आगरा में डेंगू का बढ़ता प्रकोप: ताजनगरी में नौ मरीज और मिले, पांच एसएन में भर्ती, 45 हुई संख्या

न्यूज डेस्क अमर उजाला, आगरा Published by: Abhishek Saxena Updated Wed, 15 Sep 2021 07:17 PM IST

सार

एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती फिरोजाबाद के छह, मथुरा और औरैया का एक-एक मरीज में डेंगू की पुष्टि हुई है। प्राचार्य डॉ. प्रशांत गुप्ता ने बताया कि अब एसएन में 19 मरीजों का इलाज चल रहा है। इसमें से मेडिसिन विभाग के डेंगू वार्ड में 14 और बाल रोग विभाग के डेंगू वार्ड में पांच मरीज भर्ती हैं।
 
आगरा: एसएन की ओपीडी में भीड़
आगरा: एसएन की ओपीडी में भीड़ - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आगरा में डेंगू के नौ और मरीज मिले हैं। इसमें से दो बच्चे और सात व्यस्क मरीज हैं। इनमें से पांच मरीज एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। तीन का प्राइवेट और एक का जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। अब आगरा में मरीजों की संख्या 45 हो गई है। इनमें से 27 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो गए हैं। 
विज्ञापन

सीएमओ डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि 29 संदिग्ध मरीजों की जांच कराने पर नौ मरीजों में डेंगू मिला है। इनमें पांच बच्चे हैं। जिसमें से तीन निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। इनको तेज बुखार के साथ उल्टी भी हुईं। दो-तीन दिन में बुखार ठीक नहीं होने पर एलाइजा जांच कराने पर डेंगू की पुष्टि हुई है। अब आगरा में डेंगू के 45 मरीज हो गए हैं। इनमें से 18 मरीजों का इलाज अभी चल रहा है। 


फिरोजाबाद के छह, मथुरा-औरैया का एक-एक मरीज में डेंगू की पुष्टि
आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती फिरोजाबाद के छह, मथुरा और औरैया का एक-एक मरीज में डेंगू की पुष्टि हुई है। प्राचार्य डॉ. प्रशांत गुप्ता ने बताया कि अब एसएन में 19 मरीजों का इलाज चल रहा है। इसमें से मेडिसिन विभाग के डेंगू वार्ड में 14 और बाल रोग विभाग के डेंगू वार्ड में पांच मरीज भर्ती हैं।

 

6.88 लाख घरों में मिले बुखार-खांसी के 7543 मरीज 
शहर और देहात के 6.88 लाख घरों में बुखार-खांसी के 7543 मरीज मिले हैं। दो-तीन दिन से तेज बुखार के साथ खांसी और छाती में जकड़न भी मिली। टीम ने दवा देने के साथ बुखार न उतरने पर सीएचसी पर डेंगू की जांच कराने के लिए कहा।
सीएमओ डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि डेंगू के बढ़ते मरीजों को देखते हुए सात से 16 सितंबर तक घर-घर विशेष अभियान चलाया। इसमें 13582 टीमें लगाई गईं, जो 688441 घरों तक पहुंची। इनमें 7543 लोगों को बुखार आ रहा था। पूछने पर परिवार के मुखिया ने बताया कि दो-तीन दिन से बुखार है, दवा भी दिलवाई लेकिन बुखार उतर नहीं रहा। बच्चों में उल्टी और पेट दर्द की शिकायत भी बताई। उनको दवा देने के साथ डेंगू के संदिग्ध मरीजों की सीएचसी पर जांच भी कराई है। 279 घरों में डेंगू का लार्वा भी मिला, जहां एंटी लार्वा का छिड़काव कराया गया। 

40442 गर्भवती और मासूमों का नहीं हुआ टीकाकरण
सर्वे में 40442 गर्भवती और मासूमों को नियमित टीकाकरण नहीं हो पाया। इनमें 10764 गर्भवती महिलाएं और दो साल तक के 29678 बच्चे शामिल हैं। जिला टीकाकरण प्रभारी डॉ. संजीव वर्मन ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को टिटनेस का टीका नहीं लग पाया है। मिशन इंद्रधनुष के तहत शिशुओं को लगने वाले टीके भी नहीं लग पाए हैं। देहात में स्थिति ज्यादा खराब मिली है। कोरोना वायरस के कारण नियमित टीकाकरण प्रभावित हुआ है। 

45 साल से अधिक 1.74 लोगों ने नहीं कराया टीकाकरण
स्वास्थ्य सर्वे में 45 साल से अधिक उम्र के 174529 लोग मिले, इनमें से देहात से 65 फीसदी रहे। इन लोगों ने कोरोना की एक भी डोज नहीं लगवाया। टीम ने इनको टीके का महत्व बताते हुए जागरूक किया। इन्होंने जल्द ही टीका लगवाने के लिए हामी भी भरी है। 
आगरा: एसएन मेडिकल कॉलेज में 13 मरीजों में डेंगू की पुष्टि, बरहन में बुखार से बालक की मौत
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00