बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

एमकॉम की छात्रा की हत्या कर शव मंदिर परिसर में दबाया, पुजारी ने कुबूला गुनाह

अमर उजाला नेटवर्क, गगरेट (ऊना)/शिमला Published by: अरविन्द ठाकुर Updated Wed, 07 Apr 2021 08:33 PM IST

सार

  • निशानदेही पर शव बरामद, गुस्साए ग्रामीणों ने एसडीएम गगरेट और डीएसपी को बनाया बंधक
  • एसपी गेट तोड़कर घुसे मंदिर परिसर में, दो पुलिसकर्मी सहित एक पत्रकार घायल  
  • ग्रामीण कर रहे थे आरोपी पुजारी को उनके हवाले करने की मांग
विज्ञापन
जांच में जुटी पुलिस।
जांच में जुटी पुलिस। - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

विज्ञापन
ऊना जिले के जाडला कोयड़ी में एक पुजारी पर छात्रा की हत्या कर शव मंदिर परिसर दबाने का आरोप लगा है। आरोप है कि पुजारी ने एमकॉम की एक छात्रा (22) पर लोहे की रॉड से हमला कर उसे मार दिया और शव प्लास्टिक की बोरी में डालकर मंदिर (आश्रम) परिसर के पीछे जमीन में दबा दिया। मामला उजागर होने के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने जमकर बवाल किया और तोड़फोड़ भी की। भड़के ग्रामीणों ने पुजारी को उनके हवाले करने की मांग करते हुए एसडीएम गगरेट और डीएसपी गगरेट को बंधक बना लिया। मौके पर पहुंचे एसपी ऊना गेट तोड़कर मंदिर परिसर में पहुंचे और ग्रामीणों को शांत करवाया। घटना में दो पुलिसकर्मी और एक पत्रकार को भी चोट आई।

एसपी ऊना अर्जित सेन ठाकुर के अनुसार परिजनों ने 4 अप्रैल को छात्रा की गुमशुदगी की रिपोर्ट गगरेट थाने में की। परिजनों को आरोपी यह कहकर उलझाता रहा कि उनकी लड़की किसी लड़के के साथ भाग गई है। शिकायत मिलने पर पुलिस ने जब लड़की के मोबाइल की लोकेशन और कॉल डिटेल निकलवाई तो पता चला कि पुजारी और लड़की में पिछले आठ माह से लगातार बात हुई है। मोबाइल की लोकेशन भी मंदिर परिसर की आ रही थी।


परिजनों ने जब पुजारी की तलाशी ली तो पुजारी के पास से लड़की का मोबाइल मिला। इसके बाद परिजनों के लगातार चार घंटे की पूछताछ के बाद पुजारी ने कुबूल किया कि उसने लड़की की हत्या कर दी है। परिजनों ने पुलिस को बुलाया और पुलिस ने पुजारी की निशानदेही पर शव बरामद कर लिया। शव बरामद होते ही गुस्साए ग्रामीण मंदिर परिसर में इकट्ठे होने लगे। ग्रामीण पुजारी को उनके हवाले करने की मांग कर रहे थे।

भीड़ को शांत करने के लिए एसडीएम गगरेट विनय मोदी पहुंचे तो ग्रामीणों ने मंदिर परिसर में एसडीएम को बंधक बना लिया। इसके बाद एसपी ऊना अर्जित सेन मौके पर पहुंचे, लेकिन उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया। छह घंटे तक बवाल चलता रहा। एसपी ऊना दलबल सहित मंदिर परिसर का पिछला गेट तोड़कर अंदर पहुंचे, तब जाकर पुलिस ने भीड़ को परिसर से बाहर किया और आरोपी पुजारी को गगरेट थाने में लाए। 

मुख्यमंत्री ने डीजीपी से रिपोर्ट की तलब
छात्रा की हत्या और उसके बाद शव मंदिर परिसर में दबाए जाने के मामले में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने डीजीपी से रिपोर्ट तलब की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डीजीपी को कार्यालय बुलाया गया है। घटना दुखद है। आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X