विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

एक आईएएस अफसर, जो मोटे इंसान को कर देते हैं पतला और कहते हैं- डॉक्टरी मेरा पहला प्यार

एक साधारण परिवार से संबंध रखने वाले चंडीगढ़ के ट्रांसपोर्ट सेक्रेटरी डॉ. अजय कुमार सिंगला ने डॉक्टर की पढ़ाई करने के बाद सिविल सेवा को ज्वाइन किया।

20 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चंडीगढ़

शनिवार, 25 जनवरी 2020

खेलो इंडिया में वंशिका का स्वर्ण पर निशाना

चंडीगढ़। मेहर चंद महाजन डीएवी कॉलेज फॉर वुमन की फिजिकल एजुकेशन विभाग की छात्रा वंशिका शाही ने खेलो इंडिया प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया। इसके साथ ही उसने गुवाहाटी में आयोजित 50 मीटर राइफल शूटिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण हासिल किया।
वंशिका ने हाल ही में भोपाल में आयोजित वरिष्ठ राष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता एवं खेलो इंडिया योजना के तहत पांच लाख रुपये की छात्रवृत्ति हासिल की। उसने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता, शिक्षकों और मेंटर को दिया। कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. निशा भार्गव ने उसकी उपलब्धि के लिए उसे बधाई दी। उन्होंने कहा कि कॉलेज छात्राओं को न केवल उनकी प्रतिभा को पहचानने व निखारने के लिए एक सक्षम वातावरण प्रदान करता है, बल्कि अपने चुने हुए क्षेत्र में पूर्णता के लिए अपनी क्षमता का संपूर्ण उपयोग करने के लिए भी प्रोत्साहित करता है।
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ को हरा फाइनल में पहुंची महिला क्रिकेट चंडीगढ़ की टीम

चंडीगढ़। चंडीगढ़ महिला क्रिकेट टीम छत्तीसगढ़ को हराकर फाइनल में पहुंच गई है। भिलाई में चल रहे सीनियर वुमन क्रिकेट टूर्नामेंट में शुक्रवार को सेमीफाइनल मुकाबला खेला गया। चंडीगढ़ ने छत्तीसगढ़ को 7 रन से हराकर फाइनल में जगह बनाई।
टॉस जीतकर चंडीगढ़ महिला क्रिकेट टीम ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 105 रन बनाए। पलक राणा ने 61 और एकनूर ने 19 रन की पारी ख्ेाली। गेंदबाजी में छत्तीसगढ़ से हेमा साहू ने 19 रन देकर 3 विकेट, नीतू ने 11 रन देकर 2 विकेट चटकाए।
लक्ष्य का पीछा करने उतरी छत्तीसगढ़ महिला टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 98 रन बनाए। सबसे अधिक रन देवी ने बनाए। उन्हाेंने 39 गेंद पर 46 रन बनाए। जयश्री ने 19 रन बनाए। गेंदबाजी में चंडीगढ़ टीम से आराधना ने 14 रन देकर 4 विकेट और अनीता ने 22 रन देकर 2 विकेट चटकाए। मैच में चार विकेट चटकाने वाली आराधना को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।
... और पढ़ें

सालों से किराया नहीं भरने वालों पर सीएचबी की कार्रवाई

चंडीगढ़। चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड (सीएचबी) अब कई साल से किराया जमा नहीं कराने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है। हाउसिंग बोर्ड ने सेक्टर-38 वेस्ट, 39 और 56 में आंबेडकर आवास योजना के तहत मिले मकानों में रहने वाले लोगों की लिस्ट सार्वजनिक की है, जिन्होंने कई साल से किराया जमा नहीं कराया है।
सेक्टर-38 वेस्ट, 39 और 56 में रहने वाले सैकड़ों लोगों पर करीब 3 लाख रुपये तक का किराया बकाया है। बोर्ड ने स्मॉल फ्लैट्स स्कीम के बाद उन 248 अलॉटियों की लिस्ट जारी की है, जिन्हें आंबेडकर आवास योजना के तहत फ्लैट्स की अलॉटमेंट की गई थी। इन सभी अलॉटियों से कुल एक करोड़ रुपये से ऊपर की बकाया राशि बनती है। इन सभी अलॉटियों को बोर्ड ने नोटिस भी जारी कर दिए हैं। वहीं, अगर स्मॉल फ्लैट्स स्कीम की बात जाए तो बोर्ड ने अभी डिफाल्टरों से 20 करोड़ रुपये की बकाया राशि वसूलनी है। किराया नहीं जमा कराने वाले सबसे ज्यादा धनास, विकास नगर, रामदरबार आदि के लोग हैं। चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड अब इनके खिलाफ कार्रवाई भी कर रहा है। ऐसे कई लोगों के मकान भी रद्द किए गए हैं।
बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि उन्होंने सभी स्कीमों के तहत मिले फ्लैट्स के उन अलॉटियों के खिलाफ कार्रवाई करनी शुरू कर दी है, जो नियमित रूप से अपना किराया जमा नहीं करवाते हैं। आंबेडकर आवास योजना के तहत मिले मकानों के भी ऐसे ही अलॉटियों की लिस्ट जारी की गई है, जो नियमित रूप से अपना किराया जमा नहीं करवा रहे हैं। इन अलॉटियों को पहले कुछ दिन का समय दिया जाएगा। अगर इसके बाद भी ये किराया जमा नहीं करवाते हैं तो बोर्ड द्वारा कार्रवाई करनी शुरू कर दी जाएगी।
... और पढ़ें

'मिस इंडिया' बोलीं- मैंने मां को देखकर दिया था खुद को चैलेंज, निजी जिंदगी पर खुलकर बोलीं

सुमन राव सुमन राव

राहतः पीजीआई चंडीगढ़ की इमरजेंसी में अब नहीं देना पड़ेगा सीटी स्कैन शुल्क, एक शर्त होगी

पीजीआई चंडीगढ़ प्रशासन ने इमरजेंसी में दाखिल मरीजों के सीटी स्कैन को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है, जिससे कईयों को बड़ी राहत मिलेगी। दाखिल मरीज से पहले 24 घंटे के दौरान कराए सीटी स्कैन का कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा। पीजीआई ने इस शुल्क को माफ करने का निर्णय लिया है।

यह फैसला इसलिए लिया गया है, ताकि इमरजेंसी में इलाज के दौरान मरीज को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। इस फैसले से पहले मरीज को 300 रुपये देने पड़ते थे और लंबी लाइन में भी खड़ा होना पड़ता था। सीटी स्कैन एक प्रकार का डायग्नोस्टिक टेस्ट है, जो शरीर की आंतरिक संरचनाओं का विश्लेषण करने के लिए किया जाता है।

इससे सिर या रीढ़ की स्थिति की पहचान करने में मदद कर मिलती है। हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि कंट्रास्ट सीटी स्कैन में रोगियों को इसमें उपयोग आने वाली सामग्री का भुगतान करना पड़ेगा। कंट्रास्ट सीटी स्कैन के मैटेरियल खरीदने में 300 से 800 रुपये देना होगा।

पीजीआई डायरेक्टर प्रो. जगतराम का कहना है कि मरीजों को इलाज के दौरान परेशानी से मुक्त करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। यह बहुत ही सकारात्मक कदम है, जो आपातकालीन रोगियों के लिए फायदेमंद साबित होगा। इससे पहले एक्सरे और अल्ट्रासाउंड भी मुफ्त होते रहे हैं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsChandigarh/ ... और पढ़ें

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने शिक्षण संस्थानों को लेकर स्पष्ट की स्थिति, ये हैं नियम

कोचिंग सेंटर के खिलाफ उपभोक्ता फोरम में कोई भी व्यक्ति केस दायर कर सकता है। स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी के खिलाफ नहीं। चंडीगढ़ में आयोजित राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग की फुल बेंच ने शिक्षण संस्थानों को लेकर स्थिति साफ की है। आयोग ने कहा है कि विद्यार्थी उपभोक्ता नहीं होते हैं।

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग की सर्किट बेंच इन दिनों सेक्टर-19 स्थित कंज्यूमर कोर्ट में चल रही है। राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग ने करीब 25 शिक्षण संस्थानों से संबंधित याचिकाओं का निपटारा कर दिया है। आयोग ने कहा है कि कोचिंग सेंटर स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी की तरह नहीं होते हैं, क्योंकि स्कूल और कॉलेज एक रेगुलेटरी अथॉरिटी की तरफ से रेगुलेट किए जाते हैं।

इसके साथ ही वह नियम और कानूनों के तहत परीक्षा में बैठने और पास होने वाले छात्रों को डिग्री व डिप्लोमा भी प्रदान करते हैं, जबकि कोचिंग सेंटर लाभ कमाने के उद्देश्य से चलाए जाते हैं। वह अपनी सुविधा के अनुसार अन्य जगहों पर भी सेंटर को स्थापित करते हैं।
... और पढ़ें

चंडीगढ़ में शुरू होगा पब्लिक बाइक शेयरिंग प्रोजेक्ट, स्मार्ट कार्ड से मिलेगी साइकिल, फीस तय

आखिरकार दो साल बाद चंडीगढ़ में पब्लिक बाइक शेयरिंग प्रोजेक्ट के शुरू होने की उम्मीद जाग गई है। टेक्निकल बिड में पास होने के बाद वीरवार को फाइनेंशियल बिड में भी दिल्ली की स्मार्ट बाइक लिमिटेड कंपनी ने बाजी मार ली। 27 जनवरी को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की बैठक के बाद फरवरी माह के पहले सप्ताह में काम का टेंडर दे दिया जाएगा। स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को उम्मीद है कि मई माह में कंपनी एक जोन में पब्लिक बाइक शेयरिंग की सुविधा शुरू कर देगी।

स्मार्ट सिटी योजना के तहत दो साल से शहर में पब्लिक बाइक शेयरिंग योजना के लिए कवायद चल रही थी। कई बार टेंडर के बावजूद कोई कंपनी नहीं आ रही थी। इससे शहर योजना में पिछड़ता जा रहा था। आखिरकार दिसंबर माह में टेंडर करने के बाद तीन कंपनियों ने आवेदन किया। इसमें दो कंपनियों को टेक्निकल बिड के लिए चुना गया। एक दिल्ली की स्मार्ट बाइक लिमिटेड और दूसरी यूटीयू मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी थी। बीते मंगलवार को दोनों कंपनियों टेक्निकल बिड में पास हो गईं।

उसके बाद वीरवार को जब फाइनेंशियल बिड खोली गई तो उसमें स्मार्ट बाइक लिमिटेड ने स्मार्ट सिटी को सालाना 12 लाख रुपये व यूटीयू मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने सालाना 6 लाख 10 हजार रुपये देने का आवेदन किया। अब 27 जनवरी को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की बैठक है। बैठक में ज्यादा फंड देने वाली कंपनी पर मुहर लग जाएगी। वहीं फरवरी के पहले सप्ताह में कंपनी को काम के लिए अलॉटमेंट लेटर भी दे दिया जाएगा। अधिकारियों का मानना है कि मई से एक जोन में काम शुरू हो जाएगा।
... और पढ़ें

कॉलेज प्रोफेसर बनने का सुनहरा मौका, 2592 पदों पर होनी है भर्ती, मौका छूट न जाए कहीं

फाइल फोटो

हरियाणाः सीएम ने आलाकमान की मंजूरी के बाद बदला सीआईडी विभाग और खत्म हो गई खींचतान

हरियाणा में लंबे समय से चल रही सीआईडी की खींचतान पार्टी आलाकमान के हस्तक्षेप के बाद थम गई है। बुधवार रातोंरात सीएमओ के अफसरों ने राज्यपाल के हस्ताक्षर करवा सीआईडी का महकमा मुख्यमंत्री मनेाहर लाल के खाते में डाल दिया है। यही नहीं मनोहर लाल ने बुधवार को ही दिल्ली में आलाकमान को इस बाबत सूचित भी कर दिया है।

आलाकमान के हस्तक्षेप के बाद सीआईडी लेने से पहले विज के महकमों में बैलेंस बनाने का काम किया गया। उसी के तहत वी उमाशंकर का तबादला किया गया। एनएचएम में निदेशक लगाया गया और डाक्टर भर्ती शुरू करने पर सहमति जताई गई। शाम के समय सीआईडी एसपी राजेश कालिया ने विज के कमरे में जाकर अनिल विज को सीआईडी से संबंधित ब्रीफिंग की।

यह भी पढ़ें: सीएम मनोहर लाल और दो मंत्रियों को मिले नए विभाग, गृह मंत्री अनिल विज से छिना सीआईडी

अनिल विज अब इस पूरे मामले में ठंडे पड़ गए हैं। उन्होंने कहा है कि सीआईडी की ब्रीफिंग उन्हें शुरू हो गई। जो कि उनके लिए आवश्यक थी। चूंकि मैं गृह मंत्री हूं, इसलिए सीआईडी की ब्रीफिंग मेरे लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि मैने शुरू से कहा है कि सीएम सुप्रीम हैं। मेरा सीएम से कोई विरोध नहीं। वे जब चाहें महकमा ले या दे सकते हैं। मेरा विरोध सिर्फ अफसरों के लिए था। अब ब्रीफिंग शुरू हो गई है तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है। ... और पढ़ें

तैयारीः 29 एचसीएस की निगरानी में होगी को एचपीएससी की परीक्षा, इन अफसरों की लगी ड्यूटी

हरियाणा लोकसेवा आयोग की इसी माह होने वाली परीक्षा 29 एचसीएस अधिकारियों की निगरानी में होगी। किसी भी तरह की चूक से बचने के लिए सरकार ने यह निर्णय लिया है।

27 जनवरी को सुबह व शाम के समय पंचकूला में मनोविज्ञान, लोक प्रशासन, समाज शास्त्र व कंप्यूटर साइंस विषय की कॉलेज कैडर के सहायक प्रोफेसर, सहायक श्रमायुक्त क्लास-ट, जिला उद्यान अधिकारी व उद्यान विकास अधिकारी के पद के लिए भर्ती परीक्षा होनी है। सुबह के समय 10 से 12 बजे और शाम में 2 से 4 बजे तक परीक्षा चलेगी।

सरकार ने इस बार एचसीएस को पर्यवेक्षक व फ्लाइंग स्कवैड अफसर नियुक्त किया है। इसके पीछे परीक्षा को पूरी तरह पारदर्शी व निष्पक्ष तरीके से संपन्न कराना है। मुख्य सचिव कार्यालय ने सभी एचसीएस को लोकसेवा आयोग सचिव के पास रिपोर्ट करने को कहा है।

इन एचसीएस की लगी ड्यूटी
पंकज चौधरी, सरिता मलिक, कुलधीर सिंह, रणजीत कौर, वर्षा खंगवाल, वीरेंद्र सिंह सहरावत, मनीता मलिक, अमृता सिंह, योगेश कुमार, वंदना दिसोदिया, संवर्तक सिंह, योगेश मेहता, निशु सिंगल, मनोज खत्री, रिचा, ममता, रोहित यादव, सतेंद्र सिवाच, विजय सिंह, अनिल नागर, शशि वसुंधरा, अमरेंद्र सिंह, राजेश पुनिया, दिलबाग सिंह, ब्रह्म प्रकाश, अनिल दून, प्रवीन कुमार व दर्शन कुमार।

हरियाणा प्रदेश की की ताजा खबरें देखने लिए हमारे इस पेज पर जाएं।

https://www.amarujala.com/haryana

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsChandigarh/ ... और पढ़ें

आदेशः पंजाब सरकार के खजानों पर बजट कंट्रोल सिस्टम लागू, अफसरों को दी गईं विशेष हिदायतें

गंभीर वित्तीय संकट का सामना कर रही पंजाब सरकार ने सरकारी खजाने के लिए बजट कंट्रोल सिस्टम लागू कर दिया है। इसके साथ ही, सरकारी व अर्द्ध सरकारी संस्थानों की कार्यप्रणाली के खर्च में कुछ ओर कटौती करने के नए आदेश जारी किए गए हैं।

जनवरी के पहले हफ्ते में, राज्य में नए विकास कार्य शुरू करने और विभागों के खर्च में 20 फीसदी कटौती करने के आदेश जारी करने के बाद पंजाब सरकार ने अब सरकारी कांफ्रेंस, सेमिनार, वर्कशाप के आयोजन में किफायत बरतने, विदेशों में प्रदर्शनियां लगाने पर पूर्णता रोक लगाने के साथ-साथ फाइव स्टार अथवा महंगे होटलों में हर तरह के समारोहों के आयोजन, विदेशों में स्टडी टूर पर भी रोक लगा दी है।

वित्त विभाग की ओर से राज्य के सभी विभाग प्रमुखों, डिवीजनों के कमिश्नरों, डीसी को भेजे पत्र में कहा गया है कि सरकार के वित्तीय साधनों के मद्देनजर वित्त विभाग द्वारा बजट उपबंध के खर्चों में किफायत बरतने की जरूरत महसूस की जा रही है। इसके तहत तय किया गया है कि राज्य में की जाने वाली कांफ्रेंस, सेमिनार, वर्कशाप करने संबंधी खर्च में पूरी किफायत बरती जाए। केवल वही कांफ्रेंस, सेमिनार, वर्कशाप ही कराई जाएं, जो बहुत जरूरी हों।

विदेशों में प्रदर्शनियां लगाने पर पूरी पाबंदी लगाई गई है लेकिन व्यापार को बढ़ावा देने से संबंधी प्रदर्शनियां मुख्यमंत्री की अनुमति से ही लगाई जाएं। इसके अलावा, फाइव स्टार या इससे बड़े स्तर के होटलों में मीटिंग, कांफ्रेंस, वर्कशाप, सेमिनार आदि पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। अन्य राज्यों या विदेशों में सरकारी खर्च पर स्टडी टूर, कांफ्रेंस, वर्कशाप, सेमिनार पर भी पूरी तरह रोक लगा दी गई है और केवल उसी स्थिति में अनुमति दी जाएगी, जब ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन स्पांसरशिप से किया जाएगा।

सरकारी खर्च से यह कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएंगे। पत्र में यह भी साफ कर दिया गया है कि उपरोक्त आदेश सरकारी व गैर सरकार संस्थानों, बोर्ड, पीएसयू, आयोग, सोसाइटियों पर भी लागू होंगे। विभागों के प्रबंधकीय सचिव, विभाग प्रमुख और दफ्तरों के इंचार्ज अपने-अपने विभाग के तहत आने वाले संस्थानों में उक्त आदेश का पालन कराने के लिए जिम्मेदार होंगे। लापरवाही बरतने वाले अधिकारी के खिलाफ पंजाब सिविल सेवा (सजा व अपील) 1970 के तहत सजा देने के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

मनीमाजरा हत्याकांडः हत्या से पहले मां से हुई झड़प, बेटा-बेटी को बेरहमी से काटा, पढ़ें खुलासे

रंजिश के चलते युवक पर तलवार से हमला, हालत गंभीर

चंडीगढ़। सेक्टर-52 टीन कालोनी स्थित बस स्टॉप के पास रंजिश की वजह से दो दोस्तों को कुछ युवकों ने तलवार लेकर दौड़ाया। इसके बाद आरोपियों ने एक युवक की गर्दन पर तलवार से जानलेवा हमला कर दिया है, जिससे वह बुरी तरह लहूलुहान हो गया। मामले की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने घायल को जीएमएसएच-16 पहुंचाया। वहां टीन कालोनी निवासी सुमित की हालत गंभीर बनी हुई है। सेक्टर-36 थाना पुलिस ने सेक्टर-52 निवासी आरोपी राजकुमार उर्फ मामा, सोयम और नीरज के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार वीरवार को सूचना मिली थी कि सेक्टर-52 टीन कालोनी स्थित बस स्टॉप के पास एक युवक पर तलवार से हमला कर दिया गया। पुलिस ने फौरन वहां पहुंचकर जख्मी युवक को अस्पताल पहुंचाया। पुलिस को दी शिकायत में टीन कालोनी निवासी अंगद ने बताया कि वह प्राइवेट नौकरी करता है। वीरवार सुबह अपने दोस्त सुमित के साथ काम पर जा रहा था। आरोप है कि इस दौरान राजकुमार उर्फ मामा, सोयम और नीरज हाथ में तलवार लेकर यह कहते हुए उनके पीछे दौड़े कि वे बचने न पाएं, इन्हें जाने से मारना है। सुमित बस स्टॉप के पास पहुंचा तो आरोपियों ने सुमित की गर्दन पर तलवार से हमला कर उसे घायल कर दिया। शोर सुनकर आसपास के जमा हो गए। लोगों को पास आते देख आरोपी वहां से फरार हो गए। पुलिस जांच में सामने आया कि इनके बीच पुरानी रंजिश थी। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों का दबोच लिया जाएगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us