विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
चंद्र ग्रहण में छोटा सा दान, बनाएगा धनवान : 5 जून 2020
Puja

चंद्र ग्रहण में छोटा सा दान, बनाएगा धनवान : 5 जून 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

आज चंद्र तो 21 जून को होगा सूर्य ग्रहण, यहां पढ़ें- किस राशि में पड़ेगा क्या प्रभाव

जून महीने में चंद्र और सूर्य ग्रहण लगने जा रहे हैं। चंद्र ग्रहण शुक्रवार को है। चंद्र ग्रहण का प्रभाव नहीं होगा। क्योंकि चंद्र ग्रहण दिखाई नहीं देगा, इसलिए चंद्र ग्रहण में सूतक का भी महत्व नहीं रहेगा। यह कहना है श्री देवालय पूजक परिषद चंडीगढ़ के कोषाध्यक्ष और सेक्टर 18 के श्री राधा कृष्ण मंदिर के पुजारी डॉ. लाल बहादुर दुबे और सेक्टर 30 के शिव शक्ति मंदिर के प्रमुख पुजारी पंडित श्याम सुंदर शास्त्री का।

डॉ. लाल बहादुर दुबे ने बताया कि चंद्र ग्रहण पांच जून शुक्रवार को है। वहीं, सूर्य ग्रहण 21 जून को है। डॉ. लाल बहादुर दुबे ने बताया कि 21 जून के सूर्य ग्रहण को लेकर मंदिरों के कपाट 20 जून की रात में ही बंद हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि आषाढ़ कृष्ण अमावस्या को सूर्य ग्रहण लगेगा। चंडीगढ़ में सुबह 10.22 बजे सूर्य ग्रहण प्रारंभ होगा। मध्याह्न दोपहर 12.02 बजे होगा, जबकि सूर्य ग्रहण की समाप्ति दोपहर 1.47 बजे होगी।


यह भी पढ़ें-
हरियाणा में मिले 327 पॉजिटिव, करनाल में एक की मौत, अकेले गुरुग्राम में 200 से अधिक मामले

पंडित श्याम सुंदर शास्त्री ने बताया कि सूर्य ग्रहण का सूतक 20 जून की रात 10 बजे से ही शुरू हो जाएगा। मंदिरों के कपाट बंद हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि यह सूर्य ग्रहण मिथुन राशि और मृगशिरा नक्षत्र में प्रारंभ होकर आद्रा नक्षत्र में समाप्त होगा। उन्होंने बताया कि सनातन धर्म में सूर्य एवं चंद्र ग्रहण की विशेष महत्ता है। ग्रहण को लेकर कई कथाएं प्रचलित हैं। सूतक एवं ग्रहण काल में देवताओं के दर्शन वर्जित रहते हैं। इस अवधि में लोगों को कई नियमों का पालन करना पड़ता है।

सूर्य ग्रहण में राशियों का प्रभाव
  • राशि   प्रभाव
  • मेष -   धन लाभ
  • वृष-     हानि
  • मिथुन- घात
  • कर्क-    हानि
  • सिंह-   लाभ
  • कन्या- सुख
  • तुला-   अपमान
  • वृश्चिक- महाकष्ट
  • धनु -    पति/पत्नी कष्ट
  • मकर-   सुख
  • कुंभ-    चिंता
  • मीन -   कष्ट
     
... और पढ़ें
चंद्र ग्रहण चंद्र ग्रहण

बेटे ने पेश की मिशाल, किडनी डोनेट करवा दो लोगों को दी नई जिंदगी, बोला- पापा दूसरों की करते थे मदद

लॉकडाउन के दौरान अंग प्रत्यारोपण पर रोक के बावजूद पीजीआई ने दो गंभीर मरीजों का किडनी ट्रांसप्लांट कर उनकी जान बचा ली। सफल ऑपरेशन के बाद दोनों मरीजों को गुरुवार को पीजीआई से छुट्टी दे दी गई। घर जाते वक्त उन्होंने किडनी दान करने वाले परिवार को धन्यवाद दिया और कहा कि किसी ने जाते-जाते उन्हें जीवनदान दे दिया। उसके इस उपहार को हम जीवन में कभी नहीं भूल सकते। वहीं, पीजीआई के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. एके गुप्ता ने सर्जरी करने वाले डॉक्टरों की टीम के साथ दोनों मरीजों को शुभकामनाएं देकर घर रवाना किया।

बता दें कि पीजीआई में इन मरीजों का किडनी ट्रांसप्लांट इसलिए बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि लॉकडाउन के कारण पूरे देश में अंग प्रत्यारोपण पर रोक है लेकिन इन मरीजों की गंभीर हालत को देखते हुए भारत सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार इनमें किडनी प्रत्यारोपण की गई, जो पूरी तरह से सफल साबित हुई है। 


यह भी पढ़ें-
प्राइवेट ही नहीं सरकारी नौकरी पर भी छाया संकट, पंजाब में इन कर्मचारियों की छंटनी होगी

शिमला के नरेश ने दिया दोनों को जीवनदान  
पीजीआई रिनल ट्रांसप्लांट सर्जरी के हेड ऑफ डिपार्टमेंट प्रो. आशीष शर्मा ने बताया कि जिन दो मरीजों को किडनी ट्रांसप्लांट की गई है, उनका 3 साल से डायलिसिस चल रहा था। लॉकडाउन के दौरान उनकी स्थिति जब काफी बिगड़ गई तो किडनी ट्रांसप्लांट करने का निर्णय लिया गया। उस समय हिमाचल के शिमला निवासी 50 वर्षीय नरेश कुमार का परिवार उनके लिए वरदान साबित हुआ। 

नरेश कुमार 6 मई को शिमला में अपने काम पर जा रहे थे। इस दौरान दुर्घटना में उनके सिर पर गंभीर चोट आई। 6 मई को इन्हें पीजीआई में भर्ती किया गया। 10 दिनों तक जिंदगी मौत से जूझने के बाद नरेश की 15 मई को मौत हो गई। उनके परिवार की अनुमति के बाद उनकी दोनों किडनी दोनों गंभीर मरीजों में ट्रांसप्लांट की गईं।    

दूसरों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते थे पापा   
नरेश के पुत्र पुनीत का कहना है कि पापा को खोने का दुख किसी भी स्तर पर कम नहीं हो सकता लेकिन एक बात का संतोष है कि पापा की वजह से 2 लोगों को नई जिंदगी मिली है। पुनीत ने बताया कि उनके पिता हमेशा दूसरों की मदद के लिए तैयार रहते थे और हम सब को भी ऐसा करने की सीख देते थे। उनके दुनिया से जाने के बाद परिवार हर पल उनकी कमी को महसूस कर रहा है लेकिन उनकी वजह से जिन दो परिवारों के चेहरे पर मुस्कान लौटी है वह हमारे लिए खुशी की बात है। 
... और पढ़ें

लॉकडाउन के बाद चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने की पहली प्रेस कांफ्रेंस, बोले....

लॉकडाउन के बाद चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने वीरवार को पहली प्रेस कांफ्रेंस संबोधित की, जिसमें उन्होंने पार्टी की तारीफों के पुल बांधे। उन्होंने कोरोना संकट के दौर में पार्टी द्वारा किए गए राहत कार्यों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पार्टी की तरफ से लोगों को पर्याप्त खाना और दवाइयां उपलब्ध कराई गईं। प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाया गया। अभी इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं और हर जरूरतमंद की मदद की जाएगी।

अरुण सूद ने कहा कि जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे, तब देश अच्छी स्थिति में नहीं था। लेकिन आज भारत विश्व गुरु बन रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने प्रयासों से देश की छवि को बदला। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 और 35ए को हटाने के बारे कोई सोच नहीं सकता था, लेकिन भाजपा सरकार ने यह कर दिखाया। पीएम ने शांति व्यवस्था को बनाए रखते हुए धारा को हटा दिया। अभी भी वहां माहौल शांतिपूर्ण बना हुआ है।

भाजपा सरकार ने मुस्लिम बहनों को तोहफा देते हुए तीन तलाक खत्म किया। राम मंदिर का निर्माण शुरु हो गया है। सिटिजन एमेंडमेंट बिल आया।
... और पढ़ें

ग्रिल तोड़कर शिव मंदिर में घुसे चोर, 45 मिनट में मुकुट और सिंहासन चोरी करके हुए फरार

खेत में मिले दो हैंड ग्रेनेड
पंजाब के गवर्नर और चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर के साथ समीक्षा बैठक में डीजीपी संजय बेनीवाल ने कहा था कि शहर में क्राइम का ग्राफ काफी घट गया है लेकिन पुलिस वारदात पर लगाम लगाने में विफल साबित हो रही है। लॉकडाउन के बाद छूट मिलते ही शहर में एक बार फिर क्राइम रेट बढ़ना शुरू हो गया है। गुरुवार तड़के चोरों ने सेक्टर 8 स्थित सनातन धर्म सभा शिव मंदिर से चांदी के मुकुट, सिंहासन, छत्र, बांसुरी समेत सोने की नथ और दानपात्र से करीब सात हजार की नकदी चोरी कर ली।

जानकारी के अनुसार पुजारी ने जब गुरुवार सुबह करीब पांच बजे मंदिर के परिसर का दरवाजा खोला तो अंदर लक्ष्मीनारायण का मुकुट गायब था। इसके अलावा कई अन्य गहने भी गायब थे। वारदात की सूचना मंदिर कमेटियों को दी गई। इसके बाद मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला गया। मंदिर के जनरल सेक्रेटरी अश्वनी गुप्ता ने बताया कि दो नकाबपोश युवक कैमरे में कैद हैं। 


यह भी पढ़ें-
बेटे ने पेश की मिशाल, किडनी डोनेट करवा दो लोगों को दी नई जिंदगी, बोला- पापा दूसरों की करते थे मदद

फुटेज में दिखाई दे रहा है कि तड़के सुबह तीन बजकर दो मिनट पर दो युवक मंदिर के पिछली साइड से घुसकर छत पर चढ़कर गए। इसके बाद चोरों ने ग्रिल तोड़कर परिसर में प्रवेश किया। आरोपियों ने दानपात्र तोड़कर कुछ नगदी और चांदी के तीन मुकुट, चार सिंहासन, दो थाली, चांदी के लड्डू, दो छत्र और बांसुरी समेत दो सोने की नथ चोरी कर 3:46 बजे फरार हो गए। 
... और पढ़ें

अलर्टः 'निसर्ग' पश्चिमी विक्षोभ को मिलेगा बल, पंजाब-हरियाणा चंडीगढ़ में बारिश होने के आसार

महाराष्ट्र में आए चक्रवाती तूफान से अप्रत्यक्ष रूप से गुजरात, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भागों में अच्छी बारिश के आसार बन रहे हैं। चक्रवाती तूफान के कारण हवा में नमी बढ़ने से उपरोक्त क्षेत्रों में आ रहे पश्चिमी विक्षोभ को बल मिलेगा, जिससे वह अधिक प्रभावी हो सकता है।

मौसम एक्सपर्ट नवदीप दहिया ने बताया कि महाराष्ट्र में आए निसर्ग चक्रवाती तूफान का उत्तर भारत के कई राज्यों में सीधे तौर पर कोई प्रभाव नहीं होगा, लेकिन यह अप्रत्यक्ष रूप से उत्तर भारत के कई हिस्सों में प्रभाव डाल सकता है। इस चक्रवाती तूफान के कारण जो मौसमी प्रणाली बनेगी उससे उत्तर-पश्चिम भारत में नमी का प्रवाह बढ़ेगा।

पश्चिम से आते पश्चिमी विक्षोभ और वायु में नमी के बढ़ते प्रवाह के कारण दक्षिण पश्चिम राजस्थान पर एक चक्रवाती परिसंचरण की उत्पत्ति की संभावना है। इसके कारण 4 जून से गुजरात, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर, जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भागों में हल्की से मध्यम बारिश की गतिविधियां हो सकती है। 5 जून को केंद्रीय और दक्षिण राजस्थान पर अच्छी बारिश हो सकती है। वहीं हरियाणा, पंजाब, दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी यूपी के कुछ एक हिस्सों में ही अच्छी बारिश हो सकती है।

उधर, प्रचंड चक्रवात निसर्ग महाराष्ट्र तट से टकराने के बाद कमजोर होता हुआ चार जून को सुबह तक उत्तरी मध्य महाराष्ट्र और लगते हुए पश्चिमी मध्यप्रदेश के हिस्सों में तक कमजोर पड़ जाएगा और एक मौसमी प्रणाली का रूप ले लेगा। जिससे 4 जून को मध्यप्रदेश के दक्षिण पश्चिमी और मध्य भागों में कई जगहों पर बारिश की उम्मीद है। 5 जून को दक्षिण-पश्चिम उत्तर प्रदेश के साथ-साथ केंद्रीय व पूर्वी उत्तर प्रदेश के भागों बारिश हो सकती है। फिर आगे निकलता हुआ यह नेपाल और हिमालय के तराई वाले भागों से जा टकराएगा। जिससे उस क्षेत्र में बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

लगातार सामान्य से कम चल रहा तापमान
मई अंत और जून में चल रही लगातार मौसमी गतिविधियों के कारण तापमान लगातार सामान्य से कम चल रहा है। बुधवार को रोहतक का तापमान 36.4 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से पांच डिग्री कम रहा। वहीं रात का तापमान लगभग सामान्य के आसपास ही चल रहा है। बुधवार कोे रोहतक में न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से एक डिग्री अधिक ही रहेगा। लगातार चल रही मौसमी गतिविधियों के कारण आने वाले दिनों में भी अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के इर्दगिर्द ही रहने की संभावना है।
... और पढ़ें

प्रेमी जोड़े को शादी कर हाईकोर्ट आना पड़ा महंगा, जज ने उठाया वो कदम...देखते रह गए दोनों

एक प्रेमी जोड़ा शादी करके अदालत पहुंच गया, लेकिन हाईकोर्ट में आना उन्हें महंगा पड़ा, क्योंकि जज ने उनके खिलाफ एक कदम उठा लिया। मामला पंजाब के फाजिल्का का है। नवविवाहित प्रेमी जोड़ा जब पंजाब-हरियाणा

हाईकोर्ट में सुरक्षा मांगने पहुंचा तो वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई कर रहे जज ने उन पर पांच-पांच हजार का जुर्माना लगा दिया, क्योंकि उन्होंने मास्क नहीं लगा रखा था। फाजिल्का निवासी जोड़े ने प्रेम विवाह करने के बाद मई माह के अंतिम सप्ताह में जिला पुलिस प्रमुख से सुरक्षा की गुहार लगाई।

सोशल मीडिया पर जजों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी अभिव्यक्ति की आजादी नहीं: हाईकोर्ट

पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुनवाई चल रही थी। इस दौरान जब जज हरिपाल वर्मा की नजर बिना मास्क पहने कोर्ट में खड़े नवविवाहित जोड़े पर पड़ी तो उन्होंने दोनों पर जुर्माना लगा दिया। कोर्ट ने कहा कि उक्त जुर्माने की रकम 15 दिन के भीतर फाजिल्का के डिप्टी कमिश्नर ऑफिस में जमा करानी होगी।

इसे पूरे जिले में लोगों को मास्क बांटने पर खर्च किया जाएगा। इस जोड़े को अदालत ने सुरक्षा प्रदान की या नहीं, इसका पता नहीं चल सका है। इधर जिला उपायुक्त अरविंद्र पाल सिंह संधू ने सभी लोगों से अपील की है कि वे घर से बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग करें और सामाजिक दूरी बनाए रखें। ... और पढ़ें

मनु शर्मा की रिहाई से 'पंडित जी' को होगा बड़ा फायदा, सियासी शतरंज का माहिर खिलाड़ी है बेटा

मनु शर्मा सियासी शतरंज का माहिर खिलाड़ी है। इसी वजह से एक बार फिर जेसिका लाल हत्याकांड के दोषी मनु की रिहाई से पंडित जी के राजनीति में कमबैक करने की बात कही जा रही है। खुद उनकी रिहाई से पूर्व केंद्रीय मंत्री का हर कार्यकर्ता उत्साहित है। ज्यादातर कार्यकर्ताओं का कहना है कि मनु की रिहाई से कांग्रेस सरकार में पॉवरफुल मंत्री रहे विनोद शर्मा फिर से अपनी खोई सियासी साख हासिल करेंगे।

अंबाला शहर विधानसभा सीट से अपने पिता को कांग्रेस की टिकट पर लगातार दो बार चुनाव जितवाने में मनु की ही अहम भूमिका थी। जेल में होने के कारण तीसरे चुनाव में वे कोई मदद नहीं कर पाए इस वजह से शर्मा को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी। हालांकि तीसरा चुनाव उन्होंने कांग्रेस छोड़कर खुद की पार्टी के बैनर तले लड़ा था। तब भाजपा के मौजूदा विधायक असीम गोयल बाजी मार ले गए थे। इस बार शर्मा मैदान में ही नहीं आए।

मनु शर्मा बेशक कोई चुनाव न लड़े हो लेकिन राजनीति की उन्हें अच्छी जानकारी है। पिता विनोद शर्मा के लिए पर्दे के पीछे मनु ही हर बार सियासी बिसात बिछाते थे। इसके कारण विनोद शर्मा को जीत हासिल करने में कभी मुश्किल नहीं हुई। मनु की रिहाई के साथ ही अब शर्मा परिवार फिर से कमबैक कर सकता है। इसके लिए खुद मनु के नए सिरे से परिवार के लिए सियासी जमीन तैयार करने की बात कही जा रहा है।

अंबाला शहर विधानसभा में अभी विनोद शर्मा के पास पुराने कार्यकर्ताओं की फौज है। शर्मा के चुनाव न लड़ पाने के कारण इस बार ये कार्यकर्ता बिखर गए हैं। लेकिन मनु में इन्हें एकजुट करने का पूरा दम है। पिता की सेहत ठीक न होने के कारण अब उनके अपनी मां शक्ति रानी शर्मा को राजनीति में उतारने की बात कही जा रही है। शक्ति रानी खुद जनचेतना पार्टी से कालका सीट से चुनाव लड़ चुकी हैं। अंबाला शहर की हर गली कूचे की राजनीति का उन्हें लंबा अनुभव है।
... और पढ़ें

हरियाणाः हाई प्रोफाइल बना कबूतरबाजी मामला, रकम वापस करके नहीं बच सकेंगे कबूतरबाज

हरियाणा में कबूतरबाजी का मामला अब हाई प्रोफाइल बन गया है। विदेश से हरियाणा आए कुछ और लोगों ने इस मामले में सीधे गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत भेजकर कार्रवाई की मांग की है। गृहमंत्री ने तीन और शिकायतों को एसआईटी की प्रमुख भारती अरोड़ा के पास कार्रवाई के लिए भेज दिया है।

कबूतरबाजी में कई रसूखदारों का नाम सामने आने के बाद मामला हाईप्रोफाइल बन गया है। एक भाजपा नेता के अलावा कई और लोगों के कबूतरबाजी में नाम आने के बाद सरकार ने इस मामले में सख्ती कर दी है। भारती अरोड़ा को इस विषय में सख्त हिदायत है कि आरोपी कितना ही बड़ा क्यों न हो, किसी को बख्शा नहीं जाना चाहिए।

पुलिस अधिकारियों की टीम को भी खासी मानीटरिंग करने के लिए कहा गया है। पुलिस को आदेश हैं कि जिन पुलिस अधीक्षकों को एसआईटी में शामिल किया गया है। वे निजी तौर पर भी इन मामलों में अपना रुझान दिखाएं। जिससे उनके मातहद पुलिस अधिकारी किसी बात का फायदा न उठा सकें।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us