विज्ञापन
विज्ञापन

एल्गिन-चरसड़ी बांध की उलटी गिनती शुरू, प्रशासन ने चरपुरवा को खाली कराया

Lucknow Bureauलखनऊ ब्यूरो Updated Sun, 29 Jul 2018 11:17 PM IST
ख़बर सुनें
चरमराने लगा चरसड़ी बांध, प्रशासन ने चरपुरवा गांव खाली कराया
विज्ञापन
विज्ञापन
गोंडा। पानी के तेज बहाव से एल्गिन चरसड़ी बांध चरमराने लगा है। अस्थाई रूप से बनाए गए रिंग बांध से पानी टकराने के कारण वहां भी तेजी से कटान शुरू हो गई है। बासगांव के पास बांध में रिसाव शुरू हो गया है और नकहरा के पास बांध में कटान होने लगी है।

इस कारण प्रशासन ने चरपुरवा गांव खाली करा लिया है। मौके पर लगे कर्मी बांध को बचाने के लिए पेड़ों की टहनियां, बालू व मिट्टी भरी बोरियां डाल रहे हैं। बांध को बचाने की जद्दोजहद भी तेज कर दी गई है। इससे ग्रामीणों में दहशत बढ़ती जा रही है।

घाघरा का जलस्तर शनिवार शाम को खतरे के निशान से करीब 36 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गई थी। जो रविवार को सुबह से घटने लगी और शाम तक खतरे के निशान से 26 सेंटीमीटर ऊपर तक बह रही थी। घटती घाघरा ने तेजी से कटान करना शुरू कर दिया।

घाघरा का विकराल रूप देख ग्रामीणों के हाथ पांव फूल गए। बांध पर मौजूद सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने आनन-फानन में बांध में कटान रोकने की जद्दोजहद शुरू कर दी। हरे पेड़ काट कर डाले गए। सीमेंटेड बोल्डर और बालू भरी बोरियां डालकर बांध को बचाने की कवायद तेजी से चल रही है।

मगर कटान को देखते हुए रिंग बांध की उल्टी गिनती शुरू है। अगर यही हालात रहे तो 36 घंटे के बाद बांध की स्थिति बिगड़ सकती है। बांध में कटान की स्थिति इतनी भयावह है कि लोगों में दहशत आ गई है। इस कारण चरपुरवा गांव को प्रशासन ने पूरी तरह खाली करा लिया है।

ग्रामीणों में सुधा देवी, सुलिया, राम सिंगारे, बहादुर का आरोप है कि उन्हें सिंचाई विभाग के अधिकारी बांध पर शरण नहीं लेने दे रहे हैं और ना ही उन्हें सुरक्षित स्थानों पर जमीन दी जा रही है। जिससे बेघर हो चुके करीब 15 परिवारों के सवा सौ की आबादी अभी बाढ़ के पानी में ही बसर करने में के लिए मजबूर है।

इसी एल्गिन चरसड़ी बांध के हिस्से में ग्राम बांसगांव के पास रिसाव भी शुरू हो गया है। जिसे भरने के लिए सिंचाई विभाग के अधिकारी तेजी से बोल्डर बालू भरी बोरियां और रोकथाम के प्रयास कर रहे हैं।

बांध में रिसाव को देखते हुए बांसगांव के ठीक सामने गोंडा जिले के गांव घरकुइयां, प्रतापपुर, चरसड़ी तथा बाराबंकी जिले के रायपुर मांझा, परसावल, नैपुरा गांव के ग्रामीणों में जबरदस्त दहशत है। बांध पर मौजूद अवर अभियंता एम के सिंह ने बताया कि बांसगांव के रिसाव को लगभग कंट्रोल कर लिया गया है।

नकहरा के पास अस्थाई रिंग बांध में कटान तेजी से हो रही है। जिसे रोकने के सारे प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि घाघरा का जलस्तर घटते समय कटान अधिक कर रही है। यदि पानी घटता रहा तो कटान जारी रह सकती है। फिलहाल अभी तक कोई विशेष खतरा नहीं है।

बांध कटा तो खत्म हो जाएगा नकहरा का अस्तित्व

नकहरा गांव के सामने बांध को बनाने का विरोध ग्रामीणों के लिए भारी पड़ सकता है। घाघरा ने अपना रुख नए अस्थाई बनाये गए रिंग बांध की ओर कर लिया है। जहां अयोध्या प्रसाद के घर के पीछे ही बांध में कटान तेज हो गई है। बताया जाता है कि इसी स्थान पर बांध न बनने देने का विरोध भी हो रहा था। जहां सबसे अंत मे बालू से बांध बना दिया गया।

अगर इस वर्ष बांध कटता है तो बांध से सटी नकहरा ग्राम पंचायत के लिए सबसे बड़ा खतरा होगा। यहां तक कि इस गांव का अस्तित्व भी समाप्त हो सकता है। इसी तरह से ग्राम रायपुर, बांसगांव के सामने भी बांध की स्थिति बनती जा रही है। बांध में कटान और रिसाव दोनों एक साथ है।

आयुक्त ने घाघरा के उफान की देखी हकीकत

दोपहर बाद कमिश्नर सुदेश कुमार ओझा, डीआईजी देवीपाटन परिक्षेत्र एके राय ने एल्गिन-चरसड़ी बांध का निरीक्षण किया। अस्थाई बांध को भी देखा और घाघरा की उफान को देखते हुए मौके पर मौजूद अधिकारियों व कर्मचारियों को पूरी ताकत से बांध बचाने के उपाय करने के निर्देश दिए।

उन्होंने ग्रामीणों का हालचाल जाना और सिंचाई बाढ़ खंड, राजस्व विभाग सहित एनडीआरफ व आपदा राहत से जुड़े सभी कर्मियों व अधिकारियों को सजग रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बाढ़ चौकियों को भी एलर्ट किया है कि वे सारी व्यवस्था मुक्कमल कर लें। यदि बांध कटता है तो पीड़ितों को सुरक्षित निकालने के लिए नावों का सहारा लें और कैंप लगाकर उनके लिए व्यवस्था करें।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Lucknow

जिस समय निकलनी थी प्रधान के बेटे की बारात, उसकी जगह निकली अर्थी, यूं हुई मौत

गोंडा के दुर्गोड़वा गांव में ग्राम प्रधान के बेटे की बारात जानी थी। इसी बीच ग्राम प्रधान का बेटा सोने चला गया। मगर वह दोपहर तक सोकर नहीं उठा, परिवार के लोग दूल्हे को सजाने का समय होने के कारण उसे जगाने पहुंचे तो उसकी मौत हो चुकी थी।

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

अलीगढ़ के रोडवेज दफ्तर में छलके जाम, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अलीगढ़ डिपो में कर्मचारियों के शराब पीने का वीडियो हुआ वायरल। देखें वीडियो।

21 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election