जानलेवा हमले के मामले में पुलिस द्वारा पकडे गए दो आरोपियों को छुडाने पहुंचे पूर्व विधायक गोपाल काली ने चौकी इंचार्ज पर आरोप लगात

Meerut Bureau Updated Thu, 15 Feb 2018 07:28 PM IST
मवाना।
जानलेवा हमले के मामले में मवाना खुर्द पुलिस चौकी द्वारा गांव नानपुर के दो युवकों को हिरासत में लिया था। उनको निर्दोष बताते हुए पूर्व विधायक गोपाल काली बृहस्पतिवार को मवाना खुर्द पुलिस चौकी पहुंचे। वहां उन्होंने पुलिस चौकी इंचार्ज पर निर्दोषों को गिरफ्तार करने का आरोप लगाते हुए धरना दिया। सूचना पाकर थाना प्रभारी ब्रजेश कुशवाहा चौकी पहुंचे तथा उन्हें समझा-बुझाकर शांत किया।
गांव बिसौला निवासी यासमीन पत्नी फुरकान की छह माह पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में झुलसने से मौत हो गई थी। इस मामले में यासमीन के मायके वालों ने पति समेत ससुराल पक्ष के चार लोगों के खिलाफ इंचौली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस मामले में इंचौली पुलिस ने दो लोगों को जेल भेज दिया था।
फुरकान पक्ष की पैरवी इमरान पुत्र यूसुफ निवासी बिसौला कर रहा था। 5 जुलाई 2017 को इमरान साइकिल से मुकदमे की पैरवी के लिए घर से निकला था। वह पहाड़पुर चौराहे पर पहुंचा तो उससे गोली मारकर घायल कर दिया था। इस मामले में इमरान ने नानपुर निवासी सगे तीन भाइयों के खिलाफ मवाना थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आज पुलिस ने इस मामले में दो को हिरासत में लिया था। हिरासत में लिए गए लोगों के पक्ष में पूर्व विधायक गोपाल काली चौकी पहुंचे तथा उनको निर्दोष बताते हुए पुलिस चौकी इंचार्ज पर उत्पीड़न करने आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पुलिस घटनाओं का खुलासा तो कर नहीं रही है, निर्दोषों को गिरफ्तार कर रही है। वे समर्थकों के साथ वहीं धरना देकर बैठ गए। धरने की सूचना पाकर थाना प्रभारी ब्रजेश कुशवाहा वहां पहुंचे तथा वार्ता करक ेगोपाल काली को शांत किया। थाना प्रभारी ने बताया हिरासत में लिए गए दोनों युवकों के मामले में अभी जांच चल रही है। बाद पूर्व विधायक गोपाल काली सीओ से भी मिले। वहीं, इमरान पुत्र यूसुफ ने सीओ को दिए पत्र में कहा कि पुलिस ने उस पर किए गए जानलेवा हमले के आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उसे ज्ञात हुआ है कि पुलिस पर गिरफ्तार किए गए आरोपियों को छोड़ने का राजनीतिक दवाब बनाया जा रहा है। यदि उन्हें छोड़ा गया तो उसकी जान को खतरा बढ़ जाएगा।
मुख्य बातें
पूर्व विधायक ने निर्दोष बताकर थाने में दिया धरना
पीड़ित पक्ष ने भी सीओ से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग की


विद्युत बिल निर्धारित केंद्र पर जमा करें
मवाना। अधिशासी अभियंता महेश चंद ने बताया कि इस खंड अंतर्गत आने वाले समस्त उपभोक्ताओं को सूचित किया जाता है कि विगत वर्ष की भांति इस वित्तीय वर्ष 2017-18 में शासन द्वारा घरेलू तथा निजी नलकूप संयोजनों के विद्युत बिलों पर किसी प्रकार की छूट की योजना लागू नहीं की जा रही है। सभी उपभोक्ता अपने विद्युत बिलों को निकटतम विद्युत राजस्व भुगतान केंद्र अथवा शिविर में जमा करा दें। भुगतान नहीं होने पर संयोजन विच्छेदन एवं धारा-3/5 की कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Rohtak

बारात से चार घंटे पहले प्रेमिका से मिलने पहुंच गया प्रेमी, परिजनों पर जबरन दोनों को जहर खिलाने का आरोप

बारात से चार घंटे पहले प्रेमिका से मिलने पहुंच गया प्रेमी, परिजनों पर जबरन दोनों को जहर खिलाने का आरोप

18 फरवरी 2018

Related Videos

यूपी में अपराधियों के मन में एनकाउंटर का खौफ, सार्वजनिक रूप से मांग रहे माफी

यूपी में अपराधियों के मन में पुलिस के एनकाउंटर का खौफ पूरी तरह बैठ गया है। यहां लगातार हो रहे एनकाउंटर को देखकर दो अपराधियों ने सार्वजनिक तौर पर अपने करनामों के लिए माफी मांगी है। इन दोनों पर हत्या और लूट के नौ मामले दर्ज है।

17 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen