विज्ञापन
विज्ञापन
शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021
Myjyotish

शरद पूर्णिमा पर कराएं श्री कृष्ण की विशेष पूजा, बांके बिहारी मंदिर, वृन्दावन 19 अक्टूबर 2021

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

चन्नी सरकार पर बरसे सुखबीर: लुधियाना में बोले अकाली नेता, मुख्यमंत्री ने पंजाब को केंद्र के हवाले किया

केंद्र सरकार की तरफ से पंजाब में बीएसएफ को सीमा से 50 किलोमीटर के अंदर तक कार्रवाई का अधिकार देने के बाद पंजाब में सियासी पारा बढ़ता जा रहा है। शनिवार को लुधियाना पहुंचे शिरोमणि अकाली दल प्रधान सुखबीर बादल ने सीएम चरणजीत सिंह चन्नी पर निशाना साधा।

सुखबीर ने कहा कि सीएम चन्नी ने पंजाब को केंद्र सरकार के हवाले कर दिया है। अब बीएसएफ किसी भी समय चाहे श्री दरबार साहिब या फिर दुर्ग्याणा मंदिर में दाखिल हो सकती है। अगर किसी व्यक्ति की केंद्र सरकार के साथ कोई खुन्नस हो गई, तो बीएसएफ किसी भी समय उसे उठा कर ले जा सकती है। यही हालात दिल्ली में हैं, वहां के सीएम केजरीवाल सिर्फ म्युनिसिपिल कॉरपोरेशन के सदस्य की तरह है, पुलिस पर तो उनका भी कोई अधिकार नहीं है। 

यह भी पढ़ें - 
कुंडली बॉर्डर हत्याकांड: बर्बर हत्या का आरोपी निहंग सर्बजीत सात दिन के रिमांड पर, हर रोज होगा मेडिकल 

शनिवार को सुखबीर बादल लुधियाना में विधानसभा चुनाव से पहले आम लोगों में अपनी पार्टी के पक्ष में प्रचार करने निकले थे। हालांकि एक जगह पर उन्हें किसान यूनियन नेताओं ने काली झंड़ियां भी दिखाई। कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए बादल ने कहा कि केंद्र सरकार ने तीन खेती कानून को पास किया। खेती के संबंध में कुछ भी करना राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में आता है। उस समय कैप्टन अमरिंदर सिंह उस कमेटी के सदस्य थे जो खेती कानून पास करने में उनके साथ थे। पंजाब में इस समय चल रहे दलित कार्ड पर बादल ने कहा कि कांग्रेस सरकार के शासन में चार लाख अनुसूचित जाति के छात्रों को कुछ नहीं दिया गया। इन पांच साल में लगभग 20 लाख छात्र अपने हक से वंचित हो चुके हैं। तब उनका दलित कॉर्ड कहां गया था। 

बिजली किल्लत का मेरे पास है हल 
पंजाब में बिजली किल्लत को लेकर मचे हाहाकार पर सुखबीर बादल ने कहा कि इसका हल उनके पास है। सत्ताधारी कांग्रेस सरकार के पास इस समय कहां वक्त है। जब उनकी सरकार सत्ता में आएगी, तो वह जितनी सब्सिडी दी जाती है उससे सोलर एनर्जी पर काम करेंगे। चाहे लोगों के घर हो या फिर उद्योग। सभी को सोलर एनर्जी के लिए विशेष राहतें दी जाएगी। इसका फायदा यह होगा कि इस समय तो सब्सिडी का पैसा कुछ फायदा नहीं कर रहा है, लेकिन उसी पैसे को अगर सोलर एनर्जी लगाने में दिया जाएगा तो आने वाले समय में लोगों के बिजली बिल जीरो हो जाएंगे। 
... और पढ़ें
सुखबीर बादल। सुखबीर बादल।

लखीमपुर खीरी हिंसा: पंजाब में किसान जत्थेबंदियों ने फूंके भाजपा नेताओं के पुतले, मंत्री अजय मिश्रा को गिरफ्तार व कानून रद्द करने की मांग

पंजाब के  सुनाम ऊधम सिंह वाला संगरूर में लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत की घटना पर संयुक्त किसान मोर्चा के आवाह्न पर भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धूपुर ने कई गांवों में केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार के पुतले जलाए। यूनियन के जिला महासचिव रण सिंह चट्ठा के नेतृत्व में गांव चट्ठा नन्नहेड़ा में केंद्र और यूपी सरकार के पुतले फूंके।इस दौरान किसानों की ओर से नारेबाजी भी की गई। 


इसके साथ अमित शाह, मनोहर लाल, अजय मिश्रा, आशीष मिश्रा टैनी, कारपोरेट घरानों अडानी अंबानी के भी पुतले फूंके गए। इस मौके पर रण सिंह चट्ठा ने कहा कि संघर्ष करना सभी का संवैधानिक अधिकार है। लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ हुई घटना को भुलाया नहीं जा सकता है। किसानों के कातिल को बिना देरी गिरफ्तार करके सजा होनी चाहिए। 


उत्तर प्रदेश के गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को मंत्रिमंडल से तुरंत बर्खास्त करके गिरफ्तार किया जाए। किसानों के कातिल दोषियों को सख्त सजा दिलाने तक और तीनों ही खेती कानून रद्द करवाने तक किसानों का संघर्ष लगातार जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें:
 पंजाब की बड़ी खबरें: नवजोत सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा और कुंडली बॉर्डर हत्याकांड का आरोपी रिमांड पर

इस मौके पर ब्लाॅक सुनाम के प्रधान हरी सिंह चट्ठा, ब्लाक नेता दलेल सिंह चट्ठा, जीवन सिंह चट्ठा, गुरप्यार सिंह बुद्धू, मालविन्दर सिंह, जगतार सिंह तारी, लीला सिंह मनी, धन्ना सिंह चट्ठा, गुरबीर सिंह, बीरबल सिंह, नछत्तर सिंह बाबा, भूरा सिंह, गोबिंद सिंह वैरोके, अमरजीत सिंह, मघ्घर सिंह, पप्पन सिंह, दारा सिंह, रणधीर सिंह धीरा, कुलदीप सिंह, गिप्पी सिंह, सिरा सिंह, रवींद्र सिंह डैवी, मिट्ठू सिंह के अलावा बड़ी संख्या में किसान नौजवान उपस्थित थे।

किसान जत्थेबंदियों ने प्रधानमंत्री मोदी व यूपी के मुख्यमंत्री योगी का फूंका पुतला
पंजाब के मल्लांवाला फिरोजपुर में किसान जत्थेबंदियों ने अपनी मांगों के समर्थन में शनिवार को मुख्य चौक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंक रोष प्रदर्शन किया। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी, भारती किसान यूनियन राजेवाल व क्रांतिकारी पंजाब यूनियन के नेता रणजीत सिंह, गुरमेल सिंह व मनमोहन सिंह ने कहा कि तीनों कृषि कानून रद्द करवाने और लखीमपुर में घटी घटना के खिलाफ मोदी और योगी के पुतले फूंके गए हैं। लखीमपुर खीरी कांड के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दी जाए। दिल्ली बाॅर्डर पर किसान लंबे समय से तीनों कृषि कानून रद्द करवाने को लेकर धरने पर बैठे हैं, मोदी सरकार इस तरफ ध्यान नहीं दे रही है। उनका संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक उनकी मांगें स्वीकार नहीं की जाती हैं।


  ... और पढ़ें

पंजाब : सिद्धू ने 18 दिन बाद वापस लिया इस्तीफा, राहुल से मिलने के बाद बोले- सब ठीक हो गया 

नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के 18 दिन बाद शुक्रवार को अपना इस्तीफा वापस ले लिया। नाराज चल रहे सिद्धू ने राहुल गांधी से मुलाकात के बाद इस्तीफा वापस लेने की बात कही। पंजाब के प्रभारी हरीश रावत ने मीडिया को इसकी जानकारी दी।

पंजाब कांग्रेस में सिद्धू के अचानक इस्तीफा देने के बाद उनके कांग्रेस छोड़ने के भी कयास लगने लगे थे, लेकिन दशहरा के दिन सिद्धू ने इस्तीफा वापस ले लिया। बृहस्पतिवार को संगठन महासचिव केसी. वेणुगोपाल और हरीश रावत से मुलाकात के बाद अपने कदम पीछे हटाने के संकेत दिए थे। 

दरअसल 28 अक्तूबर को इस्तीफा देने के बाद सिद्धू ने जिस तरह के तेवर अपनाए, उससे केंद्रीय नेतृत्व की फजीहत शुरू हो गई, क्योंकि सिद्धू को अध्यक्ष बनाने का फैसला सीधे नेतृत्व का था। वहीं, जिस दिन कांग्रेस कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी का पार्टी में स्वागत कर रही थी उससे ठीक पहले सिद्धू ने इस्तीफा बम फोड़कर किरकिरी कराई थी। इसी बात से सोनिया गांधी के साथ राहुल और प्रियंका भी बेहद नाराज थे।

सिद्धू ने कहा...
बैठक के बाद सिद्धू ने मीडिया से कहा, मेरी जो चिंताएं थीं, मैंने राहुल जी के साथ साझा कर दी और सबका समाधान निकल गया। 
... और पढ़ें

बीएसएफ पर राजनीति: पाकिस्तान बॉर्डर से बोले पंजाब के डिप्टी सीएम- राज्य में बनाई जा रही इमरजेंसी जैसी स्थिति, बर्दाश्त नहीं करेंगे

पंजाब के उप मुख्यमंत्री और गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कल रात अमृतसर के अजनाला इलाके का दौरा किया, जो पाकिस्तान की सीमा से सटा है। उन्होंने कहा कि बीएसएफ को सीमा पर ही रखा जाना चाहिए और बाकी इलाकों की कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पंजाब पुलिस के लिए छोड़ दिया जाना चाहिए।



रंधावा ने कहा कि लोगों को डर है कि बीएसएफ के जवान अचानक से उनके घरों में घुस जाएंगे, गांवों की घेराबंदी करेंगे और तलाशी लेंगे। यदि बीएसएफ गांवों में प्रवेश करती है, तलाशी लेती है, मामले दर्ज करती है या स्टेशन स्थापित करती है, तो यह देश के संघीय ढांचे को कमजोर करने का प्रयास होगा, ऐसा लोगों को लगता है। 

यह भी पढ़ें - 
वायरल वीडियो में दिखा वहशीपन: पहले काटा लखबीर का हाथ, फिर उल्टा लटकाए रखा, गुरुओं का नाम लेकर तड़पता रहा 

वहीं कैप्टन द्वारा बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र का विस्तार करने के केंद्र के फैसले का समर्थन करने पर रंधावा ने कहा कि 2016 में, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक अखबार के साक्षात्कार में कहा था कि बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच एक सांठगांठ थी और इसे तोड़ने की जरूरत थी। उन्हें पहले इसका जवाब देना चाहिए।

रंधावा ने कहा कि पंजाब में औचक इमरजेंसी जैसे हालात बन रहे हैं, जिसे कभी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पंजाब पुलिस के हाथ में पंजाब सुरक्षित है। केंद्र को इसके बजाय सीमा पार से आने वाले ड्रग्स, हथियारों और ड्रोन पर ध्यान देना चाहिए। शांतिपूर्ण पंजाबियों को परेशान नहीं किया जाना चाहिए।
... और पढ़ें

पंजाब: छह आईएएस और पांच पीसीएस अफसरों का तबादला, प्रदीप कुमार अग्रवाल को महानिदेशक स्कूल शिक्षा लगाया

सुखजिंदर सिंह रंधावा
पंजाब सरकार ने छह सीनियर आईएएस अधिकारियों और पांच सीनियर पीपीएस अधिकारियों के तबादला व नियुक्ति के आदेश जारी किए हैं।

इस आदेश के तहत आईएएस अधिकारियों में प्रदीप कुमार अग्रवाल को महानिदेशक स्कूल शिक्षा लगाया गया है, जबकि प्रवीण कुमार थिंड को श्रम आयुक्त पंजाब के पद पर बनाए रखते हुए स्पेशल सेक्रेटरी (श्रम) का अतिरिक्त चार्ज, देवेंद्रपाल सिंह खरबंदा को स्पेशल सेक्रेटरी राजस्व एवं पुनर्वास लगाते हुए कंट्रोलर प्रिंटिंग एंड स्टेशनरी का अतिरिक्त चार्ज, बी. श्रीनिवासन को निदेशक सामाजिक सुरक्षा महिला एवं बाल विकास लगाते हुए स्पेशल सेक्रेटरी सामाजिक सुरक्षा महिला एवं बाल विकास का अतिरिक्त चार्ज, गिरीश दयालन को निदेशक गर्वनेंस रिफार्म एंड पब्लिक ग्रीवांसेज और सागर सेतिया को एडिशनल एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर पटियाला लगाया गया है।


यह भी पढ़ें:
नहीं माने सिद्धू: राहुल गांधी से मुलाकात के बाद विवाद तो सुलझाए पर इस्तीफा नहीं लेंगे वापस, इस बात का है इंतजार


पीसीएस अधिकारियों में जगविंदरजीत सिंह ग्रेवाल को एडिशनल डिप्टी कमिश्नर (विकास) मोगा, परमिंदरपाल सिंह को निदेशक खेल एवं युवा मामले, चरणदीप सिंह को एडिशनल डिप्टी कमिश्नर फगवाड़ा लगाते हुए कमिश्नर म्यूनिसिपल कारपोरेशन फगवाड़ा का अतिरिक्त चार्ज, कंवरजीत सिंह को असिस्टेंट कमिश्नर (जनरल) बठिंडा और अनिल गुप्ता को डिप्टी सेक्रेटरी सामान्य प्रशासन व समन्वय लगाया गया है। ... और पढ़ें

पंजाब की बड़ी खबरें: नवजोत सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा और कुंडली बॉर्डर हत्याकांड का आरोपी रिमांड पर 

लखबीर हत्याकांड: गम में डूबी पत्नी बोली, कभी अमृतसर तक नहीं गया लखबीर..पता नहीं कुंडली बॉर्डर कैसे पहुंच गया

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00