विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अयोध्या प्रकरणः कल्याण सिंह बतौर आरोपी 27 को अदालत में तलब, विशेष न्यायाधीश ने दिया आदेश

अयोध्या प्रकरण के विशेष न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को बतौर आरोपी तलब किया है।

22 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

बलिया

रविवार, 22 सितंबर 2019

बंधा टूटने के मामले में सरकार को करानी होगी जांच: रामगोविंद

बलिया। बाढ़ पीड़ितों को प्रशासनिक से मदद नहीं मिल रही है। दौरे के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जो निर्देश दिए उसका पालन जिला प्रशासन के अधिकारी नहीं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने 12 घंटे में मुआवजा देने की बात कही थी। बाढ़ पीड़ितों तक पेयजल और खाद्य सामग्री नहीं पहुंचाई जा रही है। यह बातें नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने गुरुवार को सपा कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। कहा कि 29 करोड़ का बंधा टूटने के मामले में सरकार को जांच करानी होगी।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बाढ़ कैंपों में स्थिति भी काफी खराब है जहां समय से राहत सामग्री नहीं पहुंच रही है। लोग भूख से बिलबिला रहे हैं लेकिन उनकी सुधि लेने वाला कोई भी नहीं है। सरकार हर मोर्चे पर विफल है। बिजली के मूल्यों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी कर दी गई है। यहां तक कि डीजल पेट्रोल के मूल्य में बढ़ोतरी की गई है। नेता प्रतिपक्ष चौधरी ने कहा कि नया मोटर व्हीकल एक्ट में तमाम खामियां हैं। इसके दम पर प्रदेश में जबरदस्त वसूली हो रही है। सरकार अपने घाटा को जजिया कर वसूल कर पूरा करना चाहती है जबकि देश में 16 औद्योगिक घराने हैं जिन्हें सरकार हमेशा सहयोग करती है। उनसे घाटा बराबर हो सकता है। 40 वर्षों के अंतराल में इस तरह की बेरोजगारी बढ़ी है व रिकार्ड तोड़ है। करीब ढाई लाख दुआ ऑटो सेक्टर में बेरोजगार हुए हैं। भाजपा सरकार लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास कर रही है। अब तक 11 पत्रकारों के खिलाफ प्रदेश में मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस सरकार में विधायिका कार्यपालिका मीडिया पर सरकार की टेढ़ी नजर है। प्रकार विकास का एक भी कार्य नहीं करा पाई है। चिन्मयानंद के मामले में कहा कि भाजपा का पुराना चरित्र है। बाढ़ पीड़ितों की सहायता में सपा के लोग लगे हुए हैं। इस मौके पर पूर्व मंत्री नारद राय, सनातन पांडेय, प्रवक्ता सुशील पांडेय कान्हजी, गोरख पासवान, ब्यास जी गोड़ आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

प्रसूता के बच्चे की मौत के मामले में स्टाफ नर्स को हटाया गया

बेल्थरारोड। सामुदायिक स्वास्थ्य सीयर पर प्रसूता के नवजात बच्चे की देखभाल के लिए स्टाफ नर्स द्वारा पैसा मांगने और इलाज के अभाव में नवजात की मौत के मामले में अस्पताल प्रशासन ने आरोपी स्टाफ नर्स को हटा कर सोनाडीह अस्पताल से संबद्ध कर कार्रवाई की खानापूर्ति कर दी है।
मामले में अब तक किसी की जिम्मेदारी तय नहीं की गई है और न ही किसी को दोषी मान कर कार्रवाई की गई। इसको लेकर नगर क्षेत्र में चर्चाओं का दौर जारी है। सीएचसी सीयर के नोडल अधिकारी व प्रभारी अधीक्षक डॉ एलसी शर्मा ने बताया कि आरोपी स्टाफ नर्स अनिता श्रीवास्तव को तत्काल अस्पताल के प्रसव कक्ष से हटाकर न्यू पीएचसी सोनाडीह में स्थानांतरित कर दिया गया है। सीएचसी सीयर के प्रसूता कक्ष में तैनात आठ स्टाफ नर्स की ड्यूटी रोस्टर के हिसाब से कर दी गई है। वहीं, नर्स अनिता श्रीवास्तव के खिलाफ कार्रवाई के नाम पर नोडल अधिकारी ने चुप्पी साध ली। पहले ही अस्पताल अधीक्षक ने मामले में आरोपी स्टाफ नर्स के साथ ही छुट्ठी पर चल रही महिला चिकित्सक से भी स्पष्टीकरण मांगा था जो चर्चा का विषय बना हुआ है।
उल्लेखनीय है कि बीते 15 सितंबर की रात नगर निवासी प्रसूता मीना देवी पत्नी संतोष जायसवाल के नवजात बच्चे के देखभाल और चिकित्सकीय इलाज के लिए ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स अनीता श्रीवास्तव ने प्रसूता के पति से पांच हजार की मांग की और रुपया न मिलने तक बच्चे को हाथ तक नहीं लगाया। इससे एक घंटे बाद इलाज के अभाव में नवजात की मौत हो गई। जिसके बाद से ही अस्पताल प्रशासन में हड़कंप सा मचा हुआ है और अस्पताल प्रशासन मामले की लीपापोती में लगा हुआ है।
... और पढ़ें

चोरी की पांच बाइकों के साथ दो धराए

रेवती। थाना पुलिस ने पांच चोरी की बाइकों के साथ गुरुवार को दो लोगों को पकड़ा। आरोपी बाइकों को बेचने के लिए बिहार ले जाने की तैयारी में थे। पुलिस मामले में कार्रवाई करने में जुटी है।
एसएचओ शिवमिलन ने बताया कि बाइक चोरों के दतहां टीएस बंधे पर मौजूद होने की सूचना पर पुलिस टीम ने बंधे पर पहुंच कर घेराबंदी की। तभी दो बाइकों से आते दो संदिग्ध आते दिखे, दोनों को पकड़ लिया गया। पूछताछ में दोनों ने अपना नाम रेवती के वार्ड नंबर 6 निवासी वीरबल यादव और तुलसीछपरा निवासी सोनू यादव बताया। उनके पास गाड़ी का कोई कागज नहीं मिला। पूछताछ में पता चला कि सोनू के घर तीन अन्य चोरी की बाइकें हैं। पुलिस ने उन बाइकों को भी बरामद किया। पुलिस ने बताया कि पकड़े गए आरोपी पेशेवर बाइक चोर हैं, इनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

गंगा का जलस्तर ठिठका, नौ घर व एक मठिया कटान में जमींदोज

बलिया। जनपद में बाढ़ का कहर जारी है। गंगा और घाघरा नदियां उफान पर हैं। इस दौरान जयप्रकाश नगर, बैरिया, दया छपरा, दुबे छपरा, रामगढ़ और बेल्थरारोड समेत कई क्षेत्रों बाढ़ से हजारों लोग परेशान हैं। इस दौरान करीब डेढ़ सौ गांव से अधिक प्रभावित हैं। लगातार अधिकारियों और नेताओं के मौके पर पहुंचने और राहत बचाव करेन के बावजूद प्राकृति के आगे सब बेबस नजर आ रहे हैं। नदियों का पानी लगातार बढ़ने और रिहायशी इलाकों में पहुंचने के कारण दिक्कतें और भी बढ़ती जा रही हैं। उधर, सभी प्रभावित लोगों को अब तक स्कूलों और सामुदायिक केंद्रों पर शरण नहीं दी जा सकी है।
गंगा की उफनाती लहरें डेंजर लेवल के करीब पहुंच कर शनिवार को स्थिर हो गई। नदी का जलस्तर स्थिर होने के बाद भी बाढ़ से घिरे गांव के लोगों की मुसीबतें अभी कम होती नहीं दिख रही हैं। अभी दर्जनों गांव भी बाढ़ से घिरे हुए हैं। सबसे दयनीय हालात केहरपुर, उदई छपरा, हरपुर, उदय छपरा, सोनरा टोला रामगढ़ का है जहां गंगा का तांडव जारी है। अभी भी खाली बची जमीन को गंगा की लहरें निगलती जा रही हैं जिसके चलते ग्रामीणों में अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है।
केंद्रीय जल आयोग गायघाट के अनुसार गंगा का जलस्तर शनिवार की सुबह 8 बजे 59.900 मी. दर्ज किया गया साथ ही जलस्तर स्थिर है। उधर, चौबे छपरा में दो व उदई छपरा गाव में सात मकानों के साथ ही संत वेदांती महाराज की मठिया को जमीदोज कर दिया। इसके चलते गांवों में अफरा-तफरी मच गई।
हाई फ्लड लेवल के पास पहुंचने के बाद गंगा का जलस्तर स्थिर हो गया है। हालांकि अभी दर्जनों गांव बाढ़ के पानी से घिरे हुए हैं। प्रशासनिक उदासीनता का आलम यह है कि आज तक जिले के बड़े अधिकारियों ने केहरपुर सोनार टोला में पहुंचना मुनासिब नहीं समझा। इस गांव के लोग आज भी नाव, भोजन, तिरपाल आदि के लिए तरस रहे हैं। सोनार टोला रामगढ़ की हालत यह है कि आज तक न तो जिला प्रशासन और ना ही जनप्रतिनिधियों ने पीड़ितों के बीच अपना हाथ बढ़ाया। एक तरफ पूरा जिला प्रशासन दुबे छपरा में ही अपनी सारी ताकत लगाए बैठा है और दोआबा के बहुतेरे ऐसे बाढ़ से घिरे गांव हैं जहां तक जिला प्रशासन का कोई नुमाइंदा नहीं पहुंच पाया, वहां भी बाढ़ से घिरे लोग नाव और राहत के लिए तरसते नजर आ रहे हैं । उधर, चौबे छपरा में शनिवार को दिनेश यादव व विजय शंकर यादव का मकान गंगा में समाहित हो गया। इसके चलते गांव में अफरा-तफरी मच गई।
रामगढ़। जिले के पुलिस कप्तान देवेन्द्र नाथ ने शनिवार को दुबे छपरा, गोपालपुर, उदई छपरा के बाढ़ पीड़ितों में 1000 लंच का पैकेट व 250 सोलर लाइट का वितरण किया। बैरिया सीओ उमेश कुमार, थानाध्यक्ष बैरिया संजय त्रिपाठी के साथ अन्य पुलिस के जवानों ने सहभागिता की।
रामगढ़। उदई छपरा के उपाध्याय टोला के पास शनिवार को अचानक कटान तेज हो गया। इसके कारण लोगों में अफरा-तफरी मच गई। एनडीआरएफ की टीम ने अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए लोगों को घरों से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। गंगा नदी के किनारे बने रिंग बांध के कटाव के कारण आस-पास के गांवों में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। हालांकि एनडीआरएफ की टीम भी पिछले पांच दिनों से लगातार आसपास के गांव से लोगों को सुरिक्षत स्थानों पर पहुंचाने में जुटी है। अब तक लगभग 1200 लोगों को बाहर निकाल कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। ऑपरेशन के दौरान टीमों का संचालन निरीक्षक गोपी गुप्ता और उपनिरीक्षक विक्रम सिंह के द्वारा किया जा रहा है।
बैरिया तहसील क्षेत्र में आई गंगा नदी की प्रलयकारी बाढ़ से तबाही का मंजर दिख रहा है। तिनका-तिनका जोड़कर बनाये गए आशियाना उजड़ जाने से अनेकों परिवार बेघर हो चुके हैं। बाढ़ से विस्थापित हो चुके परिवार एनएच 31 व रिश्तेदारों के यहा शरण लिए हुए हैं। प्रलयंकारी बाढ़ ने भीषण तबाही मचाकर बाढ़ पीड़ितों को लाचार, विवश व कंगाल बना दिया है। मवेशियों को चारा नहीं मिल पा रहा है और सरकार द्वारा मिले भूसे से मवेशियों के पेट नहीं भर रहा है। दुबेछपरा,गोपालपुर, उस्त्रत्त्दईछपरा, प्रसादछपरा, बुधनचक, मुरलीछपरा, पांडेयपुर, अठगावां गांव के बाढ़ पीड़ित खुले आकाश व चिलचिलाती धूप में तिरपाल टांगकर जीवन व्यतीत कर रहे हैं।
इन बाढ़ पीड़ितों के लिए बाढ़ राहत शिविर तक की व्यवस्था नहीं की गई है। कई दिनों से बाढ़ से जूझ रहे पीड़ितों की समस्याएं कम नहीं हो पा रही हैं। बैरिया ब्लॉक के दुबेछपरा से गोपालपुर होते हुए टेंगरही तक रिंग बांध को मजबूत बनाने के लिए 41 करोड़ से अधिक खर्च होने के बावजूद रिंग बंधा टूटने के बाद पानी ने भारी तबाही मचा दी। बाढ़ पीडित बेघर होकर विगत एक सप्ताह से एनएच 31 के दोनो किनारे शरण लिए हुए हैं। इतना ही नहीं अभी गंगा उसपार नौरंगा के अलावा गोपालपुर, दुबेछपरा आदि गांव में भी बहुत सारे लोग घरों में फंसे हुए हैं, तो कई लोग छतों पर शरण लिए हुए हैं। बाढ़ से विस्थापित परिवारों की हालत काफी खराब हो गई है। जबकि किसानों के खेतों में लगी फसल बर्बाद हो गई है। बाढ़ के पानी में घर उजड़ जाने से इन परिवारों के सामने रोजी रोटी का संकट है। पीड़ित बाढ़ से बर्बाद घरों को निहार रहे हैं। बाढ़ से गिर चुके घर को फिर से खड़ा करना कितना मुश्किल होगा सोच सोच कर बाढ़ पीड़ितों का कलेजा फटता जा रहा है।
एनएच पर शरण लिए बाढ़ पीड़ितों के लिए आपूर्ति विभाग की ओर से मिट्टी तेल वितरण तो शुरू कर दिया गया है। लेकिन गंगा उस पार 20 हजार के बाढ़ पीड़ितों वाले ग्राम पंचायत नौरंगा के लिए एक लीटर भी मिट्टी तेल आवंटित नही किया गया है। ऐसे में नौरंगा के बाढ़ पीड़ितों का कहना है हमारे साथ शासन व प्रशासन सौतेला व्यवहार कर रहा है। एनएच पर शरण लिए बाढ़ पीड़ितों में मिट्टी तेल का वितरण पूर्ति निरीक्षक श्यामनाथ के देख रेख में शुरू हुआ। जिला पूर्ति अधिकारी ने बाढ़ पीड़ितों को तीन-तीन लीटर मिट्टी तेल वितरण के लिए सरकारी कोटेदारों को तेल का आवंटन किया है। पूर्ति निरीक्षक श्यामनाथ ने बताया कि केहरपुर के कोटेदार राजू राम को 250 बाढ़ पीड़ित परिवारों के लिए 750 लीटर, सुरेन्द्र सिंह की दुकान पर 260 परिवारों के लिए 780 लीटर, गोपालपुर की भकोटेदार ज्ञानती देवी की दुकान पर 1100 परिवारों के लिए 3300 लीटर, प्रभुनाथ सिंह की दुकान पर 1100 परिवारों के लिए 3300 लीटर, दयाछपरा कोटेदार रेखा देवी की दुकान पर 400 परिवारों के लिए 1200 लीटर, ललिता पाण्डेय की दुकान पर 400 परिवारों के लिए 1200 लीटर, टेंगरही के कोटेदार राजेश्वर राम की दुकान पर 120 परिवारों के लिए 360 लीटर, जगदेवा कोटेदार प्रदीप कुमार सिंह की दुकान पर 700 परिवारोंब के लिए 2100 लीटर, शाह अली अंसारी की दुकान पर 650 परिवारों के लिए 1950 लीटर, सुशीला देवी की दुकान पर 650 परिवारों के लिए 1950 लीटर कुल 5630 बाढ़ पीड़ित परिवारों के लिए 16890 लीटर मिट्टी तेल आवंटित किया है।
बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह शनिवार को बाढ़ प्रभावित शिवपुर कपूर दियर पंचायत का दौरा कर बाढ़ पीड़ितों का हाल जाना। साथ ही अपने साथ ले गए 250 लोगों को चिउड़ा गुड़ व ब्रेड भी बांटे। विधायक अपने साथ स्वास्थ्य टीम को लेकर बाढ़ पीड़ितों के दरवाजे दरवाजे पहुंचे और उनका हाल जाना। लेखपाल सतीश यादव से बात कर बाढ़ पीड़ितों को सूची बनाकर तहसील पर जमा करने य्को कह ा औऱ नाव को उपलब्ध कराने को कहा। विधायक ने कहा इस क्षेत्र के बाढ़ पीड़ितों के लिए बहुत जल्द नाव व पका पकाया भोजन की व्यवस्था कर दी जाएगी। उधर, एसएचओ दोकटी अखिलेश मौर्य ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का भ्रमण किया। सेमरिया ढाला के बगल में नदी के पानी मे तैर रहे बच्चों को मना किया। उसके बाद वी पुलिस बल के साथ मुरारपट्टी काली मंदिर और हृदयपुर बाढ़ चौकी पर गए जहां खतरों के बीच लोगषों के आने जाने को मना किया। विधायक के साथ मनोज तिवारी, छोटू तिवारी आदि रहे।
... और पढ़ें
रामगढ़ के उदई छपरा के पीड़ितों को बाहर निकालते एनडीआर एफ के जवान रामगढ़ के उदई छपरा के पीड़ितों को बाहर निकालते एनडीआर एफ के जवान

तीन दिनों से गायक बालिका का कुएं में मिला शव

बांसडीहरोड। थाना क्षेत्र के छाता गांव के मौजा ब्रह्मदेवता में तीन दिनों से लापता चल रही एक पांच वर्षीय बालिका का शव घर के पास कुएं में उतराया मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
जानकारी के अनुसार ब्रह्मदेवता निवासी सुरेन्द्र पटेल की पांच वर्षीय पुत्री अराध्या पटेल 19 सितम्बर की शाम घर से खेलने के लिए निकली थी।इस बीच वह कहीं लापता हो गई। परिजनों ने आराध्या की काफी खोजबीन की, लेकिन बालिका नहीं मिली। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को पुत्री के लापता होने की तहरीर दी। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट कर मामले की छानबीन शुरू कर दी। शनिवार की सुबह खेतों में लोग काम करने जा रहे थे। इस बीच मृत बालिका के घर के पीछे एक कुएं में शव पर नजर पड़ी। जहां बालिका का शव उतराया था। शव मिलने की सूचना के बाद परिजन भी पहुंच गए। मृतका के परिजनों ने अपने पुत्री आराध्या का नाम से शिनाख्त की । सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर, मृत बालिका के घरवालों ने बताया कि बालिका मंदबुद्धि एवं कान से नहीं सुनती थी। घटना के बाद घर की महिलाओं का रोते रोते बुरा हाल था।
... और पढ़ें

वाराणसी सहित इन जिलों में हुईं आपराधिक घटनाएं, जानें कौन सी हैं वो खबरें

वाराणसी सहित आसपास के जिलों में आपराधिक मामले में कम नहीं हो रहे हैं। मझ जिले में पुरानी जमीन को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही वाराणसी में भी बदमाशों ने दंपती की गोली मारकर हत्या कर दी। चंदौली में पीएम आवास के लाभार्थी से घूस लेने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं बलिया में सितंबर को डेढ़ लाख लूट फरार हुए बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बाकी खबरें पढ़ें आगे...

मऊ जिले के रानीपुर थाना क्षेत्र के ब्राह्मणपुर ग्राम पंचायत के हुड़हरा की मठिया गांव में दो पट्टीदारों के बीच जमीनी विवाद को लेकर उपजे विवाद में शुक्रवार की देर रात खूनी संघर्ष हुआ। धारदार हथियार से लैस पट्टीदार ने अपने साथियों संग दूसरे पक्ष पर जानलेवा हमला कर दिया।

क्लिक कर पढ़ें खबर : 
यूपी : जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, तीन लोगों की हत्या से गांव में दहशत

वाराणसी के चेतगंज थाना क्षेत्र के काली महाल क्षेत्र में शनिवार सुबह पिशाचमोचन की गद्दी और संपत्ति विवाद में पूजा कराने जा रहे कर्मकांडी ब्राह्मण और पत्नी की घर में नृशंस हत्या कर दी गई।

क्लिक कर पढ़ें खबर : डबल मर्डर : कर्मकांड कराने वाले गद्दी संचालक और पत्नी की हत्या, एसएसपी से लिपटकर खूब रोया बेटा ... और पढ़ें

बलिया : 5 सितंबर को डेढ़ लाख लूट कर फरार हुए बदमाश अब पुलिस के हत्थे चढ़े, असलाह और कार बरामद

बलिया जिले में पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अपराध और अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। शुक्रवार को कोतवाली पुलिस और स्वाट टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए शहर कोतवाली के माल्देपुर मोड़ के पास से तीन लुटेरों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पकड़े गए बदमाशों के पास से लूट के तीन तमंचा, तीन जिंदा कारतूस, 45 हजार रुपये नगद, तीन आधार कार्ड, तीन पासबुक, ड्राइविंग लाइसेंस और एक स्विफ्ट कार बरामद हुई है।

पुलिस के अनुसार कोतवाली प्रभारी विपिन सिंह, सतनी सराय चौकी प्रभारी जगदीश विश्वकर्मा, बिचलाघाट चौकी प्रभारी औरंगजेब खां प्रभारी सर्विलांस/स्वाट टीम अश्वनी पांडेय, उप निरीक्षक संजय सरोज हमराहियों के साथ नगर के वैशाली तिराहे पर मौजूद थे। इसीबीच मुखबिर से सूचना मिली कि बैरिया क्षेत्र में लूट की घटना करने वाले अपराधी स्विफ्ट कार से बलिया-नरही होते हुए बिहार जाने की फिराक में हैं।

मुखबिर की सूचना को गंभीरता से लेते हुए संयुक्त टीम माल्देपुर मोड़ पर पहुंच कर वाहन चेकिंग करने लगी। कुछ देर बाद चंद्रशेखर नगर की तरफ से एक स्विफ्ट कार सिल्वर रंग की आती दिखाई दी। जिसे रूकने का इशारा किया गया। गाड़ी रुकते ही गाड़ी चालक व पीछे बैठे दो व्यक्ति उतरकर भागने का प्रयास किया। जिन्हें पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ लिया।
... और पढ़ें

बाढ़ : गाजीपुर-बलिया में हालात खराब, वाराणसी सहित आसपास के जिलों में स्थिति चिंताजनक

प्रतीकात्मक तस्वीर
पूर्वांचल में गंगा की लहरें तबाही मचा रही हैं। गंगा के साथ अब पूर्वांचल के आसपास के जिलों में बहने वाली नदियों में पानी जलस्तर बढ़ गया है, जो खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। पूर्वांचल में कई जिलों के गांवों का संपर्क टूट गया है और बाढ़ का पानी घरों में घुस गया है। लोगों को पलायन करने को मजबूर होना पड़ा है।

वाराणसी में शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ प्रभावित इलाको का दौरा किया, और पीड़ित लोगों को राहत सामग्री दी। इसके साथ ही 12 घंटों के अंदर राहत पहुंचाने की बात कही थी। शनिवार को वाराणसी में गंगा का जलस्तर 71.82 मीटर था, जो खतरे के निशान (71.26) से 0.56 मीटर ऊपर बह रही हैं। इसके साथ ही गंगा में एक सेमी प्रति दो घंटे से पानी का बढ़ाव जारी है।

वाराणसी में वर्ष 2016 के बाद यह पहला मौका है, जब गंगा ने वाराणसी में खतरा बिंदु को पार कर लिया है। इससे पहले 2013 को वाराणसी में गंगा ने खतरे का निशान पार किया था। जलस्तर एक घंटा प्रति सेमी बढ़ रहा है। इस लिहाज से गंगा इस समय खतरे के निशान से 20 सेंटीमीटर ऊपर हैं। अगर अगले चौबीस घंटों तक यह गति जारी रही तो कई अन्य कालोनियों में भी गंगा का पानी भर जाएगा और स्थिति काफी भयावह हो जाएगी। गंगा खतरे के निशान को पार करके बह रही है। 1978 की बाढ़ में अधिकतम जलस्तर 73.901 मीटर रहा था।

काशी में बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अस्सी स्थित गोयनका संस्कृत महाविद्यालय में बने राहत शिविर में पीड़ितों के बीच पहुंचे थे। बाढ़ पीड़ितों को अपने हाथों से खाद्य सामग्री समेत उनके जरूरतों से संबंधित अन्य समान का वितरण किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ितों से कहा था कि इस मुसीबत की घड़ी में सरकार के साथ जिला प्रशासन पूरी तरह से उनके साथ खड़ी है। बाढ़ पीड़ितों की हर तरह से मदद की जाएगी, इसके लिए सरकारी खजाना खोल दिया गया है।
... और पढ़ें

दुकान में संदिग्धावस्था में सेल्समैन की मौत

बांसडीहरोड/हल्दी। थाना क्षेत्र के बिगही गांव स्थित सरकारी देशी शराब दुकान के सेल्समैन की गुरुवार की रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
मिली जानकारी के अनुसार सहतवार थाना क्षेत्र के अघैला गांव निवासी विक्की सिंह उर्फ कृष्णा सिंह 24 बांसडीहरोड थाना क्षेत्र के बिगही गांव स्थित सरकारी देशी शराब की दुकान पर सेल्समैन का कार्य करता था। उसका सहयोगी सेल्समैन राजेश सिंह भी सरकारी देशी शराब की दुकान पर मृतक के साथ रहता है। प्रतिदिन की भांति गुरुवार की रात दोनों भोजन करने के बाद शराब की दुकान में ही सो गए। शुक्रवार की सुबह जब राजेश की नींद खुली तो उसने देखा कि कृष्णा सिंह अभी नहीं जगे है। उसने उसे जगाने की कोशिश किया तो देखा कि उसकी मौत हो चुकी है।
मौत की सूचना मिलते ही क्षेत्र में जंगल में आग लगने की तरह फैल गई और देखते ही देखते काफी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दिया। सूचना मिलते ही हल्दी थाना एवं बांसडीहरोड थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। जहां सहयोगी सेल्समैन राजेश सिंह से काफी पूछताछ की। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर, परिजनों का रोते रोते बुराहाल है।इस बाबत अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सच्चाई का पता चल पाएगा। अभी कुछ कहना उचित नहीं है। समाचार लिखे जाने तक कोई तहरीर नहीं दी गई थी।
एकलौता पुत्र था मृतक युवक
बिगही स्थित सरकारी देशी शराब की दुकान पर रहकर पूरे परिवार की जीविका चलाने वाला मृतक परिवार में इकलौता पुत्र था। उसकी तीन छोटी बहनें है। मृतक की मां सुनैना देवी का रोते रोते बुराहाल है। परिजनों की मानें तो मृतक सेल्समैन कृष्णा सिंह का फरवरी में सहतवार कस्बा में शादी तय था। पिता स्व. आत्मा सिंह की बीते कई वर्ष पहले मौत हो चुका था। घटना की खबर सुनते ही गांव में मातम छा गया। मृतक के दोस्त, रिश्तेदार सेल्समैन की मौत की खबर सुनते ही मौके पर पहुंच गए। युवक की मृत्यु के बाद वहां जुटे लोगों के जुबान पर सिर्फ एक ही बात थी कि उसकी मां और बहन का देखभाल अब कौन करेगा?
... और पढ़ें

असंतुलित होकर अधेड़ नाले में गिरा, डूबा

बलिया। चित्तू पांडेय चौराहा स्थित कटहनाला में शुक्रवार की दोपहर शौच करने बैठा एक अधेड़ असंतुलित होकर पानी में गिर गया और गहरे पानी में चले जाने के कारण वह डूब गया। सूचना मिलते ही मुकामी पुलिस ने मौके पर पहुंच गई और गोताखोर व नाव बुलाकर छानबीन करवाया। लेकिन कटहल नाल में अधिक झाड़ी झंकार होने के कारण गोताखोर अंदर जाने से डर रहे थे। अंत में एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई। समाचार लिखे जाने तक छानबीन जारी थी।
मिली जानकारी के अनुसार शहर कोतवाली क्षेत्र के हरिजन बस्ती निवासी गुड्डू बासफोर (45) शुक्रवार की दोपहर अपने घर के पीछे कटहल नाले में शौच के लिए गया। जहां शौच के दौरान वह असंतुलित होकर पानी में गिर गया और गहरे पानी में डूबने लगा। लोगों ने उसे डूबाता देख हो हल्ला मचाना शुरु कर दिया। देखते- देखते लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने तत्काल गोताखोरों को बुलाया और खोजबीन शुरु कर दिया। लेकिन समाचार लिखे जाने तक अधेड़ का पता नहीं चल सका था।
... और पढ़ें

शिक्षक का दिगंबर बाबा के पास स्थित गड्ढे के पानी में मिला शव

बेल्थरारोड। सीयर- मिश्रौली मार्ग पर शुक्रवार को सुबह दिगंबर बाबा की परती जमीन के पास पानी भरे गड्ढे में शिक्षक का शव पाए जाने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया।
जानकारी के अनुसार उभांव थाना क्षेत्र के मिश्रौली गांव निवासी अविनाश चंद्र पाठक (40) प्राथमिक विद्यालय हल्दी रामपुर नंबर तीन में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात थे। इनकी पत्नी मंजू देवी उसी विद्यालय में शिक्षिका हैं। शिक्षक गुरुवार को पत्नी मंजू को बाइक से लेकर विद्यालय गए तथा विद्यालय से बेल्थरारोड स्थित मकान पर पत्नी को छोड़ पैतृक ग्राम मिश्रौली चले गए। मिश्रौली से रात्रि आठ बजे बाइक से बेल्थरारोड को चल दिए। इधर, पत्नी जानती है कि वह गांव गए हैं जबकि गांव वाले जानते हैं कि वह बेल्थरारोड चल दिए। इस बीच दिगंबर बाबा की परती के पास गड्ढे में उनका शव पाया गया। यह खबर मिलते ही पत्नी, दोनों पुत्रों और ग्रामीण जुट गए। परिजन विलाप करने लगे। सूचना पाते ही थानाध्यक्ष योगेंद्र बहादुर सिंह मौके पर पहुंचे तथा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बलिया भेज दिया। पुलिस का कहना है कि शिक्षक की मौत पानी में डूबने से हुई है जबकि परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

खौफ-ए-मंजर, दूबे छपरा के लिए सितंबर है ‘डेंजर’

बलिया। संयोग कहे या फिर कुछ और पर सच्चाई तो यही है कि हर बार सितंबर माह में ही दूबे छपरा रिंग बंधा टूटता है और सैकड़ों गांव बाढ़ की आगोश में आ जाते हैं। इस बार भी सितंबर महीने में ही बीते सोमवार को रिंग बंधा टूट गया और एक बार फिर खौफ का मंजर आपके सामने है। दूबेछपरा, उदईछपरा, गोपालपुर, प्रसाद छपरा, गुदरी सिंह के टोला, बुद्धन चक, मिश्र गिरी के मठिया, टेंगरही, चिंतामन राय के टोला, मिश्र के हाता समेत दर्जन भर गांव एक बार फिर भयावह बाढ़ की चपेट में हैं।
1952 में गीता प्रेस गोरखपुर द्वारा निर्मित इस रिंग बंधे को गंगा की लहरों ने पहली बार 10 सितंबर 1982 को तोड़ा था। जैसे-तैसे पुन: बंधा बना। लोग खुद को सुरक्षित महसूस करने लगे, तभी 17 सितंबर 2003 को नदी की लहर रिंग बंधे पर कहर बनकर टूट पड़ी। हजारों आबादी प्रभावित हुई। पीएन इंटर कॉलेज, डिग्री कॉलेज, स्वास्थ्य केंद्र, आयुर्वेदिक अस्पताल सहित सभी जलमग्न हो गए। प्रशासन ने बाढ़ का पानी उतरने के बाद मरम्मत कराया, लेकिन नाकाफी रहा । 10 साल बाद नदी ने फिर रौद्र रूप अख्तियार किया और बांधा 25 अगस्त 2013 को टूट गया। इस बार भी प्रशासन ने अपना काम किया, लेकिन तीन सितंबर 2016 को एक बार फिर इस बंधे को नदी ने अपनी आगोश में ले लिया। हालांकि इस बार सरकार तत्पर हुई और काफी धन आया लेकिन मानक को ताक पर रखकर काम किया गया। नतीजतन तीन साल भी नहीं बीता और एक बार फिर 16 सितंबर 2019 को रिंग बंधा टूट गया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree