यूपी: आज गाजीपुर बॉर्डर के लिए रवाना होगी किसान ट्रैक्टर यात्रा, भाकियू ने थाने में दिया धरना, जानें क्या है बड़ी वजह

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Published by: कपिल kapil Updated Sun, 25 Jul 2021 01:54 AM IST

सार

किसान ट्रैक्टर यात्रा आज दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर के लिए रवाना होगी। वहीं भाकियू कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। 
मेरठ समाचार: किसान आंदोलन।
मेरठ समाचार: किसान आंदोलन। - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मेरठ-बिजनौर किसान ट्रैक्टर यात्रा आज गाजीपुर बॉर्डर के लिए रवाना होगी। हाईकमान ने यात्रा को बेगमपुल से वाया कंकरखेड़ा एनएन-58 से निकालने को कहा है, वहीं किसान यात्रा को शहर के अंदर से दिल्ली रोड होते हुए निकालने पर अड़े हुए हैं। देर रात तक इस बारे में कोई फैसला नहीं हो सका। 
विज्ञापन


भाकियू युवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव टिकैत का कहना है कि यात्रा किस रोड से निकाली जाएगी इस बारे में रविवार को ही फैसला लिया जाएगा। बिजनौर से चली किसान ट्रैक्टर यात्रा शनिवार शाम करीब पौने सात बजे बहसूमा कस्बे के राजकीय इंटर कॉलेज पहुंच गई। यहीं पर रात्रि पड़ाव होगा। यात्रा के साथ भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव टिकैत भी पहुंचे। सुबह 10 बजे यात्रा दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर के लिए प्रस्थान करेगी। इसमें मेरठ के किसानों के ट्रैक्टर और कार आदि भी शामिल होंगे। यात्रा मवाना रोड होते हुए गंगानगर, कमिश्नरी आवास चौराहा होते हुए जीरो माइल चौराहा पहुंचेगी। यदि यात्रा शहर के अंदर से गई तो दिल्ली रोड से होते हुए जाएगी। हालांकि हाईकमान ने यात्रा को शहर की बजाय दूसरा विकल्प जीरो माइल स्टोन से गांधी बाग होते हुए कंकरखेड़ा एनएच-58 से ले जाने को कहा है। हालांकि अभी रूट पर फाइलन निर्णय नहीं हो सका है।


मेरठ से 300 ट्रैक्टरों और 100 से ज्यादा कारें जाने का दावा 
भाकियू जिला संगठन नेताओं का दावा है कि मेरठ से 300 ट्रैक्टर और 100 से ज्यादा कारों का काफिला ले जाएगा जाएगा। निवर्तमान जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी का कहना है कि किसानों में गाजीपुर बॉर्डर चलने के लिए भारी उत्साह है।

भाकियू पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं और किसानों के साथ परतापुर थाने में दिया धरना
पीवीवीएनएल टीम के साथ विजिलेंस की टीम ने कंचनपुर घोपल और जैनपुर गांव में छापा मारकर 44 किसानों के यहां बिजली चोरी पकड़ी थी। शनिवार को इसके विरोध में भाकियू पदाधिकारियों और किसानों ने परतापुर थाने में साढे़ तीन घंटे धरना दिया। बात नहीं बनने पर गुस्साए कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर जाम लगा दिया। आनन-फानन में अधिकारियों ने किसानों को न्यूनतम जुर्माना भरने का आश्वासन दिया। इसके बाद धरना समाप्त हुआ। 

परतापुर थाने पर भाकियू के धरने की सूचना पर शनिवार सवेरे ही कई थानों की पुलिस, सीओ और फायर ब्रिगेड को लगाया गया। शनिवार 10 बजे भाकियू नेता विजयपाल घोपला के नेतृत्व में सैकड़ों किसान परतापुर थाने पहुंचे और धरना देकर बैठ गए। कुछ ही देर में बिजली विभाग से एससी टेक्निकल, एसीएम संदीप श्रीवास्तव भी पहुंच गए और किसानों से वार्ता शुरू की। भाकियू नेता ने कहा कि शासन प्रशासन किसान को परेशान कर रहा है। गन्ने का बकाया भुगतान नहीं किया जा रहा है। अब किसानों के घरों पर छापा मारा जा रहा है।

उन्होंने कहा कि किसान अब उत्पीड़न सहन नहीं करेगा। इस बीच अफसरों और किसानों के बीच नोकझोंक भी हुई। अधिकारियों के एक घंटे तक कोई निर्णय नहीं लेने पर भाकियू नेता संजय दौरालिया और अनुराग ने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर हाईवे पर आडे़ तिरछे टैक्टर-ट्रॉली खड़े कर जमा लगा दिया। वाहनों की लंबी कतारें लगने पर पुलिस ने रूट डायवर्जन करा दिया। बात नहीं बनने पर किसान उखड़ गए और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे को जाम करने की धमकी दे डाली। इससे अफसरों के हाथ पैर फूल गए और उन्होंने किसानों के बीच पहुंचकर कहा कि पांच सदस्यीय कमेटी के साथ वार्ता जारी रहेगी। अब बिजली चोरी मामले में किसानों को न्यूनतम जुर्माना देना होगा। जब भी छापा मारा जाएगा इसकी जानकारी किसानों को दी जाएगी। इस आश्वासन पर किसान मानें और धरना खत्म कर जाम खोल दिया। इस अवसर पर सपा नेता पवन गुर्जर, महबूब सोलाना, प्रखर, आदि सैकड़ों किसान मौजूद रहे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00