जेल में जल्द शुरू होगी वीडियाकांन्फ्रेंसिंग की सुविधा

Jhansi Bureau Updated Thu, 15 Feb 2018 05:00 AM IST
जेल में जल्द शुरू होगी वीडियो कांफ्रेंसिंग की सुविधा
ललितपुर।
जेल में रिमांड पर बंद बंदियों को बार-बार न्यायालय के चक्कर से बचाने के लिए वीडियो कांफ्रेंसिंग पेशी की सुविधा जल्द ही ललितपुर जेल को भी मिलेगी। गौरतलब हो कि जिला कारागार को यह सौगात दो साल पहले ही मिल चुकी है, लेकिन तकनीकि विशेषज्ञ न होने के कारण यह संचालित नहीं हो पा रही थी। अब जेल प्रशासन ने जिला प्रशासन की मदद से सजायाफ्ता कैदियों को प्रशिक्षण देकर इसका शुभारंभ करवाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं।
गौरतलब हो कि रिमांड वाले बंदियों को अदालत में जज के समक्ष पेश होने के लिए जाना पड़ता है। वहां सिर्फ हाजिरी लगाने के बाद उन्हें वापस जेल में बंद कर दिया जाता है। ऐसे में रिमांड पर बंद कैदियों को लाने और ले जाने में जेल प्रशासन और अदालत में खराब होते समय को बचाने और सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के लिए शासन की ओर से जेलों में वीडियो कांफ्रेंसिंग की सुविधा शुरू की गई है। इसके तहत जेलों में लाखों के उपकरण लगवाए गए। ललितपुर जिला कारागार में यह सुविधा दो साल पहले ही मिल गई थी। लेकिन जेल में इन उपकरणों को चलाने के लिए तकनीकि विशेषज्ञ न होने के कारण यह सुविधा नहीं मिल पा रही थी। हाल ही कुछ महीनों में हुए घटनाक्रम के बाद जेलर के पद पर आए शैलेंद्र प्रताप सिंह ने इसे शुरू करने के लिए प्रयास शुरू कर दिए। इसके लिए डीएम मानवेंद्र सिंह की मदद से एनआईसी के विशेषज्ञों से जेल में बंद सजायाफ्ता कैदियों को प्रशिक्षण दिलवाया गया। इसके लिए एनआईसी की टीम ने कंप्यूटर के जानकार दो कैदियों को प्रशिक्षण दिया और वीडियो कांफ्रेंसिंग के उपकरणों को चलाने की जानकारी दी। जेल प्रशासन ने बताया कि दो दिनों के प्रशिक्षण में सजायाफ्ता कैदियों को प्रशिक्षित किया गया है। अब इन्हीं कैदियों के माध्यम से अन्य कैदियों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

रिमांड पर बंद कैदियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी के लिए यह सुविधा शुरू की गई थी। तकनीकि विशेषज्ञ न होने से यह संचालित नहीं हो पा रही थी। जिला प्रशासन की मदद से कैदियों को प्रशिक्षित किया गया है। वर्तमान में इसका ट्रायल किया जा रहा है। जल्द ही इसका शुभारंभ कर शुरुआत की जाएगी।
शैलेंद्र प्रताप सिंह, जेलर, ललितपुर

Spotlight

Most Read

Lucknow

पुलिस और अपराधी अम्बुज यादव में सीधी मुठभेड़, सिपाही को लगी गोली

सीतापुर के जनपद के कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के पकड़पुर गांव के पास अपराधी अम्बुज यादव और पुलिस के बीच बुधवार सुबह मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से घंटों तक हुई गोलीबारी के बाद पुलिस ने अम्बुज यादव को हिरासत में ले लिया।

21 फरवरी 2018

Related Videos

झांसी में हारे हुए प्रत्याशी ने नवनिर्वाचित पार्षद को मारी गोली

झांसी में नवनिर्वाचित निर्दलीय प्रत्याशी अनिल सोनी को गोली मार दी गई। गोली हारने वाले निर्दलिय प्रत्याशी मोहित चौहान ने मारी है। बता दें गोली जीते हुए प्रत्याशी अनिल सोनी के सिर से छूते हुए निकली। फिलहाल अनिल सोनी की हालत स्थिर बनी हुई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen