बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

छावनी बना रहा विवि, फिर भी छात्र ने लगा ली आग

ब्यूरो/अमर उजाला इलाहाबाद Updated Sat, 04 Apr 2015 12:17 AM IST
विज्ञापन
University remained the camp , even though the student has the fire

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
इलाहाबाद। इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन पर छात्र के आत्मदाह करने की कोशिश की घटना ने पुलिस की भूमिका पर भी कई सवाल खड़े कर दिए हैं। छात्रों के आंदोलन के मद्देनजर विश्वविद्यालय परिसर और आसपास का इलाका छावनी में तब्दील है। इसके बावजूद छात्र आग लगाने और वहां से निकल जाने में भी सफल रहा।
विज्ञापन


प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार छात्र के आग लगाने के बाद वहां मौजूद पीएसी और पुलिस के जवान उसे बचाने के बजाय इधर-उधर भागने लगे। छात्रों का कहना था कि  यह तो अच्छा रहा कि रजनीश ने मिट्टी का तेल छिड़का था। अगर पेट्रोल रहा होता तो स्थित नियंत्रण से बाहर होती। घटना की जानकारी के बाद पुलिस के अफसर पहुंचे, उन्होंने सुरक्षा कर्मियों को फटकार लगाने के साथ पूछताछ भी की लेकिन छात्र के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी।


लोक सेवा आयोग अध्यक्ष के खिलाफ छात्र और प्रतियोगी रविवार से ही आंदोलनरत हैं। इसकी वजह से आयोग दफ्तर के अलावा विश्वविद्यालय में भी भारी फोर्स तैनात है। विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन पर 30 से 40 सुरक्षा कर्मीहमेशा रहते हैं। घटना के वक्त विश्वविद्यालय के सुरक्षा कर्मी भी मौजूद थे।

छात्रसंघ भवन गेट से केपीयूसी गेट तक भी पीएसी और पुलिस के सैकड़ों जवान तैनात हैं। सुरक्षा कर्मियों को स्पष्ट निर्देश मिले थे कि छात्रसंघ भवन और आसपास के इलाके में छात्रों को इकट्ठा न होने दिया जाए। इसके बावजूद छात्रसंघ भवन पर छात्रों की भीड़ इकट्ठा हो गई और इनमें से एक रजनीश सिंह ने पुलिस वालों के सामने खुद को आग के हवाले कर दिया। नारेबाजी से लेकर तेल छिड़कने तक सुरक्षा कर्मी उसे देखते रहे। आग लगने के बाद छात्र को बचाने के बजाय वे उससे दूर भागने लगे।

अगर छात्र खुद आगे बढ़कर आग न बुझाते तो बड़ी घटना हो सकती थी। घटना के कुछ देर बाद कर्नलगंज सीओ और इंस्पेक्टर समेत अन्य अफसर भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सुरक्षा कर्मियों से छात्र के बारे में जानकारी मांगी लेकिन कोई कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं था। सुरक्षा कर्मियों के इस तरह से पीछे हट जाने से छात्रों में काफी आक्रोश है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us