विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

हमीरपुर (हि. प्र.)

शनिवार, 18 जनवरी 2020

नौकरी का झांसा देकर मां, बेटा और बेटी ने 11 लोगों से ठगे 57 लाख

पुलिस थाना भोरंज के तहत मां, बेटा और बेटी ने नौकरी का झांसा देकर 11 लोगों से करीब 57 लाख रुपये ठगे हैं। पुलिस ने एक पीड़ित की शिकायत के आधार पर मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है। तीनों आरोपी उपमंडल भोरंज के रहने वाले हैं। हालांकि, पीड़ितों के पास रुपये देने का अभी तक कोई साक्ष्य नहीं है।

पीड़ित रविंद्र कुमार पुत्र मेहर चंद गांव हियोड़ डॉ. अवाहदेवी ने भोरंज थाने में शिकायत दर्ज करवाई है कि उसे उपमंडल भोरंज के निवासी मां, बेटा और बेटी ने खुद को किसी संस्था में अधिकारी बताया और उसकी पत्नी को सरकारी नौकरी देने का झांसा दिया। आरोपी का बेटा अवाहदेवी में काम करता है। पीड़ित उसके झांसे में आ गया और आरोपियों को छह लाख दे दिए।

जब तक पैसे नहीं दिए थे तो उसकी आरोपियों से फोन पर बात होती रहती थी, लेकिन पैसे देने के बाद अब कुछ दिनों से उनका फोन बंद आ रहा है। जिससे रविंद्र को ठगी का शिकार होने का आभास होने लगा। वह फिर उन्हें तलाशने लगा तो उनका कोई पता नहीं चला।

उसकी तरह और भी सात लोग उनकी ठगी का शिकार हुए हैं। पुलिस में दी शिकायत में रविंद्र ने कहा कि आशीष कुमार 2 लाख, बलिया राम 8 लाख, राजकुमार 6 लाख, सोमा देवी 4 लाख, तारा चंद 7 लाख, अनिल कुमार 4 लाख, नीलम एक लाख रुपये, सिमरो देवी 8 लाख, मेहर चंद 3 लाख, बेली राम 8 लाख रुपये की ठगी का शिकार हुए हैं।

इस तरह से सभी लोगों ने करीब 57 लाख रुपये की ठगी की है। थाना प्रभारी भोरंज कुलवंत का कहना है कि शिकायतकर्ताओं के पास रुपये देने का कोई साक्ष्य नहीं हैं। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

सेक्स रैकेट मामले में नया खुलासा, तीन हजार में होता था सौदा, ऐसे चलता रहा धंधा

फर्जी हस्ताक्षर कर बैंक प्रबंधक ने खाते से निकाले 2.30 लाख

पंजाब नेशनल बैंक के एक ब्रांच मैनेजर पर विजिलेंस थाना हमीरपुर में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हुआ है। महिला उपभोक्ता का आरोप है कि बैंक प्रबंधक ने उसके नाम के वाउचर पर फर्जी हस्ताक्षर कर 2.30 लाख निकाल लिए। विजिलेंस मामले की छानबीन में जुट गई है। 

महिला कारोबारी ने बताया कि उसने पीएनबी से अप्रैल 2017 में 50 लाख कैश क्रेडिट लिमिट लोन के लिए आवेदन किया। कुछ दिन बाद बैंक मैनेजर ने तय शर्तों के तहत 40 लाख रुपये खाते में डाल दिए। लेकिन बाद में 2.30 लाख रुपये की निकासी हो गई।

बैंक शाखा पहुंचकर जब पता किया तो यह राशि बैंक मैनेजर के एक रिश्तेदार के खाते में और बाद में उसकी पत्नी के खाते में डाली गई। इसके बाद बैंक के चक्कर काटती रही, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

मोटी रकम के गबन के आरोप में महिला ने अब हमीरपुर विजिलेंस थाना में इसकी शिकायत दर्ज करवाई है। उधर, राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो के उप पुलिस अधीक्षक बीडी भाटिया ने कहा कि आरोपी प्रबंधक से पूछताछ होगी।

वहीं, पंजाब नेशनल बैंक हमीरपुर के सर्कल हेड सिद्धार्थ मजूमदार का कहना है कि उन्होंने गत दिवस ही कार्यभार संभाला है। मामले की जांच के बाद बैंक प्रबंधन की तरफ से उचित कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

छेड़छाड़ की पीड़ित स्कूली छात्रा पर नकाबपोश ने किया हमला, मामला दर्ज

हिमाचल के हमीरपुर में छेड़छाड़ की पीड़ित स्कूली छात्रा पर नकाबपोश ने बुधवार को रास्ते में पत्थर से हमला कर दिया। नकाबपोश ने छात्रा की तरफ एक धमकी भरा पत्र भी फेंका, जिसमें लिखा था कि कोर्ट में झूठ बोलना, नहीं तो वह उसे जान से मार देगा। वारदात के बाद नकाबपोश फरार हो गया। डरी सहमी छात्रा ने स्कूल पहुंचकर स्टाफ को घटना की जानकारी दी। 

 स्कूल का महिला स्टाफ छात्रा को प्रधानाचार्य के पास ले गया। प्रधानाचार्य ने छात्रा की बात सुनने के बाद पुलिस को इस मामले की सूचना दी, जिसके बाद बड़सर थाने से पुलिस ने स्कूल पहुंचकर छात्रा के बयान कलमबद्ध किए। बता दें कि कुछ माह पूर्व उपमंडल बड़सर के एक सरकारी स्कूल की छात्रा से उसी स्कूल के प्रधानाचार्य ने छेड़छाड़ की थी।

बड़सर थाने ने पोक्सो एक्ट में केस दर्जकर हमीरपुर कोर्ट में चालान पेश किया। जहां से आरोपी को कुछ दिनों के बाद जमानत भी मिल गई। बताया जा रहा है कि बुधवार को इस मामले की कोर्ट में पेशी थी, लेकिन उससे पहले स्कूल जाते हुए पीड़ित छात्रा पर हमला हो गया। एसपी हमीरपुर अर्जित सेन ठाकुर ने कहा कि अज्ञात नकाबपोश के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है तथा पुलिस इस मामले में छानबीन कर रही है। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

होमवर्क पूरा न करने पर प्रिंसिपल ने आईटीआई प्रशिक्षु को बेल्ट से पीटा

हमीरपुर जिले की एक सरकारी आईटीआई के प्रिंसिपल पर संस्थान के प्रशिक्षु की बेल्ट से निर्मम पिटाई करने का आरोप लगा है। पीड़ित छात्र ने प्रधानाचार्य के खिलाफ मामले की शिकायत हमीरपुर पुलिस थाने में दी है।

पुलिस ने डॉ. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं हमीरपुर अस्पताल में पीड़ित छात्र का मेडिकल करवाया है। मेडिकल के बाद हमीरपुर पुलिस ने यह मामला दूसरे पुलिस थाने के अधिकार क्षेत्र का बताते हुए इसे संबंधित पुलिस थाने में ट्रांसफर कर दिया है। पुलिस ने पीड़ित छात्र के बयान लेकर जांच शुरू कर दी है। 

पुलिस को दी शिकायत में पीड़ित छात्र ने बताया कि वह मोटर मेकेनिक ट्रेड का प्रशिक्षु है। उसने होमवर्क पूरा नहीं किया था। इस पर शिक्षक ने संस्थान के प्रधानाचार्य को इस बारे में बताया। इससे प्रधानाचार्य भड़क गए। प्रशिक्षु छात्र का आरोप है कि प्रधानाचार्य ने उसे अन्य छात्रों के सामने फर्श पर लिटाकर बेल्ट से बुरी तरह पीटा है। पिटाई के चलते ठंड के मौसम में पूरा बदन दर्द कर रहा है। पीड़ित ने पुुलिस से आरोपी प्रधानाचार्य के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। 

आईटीआई के प्रधानाचार्य ने सभी आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने बताया कि मोटर मेकेनिक ट्रेड का प्रशिक्षु पढ़ने में लापरवाह है। न तो क्लास में आता है और न ही होमवर्क करता है। टीचर की शिकायत पर उससे पूछताछ की गई थी, लेकिन पिटाई नहीं की।

संबंधित प्रशिक्षु छात्र गरीब घर का है, अगर पढ़ेगा तो अच्छी नौकरी कर अपने परिवार को चला सकता है। उसे मन लगाकर पढ़ाई करने को कहा है। उधर, पुलिस अधीक्षक हमीरपुर अर्जित सेन ठाकुर ने कहा कि प्रशिक्षु ने शिकायत दी है। मेडिकल करवाया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

शिमला कॉल गर्ल्स नताशा वेबसाइट का संचालक काबू, गोवा तक फैला था रैकेट, आरोपी ने किए बड़े खुलासे

शिमला कॉल गर्ल्स नताशा वेबसाइट से सेक्स रैकेट चलाने वाले संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसने खुद पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। इसकी पहचान पहचान विक्रम उर्फ सेंडी (32) निवासी पंचकूला, हरियाणा के तौर पर हुई है।

वेबसाइट में इसने लड़कियों की तस्वीरों के अलावा दो मोबाइल नंबर भी डिस्पले कर रखे थे। इस रैकेट को चलाने वाले एक आरोपी वीरेंद्र सिंह को पहले ही पुलिस ने दबोचा है। इसी ने पूछताछ में बताया कि वेबसाइट को विक्रम चलाता है और पैसों का लेन-देन एडवांस ऑनलाइन ही होता है।

जानकारी मिलने के बाद आरोपी की तलाश में पुलिस चंडीगढ़ और पंचकूला गई। पुलिस का बढ़ता शिकंजा देख आरोपी ने सोमवार शाम को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। 
... और पढ़ें

छात्रवृत्ति घोटाला: शिक्षा विभाग के अधीक्षक के ठिकानों पर सीबीआई की दबिश

बहुचर्चित 250 करोड़ रुपये के छात्रवृत्ति घोटाले में सीबीआई ने गुरुवार को शिक्षा विभाग में अधीक्षक अरविंद राज्टा के तीन ठिकानों पर दबिश दी। सीबीआई की तीन टीमों ने शिमला के ढली, भट्ठाकुफर और कलबोग में राज्टा के फ्लैट और घरों पर सर्च रेड की।

छापामारी के दौरान सीबीआई राज्टा के घर से हार्ड डिस्क, पैन ड्राइव, बैंक पास बुक, चेक, बिजली के बिल और अन्य दस्तावेज अपने साथ ले गई। घोटाले के समय राज्टा शिक्षा निदेशालय में वरिष्ठ सहायक तैनात था।

छात्रवृत्ति का सारा बजट उसी के हाथ से निकलता था। मौजूदा समय में वह मशोबरा के बल्देयां स्कूल में अधीक्षक है। सुबह 10 बजे सीबीआई ने यह दबिश ढली की हिमगिरि कॉलोनी स्थित राज्टा के फ्लैट, उसके और उसके भाई के भट्ठाकुफर स्थित मकान व कलबोग स्थित उसके पैतृक मकान पर दी।

सर्च रेड दोपहर बाद तक चलती रही। रेड में शामिल सीबीआई के लगभग एक दर्जन अधिकारी और कर्मचारी जब्त दस्तावेजों को एकत्र कर सीलबंद लिफाफे में सीबीआई की शिमला ब्रांच ले आए। 
... और पढ़ें

ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों को निशाना बना रहे ठग, पुलिस ने किया सचेत, इन बातों का रखें ध्यान

बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग साइटों पर खरीदारी करने वाले लोगों को ठग अपना निशाना बना रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन के बाद हिमाचल साइबर क्राइम विंग ने इस संबंध में लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है।

साइबर क्राइम विंग के अनुसार शॉपिंग करते समय इस बात का ध्यान रखें कि साइट पर या तो कैश ऑन डिलीवरी का ऑप्शन आएगा या फिर ऑनलाइन ही पैसा जमा करना होगा।

इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति फोन कॉल, एसएमएस या ईमेल के जरिये संपर्क कर सामान मंगवाने की जानकारी देकर ग्राहक से बैंक अकाउंट, मोबाइल नंबर जैसी जानकारी मांगे तो उससे साझा न करें।

सीआईडी के अधिकारियों का कहना है कि संभव है कि ऑनलाइन शॉपिंग साइटों से ग्राहक का डाटा लीक हो रहा है और उसी लीक डाटा की मदद से ठग उपभोक्ता को निशाना बना रहे हैं। 
... और पढ़ें

मुख्यमंत्री जयराम के साथ फोटो दिखा ठग लिए ढाई लाख रुपये

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ फोटो खिंचवाकर और अपने बड़े रुतबे का झांसा देकर एक व्यक्ति ने युवक से ढाई लाख रुपये ऐंठ लिए। आरोपी ने युवक को पर्यटन निगम के होटल में नौकरी दिलवाने का झांसा दिया था। पीड़ित की पहचान अरुण शर्मा पुत्र विधि चंद निवासी गांव ठठवानी, उपमंडल भोरंज जिला हमीरपुर के रूप में हुई है। अरुण शर्मा पढ़ाई करने के बाद राजस्थान के जयपुर स्थित एक होटल में नौकरी करने गया था।

वहां इसी साल जून-जुलाई माह में उसकी पहचान एक व्यक्ति से हुई। आरोपी ने अरुण को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ अपनी फोटो दिखाई। कहा कि वह प्रदेश शिक्षा विभाग के शिमला स्थित निदेशालय में एक बड़ा अधिकारी है। मुख्यमंत्री के साथ अच्छे संबंध हैं। प्रदेश में एक बड़ा रुतबा भी है। अगर चाहो तो तुम्हें प्रदेश पर्यटन निगम के होटल में सरकारी नौकरी दिलवा सकता हूं। अरुण उसके झांसा में आ गया।
... और पढ़ें

राजकीय बहुतकनीकी कॉलेज में जूनियर से रैगिंग, छात्र निलंबित

राजकीय बहु तकनीकी महाविद्यालय बड़ू, हमीरपुर के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के तीसरे सेमेस्टर के छात्र ने पीजी में प्रथम सेमेस्टर के छात्र के साथ रैगिंग की है। पीड़ित छात्र ने इस बारे में अपने परिजनों को बताया।

परिजनों ने इसकी शिकायत कॉलेज प्रबंधन से की। पहले तो कॉलेज प्रबंधन ने अपने स्तर पर एंटी रैगिंग कमेटी और अनुशासन कमेटी की बैठक बुलाकर मामले की तफ्तीश की। इसके बाद इन समितियों की सिफारिश के बाद प्रधानाचार्य ने सदर थाना में इसकी शिकायत दर्ज करवाई है।

आरोपी छात्र को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्जकर कार्रवाई शुरू कर दी है। राजकीय बहुतकनीकी कॉलेज में प्रथम सत्र में पढ़ने वाला छात्र कॉलेज के बाहर पीजी में रहता है। इसी पीजी में जिला मंडी का आरोपी छात्र भी रहता है।

आरोपी प्रथम वर्ष के छात्र की रैगिंग करता था। रैगिंग के नाम पर उसे डराया जाता और विभिन्न प्रकार के कार्य करने को कहा जाता। इस पर पीड़ित ने अपने परिजनों को पूरी बात बताई।

करीब एक सप्ताह पूर्व परिजनों ने कॉलेज प्रबंधन से इसकी शिकायत की। कॉलेज प्रबंधन ने पहले समितियों से इस मामले की जांच करवाई और अब पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया है।

उपपुलिस अधीक्षक मुख्यालय हितेश लखनपाल का कहना है कि प्रधानाचार्य ने कॉलेज के बाहर पीजी में जूनियर छात्र की रैगिंग की शिकायत सदर थाना में दी है। इस पर पुलिस ने मामला दर्जकर कार्रवाई शुरू कर दी है। 
... और पढ़ें

शातिर ने पहले खाते में डाले 13 हजार, फिर एक लाख रुपये निकाले, ऐसे लगाई चपत

साइबर ठगी के मामले बढ़ जाने से लोगों में अपने बैंक खातों में जमा पूंजी की सुरक्षा का भी डर सताने लगा है। हिमाचल के ऊना जिले में एक स्कूल की अध्यापिका को भी 50 हजार की चपत लगी है।

वहीं, गगरेट के एक निजी उद्योग में कार्यरत विवेक गोयल भी साइबर ठगी का शिकार हो गया है। जिसके सेलरी खाते से लगभग एक लाख पांच हजार रुपये शातिर बड़ी ही चालाकी से निकाल ले गए। पीड़ित ने बताया कि पहले उसके बैंक खाते में शातिरों ने 13 हजार रुपये डाले।

इसके बाद उसके मोबाइल पर खाते में पैसे जमा होने का एसएमएस आया। अभी वह इस असमंजस में ही था कि खाते में पैसे कैसे आए। अगले दिन ही खाते से पैसे निकलने का मैसेज आया। फिर उसके बाद खाते से पैसे निकलने का दौर शुरू हो गया।

पीड़ित का एटीएम उसके पास था फिर भी उसके एटीएम से पैसे निकलने के मैसेज आ रहे थे। कुछ ट्रांसफर के मैसेज भी आए। इस पर विवेक ने तुरंत बैंक का रुख किया और जांच में पाया गया कि पैसे दिल्ली में निकले गए हैं।

विवेक तब तक लगभग एक लाख पांच हजार की ठगी का शिकार हो चुका था। इस मामले में ठगी के शिकार विवेक गोयल ने गगरेट थाना में रपट दर्ज करवाई है।  एएसपी विनोद धीमान ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि इसकी जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

डीएसपी ने किया बच्चा चोर गिरोह का भंडाफोड़, छात्र ने अपनी सहयोगी के साथ खुद रची अपहरण की कहानी

हिमाचल प्रदेश में बच्चा चोर गिरोह की अफवाहों का डीएसपी हमीरपुर हितेश लखनपाल ने भंडाफोड़ कर दिया है। ठाकुर जगदेव चंद स्मारक राजकीय महाविद्यालय सुजानपुर के बीकॉम प्रथम सेमेस्टर के छात्र अंकू ने अपनी सहयोगी छात्रा का फेसबुक और मेसेंजर अकाउंट हेक कर अपने अपहरण की कहानी रची थी।

अमेरिका से फेसबुक और मेसेंजर के संदर्भ में पुलिस द्वारा मंगवाई इंटरनेट प्रोटोकॉल डिटेल रिपोर्ट(आईपीडीटी) से यह खुलासा हुआ है। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पुलिस की एफआईआर में पीड़ित छात्र ने जिस मेसेंजर मेसेज को बताया है। वह मेसेज खुद पीड़ित के मोबाइल फोन से भेजा गया। इसकी पुष्टि मोबाइल के आईएमई नंबर और सुजानपुर में लगे सीसीटीवी कैमरों से हुई है।

पीड़ित युवक ने 28 अगस्त को अपने परिजनों के साथ सुजानपुर थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई थी कि 26 अगस्त को कॉलेज में साथ पढ़ने वाले सहपाठी एंजल पठानिया ने उसे मेसेज भेजा कि तुम्हारे पापा बस स्टैंड पर बुला रहे हैं। दो लोग मोटरसाइकिल पर आ रहे हैं, उनके साथ बैठ कर आ जाओ। मोबाइल पर इस संदर्भ में 26 अगस्त को दोपहर 12:03 बजे से 12:24 बजे के बीच चैट हुई है।

लेकिन पुलिस जांच में और कॉलेज रिकॉर्ड में यह लड़की क्लास लगा रही है। दोनों अच्छे दोस्त थे और फेसबुक, मेसेंजर, व्हाट्सऐप और टिक-टॉक पर चेटिंग करते थे। दोस्ती में उसने लड़की का अकाउंट और पासवर्ड हासिल कर लिया था। जिसके चलते उसने एंजल पठानिया के फेसबुक और मेसेंजर अकाउंट से खुद ही अपने मोबाइल पर मेसेज भेजे थे।

परिजनों ने बार-बार सुजानपुर थाना पहुंच कर आरोपी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी और पुलिस को शीघ्र कार्रवाई न करने पर थाना फूंकने की धमकी दी थी। डीएसपी हितेश लखनपाल, थाना प्रभारी सुभाष शास्त्री और हवलदार अनूप कुमार ने प्रेस वार्ता में मीडिया को यह जानकारी दी।

डीएसपी हेडक्वार्टर हितेश लखनपाल ने कहा कि झूठी शिकायत देने, पुलिस के ऊपर मनगढ़ंत आरोप लगाने, पुलिस का समय बर्बाद करने पर अब शिकायकर्ता युवक और उसके परिजनों के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। डीएसपी द्वारा कम समय में मामले का पटाक्षेप करने पर लोगों ने प्रशंसा की है। यह वही डीएसपी हैं जो प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा में टॉपर रहे हैं। इनके पिता हिमाचल सरकार में बतौर एचएएस अधिकारी विभिन्न पदों पर रहे हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन