरा रखहा व ताला स्थित तीन दुकानों से बिक्री के करीब 1.5 लाख रुपये लेकर बैंक में जमा करने के लिए बाइक से निकला था।

शनिवार को बैंक बंद होने के कारण उस दिन की बिक्री के भी रुपये थे। कलेक्शन के रुपये बैग में लेकर वह कंधई मार्ग की ओर जा रहा था। कंधई थाना क्षेत्र के भरतीपुर के करीब पहुंचते ही पीछे से आए बाइक सवार बदमाशों ने उसे ओवरटेक कर रोक लिया। बाइक रोकते ही बदमाशों ने तमंचा सटाकर रुपयों से भरा बैग लूट लिया और भाग निकले।

घटना की जानकारी मिलते ही कंधई पुलिस व सीओ पट्टी प्रभात कुमार मौके पर पहुंचे। पीड़ित मैनेजर मेवालाल से पूछताछ के बाद बदमाशों की तलाश में पुलिस जुट गई है। पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने बताया कि घटना की छानबीन की जा रही है। मैनेजर से चार माह पहले भी दोहरी में लूट की घटना हो चुकी है। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। बदमाशों की तलाश में पुलिस टीम लगी है।

रखहा से लेकर कंधई तक सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस

शराब कारोबारी के मैनेजर से 1.5 लाख रुपये की लूट की खबर मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पूछताछ में पता चला कि चार माह पहले भी मेवालाल के साथ दोहरी में लूट की घटना हो चुकी है। इसके बाद पुलिस रखहा से लेकर कंधई तक सीसीटीवी खंगालने में जुट गई। पुलिस घटना को संदिग्ध मान रही है।
... और पढ़ें

कोरोना का कहर जारी, छह माह बाद सीडीओ समेत मिले एक साथ 73 मरीज

कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। दिनों दिन संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पांच माह बाद स्वास्थ्य विभाग की जांच में फिर 24 घंटे के अंदर जिले के मुख्य विकास अधिकारी समेत 73 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की पुष्टि सीएमओ ने की है। इनमें शहर के जैन गली के रहने वाले एक ही परिवार के 11 लोग भी शामिल हैं। मोबाइल कंपनी के पांच कर्मचारी, तीन रेलकर्मी और एक यात्री भी कोरोना की गिरफ्त में आए हैं।

जिले में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को 24 घंटे के भीतर जिले में 73 कोरोना संक्रमित मरीज स्वास्थ्य विभाग के जांच में पाए गए। इनमें शहर के जैनगली में रहने वाले एक ही परिवार के 11 सदस्य जांच में कोरोना संक्रमित मिले हैं। हालांकि पूरे परिवार को होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य विभाग रखवा दिया है। प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक का पूरा परिवार भी कोरोना की जद में आ गया है। शिक्षक कहां के रहने वाले हैं इसके बारे में स्वास्थ्य विभाग जानकारी देने से कतरा रहा है। कंपनी गार्डेन मीराभवन मार्ग पर मोबाइल कंपनी का कार्यालय है। कंपनी में काम करने वाले पांच कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। रेलवे स्टेशन पर हुई जांच में चीफ पीडब्लूआई अवधेश पाल व उनकी पत्नी जांच में कोरोना संक्रमित मिले हैं। टीएसआई मनोश शुक्ला, पृथ्वीगंज स्टेशन मास्टर सुभान सिंह व उसके पिता की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आई है।

नई दिल्ली से आई पद्मावत एक्सप्रेस के 55 यात्रियों की कोरोना जांच की गई। इनमें एक यात्री संक्रमित पाया गया। इसी ट्रेन से आए दो रेलवे कर्मचारी भी जांच में संक्रमित मिले थे। उधर, कुंडा में स्वास्थ्य विभाग की टीम के जांच में नौ लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमे कुंडा के उचे गांव का बालक, बेंती की महिला, परमीपुर के युवक, सराय स्वामी बाबागंज के युवक बरई कुंडा के युवक, महेश्वरी नगर कुंडा का किशोर, दशरथपुर कुंडा की महिला , मिया का पुरवा का युवक वहीं बेलखरनाथ सीएचसी में जांच में चार लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिले में कुल 73 मरीज संक्रमित मिले हैं। महिला अस्पताल के एलटू अस्पताल में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 27 हो गई है। प्रयागराज में 24 तो लखनऊ में बेल्हा के चार मरीज भर्ती हैं। जिले में एक्टिव केस की संख्या 308 हो गई है। अबतक 78 मरीज इलाज के दौरान दम भी तोड़ चुके हैं।
... और पढ़ें

Prayagraj : दो बहनों को अगवा करने से हलाकान रही पुलिस

गड़वारा में दो सगी बहनों को चार पहिया सवार चार लड़कों द्वारा अगवा करने की खबर से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा रहा। हालांकि देर शाम दोनों बहनों को उनके मकान के करीब से ही पुलिस ने बरामद कर लिया। उनकी करतूत से नाराज पुलिस ने उनका शांति भंग में चालान कर दिया।

बृहस्पतिवार दोपहर डायल 112 को सूचना मिली कि दो सगी बहनों का गड़वारा पुलिस चौकी क्षेत्र से कार सवार चार युवकों ने अगवा कर लिया है। उन्हें शहर के किसी मकान में बंद किया हुआ है। लड़कियों को अगवा करने की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। सीओ सिटी अभय पांडेय व स्वाट टीम लड़कियों की खोजबीन करती रही।

शाम तक दोनों बहनों का कोई सुराग नहीं लगा। हालांकि देर शाम सीओ सिटी अभय पांडेय ने दोनों बहनों को उनके घर के करीब एक मकान से बरामद कर लिया। पुलिस ने सलमा व खुशबू पुत्री हलीम निवासी पूरे ईश्वरनाथ से पूछताछ के बाद हिरासत में ले लिया। पूछताछ में यह बात सामने आई कि उनके द्वारा ही पुलिस को फर्जी सूचना दी गई थी। महिला थानाध्यक्ष ने दोनों बहनों का शांति भंग में चालान कर दिया।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : भाजपा नेत्री सीमा, सिंधुजा सहित छह प्रत्याशियों का पर्चा खारिज

अपहरण की प्रतीकात्मक तस्वीर
जिला पंचायत सदस्य पद के लिए नामांकन करने वाली पूर्व विधायक बृजेश सौरभ की पत्नी सीमा मिश्रा, सिंधुजा मिश्रा का नाम मतदाता सूची में शामिल न होने पर पर्चा खारिज कर दिया गया है। जबकि मंगरौरा से रामदेव, लक्ष्मणपुर से भैयाराम, बाबागंज द्वितीय से नामांकन करने वाले उदयभान और शांति देवी का भी पर्चा खारिज कर दिया गया है।

सदर तहसील में शुक्रवार को नामांकन पत्रों की जांच में प्रत्याशी और उनके प्रस्तावक मौजूद रहे। संडवा चंद्रिका प्रथम से नामांकन करने वाली पूर्व विधायक बृजेश सौरभ की पत्नी सीमा मिश्रा और लक्ष्मणपुर तृतीय से नामांकन करने वाली शिव प्रकाश मिश्र की पत्नी सिंधुजा मिश्र का नाम मतदाता सूची में नहीं होने के कारण पर्चा खारिज कर दिया गया है। इन दोनों लोगों मतदाता सूची में नाम बढ़ाने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, मगर शुक्रवार को कोई निर्णय नहीं आने के कारण चुनाव अधिकारी ने नामांकन रद्द कर दिया है। लक्ष्मणपुर विकास खंड के वार्ड संख्या 16 से नामांकन पत्र भरने वाले भैयाराम और मंगरौरा प्रथम से नामांकन करने वाले रामदेव को कोर्ट ने आजीवन कारावास का सजा सुनाया है, मगर इन दिनों यह लोग जमानत पर छूटे हुए हैं और नामांकन कर दिया।

आपत्ति दाखिल होने पर चुनाव अधिकारी ने दोनों नामांकन पत्रों को निरस्त कर दिया है। बाबागंज द्वितीय सीट महिला के लिए आरक्षित होने के बावजूद उदयभान के नामांकन करने पर चुनाव अधिकारी ने नामांकन निरस्त कर दिया है। संडवा चंद्रिका प्रथम वार्ड पर आवेदन करनी वाली शहर के रंजीतपुर चिलबिला निवासी शांति देवी का नामांकन रद्द कर दिया गया है। सीआरओ इंद्र भूषण वर्मा ने बताया कि जिन वार्डों में जांच का कार्य पूरा नहीं हुआ है, वहां कल आपत्तियों को निस्तारित किया जाएगा। इधर, जिले के 17 ब्लाकों में दाखिल आपत्तियों के निस्तारण के लिए शनिवार को समय दिया गया है। सदर ब्लाक में प्रधानों का पर्चा खारिज करने के लिए छह आपत्तियां आई हैं।

मतदाता सूची से नाम काटे जाने के विरोध में प्रदर्शन

आसपुर देवसरा के तीवीपुर के ग्रामीणों ने शुक्रवार को एनआईसी कार्यालय के सामने मतदाता सूची से नाम काटने का आरोप लगाते हुए धरना प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का कहना था कि कई साल से मतदान कर रहे लगभग 250 से अधिक लोगों का नाम मतदाता सूची से काट दिया गया है।आरोप लगाया कि एक व्यक्ति के प्रभाव में यह खेल किया है। गांव के लोगों का कहना था कि फार्म भरने के बाद भी नाम नहीं बढ़ाए गए। दोपहर 3.30 बजे अतिरिक्त एसडीएम मौके पर पहुंच करदो दिन में कार्रवाई का आश्वासन देकर धरना समाप्त किया। धरने में कमलेश गुप्ता, छोटेलाल, विजय पाल, उर्मिला देवी, पवन कुमार, राजकुमार समेत कई लोग मौजूद रहे। संवाद
... और पढ़ें

हार न मानने वाली मुस्कान: नक्सली हमले में गोली लगने के बाद बेल्हा के लाल ने जीती जिंदगी की जंग

प्रतापगढ़ में छापों के दौरान मिली 70 लाख की अवैध शराब

जनपद में जहरीली शराब के सेवन से हो रही मौतों के बाद पुलिस ने अवैध शराब के कारोबार के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है। शनिवार की रात व रविवार को पुलिस ने कुंडा के बाबूगंज बाजार की दुकानों से 1710 पेटी अंग्रेजी शराब, बीयर व देशी शराब बरामद की है, जिसकी कीमत करीब 70 लाख रुपये आंकी गई है। बरामद शराब माफिया गुड्डू सिंह की बताई जा रही है।

कुंडा कोतवाली के बाबूगंज बाजार में शनिवार की रात पुलिस ने एक बंद दुकान में डंप की गई अवैध शराब की 200 पेटियां बरामद कीं। पुलिस ने शराब निकलवाकर थाने भिजवाई। शराब व दुकान मालिक की खोजबीन शुरू की गई, मगर कोई नहीं मिला। इस दुकान से कुछ दूर पहले तीन दुकानों से रात में पुलिस ने विभिन्न ब्रांडों की 1000 पेटियां अवैध शराब की बरामद कीं।

इसके बाद रविवार को हाईवे पर स्थित अन्य दुकानों से अवैध शराब की 510 पेटियां बरामद हुईं। इससे इलाके में हड़कंप मचा रहा। भारी मात्रा में शराब पकड़े जाने की सूचना पर एडीजी प्रेम प्रकाश, आईजी कवींद्र प्रताप सिंह, एसपी आकाश तोमर, एएसपी दिनेश चंद्र द्विवेदी मौके पर पहुंचकर छानबीन करते रहे। पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने बताया कि बरामद शराब गुड्डू सिंह की बताई जा रही है। वह अपने सहयोगियों के साथ अवैध शराब की सप्लाई यहां से करता था। उसकी तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में घंटों चला हाई वोल्टेज ड्रामा, भाजपा विधायक ने एसपी पर लगाया पीटने, कपड़ा फाड़ने का आरोप

प्रतापगढ़ : गोशाला की आड़ में चल रही थी शराब फैक्ट्री, 10 करोड़ की शराब और उपकरण बरामद

जहरीली शराब पीने से एक और मौत, मृतकों की संख्या आठ पहुंची

उदयपुर के कटरिया में पंचायत चुनाव के जुलूस में मंगलवार की रात बंटी जहरीली शराब पीने वाले बैंडबाजा संचालक ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। कटरिया व आहड़ बीहड़ में जहरीली शराब पीने से अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है। जहरीली शराब बेचने वाला माफिया पुलिस के हाथ नहीं लग सका है। उसकी तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही है। हालांकि पुलिस बैंडबाजा संचालक की मौत की जानकारी से इनकार कर रही है।

उदयपुर के कटरिया में मंगलवार की रात प्रधान पद के प्रत्याशी डब्बू सिंह ने ढोल ताशे के साथ जुलूस निकालने की तैयारी की थी। जुलूस के पहले शराब बांटी गई, जिसका कई लोगों ने सेवन किया था। जुलूस में बैंड बजाने के लिए अमेठी का कोहरा तुला निवासी धर्मराज (38) भी आया था। ग्रामीणों के अनुसार उसने भी शराब पी थी। बुधवार को उसकी तबीयत खराब हुई।

उसे उपचार के लिए मुंशीगंज अस्पताल ले जाया गया। बृहस्पतिवार की रात उसकी तबीयत अधिक खराब हो गई। जिसके बाद परिजन उसे लेकर रायबरेली अस्पताल जा रहे थे। मगर रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी दिनेशचंद्र ने बताया कि बैंडबाजा संचालक के मौत की जानकारी नहीं है। फिलहाल उदयपुर पुलिस को उसके घर जांच के लिए भेजा गया है, वहीं दूसरी ओर शराब माफिया व आहड़ बीहड़ का पूर्व प्रधान पवन सिंह समेत अन्य आरोपी अभी तक फरार हैं। उनकी तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही है। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X