विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

प्रतापगढ़ : घर में सो रहे युवक को दबंगों ने घसीट कर मारी गोली, आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

थाना क्षेत्र के सुबन्नी निवासी सबीन 28 पुत्र अब्दुल जब्बार को दो अक्तूबर रात में बारह बजे घर में सो रहे थे, तभी गांव के दबंगों ने घर से घसीट कर बाहर लाए। लाठी डंडों से पिटाई करने के बाद उसे गोली मार दी। युवक का अभी प्रयागराज में इलाज चल रहा है। उसकी हालत में सुधार बताया जा रहा है।

घायल के पिता अब्दुल जब्बार के तहरीर पर छह लोग हासिम अली उर्फ सूबा व परबेज, इमरान पुत्रगण मोहम्मद इबरार व सुहैल पुत्र सब्बन,साहिद पुत्र सिद्दीकी, अनवर पुत्र मुर्तजा निवासी सुबन्नी के ऊपर जानलेवा जैसी गम्भीर धराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया। थानाध्यक्ष मानधाता उदयवीर सिंह ने बताया कि मुकदमा पंजीकृत किया गया है। आरोपियों के घर दबिश दी जा रही है। जल्द गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : घर में अकेली सो रही वृद्धा को पीट-पीटकर मार डाला, पूरा कमरा हो गया था तहस नहस

घर में अकेली सो रही वृद्ध महिला को पटक-पटककर मार दिया गया। हत्यारों ने उसके बाल नोंच लिए थे। चूड़ियां भी टूटी पड़ी थीं। पूरा कमरा तहस-नहस कर दिया गया था। सुबह बहू खेत से लौटी तो वृद्धा का शव निर्वस्त्र अवस्था में नीचे पड़ा था। उसके शोर मचाने पर आसपास के लोग जुट गए। सूचना पर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। फोरेंसिक टीम ने भी छानबीन की। 

हथिगवां थाना क्षेत्र के बलीपुर गांव निवासी संवारा देवी (70) शुक्रवार रात घर में अकेली थी। उसकी बहू मंजुला खेत की रखवाली करने गई थी। संवारा का बेटा शंकरलाल बंगलुरु में रहता है। देर रात कुछ लोग संवारा देवी के घर में घुस गए और पटक-पटक कर उसकी हत्या कर दी। उसके बाल नोंचे गए थे। चूड़ियां भी टूट गई थीं। पूरा कमरा तहस-नहस था। ऐसा लग रहा था कि हत्यारों से बचने के लिए संवारा देवी ने काफी देर तक संघर्ष किया था।
 
शनिवार सुबह जब बहू मंजुला घर लौटी तो संवारा देवी का शव चारपाई के पास नग्नावस्था में पड़ा था। वहां एक लाठी भी मिली। बहू के शोर मचाने पर भारी संख्या में लोग जुट गए। सूचना पर कई थानों की फोर्स के साथ सीओ और एएसपी पश्चिमी भी पहुंच गए। जांच के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। एडिशनल एसपी रोहित मिश्रा ने बताया कि घटना के कारणों की जांच हो रही है। जल्द खुलासा किया जाएगा। 

शराब लेने के विवाद में हत्या की आशंका 
मृतक महिला महुए की कच्ची शराब बनाती थी। वह घर पर ही कच्ची शराब बेचती थी। शुक्रवार रात में कुछ लोग उसके पास शराब लेने आए थे, लेकिन उसने मना कर दिया था। पुलिस इस विवाद को उसकी हत्या से जोड़कर जांच कर रही है। 
 
अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा, चार संदिग्ध लोगों को उठाया 
हथिगवां थाना क्षेत्र का बलीपुर गांव बड़ी घटनाओं को लेकर चर्चा में रहता है। यही वह गांव है जहां सीओ की हत्या हो गई थी। अभी कुछ महीने पहले मामूली विवाद में दो हत्याएं हो गई थीं। एक बार फिर से महिला की हत्या की सूचना आने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस अफसर भागकर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मृतका के दामाद की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। चार संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 

सुबह पहुंचा शराबी करने लगा हंगामा 
हथिगवां के बलीपुर गांव में वृद्ध महिला की मौत की सूचना पर पुलिस पहुंच गई। इस दौरान वहां एक शराबी भी पहुंचा और शव को जल्द हटाने की बात कहने लगा। इस पर एसओ ने उसे डांटकर भगा दिया। हालांकि बाद में उसे संदिग्ध मानते हुए हिरासत में ले लिया गया। 

काजू उठाने की जानकारी पर पकड़ा गया युवक 
मृतक महिला के घर के पास काफी मात्रा में काजू गिरे हुए थे। बगल गांव का एक युवक सुबह उन्हें उठा रहा था। इसी दौरान मृतका की बहू घर पर आ गई। उसने युवक को काजू उठाते हुए देखा, लेकिन वह अपनी सास के पास चली गई। बाद में उसने पुलिस को युवक के बारे में जानकारी दी। इस पर युवक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।
... और पढ़ें

बेखौफ : मार्निंग वॉक पर निकले एसडीएम से चेन छीनने का प्रयास, विरोध पर पिस्टल लहराते हुए भाग निकले बदमाश

प्रतापगढ़ में सिविल लाइंस पुलिस चौकी के करीब बेखौफ बदमाशों ने सुबह टहलने निकले अतिरिक्त एसडीएम से पिस्टल सटाकर चेन छीनने का प्रयास किया गया। विरोध करने पर बदमाश पिस्टल लहराते हुए भाग निकले। एसडीएम की शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज को खंगालने में जुटी है। इस मामले में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

अतिरिक्त एसडीएम जेआर चौधरी और एसडीएम राम जनम यादव शुक्रवार सुबह मार्निंग वॉक पर निकले थे। इसी बीच बाइक से पहुंचे दो बदमाशों ने जेआर चौधरी के गले की चेन छीनने की कोशिश की। विरोध करने पर उन्होंने तमंचा निकाल लिया। यह देख साथ चल रहे एसडीएम रामजनम ने इसका विरोध किया और शोर मचाना शुरू कर दिया। जिस पर वहां आसपास के लोग पहुंच गए।

लोगों को आते देख बदमाश पिस्टल लहराते हुए भाग निकले। सूचना मिलने के बाद पुलिस पुहंची और छानबीन के बाद बदमाशों के भागने की दिशा में खोजबीन की। बदमाशों का सुराग नहीं लग सका है। देर शाम चौधरी की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : हाईवे पर दिनदहाड़े शराब गोदाम के कैशियर से सवा आठ लाख रुपये और बाइक लूटी

प्रयागराज-अयोध्या राजमार्ग पर बुधवार अपराह्न करीब तीन बजे बदमाशों ने बैंक जा रहे पोंटी चड्ढा ग्रुप के शराब गोदाम के कैशियर से सवा आठ लाख रुपये और बाइक लूट ली। दो बाइक से आए छह बदमाश बेल्हा देवी पुल के पास वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। घटना की जानकारी होने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे एसपी ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद बदमाशों की धरपकड़ के निर्देश दिए।

नगर कोतवाली के महुली में पोंटी चड्ढा ग्रुप का अंग्रेजी शराब का गोदाम है। यहां प्रयागराज निवासी अनिल मिश्र कैशियर और सूर्य नारायण पांडेय गार्ड के रूप में कार्यरत हैं। बुधवार को अपराह्न करीब तीन बजे अनिल मिश्र बाइक की डिग्गी में 8,25,388 रुपये रखकर शहर स्थित आईसीआईसीआई बैंक में जमा करने जा रहे थे। बाइक पर पीछे गार्ड सूर्य नारायण पांडेय बैठा था। कैशियर अनिल के अनुसार, बेल्हा देवी पुल से पहले दो बाइक से आए छह बदमाशों ने उन्हें घेरकर रोक लिया।
... और पढ़ें
Pratapgarh : घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस। Pratapgarh : घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस।

प्रतापगढ़ : पुलिस की गोली से मरे बदमाश का शव पहुंचा तो मचा कोहराम, पुलिस के प्रति भारी आक्रोश 

लालगंज कोतवाली के बाबूतारा में शनिवार की रात पुलिस की गोली से मरे बदमाश तौफीक उर्फ बब्बू का शव सोमवार को घर पहुंचते ही लोग आक्रोशित हो उठे। बवाल की आशंका को देखते हुए कई थानों की फोर्स तैनात रही। अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी परिवार के लोगों को अंतिम संस्कार के लिए मनाने का प्रयास करते रहे। खबर लिखे जाने तक मौके पर सपा नेताओं समेत भारी संख्या में ग्रामीण डटे रहे।

लालगंज कोतवाली के बाबूतारा गांव में शनिवार की आधी रात पुलिस की गोली से शातिर बदमाश तौफीक की मौत हो गई थी। पुलिस का दावा था कि पुलिस की उससे मुठभेड़ हुई थी और दो सिपाहियों को भी गोली लगी है। इस मामले में लालगंज कोतवाल की ओर से सिपाहियों पर जानलेवा हमला करने के मामले में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। घटना के बाद बवाल की आशंका को देखते हुए रात से ही पुलिस सतर्क रही। सोमवार को अपर पुलिस अधीक्षक रोहित मिश्रा फोर्स लेकर लालगंज से सगरासुंदरपुर तक चक्रमण करते रहे। देर शाम तौफीक का शव लेकर परिजन लखनऊ से घर पहुंचे। जिसके बाद कोहराम मच गया।
 
पत्नी आलिया व भतीजा रोते हुए बेहोश हो गए। यह देख लोग आक्रोशित हो उठे। मौके पर मौजूद पुलिस अफसर शव को सुपुर्दे खाक करने के लिए परिवार के लोगों से बातचीत करने का प्रयास करने लगी। एएसपी पश्चिमी भी परिवार के लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश करते रहे, मगर कोई उनकी बात सुनने के लिए तैयार नहीं था। ग्रामीणों ने बर्फ मंगाकर शव को उस पर रख दिया। बाबूतारा में कई थानों की फोर्स लेकर एएसपी पश्चिमी रोहित मिश्रा, अपर जिलाधिकारी पंकज शुक्ला समेत अन्य पुलिस अफसर डटे रहे। दूसरी ओर सपा नेताओं समेत आसपास के ग्रामीण भी पुलिस पर जुल्म का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

सगरा बाजार छावनी में तब्दील, चप्पे-चप्पे पर पुलिस
बाबूतारा में पुलिस की मुठभेड़ के दौरान बदमाश तौफीक की मौत के बाद से पुलिस सतर्क रही। सुबह ही सगरासुंदरपुर बाजार में एक कंपनी पीएसी तैनात कर दी गई। उधर, लालगंज में अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी रोहित मिश्रा व एसडीएम राहुल यादव के साथ दो सीओ व आधा दर्जन थानों की फोर्स जुटी थी। लखनऊ से तौफीक के शव को घर लाने के लिए कोतवाली के दो दरोगा लगाए गए थे। कोतवाली पुलिस की छह टीमें शांतिपूर्ण अंतिम संस्कार के लिए तैनात की गईं। 

सपाइयों का आरोप, मुठभेड़ की कहानी झूठी, तौफीक की हुई हत्या

लालगंज कोतवाली के बाबूतारा में तौफीक उर्फ बब्बू की पुलिस की गोली से हुई मौत की जानकारी मिलने पर पूर्व विधायक श्याद अली के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को  परिवार से मिलने पहुंचा। सपाइयों ने मृतक की पत्नी आलिया को ढांढस बंधाया और दुख की घड़ी में परिजनों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होने की बात कही। सपा नेता व पूर्व विधायक श्याद अली ने बाबूतारा में पुलिस की मुठभेड़ को फर्जी करार देते हुए कहा कि प्रदेश में पुलिस पूरी तरह से निरंकुश हो चुकी है।
 
उन्होंने कहा कि बाबूतारा में मुठभेड़ में तौफीक की मौत नहीं हुई, बल्कि उसकी पुलिस द्वारा सुनियोजित तरीके से हत्या की गई है। जब तक मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी, पचास लाख की आर्थिक सहायता व दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज नहीं होता, तब तक शव को सुपुर्दे खाक नहीं किया जाएगा। सपा के प्रतिनिधि मंडल में जिला महासचिव अब्दुल कादिर जिलानी, वासिक खान, इरफान अली, साबिर अली, इंद्रदेव तिवारी, पूर्व अध्यक्ष भइयाराम पटेल,  पूर्व ब्लाक प्रमुख शांति सिंह, राहुल सिंह, अहमद अली, जय नारायण आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

प्रतापगढ : पहले पुलिस से दोस्ती, फिर नजरअंदाज करना तौफीक को पड़ा भारी

लालगंज के बाबूतारा में पुलिस की गोली से मरे बदमाश तौफीक उर्फ बब्बू के मोबाइल में पुलिस के भी कई राज छुपे हैं। सूत्रों का कहना है कि उसकी कुछ पुलिसकर्मियों से बातचीत होती थी। यदि मोबाइल नंबर के सीडीआर और व्हाट्सएप काल के साथ मैसेज खंगाले जाएं तो हकीकत सामने आ जाएगी। उधर, शनिवार की रात स्वॉट टीम के पांच पुलिसकर्मी उसकी तलाश में दबिश देने गए थे। मुठभेड़ के दौरान बदमाश गोली लगने के बाद कुएं में गिर गया। उसके साथ एक सिपाही भी कुंए में गिर गया था। काफी मशक्कत के बाद वह बाहर निकल सका था।

लालगंज कोतवाली के बाबूतारा निवासी बदमाश तौफीक उर्फ बब्बू का करीब साल भर से पुलिस से याराना था। इलाके के लोगों के अनुसार स्वॉट टीम व लालगंज कोतवाली के जिम्मेदारों के संपर्क में आने के बाद वह सिपाहियों को नजरअंदाज करने लगा था। वह पुलिस के जिम्मेदारों से बातचीत भी करता था। मोबाइल से व्हाट्सएप काल करने के साथ ही मैसेज से जरूरी बातें करता था। तौफीक का अचानक कन्नी काटना सिपाहियों को बर्दाश्त नहीं हो रहा था।

सूत्रों के अनुसार बाबूतारा में शनिवार की रात दबिश देने के लिए स्वॉट टीम के पांच सिपाही गए थे। चर्चाओं के अनुसार, स्वॉट टीम की दबिश के दौरान तौफीक भागने लगा। इस दौरान पुलिस की फायरिंग में उसे गोली लग गई। हालांकि, पुलिस मुठभेड़ और फायरिंग में सिपाही सत्यम यादव व श्रीराम सिंह के घायल होने का दावा कर रही है। पुलिस की गोली से बदमाश तौफीक घायल हो गया और वह खेत में स्थित कुएं में गिर गया। पीछा कर रहा एक सिपाही भी कुएं में गिर गया था।

जिसे साथी पुलिसकर्मियों ने मशक्कत के बाद बांस के सहारे निकाला। शोरशराबा व फायरिंग होने पर गांव के लोग एकत्र होने लगे थे। यह देख दबिश देने गई स्वॉट टीम वहां से भाग निकली। चूंकि गोली लगने से घायल तौफीक को सिपाही ने करीब से देखा था। इसलिए सुरक्षित स्थान पर पहुंचने के बाद सिपाहियों ने लालगंज पुलिस को जानकारी दी। तब लालगंज पुलिस के साथ कई थानाध्यक्ष व पुलिस अधिकारियों का बाबूतारा पहुंचना प्रारंभ हुआ। 

भाग रहा है, पैर में मारना गोली की आई थीं आवाजें
बाबूतारा में सालभर के भीतर पुलिस के चलते दो लोगों की जान चली गई। पुलिस से गांव के लोग बुरी तरह सहमे हुए हैं। नाम न छापने की शर्त पर पड़ोसियों ने बताया कि रात में पुलिसवालों के आने की आहट कुत्तों के भौंकने से मिल गई। पुलिस के करीब पहुंचते ही तौफीक अपने मकान की छत से कूदकर भागने लगा। तभी पुलिस वालों की ओर से आवाज आई कि भाग रहा है पैर में गोली मारो। भागकर जाने न पाए। इसके बाद तीन राउंड फायरिंग की आवाज व चीख सुनाई पड़ी। पुलिस के जाने के बाद घायल तौफीक को ग्रामीणों की मदद से कुएं से निकालकर परिजन उपचार के लिए ले गए। 

अचानक 4 से 15 हो गई मुकदमों की संख्या 
लालगंज कोतवाली के बाबूतारा निवासी बदमाश तौफीक उर्फ बब्बू से पुलिस मुठभेड़ के बाद सांगीपुर व लालगंज में चार मुकदमे दर्ज होने की बात बताई जा रही थी। सोमवार को पुलिस की ओर से फिर तौफीक के आपराधिक इतिहास की जानकारी दी गई। जिसमें उसके खिलाफ प्रयागराज, अमेठी, सुलतानपुर में 11 अन्य मुकदमे दर्ज होने का दावा किया गया। अधिकांश मुकदमे धोखाधड़ी के हैं। केवल एक मुकदमा सुलतानपुर में गैंगस्टर का है। कौन-कौन से मामले में वह वांछित था, इसकी जानकारी पुलिस के पास नहीं है।
... और पढ़ें

Pratapgarh : पुलिस मुठभेड़ में बदमाश की मौत, पत्नी का आरोप- भागते समय पुलिस ने पीछे से मारी गोली

लालगंज कोतवाली के बाबूतारा गांव में शनिवार की आधी रात दबिश देने गई पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। जिसमें बदमाश तौफीक गंभीर रूप से घायल हो गया। डॉक्टरों ने उसे लखनऊ रेफर किया है। रास्ते में तौफीक की मौत हो गई। पत्नी का आरोप है कि भागते समय पुलिस ने तौफीक को पीछे से गोली मारी है।

वहीं, पुलिस का दावा है कि मुठभेड़ के दौरान दो सिपाहियों के पैर में भी गोली लग गई। उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। छानबीन के दौरान पुलिस को घटनास्थल से दो असलहे व कारतूस मिला। इस मामले में लालगंज कोतवाल की तहरीर पर सिपाहियों पर अज्ञात के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज किया 
गया है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : भूमि विवाद को लेकर तड़तड़ाई गोलियां, अधिवक्ता पुत्र की हालत नाजुक

Pratapgarh News : पुलिस मुठभेड़ में घायल बब्बू उर्फ तौफीक, जिसकी लखनऊ में मौत हो गई।
पूरे गोसाई में खराब होने के मौसम के बाद भी मौसम खराब हो सकता है। अलार्म घड़ी की ओर से 15 से अधिक बजे तक। इस तरह के मामले में है। वह गंभीर रूप से खतरनाक हो गया है। मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया। तनाव को जाँचें।

बलींग थैना क्षेत्र के पूरे गोसाईंशंकर मिश्री कचहरी में तापमान होते हैं। रमाकांत से पृथ्वी पर मामला। हेल्कासी के लिए आरामदायक स्थिति है। रमाकांत त्रिपाठी के लड्डू के लिए बेहतर होगा। शिवशंकर मिश्री का मिश्रण (25)

रमाकांत के लोगों ने पीट दिया। अलार्म बजने के बाद अलार्म बजने के साथ-साथ चालू होने के बाद भी। इस समय यह अच्छा रहेगा। अलार्म के हिसाब से, एक ओर से 15 बजे तक। शराबा के अंत में अंतिम बार अंतिम समाप्त हुआ। सूचना पर जांच की गई।

मेडिकल कॉलेज कॉलेज में भर्ती किया गया था। घटना के बाद की प्रक्रिया। तनाव को गांव में पुलिस थी। सीओ रानी अंजन अंजन त्रिपाठी ने आगे की कार्रवाई की। पेट में पेट और पेट सुरक्षित रखें। घटनाओं का उपयोग किया गया है। I

दीवार और रोग पर 
संपूर्ण गोसाई में संपूर्ण गोसाईंशंकर मिश्रा और रमाकांत सिंहाशंकर मिश्रा और रमांण्धुन्धा धोव और टीवी के बीच के क्षेत्र में हैं। शिवशंकर के धुंए की दीवार पर लगे धुंध के धब्बे हैं। यह भी सुरक्षित है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : बदमाश को गोली लगने के बाद पुलिस ने रची कहानी !

लालगंज कोतवाली के बाबूतारा गांव में पुलिस की मुठभेड़ की कहानी पूरी तरह से फिल्मी है। पुलिस की गोली से घायल से तौफीक की पत्नी आलिया का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने तौफीक को दौड़ाकर गोली मार दी। पुलिस से बचने के लिए वह भाग रहा था। तभी पुलिसकर्मियों ने उस पर फायर झोंक दिया। बाद में पुलिस ने मुठभेड़ दिखा दी। 

तौफीक उर्फ बब्बू की पत्नी आलिया समेत परिवार की अन्य महिलाएं पुलिस पर गोली मारने का आरोप लगा रही हैं। तौफीक की पत्नी का कहना है कि शनिवार आधी रात अचानक पुलिस उसके घर पहुंची। उस समय तौफीक सो रहा था। पुलिस के पहुंचने पर वह जाग गया। पुलिस से बचने के लिए वह भागने लगा। पीछा करते हुए पुलिसकर्मियों ने उसे गोली मार दी।  जिसके बाद वह कुएं में गिर गया था। पुलिस उसे मरा समझकर लौट गई। घायल तौफीक को किसी तरह कुएं से निकालकर अस्पताल ले जाया गया।

एक घंटे बाद पुलिसकर्मी फिर लौटे। उनके साथ खुर्शीद उर्फ वकील भी था। पुलिसकर्मी कुएं में बांस डालकर तौफीक की खोजबीन करते रहे। इस दौरान पुलिसकर्मी फिर से फायरिंग करने लगे। बाद में किसी सिपाही को गोली लगने की चर्चा करते हुए लौट गए। कुछ देर बाद फिर फोर्स पहुंची और कुंए के इर्द-गिर्द खोजबीन करते हुए फोटो खींचती रही। इसके पूर्व 20 सितंबर 2020 को भी दबिश के दौरान सांगीपुर पुलिस की पिटाई से बुजुर्ग मकबूल की मौत हो गई थी। कोर्ट से पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमे का आदेश भी हो चुका है, मगर पुलिस केस दर्ज नहीं कर रही है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : चुनावी रंजिश में मारपीट, फायरिंग में दो महिलाएं समेत पांच लोगों को लगी गोली

संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के भरतगढ़ फतेहशाहपुर गांव में बुधवार की रात जमकर मारपीट हुई। इस दौरान गोली चलने से कई लोगों को छर्रे धंसे हैं। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भेजवाया। कई लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है।
 
घायल फतेह शाहपुर निवासी अमृतलाल सरोज पुत्र रामेश्वर प्रसाद ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि बुधवार की रात उनके चाचा उदय राज हरिजन पुत्र छोटेलाल गांव में स्थित एक दुकान पर कुछ सामान खरीदने जा रहे थे। तभी प्राथमिक विद्यालय के पास बैठे आधा दर्जन लोगों से कुछ कहासुनी के बाद दबंगों ने उदयराज को पीटना शुरू कर दिया। शोर सुनकर परिजन तथा गांव के अन्य लोग मौके पर पहुंचे तो उदयराज बुरी तरह घायल होकर जमीन पर पड़े थे।
 
परिजनों के विरोध पर दबंगों ने बीच-बचाव करने गए लोगों को भी पीटना शुरू कर दिया। मारपीट के दौरान सीमा देवी, मीना देवी, बुधन सरोज, सुखलाल तथा संतोष को भी पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान की गई फायरिंग में इन सभी को छर्रे लगे हैं। सभी की हालत नाजुक बताई जा रही है।
 
सूचना पर पहुंची संग्रामगढ़ पुलिस घायलों को सीएचसी संग्रामगढ़ इलाज के लिए ले गई, जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत देखकर सभी घायलों को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। पुलिस ने अमृतलाल की तहरीर पर चार नामजद तथा चार अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट जानलेवा हमला समेत विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज किया।
... और पढ़ें

Pratapgarh : रेलवे ट्रैक के बगल मिला रेलवे कर्मचारी का शव

अज्ञात व्यक्ति द्वारा रेलवे स्टेशन जगेशरगंज को दी गई सूचना जगेशरगंज रेलवे स्टेशन से थोड़ी दूर पर रेलवे कर्मचारी का शव रेलवे लाइन के किनारे मिला स्टेशन पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा सूचना दी गई रेलवे कर्मी चिलबिला रेलवे स्टेशन पर ड्यूटी करता था। सूचना पर पहुंची जीआरपी प्रतापगढ़ ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

अंतू थाना क्षेत्र के सेतापुर गांव निवासी राजीव कुमार पाल (35) पुत्र शुभम पाल रेलवे में सिग्नल खलासी के पद पर चिलबिला रेलवे स्टेशन पर तैनात था। गुरुवार की सुबह उसकी लाश जगेशरगंज रेलवे स्टेशन से थोड़ी दूर पर पूर्वी केबिन के पास रेलवे लाइन के बगल में मिली।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : फेसबुक के जरिए वीडियो बनाकर डायल 112 के सिपाही को ब्लैकमेल करने वाली युवती समेत गिरफ्तार

कोतवाली पुलिस ने सोशल मीडिया साइट के जरिए दोस्ती करने के बाद युवाओं को ब्लैकमेल कर उनसे रुपये वसूलने वाले गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने युवती समेत कुल तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस गिरोह के जाल में पट्टी कोतवाली में तैनात पीआरवी का एक सिपाही भी फंस गया था। युवती उससे दो लाख रुपये की मांग कर रही थी। 

पीआरवी 1977 पर तैनात आरक्षी शिवकुमार यादव से फेसबुक पर एक युवती ने काजल यादव के नाम से दोस्ती की। बाद में उससे लगातार फोन काल तथा फेसबुक वीडियो कॉल के जरिए बात करती रही। युवती ने वीडियो कॉल रिकार्ड कर ली। बीते 9 अक्तूबर को वह आरक्षी शिवकुमार से दो लाख रुपये की मांग करने लगी। रुपये न देने पर उसे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। युवती ने पुलिस कंट्रोल में फोनकर खुद को शिवकुमार की पत्नी बताते हुए मदद मांगी। मंगलवार को युवती ने शिवकुमार को फोनकर दो लाख रुपये लेकर उड़ैयाडीह बाजार पहुंचने के लिए कहा।

आरक्षी शिवकुमार ने पुलिस के सहयोग से युवती और उसके दो साथियों को उड़ैयाडीह बाजार पहुंचने पर दबोच लिया। उन्हें पट्टी कोतवाली लाया गया। पूछताछ के दौरान युवती ने अपना नाम रोशनी सरोज निवासी कसेरूआ मीरगंज जनपद जौनपुर तथा साथियों ने अखिलेश सरोज निवासी गुड़ाई मोहल्ला मुंगराबादशाहपुर तथा मुकेश सिंह निवासी कीर्तिपुर सुरियावां भदोही बताया। मुकेश सिंह ने बताया कि अखिलेश रोशनी का जीजा है। तीनों मिलकर सोशल मीडिया साइट के जरिए युवकों को ब्लैकमेल करते हैं। पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद तीनों को जेल भेज दिया। 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ : मायके में फांसी पर लटकी मिली विवाहिता, मासूम बच्ची का शव बिस्तर पर पड़ा मिला, हत्या की आशंका

लालगंज कोतवाली क्षेत्र के अलीपुर गांव में संदिग्ध परिस्थितियों मे मायके मे मासूम के साथ विवाहिता की मौत से हडकंप मच गया। कोतवाली के अलीपुर गांव मे रामकिशोर साहू की पुत्री ममता साहू पत्नी मनोज इन दिनों मायके मे रह रही थी। ममता का पिता शुक्रवार को बाजार खरीददारी के लिए गया था। बाजार से बेटी तथा नातिन को कपड़े आदि लेकर लौटा तो फंदे से पुत्री का लटकता शव देख आवाक रह गया।

मकान से कुछ दूर पर दूसरे कमरे मे चारपाई पर ममता की एक माह की बेटी भी मृत पायी गई। रामकिशोर साहू का गांव मे सटा हुआ अलग अलग दो मकान है। एक मकान मे बेटी का शव फंदे से लटकता मिला तो दूसरे मकान के कमरे मे डेढ़ माह की नातिन का शव चारपाई पर मिला। मृतका का विवाह पडोस के घूंघुर लवाना गांव निवासी मनोज साहू के साथ हुआ था।

पति मनोज नोएडा मे कारोबारी के सिलसिले मे रहता है। बताया जाता है कि मृतका ममता की बेटी की तबीयत इधर खराब चल रही थी। मां-बेटी की मौत की जानकारी होते ही गांव मे हडकंप मच गया। हालांकि पुलिस के पहुंचने के पहले ही गांव के लोगों ने मृतका का शव फंदे से उतार लिया था। जानकारी मिलते ही लालगंज कोतवाल कमलेश पाल भी अलीपुर गांव पहुंच गए।

मृतका ममता अपने पिता की अकेली संतान थी। मासूम के साथ मृतका की मौत को लेकर गांव मे हत्या की वारदात की आशंका जताई जा रही है। दबीजुबान से लोग ममता व उसकी मासूम बेटी की मौत को अकेली संतान होने के कारण सम्पत्ति की बदनीयती से भी जोड़ा जा रहा है। कोतवाल कमलेश पाल का कहना है दोनों शवों का पंचनामा कर पीएम के लिए भेजवाया गया है, पीएम रिर्पोट तथा घटना की जांच के तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00