Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Muzaffarnagar ›   UP Elections 2022: opposition eyes on Shah's visit to Muzaffarnagar, BKU Rakesh Tikait raised farmers death issue by tweeting

यूपी चुनाव 2022 : शाह के मुजफ्फरनगर दौरे पर टिकी विपक्ष की नजरें, भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने ट्वीट कर उठाया ये मुद्दा

न्यूज डेस्क अमर उजाला, मुजफ्फरनगर Published by: Dimple Sirohi Updated Sat, 29 Jan 2022 11:01 AM IST

सार

अमित शाह  के मुजफ्फरनगर दौरे से पहले भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने सात सौ किसानों की मौत का मुद्दा उठाया है।उन्होंने कहा कि सरकार ने किसान संयुक्त मोर्चा से कृषि आंदोलन समझौते के दौरान किए गए वायदों को पूरा नहीं किया है।
भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत।
भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

किसान आंदोलन के बाद गृहमंत्री अमित शाह पहली बार मुजफ्फरनगर के दौरे पर पहुंचेंगे। उनके आने से पहले भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने सात सौ किसानों की मौत का मुद्दा उठाया है। ट्वीट पर कहा कि पिछले साल के इन दिनों को किसान कभी नहीं भूलेंगे। एमएसपी पर गारंटी कानून बनना चाहिए। शाह के दौरे पर विपक्ष के नेताओं की नजर टिकी है।

विज्ञापन


वहीं इससे पहले बिजनौर में नजीबाबाद के ढाकी साधो में अनिल चौधरी के आवास पर एक निजी कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि सरकार ने किसान संयुक्त मोर्चा से कृषि आंदोलन समझौते के दौरान किए गए वायदों को पूरा नहीं किया है।


यह भी पढ़ें : यूपी चुनाव : राकेश टिकैत बोले- भाजपा का पुराना मॉडल ढाई माह के प्रवास पर है, समर्थन के सवाल पर बोले...

आंदोलन के दौरान 750 किसान शहीद हुए, सरकार ने एमएसपी पर कानून बनाने, 14 दिन में गन्ना मूल्य भुगतान करने, किसानों पर दर्ज मामले वापस लेने सहित किसानों से किए गए किसी भी वायदे को पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि भाजपा का रथयात्रा, राम मंदिर, जिन्ना मॉडल पुराना हो चुका है, इस मुद्दे पर अब आग लगने वाली नहीं। आग पर पानी डालने की सीख लोगों को मिल चुकी है। 

राकेश टिकैत ने कहा कि किसान किसी राजनीतिक दल के दबाव में नहीं हैं। किसानों और आम जनता को चुनाव में क्या करना है, किसान आंदोलन ने सब कुछ सिखा दिया है। अपनी मर्जी से मतदान के लिए सभी स्वतंत्र हैं।

राकेश टिकैत ने राजस्थान में सात लाख रुपये के बकायादार किसान की 10 एकड़ भूमि नीलाम करने पर सख्त नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि जितना बकाया हो, सर्किल रेट के अनुसार उतनी ही जमीन नीलाम करने के कानून पर अमल करना होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री सबका होता है। पद पर रहते पार्टी विशेष का चुनाव प्रचार का प्रचलन रोकना ही होगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00