विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

मैंने चंडीगढ़ जैसा शहर कभी कहीं नहीं देखा, यह मेरी सोच से काफी अलग और बहुत आगे है- मनोज परिदा

साहित्य के करीब.. प्रकृति के नजदीक और ट्रैकिंग का शौक। यह है अपनी उम्दा कार्यशैली के लिए पहचाने जाने वाले चंडीगढ़ प्रशासक के सलाहकार और आईएएस अधिकारी...

7 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

चंडीगढ़

मंगलवार, 22 अक्टूबर 2019

पंजाब के डीजीपी बोले- बढ़ती असहिष्णुता के कारण हो रहे पुलिस पर हमले

पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता का मानना है कि लोगों में असहिष्णुता बढ़ती जा रही है। यही वजह है कि पंजाब पुलिस की टीमों पर हमले हो रहे हैं। हमारी तरफ से पंजाब में 425 स्थानों पर छापेमारी की जा रही है, यही वजह है कि तस्कर व काले धंधे में शामिल लोग परेशान हैं और पुलिस पार्टी पर अटैक कर रहे हैं। 

डीजीपी ने चेतावनी देते हुए कहा कि पंजाब पुलिस तस्करों व माफिया को छोड़ने वाली नहीं है और जिन लोगों ने पुलिस पर हमले किये हैं, उन पर ठोस कार्रवाई की जा रही है। इस बाबत वह लगातार हरियाणा के डीजीपी से भी संपर्क कर केस को मॉनिटर कर रहे हैं। एआईजी आशीष कपूर पर दुराचार का मामला दर्ज होने की बात पर डीजीपी गुप्ता ने कहा कि अभी वह मामले को देख रहे हैं। इसी सप्ताह इसकी जांच के लिए टीम गठित कर दी जाएगी। अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

डीजीपी दिनकर गुप्ता सोमवार को जालंधर में शहीदों को श्रद्धांजलि देने आए थे। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस आतंकवाद का मुकाबला करने में सक्षम है। पुलिस आतंकवादियों की हर नापाक हरकत को फेल कर रही है। चाहे वह ड्रोन से हथियार गिराने का मामला हो या फिर टारगेट किलिंग। गुप्ता ने कहा कि पंजाब पुलिस आतंकियों के 28 मॉड्यूल को ब्रेक कर करीब 150 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जो आतंकवाद का समर्थन कर रहे थे।
... और पढ़ें

उपचुनावः जलालाबाद में कांग्रेसी और अकाली भिड़े, दाखा में हुई हिंसा, एक को लगी गोली

जलालाबाद में मतदान वाले दिन कांग्रेसी और अकाली आपस में भिड़ गए। कांग्रेसियों ने मार्केट कमेटी के पोलिंग बूथ के पास लगा अकालियों का टेंट उखाड़ दिया।

इसी तरह अकाली प्रत्याशी राज सिंह डिब्बीपुरा ने एक निजी स्कूल में बने पोलिंग बूथ पर एक व्यक्ति को पकड़ा, जो लोगों को पैसे बांट रहा था। इसके अलावा मतदान शुरू होते ही बूथ नंबर-11 व 151 की ईवीएम खराब हो गई, जिस कारण मतदान काफी देर तक रोका रहा। 

दोपहर बाद मार्केट कमेटी में बने पोलिंग बूथ नंबर-17,18 व 19 के बाहर कांग्रेसी और अकाली में किसी बात पर कहासुनी हो गई, देखते ही देखते आपस में भिड़ गए और हाथापाई और धक्कामुक्की शुरू हो गई। कांग्रेसियों ने बूथों के नजदीक अकालियों का टेंट लगा था, जिसे उखाड़ दिया। मामले की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई और मामले को शांत करवाया। 

अकाली प्रत्याशी राज सिंह डिब्बीपुरा का आरोप है कि एक निजी स्कूल में बने पोलिंग बूथ के पास एक व्यक्ति लोगों को पैसे बांट रहा था, जिसे पकड़कर पुलिस के हवाले किया है। डिब्बीपुरा का आरोप है कि कांग्रेस लोगों को पैसे और शराब बांट रही है।

सुबह गांव चक पुन्ना वाली खलचीयां में बने पोलिंग बूथ नंबर-151 और बूथ नंबर-11 पर ईवीएम खराब होने पर लोग काफी देर तक मतदान करने के लिए बूथ के बाहर बैठे रहे। उसके बाद जिला प्रशासन ने बूथों पर नई ईवीएम रखवाई तब जाकर मतदान शुरू हुआ।
... और पढ़ें

जज्बे को सलामः हौसले के आगे उम्र को दी मात, बुजुर्गों ने बढ़चढ़ किया मतदान, उत्साह देख सभी हैरान

हरियाणा विस चुनावः मतदाताओं ने कम दिखाया उत्साह, 65.49% मतदान, 19 साल में सबसे कम वोट पड़े

हरियाणा में नई सरकार चुनने को लेकर मतदाताओं में ज्यादा जोश नहीं दिखा। 2014 विधानसभा चुनाव की तुलना में कम संख्या में मतदाता घरों से निकले। 2019 विधानसभा चुनाव में कुल 65.49 प्रतिशत मतदान हुआ है। बीते 19 साल में यह सबसे कम मतदान है। वर्ष 2000 में हुए विधानसभा चुनाव में 69.01 प्रतिशत वोट पड़े थे। उसके बाद 70 प्रतिशत से नीचे मतदान प्रतिशत नहीं रहा।

 2014 के चुनाव में 76.54 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया था। मतदान प्रक्रिया सोमवार सुबह से ही प्रदेश में धीमी रही। दोपहर बाद वोट डालने में कुछ तेजी आई। सबसे अधिक मतदान फतेहाबाद जिले में 74.49 प्रतिशत और सबसे कम मतदान गुरुग्राम जिले में 52.52 प्रतिशत दर्ज किया गया। टोहाना विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा 80.56 प्रतिशत वोट पड़े, जबकि पानीपत शहरी और बादशाहपुर विधानसभा सीट पर सबसे कम 45-45 प्रतिशत मतदान हुआ है। 


... और पढ़ें
वोट डालने के बाद दिग्गज नेता वोट डालने के बाद दिग्गज नेता

श्री अकाल तख्त ने लिया फैसला- 550वें प्रकाश पर्व पर एसजीपीसी के मंच पर ही होंगे सांझे समागम

श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में 12 नवंबर को सुल्तानपुर लोधी स्थित ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री बेर साहिब में एक ही स्टेज सजेगा। वह स्टेज एसजीपीसी का होगा। इसी स्टेज से मुख्य कार्यक्रम होंगे। श्री अकाल तख्त के जत्थेदार भाई हरप्रीत सिंह ने पंजाब सरकार को एसजीपीसी द्वारा स्थापित की जा रही स्टेज पर आने के आदेश जारी किए हैं। 

सोमवार को पांच सिंह साहिबान की एक बैठक हुई जिसमें मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और चरणजीत सिंह चनी द्वारा स्टेज को लेकर पैदा हुए विवाद पर श्री अकाल तख्त साहिब के सामने रखे प्रस्ताव पर चर्चा की गई। जत्थेदार ने आदेश जारी किए कि पंजाब सरकार और अन्य संगठन एसजीपीसी की स्टेज में शामिल होकर ही प्रकाश पर्व मनाएं। 

इस कार्यक्रम में पहुंचने वाले सभी गण्यमान्यों को एसजीपीसी सम्मानित करेगी। एसजीपीसी ही सभी धार्मिक समागमों की जिम्मेदारी निभाएगी। इस स्टेज पर किसी भी दल या पंथ का व्यक्ति आए, उसके साथ कोई मतभेद नहीं होगा। देश के राष्ट्रपति आए या प्रदेश के मुख्यमंत्री, सभी का स्वागत एक समान होगा। सभी कार्यक्रम गुरु मर्यादा के अनुसार मनाए जाएंगे। एसजीपीसी सभी का सम्मान करने के लिए वचनबद्ध होगी।
... और पढ़ें

भाजपा 75 पार सीटें जीत रही है, करनाल से बनेगा जीत का रिकॉर्ड: मनोहर लाल

प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं करनाल से भाजपा प्रत्याशी मनोहर लाल ने मतदान के बाद फिर से प्रदेश में 75 पार सीटें जीतने का दावा किया है। मनोहर लाल ने कहा कि पूरे प्रदेश में लोगों ने भाजपा पर विश्वास जताया है। हमें यकीन है कि 24 अक्टूबर को दोबारा से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी। इसके साथ करनाल विधानसभा से उनकी जीत का मार्जिन भी इस बार रिकॉर्ड होगा। 

ये सब पांच साल तक भाजपा द्वारा सभी वर्गों और सभी हलकों के लिए किए समान विकास कार्यों का नतीजा होगा। कांग्रेस नेताओं द्वारा कांग्रेस की सरकार बनने के दावे के सवाल पर सीएम ने कहा कि, उनके पास कहने के लिए कुछ नहीं है, इसलिए इस प्रकार के दावे कर रहे हैं। जनता अपना फैसला कर चुकी है और सब जानते हैं कि सरकार किसकी आएगी।  

सीएम सोमवार को प्रेमनगर स्थित बूथ नंबर-174 पर अपना मत नंबर 878 डालने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इससे पहले, वे सुबह साढ़े नौ बजे जन शताब्दी ट्रेन से चंडीगढ़ से करनाल रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। यहां से ई रिक्शा के माध्यम से न्यू प्रेम नगर स्थित सीएम आवास मकान नंबर 719 पर पहुंचें।

यहां से साइकिल पर सवार होकर प्रेम नगर स्थित राजकीय हाई स्कूल स्थित बूथ नंबर-174 पर अपना मतदान किया। मीडिया से बातचीत के दौरान सीएम ने कहा कि इस बार भाजपा प्रदेश में 75 का आंकड़ा पार करेगी। पूरे प्रदेश में अच्छा मतदान हो रहा है। 
... और पढ़ें

दहशतः जंगल से निकलकर हाथियों ने खेतों में मचाया उत्पात, भागकर किसानों ने बचाई अपनी जान

सीएम मनोहर लाल ने की ई-रिक्शे की सवारी
खंड प्रतापनगर के कलेसर रेंज के अंतर्गत आने वाले गांव अराइयांवाला बीट के पास लगते जंगल के समीप किसानों के खेतों में हाथियों ने पिछले कई दिनों से उत्पात मचाया हुआ है।

हाथियों के झुंड रात के समय खेतों में उत्पात मचाते हैं और सोते हुए किसानों पर हमला तक करते हैं। किसानों को भागकर अपनी जान बचानी पड़ रही है। किसानों ने वाइल्ड लाइफ, वन विभाग और कृषि विभाग के अधिकारियों से हाथियों से बचाव के उपाय अमल में लाने की गुहार लगाई है।

किसान बोले- भाग कर बचाई जान
किसान शिव कुमार, ओम कुमार, मदन लाल ने बताया कि उन्होंने खेत के किनारे 50 हजार रुपए की लागत से तार लगाई थी। हाथियों ने वह सारी तोड़ दी और वे खेतों में घुसकर फसल को खराब कर रहे हैं। किसानों ने बताया कि बीती रात सभी अपने-अपने खेत में सोए हुए थे, तभी हाथी ने आकर उन पर हमला कर दिया।

उन्होंने किसी तरह हाथी से अपनी जान बचाई। हालांकि उनकी जान बच गई, किंतु रात को सोने के लिए बनाई गई झोपड़ी को हाथी ने बुरी तरह से नष्ट कर दिया और फसल को भी खराब कर दिया। घटना के बाद किसानों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी। जबकि इससे पहले भी किसानों द्वारा कई बार इस प्रकार की शिकायत की जा चुकी है।

वन्य प्राणी विभाग के निरीक्षक सुल्तान सिंह का कहना है कि किसानों की समस्या जायज है। हाथियों द्वारा फसलों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। लेकिन वे इसमें कुछ नहीं कर सकते। क्योंकि हाथियों का पता नहीं चलता वह कब और किस दिशा से आ जाएं।
... और पढ़ें

कमलेश तिवारी हत्याकांडः चंडीगढ़ में मिली हत्यारों की लोकेशन, चार राज्यों की पुलिस खोजने में जुटी

शनिवार की रात 10.30 बजे देखते ही देखते चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के बाहरी इलाके को पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया। चार राज्यों के 250-300 पुलिसकर्मियों को रेलवे स्टेशन के चप्पे-चप्पे पर देखकर रेल यात्री भी दहशत में आ गए। किसी को माजरा समझ नहीं आ रहा था। फिर शुरू हुआ पुलिस का सर्च अभियान। 

पुलिस ने स्कैच दिखाकर रेल यात्रियों से पूछताछ की तो पता चला कि यूपी, गुजरात, यूटी, पंजाब व हरियाणा सहित रेलवे के पुलिस बल के मुलाजिम हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में आरोपियों के तलाश में चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंचे हैं। अभी भी इस मामले में पुलिस को दो आरोपियों की तलाश है।  

पुलिस से सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को जांच में जुटी पुलिस को लखनऊ के होटल खालसा के कमरे की अलमारी में बैग, लोअर, लाल रंग का कुर्ता मिला है। वहां से पुलिस को सुराग मिला कि वे चंडीगढ़ पहुंच गए हैं। इसके बाद पुलिस की संयुक्त टीम ने यहां पर उनकी पड़ताल की। लखनऊ से आने वाली लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस के यात्रियों से भी पूछताछ की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा।
... और पढ़ें

देखिए जुनून-ए-इश्क, विदेशी युवती ने भारतीय युवक संग लिए फेरे, एस्टोनिया से भारत आकर रचाई शादी

प्यार सीमाएं नहीं देखता और न ही जात-पात। जब प्यार का रंग चढ़ता है तो उसके सामने सभी रंग फीके पड़ जाते हैं। सात समुद्र पार अपने प्यार को परवान चढ़ाने के लिए पंजाब के जीरकपुर पहुंचकर गुरप्रीत सिंह ढींढसा से एस्टोनिया निवासी जेन जग्गू ने शादी रचाई है।

इतना ही नहीं जेन जग्गू ने प्यार की खातिर अपना देश छोड़कर अपने परिवार और रिश्तेदारों सहित भारतीय संस्कृति को अपनाते हुए पंजाबी परंपरा के मुताबिक शादी रचाई है। इस अनोखी शादी को देखने के लिए पंजाब के लोगों में काफी उत्सुकता बनी रही।

सेक्टर 79 मोहाली का रहने वाले गुरप्रीत सिंह ढींढसा ऑस्ट्रेलिया में बस गए हैं। वह 11 साल पहले ऑस्ट्रेलिया गए थे, वहां उनकी मुलाकात एस्टोनिया की जेन जग्गू से हुई। दोनों के बीच प्यार का रिश्ता कब परवान चढ़ा, उन्हें भी नहीं पता चला।

अपने परिवार को विदेशी बहू लाने के लिए मनाने के बाद उन्होंने शादी का फैसला कर जेन जग्गू को उसके परिवार के साथ इंडिया बुलवा लिया। जेन के साथ आए उसके विदेशी रिश्तेदारों ने शादी के लिए तीन दिन विशेष प्रशिक्षण भी लिया और शादी में खूब मस्ती की। वे पंजाब की संस्कृति और शादी की शानोशौकत देखकर दंग रह गए।
... और पढ़ें

हिसार में दर्दनाक हादसाः कार पर पलटा ट्राला, मां-बेटी समेत तीन की मौत, दो ममेरे भाई घायल

तलवंडी राणा गांव के पास रविवार देर शाम सामने से एक ट्राला आ रहा था, जो लकड़ी के फट्टों से लदा था। ट्राला चालक ने इनकी कार को देखते ही अपनी गाड़ी का स्टेयरिंग घुमा दिया, जिससे वह अनियंत्रित होकर इनकी कार पर पलट गया। कार सवार सभी लोग फट्टों के नीचे दब गए। मां-बेटी समेत तीन महिलाओं की मौत हो गई। कार में कुल पांच लोग सवार थे, इनमें दो ममेरे भाई भी घायल हो गए।

राहगीरों ने मुश्किल से फट्टों में दबी कार में फंसे घायलों को निकालकर नागरिक अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों ने तीन महिलाओं को मृत घोषित कर दिया, जबकि दो ममेरे भाइयों का इलाज चल रहा है। हादसे का शिकार हुए सभी लोग पानीपत के प्रह्लादपुर और कुराड़ गांव निवासी के रहने वाले हैं। जोगेंद्र जगपाल के मामा का लड़का है। जोगेंद्र प्रह्लादपुर तो जगपाल कुराड़ गांव का रहने वाला है।

घायल जगपाल ने बताया कि उसकी सास 60 वर्षीय संतोष को पेट का कैंसर था, जबकि उसके ममेरे भाई जोगेंद्र को ब्रेन ट्यूमर है। उन्हें पता चला था कि राजस्थान के पीलीबंगा में झाड़ा लगाता है। इस पर वह झाड़ा लगवाने के लिए अपनी सास संतोष, पत्नी 39 वर्षीय अनीता, ममेरे भाई जोगेंद्र और उसकी 32 वर्षीय पत्नी राजरानी के साथ कार में पीलीबंगा जा रहे थे।
... और पढ़ें

पूरी तरह सुरक्षित है चंडीगढ़ में मिल रहा पैकेटयुक्त दूध, ऐसे कराएं जांच

दो दिन पहले भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) की दूध पर चौंकाने वाली रिपोर्ट आई थी। इसमें बताया गया था कि पैकेज्ड (प्रोसेस्ड मिल्क) और कच्चा दूध उनके मानकों पर खरा नहीं उतरा है लेकिन यूटी के स्वास्थ्य विभाग की ओर से दावा किया गया है कि पिछले तीन महीने के दौरान उसने भिन्न-भिन्न कंपनियों के प्रोसेस्ड मिल्क के 100 से ज्यादा सैंपल लिए थे, जिन्हें जांच के लिए प्रतिष्ठित लेबोट्ररी एनएबीएल में भेजा गया।

ये सभी सैंपल जांच में मानकों के अनुसार सही पाए गए हैं। इसमें ऐसा कोई भी हानिकारक तत्व नहीं मिला है, जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो। कुल मिलाकर चंडीगढ़ में आने वाला पैकेज्ड मिल्क सेफ है। हालांकि इसमें एक भी कच्चे दूध का सैंपल शामिल नहीं था।

बताया जा रहा है कि एफएसएसएआई की ओर से निर्देश मिले थे कि सभी स्टेट व यूटी अपने-अपने स्तर पर दूध के सैंपल भरें। उसके बाद यूटी के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले तीन महीने के भीतर अलग-अलग कंपनियों के फुल क्रीम, प्रोसेस्ड, टोंड और डबल टोंड मिल्क के सैंपल्स लिए गए। इन सैंपलों में खासतौर पर पेस्टीसाइड, एंटीबायोटिक और एप्लाटॉक्सिन की जांच की गई।
... और पढ़ें

आईटी पार्क में बनने वाले फ्लैट्स के डिजाइन के लिए होगा कंपीटिशन, मिली मंजूरी

चंडीगढ़। आईटी पार्क में बनने वाले फ्लैट्स के डिजाइन के लिए चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है। इन फ्लैट्स केडिजाइन को फाइनल करने से पहले सीएचबी आर्किटेक्ट्स के बीच एक प्रतियोगिता का आयोजन करेगी। इसके लिए यूटी प्रशासन से बोर्ड को परमिशन मिल गई है। अब जल्द ही बोर्ड द्वारा इस संबंध में टेंडर जारी कर दिया जाएगा।
गवर्नमेंट इंप्लाइज हाउसिंग स्कीम के तहत पंजाब, हरियाणा और यूटी के अधिकारियों के लिए फ्लैट्स का निर्माण करवाना है। बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि यूटी एडवाइजर से प्रोजेक्ट के लिए उन्हें परमिशन मिल गई है, जिसके बाद बोर्ड के चेयरमैन ने भी इसे मंजूरी दे दी है। बता दें कि चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने पिछले साल सितंबर माह में दोनों सरकारों और यूटी प्रशासन से आईटी पार्क में अपने अधिकारियों के लिए ये लैट्स खरीदने के लिए राय मांगी थी। इसके बाद हरियाणा ने पहले ही अपने राय दे दी थी, लेकिन पंजाब और यूटी ने बाद में अपनी राय सबमिट की थी। गौरतलब है कि 2006 में सीएचबी ने यह 123 एकड़ जमीन पार्श्वनाथ डेवलपर्स लि. बिल्डर को अलॉट की थी लेकिन किन्हीं कारणों से बिल्डर इस जमीन को डेवलप नहीं कर पाया और उसने अपने पैसे वापस मांगने शुरू कर दिए। उसके बाद बिल्डर कोर्ट चला गया। 2015 में सीएचबी ने बिल्डर को 527 करोड़ रुपये लौटा कर जमीन वापस ले ली।
फ्लैट्स के लिए ड्राइंग तैयार करने का काम शुरू
बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि पंजाब, हरियाणा और यूटी फ्लैट्स खरीदने के लिए राजी हो गए हैं, इसलिए उन्होंने ड्राइंग तैयार करने का काम शुरू कर दिया है। जैसे ही अमाउंट डिपॉजिट करवा दिया जाता है, वह इनका निर्माण कार्य भी शुरू करवा देंगे। बोर्ड ने 6.73 एकड़ एरिया में इन फ्लैट्स का निर्माण करवाना है। एक टॉवर में 28 फ्लैट्स अधिकारियों के लिए होंगे, जबकि 28 इडब्ल्यूएस फ्लैट्स दूसरे टॉवर में सर्वेंट क्वाटर होंगे। इस तरह तीनों को प्रत्येक 28-28 फ्लैट्स के लिए टैक्स सहित कुल राशि 55 करोड़ रुपये बोर्ड को देनी होगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree