विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पहले भगवान विष्णु के मंदिर में माथा टेका, फिर चांदी और नकदी ले उड़ा शातिर, देखें तस्वीरें

शिमला कॉल गर्ल्स नताशा वेबसाइट का संचालक काबू, गोवा तक फैला था रैकेट, आरोपी ने किए बड़े खुलासे

शिमला कॉल गर्ल्स नताशा वेबसाइट से सेक्स रैकेट चलाने वाले संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसने खुद पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। इसकी पहचान पहचान विक्रम उर्फ सेंडी (32) निवासी पंचकूला, हरियाणा के तौर पर हुई है।

वेबसाइट में इसने लड़कियों की तस्वीरों के अलावा दो मोबाइल नंबर भी डिस्पले कर रखे थे। इस रैकेट को चलाने वाले एक आरोपी वीरेंद्र सिंह को पहले ही पुलिस ने दबोचा है। इसी ने पूछताछ में बताया कि वेबसाइट को विक्रम चलाता है और पैसों का लेन-देन एडवांस ऑनलाइन ही होता है।

जानकारी मिलने के बाद आरोपी की तलाश में पुलिस चंडीगढ़ और पंचकूला गई। पुलिस का बढ़ता शिकंजा देख आरोपी ने सोमवार शाम को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। 
... और पढ़ें

तहसीलदार और बीडीओ पर हमले का प्रयास, नशे में धुत्त युवकों ने रोका रास्ता

हिमाचल के मंडी जिले में तहसीलदार और बीडीओ की गाड़ी का पीछा कर दुर्व्यवहार करने और हमले के प्रयास के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया गया है। दो आरोपी युवक अभी फरार हैं। घटना रविवार देर रात चैलचौक सब्जी मंडी के पास की है। 

बताया जा रहा है कि ख्योड़ मेला देखकर लौट रहे तीन युवकों ने नशे की हालत में सब्जी मंडी के पास सड़क के बीचोंबीच कार खड़ी कर जाम लगा दिया। इसी दौरान तहसीलदार गोहर अमित कुमार और बीडीओ गोहर निशांत शर्मा गाड़ी से चैलचौक से गोहर की तरफ आ रहे थे।

अमित कुमार गाड़ी से नीचे उतरे और युवकों को कार साइड में खड़ी करने को कहा। युवकों ने कार साइड में कर दी। जाम खुलने के बाद जैसे ही अधिकारी निकले तो दाड़ी के पास युवकों ने इनकी गाड़ी का पीछा शुरू कर दिया। कुछ ही दूरी पर नशे में धुत युवकों ने ओवरटेक कर तहसीलदार की गाड़ी रोक दी।

युवक गाड़ी से नीचे उतरे और तहसीलदार से दुर्व्यवहार कर हमला करने लगे। तहसीलदार ने अपना परिचय दिया तो ये फरार हो गए। एसएचओ संजीव ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एक युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। 
... और पढ़ें

मंडी के संत का रोपड़ में बेरहमी से कत्ल, हत्यारों ने सिर के बाल उखाड़े

सतलुज दरिया के हेड वर्क्स पुल के नजदीक ऋषि मुनि दिश्म आश्रम के संत की हत्या कर दी गई है। शव से दुर्गंध आ रही थी। आश्रम का सारा सामान भी बिखरा हुआ मिला। यहां तक कि संत के सिर के बाल भी सिर से उखाड़े हुए थे, जिससे लग रहा है कि कत्ल बड़ी बेरहमी के साथ किया गया था।

सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है। फोरेंसिक टीम से जांच करवाई जा रही है। विश्व हिंदू परिषद, शिवसेना बाल ठाकरे सहित अन्य हिंदू संगठनों ने संत के कत्ल की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। 

संत योगेश्वर सतलुज दरिया के किनारे अपने आश्रम में पिछले लगभग 40 वर्षों से रहते थे और दरिया किनारे पूजा-पाठ करते थे। महात्मा योगेश्वर 20 वर्ष की आयु में ही संन्यासी हो गए थे। वह हिमाचल के जिला मंडी सरकाघाट के निवासी थे। रविवार की सुबह संत का एक भक्त आश्रम में उन्हें भोजन देने के लिए गया।

उसने वहां देखा कि आश्रम का मुख्य द्वार टूटा है और संत कमरे में मृत हालत में पड़े थे। इसकी सूचना उनके भाई दिनेश कौशल को दी गई। उन्होंने इस संबंधी थाना काठगढ़ पुलिस (नवांशहर) को शिकायत की। पुलिस थाना काठगढ़ के एसएचओ परमिंदर सिंह ने बताया कि मौका देखने से पता लगता है कि संत का कत्ल कुछ दिन पहले हो चुका था। शव की हालत भी काफी खराब थी। 

उन्होंने बताया कि एलईडी, इन्वर्टर बैटरा भी चोरी हुआ है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उन्होंने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। कत्ल की जांच के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया है। टीमों में फोरेंसिक विशेषज्ञ, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और अन्य विशेषज्ञ शामिल किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि महात्मा योगेश्वर के कत्ल को लेकर अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है और जल्द ही दोषियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उधर, विश्व हिंदू परिषद के प्रधान सतीश शर्मा, शिवसेना बाल ठाकरे के प्रधान अश्वनी कुमार सहित अन्य संस्थाओं ने मांग की है कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाए।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

पुरानी खबर वायरल करने पर सेवानिवृत्त अधिकारी पर केस

मंडी में सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी ने फेसबुक पर चीनी नागरिकों के पकड़े जाने की सूचना वायरल कर दी। मामला पुलिस के पास पहुंचा। छानबीन में पता चला है कि यह खबर करीब आठ साल पुरानी है। पुलिस ने इस मामले में रिटायर्ड सैन्य अधिकारी पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस इसके लिए फेसबुक पर संबंधित व्यक्ति की प्रोफाइल की छानबीन कर फेक न्यूज फैलाने वाले को ट्रेस कर रही है। फेसबुक प्रबंधन से भी जानकारी मांगी जा रही है। 

मंडी पुलिस ने इस फेक न्यूज को लेकर सोशल मीडिया में पोस्ट डालकर सभी को अलर्ट कर दिया है कि यह खबर झूठी है और इसे शेयर न करें। सोशल मीडिया में फेक खबरें फैलाने वालों पर पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। अब तक कर्फ्यू के दौरान मंडी जिला में फेक न्यूज से संबंधित 15 मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

जिनमें पुलिस जल्द छानबीन पूरी कर चालान कोर्ट में पेश करेगी। एसपी मंडी गुरदेव शर्मा ने सभी से अपील की है कि सोशल मीडिया में किसी भी प्रकार कोरोना महामारी से संबंधी फेक न्यूज न फैलाएं। फेक न्यूज सोशल मीडिया में अपलोड करना और फैलाना कानूनी जुर्म है। उन्हाेंने कहा कि सभी फेक न्यूज शेयर करने से बचें।
... और पढ़ें

टीजीटी शिक्षिका का पीछा करता घर पहुंच गया युवक, मामला दर्ज

प्रदेश के मंडी जिले के एक सरकारी स्कूल में टीजीटी आर्ट्स की शिक्षिका से दिनदहाड़े छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। पुलिस ने शिक्षिका की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। शिकायतकर्ता शिक्षिका का आरोप है कि उसने स्कूल में बतौर टीजीटी आर्ट्स अभी हाल ही में ज्वाइन किया है।

स्कूल से कुछ दूरी पर ही उसने घर पर किराये का कमरा ले रखा है। आरोप लगाया कि उसके पड़ोस में रहने वाला युवक उसका पिछले कुछ दिन से पीछा कर रहा है। 17 मार्च को जब वह स्कूल से छुट्टी होने के वाद अपने कमरे में पहुंची तो आरोपी पीछा करता हुआ उसके कमरे तक आ पहुंचा और दरवाजा खटखटाने लगा। आरोपी मेरे कमरे की खिड़की के पास आ गया और मुझे कहा कि कमरा खोलना है तो खोल।

इतना कहकर उसने मेरी खिड़की का शीशा तोड़ दिया। किसी तरह वह कमरे से भाग कर मकान मालिक के पास चली गईं। एसएचओ ललित महंत ने कहा कि पुलिस ने शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है।
... और पढ़ें

दिव्यांगता पेंशन पाने के लिए दिए फर्जी प्रमाण पत्र, छह लोगों पर केस

हिमाचल के जिला मंडी में दिव्यांगता पेंशन के लिए फर्जी मेडिकल जमा करवाने का मामला सामने आया है। तहसील कल्याण अधिकारी गोहर की शिकायत पर पुलिस ने छह लोगों पर धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। एक ही क्षेत्र से मिले-जुले मेडिकल आने के बाद तहसील कल्याण कार्यालय के कर्मचारियों को फर्जीवाड़े की आशंका हुई।

जब स्वास्थ्य विभाग से जारी मेडिकल की सत्यता जांची तो ये मेडिकल फर्जी निकले। दस्तावेजों पर मुहर और साइन भी फर्जी पाए गए। स्वास्थ्य विभाग के पास इसका कोई रिकॉर्ड नहीं था। विभाग की सूचना पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इससे स्वास्थ्य विभाग और तहसील कल्याण विभाग में भी हड़कंप मचा है।

एसपी मंडी गुरदेव शर्मा ने बताया कि छह लोगों के खिलाफ गोहर थाने में आईपीसी की धारा 420, 467, 468 और 471 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच अधिकारी एसएचओ गोहर सूरम सिंह ने बताया कि जल्द शातिरों का भंडाफोड़ कर दिया जाएगा। आरोपी ने फर्जी मुहर, फर्जी साइन और जाली मेडिकल बनाने की विधि तैयार कर लोगों के अपंगता पेंशन के लिए फर्जी मेडिकल बनाए हैं। पुलिस ने एफआईआर में नामजद फर्जी दस्तावेज जमा करवाने वाले लोगों से पूछताछ भी की, लेकिन अभी किसी ने मुंह नही खोला है। 
... और पढ़ें

नाके पर चेकिंग के दौरान हरियाणा का युवक 850 ग्राम चरस के साथ गिरफ्तार

सांकेतिक तस्वीर

देवता के नाम पर मिड-डे मील में जातिगत भेदभाव के आरोप, पुलिस में शिकायत

हिमाचल के मंडी जिले के बालीचौकी में फिर जातीय भेदभाव का मामला सामने आया है। एक स्कूल के अनुसूचित जाति के अभिभावकों ने ऊंची जाति के अभिभावकों पर देवता के नाम पर अध्यापकों पर बच्चों को मिड-डे मील में रोलनंबर वाइज न बैठाने का दबाव बनाने के आरोप लगाए हैं। यह मामला 16 दिसंबर का बताया जा रहा है। इसकी शिकायत कुछ अनुसूचित जाति के अभिभावकों ने औट थाना प्रभारी को की थी। इसके बाद यह मामला एसपी तक पहुंचा और एसपी ने डीएसपी को जांच का जिम्मा सौंपा। 

वीरवार को डीएसपी ने गांव व स्कूल का दौरा किया और जांच के बाद रिपोर्ट एसपी को सौंपी। एसपी मंडी गुरदेव शर्मा के अनुसार यह इसमें कोई एट्रोसिटी का मामला नहीं बनता है। आरोप था कि स्वर्ण जाति के अभिभावकों ने स्कूल के अध्यापकों पर दबाव बनाया कि उनके बच्चों को अनुसूचित जाति के बच्चों के साथ रोल नंबर वाइज न बैठाया जाए। कहा कि उनके बच्चे बीमार हो जाते हैं, क्योंकि उनका देवता नहीं मानता है। इससे स्कूल का माहौल खराब हो गया है। अभिभावकों का कहना है कि शीतकालीन सत्र में शिक्षा मंत्री ने जातीय भेदभाव मामले में दोषी शिक्षकों को बर्खास्त करने के फरमान जारी किए हैं। इन अध्यापकों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।
... और पढ़ें

अनुसूचित जाति के छात्रों को अलग से मिड-डे मील परोसने पर स्कूल प्रबंधन पर मुकदमा

हिमाचल के मंडी जिले में बालीचौकी के एक प्राइमरी स्कूल में अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को अलग से मिड-डे मील परोसने का मामला सामने आया है। एक छात्र के पिता की शिकायत पर पुलिस ने स्कूल प्रबंधन पर एससी/एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मुकदमा दर्ज होने की पुष्टि एसपी मंडी गुरदेव शर्मा ने की है। उन्होंने बताया कि प्राइमरी स्कूल प्रबंधन पर जातिगत आधार पर अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को अलग से मिड-डे परोसने की शिकायत कथेड़ गांव के एक छात्र के पिता ने की थी।

उन्होंने एक वीडियो पुलिस को सौंपते हुए आरोप लगाया कि उनके बेटे के साथ-साथ अन्य अनुसूचित जाति के छात्रों के साथ भी स्कूल अधिकारियों ने मिड-डे मील वितरण के दौरान अलग-अलग बैठाकर जाति आधारित भेदभाव का शिकार बनाया जा रहा है। एसपी ने कहा कि औट थाना में इस संदर्भ में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच डीएसपी अनिल कुमार पटियाल को सौंपी गई है। उल्लेखनीय है कि इस तरह के मामले मंडी जिले में पहले भी सामने आ चुुके हैं। नाचन के किलिंग में इसी तरह मिड-डे मील के दौरान जातिगत भेदभाव का मामला हाईकोर्ट तक पहुंच चुका है।
... और पढ़ें

निजी होटल में चिट्टे के साथ नाबालिग लड़की समेत चार विद्यार्थी गिरफ्तार

नशे के खिलाफ अभियान के तहत पुलिस ने गुप्त सूचना पर एक निजी होटल से चार युवाओं को चिट्टे के साथ गिरफ्तार किया है। इनमें एक नाबालिग लड़की भी शामिल है। मौके पर युवाओं से पांच ग्राम चिट्टा बरामद किया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस को किसी व्यक्ति ने फोन पर सूचना दी। इस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मंडी शहर के एक निजी होटल में दबिश दी।

यहां युवाओं ने कमरा बुक करवा रखा था। पुलिस ने युवकों के कमरे में दबिश दी। पूछताछ और तलाशी लेने पर युवाओं से 5 ग्राम चिट्टा बरामद हुआ। पकड़े गए युवाओं में एक युवक और युवती मंडी के हैं जबकि दो युवा रिवालसर के रहने वाले है। सभी विद्यार्थी बताए जा रहे हैं। मामले की पुष्टि पुलिस अधीक्षक मंडी गुरुदेव शर्मा ने की। कहा कि पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

छापमारी कर कार में पकड़ी अवैध शराब
पुलिस ने एक अन्य मामले में रिवालसर में एक दुकान और एक कार से 122 बोतल देशी शराब, 12 बोतल अंग्रेजी शराब की बरामद की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मंडी पुलिस की एसआईयू टीम ने सायं कार्रवाई को अंजाम दिया। पुलिस ने रिवालसर के डोह निवासी चमन लाल के विरुद्ध मामला दर्ज किया है।
... और पढ़ें

एफबी अकाउंट हैक कर शातिरों ने बीमारी का झांसा दे दोस्तों से ऐंठ लिए 65 हजार

कुछ अरसे से बंद युवक का फेसबुक अकाउंट हैक कर शातिरों ने उसकी ही बीमारी का मैसेज दोस्तों को भेजकर उनसे करीब 65 हजार रुपये ऐंठ लिए। शातिरों ने मैसेज में एक पेटीएम नंबर पर दोस्तों से पैसे डालने का आग्रह किया था। दोस्त की जिंदगी और मौत का सवाल मानकर दोस्तों ने झांसे में आकर रातोंरात बताए गए पेटीएम नंबर पर रुपये ट्रांसफर कर दिए।

सुबह जब युवक विक्की डोगरा (23) को पैसे मिलने या न मिलने के फोन आने लगे तो वह हक्का-बक्का रह गया। उसने इसकी सूचना बीएसएल पुलिस थाने को दी। विक्की एचआरटीसी में बतौर मैकेनिक कार्यरत है।

पुलिस के अनुसार पंचायत पलोहटा का विक्की फेसबुक पर डोगरा विक्की के नाम से अपना अकाउंट चला रहा था, लेकिन कुछ समय से उसने अकाउंट का इस्तेमाल नहीं किया। बुधवार को विक्की के फेसबुक अकाउंट को शातिरों ने रात को हैक कर लिया और उसकी आईडी से उसके ही दोस्तों को बीमारी की दुहाई के मैसेज भेजकर पैसों की मांग की।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन