साढ़े 11 हजार रुपये खर्चकर एमएलए बन गए थे भूपेंद्रनाथ शर्मा

बरेली। Updated Sat, 11 Nov 2017 02:02 AM IST
Bhupendra Nath Sharma was made MLA after spending Rs 11 thousand
भ्‍ाूपेंद्र नाथ्‍ा श्‍ामाऱ्र्मा

छह दशक पहले बरेली के पंडित धर्मदत्त वैद्य के परिवार की राजनीति में प्रदेश तक धमक थी। पं. धर्मदत्त वैद्य कांग्रेस की प्रदेश सरकार में 18 साल मंत्री और 32 साल विधायक रहे। उनकी राजनीति की शुरुआत प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री पं. गोविंद बल्लभ पंत के चुनाव एजेंट के रूप में हुई थी। वह अंग्रेजी शासन में चार साल जेल में भी रहे। उनके बेटे भूपेंद्र नाथ शर्मा ने 1977 में मीरगंज से विधानसभा चुनाव लड़ा। उसमें पार्टी फंड से उनको 15 हजार रुपये चुनाव प्रचार के लिए मिले थे। पूरे चुनाव में 11.5 हजार रुपये ही खर्च हुए और वह चुनाव जीतकर विधायक बन गए। बाकी बचे साढ़े तीन हजार रुपये जब वह पार्टी दफ्तर में वापस करने गए तो बड़े नेताओं ने उनकी ईमानदारी पर पीठ ठोकी थी।
भूपेंद्रनाथ शर्मा इसके बाद 1989 में भी मीरगंज से चुनाव लड़कर विधायक बने। तब उनको सपा का समर्थन था। लेकिन इसके बाद राजनीति में पैसे के बढ़ते प्रभाव और गिरते स्तर से दुखी होकर उन्होंने संन्यास ले लिया। हालांकि अब 85 साल की उम्र में भी वह घर रहकर राजनीति पर गहरी नजर रखते हैं। अपने जमाने और आज की राजनीति में अंतर बताते हुए उनका कहना है कि तब राजनीति में ईमानदारी और कैडर की सबसे ज्यादा पूछ थी लेकिन अब उसकी जगह पैसे ने ले ली है। राजनीति व्यापार बनकर रह गई है। लोग चुनाव से पहले राजनीति में बेशुमार पैसा लगाते हैं। चुनाव जीतकर अनाप-शनाप तरीके से कमाने के तरीके ढूंढते हैं। पूर्व विधायक के मुताबिक लोकतंत्र में राजनीति की मर्यादा कैडर और ईमानदारी में ही है, न कि पैसे में। भूपेंद्रनाथ शर्मा के दो बेटे भी राजनीति से दूर रहकर चिकित्सा और शिक्षा व्यवसाय से जुड़े हैं। 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Chhattisgarh

जादू-टोने के शक में पड़ोसियों ने महिला और बेटी के सिर मुंडवाए फिर की घिनौनी हरकत

रांची के अंतर्गत आने वाले गांव में एक महिला ओर उसकी बेटी को जबरन मानव मल खिलाया गया है।

18 फरवरी 2018

Related Videos

यूपी के इस शहर में राजनाथ सिंह ने फहराया सबसे ऊंचा तिरंगा

रुहेलखंड विश्वविद्यालय के 44 वें स्थापना दिवस समारोह में शिरकत करने गृहमंत्री राजनाथ सिंह बरेली पहुंचे।

17 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen