बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
UP Police (SI) 2021: किन-किन राज्यों के लोग कर सकते हैं यूपी पुलिस में SI के लिए आवेदन, समझिए पूरी बात
Safalta

UP Police (SI) 2021: किन-किन राज्यों के लोग कर सकते हैं यूपी पुलिस में SI के लिए आवेदन, समझिए पूरी बात

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक...

8 मार्च 2021

विज्ञापन
Digital Edition

किसान आंदोलन : कुंडली बॉर्डर पर निहंग ने युवक पर तलवार से किया हमला, पीजीआई रोहतक रेफर

किसान आंदोलन में शामिल निहंग ने कुंडली गांव के युवक पर तलवार से हमला कर दिया। युवक के हाथ पर तलवार का गहरा घाव बन गया। उसके कंधे और पीठ पर भी चोट लगी है। घायल को सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया। कुंडली थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्जकर उसे हिरासत में ले लिया है।

कुंडली के धर्मेश कुमार ने बताया कि उसका भाई शेखर टीडीआई मॉल में नौकरी करता है। वह सोमवार दोपहर को खाना खाने बाइक से प्याउ मनियारी के कट से एचएसआईआईडीसी की तरफ जा रहा था। उसके साथ में गांव का ही सन्नी भी था। जब वह धरने वाले कैंप के पास से होकर निकल रहे थे तो वहां पर कुछ निहंगों की पुलिसकर्मियों से बहस चल रही थी। इससे रास्ता बंद था। 

शेखर एक किनारे से होकर बाइक निकालने का प्रयास करने लगा तो उसका एक निहंग युवक के साथ रास्ते को लेकर विवाद हो गया। निहंग ने रास्ता रोक लिया। विवाद होने पर निहंग ने सन्नी पर तलवार से वार कर दिया। उसके साथी शेखर ने बाजू ऊपर कर वार को रोकने का प्रयास किया। इससे शेखर की बाजू कट गई। निहंग ने दूसरा वार करने के लिए तलवार उठाई तो शेखर ने उसको पकड़ लिया। 

छीनाझपटी में तलवार से उसके कंधे और पीठ पर चोट लग गई। शेखर और सन्नी बाइक लेकर वहां से भाग निकले। सन्नी घायल शेखर को लेकर कुंडली के निजी अस्पताल में पहुंचा। सूचना पाकर कुंडली थाना पुलिस भी अस्पताल पहुंच गई। पुलिस घायल शेखर को लेकर सामान्य अस्पताल पहुंची, जहां से उसको पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया। 

कृषि बिलों के विरोध में चल रहे आंदोलन के दौरान लोगों की निहंग सिखों से कई बार झड़प हो चुकी हैं। पुलिस ने आरोपी निहंग को हिरासत में ले लिया है। उसकी पहचान मनप्रीत सिंह के रूप में हुई है।
... और पढ़ें
कुंडली बॉर्डर पर निहंग के हमला से घायल युवक। कुंडली बॉर्डर पर निहंग के हमला से घायल युवक।

पंजाब : फसल के सीधे भुगतान से परेशान किसान, बोले- खातों में रुपये भेजना बनेगा कलह की वजह

सीधा भुगतान कई किसानों के घर का माहौल खराब कर सकता है क्योंकि जमीन पिता के नाम होती है। बेटे पिता से अलग रहते हैं तो ऐसे में बेटों की फसल का भुगतान भी पिता के खाते में जाएगा। इससे बचने के लिए सरकार किसानों के खाते में सीधे भुगतान के बजाय आढ़तियों को फसल का भुगतान करे। ये कहना है मंडी में आए किसानों का। वहीं आढ़तियों का कहना है कि किसानों को जब भी जरूरत होती है आढ़ती उन्हें पैसा मुहैया करवा देते हैं।

शहर की दाना मंडी में गेहूं लेकर पहुंचे किसान दर्शन सिंह व सुरजीत का कहना है कि किसान और आढ़ती का रिश्ता बहुत गहरा है। रात या दिन जब भी किसानों को पैसों की जरूरत पड़ती है तो आढ़तियों से ले लेते हैं। ज्यादातर किसानों का लेनदेन कई सालों से आढ़तियों के साथ चल रहा है। सरकार किसानों के सीधे खाते में भुगतान करने की बजाय आढ़तियों के खाते में करें। 
 
किसान नेता सतनाम सिंह का कहना है कि खाते में सीधी पेमेंट किसानों के घरों में लड़ाई का माहौल पैदा करेगी। बहुत से ऐसे मामले हैं, जमीन पिता के नाम पर है और घरेलू कलह के चलते बेटे अलग हैं। उन्हें जमीन दी हुई है और खेती कर घर का गुजारा कर रहे हैं। फसल का भुगतान उसी किसान के खाते में आएगी जिसके नाम पर जमीन है ऐसे में घरेलू झगड़े बढ़ेंगे। 
... और पढ़ें

पंजाब में ये हाल : दो दिन से मंडियों पर बैठे हैं किसान, न गेहूं की सरकारी बोली लग रही और न ही सुविधाएं मिल रहीं

पंजाब सरकार ने कागजों में गेहूं की खरीद शुरू कर दी है लेकिन लुधियाना की मंडियों में जमीनी सच्चाई कुछ और ही है। सूबे में सरकारी खरीद 10 अप्रैल से शुरू हुई। 11 अप्रैल से किसान अनाज मंडियों में फसल लेकर पहुंच गए हैं। हैरानी वाली बात है कि इन दो दिनों में कई जगह फसल की बोली तक नहीं हो पाई है। मंडी को मंत्री के उद्घाटन का इंतजार है, जिसके बाद ही खरीद शुरू होगी। इसके अलावा अधिकतर मंडियों में न तो पेयजल की सुविधा है और न ही शौचालय का प्रबंध है। यही नहीं, किसान रातभर जागकर लावारिस पशुओं से अनाज को बचाने के लिए मजबूर हैं।

लुधियाना के जालंधर बाईपास स्थित अनाज मंडी में सोमवार तक महज 10 ट्राली गेहूं ही पहुंचा है लेकिन इसकी खरीद नहीं हो पाई है। किसान बिना सुविधा के मंडियों में परेशान हो रहे हैं। उनकी इस परेशानी पर आढ़ती भी चुप्पी साधे हैं। अनाज की बोली न होने पर इतना कह रहे हैं कि अभी गेहूं में नमी है, इसलिए बोली नहीं हो रही है। हालांकि असल मुद्दा कुछ और ही है। नेताओं को गेहूं की खरीद के बहाने वोट बैंक जुटाना है। सत्ताधारी पहले खरीद का उद्घाटन करते हैं, इसके बाद ही बोली शुरू की जाती है। 

रात को जागकर जानवरों से बचा रहे अनाज : गगन सिंह  
गांव माछियाकलां से आए युवा किसान गगन सिंह ने बताया कि वह भी 11 अप्रैल को एक ट्राली गेहूं लेकर पहुंचा था। अब तक कोई बोली लगाने नहीं आया है। रात में खुले शेड के नीचे जागकर लावारिस जानवरों से अनाज को बचाते हैं। दो दिन से खाना पीना सब अपनी जेब से कर रहे हैं। वहीं, गांव हवास से तीन ट्राली गेहूं लेकर पहुंचे अवतार सिंह ने बताया कि यह फसल एक सरकारी मुलाजिम की है और वह उनके यहां नौकरी करता है। चार ट्राली गेहूं बेचने के लिए 11 अप्रैल को आया है। फसल की खरीद तक यहीं रहना पड़ेगा। 
... और पढ़ें

विधायी समिति ने जताई चिंता : हरियाणा में एससी विद्यार्थियों के कल्याण पर खर्च नहीं हो पा रहे करोड़ों रुपये

गेहूं की सफाई करते कर्मचारी।
हरियाणा में गरीब एससी (अनुसूचित जाति) परिवारों के विद्यार्थियों के कल्याण पर विशेष घटक योजना की पूरी राशि खर्च नहीं हो रही। करोड़ों रुपये का बजट हर वर्ष लैप्स हो रहा है। 2017-18 में तो कुल बजट की आधी राशि ही खर्च हुई। विधानसभा की शिक्षा एवं चिकित्सा सेवाओं से जुड़ी समिति ने इसे स्कूल शिक्षा विभाग के लिए अपमानजनक मामला बताया है।

विधानसभा में प्रस्तुत इस रिपोर्ट को समिति ने पांच मार्च 2021 को अनुमोदित किया है। 2020-21 में समिति ने कुल 35 बैठक कर यह रिपोर्ट तैयार की है जिसमें दस्तावेज खंगालने के साथ ही विभाग का पक्ष भी जाना गया। भाजपा विधायक सीमा त्रिखा की अध्यक्षता वाली इस समिति में वरिष्ठ विधायक डॉ. रघुवीर सिंह कादयान, डॉ. कमल गुप्ता, रामकुमार कश्यप व जगदीश नायर, नैना सिंह चौटाला, शैली, शीशपाल सिंह, नयनपाल रावत व इंदुराज शामिल हैं।

समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि गरीब परिवारों के एससी-एसटी छात्रों पर पांच साल से पूरा बजट खर्च न होना चिंताजनक है। इसका विधायी समिति ने कड़ा संज्ञान लिया है। प्रदेश सरकार हर साल गरीब एससी बच्चों के उत्थान के लिए करोड़ों रुपये के बजट का प्रावधान कर रही है। अगर इसे पूरा न खर्च किया जाए तो यह ठीक नहीं। उन्होंने सरकार से सिफारिश की है कि स्कूल शिक्षा विभाग विशेष घटक योजना के बजट को उचित तरीके से हर वर्ष पूरा खर्च करे।
... और पढ़ें

ममता के बदले मौत मिली : तीन बेटों और बहू से परेशान 65 वर्षीय मां ने पार्क में आग लगा जान दी

निकटवर्ती कस्बा सन्नौर में बेटों से परेशान मां ने मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली। पुलिस ने तीनों बेटों समेत चार के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्जकर लिया है। फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं।

थाना सन्नौर के इंचार्ज एसआई गुरनाम सिंह ने बताया कि कुलवंत कौर (65) निवासी कसाबियां वाला मोहल्ला पति की मौत के बाद तीन बेटों परविंदर सिंह, हरकीरत सिंह और तरविंदर सिंह व हरकीरत सिंह की पत्नी जसविंदर कौर के साथ रह रही थीं।

पुलिस के मुताबिक तीनों बेटे और बहू उनके साथ अच्छा बर्ताव नहीं करते थे। इसी वजह से घर में अक्सर विवाद रहता था। इसी मानसिक परेशानी में कुलवंत कौर ने घर के नजदीक स्थित लक्ष्मण दास पार्क में मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगा ली।
... और पढ़ें

जलियांवाला बाग : जब दंडवत होकर ब्रिटिश बिशप ने कही बड़ी बात...मगर शर्मिंदा ब्रिटेन ने आज तक नहीं मांगी माफी

आईपीएल 2021 : खरड़ के अर्शदीप ने आखिरी गेंद में पलटा पासा... पंजाब किंग्स को दिलाई जीत, माता-पिता ने कही ये बात

आईपीएल के चौथे मुकाबले में सोमवार को पंजाब किंग्स ने राजस्थान रॉयल्स पर चार रन से रोमांचक जीत दर्ज की। इस जीत के हीरो पंजाब किंग्स के गेंदबाज खरड़ निवासी अर्शदीप सिंह रहे। उन्होंने अंतिम गेंद पर राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन को आउट कर मैच का पासा पलट दिया।

अपने बेटे का कमाल देखकर उनके मां-बाप भी झूम उठे और भंगड़ा कर जीत की खुशी मनाई। इस मैच में अर्शदीप ने चार ओवर में 35 रन देकर तीन अहम विकेट चटकाए। मैच के दौरान पंजाब किंग्स का प्रदर्शन देखकर ट्राइसिटी के क्रिकेट प्रेमियों का उत्साह सातवें आसमान पर था।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट गंवाकर 221 रन बनाए। इसके जवाब में राजस्थान टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 217 रन ही बना सकी। अर्शदीप के माता-पिता अपने बेटे की उपलब्धि से खुश हैं। उन्होंने कहा कि बेटे के प्रदर्शन ने बैसाखी पर्व पर असीम खुशी दी है।

ट्राइसिटी के क्रिकेट प्रेमी बोले- रोमांच से भरपूर था मैच
ट्राइसिटी के क्रिकेट प्रेमी पंजाब किंग्स के आज के प्रदर्शन से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से किंग्स ने राजस्थान रॉयल्स के जबड़े से जीत छीनी है, वह काबिलेतारीफ है।

अंतिम ओवर का रोमांच
आखिरी ओवर में राजस्थान को जीत के लिए 13 रन की जरूरत थी। पंजाब की ओर से अर्शदीप सिंह ने 20वें ओवर में गेंदबाजी की। पहले 3 गेंद पर सिर्फ 2 रन आए। इसके बाद चौथी गेंद पर सैमसन ने छक्का जड़ा। पांचवीं गेंद पर कोई रन नहीं बना। अंतिम बॉल पर राजस्थान को जीत के लिए 5 रन चाहिए थे। सैमसन ने शॉट तो लगाया, पर वह बाउंड्री लाइन पर खड़े दीपक हुडा के हाथों अपना कैच थमा बैठे।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस : पंजाब के 17 जिलों में 52 मरीजों की मौत, एक दिन में सर्वाधिक 3477 पॉजिटिव मिले

पंजाब के 22 जिलों में सोमवार को कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड 3477 मामले सामने आए हैं। 17 जिलों में 52 संक्रमितों की मौत हो गई। 45 संक्रमितों की हालत गंभीर बनी हुई है। 7559 संक्रमितों की पंजाब में अब तक मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक 6368902 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं, जिनमें 276223 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। विभिन्न अस्पतालों में स्वास्थ्य लाभ लेने के बाद 240798 लोग ठीक हो चुके हैं। सूबे में 27866 सक्रिय मामले पहुंच चुके हैं। 360 संक्रमितों को सांस लेने में परेशानी होने पर ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है।

सोमवार को अमृतसर में 8, फरीदकोट में 2, फतेहगढ़ साहिब में 1, फाजिल्का में 1, फिरोजपुर में 1, गुरदासपुर में 5, होशियारपुर में 8, जालंधर में 5, कपूरथला में 3, लुधियाना में 5, एसएएस नगर में 1, मुक्तसर में 1, पठानकोट में 2, पटियाला में 5, रोपड़ में 2, एसबीएस नगर में 1 और तरनतारन में 1 मरीज की मौत हो गई।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X