विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

हरियाणा के बाद पंजाब के चार रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की जैश ने दी धमकी

मुंबई, चेन्नई और बंगलूरू समेत हरियाणा के कई रेलवे स्टेशनों और मंदिरों के बाद पंजाब के भी चार रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की धमकी मिली है।

20 सितंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

अमृतसर

शनिवार, 21 सितंबर 2019

पाक सीमा से सटे पंजाब के फिरोजपुर में मिले आठ रॉकेट लांचर बम, सेना ने घेरा पूरा इलाका

भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय राजमार्ग स्थित दास एंड ब्राउन स्कूल के सामने बहने वाले नाले और कूड़े के ढेर के पास से आठ रॉकेट लांचर मिले। बम मिलने के बाद पुलिस और सेना को सूचित किया। सेना की स्पेशल टीम ने उक्त इलाके को घेर लिया और किसी को भी नजदीक नहीं आने दिया।

पुलिस के मुताबिक गुरुवार सुबह किसी ने नाले और कूड़े के ढेर के पास बम जैसी कोई वस्तु देखी। लोगों ने इस संबंधी पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने देखा कि ये रॉकेट लांचर हैं और इनकी गिनती आठ है। ये रॉकेट लांचर चालू स्थिति में है या खोल हैं, इसका पता लगाने के लिए सेना की स्पेशल टीम को बुलाया गया। 

टीम ने चारों तरफ नाकाबंदी कर उक्त बमों को देखा। बताया जा रहा है कि इनमें से कई बम सही स्थिति में है और विस्फोट भी हो सकते हैं। सेना की टीम ने किसी भी व्यक्ति को उस जगह पर जाने नहीं दिया।

जानकारों का कहना है कि बम बहुत पुराने है। कारगिल युद्ध के समय फिरोजपुर के हुसैनीवाला बॉर्डर पर भारत-पाक के बीच तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। सेना ने कई जगहों पर माइंस लगाई थी। जब तनाव खत्म हुआ तो उसके कुछ साल बाद हुसैनीवाला हेड से श्रीगंगानगर को बहती नहर से बम बरामद हुए थे, शायद ये बम भी उसी समय के नाले में पड़े होंगे।
... और पढ़ें

तरनतारन ब्लास्टः पंजाब को दहलाने की रची थी साजिश, हिरासत में लिए गए छह संदिग्ध लोग

तरनतारन में ब्लास्ट करके पूरे पंजाब को दहलाने की साजिश रची गई थी। खाली प्लॉट में धमाके के मामले में छह लोगों को हिरासत में लिया गया है। खडूर साहिब संपर्क मार्ग पर स्थित गांव कलेर के समीप खाली प्लॉट में धमाका हुआ था। पुलिस सूत्रों के अनुसार, हिरासत में लिए गए लोग पट्टी, गुरदासपुर और अमृतसर के रहने वाले हैं।

इन लोगों से अब तक हुई पूछताछ में यह बात सामने आई है कि वह सार्वजनिक स्थल पर धमाका करने की फिराक में थे। हालांकि अभी पुलिस अधिकारी इस मामले की पुष्टि नहीं कर रहे हैं। लेकिन अब तक हुई जांच में पुलिस करीब 32 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है। मामले की जांच आगे बढ़ी तो मंगलवार को छह अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया। बताया जा रहा है कि धमाके के साथ इन लोगों के सीधे तार जुड़े हैं।
... और पढ़ें

अंतरराष्ट्रीय नशा तस्कर गिरोह का पर्दाफाश, कोकीन बरामद, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया से जुड़े तार

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की अमृतसर इकाई ने अंतरराष्ट्रीय नशा तस्कर गिरोह का पर्दाफाश किया है। यह गिरोह पंजाब, दिल्ली, मुंबई से नशा तस्करी कर रहा था। इसके तार कनाडा व ऑस्ट्रेलिया में बैठे इंटरनेशनल तस्करों के साथ जुड़े थे। इस गिरोह की जानकारी देते हुए एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर जरनल एसके झा ने बताया कि कनाडा से एक प्लॉटर/प्रिंटर मशीन कनाडा से पंजाब के जालंधर के एक व्यक्ति के नाम पर आई।

वहीं शिप के माध्यम से आए समान से नशे की खेप भारत आने की जानकरी एनसीबी को मिली थी। इस मशीन में साउथ अमेरिका की उच्च स्तर की कोकीन थी। यह कोकीन कनाडा से पंजाब पहुंचाई जानी थी। दिल्ली जोन के एनसीबी अधिकारियों ने तुरंत एक्शन लेते हुए कनाडा से आए प्लॉटर/प्रिंटर मशीन में से 422 ग्राम कोकीन बरामद की है।

कोकीन की खेप को जालंधर निवासी योगेश कुमार धुनाने ने अंतरराष्ट्रीय गिरोह के जरिये मंगवाई थी। दिल्ली एनसीबी ने खेप का डुप्लीकेट तैयार कर जालंधर स्थित पते पर भेज दी। जालंधर में जैसे ही योगेश कुमार खेप को प्राप्त करने लगा, अधिकारियों ने उसे तुरंत अरेस्ट कर लिया। पूछताछ के दौरान उसने एनसीबी अधिकारियों को बताया कि इस प्रकार की खेप पंजाब के कई लोग मंगवा रहे हैं। 

योगेश कुमार की जांच के आधार पर अमृतसर निवासी अक्षिंदर सिंह के घर में छापामारी की। एनसीबी की टीम की छापामारी से पहले ही वह फरार हो गया है। एनसीबी टीम ने योगेश कुमार से एक कार भी बरामद की है। योगेश कुमार जालंधर के मोहल्ला इस्लामाबाद का रहने वाला है।



 
... और पढ़ें

तरनतारन ब्लास्ट: आरोपियों का खुलासा- निशाने पर था डेरा नूरमहल, प्रदेश का माहौल बिगाड़ने था

पिछले दिनों पंजाब में तरनतारन के तहत आने वाले गांव कलेर के समीप जो ब्लास्ट हआ था, उसमें शामिल लोगों की योजना दिव्य ज्योति जागृति संस्थान को निशाना बनाने की थी। ये जानकारी धमाके से संबंधित गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में पुलिस को मिली है। चार सितंबर की रात को गांव कलेर के समीप जो ब्लास्ट हुआ था वह गत वर्ष अमृतसर स्थित निरंकारी भवन में हुए धमाके जैसा था।

कुछ दिन पहले यहां पर बम किसी और ने दबाया था और विदेश से मिले निर्देश पर उसे जमीन से निकालने वाली टीम दूसरी थी। इस टीम में शामिल दो युवकों की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि तीसरा घायल हो गया था। धमाके वाली जगह से तीन किलोमीटर की दूरी पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के आधार पर पुलिस जांच कर रही है।

पुलिस ने इस मामले में मानदीप सिंह मस्सा पंच, अमृतपाल सिंह बचड़े, चन्नप्रीत सिंह बटाला, मनप्रीत सिंह मुरादपुरा, हरजीत सिंह पंडोरी गोला, मलकीत सिंह कोटला गुजर व अमरजीत सिंह फतेहगढ़ चूड़ियां से प्रथम पूछताछ में जुटी हुई  है। प्रारंभिक पूछताछ के आधार पर दो गाड़ियां, एक पाक सिम, विदेशी फंडिंग के दस्तावेज व कुछ असला पुलिस के हाथ लग चुके हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ और जांच में अब तक पता चला है कि पंजाब में खालिस्तान की मूवमेंट को हवा देने के लिए हाल ही में विदेशों से इनको फंडिग भी हुई थी।
... और पढ़ें
तरनतारन ब्लास्ट केस के आरोपी तरनतारन ब्लास्ट केस के आरोपी

पंजाबः अमृतसर में बॉर्डर पर खेत में छिपाई गई 13.7 किलो हेरोइन बरामद, निशानदेही शेरा की

चार दिन पहले अमृतसर (देहाती) पुलिस की ने तस्कर शमशेर सिंह उर्फ शेरा को साढ़े सात किलोग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया गया था। पुलिस रिमांड के दौरान शेरा की निशानदेही के आधार पर सीमावर्ती गावं दोयुके के खेतों में छिपाई हुई 13 किलो 700 ग्राम हेरोइन बरामद की है। 

इससे पहले पुलिस ने शेरा की निशानदेही पर एक किलोग्राम  हेरोइन भी बरामद की थी। इसके बाद के बाद पुलिस ने शेरा का दूसरी बार रिमांड लिया था। बीते चार दिन में पुलिस ने 22 किलो  200 ग्राम से अधिक हेरोइन बरामद कर शेरा का इंटरनेशनल हेरोइन तस्करों के साथ संबंधों का पर्दाफाश कर दिया है। 

एसएसपी(देहाती) बिक्रमजीत सिंह दुग्गल ने पत्रकार वार्ता में में बताया की शेरा के संबंध पाकिस्तान में बैठे हेरोइन के इंटरनेशनल तस्करों के साथ है। शेरा पाकिस्तान के तस्करों के साथ सोशल मीडिया से संपर्क में था। शेरा का गांव भेणी राजपूतां सीमवर्ती कस्बा घरिंडा के साथ सटा है। वह सोशल मीडिया से पाकिस्तान में बैठे तस्करों के साथ संपर्क स्थापित करता था। 

एसएसपी दुग्गल ने शेरा की ओर से सोशल मीडिया के प्रयोग किये जाने वाले प्लेटफार्मों के माध्यम से पाकिस्तान के तस्करों के साथ साधे जाने वाले संपर्कों की जानकारी देने से इंकार करते हुए कहा की अभी जांच चल रही है। जांच में शेरा के सीमा के इस पार व उस पार बैठे तस्करों के संबंधों का खुलासा होने की संभावना है। 

 
... और पढ़ें

करतारपुर कॉरिडोरः पाकिस्तान ने शुरू की वीजा जारी करने की प्रक्रिया, 28 अक्टूबर से नगर कीर्तन

पाकिस्तान दूतावास ने उन भारतीय सिखों को वीजा जारी करना शुरू कर दिया है, जो 28 अक्टूबर से करतारपुर साहिब तक जाने वाले नगर कीर्तन में शामिल होना चाहते हैं। दिल्ली से शुरू होकर नगर कीर्तन 31 अक्तूबर को गुरुद्वारा ननकाना साहिब भी पहुंचेगा।

पाकिस्तान में वाघा सीमा पर पहुंचने पर नगर कीर्तन का स्वागत पाकिस्तान पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार, पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर, धार्मिक मामलों के संघीय मंत्री पीर नूरुल हक कादरी और अन्य संघीय व प्रांतीय मंत्रियों का समूह करेगा। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना ने इसकी पुष्टि की।

इसके साथ ही पाकिस्तान ने नगर कीर्तन के लिए वीजा जारी करना शुरू कर दिया है। इस नगर कीर्तन के लिए कुछ 1500 वीजा जारी किए जाएंगे। अधिकतर वीजा के लिए प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। सरना के अनुसार, पाकिस्तान सरकार और पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने उन्हें वर्ष 2018 में नगर कीर्तन की अनुमति दे दी थी।

नगर कीर्तन से पहले उनके दो प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान का दौरा करेंगे। पहला प्रतिनिधिमंडल 20 सितंबर को और दूसरा 2 अक्टूबर को पाकिस्तान जाएगा। इस प्रतिनिधिमंडलों को एक सप्ताह का वीजा दिया जाएगा। यात्रियों को 31 अक्तूबर से 14 नवंबर तक का वीजा दिया जाएगा।

सरना ने बताया कि कुछ हफ्ते पहले वह पाकिस्तान की यात्रा पर गए थे। उन्होंने वहां पंजाब के राज्यपाल, पंजाब के मुख्यमंत्री, धार्मिक मामलों के संघीय मंत्री, सेन मियां मीर फाउंडेशन के अन्य मंत्रियों और समितियों, हजरत दाता अली हजवेरी और हजरत बाबा फरीद को नगर कीर्तन का स्वागत करने के लिए न्योता दिया था।
... और पढ़ें

अमृतसरः नशे की लत से बचाने को जिस बेटी को जंजीरों से बांधा, वह नशा तस्कर के साथ भाग गई

नशे के दलदल में फंसी बेटी को बचाने के लिए मां ने उसे जंजीरों से बांध दिया और वहीं नशा तस्कर के साथ भाग गई। मामला अमृतसर का है। मां ने शिकायत थाना रंजीत एवेन्यू में दर्ज करवाई है। शिकायत में पीड़िता ने लिखा है कि जो नशेबाज उसकी बेटी को नशे की पुड़िया सप्लाई करता था, वही उसे भगाकर ले गया है।

इसी आरोपी ने उसकी बेटी को अपने जाल में फांस कर चिट्टा शहर के कॉलेज की लड़कियों में बिकवाया था। इसी कारण उसने अपनी बेटी को जंजीरों से बांध कर रखा था। उसकी बेटी का सबसे बड़ा धोखेबाज मौका पाते ही उनकी बेटी को भगाकर ले गया है। पीड़िता ने गुहार लगाई कि उसकी बेटी के खिलाफ भी नशा करने और नशा बेचने वालों का साथ देने के आरोप में केस दर्ज किया जाए।

बेटी को नशे का आदी बनाकर साजिशन गिरोह में शामिल किया गया है, इसकी जांच हो तो कई चेहरे सामने आएंगे। बता दें कि चंडीगढ़ में बतौर ब्यूटीशियन काम करती इस लड़की को एक युवक से प्यार हुआ और दोनों ने शादी कर ली।
... और पढ़ें

किस रास्ते से जम्मू में दाखिल हुए आंतकी, तीन दिन बाद भी हाथ खाली, खंगाले जाएंगे सीसीटीवी

फाइल फोटो
लखनपुर में तीन दिन पहले कठुआ पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया था। आतंकी पठानकोट से होते हुए लखनपुर पहुंचे लेकिन 72 घंटे बीत जाने के बावजूद पठानकोट पुलिस इसका खुलासा नहीं कर पाई कि आतंकियों ने कौन सा रास्ता अपनाया। 

पाकिस्तान की सीमा से सटा होने के कारण पंजाब का सबसे संवेदनशील जिला होने के बावजूद आतंकी पठानकोट से निकल गए और पुलिस को पता ही नहीं चला। वहीं, जम्मू-कश्मीर में दाखिल होते ही आतंकियों को दबोच लिया गया। इस सारे प्रकरण से पठानकोट पुलिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। शनिवार को इस संबंध में एसएसपी पठानकोट दीपक हिलोरी ने बमियाल में बीएसएफ अधिकारियों से बैठक की। इसके अलावा पुलिस के अन्य अधिकारी नाकों पर जाकर सुरक्षा जांचते रहे। 

छह महीने में दूसरी बार हुई पठानकोट पुलिस की किरकिरी
इसी साल मार्च में वांटेड गैंगस्टर पम्मा भारत-पाक सीमा से सटे बमियाल में किराए के मकान में 2 महीने तक रहा लेकिन पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। पम्मा ने जैसे ही पंजाब की हद पार की, जम्मू-कश्मीर में घुसते ही कठुआ पुलिस ने उसे पकड़ लिया। इस बात का खुलासा खुद पम्मा ने कठुआ पुलिस को दिए बयान में किया था। अब ताजा मामले में सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि उक्त आतंकी भी पठानकोट या पंजाब के किसी अन्य शहर में पनाह लिए हुए थे।
... और पढ़ें

कार सवार हमलावरों ने बाइक सवार की पीठ में गोली मारी, गंभीर

गांव समराए में कार सवार कुछ युवकों ने पहले मोटरसाइकिल सवार को टक्कर मारकर नीचे गिराया फिर गोली मार दी। गोली बाइक सवार की पीठ में लगी है। घायल 12वीं का छात्र है। हमलावरों ने तीन फायर किए जिसमें दो हवाई फायर थे। युवक की गंभीर हालत को देखते हुए उसे अमृतसार रेफर कर दिया गया है। फायरिंग का कारण पुरानी रंजिश बताया जा रहा है। वहीं डेरा बाबा नानक पुलिस ने छह युवकों के खिलाफ हत्या का प्रयास और असलहा एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
अनमोलदीप सिंह (18) निवासी गांव हरदोरवाल ने बताया कि वह शाम के समय अपने दोस्त गुरमुख सिंह निवासी हरदोरवाल कलां के साथ बुलेट पर पीछे बैठकर अपने गांव से फतेहगढ़ चूड़ियां जा रहा था। उनके पीछे एक बोलेरो कार आई जिसमें हरविंदर सिंह निवासी गांव झंगियां, हरमनप्रीत सिंह निवासी गांव ढांचे, हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी निवासी डेहर गवार और तीन अज्ञात युवक सवार थे। जब वह गांव समराए डाकखाने के नजदीक पहुंचे तो हरविंदर सिंह ने दो हवाई फायर किए। इसके बाद कार से बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर के दौरान वह दोनों मोटरसाइकिल समेत जमीन पर गिर गए। तभी हरविंदर सिंह ने उस पर जान से मारने की नीयत से फायर किया। इसके बाद बाकी युवक भी कार से बाहर निकल आए और उसे पीटने लगे। इस कारण वह बेहोश हो गया। अनमोल दीप सिंह ने बताया कि उसके बेहोश हो जाने पर उक्त युवकों ने उसका मोबाइल और पर्स में से 10 हजार रुपये भी निकाल लिए। जब उसके दोस्त गुरमुख सिंह ने शोर मचाया तो वहां पर लोग इकट्ठा होने लगे। इस कारण सारे वहां से भाग निकले। उसने ने बताया कि रंजिश यह है कि हरप्रीत सिंह निवासी डेहर गवार का उसके गांव के ही एक युवक के साथ झगड़ा हुआ था। वह युवक उसके स्कूल में पढ़ता है। इस झगड़े में हरप्रीत सिंह को काफी चोटें आई थी। उक्त सभी युवक यह समझते हैं कि उस झगड़े में वह भी शामिल था। जांच अधिकारी एएसआई सकत्तर सिंह ने बताया कि अनमोलदीप के बयान पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।
... और पढ़ें

Pics: दुर्लभ बीमारी से पीड़ित 11 वीं की छात्रा बनीं एक दिन की डीसी, जज्बा ऐसा की आप भी करेंगे सलाम

कोर्ट में NIA ने माना, कश्मीर मामले में विफल पाक, अब इस चीज को बना रहा भारत के खिलाफ हथियार

कश्मीर घाटी में भारत को नुकसान पहुंचाने में विफल पाकिस्तान अब भारत की आर्थिक सुरक्षा पर चोट कर रहा है। नशा तस्करी को हथियार बनाकर अपने नापाक मंसूबों को अंजाम दे रहा है। यह बात नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने विशेष अदालत में पाकिस्तान से जुड़े नशा तस्करी के एक केस में दाखिल किए जवाब में मानी है। इसके बाद केस की आरोपी संदीप कौर की जमानत याचिका को अदालत ने कैंसिल कर दिया। यह पहला मौका है, जब किसी राष्ट्रीय जांच एजेंसी अदालत में नशा तस्करी में पाक का एंगल रखा है।

जानकारी के मुताबिक अदालत में संदीप कौर ने जमानत के लिए एप्लीकेशन लगाई थी। इसके विरोध में एनआईए ने कहा कि जिस तरह पाकिस्तान से पूरी प्लानिंग के तहत खाने पीने की चीजों के साथ रख कर नशीले पदार्थों की तस्करी हो रही है, उससे साबित हो रहा है कि पाकिस्तान अपनी नई रणनीति में जुटा है। इसमें जो लोग शामिल हैं, वे आतंकियों से कम नहीं हैं। देश को नुकसान पहुंच रहा है। इसके चलते एनआईए ने पहले ही आरोपियों पर गैर कानूनी गतिविधियों को अंजाम देने का केस दर्ज किया है। 

आरोपी इस कारोबार की बारीकियों से वाकिफ
राष्ट्रीय एजेंसी ने अदालत में जवाब में यह भी कहा है कि संदीप कौर समेत आरोपी नशीले पदार्थों की तस्करी के परिणामों से अच्छी तरह वाकिफ थे। वह पाकिस्तान से नशीले पदार्थ मंगवा रहे थे। उससे विशेषकर पंजाब को सबसे ज्यादा नुकसान हो रहा है। क्योंकि नशा आसानी से गांवों तक पहुंच रहा है।
... और पढ़ें

पाकिस्तान द्वारा प्रति श्रद्घालु से 20 अमेरिकी डॉलर वसूलने के नाम पर डेरा बाबा नानक के लोगों ने जताया रोष

पाकिस्तान द्वारा गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शन करने वाले प्रति श्रद्धालु से 20 अमेरिकी डालर (भारतीय करेंसी में लभगग 1400 रुपये) सर्विस फीस के नाम पर वसूलने के विषय को लेकर डेरा बाबा नानक के लोगों ने एतराज जताया है। शुक्रवार को जब अमर उजाला ने पाकिस्तान द्वारा गुरुद्वारा साहिब के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं से सर्विस फीस के रूप में पैसे वसूलने के एलान के बारे में डेरा बाबा नानक के लोगों ने पाकिस्तान के इस कदम की निंदा की। डेरा बाबा नानक निवासी गुरजीत सिंह, बलविंदर सिंह, सतनाम सिंह रंधावा, गुरहरप्रीत सिंह, रमन कुमार, विक्की, बिक्रमजीत सिंह ने बताया कि डेरा बाबा नानक से गुरुद्वारा साहिब करीब चार किलोमीटर है और पाकिस्तान द्वारा प्रति श्रद्धालु से 20 अमेरिकी डालर वसूलना गलत बात है। जो गरीब श्रद्धालु सिर्फ श्रद्धा और आस्था से माथा टेकने को जाने का मन बना कर बैठे हैं, उनकी के लिए यह अच्छी खबर नहीं है। पाकिस्तान के इस एलान से गरीब श्रद्धालुओं का लंबे समय से संजोया सपना पूरा नहीं हो सकेगा। इस फीस से अमीर लोगों को कुछ फर्क नहीं पड़ने वाला, क्योंकि वह तो पहले भी वीजा लगवाकर पाकिस्तान में पहुंच कर गुरुद्वारा साहिब के दर्शन कर आते थे। कॉरिडोर खोलने के वक्त खुले लांघे का बात हुई थी, जिसका मतलब है कि मुफ्त में कोई भी जाकर गुरुद्वारा साहिब के दर्शन करेगा। दोनों देशों को मिलकर इस मसले का हल निकालना चाहिए, ताकि गरीब श्रद्धालु के मन में दर्शन करने का सपना साकार हो सके।
वहीं इस अवसर पर डेरा बाबा नानक की जीरो लाइन पर बने दर्शनस्थल पर दूरबीन से गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन करने आए मुक्तसर से तरसेम सिंह, गुरचरन सिंह निवासी मलोट ने बताया कि पाकिस्तान सरकार ने प्रति श्रद्धालु जो अमेरिकी 20 डालर सर्विस टैक्स लेने की घोषण की है, वह गलत है। गुरुद्वारा साहिब के बेरोकटोक दीदार होने चाहिए। उन्होंने भारत सरकार और पंजाब सरकार से अपील की है कि गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन बिल्कुल निशुल्क होने चाहिए, ताकि गुरुद्वारा साहिब के दर्शनों में पैसे की कोई समस्या आड़े न आए।
फोटो- 13जीडीआरबीटीएलपी01
कैप्शन- डेरा बाबा नानक में पाकिस्तान द्वारा प्रति श्रद्धालु से सर्विस फीस लगाए जाने की निंदा करते हुए।
... और पढ़ें

1.63 करोड़ रुपए के गबन के मामले में जालंधर में तैनात जनरल सहायक डॉ. अनुप्रीत कौर सस्पेंड

राजस्थान-जम्मू कश्मीर नेशनल हाईवे के निर्माण के दौरान सरकार द्वारा भूमि अधिग्रहण करवाया गया था। उस दौरान पट्टी की तत्कालीन एसडीएम डॉ. अनुप्रीत कौर ने उन लोगों को लाभ पहुंचाया, जिनके पास जमीन नहीं थी। इस मामले में एक करोड़ 63 लाख 975 रुपये का गबन पाया गया। चीफ सचिव करण अवतार सिंह ने तरनतारन के डीसी प्रदीप सभ्रवाल की रिपोर्ट पर जालंधर में तैनात जनरल सहायक डॉ. अनुप्रीत कौर को सस्पेंड कर दिया।

राष्ट्रीय मार्ग के निर्माण के मौके पर भूमि अधिग्रहण के दौरान जसबीर कौर निवासी मानावाला (अमृतसर), राजविंदर कौर निवासी फतेहपुर अलगों (तरनतारन) सरताज सिंह निवासी कोट दसंधी मल्ल (तरनतारन) बिक्रमजीत सिंह निवासी होशियार नगर (अमृतसर), गुरजीत कौर निवासी कोट दसंधी मल्ल (तरनतारन) के अलावा तीन अन्य लोगों के नाम पर बैंक खातों में 1 करोड़ 63 लाख 975 रुपये की राशि डाल दी गई थी। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree