विज्ञापन
विज्ञापन

पंजाब ही नहीं, बरेली भी उड़ रहा है

ब्यूरो, अमर उजाला बरेली Updated Sat, 25 Jun 2016 02:04 AM IST
ख़बर सुनें
पंजाब में मजबूत सिख कौम को तबाह करने पर तुले ड्रग तस्करों पर बनी ‘उड़ता पंजाब’फिल्म की देश में चर्चा में है। इस मामले में अपना बरेली भी मिनी पंजाब ही है। हफ्ता -महीना वसूली सिस्टम से चल रहे थानों की कमाई का ये सबसे बड़ा जरिया है। कमाऊ थानों से बड़े अफसर खुश हैं इसलिए नशे पर अंकुश लगाने की कोई रणनीति बनाते ही नहीं। वे इसलिए भी कुछ नहीं कर रहे कि सारा माल तो नेताओं के झंडे लगी गाडियों में आ-जा रहा है और नशेबाजों की उनसे सीधी डील है। वरना तस्करों के हाथों एक दरोगा की मौत पर कुछ तो हरकत होती। 
विज्ञापन
दिल्ली की टीमें बरेली से तस्करों को उठा ले जाती हैं लेकिन किसी जिम्मेदार को शर्म नहीं आती। एक से करोड़ों की स्मैक मिल रही है। खुलासा हो रहा है कि दिल्ली में बनी पिस्टलों के बदले बरेली से स्मैक जा रही है। उत्तराखंड की छात्राएं तक यहां माल लेने के लिए कैरियर की तरह इस्तेमाल हो रही हैं। एक नहीं कई बार अड्डे चिह्नित हो चुके लेकिन धंधे में इतना माल है कि इसके खिलाफ कोई रणनीति नहीं बनती। 
बरेली शहर के अलावा फतेहगंज पूर्वी, फरीदपुर, फतेहगंज पश्चिमी और मीरगंज में स्मैक, चरस और अफीम का धंधा खुले आम चल रहा है।  बच्चे भी नशे के आदी होकर अपना भविष्य बर्बाद हो रहे हैं। लोगों से बातचीत करने पर एक बात साफ हो जाती है धंधेबाजों को स्थानीय पुलिस का भी पूरा संरक्षण है। शहर में गंगापुर चौराहे पर मठिया वाली गली की स्मैक खुलेआम बिकती है। यहां लोग राखी उर्फ मैकिया का नाम लेते हैं जो 120 रुपये देकर चुटकी भर स्मैक दे देती है। सैलानी में लोगों ने सलीम का नाम लिया। इनके अलावा जाटवपुरा, सुभाषनगर, बदायूं रोड, नकटिया पर भी खोखों और ठेलों पर स्मैक की पुड़िया बिकती हैं। रामगंगा पुल के निकट गोताखोर पंखिये स्मैक बेचते हैं। फतेहगंज पश्चिमी में अंसारी मोहल्ला भी स्मैक, चरस, अफीम के धंधे के लिए जाना जाता है। एक स्मैकिये के मुताबिक यहां थोक में 12 सौ से 16 सौ रुपये प्रति ग्राम स्मैक मिलती है। सस्ते रेट वाला माल अच्छा नहीं होता। फरीदपुर में पिछले साल एसटीएफ ने स्मैक, चरस और अफीम का बड़ा कारोबार करने वाले सपा अल्पसंख्यक सभा के नगर अध्यक्ष अजीमुल्ला को पकड़ा था। स्थानीय पुलिस को खबर नहीं दी गई वरना उसे पकड़ना मुस्किल होता। अजीमुल्ला से बड़ी मात्रा में नशीले पदार्थ पकड़े गए थे। वह जेल में है लेकिन उसका धंधा आस-पास के इलाकों में अभी भी चल रहा है। 
नेपाल से पंजाब तक होती है तस्करी
बरेली में हाइवे के ढाबों से स्मैक, चरस, अफीम हीरोइन समेत अन्य नशीले पदार्थों की तस्करी  पीलीभीत, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी, बहराइच, ही नहीं नेपाल और  दिल्ली और पंजाब तक जाती है। तस्कर बिहार और झारखंड से कच्चा माल लाते हैं।  फतेहगंज पूर्वी में एक ढाबे  की मालकिन नशीले पदार्थों की तस्करी में जेल भी जा चुकी हैं। 
नशे के धंधे के गढ़
शहर- गंगापुर, सैलानी, जाटवपुरा, सूफी टोला, सुभाषनगर, नकटिया, पुराना शहर के इलाके, बड़ा बाईपास पर अहिलादपुर, रजऊ परसपुर, फरीदपुर में कानून गोयान मोहल्ला, बहेरा, मोहनपुर, बीसलपुर रोड की कालोनियां, शिवपुरी रंधौली, अठान गांवों समेत शाहजहांपुर की तिलहर, जलालाबाद तहसील और बदायूं की दातागंज तहसील। 
‘पुलिस नशे के कारोबार करने वाली जगहों पर समय-समय पर छापेमारी करती है। जहां ये कारोबार चल रहे हैं, वहां फिर से रेड डलवाकर तस्करों को जेल भेजा जाएगा।’ आरके भारद्वाज, एसएसपी बरेली।
1- सूफी टोला में मानसिक चिकित्सालय की दीवार से लगी गली में 12.30 बजे बैसाखी बाबा दो साथियों शकील और यासीन स्मैक  ले भरी बीड़ी का दम भर रहे हैं। शकील बड़बड़ा रहा था- सबका रिक्शा मिलिगै। हमैं तो कछू मिलैइया नाय। नशा नाय करैं तो का करैं। 
2- फरीदपुर के भूरा गांव का रहने वाला 18 साल का मुन्ना खुर्रम गौंटिया में सड़क के किनारे दोपहर की तगड़ी धूप में एक बजे स्मैक पी रहा था। बोला- अब्बू पीते थे तो हम भी पीने लगे। स्मैक पीने के लिए ये रोज बरेली आना पड़ता है। कारचोबी में 350 रुपये रोज कमाते है। इसमें 240 की स्मैक पी जाते हैं। 
3- अपराह्न 1.30 बजे गंगापुर चौराहे पर पीपल के पेड़ के नीचे स्मैकियों का जमावड़ा लगा था। बाकी स्मैकिये स्मैक पी रहे थे। नन्हें तंबाकू मलते हुए बाकी से एक या दो बार दम लगवाने के लिए गिड़गिड़ा रहा था। बोला-  सिर पैर दर्द कर रहे हैं। आप खरीदो तो एक पुड़िया हमें भी दे देना। 
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

ससुराल वालों ने घर से निकाला तो बाहर से ताला डाला और बैठ गई धरने पर

ससुराल वालों ने घर से निकाला तो बाहर से ताला डाला और बैठ गई धरने पर

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन

अहमदाबाद जेल में बैठ ऐसे धमका रहा है दबंग बाहुबली अतीक अहमद !

अहमदाबाद जेल में बैठ कर दबंग बाहुबली अतीक अहमद फोन पर धमकी दे रहा है। ऑडियो वायरल हो रहा है। लेकिन इसकी पुष्टि होना बाकी है।

9 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election