पुलिस की हिरासत में गैंगरेप मामले में नहीं दर्ज हुआ केस

jaunpur Updated Sat, 11 Feb 2017 01:22 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
हत्या के आरोप में जेल में बंद युवती के साथ पुलिस हिरासत में गैंगरेप के मामले में दूसरे दिन शुक्रवार को भी मीरगंज पुलिस ने एफआईआर  दर्ज नहीं की। उधर, जेल में गर्भवती होेने के दौरान मामले की जांच करने वाले डीआईजी जेल की जांच पर भी सवाल उठने लगा है।
विज्ञापन

युवती के पिता का आरोप है कि बार-बार जेल अफसरों को उनकी पुत्री अपने साथ हुई घटना की जानकारी देती रही लेकिन  उन्होेंने अपने स्तर से कार्रवाई नहीं की। उधर, पुलिस पूरे मामले को फर्जी बता रही है। पुलिस का कहना है कि हत्या के जुर्म से बचने के लिए यह पेश बंदी है।
पवारा थाना क्षेत्र में 30 अक्तूबर को अधिवक्ता की हत्या के बाद युवती को पुलिस ने हिरासत में लिया। युवती कब कैसे गर्भवती हुई इसका खुलासा जेल के मेडिकल जांच में नहीं हुआ। अमर उजाला ने जब मामले का खुलासा किया तो आनन फानन में युवती का आपरेशन कराकर बच्चा पैदा करा दिया गया।
मामले की जांच कारागार मंत्री ने डीआईजी जेल को सौंपी तो उन्होंने क्या जांच की? अब सीजेएम के आदेश के बाद भी केस दर्ज नहीं करना पुलिस की मनमानी का उदाहरण है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X