विज्ञापन
विज्ञापन

एफएसओ हैरान.. बेसमेंट में आईसीयू, ऑपरेशन थिएटर कैसे बना लिया

Bareily Bureauबरेली ब्यूरो Updated Sun, 09 Dec 2018 01:47 AM IST
ख़बर सुनें
बरेली। कर्मचारीनगर में स्थित नवोदय हॉस्पिटल के बेसमेंट में अग्निकांड होने के दूसरे दिन फायर डिपार्टमेंट के फायर सेफ्टी ऑफिसर सोमदत्त छानबीन के लिए पहुंचे। बेसमेंट में छोटी सी जगह में ऑपरेशन थिएटर और आईसीयू बना देखकर उन्होंने हैरानी जताई। पूछा- यहां तो पार्किंग होनी चाहिए थी। उन्होंने अस्पताल के मालिक डॉ. योगेश से फायर एनओसी मांगी। इस पर डॉ. योगेश ने बताया कि उन्होंने जनवरी, 2018 में उप निदेशक (फायर) से संस्तुति करा ली थी। इसके मुताबिक 500 मीटर से कम क्षेत्रफल और 15 मीटर से कम ऊंचाई वाली इमारत को फायर एनओसी की आवश्यकता नहीं होती है। संस्तुति पत्र को देखकर एफएसओ बोले- ये तो ठीक है, लेकिन एनओसी कहां है। अगर नहीं थी तो आवेदन क्यों नहीं किया। एफएसओ ने बताया कि 16 फरवरी, 2018 में प्रमुख सचिव गृह ने आदेश जारी कर सभी अस्पतालों के लिए फायर एनओसी अनिवार्य कर दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
बीडीए को फायर एनओसी जांचने के लिए लिखा
फायर डिपार्टमेंट ने बीडीए को भी लिखा है कि बिना फायर एनओसी जांचे नक्शा पास न करें। पत्र में इस बात का जिक्र है कि सभी अस्पतालों के लिए एनओसी अनिवार्य है। फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं लगाने पर लापरवाही से मरीजों की जान खतरे में पड़ सकती है।

सीएमओ ने एसीएमओ को सौंपी जांच
बरेली। सीएमओ ने नवोदय हॉस्पिटल में आग लगने के मामले की जांच शुरू करा दी है। उन्होंने एसीएमओ डॉ. रंजन गौतम को स्थलीय निरीक्षण करके रिपोर्ट देने को कहा है। सीएमओ के मुताबिक, शुरुआती जांच में सामने आया है कि हॉस्पिटल को जितने बेड पर मरीज भर्ती करने की अनुमति दी गई है, उससे अधिक बेड डाले गए हैं। अब आगे की कार्रवाई एसीएमओ की रिपोर्ट के आधार पर होगी। सीएमओ ने बताया कि नवोदय हॉस्पिटल की फाइल अप्रैल में नवीनीकरण के लिए आई थी। अब सामने आया है कि फाइल में फायर डिपार्टमेंट की एनओसी थी ही नहीं, सिर्फ संस्तुति पत्र था। हालांकि फिर भी नवीनीकरण कर दिया गया था। सीएमओ अब सभी अस्पतालों की फायर डिपार्टमेंट की एनओसी की जांच कराने की बात कह रहे हैं।

55 अस्पतालों का रजिस्ट्रेशन नहीं, सौंपे थे शपथपत्र
सीएमओ ऑफिस के मुताबिक, शहर में 298 अस्पताल संचालित है। इनमें करीब 55 अस्पतालों का रजिस्ट्रेशन सीएमओ कार्यालय से नहीं है। इन अस्पतालों में हादसे होने को लेकर प्रबंधन को तलब किया गया तो सीएमओ कार्यालय में शपथपत्र दिए गए थे कि हादसा होने की सूरत में अस्पताल प्रबंधन खुद ही जिम्मेदार होंगे। सीएमओ कार्यालय ने भी पल्ला झाड़ लिया था। इन 55 अस्पतालों में हादसा होने पर मरीजों की जान खतरे में पड़ना तय है।
 

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bareilly

मुस्लिम परिवार ने शादी के कार्ड पर छपवाई राम-सीता की तस्वीर, कहा- हमें ईश्वर-अल्लाह दोनों से प्यार

शाहजहांपुर के चिलौवा गांव में एक मुस्लिम परिवार ने अपनी बेटी रुखसार बानो के शादी के निमंत्रण कार्ड पर भगवान राम और सीता की तस्वीर छपवाई है।

25 अप्रैल 2019

विज्ञापन

सीएम योगी के मंत्री का ‘महागठबंधन’ पर तंज, दे दिया ये नाम

यूपी सरकार में मंत्री सुरेश खन्ना ने महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि ये सब फ्यूज्ड ट्रांसफॉर्मर हैं. इनकी क्या चर्चा करना. सुनिए क्या बोले बीजेपी नेता सुरेश खन्ना।

25 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election