विज्ञापन
विज्ञापन
बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?
astrology

बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

सीएम की रैली से लौट रहे यूथ कांग्रेसी आपस में भिड़े, फायरिंग में दो जख्मी, छह नामजद

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की रैली से लौट रहे यूथ कांग्रेसियों के दो गुट रविवार को एनआईएस चौक के पास आपस में भिड़ गए। इस दौरान हुई फायरिंग में दो युवक घायल हो गए। उन्हें सरकारी राजिंदरा अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। एसपी सिटी वरुण शर्मा ने बताया कि मामले में हरविंदर जोई, अमर, शिबू, गोपी, गुरी और सोनू पेंटर समेत कुछ अज्ञात पर केस दर्ज किया गया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है।
  
जानकारी के अनुसार, करीब पांच माह पहले पटियाला में यूथ कांग्रेसी नेता हरविंदर सिंह जोई के समर्थक शमशेर सिंह की हत्या हो गई थी। इस मामले में यूथ कांग्रेसी एसके खरोड़ समेत उसके गुट के 15 लोग नामजद किए गए थे। तभी से जोई और खरोड़ गुट में रंजिश चल रही थी। 

रविवार दोपहर सवा दो बजे सीएम की रैली खत्म होने के बाद एनआईएस चौक पर दोनों गुट भिड़ गए। इसमें दो युवक चरणजीत सिंह और रेहान गोली लगने से जख्मी हो गए। चरणजीत को दो गोलियां लगीं जबकि रेहान की पीठ पर एक गोली लगी है। 

आफिसर कालोनी पुलिस चौकी इंचार्ज गुरपिंदर सिंह ने बताया कि दोनों घायलों को राजिंदरा अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। घायल रेहान का कहना है कि हरविंदर सिंह जोई और उसके साथियों ने फायरिंग की थी जिससे वह घायल हो गया। वहीं, जोई का आरोप है कि दूसरे गुट ने उन पर गोलियां चलाईं। वहीं, सीएम की रैली के मद्देनजर जिले में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात थी। इसके बावजूद फायरिंग होना पुलिस प्रशासन पर सवालिया निशान लगाता है।
... और पढ़ें
demo pic... demo pic...

अमृतसर: चर्च में गोलीबारी के मुख्य आरोपी कांग्रेस नेता रणदीप सिंह गिल समेत तीन गिरफ्तार

जिला पुलिस ने गिलवाली गेट स्थित एक चर्च में फायरिंग करने के मामले में मुख्य आरोपी कांग्रेसी नेता रणदीप सिंह गिल सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। सीआईए स्टाफ की टीम ने होशियारपुर के टांडा के पास इन आरोपियों को पकड़ा। वारदात में रणदीप सिंह गिल ने सात-आठ अन्य लोगों के साथ चर्च में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग कर प्रिंस नामक युवक की हत्या कर दी थी।

वहीं प्रिंस के भाई मनोज को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। पुलिस के मुताबिक गिल व उसके साथियों ने चर्च में 15 से 20 राउंड गोलियां चलाई थीं। पकड़े गए आरोपियों में रणदीप का भाई बलराम सिंह गिल और उनका निजी सचिव सूरज शामिल हैं। आरोपियों के कब्जे से एक राइफल, एक रिवाल्वर, इनोवा और मोबाइल बरामद हुए हैं।

रणदीप सिंह गिल का आपराधिक रिकॉर्ड
  • 12 अगस्त 2003 : सी डिवीजन पुलिस ने पिस्तौल दिखाने और मारपीट का मामला दर्ज किया था।
  • 29 मई 2008 : सी डिवीजन पुलिस ने हत्या के प्रयास और मारपीट का मामला दर्ज किया था।
  • 31 मार्च 2014 : तरनतारन सिटी पुलिस ने धोखाधड़ी, वसूली और षड़यंत्र रचने के आरोप में केस दर्ज किया था।
  • 25 अगस्त 2016 : रामबाग पुलिस ने मारपीट और वसूली करने का मामला दर्ज किया था।
 
बलराम सिंह गिल का आपराधिक रिकॉर्ड
  • 13 मार्च 2018 : बी डिवीजन पुलिस ने फर्जी दस्तावेजों पर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज किया था।
  • 28 अगस्त 2019 : महिला थाने की पुलिस ने दहेज प्रताड़ना के आरोप में केस दर्ज किया था।
... और पढ़ें

लुधियाना : बेटी की चाहत में ढाई वर्ष की बच्ची को अगवा किया, हैरान कर देगी पूरी कहानी

बेटी की चाहत पूरी करने के लिए कैलाश नगर निवासी एक व्यक्ति ने ढाई साल की बच्ची को अगवा कर लिया। शनिवार शाम लगभग पांच बजे बच्ची के अगवा होने की सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारी हरकत में आ गए। पुलिस ने दस टीमें बनाकर रात भर आसपास के इलाके में तलाशी अभियान चलाया। रविवार की सुबह लगभग 11 बजे पुलिस ने बच्ची को सकुशल बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। 

एडीसीपी वन दीपक पारिक ने बताया कि थाना जोधेवाल पुलिस को शनिवार शाम पांच बजे कैलाश नगर निवासी माताद्दीन ने शिकायत दी कि उनकी ढाई साल की बेटी घर के बाहर खेल रही थी। उसे कोई उठा कर ले गया है। पुलिस ने तुरंत पूरे इलाके में नाकाबंदी की। सभी गलियों में लगे सीसीटीवी कैमरा को खंगाला गया तो खुलासा हुआ कि साइकिल सवार व्यक्ति बच्ची को लेकर गया है। 

इसके बाद पुलिस ने दस टीमें बनाई और कैलाश नगर इलाके में बने सभी बेहड़ों को खंगालना शुरू किया गया। रविवार की सुबह पुलिस ने कैलाश नगर में एक बेहड़े से बच्ची को बरामद कर लिया। पुलिस ने बच्ची को अगवा करने के आरोपी राघविंदर को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी कैलाश नगर रोड पर एक फैक्ट्री में काम करता है। बच्ची की मेडिकल जांच कराने के बाद पुलिस आगे कार्रवाई करेगी।  

एडीसीपी के मुताबिक आरोपी राघविंदर ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसकी पहली शादी के बाद एक बच्ची हुई थी, जिसका डेढ़ साल की उम्र में देहांत हो गया था। कुछ समय बाद पत्नी उसे छोड़कर चली गई। इसके बाद उसने दूसरी शादी कर ली। उसे उम्मीद थी कि उसके घर में बेटी का जन्म होगा। लेकिन बेटे ने जन्म लिया। अब उसका बेटा तीन साल का हो चुका है। दूसरी बार उसकी पत्नी गर्भवती हुई तो किसी कारण गर्भपात हो गया। बेटी की इच्छा पूरी करने के लिए उसने बच्ची को अगवा करने का फैसला किया था। 
... और पढ़ें

लुधियाना : फैक्ट्री में जोरदार धमाका, 100 फुट दूर गिरा एक हिस्सा, पांच मजदूर घायल

मन की बात में चंडीगढ़ के संदीप का जिक्र।
ताजपुर रोड की गीता कालोनी स्थित एडी डाइंग फैक्ट्री में रविवार सुबह मशीन के सॉफ्ट फ्लो में अचानक धमाका हो गया। इससे मशीन का एक पार्ट सौ फुट हवा में उछला और बरामदे की छत पर जा गिरा। हादसे में वहां सो रहे चार मजदूर बुरी तरह घायल हो गए। धमाका इतना तेज था कि आसपास के लोग घरों से बाहर आ गए। 

धमाके के कारण फैक्ट्री और साथ लगती डेयरी की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई। डेयरी की दीवार गिरने के कारण छत नीचे आ गई और जानवर दब गए। लोगों ने जानवरों को बाहर निकालकर एक तरफ बांधा। बाहर घायल पड़े मजदूरों को निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया। घायलों की पहचान नाग मनी, विकास, मनोज, अमरजीत कुमार और बब्बर के रूप में हुई है। सूचना पर थाना टिब्बा की पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। 

जानकारी के अनुसार एडी डाइंग फैक्ट्री में रात को काम चल रहा था। फैक्ट्री मालिक अजय कुमार ने बताया कि फैक्ट्री में कपड़ा रंगाई का काम चल रहा था। फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूर ने मशीन चला दी और खुद सो गया। इससे मशीन के अंदर गर्मी ज्यादा हो गई और धमाका हो गया। मशीन का एक पार्ट टूटकर हवा में सौ फुट दूर जाकर गिरा। एक हिस्सा सामने बरामदे की छत पर गिरा। ऐसे में वहां सो रहे मजदूर भागे तभी मशीन एक मजदूर के ऊपर गिर गई। बाकी के मजदूर मशीन से टकराकर घायल हो गए। 

मशीन में धमाके से डेयरी की दीवार टूट गई और छत नीचे आ गई। मलबे में दबे जानवरों को तुरंत बाहर निकाला गया। सूचना मिलते ही फैक्ट्री मालिक खुद भी पहुंच गए। उन्होंने तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी। थाना टिब्बा के एसएचओ सब इंस्पेक्टर दलजीत सिंह ने बताया कि मजदूरों को मामूली चोटें आईं हैं। उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। बाकी फैक्ट्री मालिकों ने आसपास के लोगों के हुए नुकसान का भुगतान करने की बात की है। इसे सभी लोग मान गए हैं।
... और पढ़ें

एसजीपीसी ने सुखजीत खोसा पर लगाया अखंड पाठ साहिब को खंडित करने का आरोप  

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने सतिकार कमेटी के नेता सुखजीत सिंह खोसा पर श्री अकाल तख्त साहिब परिसर में स्थित गुरुद्वारा बुंगा बाबा गुरबक्श सिंह में चल रहे श्री अखंड पाठ साहिब को खंडित करने का आरोप लगाया है। एसजीपीसी ने कहा है कि खोसा ने चल रहे श्री अखंड पाठ साहिब के बीच अखंड पाठी सिंह को उठाकर मर्यादाओं का घोर उल्लंघन किया है। यही नहीं उन्होंने कई बार सचखंड की मर्यादाओं का अपमान किया है। शनिवार को सिख संगठनों और एसजीपीसी टास्क फोर्स के बीच हुए टकराव के बाद एसजीपीसी पदाधिकारियों ने बैठक की और बयान जारी कर कई आरोप लगाए।

एसजीपीसी का आरोप है कि खोसा कुछ दिन पहले सचखंड श्री हरमंदिर साहिब की इश्नान मर्यादा (दुग्ध स्नान) के दौरान दाखिल हो गए। वहां उन्होंने गुरु मर्यादाओं का घोर अपमान किया। खोसा निरंतर एसजीपीसी प्रबंधन व मर्यादाओं में दखल देने की साजिशें रच रहे हैं। कुछ दिन पहले एक वायरल वीडियो में वह नशे में दिखे थे। खोसा की शह पर शनिवार को सुबह से ही कुछ लोग एसजीपीसी कर्मचारियों के साथ गली-गलौज कर रहे थे। एसजीपीसी कर्मचारी इनकी हरकतों से मानसिक दबाव में थे। जब इनको ऐसा न करने के लिए कहा गया तो एसजीपीसी अधिकारियों व कर्मचारियों पर जानलेवा हमला कर दिया।

एसजीपीसी अधिकारियों व पदाधिकारियों ने खोसा के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। एसजीपीसी के महासचिव हरजिंदर सिंह धामी के अनुसार सिख संगठन एसजीपीसी परिसर में हुल्लड़बाजी कर प्रबंधन को कमजोर करने की साजिश रच रहे हैं। हद तब हो गई जब इन्होंने एसजीपीसी कर्मचारियों को मुख्य गेट के बाहर रोक लिया और किरपाने हवा में उछालने लगे। इन्होंने एसजीपीसी दफ्तर में ताला जड़ा और कामकाज में विघ्न डालने की साजिश रची।      

जत्थेदार को पत्र लिख कार्रवाई करने की मांग
इसी दौरान एसजीपीसी के पदाधिकारियों ने श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को पत्र लिखा है। इस पत्र में कहा है कि एसजीपीसी परिसर में धरना दे रहे सिख संगठन श्री हरमंदिर साहिब की मर्यादाओं का उल्लंघन कर रहे हैं और संगत की भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं। पांच सिंह साहिबान मामले में आपात बैठक बुलाकर पंथक मर्यादाओं के अनुसार इस पर कार्रवाई करें।
... और पढ़ें

विजयदशमी 2020: कोराना काल में ऐसे हुआ बुराई का प्रतीक रावण दहन

होशियारपुर में दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या, प्रकाश जावड़ेकर बोले- राहुल-प्रियंका क्यों नहीं जा रहे पंजाब

पंजाब के होशियारपुर के टांडा गांव में छह साल की बच्ची से दुष्कर्म के बाद हत्या की घटना अब राजनीतिक रंग ले चुकी है। इस घटना पर कांग्रेस पार्टी की चुप्पी को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राहुल गांधी, सोनिया गांधी व प्रियंका गांधी को आड़े हाथों लिया है। उनका कहना है कि कांग्रेस पार्टी अपने द्वारा शासित राज्यों में महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों पर तो चुप्पी साधे रहती है और दूसरे राज्यों में फोटो खिंचाने के लिए पहुंच जाती है।

प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस आलाकमान पर हमला बोलते हुए कहा कि पंजाब के होशियारपुर के टांडा गांव में एक अनुसूचित जाति की छह साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या की घटना बहुत चौंकाने वाली है। राहुल गांधी को राजनीतिक पार्टियों में जाने के बजाय पंजाब के टांडा और राजस्थान जाकर पीड़ित महिलाओं व उनके परिवार से मिलना चाहिए।

जावड़ेकर ने कहा कि न तो अब तक राहुल और सोनिया गांधी टांडा गए हैं और न ही प्रियंका पीड़ित परिवार से मिलने पहुंची हैं। वह अपनी पार्टी द्वारा शासित प्रदेशों में महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों पर कोई ध्यान नहीं देते लेकिन हाथरस जैसी अन्य जगहों पर फोटो खिंचाने के लिए पहुंच जाते हैं।

आरोपियों के घर के बाहर नारेबाजी
छह साल की बच्ची के शव का शुक्रवार को गांव में अंतिम संस्कार किया गया। गांव के कब्रिस्तान में अंतिम संस्कार के मौके पर बड़ी संख्या में विभिन्न राजनीतिक और धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधि पहुंचे। सभी आरोपियों के लिए सख्त सजा की मांग कर रहे थे। कब्रिस्तान में कड़ी सुरक्षा के बीच भारी संख्या में लोगों की उपस्थिति में बच्ची का अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले बच्ची का शव जब गांव पहुंचा तो लोगों में गुस्सा फूट पड़ा और आरोपियों के घर के बाहर इकट्ठे होकर रोष प्रदर्शन किया। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X