बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

बिलासपुर

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

नाके पर कार से बैरिकेड तोड़ भागा पूर्व विधायक का बेटा, एफआईआर दर्ज

हिमाचल के बिलासपुर जिले के पुलिस थाना घुमारवीं के तहत नाकाबंदी के दौरान एक कार सवार नाका तोड़कर फरार हो गया। बुधवार देर रात कोरोना वायरस के चलते कर्फ्यू के दौरान पुलिस ने घुमानी चौक पर नाकाबंदी की थी।

इस दौरान पनोह सड़क की तरफ से एक कार आई। पुलिस ने पूछताछ के लिए कार चालक को रुकने का इशारा किया, वह बैरिकेड तोड़कर भाग निकला। पुलिस के अनुसार कार सवार पूर्व विधायक का बेटा था। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। 

डीएसपी राजेंद्र जसवाल ने बताया कि कार में दो लोग सवार थे, जिसमें एक पूर्व विधायक का बेटा था। पुलिस ने इस संबंध में आईपीसी की धारा 186,188, 34 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बिलासपुर जिले में एक सप्ताह में इस तरह की यह दूसरी एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश कर रही है।
... और पढ़ें

श्रम निरीक्षक पर विजिलेंस ने दर्ज की एफआईआर, पद की धौंस दिखाकर कारोबारी से मांग रहा था टायर

विजिलेंस ने श्रम निरीक्षक के खिलाफ पद की धौंस दिखाकर कारोबारी से टायर की मांग करने को लेकर एफआईआर दर्ज की है। श्रम निरीक्षक ने घुमारवीं के एक कारोबारी से अपने निजी कार्य को पूरा करने की मांग की थी। इसके बाद कारोबारी ने इस संबंध में विजिलेंस को शिकायत दी थी। पूरे मामले को लेकर विजिलेंस ने सभी साक्ष्य जुटाने के बाद एफआईआर दर्ज की है। डीएसपी विजिलेंस चंद्रशेखर ने बताया की विजिलेंस ने मामला दर्ज कर लिया है। पूरे मामले की छानबीन जारी है। 

जानकारी के अनुसार श्रम निरीक्षक घुमारवीं के एक कारोबारी के पास से टायर की मांग कर रहा था। वहीं टायर न देने की एवज में परिणाम भुगतने की भी धमकी दे रहा था। सूत्रों के अनुसार कारोबारी ने श्रम निरीक्षक की नाजायज मांगों को लेकर सभी साक्ष्य जमा करने के बाद विजिलेंस बिलासपुर के पास शिकायत दी थी। सभी साक्ष्यों की जांच के बाद विजिलेंस ने पाया कि अधिकारी अपने पद का गलत इस्तेमाल कर कारोबारी से वस्तुओं की मांग कर रहा था।

इसके बाद विजिलेंस बिलासपुर ने आरोपी श्रम निरीक्षक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जी है। विजिलेंस के डीएसपी चंद्रशेखर ने बताया कि उन्हें एक कारोबारी की शिकायत मिली थी कि श्रम निरीक्षक अपने पद की धौंस दिखा कर उनसे कुछ वस्तुओं की मांग कर रहा है। मांग पूरी न करने पर परिणाम भुगतने की बात करता है। उन्होंने कहा कि शिकायत के आधार पर विजिलेंस ने इस संबंध में एफआईआर दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

ऑनलाइन फ्रॉड के सरगना समेत तीन आरोपी बिहार से गिरफ्तार, मोबाइल और लैपटॉप भी बरामद

 हिमाचल के बिलासपुर जिला पुलिस ने ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले गैंग के मुख्य सरगना समेत तीन लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। शातिरों को बिहार से गिरफ्तार कर पुलिस बिलासपुर लाई है। आरोपियों से पुलिस ने नौ फोन, एक लैपटॉप, 9 सिम कार्ड, 6 एटीएम और 10,5500 रुपये की नकदी भी बरामद की है। जबकि, तीन बैंक खातों में तीन लाख से अधिक राशि को सीज कर दिया गया है।

एसपी बिलासपुर साक्षी वर्मा ने बताया कि आरोपियों ने घुमारवीं क्षेत्र के एक व्यक्ति को सफारी गाड़ी निकलने के नाम पर करीब 16 लाख रुपये की चपत लगाई थी। शिकायत पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की और विभिन्न बैंकों के साथ मिलकर पैसे निकालने और बैंक अकाउंट में एड मोबाइल नंबरों से पूरी डिटेल लेकर आरोपियों तक पहुंची।

इस मामले में पुलिस ने बिहार से जय प्रकाश निवासी पार्वतीपुर जिला नवाड़ा, रियांश राजपूत निवासी चैबारी जिला शेखपुरा बिहार और आनंद कुमार निवासी पार्वतीपुर, जिला नवाड़ा बिहार को गिरफ्तार किया। इससे पहले ऑनलाइन ठगी के मामले में पुलिस उत्तराखंड से भी आरोपियों को पकड़ चुकी है। आरोपी ने यहां भी गाड़ी के नाम पर पीड़ित को 75 हजार की चपत लगाई थी। एक अन्य मामले में घुमारवीं के एक लड़की के एटीएम से आरोपियों ने 75 हजार रुपये उड़ा लिए थे। इस मामले में पुलिस ने आरोपी रुड़की से पकड़े थे। 

एक हफ्ते तक बिहार में डटी रही बिलासपुर पुलिस
एसपी बिलासपुर साक्षी वर्मा ने बताया कि बिहार से पकड़े गए आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने इसके लिए बैंक सहित अन्य लोगों की मदद ली। जिसके आधार पर पुलिस टीम को यह सफलता मिली है। आरोपियों को पकड़ने के लिए एक सप्ताह से बिलासपुर पुलिस बिहार में रही, जहां बिहार पुलिस की मदद भी हमें मिली। 
... और पढ़ें

बिलासपुर: दुष्कर्म मामले का आरोपी अस्पताल से फरार, मेडिकल करवाने लाई थी पुलिस

नाबालिग से दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार युवक बरठीं अस्पताल से फरार हो गया। पुलिस आरोपी को झंडूता क्षेत्र के बरठीं अस्पताल में मेडिकल करवाने के लिए लाई थी। इसी दौरान आरोपी पुलिस को चकमा देकर भाग गया। पुलिस ने आरोपी की फोटो सोशल मीडिया सहित सभी थानों में भेज दी है।

युवक के खिलाफ 28 नवंबर को नाबालिग से दुष्कर्म का मामला दर्ज किया था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए युवक को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस आरोपी को पूरी रात तलाशती रही। आरोपी का कोई सुराग नहीं लग पाया।

आरोपी की पहचान मनोहर लाल (29) के रूप में हुई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित कुमार का कहना है कि आरोपी रात के समय अस्पताल से भाग गया। पुलिस जल्द ही आरोपी को पकड़ेगी। सभी थानों में जानकारी दे दी गई है। 
... और पढ़ें
पुलिस (फाइल फोटो) पुलिस (फाइल फोटो)

बिलासपुर: साढ़े चार किलो चरस और चार लाख कैश के साथ तीन युवक गिरफ्तार

बिलासपुर सदर थाना पुलिस ने मंडी के तीन युवकों को 4 किलो 682 ग्राम चरस और 4.29 लाख रुपये नकदी के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जानकारी के अनुसार सदर थाना पुलिस ने गुप्त सूचना पर चंडीगढ़-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुंगल में नशा माफिया को पकड़ने के लिए नाका लगाया था।

पुलिस एनएच पर आने जाने वाले वाहनों की चेकिंग कर रही थी। गुरुवार दोपहर को मंडी की तरफ से दो कारें बिलासपुर की तरफ आईं। पुलिस ने उन्हें तलाशी के लिए रोका। इनमें से एक कार में पुलिस को 4 किलो 682 ग्राम चरस के साथ 4 लाख 29 हजार 500 रुपये नकदी बरामद हुई। पुलिस ने दोनों कारों में बैठे तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 

डीएसपी राजकुमार ने बताया कि आरोपियों की पहचान देवेंद्र गांव जोडना बल्ह टिक्कर, वीर चंद गांव टिक्कर, परमानंद गांव फागनी सोल के रूप में हुई है। आरोपी दो अलग कारों में थे। इनमें एक कार में मादक पदार्थ समेत नकदी के साथ दो आरोपी बैठे थे। एक अन्य कार इन आरोपियों को पायलट कर रही थी। तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इन्हें शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।
... और पढ़ें

हिमाचल: निहंग ने कृपाण से युवकों पर किया हमला, काट दीं हाथ की अंगुलियां

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में श्री नयना देवी के मंडयाली में एक निहंग ने दो स्थानीय लोगों पर कृपाण से हमला कर घायल कर दिया है। इनमें से एक युवक के हाथ की चार अंगुलियां कट गईं। वहीं दूसरे व्यक्ति के सिर पर चोट आई है। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, कोट थाना में आईपीसी की धारा 307 के तहत केस दर्ज कर आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। 
 
जानकारी के अनुसार यह घटना बुधवार शाम की है। एक निहंग जो कि मंडयाली गांव में नयना देवी कोलां वाला टोबा सड़क पर पैदल जा रहा था। इस दौरान उसने बाइक पर जा रहे मंडयाली गांव के बलबीर (40) पुत्र जयराम से आगे जाने के लिए लिफ्ट ली। बलबीर ने निहंग को अपने साथ बिठा लिया, लेकिन जब बलबीर अपने घर मंडयाली में पहुंचा तो उसने निहंग को बाइक से उतरने के लिए कहा।

निहंग ने कहा कि उसे आगे छोड़ दो, लेकिन बलवीर ने इसके लिए मना कर दिया। निहंग इस बात पर बिगड़ गया और उसने अपनी कृपाण निकाल कर बलवीर के हाथ पर हमला कर उसकी अंगुलियां काट दीं। वहीं पर खड़े गांव के दूसरे व्यक्ति धनी राम ने निहंग को पकड़ने की कोशिश की तो उसने धनी राम के सिर पर हमला कर दिया। दोनों को घायल कर निहंग जंगल की ओर भाग गया।

घटना की खबर मिलते ही ग्रामीणों ने निहंग का पीछा कर उसे पकड़ लिया। उसकी पिटाई करने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। वहीं, दोनों घायलों को श्री नयना देवी के सिविल अस्पताल घ्वांडल में इलाज के लिए ले जाया गया। जहां से उन्हें आनंदपुर के लिए रेफर कर दिया गया है। पुलिस के अनुसार दोनों घायलों की हालत में सुधार है।

एएसपी बिलासपुर अमित कुमार ने कहा कि निहंग तेज सिंह को थाना कोट और नयना देवी पुलिस ने गिरफ्तार कर उसके खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि उसके पास कोई भी पहचान पत्र नहीं है, लेकिन पुलिस उसकी पहचान करने में जुटी है।
... और पढ़ें

बिलासपुर: पुलिस कांस्टेबल की निशानदेही पर ड्रग्स सप्लायर के घर छापामारी

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के नलवाड़ी मेला मैदान में 22 मार्च को चिट्टे के मामले में पकड़े गए पुलिस कांस्टेबल की निशानदेही पर पुलिस ने बिलासपुर के डियारा सेक्टर में ड्रग्स सप्लायर के घर पर छापामारी की। इस दौरान पुलिस को आरोपी युवक के घर से 2.85 लाख रुपये की नकदी, 0.33 ग्राम अफीम और 1.56 ग्राम चिट्टा मिला। पुलिस ने सारे सामान के साथ आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार करीब 5 बजे पुलिस ने डियारा सेक्टर में आरोपी के घर पर पूरे दलबल के साथ दबिश दी। करीब 4 घंटे तक क्यूआरटी टीम मौके पर तैनात रही। वहीं आरोपी के घर से नशे का सामान और कैश पुलिस ने बरामद किया है। एएसपी अमित शर्मा ने खुद मौके पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू की। आरोपी युवक के घर से करीब 1 किलोमीटर दूर नाले के नॉन में बकरियों के शेड में भी दबिश दी। यह भी आरोपी का ही शेड है। लेकिन वहां पर पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। 

बताते चलें कि 22 मार्च को नलवाड़ी मेला मैदान लुहणू में एक पुलिस कांस्टेबल को पुलिस ने चिट्टा बेचने के मामले में पकड़ा था। उसे निलंबित कर विभागीय जांच बिठाई गई है। इसी के तार इस छापामारी से भी जुड़े हैं। पुलिस ड्रग सप्लाई करने वाले मुख्य सरगना तक पहुंचने की कोशिश में लगी है। एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा ने बताया कि पुलिस कांस्टेबल की निशानदेही पर डियारा सेक्टर में आरिफ के घर छापामारी की गई। इस दौरान चिट्टा और अफीम के साथ नकदी बरामद हुई है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।
 
... और पढ़ें

बिलासपुर: नाबालिग को चिट्टा बेचने के आरोप में कांस्टेबल निलंबित

बिलासपुर में ड्रग्स सप्लायर के घर पर छापामारी।
हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में पुलिस कांस्टेबल की ओर से नाबालिग को चिट्टा बेचने का मामला सामने आया है। किशोर ने आरोप लगाया है कि उसे कांस्टेबल ने चिट्टा बेचा है। इससे नशा माफिया पर कार्रवाई करने वाली पुलिस ही सवालों के घेरे में आ गई है। पुलिस ने कांस्टेबल के खिलाफ कार्रवाई करते हुए निलंबित कर दिया है। इसे पुलिस लाइन भेजा गया है। मामले में विभागीय जांच की जा रही है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नलवाड़ी मेला मैदान में पुलिस ने एक नाबालिग से 0.13 ग्राम चिट्टा बरामद किया।

पूछताछ में नाबालिग ने बताया कि उसने चिट्टा कार में बैठे खाकी वर्दी पहने एक व्यक्ति से खरीदा है। इसके बाद पुलिस जांच में किशोर की ओर से बताई गई कार पुलिस कांस्टेबल की निकली। वहीं जब पुलिस ने इस वाहन की जांच की तो उसमें से इलेक्ट्रॉनिक वजन स्केल और एक फॉइल कागज रोल भी बरामद हुआ। एसपी दिवाकर शर्मा ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। आरोपी के खिलाफ विभागीय जांच बिठाई गई है। 
... और पढ़ें

बेटे ने मां और सौतेले भाई को पिलाया जहरीला पदार्थ, गले पर तेजधार हथियार से किया वार

बिलासपुर जिले के तलाई पुलिस थाना के अंतर्गत ग्राम पंचायत झबोला में बेटे ने अपनी मां और सौतेले भाई को नशीला पदार्थ पिलाकर जान से मारने की कोशिश की। महिला के गले पर तेजधार हथियार से वार भी किया। महिला को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ तलाई थाने में केस दर्ज कर लिया है। आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। 

मिली जानकारी के अनुसार आरोपी श्री नयनादेवी के गांव दबट का निवासी है। उसकी मां ने दूसरी शादी की है और वह अपने पति और सौतेले बेटे के साथ गांव झबोला में किराये के मकान में रहती है। महिला के पति ने पुलिस को बताया कि उसकी दूसरी पत्नी का पहले पति से एक बेटा है। जो अपनी दादी के पास रहता है। वह झबोला में अपनी मां से मिलने आता रहता है। 

मंगलवार को वह अपने दो दोस्तों के साथ झबोला आया और अपनी मां व सौतेले भाई को धोखे से नींबू के जूस में कोई नशीला पदार्थ पिला दिया। इससे पत्नी और बेटा बेहोश हो गए। जब महिला को होश आया तो तीनों लड़के गाली-गलौज करने लगे। इसके बाद आरोपी बेटे सुनील कुमार ने पत्नी के मुंह पर किसी चीज का स्प्रे कर दिया। इसके बाद मुंह पर तिरपाल डाल दिया और किसी तेज हथियार से गले पर प्रहार कर दिया।

जैसे ही पत्नी उठी तो उसने देखा कि दिव्यांग नितिन कुमार को भी नशीला पदार्थ पिलाया गया है। पत्नी सहायता के लिए चिल्लाने लगी तो गांव के लोग इकट्ठे हो गए। जिस पर सुनील कुमार व उसके दोनों दोस्त महिला को जान से मारने की धमकी देकर भाग गए। घायल पत्नी और बेटे को तलाई सामुदायिक केंद्र लाया गया।

गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने दोनों को जिला अस्पताल बिलासपुर रेफर कर दिया है। उधर, पुलिस ने महिला के बयान दर्ज करके सुनील कुमार और उसके दोनों दोस्तों के खिलाफ आईपीसी की धारा 451, 323, 504, 506 व 34 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। डीएसपी अनिल ठाकुर ने मामले की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के बाद पिता ने फंदा लगाकर दी जान

श्री नयनादेवी जी क्षेत्र में नशेड़ी पिता ने अपनी 12 वर्षीय नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म के बाद फंदा लगाकर जान दे दी। नाबालिग ने परिजनों को इसकी जानकारी दी तो आरोपी पिता ने बंद कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पीड़ित नाबालिग की मां कहीं और रह रही हैं। पिता के साथ दो बेटियां और एक बेटा रहता था जबकि एक बेटी अपने नाना-नानी के पास रहती है। 

परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस थाना कोट की टीम ने मौके पर पहुंचकर परिजनों और पीड़िता के बयान दर्ज कर लिए हैं। मृतक के शव को भी कब्जे में ले लिया है। डीएसपी संजय शर्मा ने बताया कि इस संबंध में पुलिस थाना कोट में आईपीसी की धारा 376, 506 और पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।  
... और पढ़ें

सेब से लदे ट्रक से पुलिस ने बरामद की 904 ग्राम चरस

चंडीगढ़-मनाली एनएच पर मंगलवार देर रात स्वारघाट पुलिस ने बनेर स्थान पर लगाए नाके के दौरान सेब से लदे ट्रक से 904 ग्राम चरस के साथ चालक और कंडक्टर सीट पर बैठे एक अन्य चालक को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान संतोष कुमार (33) पुत्र हेम सिंह गैहरा तहसील सरकाघाट जिला मंडी व दूसरे चालक की पहचान हेमचंद (32) पुत्र धर्म सिंह निवासी कोठी गहरी तहसील बल्ह जिला मंडी के रूप में हुई है।

चरस की खेप कंडक्टर सीट पर बैठे हेमचंद के बैग से मिली है। पुलिस ने ट्रक को कब्जे में ले लिया है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बनेर में खड़ा एक ट्रक (एचपी64-5775) पिछले दो दिन से खराब था। मंगलवार शाम को यहां जाम लगा था। थाना प्रभारी विरोचन नेगी की अगुवाई में टीम जाम खुलवाने गई थी। ट्रैफिक ज्यादा होने पर थाना प्रभारी ने यहां पर नाका लगा दिया।

इसी दौरान बिलासपुर की तरफ से आ रहे सेब से लदे ट्रक चालक (एचपी 66 ए-3240) को पुलिस ने रुकने का इशारा किया, लेकिन वह ट्रक को भगाकर ले गया। पुलिस टीम ने पीछा कर ट्रक को थोड़ी दूर आगे रोका और केबिन की तलाशी ली। इस दौरान कैरी बैग से पॉलिथीन में रखी बत्तीनुमा चरस बरामद हुई। इसका भार 904 ग्राम निकला। डीएसपी नयनादेवी संजय शर्मा ने कहा कि दोनों आरोपियों के खिलाफ स्वारघाट थाने में केस दर्ज कर लिया है।
... और पढ़ें

कार सवार युवाओं से पौने दो किलो चरस बरामद

स्वारघाट क्षेत्र के री-लिंक रोड के किनारे खड़ी एक कार से पुलिस की एसआईयू टीम ने पौने दो किलो चरस के साथ दो युवकों को गिरफ्तार किया है। जबकि, दो अन्य युवक फरार हो गए। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह साढ़े तीन बजे एसआईयू टीम गश्त पर थी। इस दौरान री-गांव के लिंक रोड के समीप गरामोड़ (कैंची मोड़) के पास सुनसान जंगल के किनारे एक पंजाब नंबर की कार खड़ी थी।

पुलिस को देखकर कार सवार घबरा गए। एसआईयू टीम के पहुंचने से पहले ही पिछली सीट पर बैठे दो युवक कार का दरवाजा खोलकर जंगल की तरफ भाग गए। जबकि, चालक और उसके साथ बैठे एक अन्य युवक को पुलिस ने दबोच लिया। दोनों ही साथियों के भागने को लेकर संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। जिस पर कार की तलाशी ली गई तो 1.642 किलो चरस बरामद हुई। पूछताछ में आरोपियों की पहचान शिवम मोगा (23) निवासी नामदेव नगर, जिला फाजिल्का (पंजाब) और अंकित शर्मा (22) पुत्र बालकृष्ण शर्मा निवासी ददाहू जिला सिरमौर के रूप में हुई है।

जबकि फरार अन्य दो युवक सिरमौर जनपद के निवासी बताए जा रहे हैं जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। इसके साथ ही पुलिस पकड़े गए दोनों आरोपियों से चरस खेप के बारे में पूछताछ कर रही है। पुलिस पता लगा रही है कि यह चरस खेप कहां से लाई गई थी और कहां ले जाई जा रही थी। इस संबंध में डीएसपी संजय ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले में छानबीन जारी है। फरार आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जी एजेंट ने ठगे 2.70 लाख

कोर्ट के आदेशानुसार बरमाणा थाना में एक व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत केस दर्ज किया गया है। व्यक्ति पर आरोप है कि उसने दो लोगों से पैसा वसूल कर उन्हें नौकरी के लिए मलेशिया भेजा। व्यक्ति खुद को बीजा एजेंट बताया और उन्हें टूरिस्ट बीजा पर नौकरी के लिए  मलेशिया भेजा। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार उपरली भटेड़ के व्यक्ति राम लाल ने पुलिस को शिकायत दी है कि सुदंरनगर के एक व्यक्ति ने खुद को वीजा एजेंट बताकर उससे और उसके एक साथी से मलेशिया में अच्छी नौकरी दिलवाने के लिए 2 लाख 70  हजार रुपये लिए। बताया कि साल 2019 में आरोपी ने उन्हें अच्छी नौैकरी का दिलासा देकर मलेशिया भेज दिया।

लेकिन वहां जोर उन्हें पता लगा कि उन्हें टूरिस्अ बीजा पर यहां भेजा गया है और उनकी नौकरी की भी कोई बात नहीं की गई है। रामलाल ने बताया कि व्यक्ति ने जब उनसे पैसे लिए थे तो बताया था कि वो अधिकृत एजेंट है। शिकायतकर्ता ने बताया कि मलेशिया जाने के बाद जब उन्हें सच का पता चला तो जैसे तैसे करके वो वापिस भारत आए। 

शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी के पास बीजा लगवाकर नौकरी दिलवाने के लिए कोई अधिकृत लाइसेंस नहीं है। उसने उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर उन्हें टूरिस्ट बीजा पर मलेशिया भेजा। जहां नौकरी न मिलने के कारण उन्हें बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।
 
डीएसपी बिलासपुर संजय शर्मा ने बताया कि पुलिस ने कोर्ट के निर्देशानुसार आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत बरमाणा थाना में केस दर्ज कर लिया है। बताया कि पुलिस प्राथमिकता के आधार पर केस की छानबीन कर रही है। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00