विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

मैंने चंडीगढ़ जैसा शहर कभी कहीं नहीं देखा, यह मेरी सोच से काफी अलग और बहुत आगे है- मनोज परिदा

साहित्य के करीब.. प्रकृति के नजदीक और ट्रैकिंग का शौक। यह है अपनी उम्दा कार्यशैली के लिए पहचाने जाने वाले चंडीगढ़ प्रशासक के सलाहकार और आईएएस अधिकारी...

7 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

चंडीगढ़

शनिवार, 19 अक्टूबर 2019

Pics: 2018 में शादी, 2019 में एक साथ जन्मे तीन 'शिवांश', मां बोली- तीनों बेटों को सेना में भेजूंगी

आयुष डॉक्टरों को मिल सकती है खुशखबरी, रिटायरमेंट उम्र सात साल बढ़ाने पर विचार करेगी सरकार

मोहाली के फेज 8 में पुडा भवन के सामने स्थित ग्राउंड में शुक्रवार को श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय आरोग्य मेले का शुभारंभ हुआ। मेले का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने किया। उन्होंने इस मौके पर कहा कि आयुष विभाग में डॉक्टरों की सेवा मुक्ति की उम्र 58 साल से बढ़ाकर 65 साल करने पर सरकार विचार करेगी। 

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य और शिक्षा पंजाब सरकार के लिए अहम है। श्री गुररु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित करवाए जा रहे प्रोग्रामों की कड़ी में उक्त समागम करवाया गया है। स्वास्थ्य सेवाओं को उच्च बनाने के लिए विभाग में सभी खाली पदों को भरा जा रहा है। यही नहीं डॉक्टरों की सेवामुक्ति 58 से 65 साल करने की स्कीम आयुष विभाग में लागू होगी ताकि लोगों को विश्व स्तर पर स्वास्थ्य सहूलियतें दी जा सके।
... और पढ़ें

खुली जीप में निकले गौतम गंभीर तो दीदार को उमड़ी भीड़, लगे भारत माता जय के नारे

हॉकी के मैदान से राजनीति की पारी खेलने आए अर्जुन अवॉर्डी संदीप सिंह सूरमा को क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी गौतम गंभीर का साथ मिला है। शुक्रवार को भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने संदीप सिंह के पक्ष में रोड शो निकाल कर चुनाव प्रचार किया। गौतम गंभीर को देखने के लिए काफी संख्या में लोग जुटे।

राजनीतिक पारी शुरु करने के बाद गौतम गंभीर पहली बार पिहोवा के सरस्वती तीर्थ पर पहुंचे तो हजारों लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाकर उनका अभिवादन किया। दोनों खिलाड़ियों ने सरस्वती मन्दिर में पूजा अर्चना कर जीत का आशीर्वाद मांगा। तीर्थ पुरोहित दीपक पचौली ने गौतम गंभीर व संदीप सिंह को केसर से तिलक लगाकर उन्हें नारियल, चुनरी व चांदी का सिक्का भेंट स्वरुप में प्रदान किया। 
... और पढ़ें

विस चुनावः रेवाड़ी में पीएम मोदी बोले- कल जो हमें डराते थे, आज वो खुद डरे नजर आते हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को रेवाड़ी के हुडा मैदान में रैली को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि हरियाणा का फैसला जिसे देखना हो, आज रेवाड़ी का जनसागर देख ले। भाजपा की जो ये लहर है, ये इस बात की सबूत है कि जब ईमानदारी से जनता की सेवा की जाती है, तो जनता सम्मान भी देती है और फिर एक बार काम करने का मौका भी देती है।

पीएम ने कहा कि बीते पांच वर्षों में मां भारती के गौरव के लिए, 130 करोड़ भारतीयों के लिए अगर कुछ योगदान दे पाया हूं तो इसमें रेवाड़ी की मिट्टी के आशीर्वाद का अहम स्थान है। मैं 6 वर्ष पहले के वो संकल्प, हरियाणा और देश को याद दिलाना चाहता हूं। तब मैंने कहा था कि दिल्ली में सक्षम और समर्थ सरकार ही देश को सुरक्षा दे सकती है।

पीएम ने कहा कि पांच साल में भारत का सक्षम और समर्थ सरकार देने का मैंने वादा किया था और वो वादा मैंने निभाया। तब मैंने कहा था कि भारत में ऐसी सरकार होनी चाहिए, जो दुनिया से आंख से आंख मिलाकर बात करे। आज हिंदुस्तान आंख झुकाकर नहीं, आंख मिलाकर बात करता है।

 
... और पढ़ें
पीएम मोदी पीएम मोदी

सिरसा: पीएम मोदी बोले- कांग्रेस के पेट में दर्द हो रहा, 370 जो हट गई और पर्ची-खर्ची भी खत्म हो गई

हरियाणा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पीएम मोदी आज सिरसा के ऐलनाबाद हल्के के गांव मलेकां में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। मंच पर पहुंचते ही पगड़ी पहनाकर पीएम मोदी का स्वागत किया गया। उसके बाद जब पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करना शुरू किया तो सबसे पहले भारत माता का जयकारा लगाया।

फिर पीएम ने पंजाबी भाषा में जी आया नूं कहकर, राम राम और नमस्कार कहकर सभी का अभिवादन किया और कहा कि जहां पहली पातशाही गुरु नानक देव जी के चरण पड़े थे, उस सिरसा को मैं वंदन करता हूं। आज कई पुराने साथियों के दर्शन करने का सौभाग्य मिला, वो भी तब जब पूरी दुनिया 550वें प्रकाश पर्व की तैयारी में जुटी है।

पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा सरकार इस ऐतिहासिक क्षण से पूरी दुनिया को परिचित कराने का भरसक प्रयास कर रही है। यही कारण है कि पूरे विश्व में भारत सरकार इस पर्व को मनाने वाली है। कपूरथला में जो नया नेशनल हाईवे बना है, उसे अब गुरु नानक देव मार्ग से जाना जाएगा।

पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा सरकार को एक और सौभाग्य प्राप्त हुआ है। करतारपुर साहिब और हमारे बीच जो रुकावट थी, दूरी थी वो अब समाप्त होने वाली है। 70 सालों तक दूरबीन से गुरु घर के दर्शन की मजबूरी अब खत्म हो रही है। करतारपुर कॉरिडोर करीब-करीब तैयारी हो चुका है।
 
... और पढ़ें

हरियाणा विस चुनावः कांग्रेस के 'मिशन 46' की राह में अपने ही बने रोड़ा, पर हुड्डा ने झोंकी ताकत

हरियाणा की सियासत का दंगल अंतिम घड़ियों में पहुंच चुका है। सत्ता पाने के लिए भाजपा, कांग्रेस, जजपा और इनेलो के साथ ही सभी छोटे दल भी जोर आजमाइश कर रहे हैं। सरकार बनाने का दावा तो सब कर रहे हैं, मगर अंतिम फैसला जनता-जनार्दन को करना है। मतदाता सबको अपने तराजू में तोल रहा है, जिसकी नीतियां और चेहरा उसे भा गया, उसकी बल्ले-बल्ले तय है। भाजपा जहां दोबारा सरकार बनाने का भरोसा जता रही है, वहीं कांग्रेस को उम्मीद है कि जनता इस बार उसका साथ देगी।

सत्तारूढ़ दल राष्ट्रीय मुद्दों को उछालने के साथ ही अपने पांच साल के कामों को गिना रहा है तो कांग्रेस का जोर स्थानीय मुद्दे उठाने के साथ ही भाजपा की कमियां निकालने पर है। कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती मिशन-46 को पूरा करने के लिए अंदरखाने चल रहे शह और मात के खेल से निपटना भी है। अनेक सीटों पर कांग्रेसी एक-दूसरे को ही निपटाने में लगे हुए हैं। मुख्य विपक्षी दल के लिए सबसे बड़ा खतरा भाजपा से ज्यादा भितरघात बना हुआ है। इस स्थिति में कांग्रेस को जीत दिलाना पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है।

हुड्डा नाराज नेताओं की मान-मनौव्वल करने के साथ ही अधिक से अधिक उम्मीदवार जिताने के लिए भी पसीना बहा रहे हैं। उन्होंने उत्तर, दक्षिण के साथ मध्य हरियाणा पर विशेष फोकस किया हुआ है। हुड्डा का पूरा ध्यान भाजपा के 75 पार के नारे को फिफ्टी-फिफ्टी करने पर है। साथ ही वह भाजपा के नए गढ़ों उत्तर व दक्षिण हरियाणा में सेंधमारी में लगे हैं। इन दोनों एरिया में भाजपा ने पिछली बार 56 में से 37 सीटें जीती थी, जिससे उसके लिए सत्ता का मार्ग प्रशस्त हुआ। हुड्डा की रणनीति इस बार भाजपा को दोनों गढ़ों में मात देने की है।

21 अक्टूबर को मतदान और 24 अक्टूबर को मतगणना के बाद साफ हो जाएगा कि जनता ने अगले पांच साल के लिए किस पर भरोसा जताया है।
... और पढ़ें

विस चुनावः हरियाणा में ‘ताज’ जीतने के लिए तेज हुआ आखिरी दौर का ‘आक्रमण’, स्टार वॉर भी बढ़ी

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर हरियाणा के रण में ‘ताज’ के लिए आखिरी दौर का ‘आक्रमण’ और तेज हो गया है। चुनावी समर में उतरे विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों ने अपने प्रतिद्वंदियों पर जुबानी हमले तेज कर दिए हैं। सत्ता के लिए विरोधियों को शिकस्त देने में जुटे यह प्रत्याशी पूरा दम लगा रहे हैं। इतना ही नहीं आखिरी दौर में पार्टियों की स्टार वॉर भी बढ़ गई है।

इसके जरिए सभी राजनीतिक दल चुनावी माहौल को अपने पक्ष में करने के लिए पूरी जोर आजमाइश में लगे हुए हैं। मंचों से लेकर सोशल मीडिया तक प्रत्याशी विरोधियों की नाकामियों का खुलकर बखान कर रहे हैं। पिछले दो दशक के  सियासी सफर को देखें तो वर्ष 2014 से लेकर अब तक हरियाणा में सत्ता भाजपा के हाथ रही।

मुख्यमंत्री का ताज मनोहर लाल के सिर सजा। वर्ष 2005 से 2014 तक सत्ता पर कांग्रेस काबिज रही और ताज भूपेंद्र सिंह हुड्डा के सिर सजा। सन 1999 से 2005 तक सत्ता इंडियन नेशनल लोकदल के पास थी और ओमप्रकाश चौटाला मुख्यमंत्री रहे। अब वर्ष 2019 के चुनावी दंगल में सत्ता और ताज के लिए भाजपा, कांग्रेस, जजपा और इनेलो चारों राजनीतिक दल मुख्य रूप से मुकाबले में बने हुए हैं।

जबकि  अन्य सियासी दल भी चुनाव रण में उतरकर विरोधियों को टक्कर देने की कोशिश में जुटे हैं। अब देखना यह है कि इस सियासी समर में कौन सा दल जंग फतेह कर सत्ता पर अपना कब्जा करता है और किसके सिर मुख्यमंत्री का ताज सजता है।
... और पढ़ें

हरियाणा विस चुनावः समीकरणों को उलझा सकते हैं निर्दलीय प्रत्याशी, इतिहास पर डालिए एक नजर

फाइल फोटो
हरियाणा विधानसभा चुनाव में कुछ प्रभावशाली निर्दलीय प्रत्याशी भी मुकाबले में बने दलों के प्रत्याशियों का गेम बिगाड़ने को बेताब है। ये निर्दलीय प्रत्याशी जीतें या हारें वो अलग बात है, मगर कुछ सीटों पर ये प्रभावशाली निर्दलीय प्रत्याशी समीकरण जरूर बिगाड़ सकते हैं। लिहाजा मुख्य मुकाबले में बने विभिन्न दलों के प्रत्याशी अपनी सीटों पर लड़ रहे निर्दलीयों की सक्रियता और उनके पक्ष में मौजूदा समीकरणों को भांपते हुए चुनाव के आखिरी दौर में अपनी रणनीति बदलकर आगे बढ़ रहे हैं।

हरियाणा विधानसभा चुनाव का इतिहास यदि देखें तो हर चुनाव में कुल मिलाकर 116 निर्दलीय प्रत्याशी जीतकर विधानसभा की दलहीज तक पहुंचे हैं। सन 1967 व 1982 के विधानसभा चुनाव में तो 16-16 निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की थी। जबकि वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में ही देखें तो पूंडरी, समालखा, पुन्हाना, कलायत, सफीदों विधानसभा सीटों से पांच निर्दलीय प्रत्याशी जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। इस बार भी ये निर्दलीय प्रत्याशी फिर से मैदान में हैं और इन सीटों पर समीकरणों उलझाए हुए हैं।

दूसरी ओर, इनके अलावा इस बार बीस से अधिक विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां भाजपा और कांग्रेस के बागी हुए विधायकों नेता ने बतौर निर्दलीय ताल ठोक रखी है। यह सभी बागी भाजपा और कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने के इच्छुक थे। मगर ऐनवक्त पर इन नेताओं का टिकट कटने के बाद इन्होंने खुली बगावत का ऐलान करते हुए ये नेता बतौर निर्दलीय प्रत्याशी ही चुनावी जंग में कूद गए। अब इन सीटों पर इन बागी निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी समीकरणों का गणित उलझा रखा है।

हालांकि कांग्रेस ने तो अपने 17 बागियों को पार्टी से निष्कासित कर उनके खिलाफ कड़ा एक्शन ले लिया है। मगर भाजपा ने अभी कुछेक बागियों के खिलाफ ही कार्रवाई की है। बहरहाल, अब देखना यह है कि निर्दलीय प्रत्याशियों की मेहतन क्या रंग लाती है।
... और पढ़ें

हरियाणा विस चुनावः बदलते वक्त के साथ चुनावी जंग में सोशल मीडिया हावी...प्रत्याशी भी कूदे

हरियाणा में भी बदलते वक्त के साथ-साथ चुनाव प्रचार के तरीके भी हाईटेक हो गए हैं, ऐसा ही कुछ इस बार के विधानसभा चुनाव में भी हो रहा है। रिक्शा, थ्री-व्हीलर व अन्य वाहनों पर भोंपू लगाकर शहर व गांवों तक घूम-घूमकर प्रचार करने के तरीकों के अलावा प्रत्याशी अब मतदाताओं तक पहुंचने के लिए सोशल मीडिया का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं।

इसके लिए प्रत्याशी ट्वीटर, व्हॉटसएप, इंस्टॉग्राम, फेसबुक इत्यादि को इन दिनों अपने प्रचार के लिए बड़ा प्लेटफार्म बना रहे हैं। चुनाव के दौर में सोशल मीडिया का इस्तेमाल प्रचार के साथ-साथ प्रत्याशी खुद को अपडेट रखने के  लिए भी कर रहे हैं। प्रदेश में आलम यह हैं कि इस समय प्रत्याशियों ने अपनी सोशल मीडिया पर सक्रियता को बढ़ा दिया है।

प्रत्याशियों की अलग टीमें बकायदा उनके सोशल मीडिया के प्रचार को संभाल रही हैं। प्रचार के साथ-साथ सोशल मीडिया पर इन दिनों विभिन्न सियासी विषयों पर बहस के मंच भी प्रदान किया जा रहे हैं। जिसमें खुद प्रत्याशी व उनके समर्थक पूरी सक्रियता दिखाकर अपने विचार रख रहे हैं।

इसके अलावा चुनाव से जुडे़ और भी कई तरह के अभियान सोशल मीडिया पर चलाए जा रहे हैं, जिसके जरिए प्रत्याशी व उनके समर्थक अपनी नीतियों व बातों को मतदाताओं तक पहुंचा रहे हैं। सोशल मीडिया पर चुनाव प्रचार से संबंधित ‘रियल टाइम अपडेट’ भी उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

 
... और पढ़ें

हरियाणा विस चुनावः स्टार वार में भाजपा को टक्कर नहीं दे पा रही कांग्रेस, न सोनिया आईं न प्रियंका

हरियाणा में सरकार बनाने के लिए भाजपा और कांग्रेस में स्टार वार छिड़ा हुआ है। दोनों ही दलों ने स्टार प्रचारकों की सूचियां प्रचार के जोर पकड़ने से पहले जारी कर दी थीं। भाजपा ने तो अपने सभी बड़े दिग्गजों को मैदान में उतार दिया है, मगर कांग्रेस अभी पिछड़ी हुई है। भाजपा के मुकाबले कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की चुनिंदा रैलियां ही हो रही हैं।

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने नूंह में ही एक रैली की है। जबकि, कांग्रेस की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी शुक्रवार को महेंद्रगढ़ में रैली करेंगी। प्रियंका वाड्रा अभी तक चुनाव प्रचार में नहीं उतरी हैं। उनका नाम भी स्टार प्रचारकों में शामिल था। शनिवार शाम को चुनाव प्रचार थम जाएगा, ऐसे में प्रियंका के आने की संभावना न के बराबर ही है।

पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह भी प्रचार से दूर ही हैं। उधर, भाजपा पीएम नरेंद्र मोदी की तीन रैलियां बल्लभगढ़, चरखी दादरी और कुरुक्षेत्र में करा चुकी है। उनकी तीन रैलियां और बढ़ाई गई हैं। उन्हें कुल चार ही रैलियां करनी थी, मगर पार्टी हाईकमान ने गोहाना, सिरसा और रेवाड़ी में भी मोदी की रैली कराने का फैसला लिया है।

शुक्रवार को पहले उनकी हिसार में ही एक रैली होनी थी, मगर अब वह गोहाना में भी रैली करेंगे। प्रचार के अंतिम दिन सिरसा और रेवाड़ी में रैली कर मोदी हवा का रुख भाजपा की ओर मोड़ने का प्रयास करेंगे। सीएम मनोहर लाल मोदी के बाद प्रदेश में भाजपा का सबसे बड़ा चेहरा हैं। सीएम भी रोजाना दस से पंद्रह जगह जनसभाओं को संबोधित कर रहे हैं।
... और पढ़ें

हरियाणा विस चुनावः आखिरी दौर में रोमांचक हुआ मुकाबला, टीम मनोहर के लिए प्रतिष्ठा का सवाल

आखिरी दौर में हरियाणा का विधानसभा चुनाव खासे रोमांचक मोड़ पर पहुंच गया है। एक तरफ भाजपा का आक्रामक चुनाव प्रचार और ‘75 पार’ का लक्ष्य हैं, तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस, जननायक जनता पार्टी  समेत विरोधियों की चुनावी रणनीति है। इनेलो भी खुद को कमत्तर नहीं आंक रही है। ऐसे में कुछ सीटों पर मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है, तो वहीं कई सीटें ऐसी भी हैं, जहां मुकाबला त्रिकोणीय (भाजपा- कांग्रेस-जजपा) बन चुका है। करीब दो दर्जन सीटें तो ऐसी हैं, जहां कांटे की टक्कर है। इन सीटों पर मुकाबला बेहद कड़ा और दिलचस्प बना हुआ है।

अब ऐसे में सत्तारूढ़ भाजपा और टीम मनोहर के लिए उनका चुनावी लक्ष्य ‘75 पार’ बड़ी प्रतिष्ठा का सवाल बन चुका है। लेकिन इस बावजूद भाजपाई पूरे उत्साह के साथ अपने इस लक्ष्य को पाने का दावा कर रहे हैं। दरअसल, मई 2019 के लोकसभा चुनाव में हरियाणा की शानदार परफोरमेंस को देखते हुए भाजपा ने हरियाणा में भावी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर यह लक्ष्य सेट किया था। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने हरियाणा में दस की दस सीटें फतेह की थी। पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा व उनके तीन बार के लगातार सांसद बेटे दीपेंद्र हुड्डा तक सीट नहीं बचा पाए थे।

लोकसभा चुनाव परिणाम की जब समीक्षा की गई तो प्रदेश की कुल 90 विधानसभा सीटों में से भाजपा को 79 सीटों पर बढ़त मिली थी। इसी परफोरमेंस से गदगद हरियाणा भाजपा ने अक्टूबर 2019 में प्रस्तावित  विधानसभा चुनाव की प्रारंभिक तैयारियां शुरू करते हुए इस बार चुनाव में अपना लक्ष्य ‘75 पार’ तय किया। इसे एक मिशन का नाम देते हुए कहा गया था कि इस बार भाजपा विधानसभा चुनाव में रिकार्ड 75 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगी। मगर देखा जाए, तो लोकसभा चुनाव का माहौल और था, मुद्दे और थे और सियासी फिजां भी और थी।

मगर अब विधानसभा चुनाव की मौजूदा सियासी परिस्थितियों में माहौल, मुद्दे और फिजां लोकसभा चुनाव से कुछ परे है। इन परिस्थितियों में बाजी जीतते हुए अपने इस मिशन को पूरा करना टीम मनोहर के लिए वाकई बड़ी चुनौती है।
... और पढ़ें

करतारपुर साहिब बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा गुरुद्वारा, पाकिस्तान ने जारी की अधिसूचना

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के साथ सटी 1450 एकड़ भूमि को भी गुरुद्वारा परिसर में शामिल कर लिया गया है। इस बाबत पाकिस्तान सरकार ने विशेष अधिसूचना भी जारी कर दी है। इन पवित्र खेतों में गुरु नानक देव ने ‘खेती कर नाम जपो, किरत करो और वंड छको’ का मानवतावादी संदेश दिया था। 

इसके बाद करतारपुर साहिब अब दुनिया का सबसे बड़ा गुरुद्वारा होगा। पाकिस्तान सरकार ने प्रथम चरण का काम पूरा कर लिया है। दूसरे और तीसरे चरण के काम दो वर्ष में पूरा होगा। पाकिस्तानी इतिहासकार शब्बीर ने एक वीडियो जारी कर यह जानकारी दी है।

वीडियो के अनुसार, गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के मुख्य भवन में सफेद रंग का पेंट किया गया है। मुख्य भवन के सबसे बड़े गुंबद के ऊपर स्थापित सोने के कलश को साफ कर दोबारा लगाया गया है। गुरुद्वारा साहिब के आसपास के प्रांगण में संगमरमर लगाने का काम पूरा हो चुका है। अब रगड़ाई हो रही है। गुरुद्वारा साहिब के आसपास पौधे लगा दिए गए हैं।

यात्री निवास के हर भवन में हजार श्रद्धालु ठहर सकेंगे 

लंगर हॉल और यात्री निवास का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। अब पाकिस्तान सरकार चार नए यात्री निवास का निर्माण करेगी। यात्री निवास के हर भवन में एक हजार श्रद्धालु ठहर सकेंगे। गुरुद्वारा साहिब के मुख्य भवन के सामने निर्माणाधीन दीवान हॉल में गुंबद लगाने का काम युद्धस्तर पर चालू है। 

पाकिस्तान सरकार ने गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के आसपास करवाए निर्माण में गुरुद्वारा साहिब के मुख्य भवन की सदियों पुरानी विरासत के साथ छेड़छाड़ नहीं की है। मुख्य भवन अपने पुराने रूप में ही है। दर्शनी ड्योढ़ी और पवित्र परिक्रमा के आसपास खुशबूदार फूलों की क्यारियां लगाई जा रही हैं।

बनेगा मीनार-ए-पाकिस्तान का सांकेतिक मॉडल

पाकिस्तान सरकार ने विश्व का सबसे बड़ा खंडा उस अस्थान पर बनाया है जहां से कुछ ही दूरी पर रावी दरिया है। एक एकड़ से अधिक जमीन का उपयोग किया गया है। यहां से कुछ गज दूरी पर मीनार-ए-पाकिस्तान का एक सांकेतिक मॉडल फूलों की लता से भी बनाया गया है। 

पांच सितारा होटल भी बनेगा 

पाकिस्तान सरकार दूसरे और तीसरे चरण में गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के नजदीक पांच सितारा होटल का निर्माण भी करेगी। साथ ही दुनिया भर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के बाजार का भी निर्माण किया जा रहा है ताकि श्रद्धालु पाकिस्तानी गिफ्ट आइटम खरीद सकें।
... और पढ़ें

हरियाणा विस चुनावः हिसार में अभिनेता सनी देओल का रोड शो, हाथ मिलाने सेल्फी लेने उमड़े फैन्स

हरियाणा के हिसार में सांसद व अभिनेता सनी देओल रोड शो करने निकले तो उनके फैन्स भी सभी काम छोड़कर उनके काफिले में जुड़ते चले गए। सनी देओल बादली से भाजपा प्रत्याशी ओम प्रकाश धनखड़ के पक्ष में रोड शो निकाल रहे थे। इसी दौरान इनेलो के जिलाध्यक्ष व बादली से पार्टी प्रत्याशी महावीर गुलिया ने ओम प्रकाश धनखड़ को समर्थन देने का एलान कर दिया।

वहीं रोड शो के दौरान सनी देओल की एक झलक पाने के लिए उनके फैन्स बेताब दिखे। अभिनेता ने भी अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया। उन्होंने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। सनी देओल के प्रति लोगों की दिवानगी साफ नजर आई। बड़े-बूढ़े और बच्चे उनकी झलक पाने के लिए बेताब दिखे।

कई प्रशंसक रैली के दौरान सनी के साथ सेल्फी लेते नजर आए। सुरक्षा कर्मियों ने कड़ी मशक्कत करके उनके काफिले के लिए जगह बनाई।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree