विज्ञापन

मोहाली

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

मोहाली: व्यक्ति ने गोली मारकर की आत्महत्या, फेज 5 में घटना से मचा हड़कंप

मोहाली पुलिस को सफलता: दिल्ली से हेरोइन लाकर पंजाब में बेचने वाली नाइजीरियन महिला काबू, एक किलो हेरोइन बरामद

मोहाली पुलिस ने मोहाली, खरड़ समेत पूरे पंजाब में हेरोइन की सप्लाई करने वाली एक 28 वर्षीय नाइजीरियन महिला को गिरफ्तार किया है। महिला की पहचान फेथ के रूप में हुई है। वह अभी दिल्ली के विकास नगर में रह रही है। एसएसपी नवजोत सिंह माहल ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि बरामद एक किलो हेरोइन की मार्केट वैल्यू लाखों रुपये में है। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है। आरोपी महिला की सप्लाई चेन तोड़ी जा रही है। उम्मीद है कि इस गिरोह के और लोग भी जल्दी ही पकड़े जाएंगे।

पंजाब विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर निर्वाचन आयोग के आदेशों पर पुलिस की टीमें व अफसर नशा तस्करी व पैसे के प्रयोग को रोकने के लिए दिन रात काम कर रही हैं। मोहाली में अब शिफ्टों में नाकेबंदी की जा रही है। सीआईए स्टाफ को सूचना मिली कि एक नाइजीरियन महिला ने फेज-सात के पार्क में बड़ी मात्रा में हेरोइन की सप्लाई करनी है। पुलिस ने वहां पर दबिश देकर महिला को हेरोइन के साथ दबोच लिया। उस पर एनडीपीएस एक्ट की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। 

महिला से पूछताछ में सामने आया कि वह लंबे समय से दिल्ली से पंजाब हेरोइन लाकर सप्लाई कर रही थी। आरोपी महिला ने बताया है कि वह मोहाली और खरड़ एरिया में हेरोइन की सप्लाई करती है। एसएसपी ने बताया कि महिला को गिरफ्तार कर लिया है। अब उससे पूछताछ की जा रही है। इस गिरोह के मुख्य तस्करों को भी पुलिस जल्दी ही काबू करेगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि पिछले एक महीने में पुलिस ने काफी लोगों को हथियारों व नशे के साथ दबोचा है। उन्होंने लोगों से सहयोग की अपील की है।
... और पढ़ें

इश्क में पंगे: दूसरे लड़के के साथ घूम रही थी गर्लफ्रेंड, यह देख बॉयफ्रेंड हुआ आगबबूला, पिस्तौल निकाल फायरिंग की

मोहाली के फेज-7 स्थित स्कूटर मार्केट में सोमवार देर रात एक युवती से फ्रेंडशिप को लेकर युवकों के दो गुटों में कहासुनी इतनी बढ़ी कि एक गुट के युवक ने गुस्से में अपनी पिस्तौल निकाल कर 4-5 हवाई फायर कर दिए। हालांकि इसमें कोई जानी नुकसान की सूचना नहीं है लेकिन पुलिस ने अज्ञात युवकों के खिलाफ शहर का माहौल खराब करने और आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी युवक अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहे हैं और उनकी तलाश में पुलिस की अलग-अलग टीमें छापामारी कर रही हैं। 

पुलिस सूत्रों के मुताबिक यह मामला एक युवती की दो अलग-अलग लड़कों के साथ फ्रेंडशिप से जुड़ा हुआ है। सोमवार को देर रात करीब पौने 11 बजे युवती अपने मौजूदा बॉयफ्रेंड के साथ घूमने आई थी लेकिन इसकी सूचना पाकर युवती का पहला बॉयफ्रेंड भी अपने साथ कुछ युवकों को लेकर वहां आ धमका और युवती से फ्रेंडशिप को लेकर युवकों के दोनों गुटों के बीच जमकर कहासुनी हो गई। 

बहस इतनी बढ़ी कि एक गुट के युवक ने गुस्से में पिस्तौल निकालकर 4-5 हवाई फायर कर दिए। गोलियों की आवाज सुनते ही आसपास के सभी लोग मौका देखकर फरार हो गए। इस मामले की सूचना मिलते ही मटौर पुलिस मौके पर पहुंची और अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया जांच शुरू कर दी है। मटौर पुलिस थाने के प्रभारी एसएचओ नवीनपाल सिंह ने बताया कि शहर के बीचोंबीच हवाई फायरिंग करने के मामले में जांच शुरू कर दी है। आरोपी युवकों की पहचान के लिए घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला जा रहा है।
... और पढ़ें

Mohali: फंदे से लटका मिला बीसीए फर्स्ट ईयर का छात्र, परिजनों ने वार्डन पर लगाया हत्या का आरोप

मोहाली में लांडरा स्थित एक कॉलेज में बीसीए फर्स्ट ईयर में पढ़ने वाले छात्र ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान राज सिंह (19) पुत्र संतोष कुमार निवासी गांव मीयापुर जिला गया (बिहार) के रूप में हुई है। वहीं मृतक के पिता ने बेटे की हत्या की बात कही है। पुलिस ने मृतक के पिता संतोष की शिकायत पर हॉस्टल के वार्डन नवीन के खिलाफ धारा 306 के तहत केस दर्ज कर लिया है। नवीन अभी फरार चल रहा है। मृतक का पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

मृतक के पिता संतोष ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि उनका बेटा राज सिंह लांडरा स्थित कॉलेज में बीसीए फर्स्ट ईयर में पढ़ता था। जब कभी फोन पर बात होती तो अक्सर एक ही बात दोहराता था कि हॉस्टल छोड़कर बाहर रूम लेकर रहना चाहता हूं। काफी बार इसका कारण जानने की कोशिश की तो उसने बताया कि हॉस्टल में खाना अच्छा नहीं मिलता, जिस कारण तबीयत खराब हो रही है। इसे लेकर कॉलेज प्रबंधन के पास शिकायत तक दर्ज करवाई गई, जिसके बाद वार्डन को फटकार तक लगाई गई।

शिकायतकर्ता संतोष का आरोप है कि कालेज प्रबंधन की फटकार से वार्डन नवीन रंजिश रखने लगा और राज को आए दिन किसी न किसी बात को लेकर तंग करने लगा। वार्डन की हरकतों से परेशान होकर राज अक्सर फोन पर जिक्र करता था, जिसे वे मामूली बात समझकर टालते रहे। लेकिन गुरुवार को नवीन ने रंजिश का बदला लेते हुए रूम मेट्स की मदद से राज को फंदे से लटकाकर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद खुद फोन करके इसकी सूचना दी, ताकि उसके ऊपर शक न जाए। नवीन का फोन सुनने के बाद मृतक के परिजन बिहार से मोहाली पहुंचे और लाश की शिनाख्त के बाद पुलिस को शिकायत दी।  
... और पढ़ें
मृतक छात्र और जांच करते पुलिसकर्मी। मृतक छात्र और जांच करते पुलिसकर्मी।

मोहाली में हड़कंप: नाकाबंदी के दौरान कार से मिला हथियारों से भरा बैग... जांच में हुआ बड़ा खुलासा

मोहाली सेक्टर-77 स्थित पंजाब के खुफिया विभाग के मुख्यालय पर हमला किए जाने की वारदात के बाद पुलिस की तरफ से पूरी मुस्तैदी बरती जा रही है। रविवार दोपहर फेज-7 में लगाए पुलिस नाके पर चेकिंग के दौरान एक कार में से विभिन्न तरह की बंदूकों से भरा बैग बरामद किया गया।

हथियारों से भरा बैग मिलने की सूचना पर मटौर थाना के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। इसके बाद बैग, कार और कार में सवार तीनों युवकों को थाने ले जाया गया। इसके बाद हथियारों की जांच और हिरासत में लिए युवकों से पूछताछ के बाद सामने आया कि बैग में मिले सभी हथियार डमी हैं और इनको यूपी में एक पंजाबी फिल्म की शूटिंग के लिए ले जाया जा रहा था।

जांच अधिकारी मटौर थाना प्रभारी नवीन पाल सिंह ने बताया कि रविवार दोपहर मोहाली फेज-7 में वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। अलग-अलग जगह नाके लगाए गए थे। इस दौरान एक पोलो कार को रोककर जब जांच की गई तो उसमें से एक बैग बरामद हुआ। बैग को खोलकर देखा गया तो उसमें से एके-47, सिंगल बैरल और अन्य तरह की बंदूकें थी। हथियारों से भरा बैग मिलते ही बैग, कार और कार में सवार तीनों युवकों को हिरासत में ले लिया गया। इसके साथ ही मामले की सूचना आलाधिकारियों को दी गई।

गहनता से जांच करने पर सभी हथियार डमी पाए गए। कार में सवार तीनों युवकों से पूछताछ की गई तो पता चला कि यह डमी हथियार यूपी में चल रही एक पंजाबी फिल्म की शूटिंग में इस्तेमाल करने के लिए लेकर जा रहे थे। तीनों युवकों में से एक युवक यह डमी हथियार किराए पर देने का काम, एक युवक शूटिंग का सेटअप लगाने का काम व एक शूटिंग से संबंधित अन्य काम करता है।  
... और पढ़ें

जीरकपुर पुलिस को सफलता: पत्रकार आलोक वर्मा पर हमले का एक आरोपी गिरफ्तार, हमले में इस्तेमाल एक्टिवा बरामद

बीते दिनों अमर उजाला के वरिष्ठ पत्रकार आलोक वर्मा को दो लोगों ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। अब इस मामले में जीरकपुर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने एक हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है।

डीएसपी जीरकपुर डॉ. नवनीत सिंह महल ने बताया कि चार मई को पत्रकार आलोक वर्मा निवासी हाउस नंबर 02 अमोलक एन्क्लेव जीरकपुर ने जीरकपुर थाने में जानकारी दी थी कि वह मंगलवार रात करीब 2.40 बजे ड्यूटी से घर जा रहे थे। जब वह गंगा नर्सरी के पास पहुंचे तो एक एक्टिवा पर सवार दो युवक उनके पीछे आ गए, उन्हें घेर लिया, मारपीट की और लगभग 1000 रुपये और अन्य दस्तावेजों से युक्त उनका पर्स और मोबाइल लेकर फरार हो गए।  

आलोक वर्मा के बयान पर तुरंत मामला दर्ज कर लिया गया था। उन्होंने कहा कि एसएसपी मोहाली विवेकशील सोनी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी (ग्रामीण) मनप्रीत सिंह और डीएसपी सब डिवीजन जीरकपुर एसएचओ जीरकपुर इंस्पेक्टर ओंकार सिंह बराड़ और एएसआई निर्मल सिंह के मार्गदर्शन में तत्काल आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए। जांच व आधुनिक तरीके से टीम ने कुछ ही दिनों में आरोपी का पता लगा लिया। दो आरोपियों में से पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जिसकी पहचान गगन पुत्र सतीश गर्ग हाउस नंबर 12 शटरिंग मार्केट के पास गुरुद्वारा बोहली साहिब ढकौली के रूप में हुई है।

आरोपी को न्यायालय में पेश कर तीन दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है। आरोपी से हमले में इस्तेमाल की गई एक्टिवा और 350 रुपये बरामद किए गए हैं। गिरफ्तार आरोपी ने अपने दूसरे साथी की पहचान बता दी है, उसे भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। डीएसपी ने बताया कि गगन गर्ग के खिलाफ ढकौली थाने में पहले भी मामला दर्ज किया जा चुका है। वह अब जमानत पर जेल से बाहर था।  

 
... और पढ़ें

पंजाब: पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर हुए हमले ने उड़ाई सुरक्षा एजेंसियों की नींद, ट्राइसिटी में चप्पे-चप्पे पर नजर

मोहाली के सेक्टर-77 स्थित पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर हुए हमले ने सेना से लेकर अन्य सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ाकर रख दी है। इसका कारण है कि घटना स्थल से मात्र सात किलोमीटर की दूरी में बीएसएफ का मुख्यालय से लेकर बुड़ैल सेंट्रल जेल व एनआईए का दफ्तर है। इसके अलावा बीच में एसएसपी दफ्तर, कई नामी अस्पताल व पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड भी स्थित हैं। ऐसे में इस हमले को गंभीरता से लिया जा रहा है। 

माना जा रहा है कि आरोपियों ने इस इलाके में रेकी की थी। हमले के बाद वे आसानी से वहां से निकल गए। सुरक्षा एजेंसियों द्वारा हर तथ्य की पड़ताल की जा रही है। इतना ही नहीं पुलिस ने कमांडो दस्ते भी तैनात कर दिए हैं। जानकारी के मुताबिक पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय की लोकेशन बिल्कुल रिहायशी एरिया से सटी हुई है।

आम आदमी का वहां तक पहुंचना आसान भी नहीं है क्योंकि पूरे इलाके में उक्त दफ्तर के कोई गाइड मैप से लेकर अन्य कोई चीज नहीं लगी हुई है। ऐसे में यह सवाल सुरक्षा अधिकारियों को भी खड़क रहा है। दूसरी तरफ मंगलवार सुबह मुख्यालय को जाने वाली सड़क को जनता के लिए बंद कर दिया गया।

पहले पंजाब पुलिस इसके बाद अन्य सुरक्षा एजेंसियां इसकी पड़ताल में जुटीं। फिर सेना, आईबी व एनआईए की टीमों ने पूरे इलाके की जांच की। इस दौरान डीजीपी ने पंजाब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से इस मामले को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की है। हमले के बाद एयरफोर्स स्टेशन और एयरपोर्ट की सुरक्षा भी बढ़ाई गई है।

सुबह पांच बजे सारी इमारतें की चेक
हमले के बाद पुलिस ने जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स के अलावा सारी इमारतों को भी चेक किया है। पुलिस ने अपनी तसल्ली की है कि कहीं पर कोई हमला तो नहीं हुआ है। सारी इमारतों की वीडियो बनाया गया है। साथ ही सुरक्षाकर्मियों को कहा गया है कि हर चीज पर नजर रखी जाए। अगर कोई संदिग्ध लगता है तो उसके बारे में तुरंत उच्चाधिकारियों को सूचित किया जाए।

पुलिस थानों के बाहर दोबारा फिर बंकर बनाए
पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले के बाद पंजाब के सभी थानों के बाहर बंकर बनाए गए थे लेकिन बाद में यह सारे खत्म हो गए थे। सोमवार रात हुए हमले के बाद पुलिस नेसभी थानों में नए सिरे से बंकर बना दिए हैं। इसके अलावा इलाकों में लगे कैमरे सही करवाए जा रहे हैं ताकि किसी भी अप्रिय घटना से आसानी से निपटा जा सके।

जेल से छूटे लोगों की हुई चेकिंग, बॉर्डर क्षेत्र में भी सख्ती
चंडीगढ़। मोहाली में पंजाब के खुफिया मुख्यालय पर चलती कार से रॉकेट चलित ग्रेनेड दागने के बाद चंडीगढ़ में भी अलर्ट जारी हो गया है। पुलिस ने मंगलवार को जेल से छूटे लोगों की जानकारी ली और उन्हें चिह्नित करके पूरी रिपोर्ट तैयार की। वहीं सीमाओं पर भी अन्य दिनों के मुकाबले सख्ती बढ़ा दी गई है। रात में भी चेकिंग के लिए पुलिस नाका लगाया। बम स्क्वायड टीम ने रेलवे स्टेशन पर चेकिंग की।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पंजाब में अलर्ट जारी हो गया है। बुड़ैल जेल में आतंकवादी बंद हैं। ऐसे में सुरक्षा के लिहाज से हाल ही में जेल से छूटे कैदियों के बारे में पूरी जानकारी ली गई है। भीड़भाड़ वाले क्षेत्र जैसे बस स्टैंड, एलांते मॉल, सेक्टर-19 सदर मार्केट और रेलवे स्टेशन पर बम स्क्वायड टीम ने बम डिटेक्टर और डॉग के साथ छानबीन की। 
 
इस दौरान कुछ संदिग्ध लोगों से पूछताछ की साथ ही लावारिस और संदिग्ध बैग की जांच की। टीम ने लोगों से अपील की कि संदिग्ध वस्तु नजर आने पर तुरंत सूचना दें। इसके बाद टीम ने बाहर आकर रेलवे स्टेशन के आसपास खड़े वाहनों की भी चेकिंग की।
... और पढ़ें

मोहाली ब्लास्ट: आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा से जुड़े हमले के तार, पाकिस्तान में बैठकर चला रहा नेटवर्क

खुफिया मुख्यालय के बाहर तैनात पुलिस।
पंजाब के मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग मुख्यालय पर हुए हमले के तार पड़ोसी देश पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा से जुड़ रहे हैं। पुलिस को जांच में इस संबंध में कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। हालांकि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं लेकिन सूत्रों की माने तो रिंदा वहां से बैठकर ही अपना नेटवर्क चला रहा है। इससे पहले भी पंजाब में कई जगह हुए हमलों में उसकी भूमिका सामने आ चुकी है।

सूत्रों की मानें तो आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा के इशारे पर ही हमला हुआ था। शुरुआती सूचना के मुताबिक पंजाब पुलिस और खुफिया एजेंसियों को इस बात के पुख्ता प्रमाण मिले हैं कि रिंदा ने अपने दो स्थानीय हैंडलरों का इस्तेमाल किया। उसका मुख्य उदेश्य राज्य में अशांति फैलाना है। हरविंदर सिंह रिंदा वही आतंकी है जिसके इशारे पर पाकिस्तान से ड्रोन के माध्यम से पंजाब में हथियारों की सप्लाई हुई थी।

ये हथियार पंजाब-हरियाणा के रास्ते देश के अलग-अलग इलाकों के लिए रवाना हुए थे लेकिन इन्हें रास्ते में ही करनाल पुलिस ने रोक लिया था। याद रहे कि रिंदा ए क्लास के गैंगस्टरों में शुमार था। उस पर पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, पश्चिम बंगाल में भी केस दर्ज है। काफी समय से पुलिस को उसकी तलाश है लेकिन अभी तक उसका सुराग नहीं लग पाया है।

मोहाली में ऐसा यह पहला मामला

मोहाली जिले में यह इस तरह का पहला मामला है। किसी को विश्वास नहीं हो रहा है कि इलाके में ऐसी भी घटना हो सकती है। हालांकि अब ट्राइसिटी की पुलिस को नए सिरे से सुरक्षा को लेकर रणनीति पर काम करना होगा। उन संदिग्ध स्थानों की पड़ताल करनी होगी। इसके अलावा इलाके के एंट्री व एग्जिट प्वाइंटों की सुरक्षा मजबूत करनी होगी।
... और पढ़ें

मोहाली: आम आदमी पार्टी के नेता पर दुष्कर्म का मामला दर्ज, युवती ने हेल्पलाइन नंबर पर दी थी शिकायत

नयागांव के रहने वाले आम आदमी पार्टी के नेता एवं नगर काउंसिल नयागांव के पूर्व उप प्रधान पर शुक्रवार देर रात दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपी के कई ठिकानों पर छापेमारी की है। लेकिन आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। आरोपी की पहचान कृष्ण यादव निवासी नयागांव के रूप में हुई है। आरोपी विधानसभा चुनाव से पहले आप में शामिल हुआ था।

जानकारी के अनुसार इलाके की रहने वाली 25 वर्षीय एक महिला ने शुक्रवार शाम पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 पर फोन कर घटना सम्बन्धी जानकारी दी थी। इसके पश्चात स्थानीय पुलिस की तरफ से कार्रवाई करते हुए महिला सब इंस्पेक्टर गगनदीप कौर ने पीड़ित से फोन पर बात की। पीड़ित को बयान दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने बुलाया गया। 

सब इंस्पेक्टर गगनदीप कौर ने मामले में पीड़िता के बयान दर्ज कर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज किया। देर रात ही पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए खरड़ अस्पताल ले जाया गया था। वहीं पीड़िता की छोटी बहन ने प्रशासन से इंसाफ की गुहार लगाते हुए कहा है कि आरोपी अपने राजनीतिक रसूख एवं पैसे के बल पर समझौते का दबाव बना रहा है और तरह-तरह की धमकियां दिलवा रहा है। जिस कारण हमारे परिवार को खतरा है।

वहीं मामला हाई प्रोफाइल होने के कारण पुलिस मामले में बारीकी से जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि पीड़िता की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए नगर काउंसिल नयागांव के पूर्व उपप्रधान के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें बना दी गई हैं। पुलिस आरोपी के सभी ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं। लेकिन आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। 
... और पढ़ें

मोहाली: पीसीआर की चौकसी से मंसूबों पर फिरा पानी, 24 घंटे में सुलझी लूट की कहानी

मोहाली के फेज-पांच स्थित विशाल मेगा मार्ट मार्केट में रविवार रात परिवार के साथ खाना खाने आए रोपड़ निवासी सिलिंडर कारोबारी हरविंदर सिंह को गोली मारकर आई-20 कार, लाखों की नकदी और जेवरात लूटने के मामले को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया है। पीसीआर की ईको पार्टी पांच ने वारदात को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल हथियार, लूटी हुई कार, नकदी और गहनों को बरामद कर लिया है। एसएसपी विवेकशील सोनी ने सोमवार को प्रेसवार्ता कर वारदात का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि पूछताछ में कई अन्य वारदातों के सुलझने की उम्मीद है।

उन्होंने बताया कि आरोपी हरदेव सिंह मूलरूप से सेक्टर-30 चंडीगढ़, जबकि दूसरा आरोपी रोहित कुमार बिहार का रहने वाला है। वर्तमान में दोनों आरोपी शाहीमाजरा में पीजी में रहते थे। एसएपसी ने बताया कि आरोपियों ने रविवार रात में कार और नकदी लूटने की नीयत से सिलिंडर कारोबारी हरविंदर सिंह पर फायरिंग की थी। आरोपियों ने उस पर चार गोलियां मारी थीं। वारदात के दौरान आरोपी हरदेव सिंह भी गोली लगने से घायल हो गया था लेकिन वारदात के बाद वह कार चलाकर भाग निकला था। 

वारदात के बाद पीसीआर को किया अलर्ट
एसएसपी ने बताया कि सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से भी साफ हो गया था कि वारदात में दो ही लोग शामिल हैं और एक गोली लगने से घायल हो गया है। वारदात के बाद उन्होंने पीसीआर पार्टी और ट्राइसिटी के सभी अस्पतालों को अलर्ट किया। पीसीआर पार्टी ईको पांच ने कार ट्रेस कर ली। पीसीआर टीम में शामिल एएसआई हरीश कुमार, हेड कांस्टेबल रूपिंदर कुमार ने वारदात को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई। 
... और पढ़ें

मोहाली: रिश्वत मांगने के आरोप में आईटीआई का प्रिंसिपल गिरफ्तार, भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन पर की गई थी शिकायत

मोहाली के फेज-5 स्थित आईटीआई के प्रिंसिपल को विजिलेंस विभाग ने 50 हजार रुपये रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा जारी भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन नंबर पर की गई थी। इसके बाद विजिलेंस विभाग ने कार्रवाई को अंजाम देते हुए प्रिंसिपल को गिरफ्तार करके केस दर्ज कर लिया। पकड़े गए आरोपी की पहचान शमशेर सिंह पुरखालवी के रूप में हुई है। मामले की पुष्टि विजिलेंस विभाग के डीएसपी हरविंदरपाल सिंह ने की है।

श्री फतेहगढ़ साहिब के रहने वाले हरदीप सिंह ने भ्रष्टाचार मुहिम को लेकर जारी नंबर पर वीडियो जारी करते हुए बताया कि 2020 में फेज-5 स्थित सरकारी औद्योगिक सिखलाई संस्था में कांट्रेक्ट पर इलेक्ट्रॉनिक्स मैकेनिक ट्रेड में डीएसटी स्कीम के तहत इंस्ट्रक्टर लगने के लिए आवेदन किया था। इसे लेकर प्रिंसिपल शमशेर सिंह पुरखालवी के पास साक्षात्कार दिया। 

नौकरी को लेकर सारी शर्तें और असल दस्तावेज को वेरिफाई तक किया गया। इसके बाद जब भर्ती प्रक्रिया का काम पूरा हुआ तो आरोपी ने नौकरी पर रखने के लिए 50 हजार रुपये रिश्वत मांगी। इस दौरान हरदीप रिश्वत की रकम नहीं दे पाया और इस कारण उसे नौकरी से वंचित होना पड़ा। दूसरी ओर पंजाब में जैसे ही आम आदमी पार्टी की सरकार सत्ता पर आई तो हरदीप ने इसका वीडियो हेल्पलाइन नंबर पर भेजकर शिकायत की।
... और पढ़ें

मोहाली में वारदात: परिवार संग खाना खाने आए व्यक्ति को तीन गोली मारी, कार लूट कर हमलावर भागे

मोहाली के फेज-पांच मार्केट में परिवार के साथ खाना खाने आए एक व्यक्ति को गोली मारकर तीन लोग उसकी आई-20 कार लूट कर फरार हो गए। आरोपियों ने छह राउंड फायरिंग की, जिसमें व्यक्ति के सीने में तीन गोलियां लगी हैं। हालात नाजुक होने के कारण उसे चीमा अस्पताल से पीजीआई रेफर कर दिया गया है। घायल व्यक्ति की पहचान हरविंदर सिंह निवासी रोपड़ के रूप में हुई है। 

फायरिंग में एक अन्य व्यक्ति के घायल होने की सूचना है लेकिन वह कहां भर्ती है यह देर रात तक साफ नहीं हो पाया है। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर एसएसपी विवेकशील सोनी और कई थाने की पुलिस पहुंची और सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में लेकर जांच शुरू की। पुलिस ने घटना के कुछ ही देर बाद लूटी गई आई-20 कार शाहीमाजरा से बरामद कर ली। पुलिस का दावा है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।   

घटना फेज-पांच विशाल मेगा मार्ट वाले मार्केट ब्लॉक की है। हरविंदर सिंह पत्नी और बच्चों के साथ खाना खाने बार्बी क्यू नेशन में आया था। उसका परिवार बार्बी क्यू नेशन में बैठा था। इसी बीच वह फोन पर बात करते हुए पार्किंग में पहुंच गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, पार्किंग में तीन लोग झगड़ रहे थे। इसी बीच करीब छह राउंड फायरिंग हुई।

तीन गोली हरविंदर सिंह के सीने में लगी। वह खून से लथपथ होकर गिर गया और मदद के लिए चिल्लाने लगा। आरोपी उसकी आई-20 में बैठकर फरार हो गए। मौके पर पहुंचे एसएसपी विवेकशील सोनी ने बताया कि लूटी गई कार शाहीमाजरा से बरामद हो गई है। आरोपी कार को सड़क किनारे छोड़ गए थे। पुलिस लूट समेत कई एंगल पर जांच कर रही है।

रेहड़ी पर रखकर व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाया
घायल हरविंदर सिंह मार्केट अस्पताल कैसे पहुंचाया जाए लोगों को समझ में नहीं आ रहा था। इसी बीच वहां पर मौजूद कुछ लोग कूड़े वाली रेहड़ी में रखकर उसे फेज-चार स्थित चीमा अस्पताल ले गए लेकिन खून ज्यादा बह जाने कारण उसे पीजीआई रेफर कर दिया। 

एक घायल को हमला करने वाले भी लेकर गए
पुलिस को एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि वह मार्केट में खाना लेने के लिए खड़ा था। इसी दौरान पटाखे चलने जैसी आवाजें आनी लगीं। उन्हें लगा कि नवरात्र के चलते शायद लोग पटाखे चला रहे हैं लेकिन जब वहां पर व्यक्ति के चिल्लाने की आवाज सुनी। उन्होंने बताया कि कार के पीछे कुछ लोग खड़े थे। एक व्यक्ति नीचे गिरा था। जिसे लोग कार में डालकर ले गए। 
... और पढ़ें

मोहाली: गैंगस्टर जयपाल भुल्लर का करीबी साथी हथियारों समेत काबू, आरोपी के नाम पर भुल्लर ने बनाई थी प्रॉपर्टी

मोहाली जिला पुलिस ने कोलकाता में गत वर्ष मुठभेड़ में मारे गए कुख्यात गैंगस्टर जयपाल भुल्लर व जस्सी खरड़ के एक साथी हरबीर सिंह सोहल निवासी अमृतसर को हथियारों समेत गिरफ्तार किया है। वह गैंगस्टर होने के साथ ही सिंगर और गीतकार है, जबकि इसका एक साथी अमृतपाल सिंह सत्ता निवासी गांव वजीदपुर थाना बस्सी पठाना जिला फतेहगढ़ साहिब फरार होने में कामयाब हो गया। 

एसएसपी विवेकशील सोनी ने शुक्रवार को अपने ऑफिस में प्रेस कांफ्रेंस में इसका खुलासा किया। उन्होंने बताया कि जगरांव में कुछ समय पहले पुलिस मुलाजिमों की हत्या में भी हरबीर सिंह सोहल की अहम भूमिका थी। हरबीर सिंह व उसके रिश्तेदारों के नाम पर ही जयपाल भुल्लर ने खन्ना में अपनी प्रॉपर्टी बनाई हुई है। खरड़ थाने में उक्त दोनें के अलावा कनाडा में बैठे गैंगस्टर अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डल्ला व ऑस्ट्रेलिया में रह रहे गैंगस्टर गुरजंट सिंह जंटा पर भी जबरदस्ती वसूली व ऑर्म्स एक्ट समेत कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

जिला पुलिस की जांच में सामने आया था कि गैंगस्टर हरबीर सिंह सोहल गैंस्टर जयपाल भुल्लर का फाइनेंस का सारा काम देखता थ। साथ ही उसने खरड़ के नजदीक अपना ठिकाना बनाया हुआ है। जहां पर वह साथियों के साथ रह रहा है। इसके बाद पुलिस ने मिले अहम इनपुट के आधार पर गुरुवार देर शाम एक आपरेशन चलाया। इस दौरान हरबीर सिंह को भागोमाजरा के एक खाली फ्लैट से गिरफ्तार किया गया। जबकि इसका दूसरा साथी पकड़ में नहीं आया। इस दौरान आरोपी से चीन निर्मित तीस बोर के दो पिस्तौल, तीन मैगजीन, चार नौ एमएम पिस्तौल के मैगजीन व पचास कारतूस शामिल हैं। पुलिस जांच में सामने आया है कि जयपाल भुल्लर की हत्या में वह भूमिगत चल रहा था। पुलिस को काफी समय से उसकी तलाश थी। उसके पकड़े जाने से कई अन्य वारदात सुलझने भी उम्मीद जगी है।

कनाडा व ऑस्ट्रेलिया में बैठे गैंगस्टरों के संपर्क में थे

एसएसपी ने बताया कि हरबीर सिंह सोहल अपने कनाडा में बैठे साथी अर्शदीप सिंह और ऑस्ट्रेलिया में रह रहे गैंगस्टर गुरजंट सिंह जंटा के संपर्क में थे। वह उनसे इंटरनेट कॉलिग करता था। वहां से वह इंटरनेट कॉल कर कारोबारियों से फिरौती मांगने व अन्य काम करते थे। वह इस काम में इनपुट का काम करता था। पुलिस ने केस दर्ज कर अपनी पड़ताल शुरू कर दी।

अभी तक इनको टारगेट नहीं मिले थे

पुलिस के मुताबिक अभी तक की पूछताछ में सामने आया है कि अभी तक उक्त लोगों को टारगेट नहीं मिले थे। हालांकि हथियार इनके पास पहुंच गए थे। जैसे ही इनको टारगेट मिलने थे। इसके बाद उनकी तरफ से वारदात को अंजाम दिया जाना था। हालांकि अभी तक पकड़े गए गैंगस्टरों से इनका कोई संबंध साफ नहीं हो पाया है। हालांकि जहां तक अकाली नेता विक्रम सिंह मिंडूखेहड़ा की हत्या का मामला है, तो उसके कुछ आरोपी पुलिस ने दिल्ली में पकड़े हैं। एसएसपी विवेकशील सोनी ने कहा कि जल्दी ही उन्हें रिमांड पर लाया जाएगा।

सारी अवैध प्रॉपर्टी करवाएंगे जब्त

एसएसपी ने बताया कि जांच में जो भी प्रॉपर्टी आरोपियों से जुड़ी निकलेगी। इसकी जांच करवाई जाएगी। साथ ही तो भी अवैध प्रॉपर्टी निकलेगी, उस प्रॉपर्टी को जब्त करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस अब जांच में जुटी हुई है। जल्दी ही कई अहम खुलासे होने के आसार है।

किराएदारों की वेरीफिकेशन जरूर करवाए

एसएसपी ने कहा कि देखने में आया है कि ज्यादातर गैंगस्टर रिहायशी सोसाइटियों में रह रहे हैं। ऐसे में इन लोगों के ऊपर से पर्दा उठाने के लिए किराएदारों की वेरीफिकेशन जरूर करवाएं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय वेरीफिकेशन की प्रक्रिया को सरल बनाया जाएगा। इस संबंधी पुलिस जल्दी कुछ नए तरीकों पर काम करेगी। इससे लोगों का फायदा होगा।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00