बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

हमीरपुर (हि. प्र.)

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

महिला को जादू टोना करने वाली कहने पर दस लोगों पर केस दर्ज

उपमंडल भोरंज में एक बुजुर्ग महिला पर जादू टोना करने का आरोप लगाने वाले दस लोगों के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया है। जमानत के बाद सभी आरोपियों को रिहा कर दिया गया है। सरकाघाट उपमंडल में भी बीते वर्ष इस तरह का मामला सामने आ चुका है। वहां भी एक बुजुर्ग महिला का मुंह काला कर गांव में घुमाने पर एक दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। अब हमीरपुर जिले के भोरंज उपमंडल में 69 वर्षीय वृद्ध महिला को तंग करने का मामला सामने आया है। 

वृद्ध महिला ने भोरंज पुलिस थाने में 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। महिला ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि वह अपने लड़के के साथ गांव में रहती हैं। वर्ष 2007 से उन्होंने इस गांव में रहना शुरू किया है। कुछ लोग नहीं चाहते हैं कि वह और उनका बेटा इस गांव में रहें। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ लोग उन्हें जादू टोना करने वाली कहते हैं। जान से मारने की धमकी भी दे रहे हैं।

गत दिवस कुछ लोग उन्हें मारने के लिए दौड़े तो वह अपने कमरे में चली गईं। बेटा किसी काम के चलते घर से बाहर गया था। एसएचओ भोरंज छोटाराम चौधरी ने बताया कि 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया गया। उसके बाद इन्हें जमानत पर रिहा किया गया है। अगर भविष्य में दोबारा बुजुर्ग महिला को तंग किया गया तो आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

पूर्व मंगेतर ने ही युवक को उतारा मौत के घाट, आरोपी ने जुर्म कबूला

पुलिस थाना नादौन के तहत मालग पंचायत में मिले युवक के शव के मामले में पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी आमिर खान पुत्र हाकम दीन गांव शस्तर दडूही ने पुलिस को दिए बयान में युवक के कत्ल का जुर्म कबूल किया है। उसने कहा है कि बलेटा गांव में उन दोनों की नोकझोंक हुई। इसके बाद वह रफीक (मृतक) की बाइक पर ही दोनों गांव आए।

जहां पर मामला बढ़ गया और उसने पत्थर से रफीक के सिर पर वार किए, जिससे उसकी मौत हो गई। आरोपी ने मौका से शव को उठाकर ठां गांव के डीएवी स्कूल के निकट सड़क किनारे झाड़ियों में फेंक दिया। जबकि, उसकी बाइक को यहां से 2 किलोमीटर दूर बदेड़ा गांव में नाले में फेंक दिया और रफीक के विवाह के कार्ड इसी स्थल से कुछ दूर जंगल में फाड़ कर फेंक दिए।

पुलिस को बलेटा गांव में हुए झगड़े के स्थल पर जो खून गिरा पड़ा मिला था, उसी के आधार पर डॉग स्क्वायड की मदद से शव को बरामद किया गया। हालांकि, उसने इस वारदात के समय उसके साथ किसी और के होने की सूचना की जानकारी पुलिस को नहीं दी है।
... और पढ़ें

तेजाब फेंकने के मामले में एफआईआर दर्ज, छात्राओं के लिए बयान

थाना सुजानपुर में तहसील टौणी देवी के तहत सरकारी स्कूल में तीन छात्राओं पर तेजाब फेंकने के मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। पुलिस ने तीनों छात्राओं के बयान दर्ज कर लिए हैं। पुलिस आरोपी नाबालिग छात्र को भी जुवेनाइल कोर्ट में पेश करेगी। तहसील टौणीदेवी के एक सरकारी स्कूल में शनिवार को साइंस के प्रैक्टिकल के दौरान दसवीं कक्षा की तीन छात्राओं पर उन्हीं के एक सहपाठी युवक ने तेजाब फेंक दिया।

दो छात्राओं के हाथ और बाजुओं, जबकि एक छात्रा के मुंह पर तेजाब की बूंदें गिरी हैं। प्रैक्टिकल के लिए स्कूल प्रशासन ने तेजाब में पानी मिलाया था। इसके चलते इसका ज्यादा असर नहीं रहा। छात्राओं को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। इस पर सुजानपुर थाना की टीम शनिवार को ही घटनास्थल पर पहुंची और संबंधित पीएचसी में भी पहुंचकर चिकित्सक से तीनों पीड़ितों की एमएलसी हासिल की।

संबधित पाठशाला के कार्यवाहक प्रधानाचार्य ने भी एक लिखित शिकायत पत्र थाना प्रभारी सुजानपुर को दिया। इस पर पुलिस ने रविवार को आरोपी छात्र के खिलाफ भादंसं की धारा 326ए के तहत केस दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन ठाकुर ने कहा कि तीनों छात्राओं के बयान लिए हैं। नाबालिग छात्र के खिलाफ भादंसं की धारा 326ए के तहत मामला दर्ज कर लिया है। नाबालिग को जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया जाएगा।
... और पढ़ें

हमीरपुर: जमीन विवाद के चलते दो बड़े भाइयों ने छोटे को मार डाला

पुलिस थाना बड़सर के तहत ननावां पंचायत के ब्याड़ गांव में जमीन विवाद के चलते दो बड़े भाइयों ने छोटे को मौत के घाट उतार दिया। हत्या के इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्जकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। इनमें मृतक के दो बड़े भाई और एक भाई की पत्नी, बेटी और दामाद भी शामिल हैं। वहीं, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज हमीरपुर भेज दिया है। जहां पर सोमवार को शव का पोस्टमार्टम होगा।  

पुलिस थाना बड़सर के तहत पड़ते ब्याड़ गांव के गौरी नंदन (64) पुत्र अनंत राम अपने परिवार सहित चंडीगढ़ में रहते थे। रविवार को वह अपने पैतृक गांव में आए थे। जहां उनके भाइयों के साथ बाथरूम निर्माण के चलते जमीन विवाद चल रहा था। मौके पर पंचायत प्रतिनिधि भी पहुंचे थे, लेकिन इस दौरान तीनों भाइयों में झड़प हो गई और धक्कामुक्की में गौरी नंदन नीचे गिर गए। इससे उसके सिर और आंख पर गंभीर चोटें आ गईं। जिसे उपचार के लिए अस्पताल लाया गया, लेकिन यहां उसकी मौत हो गई।

हत्या के आरोप में दो बड़े भाइयों और आरोपी भाई की पत्नी, बेटी व दामाद को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। डीएसपी बड़सर शेर सिंह ने कहा कि जमीन के झगड़े में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। हत्या का मामला दर्ज कर पांच लोगों को गिरफ्तार कर छानबीन की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज हमीरपुर भेजा गया है। सोमवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा जाएगा।  
... और पढ़ें
फाइल फोटो फाइल फोटो

विजिलेंस: रिश्वत के आरोपी एसएचओ की गाड़ी से चिट्टा बरामद, एनडीपीएस एक्ट में भी मामला दर्ज

रिश्वत के आरोपी फरार चल रहे एसएचओ नीरज राणा की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। उसकी गाड़ी से अब चिट्टा बरामद हुआ है। विजिलेंस टीम ने कार के डैशबोर्ड में रखे पर्स से 0.84 ग्राम चिट्टा बरामद किया है। फरार एसएचओ के खिलाफ अब एनडीपीएस एक्ट में भी मामला दर्ज कर लिया गया है।

नीरज राणा को पुलिस विभाग ने निलंबित कर दिया है। उसके खिलाफ विभागीय जांच भी बैठा दी है। जांच में अब तक की सेवाओं का रिकॉर्ड तलब किया जाएगा। अब इंस्पेक्टर योगराज चंदेल को नादौन थाना का एसएचओ नियुक्त किया है। योगराज विजिलेंस थाना हमीरपुर में सेवाएं दे चुके हैं। वर्तमान में पुलिस लाइन हमीरपुर में रहे हैं। 

वहीं, रिश्वत का आरोपी एसएचओ वारदात के 36 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ नहीं लगा है। विजिलेंस और हमीरपुर पुलिस की टीमें उसकी तलाश कर रही हैं। बीते मंगलवार को लेबर चौक नादौन में दुधारू पशुओं का कारोबार करने वाले व्यापारी से 25 हजार रुपये रिश्वत लेने और विजिलेंस टीम पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास करते हुए वह फरार हुआ था।

सेरी कल्चर रोड पर कार को खड़ा करने के बाद वह बेला के जंगल की तरफ भागा था। सूत्रों के मुताबिक आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए भूमिगत हो गया है। अपने वकील के माध्यम से हाईकोर्ट में जमानत की अर्जी लगाने का प्रयास कर रहा है। 

आरोपी पर विभागीय जांच के साथ उसकी प्रॉपर्टी की भी जांच होगी। कहां-कहां जमीनें और मकान खरीदे हैं। बैंक में खुद और परिवार के सदस्यों के नाम पर कितनी पूंजी है, यह सब जांच के दायरे में आएगा। वर्तमान में उसके पास करीब दस लाख की लग्जरी कार है। हमीरपुर विजिलेंस के डीएसपी लालमन शर्मा ने कहा कि एसएचओ को ढूंढने में टीम लगी है। 

एसपी हमीरपुर डॉ. आकृति शर्मा ने कहा कि आरोपी को विभाग ने सस्पेंड कर दिया है। विभागीय जांच भी शुरू कर दी है। इंस्पेक्टर योगराज को नादौन थाने का एसएचओ नियुक्त किया गया है।

वर्ष 2013 में भी नादौन थाना रहा है सुर्खियों में
वर्ष 2013 में तत्कालीन एसएचओ उपनिरीक्षक अश्वनी को भी विजिलेंस ने 10 हजार रुपये रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया था। उसे उपायुक्त कार्यालय के पास रिश्वत लेते पकड़ा था। बाद में सुबूतों के अभाव में वह बहाल हो गया। इसी साल राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो हमीरपुर में सेवारत एक महिला आरक्षी पर भी सूचनाएं लीक करने का आरोप लग चुका है।

विजिलेंस ने एक राजस्व अधिकारी को रिश्वत के आरोप में ट्रैप करने का प्लान बनाया था। इससे पहले कि विजिलेंस आरोपी तक पहुंचती सारा प्लान लीक हो गया और आरोपी बच निकला। मामले में उच्च स्तरीय विभागीय जांच के बाद विजिलेंस कर्मचारी को हमीरपुर से पुलिस बटालियन जंगलबैरी और बाद में शिमला ट्रांसफर किया गया। बाद में फिर से हमीरपुर लौट आईं।
... और पढ़ें

विजिलेंस: मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर, दो बिचौलिए आपस में रिश्वत के 1.13 लाख रुपये बांटते गिरफ्तार

फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने और पासिंग के लिए रिश्वत लेने के आरोप में विजिलेंस ने परिवहन विभाग के मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर (एमवीआई) और दो बिचौलियों को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। रविवार को मंडी के बल्ह के कंसा चौक पर गाड़ियों की पासिंग के बाद ये तीनों सुंदरनगर स्थित बीबीएमबी झील के किनारे गाड़ी खड़ी करके रिश्वत के 1.13 लाख रुपये आपस में बांट रहे थे।

विजिलेंस ने तीनों को गिरफ्तार कर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। जानकारी के अनुसार आरोपी एमवीआई अभिषेक बिलासपुर में कार्यरत है। वर्तमान में इनके पास मंडी जिला के उपमंडल बल्ह और सुंदरनगर का अतिरिक्त कार्यभार भी है। इनके खिलाफ विजिलेंस को शिकायतें मिली थीं कि वह पासिंग और ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के नाम पर रिश्वत ले रहे हैं।

इनके साथ विनोद निवासी सुंदरनगर और प्रीतम ठाकुर निवासी खुडला को भी विजिलेंस ने गिरफ्तार किया है। विजिलेंस के एसपी राहुल नाथ ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। कुछ समय पहले शिकायत मिली थीं कि जिले में वाहनों की पासिंग और लाइसेंस जारी करने के नाम पर अवैध वसूली हो रही है। इसको देखते हुए लगातार नजर रखी जा रही थी। 
... और पढ़ें

हमीरपुर: रिश्वत मामले में गिरफ्तार एमवीआई के घर विजिलेंस की दबिश, दस्तावेज खंगाले

फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने और पासिंग के लिए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर अभिषेक के हमीरपुर स्थित घर पर भी विजिलेंस ने दबिश दी है। मिला जानकारी के मुताबिक एमवीआई के हमीरपुर स्थित घर में दबिश देकर विजिलेंस ने गाड़ियों से जुड़े दस्तावेजों की 8 फाइलें और रजिस्टर कब्जे में लिए हैं। घर के सदस्यों से भी पूछताछ की गई है। 

विजिलेंस ने परिवहन विभाग के मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर (एमवीआई) और दो बिचौलियों को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। रविवार को मंडी के बल्ह के कंसा चौक पर गाड़ियों की पासिंग के बाद ये तीनों सुंदरनगर स्थित बीबीएमबी झील के किनारे गाड़ी खड़ी करके रिश्वत के 1.13 लाख रुपये आपस में बांट रहे थे। विजिलेंस ने तीनों को गिरफ्तार कर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। 

जानकारी के अनुसार आरोपी एमवीआई अभिषेक बिलासपुर में कार्यरत है। वर्तमान में इनके पास मंडी जिला के उपमंडल बल्ह और सुंदरनगर का अतिरिक्त कार्यभार भी है। इनके खिलाफ विजिलेंस को शिकायतें मिली थीं कि वह पासिंग और ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के नाम पर रिश्वत ले रहे हैं।

इनके साथ विनोद निवासी सुंदरनगर और प्रीतम ठाकुर निवासी खुडला को भी विजिलेंस ने गिरफ्तार किया है। विजिलेंस के एसपी राहुल नाथ ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। कुछ समय पहले शिकायत मिली थीं कि जिले में वाहनों की पासिंग और लाइसेंस जारी करने के नाम पर अवैध वसूली हो रही है। इसको देखते हुए लगातार नजर रखी जा रही थी।
... और पढ़ें

ठगी का शिकार: ऑनलाइन शिकायत करना पड़ा महंगा, खाते से 65 हजार उड़ाए

हमीरपुर स्थित घर में विजिलेंस की दबिश।
हमीरपुर जिले के गलोड़ क्षेत्र के एक व्यक्ति को बैंक अकाउंट से कटे 147 रुपये की ऑनलाइन शिकायत करना महंगा पड़ गया। यह शिकायत करने के बाद व्यक्ति के खाते से शातिरों ने 65 हजार 341 रुपये उड़ा लिए। खाते से निकाली रकम तीन अलग-अलग खातों में तीन ट्रांजेक्शन कर उड़ाई गई। पीड़ित व्यक्ति ने इसकी शिकायत पुलिस थाना बड़सर में दर्ज करवाई है।

गलोड़ क्षेत्र के एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है कि उसके बैंक खाते से 147 रुपये कटे थे। इसकी शिकायत करने के लिए उसने बैंक का टोल फ्री नंबर गूगल पर सर्च किया। उस नंबर पर शिकायत दर्ज करवाई। उस नंबर से बात कर रहे शातिरों ने उसके फोन को हैक कर लिया।

उसके खाते से तीन ट्रांजेक्शन कर क्रमश: 49784, 10372 और 5185 रुपये उड़ा लिए। व्यक्ति ने जब अपने स्तर पर पता किया तो यह रकम तीन अलग-अलग बैंकों में गई है। व्यक्ति ने पुलिस और बैंक प्रबंधन से इस मामले में कार्रवाई करने की गुहार लगाई है। थाना बड़सर के प्रभारी मस्त राम नायक ने कहा कि पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है। ऐेसे मामलों में लोगों को एहतियात बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मामले की छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

हिमाचल: बिलासपुर के प्रिंसिपल समेत एक दर्जन पूर्व सैनिकों की डिग्रियां फर्जी, विजिलेंस ने किया भंडाफोड़

मानव भारती विश्वविद्यालय के बाद अब बिहार की मगध यूनिवर्सिटी में भी फर्जी डिग्रियों का भंडाफोड़ हुआ है। फर्जी डिग्रियां हासिल करने वालों में हिमाचल प्रदेश के डेढ़ दर्जन लोग भी शामिल हैं। इनमें एक स्कूल प्रिंसिपल और एक दर्जन पूर्व सैनिक भी शामिल बताए जा रहे हैं। जिला बिलासपुर के रहने वाले एक स्कूल प्रिंसिपल की तो बीएससी, एमएससी और बीएड तीनों डिग्रियां फर्जी पाई गई हैं। हमीरपुर विजिलेंस की चार सदस्यीय टीम ने बिहार के मगध विश्वविद्यालय पहुंचकर 17 डिग्रियों की जांच की। विश्वविद्यालय के कुलपति ने सभी 17 डिग्रियों को फर्जी बताया है। करीब एक हफ्ता विश्वविद्यालय में जांच-पड़ताल करने के बाद अब यह टीम बिहार से हिमाचल प्रदेश लौट आई है। इस मामले में अब बड़ी कार्रवाई की तैयारी हो रही है।

विजिलेंस में एफआईआर दर्ज होने के साथ ही फर्जी डिग्रियों के सहारे नौकरियां हासिल करने वाले सरकारी कर्मचारियों की बर्खास्तगी होगी। हालांकि इससे पूर्व मार्च 2018 में भी विजिलेंस टीम बिहार की मगध यूनिवर्सिटी में फर्जी डिग्रियों की जांच कर चुकी है। उस दौरान संबंधित डिग्री धारकों का कोई रिकॉर्ड विश्वविद्यालय में नहीं मिला था, लेकिन एफआईआर के बाद भी उस दौरान भी कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। अभी भी शिक्षा विभाग दोषी अध्यापकों पर कार्रवाई करने से पूर्व विजिलेंस की एफआईआर का इंतजार कर रहा है। हालांकि विशेषज्ञों की मानें तो अध्यापकों की फर्जी डिग्रियां पाए जाने पर शिक्षा विभाग दोषी अध्यापकों पर कार्रवाई करने में सक्षम है। बता दें कि वर्ष 2004-05 में प्रदेश शिक्षा विभाग में अध्यापकों की भर्तियां हुई थीं।

इसमें करीब दो दर्जन अभ्यर्थियों ने बिहार की मगध यूनिवर्सिटी से बिना परीक्षा दिए फर्जी सर्टिफिकेट और डिग्रियों के आधार पर नौकरी हासिल की। इस मामले की शिकायत राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो शिमला में की गई। इसके बाद हमीरपुर से विजिलेंस टीम मार्च 2018 में मगध विवि पहुंची। टीम ने एक हफ्ते तक विवि में अध्यापकों की डिग्रियों से जुड़े रिकॉर्ड खंगाले, लेकिन उन्हें न तो अध्यापकों के प्रवेश और न ही परीक्षाओं से जुड़े दस्तावेज मिले। इसके बाद विजिलेंस ने रिपोर्ट मार्च में ही विजिलेंस मुख्यालय शिमला में जमा करवाई, लेकिन तीन साल बीत जाने के बाद भी शिक्षा विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस मामले में एफआईआर के बाद कोर्ट में चालान पेश होना था, लेकिन अब दोबारा जांच होने और रिपोर्ट शिमला कार्यालय में जमा होने के बाद फर्जी डिग्री धारक सरकारी कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई होनी तय है।

फर्जी डिग्रियों की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बिहार की मगध यूनिवर्सिटी भेजी गई थी, टीम वापस आ चुकी है। मगध यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने माना है कि 17 हिमाचली डिग्री धारकों का विश्वविद्यालय में कोई भी रिकॉर्ड नहीं है।- लालमन शर्मा, डीएसपी, राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो, हमीरपुर
... और पढ़ें

बड़सर में नौकरी लगवाने के नाम पर रिश्तेदारों से 25 लाख की ठगी

पुलिस थाना बड़सर के तहत घुमारली गांव के दो लोगों से उनके बेटों को नौकरी लगवाने के नाम पर रिश्तेदार ने ही 25 लाख रुपये की ठगी कर डाली। रुपये लेने के बाद रिश्तेदार ने न तो नौकरी लगवाई और न ही रुपये वापस कर रहा है। पीड़ित पक्ष ने पुलिस थाना बड़सर में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है। 

पुलिस थाना बड़सर में शनिवार को घुमारली गांव के हुकम सिंह ने शिकायत दर्ज करवाई है कि उनके ही रिश्तेदार रणजीत सिंह निवासी करनेरड़ डाकघर फगोटी ने उनके बेटे को नौकरी दिलाने के नाम पर रुपये लिए हैं। उनकी भाभी प्रोमिला से भी बेटे को नौकरी लगवाने के नाम पर रणजीत ने रुपये लिए। दोनों से करीब 25 लाख रुपये विभिन्न किस्तों में लिए हैं। जब नौकरी नहीं लगी तो इन्होंने रुपये लौटाने के लिए कहा। इस पर आरोपी ने न तो रुपये लौटाए और न नौकरी लगवाई।

आरोपी दोनों का रिश्तेदार है और सेना से सेवानिवृत्त है। उधर, पुलिस थाना बड़सर के प्रभारी इंस्पेक्टर मस्तराम नाईक ने कहा कि पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है। पीड़ित पक्ष की ओर से हुकम सिंह ने थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है।
... और पढ़ें

हमीरपुर: भाजपा युवा मोर्चा पदाधिकारी चोरी के आरोप में गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के एक भाजयुमो पदाधिकारी को पुलिस ने चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान मुकुल ठाकुर निवासी नखरेड़ मुन्शियां के रूप में हुई है। आरोपी सरकारी ठेकेदार है। आरोप है कि उसने डिडवीं टिक्कर स्थित एक ऑटो स्पेयर पार्ट्स की दुकान से चोरी की है। नगर परिषद हमीरपुर के वार्ड-9 निवासी सुभाष चंद ने पुलिस में मामला दर्ज करवाया है। 

शिकायतकर्ता ने बताया कि मुकुल गत दिवस उनकी डिडवीं टिक्कर स्थित दुकान पर आया। जब वह दुकान से बाहर था तो आरोपी ने दुकान से कार की हेडलाइट्स, मोबाइल डाटा केबल, मोबाइल चार्जर स्टैंड, एलईडी ट्यूब लाइट, कार एयर फ्रेशनर सहित अन्य कीमती सामान पर हाथ साफ कर लिया। चोरी हुए सामान की कीमत 18 हजार रुपये आंकी गई है। दुकानदार जब वापस आया तो उसने सामान गायब पाया। इसके बाद दुकान के सीसीटीवी की फुटेज खंगाली गई तो उसमें युवक चोरी करते पाया गया।

इसके बाद दुकानदार ने मामले की सूचना पुलिस चौकी भोटा में दी। पुलिस ने दुकानदार के बयान कलमबद्ध किए और सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपी तक पहुंची।  पुलिस पूछताछ में आरोपी ने चोरी की बात कबूल की। चुराया गया सारा सामान बरामद कर लिया है। इसके बाद आरोपी को हमीरपुर कोर्ट में पेश किया गया, लेकिन कोर्ट नंबर चार न्यायिक दंडाधिकारी ने 25 हजार रुपये के मुचलके पर आरोपी को जमानत पर रिहा कर दिया। उधर, पुलिस अधीक्षक हमीरपुर डॉ. आकृति शर्मा ने कहा कि पुलिस ने चोरी के आरोप में हमीरपुर निवासी मुकुल ठाकुर को गिरफ्तार किया है। चोरी का सामान बरामद कर लिया गया है।
 
... और पढ़ें

पंप ऑपरेटर को बंधक बनाकर जल शक्ति विभाग की मशीनरी ले उड़े शातिर

जलशक्ति विभाग के पंप हाउस में देर रात तीन लुटेरे विभाग के पंप ऑपरेटर को बंधक बनाकर यहां से करीब ढाई लाख रुपये कीमत के बिजली उपकरण लूट कर ले गए। लूट से पूर्व आरोपियों ने पंप ऑपरेटर की जमकर पिटाई की और टेप से उसके मुंह बंद कर दिया। पूरे मुंह, पांव और हाथों पर भी टेप बांध दी। मारपीट में पंप ऑपरेटर को काफी चोटें आई भी आई हैं।

लुटेरे पंप ऑपरेटर का मोबाइल फोन भी उड़ा ले गए। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। पीड़ित का अस्पताल में मेडिकल भी करवाया गया। शनिवार दोपहर को पुलिस अधीक्षक हमीरपुर और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय सकलानी भी मौके पर पहुंचे। जबकि इससे पूर्व एसएचओ सुजानपुर सुभाष शास्त्री की अगुवाई में मामले की छानबीन जारी रही।

इससे पूर्व हमीरपुर में एसडीओ और जेई पर भी हमला हो चुका है। जल शक्ति विभाग के पंप हाउस बडबड़दार में सेवारत पंप ऑपरेटर अजय कुमार पुत्र रणजीत सिंह गांव री जिला हमीरपुर ने पुलिस में दी शिकायत में बताया कि रोजाना की तरह शुक्रवार रात को वह 9 बजे ड्यूटी पर था।

रात तकरीबन 10 बजे वह शौच के लिए दरवाजे से बाहर आया। इस दौरान तीन अज्ञात व्यक्तियों ने हमला कर दिया और टेप से हाथ, मुंह और टांगें बांध कर उन्हें अंदर ले गए। तकरीबन एक घंटे बाद लुटेरे पंप हाउस का सामान जैसे मोटर स्टार्टर, तांबे की तार और साथ में उसका मोबाइल फोन भी ले गए। जलशक्ति विभाग के अधीक्षण अभियंता दीपक गर्ग ने कहा कि करीब ढाई लाख रुपये का सामान चोरी हुआ है। इस बारे में पुलिस में शिकायत दी गई है।
... और पढ़ें

कॉलेज से घर जा रही युवती का गाड़ी सवारों ने किया पीछा, हवा में दागा फायर

जिला मुख्यालय हमीरपुर से सटे गांव की कॉलेज छात्रा का कुछ अज्ञात युवकों की ओर से पीछा करने और हवा में गोली चलाने का मामला सामने आया है। सूचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय सकलानी खुद मौके पर पहुंचे। पुलिस ने एक कार को कब्जे में लिया है। आरोपियों की तलाश में जगह-जगह छापे मारे जा रहे हैं। इस घटना के बाद युवती काफी सहमी हुई है। स्थानीय पंचायत भी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग को लेकर आगे आई है।

शुक्रवार शाम को डिग्री कॉलेज हमीरपुर में पढ़ने वाली छात्रा अपने घर डुगली गांव जा रही थी। बस लेकर बह लंबलू पहुंची, लेकिन यहां से उसके गांव की ओर जाने वाली बस छूट गई। इस कारण लंबलू से छात्रा गांव के लिए पैदल ही निकल गई। आईटीआई लंबलू के पास सुनसान जगह में एक गाड़ी में सवार कुछ युवक छात्रा का पीछा करने लगे और उसे खूब दौड़ाया। इसके बाद युवकों ने छात्रा से कुछ मीटर दूर आगे गाड़ी खड़ी की और हवा में फायर दाग दिया।

युवती ने शिकायत में कहा कि गाड़ी में तीन लोग सवार थे। जब वह भाग रही थी तो उसका चचेरा भाई बाइक पर लंबलू की ओर से घर जा रहा था। उसे देखकर कार सवार आरोपी भाग गए, लेकिन उसके भाई ने कार का नंबर नोट कर लिया। इस आधार पर पुलिस ने कार का पता कर उसे जब्त कर लिया है। यह कार जिला मुख्यालय के साथ एनएच किनारे लगते एक गांव के व्यक्ति की है। कार में सवार लोग अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

पुलिस ने टीमें गठित कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। ग्राम पंचायत डबरेहड़ा के प्रधान सुरेश शास्त्री ने कहा कि छात्रा के साथ हुई घटना की शिकायत पुलिस में करवाई गई है। उन्होंने पुलिस से उचित कार्रवाई करने की मांग की है। एसपी कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन ने कहा कि युवती की शिकायत के आधार पर आर्म्स एक्ट में मुकदमा दर्जकर छानबीन की जा रही है। विधानसभा सत्र चलने के कारण वह इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं कह सकते। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00