विज्ञापन
विज्ञापन
मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

नौ हजार फीट की ऊंचाई पर आकर्षण का केंद्र बने इग्लू, ठहरने और खाने-पीने की भी व्यवस्था

मनाली के हामटा के सेथन में इग्लू (बर्फ का घर) सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। समुद्रतट से करीब नौ हजार फीट ऊंचाई पर स्थित सेथन में बनाए गए बर्फ के इग्लू पर्यटकों को आकर्षित कर रहे हैं।

20 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हमीरपुर (हि. प्र.)

मंगलवार, 21 जनवरी 2020

चक्का जाम कर रहे कारोबारियों ने डीजीपी का काफिला रोका

नादौन (हमीरपुर)। बस अड्डे पर शुक्रवार सुबह उस समय स्थिति तनावपूर्ण बन गई, जब पुलिस ने इंद्रपाल मार्केट में स्थित अड्डे पर पार्क किए गए दोपहिया वाहनों के चालान काटने आरंभ कर दिए। कुछ व्यापारियों ने यह कहकर विरोध जताया कि इससे उनके व्यापार पर असर पड़ता है। दुकानदारों ने नादौन पुलिस को खरी-खोटी सुनाते हुए कहा कि शहर में कहीं पार्किंग नहीं है। वह शौकिया तौर पर नहीं बल्कि मजबूरी में अपनी दुकानों के आगे दोपहिया वाहन खड़ा करते हैं। नगर पंचायत के गेट को पिछले कुछ समय से बंद कर देने से भी वाहनों को पार्क करने की कठिनाई पेश आ रही है।
चालान से भड़के दुकानदारों ने बस अड्डे पर चक्का जाम कर पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। विवाद इतना बढ़ गया कि दुकानदारों ने एनएच जाम कर दिया। लेकिन, इसी दौरान डीजीपी एसआर मरडी का काफिला जैसे ही नादौन बस अड्डे के पास पहुंचा तो उन्होंने उनके काफिले को रोककर पुलिस महानिदेशक को सारे मामले की जानकारी दी। दुकानदारों की ओर से वीरेंद्र शर्मा, किशोर शर्मा, विशाल उपल आदि ने बताया कि पार्किंग व्यवस्था न होने से उन्हें दिक्कतें पेश आ रही हैं। उन्होंने पुलिस पर मनमानी करने का आरोप लगाया। लोगों की बात सुनकर डीजीपी ने इस मामले में जांच के बाद उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। डीजीपी ने कहा कि कानून से ऊपर कोई नहीं है तथा यातायात नियमों का पालन करवाने में ढील नहीं दी जा सकती। यदि किसी नियम के बारे में किसी को आशंका हो तो वह इसे चुनौती दे सकता है। पुलिस के व्यवहार को लेकर उन्होंने एसपी हमीरपुर को मौके पर पहुंच कर बात करने के आदेश दिए। इसके बाद एसपी हमीरपुर अर्जित सेन ठाकुर और एसडीएम किरण भड़ाना ने मौके पर पहुंचकर स्थानीय दुकानदारों से इस बारे में चर्चा की। उन्होंने व्यापार मंडल प्रधान त्रिभुवन सिंह को एसडीएम की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाकर नादौन में पार्किंग स्थल चिन्हित करने को कहा ताकि, लोगों को परेशानी न हो।
---
... और पढ़ें

बैंक में नौकरी लगवाने के नाम पर ठगे 2.20 लाख

हमीरपुर। पुलिस थाना भोरंज के तहत नौकरी लगवाने के नाम पर सवा दो लाख की ठगी का मामला सामने आया है। पीड़ित युवती के पिता को जब इस ठगी का पता चला तो उसने शनिवार को इस संबंध में पुलिस थाना भोरंज में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है। रमेश चंद निवासी गांव दरुण डाकघर पट्टा तहसील भोरंज ने शिकायत दर्ज करवाई है कि वर्ष 2017 में सुनील कुमार पुत्र नरेश कुमार गांव दसमाईं डाकघर लदरौर तहसील भोरंज जिला हमीरपुर ने उसकी बेटी को पंजाब नेशनल बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा दिया और कहा कि इसके लिए आपको प्रोसेसिंग फीस के रूप में 2,20,000 रुपये देने होंगे।
इसकी एवज में उसने फर्जी ऑफर लेटर दे दिया। वह सुनील कुमार के झांसे में आ गया और उसने 2,20,000 रुपये सुनील कुमार के खाते में जमा करवा दिए, लेकिन बेटी को बैंक से नौकरी के संबंध में कोई भी कॉल न आने पर उसे शक हुआ तो सुनील कुमार से पूछताछ की। इसके बाद सुनील कुमार टालमटोल करने लगा। तब उसे एहसास हुआ कि उसके साथ धोखा हुआ है। इस पर उसने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी है। थाना प्रभारी भोरंज कुलवंत सिंह का कहना है कि मामला दर्जकर छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

बाजार में 40 और सरकारी डिपो में 64 रुपये प्रति किलो बिक रहा प्याज

खुले बाजार में प्याज 40 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बिक रहा है जबकि प्रदेश सरकार इसी प्याज को डिपुओं में 64 रुपये प्रति किलोग्राम बेच रही है। आधा किलोग्राम से अधिक वजन का एक-एक प्याज पहुंचने से डिपो संचालक भी परेशान हैं। 

जयराम सरकार ने लोहड़ी पर्व पर जनता को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत सस्ते दामों पर प्याज उपलब्ध करवाने का वादा किया था। अब प्रदेश भर में राशन की उचित मूल्यों की दुकानों पर प्याज पहुंच गया है।

नागरिक आपूर्ति निगम हमीरपुर के गोदाम में भी 100 क्विंटल प्याज का स्टॉक पहुंच गया है। लेकिन यह प्याज बाजार से काफी महंगा है। हमीरपुर में राज्य सिविल सप्लाई के 8 गोदामों और 296 डिपुओं में पहुंचे इस महंगे प्याज को कोई खरीदने को तैयार नहीं है।

यही नहीं, 120 से 130 रुपये प्रति किलो ग्राम के हिसाब से बिकने वाला लाल प्याज भी बाजार में 50 रुपये के भाव से मिल रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि 64 रुपये प्रति किलो के हिसाब से राशन डिपुओं से महंगा प्याज कौन खरीदेगा।

राज्य नागरिक आपूर्ति निगम हमीरपुर के क्षेत्रीय प्रबंधक पंकज शर्मा ने बताया कि हमीरपुर में 100 क्विंटल प्याज राशन डिपुओं में उपलब्ध करवा दिया गया है। उन्होंने उपभोक्ताओं से प्याज खरीदने की अपील की है।
... और पढ़ें

अब हमीरपुर की दुकान की किशमिश का सैंपल फेल

हमीरपुर। जिला मुख्यालय की एक दुकान की किशमिश के सैंपल फेल हो गए हैं। खाद्य सुरक्षा विभाग ने बाईपास हमीरपुर के पास दुकानों से पांच सैंपल लिए थे। इन सैंपलों की रिपोर्ट सोमवार को विभाग के पास पहुंच गई है। इस दौरान पांच सैंपलों में से किशमिश एक सैंपल मिस ब्रैडिंग के चलते फेल हुआ है। किशमिश की पैकेजिंग व लेबलिंग आदि ठीक न होने के चलते उक्त सैंपल फेल हो गया है। बता दें कि इस दौरान सूजी, शक्कर, आचार, नमकीन आदि के सैंपल भी विभाग ने भरे थे। जिसमें इन चार की रिपोर्ट तो सही आई है, लेकिन किशमिश का एक सैंपल मिस ब्रैडिंग के चलते फेल हो गया है।
दुकानदार को विभाग की ओर से जल्द ही नोटिस जारी किया जाएगा व नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि विभाग की ओर से जिलाभर से सैंपल उठाए गए थे। जिनमें से हमीरपुर, भोटा व रंगस क्षेत्र की दुकानों के मिठाई के सैंपल फेल हो गए थे। इसके अलावा विभाग ने कई अन्य सैंपल भरे हैं। जिनकी रिपोर्ट आने के बाद विभाग आगामी कार्रवाई करेगा। इस दौरान विभाग ने दूध, पनीर, खोया आदि के सैंपल उठाकर जांच के लिए भेजे हैं। असिस्टेंट कमिश्नर खाद्य एवं सुरक्षा विभाग हमीरपुर अरुण चौहान ने कहा कि जिला मुख्यालय की एक दुकान का किशमिश का सैंपल फेल हुआ है। किशमिश का सैंपल मिस ब्रैडिंग के चलते फेल हुआ है। पांच सैंपलों की रिपोर्ट आई है, जिनमें से चार सही हैं। दुकानदार के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

जिला में बांस उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए एक करोड़ की कार्य योजना तैयार

हमीरपुर। राष्ट्रीय बांस मिशन के अंतर्गत जिला के लिए गठित जिला स्तरीय बांस विकास एजेंसी की एक बैठक उपायुक्त हरिकेश मीणा की अध्यक्षता में हुई। जिसमें मिशन के अंतर्गत वर्ष 2019-20 के लिए कार्य योजना पर चर्चा की गई। इस जिला स्तरीय एजेंसी का अध्यक्ष उपायुक्त को बनाया गया है। सदस्यों के रूप में जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी एवं उपनिदेशक, जिला पंचायत अधिकारी, जनजातीय विभाग के परियोजना अधिकारी, जिला उद्योग केंद्र के महा प्रबंधक, उपनिदेशक बागवानी, जिला वन अधिकारी, कृषि विज्ञान केंद्र के परियोजना समन्वयक सरकारी तथा विभिन्न स्वयं सेवी संगठनों, कृषक समितियों, स्वयं सहायता समूहों व किसान फोरम के प्रतिनिधियों को गैर सरकारी सदस्यों के रूप में नामित किया गया है।
उपनिदेशक कृृषि को इस समिति का सदस्य सचिव बनाया गया है। गैर वन भूमि में बांस उत्पादन व इसके विकास के लिए विभिन्न गतिविधियों का संचालन, समन्वय व नियंत्रण इस जिला स्तरीय एजेंसी द्वारा किया जाएगा। एजेंसी उपमंडल, तहसील व खंड स्तर पर बांस उत्पादन की स्थिति, संभावना, मांग तथा अपेक्षित सहयोग के संदर्भ में बेस लाइन सर्वेक्षण करेगी। उत्पादन में बढ़ोतरी के लिए किसानों व उनसे जुड़ी संस्थाओं तथा स्वयं सहायता समूहों को जोड़कर कलस्टर आधारित बाजार व उद्यम को अपनाने पर बल दिया जाएगा। वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए लगभग एक करोड़ चार लाख रुपये की एक कार्य योजना तैयार की गई है। इसके अंतर्गत 40 हेक्टेयर क्षेत्र को लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें से सरकारी गैर वन भूमि व निजी भूमि पर उत्तम प्रजाति के बांस उत्पादन को बढ़ावा देने के प्रयास किए जाएंगे।
... और पढ़ें

गांधी चौक में किराना की दुकान में लगी आग, 25 हजार का नुकसान

हमीरपुर। गांधी चौक हमीरपुर में रविवार रात को एक किराना की दुकान में आग लगने से करीब 25 हजार रुपये का नुकसान हो गया है। गनीमत रही कि समय पर दमकल विभाग सूचित किया गया। टीम ने आग पर काबू पाकर शेष सामान सहित साथ लगती अन्य दुकानों को आग की चपट में आने से बचा लिया। रविवार रात करीब 11 बजे गांधी चौक में राजिंद्र कुमार की दुकान के अंदर गोदाम में अचानक आग लग गई।
इस आग की चपेट में कुछ सामान जल गया। दुकान के अंदर से उठे धुएं को देखते हुए दुकान के मालिक ने दमकल विभाग को सूचना दी। दमकल विभाग के कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर आग को काबू किया। हालांकि आग लगने का प्रारंभिक कारण शार्ट सर्किट माना जा रहा है। लीडिंग फायरमैन हमीरपुर देवेंद्र सिंह भाटिया ने बताया कि रात को दमकल विभाग ने आग पर काबू पाया और शेष सामान व दुकानों को आग की चपेट में आने से बचाया। इसमें मालिक को करीब 25 हजार का नुकसान हुआ है। प्रारंभिक कारण शार्ट सर्किट लग रहा है।
... और पढ़ें

भोरंज के चार स्कूलों को स्वच्छता पुरस्कार

भोरंज (हमीरपुर)। संपूर्ण स्वच्छता अभियान में भोरंज ब्लॉक के चार स्कूलों को पुरस्कार मिला है। जिसमें दो स्कूल प्रथम और दो स्कूल द्वितीय रहे हैं। खंड विकास अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला भरेड़ी प्रथम और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला अमरोह द्वितीय रही। वहीं, माध्यमिक स्कूलों में राजकीय माध्यमिक पाठशाला धमरोल प्रथम और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खतरवाड़ द्वितीय रही। स्वच्छता अभियान में प्रथम रहने वाले स्कूल को 20000 रुपये और द्वितीय रहने पर 10000 रुपये मिलेंगे। उन्होंने बताया कि पुरस्कार की राशि को पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता पर खर्च किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राजकीय प्राथमिक पाठशाला यानवींधार को भी प्रथम पुरस्कार मिला है। ... और पढ़ें

चमनेड़ के राजन शर्मा बने चार्टर्ड अकाउंटेंट

हमीरपुर। सदर तहसील के तहत पड़ते चमनेड़ गांव के राजन शर्मा चार्टर्ड अकाउंटेंट बन गए हैं। उनकी इस उपलब्धि पर परिवार एवं गांव में खुशी का माहौल है। सीए बनने के बाद शनिवार को घर लौटने पर परिजनों ने उनका मुंह मीठा कर स्वागत किया। राजन शर्मा शुरू से ही होनहार व मेधावी विद्यार्थी रहे हैं।
उन्होंने अपनी आठवीं तक की पढ़ाई राजकीय माध्यमिक पाठशाला चमनेड़ से की। इसके बाद बारहवीं तक की पढ़ाई डीएवी हमीरपुर से की। राजन ने बारहवीं तक की पढ़ाई विज्ञान संकाय से की, लेकिन उन्होंने कुछ हटकर करने की सोची और सीए बनने का दृढ़ निश्चय किया। वर्ष 2011 में राजकीय महाविद्यालय हमीरपुर में उन्होंने बी कॉम में दाखिला लिया और अपने लक्ष्य के लिए वह मेहनत करने लगे। महाविद्यालय में मेधावी छात्र होने के साथ-साथ ही वह वर्ष 2013-14 में कॉलेज के निर्वाचित अध्यक्ष भी रहे।
विज्ञान संकाय से निकल कर राजन शर्मा ने कॉमर्स को कॅरिअर चुना और अब सीए बन गए हैं। राजन के पिता अमरनाथ शर्मा भारतीय सेना से सेवानिवृत्त हैं, जबकि माता श्रोतां देवी गृहिणी हैं। राजन की तीन बहनें हैं, जिनकी शादी हो चुकी है। ग्रेजूएशन के बाद राजन को आईपीसीसी में डायरेक्ट एंट्री मिली और यहां से उनकी सीए बनने कवायद शुरू हुई। पांच सालों की मेहनत और लगन के बाद राजन ने यह मुकाम हासिल किया है। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता, रिश्तेदारों, गुरुजनों व दोस्तों को दिया है। उनका कहना है कि अगर अपने लक्ष्य की ओर मेहनत, लगन और आत्मविश्वास से बढ़ें तो इसे अवश्य प्राप्त किया जा सकता है। जिंदगी के उतार-चढ़ाव में दुखी व परेशान होने की बजाय वहीं से प्रोत्साहित होकर और अधिक मेहनत करनी चाहिए।
... और पढ़ें

पटवारियों के पदों को अनुबंध की बजाय स्थायी तौर पर भरा जाए : संघ

हमीरपुर। पटवारी एवं कानूनगो संघ हमीरपुर की बैठक रविवार को प्रताप सिंह ठाकुर की अध्यक्षता में पटवार भवन हमीरपुर में आयोजित की गई। इसमें संघ ने मांग की है कि सरकार की ओर से अधिकृत मंदिरों में पटवारियों को नियुक्त न किया जाए। पटवारियों के पदों को अनुबंध आधार के बजाए उन्हें स्थायी तौर पर भरा जाए। पटवारी-कानूनगो संघ के भवन का रखरखाव आदि का कार्य तहसील कार्यकारिणी के जिम्मे सौंपा जाए। जो नए कानूनगो के पद सृजित हुए थे, उनके साथ एक चपरासी की नियुक्ति होने के बारे में राज्य सरकार की ओर से अधिसूचना जारी की गई थी। लेकिन, तीन वर्ष पूरे होने के उपरांत इन पदों को जिला प्रशासन की ओर से नहीं भरा गया और न ही उपरोक्त नए कानूनगो वृत्तों को नए भवन एवं फर्नीचर की व्यवस्था की गई है।
कार्यालयों में लगाए अंशकालीन पार्ट टाइम वर्करों को तुरंत प्रभाव से पटवार वृत्तों या गिरदावर कानूनगो के साथ काम के लिए लगाए जाए। क्षेत्रीय कानूनगो वृत्त कांगू जो उपमंडल कार्यालय नादौन में दूसरे विभाग के विरुद्ध नियुक्त किया गया है, उसे वापस क्षेत्रीय कानूनगो वृत्त कांगू में नियुक्त किया जाए। जिला अभिलेख कक्ष के रिकार्ड को एक माह के भीतर संबंधित उपमंडल में शिफ्ट किया जाए तथा तीन कानूनगो के पद जो इस कार्य के लिए सरकार की ओर से अधिसूचित/सृजित किए गए हैं, उन्हें अन्य जिलों की भांति इस जिले में भी सृजित किया जाए।
बैठक के दौरान संघ के कई पदाधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। मीटिंग के दौरान कार्यकारिणी में आंशिक रूप से संशोधन किया गया। जिसमें प्रताप सिंह ठाकुर को जिलाध्यक्ष, अमरजीत सिंह को उपप्रधान, रविंद्र कुमार को महासचिव, देशराज चंदेल को मुख्य सलाहकार, अजय कुमार, वासु धर शर्मा, आशीष कौशल और सनम धीमान को उपाध्यक्ष, अवनीश कुमार को कोषाध्यक्ष, सुमन सतीश कुमार और बलवंत सिंह को राज्य प्रतिनिधि, तेज कुमार को प्रेस सचिव, राकेश कुमार को सह-कोषाध्यक्ष, गगनेश, तिलकराज, सपना कुमारी, रीना देवी और कमल देव को सदस्य, विशाल धीमान, कमलेश कुमार और अनिल कुमार को सलाहकार नियुक्त किया गया है।
... और पढ़ें

अब भाजपा स्वयं तय करेगी नप सुजानपुर के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष

सुजानपुर (हमीरपुर)। नगर परिषद सुजानपुर के भाजपा पार्षदों की आपसी फूट पर अब तक सब्र का घूंट पी रही भाजपा असंतोष की पिच पर खुद बैटिंग और बॉलिंग करने की तैयारी में है। भाजपा की ओर से खेली जाने वाली रणनीति को लेकर भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य वीरेंद्र पोदी की आगामी रणनीति पर सबकी नजरें है। राजनीति में पोदी को भी एक मंझा हुआ खिलाड़ी माना जाता है। उनके सामने आ जाने से भाजपाई भी अब राहत महसूस करने लगे हैं। खाली हुए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर भले ही कई नामों को लेकर अटकलों का जोर चल रहा हो, लेकिन भाजपा का संदेश भाजपा समर्थक पार्षदों को अब सर्वमान्य मानना पड़ेगा। नगर परिषद के नौ वार्डों में 6 भाजपाई पार्षद होने के बावजूद दो धड़ों में बंटने से गई अध्यक्ष, उपाध्यक्ष की कुर्सी पर नए चुनाव को लेकर आगामी रणनीति वीरेंद्र पोदी पर टिक गई है। उनकी रणनीति पर आगामी फार्मूले को लेकर अब चर्चा जोरों पर है।
सूत्रों के मुताबिक पार्षदों के इस एपिसोड पर लगाम लगाने को लेकर वीरेंद्र पोदी और भाजपा मंडल को जिम्मेवारी सौंपी गई है। वर्तमान में नगर परिषद सुजानपुर के कुल 9 वार्डों में 6 भाजपा समर्थक पार्षद हैं। जिनमें दो गुटों में बंटने से तीन-तीन का आंकड़ा हो गया है। दोनों गुटों ने एक दूसरे के खिलाफ अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को पद से उतारने के लिए कांग्रेसी पार्षदों को अपनी ओर कर बहुमत बनाया। हालांकि, भाजपा पार्षदों की फूट में विराम लगाने की कोशिश करती रही, लेकिन अध्यक्ष व उपाध्यक्ष की कुर्सी खो जाने के बाद अब पड़ी दरार को भरने व अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के नए चुनाव की तिथि निर्धारित होने से पहले भाजपा खुद फील्ड में उतरेगी और कप्तान व उप कप्तान उतारने को लेकर नाम तय करेगी। जिसमें अब तक भाजपा के पार्षदों की इस लुकाछिपी के खेल को छोड़कर भाजपा के तय अध्यक्ष, उपाध्यक्ष के नाम पर पार्टी हित में साथ देना पड़ेगा। पार्षदों की इस आर-पार की लड़ाई में अब भाजपा में राजनीति के मंझे खिलाड़ी वीरेंद्र पोदी के साथ भाजपा मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र ठाकुर के फार्मूले की रणनीति पर निगाहें टिकी हुई हैं। फिलहाल चुनावों की तिथि निर्धारित न होने तक कई नामों को लेकर अटकलें चली हुई हैं, लेकिन पार्टी की ओर से आशीर्वाद भाजपा के साथ एकजुटता दिखाने वाले पार्षदों की ओर ही मिलने के संकेत हैं।
... और पढ़ें

स्ट्रीट लाइटों का कार्य सही न करने पर नप ने रोकी कंपनी की पेमेंट

हमीरपुर। शहर में दिन-प्रतिदिन स्ट्रीट लाइटें और हाई मास्ट लाइटें खराब हो रही हैं लेकिन, कंपनी के कर्मचारी इन्हें दुरुस्त नहीं कर रहे हैं। कंपनी की लचर कार्यप्रणाली से तंग आकर नगर परिषद ने जहां कंपनी की पेमेंट रोक दी है, वहीं पेमेंट न मिलने के कारण कर्मचारी भी काम पर नहीं आ रहे हैं। इस कारण दो सप्ताह से शहर में नियमित होने वाली स्ट्रीट लाइटों और हाई मास्ट लाइटों की मरम्मत नहीं हो पाई है। इसके चलते शहर के सभी वार्डों में करीब आधा-आधा दर्जन स्ट्रीट लाइटें और वार्ड एक हाई मास्ट लाइट खराब पड़ी है। धुंध और अंधेरे में लोगों को ठोकरें खाने को मजबूर होना पड़ रहा है। कंपनी के कर्मचारी सप्ताह के एक दिन एक वार्ड की लाइटों को दुरुस्त करते हैं और दूसरे दिन दूसरे वार्ड की।
यही प्रक्रिया नप के सभी वार्डों में निरंतर चलती है, लेकिन दो सप्ताह से कर्मचारी काम पर नहीं आ रहे हैं। इस कारण वार्डों में रात को अंधेरा छाया है। कंपनी और नप के बीच चल रहे पेमेंट विवाद का खामियाजा शहर के लोगों को अंधेरे में ठोकरें खाकर भुगतना पड़ रहा है। ऐसे में लोगों ने नगर परिषद और संबंधित ईएसएल कंपनी की कार्यप्रणाली पर रोष व्यक्त किया है। वार्ड एक के पार्षद अनिल चौधरी का कहना है कि वार्ड में लगी हाई मास्ट लाइट सहित कई स्ट्रीट लाइटें खराब पड़ी हैं। कंपनी के कर्मचारी काम पर नहीं आ रहे हैं। जब पूछा जाता है तो बताया गया कि कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। उन्होंने कहा कि नप की बैठक में भी कंपनी की लचर कार्यप्रणाली की शिकायत कर चुके हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।
समस्या का कर रहे समाधान : अभिमन्यु
ईएसएल कंपनी के प्रतिनिधि अभिमन्यु का कहना है कि बीते अप्रैल माह से पेमेंट नहीं मिली है। इस कारण कर्मचारी काम पर नहीं आ रहे हैं। जहां-जहां लाइटों में दिक्कत आ रही है, वह स्वयं उस स्थान का भ्रमण कर समस्या का समाधान कर रहे हैं। कर्मचारी पेमेंट न मिलने के कारण काम पर नहीं आ रहे हैं, जबकि वह हड़ताल पर नहीं हैं।
क्या कहते हैं ईओ
कंपनी की लचर कार्यप्रणाली से रोकी पेमेंट : ईओ
नप के ईओ केएल ठाकुर ने कहा कि कंपनी की लचर कार्यप्रणाली और उनका काम सही न होने के कारण पेमेंट रोकी गई है। बैठक में भी कंपनी के खिलाफ शिकायतें आई हैं। वह घर के एक कार्यक्रम में हैं।
... और पढ़ें

हिमाचल में पूर्व सैनिकों के 4588 बच्चों की आर्थिक सहायता लटकी

सूबे में पूर्व सैनिकों के 4588 बच्चों की पढ़ाई के लिए मिलने वाली आर्थिक सहायता लटक गई है। केंद्रीय सैनिक बोर्ड की तरफ से पूर्व सैनिकों के बच्चों को पढ़ाई के लिए हर माह एक हजार रुपये के हिसाब से एकमुश्त साल बाद 12 हजार रुपये आर्थिक सहायता दी जाती है। केंद्रीय सैनिक बोर्ड 27 अक्तूबर 2017 के बाद आवेदन करने वालों को करीब सवा दो साल बाद भी इस राशि की अदायगी नहीं कर पाया है।

बोर्ड ने वर्ष 2018-19 के 2400 और 2019-20 के 2188 बच्चों को पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता नहीं दी है। इसके लिए अगर पूर्व सैनिक विभाग से संपर्क कर रहे हैं तो उन्हें फंड की कमी होने का जवाब मिल रहा है। 
इसके अलावा बेटियों की शादी के लिए मिलने वाली 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी सूबे में 768 लाभार्थियों की लटकी है। इसके तहत 19 मई 2018 के बाद आवेदन करने वालों को यह राशि नहीं मिल पाई है। वर्ष 2018-19 के 438 और वर्ष 2019-20 के अभी तक 330 लाभार्थी वंचित हैं। पेन्यूरी ग्रांट 19 जून 2018 के बाद लाभार्थियों को नहीं मिली है।

इसके तहत वर्ष 2018-19 के 79 और 2019-20 के अभी तक 12 लाभार्थी आर्थिक सहायता से वंचित हैं। बता दें कि इस बारे में कुछ पात्र पूर्व सैनिक व आश्रित जनमंच कार्यक्रम में भी शिकायत कर चुके हैं। उधर, निदेशक सैनिक कल्याण विभाग एवं उपायुक्त हमीरपुर हरिकेश मीणा का कहना है कि मामला ध्यान में आया है। केंद्रीय सैनिक बोर्ड से ही समस्या का समाधान होगा। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us