बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

तीन लोगों की मौत : नशे में था 18 साल का मर्सिडीज चालक, ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं, दो दोस्तों की भी तलाश

मोहाली में एयरपोर्ट रोड स्थित राधा स्वामी चौक पर शनिवार को  तीन लोगों की जाने लेने वाले मर्सिडीज कार चालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर किया है, जबकि उसके दो साथी अभी फरार है। आरोपी की पहचान सम्राट (18) निवासी सेक्टर-34 के रूप में हुई है।

वह चंडीगढ़ के सेक्टर-26 स्थित एक नामी स्कूल का छात्र है। वहीं, अन्य दो साथी अभी फरार हैं। पुलिस ने आरोपियों पर 304 व 120बी के तहत केस दर्ज किया है। पहले 304 धारा लगाई थी। वहीं, पुलिस इस केस की सारी जांच दो सप्ताह में पूरी की करेगी। साथ ही केस की जल्दी सुनवाई कर दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा।

बता दें कि शनिवार सुबह एयरपोर्ट रोड पर तेज रफ्तार मर्सिडीज कार ने पहले एक अर्टिगा कार को टक्कर मारी, इसके बाद दो साइकिल सवारों को रौंदा। हादसे में तीन लोगों की मौत व तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस जांच में सामने आया है कि कार चालक आरोपी के पास लाइसेंस तक नहीं था लेकिन इसके बाद भी वह मंहगी कार को लेकर सड़कों पर निकला था। वहीं, हादसे के समय वह और उसके दो दोस्त नशे में भी थे। 

एसएसपी सतिंदर सिंह ने बताया कि नशे में होने के चलते ही आरोपी अपनी कार को नियंत्रित नहीं कर पाया। हादसे के बाद ही सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। एसएसपी ने साफ किया है कि मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। बता दें कि हादसे में एक यूएस बेस्ड कंपनी में काम करने वाले धर्मप्रीत, अंकुश नरूला व एक अन्य निजी कंपनी के कर्मचारी राम प्रसाद की मौत हो गई है। 
... और पढ़ें

मोहाली : दो गनमैन के साथ नकली पुलिस इंस्पेक्टर ने ठगे 20 लाख, तीनों शातिरों को दबोचा गया

नकली इंस्पेक्टर बनकर लोगों को ठगने के आरोप में पुलिस ने एक शातिर को दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी राजिंदर सिंह बल निवासी नवांशहर बडाला, हरबंस सिंह निवासी रसनेहड़ी और भूपिंदर सिंह उर्फ पप्पू निवासी दतारपुर मोरिंडा है। तीनों पर थाना सिटी खरड़ में धोखाधड़ी समेत 10 धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

मोहाली फेज-6 निवासी तेजिंदर सिंह ने पुलिस को शिकायत दी थी कि बडाला रोड खरड़ पर उनकी टाइल्स की दुकान है। करीब चार महीने पहले राजिंदर सिंह उनकी दुकान पर आया और खुद को पंजाब पुलिस में स्पेशल सेल का इंस्पेक्टर बताया। उसके साथ दो गनमैन भी थे।

राजिंदर उनकी दुकान से चार बार टाइल्स खरीदकर ले गया। इस बीच उसके साथ अच्छी जान पहचान हो गई। वह अक्सर मिलने आता रहता था। हमेशा पुलिस की वर्दी में होता था और फोन पर किसी से आपराधिक मामलों की जांच और छापा मारने की बातें करता रहता था।
... और पढ़ें

शर्मनाक : मोहाली में पांचवीं की छात्रा के साथ दरिंदगी, पहले बने दोस्त, फिर किया दुष्कर्म

पंजाब के मोहाली के एक निजी स्कूल में पांचवीं कक्षा में पढ़ती छात्रा से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने लड़की के परिजनों की शिकायत पर चार लोगों पर सामूहिक दुष्कर्म व जान से मारने की धमकी देने समेत कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।

पुलिस ने सभी आरोपियों को काबू कर लिया है। आरोपियों की पहचान सेक्टर 52 निवासी शाहरुख, विजय, मखन अमृतसर और मोहाली निवासी एक लड़की के रूप में हुई है। अदालत ने आरोपियों को एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। 


लड़की की मां ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि उसकी बेटी की दोस्ती एक लड़की से थी। उसी लड़की ने उसकी आरोपियों से मुलाकात करवाई थी। इसके बाद उसकी बेटी लगातार घर लेट आने लगी। आठ मार्च को जब बेटी घर लेट आई, तो उसके साथ उक्त युवक भी खड़े थे। उसने बेटी से लेट आने का कारण पूछा तो युवकों ने उससे गाली गलौच की।

अगली सुबह वह उठी तो लड़की घर से गायब थी। अगले पूरे दिन लड़की नहीं आई। रात को लड़की घर पहुंची। इस दौरान उसने बताया कि लड़की ने उसकी दोस्ती विजय से करवाई थी। उसने कहा था कि उसके पास बहुत पैसे हैं, ऐसे में वह उससे जेब खर्च के लिए पैसे ले लिया करे। इसके बाद उसे अपने घर बुलाया, जहां आरोपी विजय ने उससे दुष्कर्म किया। इसके बाद मखन ने रेप किया। मेडिकल में रेप की पुष्टि हुई है। पुलिस मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

कोरोना काल में लापरवाही: वीकेंड लॉकडाउन में होटल में चल रही थी पार्टी, सौ मेहमानों की मौजूदगी में पुलिस का छापा 

मोहाली में वीकेंड लॉकडाउन लागू है, लेकिन डेराबस्सी स्थित होटल पारस में शनिवार दोपहर में ही पार्टी चल रही थी। पार्टी में सौ से ज्यादा लोग मौजूद थे। पुलिस ने सूचना मिलने पर दबिश दी। पुलिस ने होटल के मालिक पर केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इस बारे में जानकारी दी। साथ ही कहा है कि जो लोग नियमों का पालन नहीं करेंगे, उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मोहाली प्रशासन की तरफ से कोरोना को मात देने के लिए वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया है। पांच से अधिक लोगों के इकट्ठे होने पर पूरी तरह से मनाही है। इसके बावजूद भी डेराबस्सी के पारस होटल में नियमों को ताक पर रखकर दिनदहाड़े पार्टी चल रही थी। उसमें करीब सौ से ज्यादा मेहमान थे। सूचना मिलने पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। हॉल में जाकर देखा तो वहां पर पार्टी चल रही थी। पुलिस की तरफ से तुरंत पार्टी रुकवा दी गई। साथ ही होटल मालिक को केस कर गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इस बारे में जानकारी दी है। 

मोहाली के डीसी गिरीश दियालन ने शुक्रवार शाम ही लोगों से अपील की थी कि मोहाली कोरोना के मामलों में विस्फोटक स्थिति में पहुंच गया है। हालात काफी खराब हो रहे हैं। हर हफ्ते दस फीसदी की दर से नए मरीज सामने आ रहे हैं। साथ ही अस्पतालों में साठ फीसदी बिस्तर भरे हुए हैं। ऐसे में वीकेंड लॉकडाउन को हल्के में न लिया जाए, वरना उन्हें संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला लेना पड़ेगा।
... और पढ़ें
डेराबस्सी स्थित होटल पारस। डेराबस्सी स्थित होटल पारस।

नौकरी के नाम पर खेल: रेलवे का जाली चेयरमैन बन लाखों ठगे, ऐसे बनाता था अपना शिकार

रेलवे का जाली चेयरमैन और अफसर बनकर लोगों को रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रुपये ठगने वाले दो शातिरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी इतने शातिर थे कि वह पिंजौर स्थित अपने एक कंप्यूटर सेंटर से ही सारे जाली दस्तावेज तैयार करते थे। वहीं, लोगों को फर्जी ज्वाइनिंग नियुक्ति पत्र व वर्दियां तक सौंप देते थे। देखने पर दसतावेज असली की तरह लगते थे। आरोपियों की पहचान गौतम कुमार उर्फ राजपूत मूल निवासी हरमिलाप नगर बलटाना हाल निवासी मार्डन वैली मोरिंडा रोड खरड़ और चुन्नी लाल निवासी रतपुल कालोनी पिंजौर, पंचकूला, हरियाणा के रूप में हुई है। 

आरोपी युवाओं को रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स में इंस्पेक्टर, एसआई और एएसआई भर्ती करवाने के नाम पर ठगते थे। इन्होंने पंजाब, हरियाणा और यूपी के लोगों को शिकार बनाया था। एसएपसी सतिंदर सिंह ने बताया कि थाना सिटी खरड़ में आरोपियों पर धोखाधड़ी करने, जाली सकरारी दस्तावेज तैयार करने समेत आठ धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।


जानकारी के मुताबिक पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी युवाओं को ठगी का शिकार बनाते हैं। एसपी जांच हरमनदीप सिंह और डीएसपी जांच गुरचरण सिंह की अगुवाई वाली टीम ने मामले की जांच की। टीम ने गौतम कुमार को खरड़ मॉर्डन वैली से कार समेत पकड़ा, जबकि उसके साथी चुन्नी लाल को रेड कर प्राइम कंप्यूटर सेंटर पिंजौर से गिरफ्तार किया गया। पुलिस जांच में सामने आया है कि गौतम कुमार उर्फ राजपूत पहले अंबाला कैंट में रेलवे विभाग में डीआरएम के साथ कांट्रेक्ट पर स्टेनो के पद पर काम करता था। ऐसे में उसे रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स की भरती के बारे में जानकारी दी। जबकि चुन्नी लाल 1999 से कंप्यूटर सेंटर चला रहा था।
... और पढ़ें

मोहाली : रात्रि कर्फ्यू का उल्लंघन कर युवकों ने पूरब अपार्टमेंट में फिर किया हंगामा, नौ को पुलिस ले गई

मोहाली के सेक्टर- 88 स्थित पूरब अपार्टमेंट में रात्रि कर्फ्यू का उल्लंघन कर रविवार रात फिर से नशे में धुत्त युवकों ने जमकर हंगामा किया। शनिवार रात को भी यहां फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए बने क्वारंटीन सेंटर में युवकों ने रातभर पार्टी कर सोसाइटी के लोगों के साथ अभद्र व्यवहार किया था। लगातार दूसरी रात हुए हंगामे ने आग में घी का काम किया है। इस घटना के बाद पूरब अपार्टमेंट के लोगों में जिला प्रशासन, पुलिस व गमाडा के खिलाफ खासी नाराजगी है।

शनिवार की पूरी रात पूरब अपार्टमेंट के टावर-5ए के फ्लैट नंबर 601 में युवकों ने तेज अवाज में संगीत बजाकर पार्टी की थी। एतराज जताने पर युवकों ने आस-पड़ोस में रहने वाले लोगों से अभद्र व्यवहार किया। रविवार सुबह इस मामले की शिकायत थाना सोहाना पुलिस, सीएम, डीजीपी, डीसी व एसएसपी को दी गई थी। 

सोहाना पुलिस मौके पर पहुंच कर युवकों को ले गई थी, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया। रविवार को पूरा दिन चली इस गहमागहमी के बाद रविवार की रात पूरब अपार्टमेंट में फिर से हंगामा हुआ। इस बार जीप व कार में सवार करीब 25 युवकों ने अपार्टमेंट के बाहर शराब पी कर हंगामा किया। इस दौरान गाड़ियों में तेज आवाज में संगीत बजाकर युवकों ने डांस किया। 

रात डेढ बजे से लेकर तीन बजे तक यह हंगामा चलता रहा। स्थानीय लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। जिसके बाद पीसीआर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस के आने पर कुछ युवक तो वहां से भाग निकले जबकि करीब नौ युवकों को पुलिस ने धर दबोचा। पीसीआर इन सभी युवकों को थाना सोहाना ले गई।
... और पढ़ें

खुलासा : बुलेटप्रूफ नहीं थी मुख्तार अंसारी की यूपी नंबर वाली एंबुलेंस, जांच में सामने आई बात 

यूपी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को मोहाली कोर्ट में पेशी के दौरान जिस एंबुलेंस में लाया गया था, उस को लेकर रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं। कल तक दावा किया जा रहा है कि यह एंबुलेंस बुलेट प्रूफ है। वहीं अब पंजाब पुलिस की जांच में सामने आया है कि यह एंबुलेंस बुलेटप्रूफ नहीं थी। यह साधारण एंबुलेंस है। पंजाब पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने यह जानकारी दी। कुछ समय पहले इसी एंबुलेंस को लेकर यूपी के पूर्व डीजीपी बृजलाल ने बड़े खुलासे किए थे। उन्होंने कहा था कि एंबुलेंस बुलेटप्रूफ और चलता फिरता किला है। उन्होंने यहां तक आरोप लगाया था कि इसमें सैटेलाइट व फोन से लेकर अंसारी के गुर्गे तक रहते हैं। अब यह सारी बात गलत साबित हो गई है। इससे पहले पंजाब पुलिस यह भी साफ कर चुकी हैं कि कानून के तहत ही आरोपी मुख्तार अंसारी को एंबुलेंस की अनुमति दी गई है। पंजाब पुलिस का कहना है कि मुख्तार को निजी एंबुलेंस से कोर्ट में पेशी के लिए 1952 के पंजाब प्रिजन (अटेंडेंस इन कोर्ट) एक्ट के तहत अनुमति दी है। यदि कोई कैदी बीमार होने पर अपने खर्चे पर एंबुलेंस से पेशी के लिए जाना चाहता है तो उसे इस एक्ट के तहत स्वीकृति प्रदान की जाती है।
 
... और पढ़ें

रिश्तों का खून : मामूली विवाद में साठ साल के चाचा ने ली भतीजे की जान, सिर पर फावड़े से किया वार 

मुख्तार अंसारी की एंबुलेंस
मोहाली में न्यू चंडीगढ़ में मुल्लांपुर थाने के अधीन आने वाले गांव फिरोजपुर बांगर में एक बुजुर्ग ने अपने भतीजे के सिर पर फावड़े से हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया। मृतक की पहचान रणधीर सिंह के रूप में हुई है। वह पीआरटीसी में बतौर ड्राइवर अनुबंध पर नौकरी करता था। पुलिस ने इस मामले में मृतक के साठ वर्षीय चाचा सुरजीत सिंह पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी अभी फरार है। उसकी तलाश की जा रही है। 

मृतक के परिजनों ने पुलिस को बताया कि बुधवार को रणधीर सिंह अपने घर में बैठकर शराब पी रहा था। इसके बाद वह कमरे से निकलकर अपने परिवार के पास आ गया। इसी दौरान उसका अपने चाचा सुरजीत सिंह से किसी बात पर विवाद हो गया। दोनों झगड़ने लगे। इसके बाद सुरजीत सिंह ने गोबर हटाने के लिए प्रयोग होने वाले फावड़े से रणधीर के सिर पर हमला कर दिया। उसके सिर से खून बहने लगा। 


परिजनों ने तुरंत अपने पड़ोसियों को बुलाया और रणधीर को चंडीगढ़ पीजीआई ले गए। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया है। परिजनों के अनुसार, रणधीर शराब पीने का आदी था और अक्सर शराब पीने के बाद लड़ाई झगड़ा करता रहता था। अब पुलिस ने आरोपी सुजीत सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

मोहाली में वारदात : कार का सामान चुराकर दुकान पर गए बेचने, दुकानदार की होशियारी से धरे गए   

मोहाली के नयागांव इलाके में नशेड़ी युवकों ने बुधवार रात तीन कारों के शीशे तोड़कर सामान चोरी कर लिया। आरोपी चोरी का सामान जाकर चंडीगढ़ में बेच पाते, लेकिन दुकानदार की होशियारी से उसकी पोल खुल गई। दुकानदार ने तुरंत एक आरोपी को काबू कर चंडीगढ़ पुलिस को सौंपा।

चंडीगढ़ पुलिस ने मामले की जांच कर आरोपी को नयागांव पुलिस के हवाले कर दिया है। आरोपी की पहचान अमजद खान निवासी नयागांव के रूप में हुई है। वहीं, आरोपी के परिजनों का कहना है कि आरोपी नशेड़ी है। जिसे वह पहले ही बेदखल कर चुके हैं।


जानकारी के मुताबिक, दशमेश नगर निवासी संजय, बंटू और सूरजभान ने अपनी गाड़ियां पोस्ट ऑफिस के पास एक खाली पड़े प्लाट में खड़ी की हुई थी। इनमें दो स्विफ्ट डिजायर और एक ऑल्टो कार शामिल है। गुरुवार सुबह जब तीनों कार मालिक गाड़ियों के पास गए तो उनकी कारों के शीशे टूटे हुए थे।

साथ ही कारों के अंदर एंप्लीफायर, महंगे स्पीकर, ब्लूटूथ और पेन ड्राइव आदि गायब थे। इसके बाद कार मालिकों ने तुरंत मोहाली पुलिस के कंट्रोल रूम पर सूचित किया, लेकिन कोई भी पुलिस मुलाजिम नहीं आया। इसी बीच सामान चोरी करने वाला अमजद सामान को लेकर चंडीगढ़ की सेक्टर-18 मार्केट में बेचने के लिए चला गया। 

वह सामान को बेचने के लिए उसी दुकान पर पहुंच गया, जहां से एक कार मालिक बंटू ने सामान खरीदा था। दुकानदार ने अपने सामान को पहचान लिया। उसने चोर को बातों में लगाया और इसी बीच कार मालिक को फोन कर बुला लिया। उन्होंने तुरंत चंडीगढ़ पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सारी पड़ताल की। इसके बाद आरोपी को नयागांव पुलिस को सौंप दिया। नयागांव थाने की पुलिस पड़ताल में जुटी हुई है ।

दो आरोपियों की तलाश
आरोपी ने चंडीगढ़ पुलिस को बताया है कि इस वारदात में तीन लोग शामिल थे। उसने पुलिस को यह भी बताया है कि वारदात में उसके अलावा जनता कालोनी के दो युवक भी शामिल है। पुलिस अब उनकी पड़ताल में जुटी हुई है। 
... और पढ़ें

मोहाली में वारदात : होली की पार्टी में भिड़े दो गुट, फायरिंग में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर

पंजाब के मुल्लांपुर में साथ लगते गांव माजरा में होली वाले दिन सोमवार शाम को दो गुटों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इस दौरान एक गुट के लोगों ने दूसरे गुट के लोगों पर फायरिंग कर दी। फायरिंग में 23 साल के सतनाम सिंह की मौत हो गई। जबकि दूसरे युवक को गंभीर हालत में खरड़ सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस ने दो लोगो पर हत्या का केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। 

जानकारी के अनुसार, सतनाम सिंह अपने एक रिश्तेदार के साथ अपने गांव माजरा में सोमवार शाम होली की पार्टी कर रहे थे। इस दौरान वहां दो लड़के आए। दोनों उनके पुराने जानकार थे। इनकी पहले भी किसी बात को लेकर कहासुनी हुई थी। पार्टी में दोनों गुटों के बीच फिर विवाद हो गया।


इस दौरान बिल्ला नाम के युवक ने सतनाम पर फायरिंग कर दी। गोली लगने से सतनाम और एक अन्य युवक घायल हो गए। सतनाम को पीजीआई ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। दूसरे युवक को गंभीर हालत में खरड़ सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहीं हमला करने वाले जिप्सी में फरार हो गए। पुलिस ने धारा 302 के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।
... और पढ़ें

मातम में बदलीं होली की खुशियां : सॉरी नहीं बोला तो सीने में गोली मारकर युवक की हत्या, पिता बोला- मेरा सब कुछ बर्बाद हो गया

पंजाब के मोहाली जिले के मुल्लांपुर स्थित माजरा टी प्वाइंट पर सोमवार शाम होली की पार्टी में सॉरी न बोलने पर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जबकि उसका साथी बाजू में गोली लगने से घायल हो गया। मृतक युवक सतनाम सिंह (22) था। वह पेशे से चंडीगढ़ में ड्राइवर था। पुलिस ने मोरिंडा निवासी जगजीत सिंह की शिकायत पर होशियारपुर निवासी सुखबीर उर्फ बिल्ला व जगरूप सिंह जग्गी, प्रिंस, शीला व बिंदी समेत आठ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, माजरा टी प्वाइंट से करीब सौ मीटर दूर पल्लनपुर जाने वाली लिंक रोड पर कुछ युवक होली की पार्टी कर रहे थे। युवक शराब के नशे में थे। इसी बीच किसी पुराने मामले को लेकर उनमें बहस शुरू हो गई। आरोपी सुखबीर ने सतनाम सिंह से पुराने मामले में सॉरी बोलने को कहा। सतनाम ने कहा कि वह पहले ही माफी मांग चुका है, अब क्यों मांगे। इससे गुस्साए सुखबीर और उसके दोस्तों ने डंडों और तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। इसी दौरान सुखबीर ने लाइसेंसी रिवाल्वर से गोलियां चला दीं। 
... और पढ़ें

मोहाली में घिनौनी वारदात : जांच के बहाने डॉक्टर ने महिला को होटल में बुलाया, बेहोशी की दवा देकर किया दुष्कर्म

इलाज के बहाने होटल में बुलाकर एक डॉक्टर ने महिला से दुष्कर्म कर डाला। उसने महिला को जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस ने श्रीगंगानगर के आरोपी डॉक्टर सुभाष राजोरिया के खिलाफ केस दर्जकर लिया है। महिला ने बताया कि करीब 15 दिन पहले उसकी पीठ में चोट लग गई थी। वह अपने रिश्तेदारों से मिलने श्रीगंगानगर गई। 

वहां एक निजी अस्पताल में इलाज कराने के लिए चली गई। वहां कुछ दिन इलाज कराने के बाद वह मोहाली आ गई। इलाज के दौरान उसने डॉक्टर को अपना नंबर लिखवाया था। 25 मार्च को उक्त डॉक्टर ने उसे फोन किया और कहा कि वह किसी काम के सिलसिले में मोहाली आया है। उसने तबीयत के बारे में भी पूछा और चोट की जांच करने के बहाने उसे सेक्टर- 82 होटल में बुला लिया। 

वह अपनी रिपोर्ट लेकर होटल पहुंच गई। रिपोर्ट देखने के बाद डॉक्टर ने दर्द से राहत की बात कहकर एक गोली दी, जिसे खाते ही वह बेहोश हो गई। होश में आई तो वह दुष्कर्म का शिकार हो चुकी थी। इसके बाद डॉक्टर ने उसे धमकी दी कि किसी को इस बारे में बताया तो जान से मार देगा। बाद में महिला ने पुलिस में डॉक्टर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी। 
... और पढ़ें

वेटर ने बच्ची से किया दुष्कर्म, आरोपी की पत्नी बोली- भाग कर की थी शादी, अब मैं कहां जाऊं

पुलिस ने एक दस वर्षीय नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में 30 वर्षीय वेटर को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान सोनू कुमार निवासी उत्तर प्रदेश के रूप में हुई है। वह मौजूदा समय में डेराबस्सी में रहता है।

डेराबस्सी थाना प्रभारी ने बताया कि एक किराए के मकान में दूसरी मंजिल पर सोनू कुमार अपनी पत्नी और दो साल के बच्चे के साथ रहता है। इसी मकान की पहली मंजिल पर रहने वाले एक परिवार की 10 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में सोनू को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि शनिवार को सोनू की पत्नी किसी काम से अपने बच्चे के साथ घर से बाहर गई थी। इसी दौरान सोनू पहली मंजिल पर रह रहे परिवार के घर गया और देखा कि घर पर बच्चे अकेले खेल रहे हैं और उनके माता-पिता काम पर गए हैं। इसके बाद सोनू 10 साल की बच्ची को अपने साथ ऊपर कमरे में लेकर चला गया। यहां पर उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया और उसे नीचे छोड़कर आ गया।

इसके बाद शाम को जब बच्ची के माता-पिता घर आए तो उन्होंने देखा कि बच्ची की तबीयत खराब हो रही है। बच्ची की मां ने जब उससे पूछा तो उसने बताया कि अंकल अपने साथ ऊपर कमरे में लेकर गए थे और उसके साथ गलत काम किया है। इस पर बच्ची की मां ने पुलिस को शिकायत दी।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपी सोनू को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में उसने बताया कि वह शराब के नशे में था और उससे यह गलती हुई है।

पत्नी बोली- घर से भागकर किया प्रेम विवाह, मैं मुसीबत में फंसी
आरोपी की पत्नी ने रोते हुए बताया कि उसने सोनू के साथ यूपी में अपने घर से भागकर परिवार के मना करने के बावजूद प्रेम विवाह किया था। अब उसके घर वाले भी उसे अपने घर वापस नहीं आने देंगे।

सोनू यहां शादी समारोह में वेटर का काम करता है। अब गिरफ्तार होने के बाद वह जेल चला जाएगा और मैं मुसीबत में पड़ जाऊंगी। मुझे अपना और बच्चे का गुजरा करना मुश्किल हो जाएगा।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन