विज्ञापन
विज्ञापन
कुंडली के यह योग दिलाते है राजयोग, फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें क्या आपकी कुंडली में है यह योग ?
Kundali

कुंडली के यह योग दिलाते है राजयोग, फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें क्या आपकी कुंडली में है यह योग ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

कौन हैं जोगिंदर सिंह उगराहां, जिन्होंने संभाली पंजाब के सबसे बड़े किसान संगठन की बागडोर

कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब-हरियाणा के किसान दिल्ली के बार्डर पर डटे हुए हैं। पंजाब का सबसे बड़ा किसान संगठन भारतीय किसान यूनियन उगराहां भी कंधे स...

30 नवंबर 2020

विज्ञापन
Digital Edition

भूपेंद्र हुड्डा ने किया अविश्वास प्रस्ताव लाने का एलान, विधानसभा का आपात सत्र बुलाने की मांग

पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने किसानों के मुद्दे पर अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए राज्यपाल से हरियाणा विधानसभा का आपात सत्र बुलाने की मांग की है। हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। 

उन्होंने कहा कि बरोदा चुनाव के नतीजे से स्पष्ट हो चुका है कि यह सरकार पूरी तरह जनता का भरोसा खो चुकी है। बीते सप्ताह तीन निर्दलीय विधायक सार्वजनिक तौर पर सरकार से किनारा कर चुके हैं। जनता के बाद गठबंधन सरकार तेजी से विधायकों का विश्वास खोती जा रही है। 


हुड्डा का कहना है कि आज प्रदेश का अन्नदाता सड़कों पर है और उनका वोट लेने वाले जेजेपी (जननायक जनता पार्टी) और निर्दलीय विधायक सत्ता का लुत्फ उठा रहे हैं। 

कांग्रेस किसानों की मांगों के समर्थन में खड़ी है लेकिन किसानों का वोट लेकर विधानसभा में पहुंचने वाले जेजेपी और निर्दलीय विधायक सरकार के समर्थन में खड़े हैं। कुछ विधायक दोगली नीति अपनाते हुए लगातार सरकार के विरोध और किसान आंदोलन के समर्थन में बयानबाजी तो कर रहे हैं लेकिन सरकार को भी अपना समर्थन दे रहे हैं। 
... और पढ़ें
BS hooda BS hooda

आंदोलन में जान गंवाने वाले सात किसानों के परिजनों को एसजीपीसी देगी एक-एक लाख रुपये की सहायता

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) की अध्यक्ष बीबी जागीर कौर ने कृषि कानून के विरोध में चल रहे आंदोलन के दौरान मौत का शिकार हुए सात किसानों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की मदद देने की घोषणा की है। एसजीपीसी किसान आंदोलन में सहयोग कर रही महिलाओं के लिए मोबाइल, शौचालय और स्नानघर की व्यवस्था भी करेगी। 

एसजीपीसी महिलाओं को यह सुविधा देने के लिए धरनास्थलों पर विशेष बसें भेजेगी। हर बस में 14 शौचालय और बाथरूम होंगे। इसके अलावा एसजीपीसी के संचालित सभी गुरुद्वारों में सात दिसंबर को किसान आंदोलन की सफलता की अरदास की जाएगी। यह अरदास समारोह सुबह आठ बजे से नौ बजे तक होगी। 


दुनियाभर के सिख इस अरदास में शामिल होकर किसानों के साथ एकजुटता का संदेश देंगे। एसजीपीसी की अध्यक्ष ने भारत सरकार से अपील की है कि किसानों की मांगें तुरंत स्वीकार करें, ताकि जानलेवा कंपकंपाती ठंड में वह अपने घरों को लौटे सकें। इस बैठक में बॉलीवुड स्टार कंगना रणौत की टिप्पणी निंदा भी की गई।
... और पढ़ें

लुधियाना के राज चौहान पांचवीं बार बने विधायक, ब्रिटिश कोलंबिया का स्पीकर बनना लगभग तय

एसजीपीसी की बैठक।
लुधियाना के गांव गहौर में जन्मे राज चौहान को कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत की असेंबली के स्पीकर के लिए नामित किया गया है। इस खबर से उनके पैतृक गांव में खुशी की लहर है। उनके बड़े भाई एडवोकेट राजवंत सिंह को बधाई देने वालों का तांता लगा है। बता दें कि राज चौहान लुधियाना के आर्य कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद कनाडा चले गए थे। 2005 में पहली बार वह विधायक बने। 

अभी वह बरनबी से पांचवीं बार विधायक बने हैं। सोमवार को उनका नाम स्पीकर के तौर पर पेश किया जाएगा। एडवोकेट राजवंत सिंह ने बताया कि राज चौहान स्पीकर चुने जाने के बाद डैरिल प्लेक्स की जगह लेंगे। अक्तूबर में हुए चुनाव में डैरिल प्लेक्स ने चुनाव नहीं लड़ा था। इससे पहले वह डैरिल के साथ बतौर डिप्टी स्पीकर काम कर चुके हैं, इसलिए राज चौहान का चुना जाना तय है।


1972 में वह अपने दोस्त हरिंदर सिंह के साथ कनाडा चले गए थे। वहां जाकर पहले वैंकूवर में लकड़ियों की बड़ी मिल में मजदूरी का काम किया। उनका छोटा भाई काफी समझदार था। वहां उसने देखा कि यहां ज्यादातर भारतीय फार्म में आकर काम करते हैं लेकिन उनकी हालत बहुत दयनीय है। उनके लिए नियम कानून कुछ नहीं थे।

इनकी आवाज सबसे पहले उनके भाई ने उठाई। इस काम में वहां पर भारतीय प्रोफेसर हरी शर्मा ने बहुत साथ दिया। उन्होंने कनाडा में फार्म वर्कर्स यूनियन का गठन किया और इसके फाउंडर बने। वहीं 18 साल हॉस्पिटल इंप्लाइज यूनियन के डॉयरेक्टर भी रह चुके हैं। उन्हें बहुत खुशी है कि उनका छोटा भाई स्पीकर बनने जा रहा है।
... और पढ़ें

हत्या को हादसा बता पुलिस ने बंद किया केस, 14 माह खुद जांच कर पिता ने बेटे के 'हत्यारों' को खोजा

पंजाब के लुधियाना में पुलिस ने मेडिकल छात्र की मौत मामले को हादसा मानकर जांच बंद कर दी। लेकिन छात्र के पिता को पुलिस की यह जांच हजम नहीं हुई। उन्हें खुद अपने बच्चे को न्याय दिलाने की ठानी। 14 माह तक उन्होंने खुद जांच किया। साक्ष्य एकत्र कर पुलिस अधिकारियों के सामने रखे। पुलिस कमिश्नर के आदेश पर बीती तीन दिसंबर को थाना शिमलापुरी पुलिस ने सात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। बता दें कि छात्र की हत्या आठ अक्तूबर को दशहरा के दिन हुई थी। शिमलापुरी थाने की पुलिस ने मामले को बंद कर दिया था।

आरोपियों कि पहचान अमनदीप सिंह निवासी बांदर डोर (मोगा), हरसिमरन सिंह निवासी गांव रामा (मोगा), हैरी निवासी संदोड़ (संगरूर), नमन गर्ग निवासी चंडीगढ़, कश्यप निवासी फिल्लौर और सुमित निवासी पटियाला के रूप में हुई है। मामले के एक आरोपी अज्ञात है। सभी आरोपी मृतक दया सिंह के दोस्त हैं और पीजी में रहते थे। साथ ही दया सिंह के घर भी आते-जाते थे। आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। इससे हत्या करने के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।


जगरावं के गांव रणधीरगढ़ निवासी बलविंदर सिंह ने पुलिस कमिश्नर को शिकायत दी था कि उनका बेटा दया सिंह (26) मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए ईशर नगर स्थित पीजी में रह रहा था। 9 अक्तूबर 2019 की सुबह चार बजे दया सिंह का शव संदिग्ध हालात में बरोटा रोड इलाके में नहर के किनारे पर मिला।
... और पढ़ें

बठिंडा में बेटे ने की खौफनाक वारदात, गंडासे से पिता को काट डाला, वजह हैरान कर देगी

Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X